*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

*वूमेन वर्क लाइफ बैलेंस, इश्यूज एंड चैलेंजिस विषय पर आयोजित किया गया सेमिनार* 

For Detailed

पंचकूला नवंबर 26: श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में प्राचार्य श्रीमती कामना की अध्यक्षता तथा डॉक्टर रागिनी कन्वीनर महिला प्रकोष्ठ के दिशा निर्देशन में  राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन किया गया।    

  इस सेमिनार का विषय वूमेन वर्क लाइफ बैलेंस, इश्यूज एंड चैलेंजिस रहा जिसमें पूरे भारत से अलग-अलग संस्थानों से सहायक प्रोफेसर, रिसर्च स्कॉलर व विद्यार्थियों ने अपने अपने विचार रिसर्च पेपर्स के द्वारा प्रस्तुत  किए।प्राचार्य श्रीमती कामना ने सेमिनार के आरंभ में अलग-अलग महाविद्यालय से आए हुए डेलिगेट्स का स्वागत किया तथा इस विषय पर अपने विचार प्रस्तुत किए।     उन्होंने कहा कि यह विषय वर्तमान परिदृश्य में बहुत प्रासंगिक है क्योंकि अधिकांश महिलाएं अपनी घरेलू जिम्मेदारियों के साथ-साथ काम कर रही हैं। इन दोनों जिम्मेदारियों को निभाते हुए उसे बहुत तनाव और सामाजिक दबावों से गुजरना पड़ता है। इसलिए विभिन्न विकल्पों और बिंदुओं पर चर्चा करने की आवश्यकता है जो जीवन में संतुलन बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।     

सेमिनार की मुख्य वक्ता डॉ. जयंती दत्ता, डिप्टी डायरेक्टर, एचआरडीसी, पंजाब यूनिवर्सिटी चंडीगढ़ थीं। डॉ. जयंती दत्ता ने कई सामाजिक दबावों की ओर इशारा किया, जिनका महिलाओं को बतौर प्रेरक सामना करना पड़ता है।  उन्होंने कई बिंदुओं का सुझाव दिया, जिन्हें एक व्यक्ति को उनमें आत्मसात करने का प्रयास करना चाहिए जैसे योग्यता, आंतरिक मूल मूल्य आदि। सेमिनार में दो तकनीकी सत्र हुए जिसमें विभिन्न कॉलेजों के प्रतिनिधियों ने अपने शोध पत्र प्रस्तुत किए। तकनीकी सत्र की अध्यक्षता डॉ नवनीत कौर एसोसिएट प्रोफेसर, भूगोल विभाग, पंजाब यूनिवर्सिटी, चंडीगढ़ व डॉ सुनीता अरोड़ा एसोसिएट प्रोफेसर, डॉ बी. आर. अंबेडकर राजकीय महाविद्यालय, जगदीशपुरा, कैथल ने की।    समापन भाषण श्री आर.के. अरोड़ा,  कार्यवाहक प्राचार्य, राजकीय महाविद्यालय, चीका, कैथल ने दिया। उन्होंने श्रोताओं को महिलाओं के कार्य जीवन संतुलन को बनाए रखने के लिए पुरुषों की आवश्यकताओं के बारे में बताया। उन्होंने कहा कि जब महिलाएं कमाने की अतिरिक्त जिम्मेदारी ले रही हैं तो पुरुषों को भी लेनी चाहिए।    संगोष्ठी की आयोजन टीम में श्री जसपाल, डॉ. रविंदर कुमार, डॉ. रागिनी, सुश्री अंजना, डॉ. सुमन, श्री सुरेश, डॉ. इंदु, डॉ. कविता, सुश्री सविता, सुश्री नवनीत नैन्सी और सुश्री शबनम  रही। कॉलेज के परिषद सदस्यों और संकाय सदस्यों ने पूरे उत्साह के साथ सेमिनार में भाग लिया और विभिन्न क्षेत्रों में अपने विचारों और शोध पत्रों के माध्यम से योगदान दिया।

ps://propertyliquid.com

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

उपायुक्त ने संविधान दिवस के अवसर पर जिला के अधिकारियों व कर्मचारियों को संविधान की उद्देशिका की ईमानदारी व निष्ठा से पालन करने की दिलाई शपथ

