*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

दृष्टि पंजाब के 12वें आयोजन के दौरान सरकारी स्कूलों के 19 विद्यार्थियों को सम्मानित किया

पंजाबी प्रवासियों का शिक्षा व वातावरण के क्षेत्र में बहुमूल्य योगदान; कुलतार सिंह संधावा

For Detailed

चंडीगढ़, 2 मार्च ( )- दृष्टि पंजाब कनाडा द्वारा आयोजित 12वें कार्यक्रम के दौरान पंजाब के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले 19 विद्यार्थियों को आर्थिक सहायता दी गई, जो मेरिट में आए थे। दृष्टि पंजाब कनाडा पिछले 12 वर्षों से पंजाब में शिक्षा और पर्यावरण के क्षेत्र में लगन से काम कर रहा है और विशेष रूप से सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को अवसर प्रदान करने का प्रयास कर रहा है। यह सामाजिक कार्यकर्ताओं का एक समूह है। इसके मुख्य संचालकों में कनाडा वासी हरमिंदर सिंह ढिल्लों, जसवीर सिंह और मुनीश शर्मा के नाम शामिल हैं। दृष्टि पंजाब ने सीमावर्ती जिलों के सरकारी स्कूलों में लगभग 50 कंप्यूटर वितरित किए।

पंजाब विधानसभा के स्पीकर कुलतार सिंह संधावा चंडीगढ़ प्रेस क्लब में दृष्टि पंजाब द्वारा आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचे। दृष्टि पंजाब ने छात्रों को पचास हजार रुपये की सहायता राशि दी। स्पीकर कुलतार सिंह संधावा ने अपने संबोधन में दृष्टि पंजाब को इस पहल के लिए बधाई देते हुए कहा कि प्रवासी पंजाबियों ने हमेशा पंजाब के बहुमुखी विकास में अहम योगदान दिया है। उन्होंने कहा कि यह शुभ संकेत है कि पंजाब के अप्रवासी अब शिक्षा और पर्यावरण के क्षेत्र में अधिक ध्यान दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की सरकार शिक्षा के क्षेत्र में अभिनव कार्य कर रही है। यह आप की दिल्ली सरकार ने भी दिखाया है।उन्होंने कहा कि पंजाब के मुख्यमंत्री प्रवासी पंजाबियों की समस्याओं से अच्छी तरह वाकिफ हैं और उनके समाधान के लिए प्रयासरत हैं।

कुलतार सिंह संधवां ने दृष्टि पंजाब की टीम को बधाई देते हुए कहा कि इस संस्था द्वारा उनके पंजाब के लिए किए जा रहे कार्य इस बात की मिसाल है कि पंजाबी लोग दुनिया के किसी भी कोने में रहते हुए भी अपनी जमीन से मोह नहीं छोड़ते। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार दृष्टि पंजाब सहित अन्य सामाजिक सेवा संगठनों को हर संभव सहायता प्रदान करेगी।

मुनीश शर्मा ने कहा कि दृष्टि पंजाब सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले उन प्रतिभावान बच्चों की मदद के लिए आगे आए जिनके पास संसाधनों की कमी है। उन्होंने कहा कि दृष्टि पंजाब टीम राज्य में बहुत लगन से काम कर रही है।वक्ताओं ने विद्यार्थियों से अपील की कि वे बड़े मुकाम हासिल कर समाज के पिछड़े वर्ग के लोगों की मदद करें।

इस मौके पर भाजपा नेता विनीत जोशी, दृष्टि पंजाब के प्रांतीय अध्यक्ष गुरविंदर सिंह बोपाराय, वरिष्ठ सदस्य खुशहाल लाली, महासचिव पॉल सिंह नोली, राकेश शर्मा, दीपक शर्मा चरनाथल, कंवलजीत सिंह ढीडसा, अजय शर्मा, प्रमोद बिंदल, हरमेल सिंह खाक, डॉ. शिविंदर सिंह सहित कई हस्तियां मौजूद रहीं।

https://propertyliquid.com/

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

Mayor visits cremation ground, children burial ground, Christian cemetery and Muslim graveyard

For Detailed

Chandigarh, March 2:- Sh. Anup Gupta, Mayor, Chandigarh today visited cremation ground, children burial ground, Christian cemetery and Muslim graveyard at sector 25, here today. He was accompanied by area councilor Smt. Poonam, Sh. Anil Masih, councilor, prominent persons of city and concerned officers of MCC.