For Detailed

पंचकूला, 26 नवंबर- उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने लघु सचिवालय के सभागार में आज संविधान दिवस के अवसर पर जिला के विभिन्न विभागों के अधिकारियों व कर्मचारियों को संविधान की उद्देशिका की ईमानदारी व निष्ठा से पालन करने की शपथ दिलाई।
उन्होंने बताया कि भारत गणराज्य का संविधान 26 नवंबर 1949 को डाॅ भीमराव अंबेडकर ने तैयार किया था और गणतंत्र भारत में 26 जनवरी 1950 को संविधान को लागू किया गया। उन्होंने कहा कि भारत का संविधान भारत का सर्वोच्चय विधान है।
उन्होंने बताया कि संविधान दिवस को राष्ट्रीय कानून दिवस के रूप में भी भारत में मनाया जाता है। भारत का संविधान विश्व के किसी भी गणतांत्रिक देशों में सबसे लंबा और लिखित संविधान है। भारतीय संविधान को पूर्ण रूप से तैयार करने में 2 वर्ष 11 महीने और 18 दिन का समय लगा था।
इस अवसर पर नगराधीश गौरव चैहान, जिला शिक्षा अधिकारी सतपाल कौशिक, कृषि विभाग के उपनिदेशक सुरेंद्र यादव, तहसीलदार पुण्यदीप शर्मा सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

ps://propertyliquid.com

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

नगर निगम महापौर ने दो दिवसीय 11वें  अश्विनी गुप्ता मेमोरियल कबड्डी टूर्नामेंट का गांव खटोली में किया उद्घाटन

-टूर्नामेंट में विजेता टीम को 51 हजार रुपये की नकद राशि से किया जायेगा सम्मानित
-प्रतियोगिता में बैस्ट कैचर, रैडर और आॅल राउंडर को 3100 रुपये का दिया जायेगा नकद इनाम
-ग्रामीण आंचल के युवाओं को खेलों के प्रति प्रोत्साहित करने के लिये किया जा रहा है टूर्नामेंट का आयोजन

For Detailed

पंचकूला, 26 नवंबर- नगर निगम महापौर श्री कुलभूषण गोयल ने आज गांव खटोली के राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय में 11वें  अश्विनी गुप्ता मेमोरियल दो दिवसीय कबड्डी टूर्नामेंट का विधिवत शुभारंभ किया। इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष व स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी के चेयरमैन श्री ज्ञानचंद गुप्ता भी उपस्थित थे।


स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी के चेयरमैन श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने सर्वप्रथम स्वर्गीय अश्विनी गुप्ता की प्रतीमा पर पुष्प अर्पित किये। उन्होंने बताया कि कोविड महामारी के कारण पिछले 3 वर्षों से ग्रामीण आंचल में कबड्डी प्रतियोगिता का आयोजन नहीं करवाया जा सका परंतु अब जब कोविड काल के बाद जीवन सामान्य हो गया है तो गांव खटौली में 11वें  अश्विनी गुप्ता मेमोरियल कबड्डी टूर्नामेंट का आयोजन करवाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जिला पंचकूला व गांव के युवाओं की एनर्जी को खेलों के प्रति और ज्यादा आकर्षित करने के लिये स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी पंचकूला और अश्विनी गुप्ता मेमोरियल ट्रस्ट के द्वारा इस तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन पिछले 10 वर्षों से करवाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि इस कबड्डी प्रतियोगिता में लगभग 32 टीमें भाग लें रही है और आज प्रतियोगिता के पहले दिन कीरतपुर और छबीलपुर, अभयपुर और सुल्तानपुर, रिहोड व बरैली व अन्य टीमों के लगभग 16 मैच खेले गये। उन्होंने कहा कि कबड्डी प्रतियोगिता का मुख्य उद्देश्य जिला पंचकूला के युवाओं में खेलों के प्रति जोश को बढ़ाना है ताकि वे बढ़चढ़कर खेलों के माध्मय से अपनी प्रतिभा का उत्कृष्ट प्रदर्शन कर सकें।  


श्री गुप्ता ने बताया कि इस टूर्नामेंट में विजेता टीम को 51 हजार रुपये की नकद राशि इनाम स्वरूप दी जायेगी। इसके अलावा उपविजेता टीम को 31 हजार रुपये और तृतीय स्थान पर आने वाली विजेता टीम को 21 हजार रुपये का नकद इनाम देकर सम्मानित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रतियोगिता में बैस्ट कैचर, रैडर और आॅल राउंडर को 3100 रुपये का नकद इनाम दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि विजेता टीम को अश्विनी गुप्ता ममोरियल ट्रस्ट की तरफ से कबड्डी कप व 51 हजार रुपये की नकद राशि देकर सम्मानित किया जायेगा।


श्री गुप्ता ने कबड्डी टूर्नामेंट के खिलाड़ियों से परिचय किया और खिलाड़ियों को उत्कृष्ट प्रदर्शन की शुभकामनायें दी।


इस अवसर पर राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय खटौली के बच्चों ने अपने स्वागत गान व साहित्य एवं लोक कला विभाग की टीम ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति से माहौल को आनन्दमयी बना दिया।
 इस अवसर पर बीजेपी जिला प्रधान अजय शर्मा, एम जी काॅटेक्टर प्राईवेट लिमिटिड के एमडी कैलाश मित्तल, सतीश जिंदल, स्पोर्टस प्रमोशन सोसायटी के प्रधान डीपी सोनी, महासचिव एनडी शर्मा, संयुक्त सचिव डीपी सिंगल, वित्त सचिव विरेंद्र मेहता, बरवाला मंडलाध्यक्ष गौतम राणा, एमडीसी मंडलाध्यक्ष संदीप यादव, युवा मोर्चा के प्रदेश सचिव योगेंद्र शर्मा, अशोक शर्मा, बहादुर सिंह, हरिपाल राणा, धमिंद्र सिंह, राजसिंह दहिया तथा नरेंद्र राणा सहित सोसायटी के अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

ps://propertyliquid.com

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

Zero Waste Weddings trending in Chandigarh . MCC organises second zero waste wedding under Mission ‘Garbage Free City’

For Detailed

Chandigarh, November 26:- Moving towards Garbage Free City through conduct of Zero Waste Events, the Municipal Corporation Chandigarh supported a Zero Waste Wedding held last night at Sector 35.


Adopting the 3R principles and principles of circular economy for reducing, reusing, and recycling of waste to ensure maximum resource recovery, the event was conducted aiming at elimination of single-use plastic products under the SBM-U 2.0 to make the city “Garbage Free”.
Spearheading the mission of making Chandigarh No.1 in the country in terms of waste minimization at source, reuse and recycle of waste, the Municipal Corporation Chandigarh also conducted a ‘Zero Waste Wedding’ of Ms. Pooja D/o Mr. Ram Kumar and Mr. Mukesh s/o Sh. Sarnam Singh both residents of village Attawa, where 100% scientific processing of waste was done.
While sharing information about the initiative of conducting ‘Zero Waste Events’, Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Chandigarh said that public events pose a challenge for the MCC in terms of generating substantial quantities of waste and their subsequent disposal, there is a need to ensure that going forward, all public events be conducted on “zero-waste” principles. She said that to minimize the amount of waste generation and need for their safe disposal are the major components of the zero waste events. This would be possible through use of environment friendly products/ items, easy access to toilets and waste disposal facilities at such events, she added.
She said that besides conducting all the events and functions of the Municipal Corporation, the MCC supported Zero Waste Weddings and other celebrations of the citizens.
She said that sufficient Safaikarmacharies were deployed alongwith one waste collection vehicle at the venues while water sprinkler deployed to curb dust pollution at outdoor events besides providing twin litter bins and providing gender segregated toilets/mobile toilet vans.
She said that the parameters were followed during conducting the zero waste events including:
No plastic / Flex posters was used for displaying information regarding the event. Event details was printed on eco-friendly paper material
The welcome board at the gate clearly mentioned about the Zero Waste Swachh Event
Natural flowers were used for decoration purposes which were later composted.
Access to the venue was divyang Friendly
No plastic water bottles of any size, plastic Cups was used
Water and food were served at stainless steel glasses procured from MCC bartan bhandar at the ‘Zero Waste Wedding’
No plastic cups / glasses were used anywhere in the venue. Only bio-degradable environment friendly cups were used for coffee and soft drinks were used
Hand sanitizers at the snacks counter and eating tables were placed
Reusable cutlery/ plates were used which were rented from bartan bhandar arranged by MCC at the ‘Zero Waste Wedding’.
Near food counter and throughout the venue key message “Do not Litter – Use blue dustbin for Dry waste and Green dustbin for wet Waste” was displayed
Displaybof mascot of Swachh Bharat Mission ‘Swachhman’.
Green Bins (for Wet Waste) & Blue Bin (for Dry Waste) were placed at easily accessible location throughout the venue
Gender segregated toilet placed at the entrance and all toilet seats were clean and odour free at all times alongwith availability of Water and sanitizer
She further said that robust mechanism was adopted to handle waste generated at event site. All the waste collected were periodically emptied and transported in waste collection vehicle in segregated manner.