During the visit at cremation ground the Mayor asked the concerned officers to check the drinking water supply and rectify the same at earliest. He asked the officers to keep clean the water cooler area; repair and replacement of fans and electricity fittings; repair and replacement of benches, cleaning of all compound twice a day; malba scattered in open space inside the compound be removed and area be proper landscaped; timely pruning of trees; repair and replacement of electricity points in toilet block area; leaking water taps be repaired/replaced; road gullies be cleaned properly; broken tiles be repaired/replaced and wherever required repair works of walls & roofs and whitewash of the buildings etc.

The Mayor and team of officers also visited children burial ground. The Mayor asked the concerned officers to clean the area properly and low line area be leveled with putting additional soil. He asked them for pruning of trees and repair the fencing wherever required. He asked the Sanitation staff to lift the broken garbage bins from the parking area.

The Mayor also visited Gaushala nearby the cremation ground and asked the concerned officers for properly lifting of cowdung from the internal compound and ensure proper disposal of the leftout of cowdung technically as per the Municipal Solid Waste rules.

The Mayor also visited nearby Christian cemetery and instructed the concerned officers to repair and maintain the toilet blocks besides ensuring regular cleaning arrangements of the area. He asked them for provision of temporary sheds and leveling of open area wherever required. He asked the concerned officers for provision of public toilets near the sitting area besides providing lights and high mast light inside the compound.

The Mayor further visited Muslim graveyard and instructed the concerned officers to arrange the electricity cables properly, which hanged in trees and boundary walls. He asked the engineers to repair and replace the tin shed wherever required at the earliest besides provision of widening the entry gate to the Muslim graveyard.

https://propertyliquid.com/

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

IGNOU extends Fresh Admission & Re-Registration up to 10th March, 2023

For Detailed

Indira Gandhi National Open University (IGNOU) has extended the last date for online admission to Masters, Bachelors, PG Diploma, Diploma and Certificate programs and online Re-registration of all Masters and Bachelors programs for the session January, 2023 session till March 10, 2023. Dr. Bhanu Pratap Singh, Regional Director of IGNOU Regional Center Chandigarh informed that interested applicants can apply through online link for admission to any Masters, Bachelors, PG Diploma, Diploma and Certificate programs of their choice: https://ignouadmission.samarth.edu.in/ which is available on IGNOU website www.ignou.ac.in.

SC/ST students will be admitted without charging any fee in some of the Certificate/Diploma/PG Diploma & Graduate Programmes and they will have to apply online and to upload all necessary documents for fee exemption. For further information regarding the courses on offer the applicants may see the IGNOU website (www.ignou.ac.in) or IGNOU Chandigarh’s website (www.rcchandigarh.ac.in and IGNOU Regional Center Chandigarh’s Facebook page https://www.facebook.com/RCCHD . 

Dr.  Bhanu Pratap Singh, Regional Director of IGNOU Regional Centre Chandigarh informed that students should Re-registered to the subsequent year/semester till  March 10, 2023   for January, 2023 session to continue their study. For Re-registration process the candidate has to register himself/herself (if not registered) on the official website i.e https://onlinerr.ignou.ac.in/ . Whereas those who have already registered can simply login with the id- password and fill up the registration and submit the requisite fees online.  

https://propertyliquid.com/

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

श्रीमती अरुणा आसफ अली राजकीय पी जी महाविद्यालय, कालका में सुविचार पर सेमिनार का किया गया आयोजन

पूर्व सेना अध्यक्ष जनरल वेद प्रकाश मलिक ने मुख्य अतिथि के रूप में की शिरकत

For Detailed

पंचकूला मार्च 2: श्रीमती अरुणा आसफ अली राजकीय पी जी महाविद्यालय, कालका  की प्राचार्या श्रीमती कामना  की  अध्यक्षता में महाविद्यालय के प्लेसमेंट सेल द्वारा सुविचार सेमिनार का आयोजन किया गया जिसमें मुख्य अतिथि  पूर्व सेना अध्यक्ष जनरल वेद प्रकाश मलिक और वक्ता कर्नल डी एस चीमा तथा पूर्व आईएएस अधिकारी विवेक आत्रेय रहे।

इस व्याख्यान का मुख्य उद्देश्य महाविद्यालय के छात्र एवं छात्राओं को अपने लक्ष्य की ओर प्रेरित करना था। जनरल वेद प्रकाश मालिक ने युवा पीढ़ी के साथ जुड़े रहने के  लिए  प्रतिपादित किया। जनरल वेद प्रकाश मलिक कारगिल युद्ध के दौरान भारत के सेना अध्यक्ष थे। जनरल वेद प्रकाश मलिक ने विद्यार्थियों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि देश भक्ति की भावना सर्वोपरि है।