ps://propertyliquid.com

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

परिषद् द्वारा आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ

देश में पहली बार शैक्षणिक नेतृत्व पर कार्यशाला का आयोजन

कार्यशाला में प्रदेश के सभी शासकीय विश्‍वविद्यालय के कुलपति, कुलसचिव और अधिष्‍ठाता शामिल

पंचकुला, 26  नवंबर।

For Detailed

हरियाणा राज्‍य उच्‍च शिक्षा परिषद् द्वारा आयोजित ‘शैक्षणिक नेतृत्व: विमर्श’ विषय पर दो दिवसीय कार्यशाला का शुभारंभ हो गया। कार्यशाला के पहले परिषद् के अध्‍यक्ष प्रो. बृज किशोर कुठियाला एवं मुख्‍य वक्‍ता के रूप में  देश के प्रसिद्ध शिक्षाविद् मुकुल कानिटकर ने प्रदेश के 15 विश्‍वविद्यालयों शीर्ष अधिकारियों को संबोधित किया। कार्यशाला में अतिथियों का स्‍वागत करते हुए परिषद् के अध्‍यक्ष प्रो. बृज किशोर कुठियाला ने कहा कि प्रदेश में विश्‍वविद्यालयों के कुलपति, कुलसचिव और अधिष्‍ठाता ही उच्‍च शिक्षा में नेतृत्‍वकर्ता है। उच्‍च शिक्षा संस्‍थानों में शैक्षिक रूपरेखा, वातावरण एवं बेहतरी के लिए इन्हीं लोगों की टोली सक्रियता के साथ कार्य करती है। प्रो. कुठियाला ने कहा कि उच्‍च शिक्षा के संस्‍थानों में  युवाओं के सर्वांगिक विकास के लिए वातावरण बनाना जा रहा है। इस संदर्भ में हरियाणा का क्रम अन्‍य राज्‍यों के मुकाबले काफी बेहतर है। उन्‍होंने कहा कि उच्‍च शिक्षा से संबंधित बुद्धिधर्मी व्‍यक्तियों के अनुभव को एक –दूसरे से साक्षा करने के लिए हरियाणा राज्‍य उच्‍च शिक्षा परिषद् एक प्‍लेटफार्म के रूप में कार्य कर रहा है। इस तरह का कार्य देश में पहली बार हरियाणा में परिषद् द्वारा किया जा रहा है। प्रो. कुठियाला ने कहा कि समाज ने व्‍यक्ति के अनुभवों, सां‍ग‍ठनिक प्रतिबद्धता और नेतृत्‍व कौशल को ध्‍यान में रखते हुए उच्‍च शिक्षा में बेहतर कार्य करने का दायित्‍व दिया है। यह दायित्‍व सामुहिक भाव के साथ कार्य करने के लिए होती है। प्रो. कुठियाला ने कार्यशाला आयोजन की पृष्‍ठभूमि पर चर्चा करते हुए कहा कि जब सामुहिक चेतना सामुहिक दृष्टि में बदलती है तो साकारात्‍मकता के साथ कार्य करने करने का भाव बनने लगता है या बनाने की प्रक्रिया आरंभ होती है। उन्‍होंने कहा कि कार्यशाला के मंथन से प्राप्‍त नवनीत को शैक्षणिक नेतृत्‍व की दिशा में पॉलिसी डाक्‍यूमेंट बनाने की कोशिश की जायेगी। प्रो. कुठियाला ने बताया कि कार्यशाला के दूसरे दिन प्रदेश के सभी शासकीय विश्‍वविद्यालयों के वरिष्‍ठ प्राध्‍यापक, वित्‍त अधिकारी एवं परीक्षा नियंत्रक शामिल होंगे।  

कार्यशाला में मुख्‍य वक्‍ता के रूप में देश के प्रसिद्ध शिक्षाविद् मुकुल कानिटकर ने कहा कि हरियाणा राज्‍य उच्‍च शिक्षा परिषद् द्वारा आयोजित इस कार्यशाला का विषय कर्तव्‍यबोध एवं कार्य विभाजन उच्‍च शिक्षा संस्‍थानों के लिए प्रासंगिक एवं अनिवार्य हो गया है। श्री कानिटकर ने कहा कि स्वायत्तता एवं स्‍वतंत्रता विमर्श के भाग होते है। वर्तमान का शैक्षणिक नेतृत्‍व स्वायत्तता दे रही हैं लेकिन कोई लेने को तैयार नहीं है। स्वायत्तता अधिकार के साथ आती है। उन्‍होंने कहा कि शैक्षणिक नेतृत्‍वकर्ताओं को अपना आदर्श प्रस्‍तुत करना होगा। आज समाज परिवर्तन के लिए तैयार है। शिक्षा का बीज परिवर्तन के इस दौर में समय से विद्यार्थियों के अंदर डाल दिया जाये जो उनका अंकुरन ठीक से होगा जिससे शिक्षा में बहुत बड़ा परिवर्तन हो सकता है। उच्‍च शिक्षा के नेतृत्‍वकर्ता कुलपति, कुलसचिव और अधिष्‍ठाता इस परिवर्तन के वाहक होंगे। श्री कानिटकर ने कहा कि उच्‍च शिक्षा संस्‍थानों में स्‍नेह, आत्मियता और मातृत्‍व भाव से कार्य करने की आवश्‍यकता है।

कार्यशाला में गेम प्‍ले का आयोजन

हरियाणा राज्‍य उच्‍च शिक्षा परिषद् द्वारा शैक्षणिक नेतृत्‍व विषय पर आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला में तीन गेम प्‍ले भी सहभागियों के बीच आयोजित किया गया। पहले गेम का विषय मेरा ही, मेरा भी, मेरा नहीं था। इस गेम में सभी सहभागियों को विश्‍वविद्यालय के अनुसार तीन –तीन के पैनेल में कुलपति, कुलसचिव और  समूह बनाये गए थे। सभी समूहों के समक्ष विश्‍वविद्यालय अनुदान आयोग, दिल्‍ली विश्‍वविद्यालय और परिषद् से प्राप्‍त एक काल्‍पनिक प्रतिवेदन के आधार पर कार्यवाही का प्रारूप  प्रस्‍तुत किया गया और प्रत्‍येक समूह से प्रारूप में उल्‍लेखित परिस्थिति के आधार पर दस विंदु प्रस्‍तुत करने को कहा गया। सभी प्रतिभागियों ने प्रशन्‍ता के साथ भाग लिया । दूसरे गेम का विषय ‘मैं कौन’ था। इस गेम में सभी सहभागियों को तीन समूह बनाये गए थे। सभी समूह में 15-15 सदस्‍य थे। सभी समूहों से कार्य दायित्‍व पर मंथन कर 5 विंदु प्रस्‍तुत करने को कहा था। गेम प्‍ले सत्र का संचालन परिषद् के अध्‍यक्ष प्रो. बृज किशोर कुठियाला ने किया। अंत में सभी सहभागियों से गेम प्‍ले के आधार पर समस्‍या से समाधान प्राप्‍त करने के विषय पर चर्चा भी की गई।  कार्यशाला में सभी सहभागियों का स्‍वागत परिषद् के उपाध्‍यक्ष प्रो. कैलाशचंद्र शर्मा और उद्घाटन सत्र का संचालन परिषद् के परामर्शदाता के.के. अग्निहोत्री ने किया।