 इस शिक्षाप्रद व्याख्यान का आरंभ प्राचार्या श्रीमती कामना   द्वारा  किया गया जिन्होंने मुख्य अतिथि जनरल वेद प्रकाश जी का स्वागत करते हुए उनका आभार व्यक्त किया कि उन्होंने अपना कीमती समय निकालकर महाविद्यालय के छात्र एवं छात्राओं का मार्ग दर्शन किया।  इसके अलावा प्राचार्या कामना  ने कर्नल डी एस चीमा  तथा श्री विवेक आत्रेय का भी तहे दिल से स्वागत किया।  कर्नल डीएस चीमा दिन के पहले वक्ता थे और उन्होंने ऋग्वेद से यह सुंदर श्लोक पढ़कर अपना व्याख्यान शुरू किया , “आनो भद्रा क्रतवो यन्तु विश्वतः” जिसका अर्थ है “मेरे मन में केवल अच्छे विचार आने दो”।  कर्नल चीमा ने सभी छात्रों से आग्रह किया कि वे अपनी वास्तविक क्षमता का एहसास करें क्योंकि वे सबसे अच्छे समय में जी रहे हैं इसलिए उन्हें अधिक से अधिक अवसरों का उपयोग करने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि कल्पना सबसे शक्तिशाली उपकरण है जो उनके पास है और वे अपने जीवन को  जैसे चाहें बदल सकते हैं और यदि वे जीवन में प्रगति करना चाहते हैं, तो उन्हें हमेशा एक छात्र बने रहना चाहिए। उन्होंने सभी छात्रों को तीन मुख्य टिप्स दिए- जिस में पहला था  शारीरिक रूप से स्वस्थ रहना, दूसरा साहसी रहना विशेष रूप से नैतिक साहस रखना और तीसरा और सबसे महत्वपूर्ण है दृढ़ रहना। उन्होंने छात्रों को अच्छा इंसान बनने की सलाह देकर अपना व्याख्यान समाप्त किया और उन्हें यह भी बताया कि एक सुंदर मन  इंसान की असली पहचान  है।

  व्याख्यान के लिए दूसरे वक्ता श्री विवेक आत्रेय रहे, जिन्होंने सबसे पहले छात्रों को उनके द्वारा की गयी पहल के बारे में बताया, जिसे “सुविचार” के नाम से जाना जाता है , जिसका उद्देश्य छात्रों को प्रबुद्ध करना, छात्रों  के साथ विचारों का आदान प्रदान करना है और उनकी अधिकतम क्षमता हासिल करने में मदद  करना । उन्होंने छात्रों से कहा कि हमारा मूल लक्ष्य सच्ची खुशी पाना है और यह सच्ची खुशी भीतर पाई जाती है न कि  पैसे, शक्ति या प्रसिद्धि से क्योंकि ये चीजें सिर्फ अल्पकालिक खुशी प्रदान करती हैं। उन्होंने  छात्रों को खुशी का सूत्र प्रदान किया । उन्होंने कहा कि सभी छात्रों को प्रेरित होने का  प्रयास करना चाहिए, अपना  चरित्र साफ  रखना  चाहिए और उन्हें हमेशा रचनात्मक और बहुआयामी बनने का प्रयास करना चाहिए  तथा उन्हें अपने अहंकार को दूर करना चाहिए और अंक और धन के पीछे भागना बंद कर देना चाहिए। इसके बजाय उन्हें खेल, संगीत और किताबों पर ध्यान देना चाहिए क्योंकि ये अच्छी आदतें उन्हें दुनिया पर एक अमिट छाप छोड़ने में मदद करेंगी।

व्याख्यान का समापन जनरल मलिक के  मंत्रमुग्ध कर देने वाले सत्र से हुआ, जिसके दौरान उन्होंने सेना में होने के अपने अनुभवों को साझा किया और छात्रों को अपने सेना में शामिल होने के पीछे की प्रेरणा के बारे में बताया। उन्होंने दर्शकों के साथ एक परिपूर्ण जीवन जीने के अपने तीन रहस्य साझा किए, जो हैं देश के प्रति देशभक्ति की भावना , अपने आश्रितों की देखभाल करना और  खुद को अंत में रखना । जनरल मलिक ने छात्रों को अनुशासन और अखंडता का जीवन जीने और मानवता का साथ देने की सलाह दी और उन्होंने विद्यार्थितों को बताया कि कैसे सेना सभी सैनिकों को जीवन में एक अच्छा नेता बनना सिखाती है। अंत में उन्होंने सभी छात्र  एवं छात्राओं  से भारतीय सेना का हिस्सा बनने का आग्रह किया क्योंकि यह हमारे पूरे अस्तित्व को निखारने का काम करती  है तथा हमारे देश  को  नौजवानों की जरूरत है।