ps://propertyliquid.com

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

UIHTM, Panjab University Chandigarh organises two days National Conference on

Sustainability Challenges in Tourism and Hospitality Sector

23-11-2022 to 24-11-2022

Chandigarh November 24, 2022

For Detailed

University Institute of Hotel and Tourism Management (UIHTM) organised two day national conference on Sustainability Challenges in Tourism and Hospitality Sector from 23-11-2022 to 24-11-2022. The conference was inaugurated by Prof. Raj Kumar, Vice Chancellor, Panjab University Chandigarh while Prof. R.K. Gupta Vice Chancellor Maharaja Agrasen University Baddi was guest of honour. Prof. Sandeep Kulshreshtha, Director CIQA, MP Bhoj University was key note speaker. Dr. Arun Singh Thakur, Director UIHTM welcomed all the guests and delegates. Prof Prashant Gautam welcomed all the delegates and explained the significance of the theme of the conference. Prof. Meenakshi Malhotra former Director UIHTM talked about issues of sustainability and suggested remedies for emerging challenges. Prof. Sandeep Kulshreshtha talked about going back to our knowledge of Vedas to tackle the issues of sustainability. Prof. R.K Gupta focussed on use of technology and innovations for tackling the challenges of sustainability in tourism. Prof. Raj Kumar, Vice Chancellor Panjab University in is presidential address emphasised about significance of our rich cultural heritage that needs to be preserved and promoted for sustainable development. He emphasised the need of students in capacity building for sustainable tourism development. Different technical sessions were organised to highlight the issues of sustainability in which participants from various university like Lovely Professional University, Central University of Haryana, Ambedkar Institute of Hospitality, Guru Nanak Dev University (GNDU) Amritsar and from various other institutions of India participated.

ps://propertyliquid.com

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

राजकीय महाविद्यालय कालका के एमएससी भूगोल के द्वितीय वर्ष के छात्र अरुण कुमार वत्स ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में आयोजित 7 दिन के शिविर राष्ट्रीय एकता शिविर में लिया भाग

For Detailed

पंचकूला, 24 नवंबर- राजकीय महाविद्यालय कालका राष्ट्रीय सेवा योजना के प्रभारी प्रोफेसर सोनू कुमार और प्रोफेसर सरिता के मार्गदर्शन और दिशा निर्देशन में एमएससी भूगोल के द्वितीय वर्ष के छात्र अरुण कुमार वत्स ने कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय में आयोजित 7 दिन के शिविर राष्ट्रीय एकता शिविर में भाग लिया।

इस शिविर में भारत के विभिन्न राज्यों के स्वयंसेवकों ने भाग लिया और अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन किया । कुरुक्षेत्र विश्वविद्यालय के एनएसएस अधिकारी डॉ आनंद कुमार ने टीमों का उत्साहवर्धन किया और उनके उज्जवल भविष्य की कामना की।
राजकीय महाविद्यालय कालका की प्राचार्या कामना ने छात्र अरूण कुमार वत्स को प्रमाण पत्र और मेडल से सम्मानित किया।

ps://propertyliquid.com

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

26 को होगा लोक अदालत का आयोजन : अनुराधा

सिरसा, 24 नवंबर।

For Detailed


जिला की अदालतों में 26 नवंबर को राष्टï्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जाएगा, जिसमें आपसी सहमति से विभिन्न केसों का मौके पर ही निपटान किया जाएगा। यह जानकारी जिला विधिक सेवा प्राधिकरण की सचिव एवं मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी अनुराधा ने दी।


उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि 26 नवंबर को जिला न्यायालय में लगने वाली नेशनल लोक अदालत में हिन्दू मैरिज एक्ट, एमएसीटी मामले बिजली,वाटर सिविल, बैंक रिकवरी केस इत्यादि मामलों को रखा जाएगी। उन्होंने बताया कि लोक अदालत में मामलों को आपसी सहमति के आधार पर सुलझाया जाता है।

ps://propertyliquid.com/

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

फसल अवशेष प्रबंधन स्कीम : किसान 28 नवंबर तक ले सकते हैं कृषि यंत्रों/मशीनों के परमिट

सिरसा, 24 नवंबर।

For Detailed


कृषि एवं किसान कल्याण विभाग हरियाणा द्वारा केंद्र सरकार की फसल अवशेष प्रबंधन इन सीटू मैनेजमेंट फॉर क्रॉप रेसिड्यूज 2022-23 के तहत व्यक्तिगत श्रेणी के ड्रा द्वारा अनुमोदित किसान अपना परमिट 28 नवंबर 2022 तक सहायक कृषि अभियंता कार्यालय से प्राप्त कर सकते है। साथ ही किसान अपनी मशीन विभाग द्वारा अनुमोदित डीलर/निर्माता से खरीदकर उसका बिल, ई-वे बिल व कृषि यंत्र की तीन फोटो आदि 30 नवंबर 2022 तक कार्यालय सहायक कृषि अभियंता सिरसा दे सकते हैं। अगर किसान अपना परमिट 28 नवंबर 2022 तक नहीं लेता है तो ड्रा सूची में अंकित अगले किसान को परमिट जारी कर दिया जाएगा। इसके लिए अनुमोदित किसान स्वयं जिम्मेदार होगा।

ps://propertyliquid.com/

*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

विद्यार्थीयो को पॉक्सो एक्ट, चाइल्ड राइट व साइबर सिक्योरिटी पर दी जानकारी

For Detailed

पंचकूला, 23 नवंबर- जिला कार्यक्रम अधिकारी के मार्गदर्शन में जिला बाल सरक्षण ईकाई की कानून एवं परिविक्षा अधिकारी निधि मलिक द्वारा गवर्नमेंट सीनियर सेकेण्डरी स्कूल पिंजौर में एक जारूकता शिविर का आयोजन किया गया, जिसमे बच्चो को दिन प्रतिदिन बड़ रहे साइबर क्राइम, बच्चे  तकनीक का सही उपयोग कैसे कर सकते है के बारे में बताया गया।


इस शिविर में बच्चो को पोक्सो एक्ट तथा एंटी ह्यूमन ट्रैफिकिंग के बारे में जागरूक किया गया व बच्चो को बताया गया कि यदि उनके साथ कोई भी ऐसी शारिरिक व लैंगिक दुर्घटना हो जाये या होने की आशंका हो तो वह तुरंत जिला बाल सरंक्षण ईकाई पंचकुला को 0172-2582220 व 1098 व 112 पर संप्रक कर सकते है। कोई भी बच्चा यदि  अपने साथ हो रहे गलत की जानकारी देगा तो उसकी या अन्य कोई व्यक्ति जो जानकारी देगा, उसकी पहचान गुप्त रखी जाएगी।


 जागरूकता शिविर मे बच्चो को स्कूल से मिले  टेबलेट का सही तरीके से इस्तेमाल करने के बारे में  भी बताया गया। इसके साथ ही बच्चो को बताया गया कि वह सोशल मीडिया के साधन से दूर रहकर अपनी पढ़ाई पर ध्यान दंे व सोशल मीडिया पर कोई गलत संदेश भेजने से बचे क्योकि किसी एक छोटी सी गलती से वह कानूनी कार्यवाही  के शिकार हो सकते है।

ps://propertyliquid.com/