यह कार्यक्रम एक प्रश्नोत्तर दौर के साथ समाप्त हुआ, जिसमें छात्रों ने इन् सभी प्रमुख हस्तियों से अपने सुधार के लिए प्रश्न पूछे। प्रबोधन सत्र का समापन कॉलेज के उप प्राचार्य श्री सुशील कुमार द्वारा धन्यवाद ज्ञापन के साथ हुआ जिन्होंने सभी गणमान्य अतिथियों का दिल से शुक्रियादा किया तथा छात्रों की बेहतरी में उनके योगदान के लिए उन्हें धन्यवाद दिया।  

 कार्यक्रम को सफल बनाने में प्लेसमेंट सेल की इंचार्ज  प्रोफेसर सुनीता चौहान  तथा सदस्य  प्रोफेसर डॉक्टर बिंदु, प्रोफेसर डॉक्टर गीतांजलि प्रोफेसर इंदु , प्रोफेसर राजीव, प्रोफेसर ईना, प्रोफेसर गुरप्रीत, प्रोफेसर कविता, प्रोफेसर सविता, प्रोफेसर नवनीत नैंसी तथा प्रोफेसर सोनीया का मुख्या योगदान रहा।  इनके अतिरिक्त एनसीसी के इंचार्ज लेफ्टिनेंट  यशवीर तथा लेफ्टिनेंट गुरप्रीत कौर और उनके कैडेट्स ने भी कार्यक्रम को सफल बनाने में प्रमुख भूमिका निभायी।

https://propertyliquid.com/

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

खेलो इंडिया यूथ गेम्स के सफल आयोजन के बाद पंचकूला फिर से एक और  खेल महाकुंभ के  लिये तैयार

26वें अखिल भारतीय वन खेलकूद प्रतियोगिता ताउ देवी लाल खेल स्टेडियम में 10 से 14 मार्च तक की जायेगी आयोजित

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल और केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव करेंगे प्रतियोगिता का उद्घाटन

हरियाणा पर्यावरण एवं वन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री विनित गर्ग ने खेलों के सफल आयोजन के लिये अधिकारियों को दिये दिशा निर्देश

For Detailed

पंचकूला, 2 मार्च- खेलो इंडिया यूथ गेम्स के सफल आयोजन के बाद पंचकूला फिर से एक और खेल महाकुंभ के आयोजन के लिये तैयार है। 26वें अखिल भारतीय वन खेलकूद प्रतियोगिता का आयोजन ताउ देवी लाल खेल स्टेडियम में 10 से 14 मार्च तक किया जाएगा, जिसमें देश के सभी राज्यों, केन्द्रीय शासित प्रदेशों और वन अनुसंधान संस्थानों के लगभग 2 हजार 500 पुरूष व महिला खिलाड़ी विभिन्न खेल प्रतियोगिताओं में भाग लेंगे।

पर्यावरण एवं वन विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री विनित गर्ग ने आज खेलों के सफल आयोजन के लिये लघु सचिवालय के सभागार में संबंधित विभागों के अधिकारियों की बैठक ली और उन्हें आवश्यक दिशा निर्देश दिये। बैठक में उपायुक्त श्री महावीर कौशिक और प्रधान मुख्य वन संरक्षक (एचओएफएफ) श्री जगदीश चंद्र भी उपस्थित थे।  

श्री विनित गर्ग ने बताया कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल और केंद्रीय पर्यावरण एवं वन मंत्री श्री भूपेंद्र यादव 26वें अखिल भारतीय वन खेलकूद प्रतियोगिता के उद्घाटन अवसर पर मुख्यातिथि होंगे जबकि समापन अवसर पर राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय मुख्यातिथि के रूप में शिरकत करेंगे।  

उन्होंने कहा कि यह हरियाणा के लिये गौरव का विषय है कि प्रदेश को 26वें अखिल भारतीय खेल प्रतियोगिता के आयोजन की मेजबानी का अवसर मिला है। इससे पहले भी वर्ष 2002 में फरीदाबाद में और वर्ष 2013 में पंचकूला में इन खेलों का आयोजन किया गया था। उन्होंने बताया कि इन खेलों के लिये तीन आयु वर्ग बनाये गये है, जिसमें 45 वर्ष तक, 45 से 52 वर्ष और 53 से 60 वर्ष की आयु तक के खिलाड़ी भाग लेंगे। इस प्रतियोगिता में देशभर से कुल 37 टीमें भाग लें रही है। उन्होंने बताया कि खेलों का मुख्य आर्कषण 21 और 24 किलोमीटर की मैराथन दौड़ होगी जोकि 13 मार्च को आयोजित की जायेगी। अधिकतम मुकाबले ताउ देवी लाल खेल स्टेडियम सेक्टर-3 में खेले जायेंगे। इसके अलावा कुछ मुकाबले गोल्फ क्लब पंचकूला, अंबाला और चंडीगढ में भी आयोजित किये जायेंगे।

श्री विनित गर्ग ने कहा कि क्योंकि इन प्रतियोगिताओं में 60 वर्ष तक के खिलाड़ी भाग लें रहे है इसलिये उनके स्वास्थ्य की दृष्टि से स्वास्थ्य विभाग द्वारा खेल स्थलों पर पर्याप्त संख्या में एम्बुलेंस व डाॅक्टरों की टीम की व्यवस्था की जाये। उन्होंने पुलिस विभाग को यातायात प्रबंधन, वाहनों की पार्किंग और मैदान में खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिये पर्याप्त संख्या में पुलिस बल तैनात करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि नगर निगम द्वारा स्टेडियम परिसर की समुचित साफ सफाई के अलावा किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिये अग्निशमन वाहन की व्यवस्था की जाये। उन्होंने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को  पानी और उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम को बिजली की निर्बाध आपूर्ति सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये।

 प्रधान मुख्य वन संरक्षक (एचओएफएफ) श्री जगदीश चंद्र ने बताया कि इस प्रतियोगिता में भाग लेने के लिये देशभर से आने वाले खिलाड़ियों के लिये पंचकूला, जीरकपुर और चंडीगढ में रहने और उन्हें स्टेडियम तक लाने व लेजाने के लिये सभी इंतजाम पूरे कर लिये गये है।

उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने कहा कि इससे पहले भी पंचकूला में खेलों इंडिया यूथ गेम्स का सफल आयोजन किया गया। उन्होंने आश्वासन दिया जिला के संबंधित विभागों के अधिकारी एक टीम के रूप में कार्य करेंगे और 26वें अखिल भारतीय वन खेलकूद प्रतियोगिता का सफल आयोजन करवाया जायेगा।

बैठक में ये रहे उपस्थित

अतिरिक्त उपायुक्त वर्षा खनगवाल, अतिरिक्त प्रधान मुख्य वन संरक्षक सुरेश दलाल, केसी मीणा, विनोद कुमार, नवदीप हुडा, घनश्याम शुक्ला, विवेक सक्सेना और एपी पांडे, एसडीएम पंचकूला ममता शर्मा, नगराधीश गौरव चैहान, एसीपी राजकुमार रंगा, डीएफओ बीएस राघव, सीएमओ डाॅ मुक्ता कुमार, सीएमओ कार्यालय डाॅ विकास, जिला खेल अधिकारी सुधा भसीन, लोक निर्माण विभाग के कार्यकारी अभियंता गौरव जैन, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के कार्यकारी अभियंता अशोक राणा, यूएचबीवीएन के कार्यकारी अभियंता भूपेंद्र वधावन, हरियाणा रोडवेज पंचकूला के महाप्रबंधक अशोक कौशिक, जनस्वास्थ्य अभियंत्रिकी विभाग के एसडीओ धमेंद्र सहित संबंधित विभागों के अधिकारी।

https://propertyliquid.com/

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

बढते हुए तापमान से गेंहू की फसल के बचाव के लिए चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविधालय हिसार ने जारी की एडवाईजरी

For Detailed

पंचकूला, 2 मार्च- उप कृषि निदेशक डाॅ0 सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि बढते हुए तापमान से गेंहू की फसल के बचाव के लिए चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविधालय हिसार ने एडवाईजरी जारी की है। दिन का तापमान 30 से 32 डिग्री से0 व रात का तापमान 15 डिग्री से0 से नीचे रहता है तब तक किसानों को घबराने की जरूरत नहीं है।


उन्होंने बताया कि रात व दिन का तापमान मिलाकर औसत 22 डिग्री से0 गेंहू की पैदावार के लिए सबसे उतम है। गेंहू की फसल 24 डिग्री संे0 तक औसत तापमान सहन कर सकती है। उन्होंने बताया कि यदि दिन का तापमान 35 डिग्री से0 से उपर होने पर गेंहू के बनने वाले दानों पर बुरा प्रभाव पडता है। बढ़े हुए तापमान से बचने के लिए किसानों को आवश्यकतानुसार हल्की सिंचाई करने की सलाह दी गई है। उन्होंने बताया कि जब तेज हवा चल रही हो तो सिंचाई रोक दे अन्यथा फसल के गिरने से नुकसान हो सकता है। उन्होंने बताया कि गेंहू में बालियां निकलते समय या अगेती गेंहू की बालियां निकली हुई है, तो भी 0.2 प्रतिशत पौटाशियम क्लोराइड यानी 400 ग्राम म्यूरेट आफ पोटाश(पोटाश खाद) 200 लिटर पानी में घोल कर प्रति एकड छिडकाव करने से तापमान में अचानक हुई वृद्धि से होने वाले नुकसान को कम किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि पछेती बोई हुई गेंहू मेें पौटाशियम क्लोराइड का छिडकाव 15 दिन के अंतराल पर दो बार किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि अधिक जानकारी के लिए अपने नजदीकी कृषि कार्यालय में सम्पर्क कर सकते है।

https://propertyliquid.com/

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

*जोन-1 पंचकूला की उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच की कार्यवाही मार्च 06, 13, 20 और 27 को दोपहर 11.30 बजे से दोपहर 1.30 बजे तक की जाएगी *

For Detailed

पंचकूला, 2 मार्च- उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम द्वारा ‘पूर्ण उपभोक्ता संतुष्टि’ के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए अनेक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम प्रारंभ किये गए हैं ताकि उपभोक्ताओं की समस्याओं को त्वरित रूप में सुलझाया जा सके।  

इस संबंध में जानकारी देते हुए बिजली निगम के प्रवक्ता ने बताया कि जोनल उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच रेगुलेशन 2.8.2 के अनुसार प्रत्येक मामले में 1 लाख रुपये से अधिक और 3 लाख रुपये तक की राशि के वित्तीय विवादों से संबंधित शिकायतों की सुनवाई करेगा।

जोन-1 पंचकूला के अंतर्गत आने वाले जिलों (कुरुक्षेत्र, अंबाला, पंचकूला, कैथल और यमुनानगर) के उपभोक्ताओं की शिकायतों का निवारण 6, 13, 20, और 27 मार्च को जोनल उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच, पंचकूला में उपभोक्ताओं की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि जोन-1 पंचकूला के अंतर्गत आने वाले जिलों के उपभोक्ताओं के गलत बिलों, बिजली की दरों, मीटर सिक्योरिटी, खराब हुए मीटरों और वोल्टेज से से सम्बंधित मामलों का निस्तारण किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस दौरान बिजली चोरी, बिजली के दुरूप्योग और घातक गैर-घातक दुर्घटना आदि मामलों पर विचार नहीं किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि उपभोक्ता और निगम के बीच किसी भी विवाद के निपटान के लिए फोरम में वित्तिय विवादों से संबंधित शिकायत प्रस्तुत करने से पहले पिछले छह महीनों के दौरान उपभोक्ता द्वारा भुगतान किए गए बिजली के औसत शुल्क के आधार पर गणना की गई प्रत्येक माह के लिए दावा की गई राशि या उसके द्वारा देय बिजली शुल्क के बराबर राशि, जो कम है, उपभोक्ता को जमा करवानी होगी। इस दौरान उपभोक्ता को प्रमाणित करना होगा कि यह मामला अदालत, प्राधिकरण या फोरम के समक्ष पेंडिंग (लंबित) नहीं है क्योंकि इस न्यायालय या फोरम में विचाराधीन मामलों पर बैठक के दौरान विचार नहीं किया जाएगा।  

उन्होंने कहा कि उपभोक्ताओं से अपील की गई है कि वे अपनी बिजली से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए यू.एच.बि.वि.एन के मुख्यालय, विद्युत सदन, इंडस्ट्रियल प्लाट-3 और 4, सेक्टर-14, पंचकूला में दोपहर 11.30 बजे से 1.30 तक होने वाली कार्यवाही में सम्मिलित होकर अपनी समस्याओं का समाधान करवाएं।

https://propertyliquid.com/