कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

  • इच्छुक किसान विभाग के पोर्टल www.agriharyana.gov.in पर 27 मई तक आॅनलाइन माध्यम से कर सकते हैं आवेदन

For Detailed News

पंचकूला, 21 मई- जिला पंचकूला के किसानांे को वर्ष 2022-23 के दौरान विभिन्न कृषि यन्त्रो पर अनुदान हेतु आॅनलाईन आवेदन करने की अंतिम तिथि बढाकर 27 मई, 2022 तक बढा दी गई है। स्कीम का लाभ प्राप्त करने के लिए इच्छुक किसान विभाग के पोर्टल www.agriharyana.gov.in पर 27 मई तक आॅनलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं।


इस संबंध में जानकारी देते हुए सहायक कृषि अभियन्ता, पंचकुला श्री ओमप्रकाश महिवाल ने बताया कि इस स्कीम के अंतर्गत पंचकूला जिलें में व्यकितगत किसान श्रेणी में अनुसूचित जाति/ जन जाति एवं महिला किसानों के लिए विभिन्न कृषि यन्त्रों बीटी काॅटन सीड ड्रिल, ट्रैक्टर चालित स्प्रेयर पंप, डायरेक्ट सीड राईस मशीन, ट्रैक्टर चालित रोटरी वीडर, पावर टिलर, ब्रिकेट बनाने की मशीन, स्व-चालित रीर बाइंडर, मक्का बोने की मशीन (मेज प्लांटर), मेज थ्रैशर और न्युमैटिक प्लांटर 50 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध करवाए जाएगे जिनके लिए किसान आवेदन कर सकता है। इस स्कीम के अंतर्गत किसानों को उपरोक्त यन्त्र 40 प्रतिशत से 50 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध करवाए जाएंगे।


उन्होंने बताया कि आवेदन के लिए किसान के नाम हरियाणा में रजिस्टर्ड टैªक्टर की वैध आर0सी0 (केवल ट्रैक्टर चलित मशीनों के लिए), किसान के नाम जमीन व उसकी पटवारी रिपोर्ट, किसान का बैंक खाता, आधार कार्ड और पैन कार्ड, मेरा फसल मेरा ब्यौरा पर रजिस्ट्रेशन, परिवार पहचान पत्र व अनुसूचित जाति /जन जाति के किसानों के लिएजाति प्रमाण पत्र अनिवार्य है।

https://propertyliquid.com/


उन्होंने बताया कि किसान को आवेदन के समय जिन कृषि यन्त्रों की अनुदान राशि 2.5 लाख रूपए से कम है उसके लिए 2500 रूपए तथा जिन कृषि यन्त्रों की अनुदान राशि 2.5 लाख रूपए अधिक है उसके लिए 5000 रूपए की बुकिंग राशि आॅनलाईन ही जमा करवानी होगी, जोकि रिफंडेबल होगी। उन्होंने बताया कि एक किसान लाभार्थी अधिकतम 3 विभिन्न प्रकार के कृषि यंत्र के लिए आवेदन कर सकता है। जिन किसानों ने पिछले 5 वर्षों में इन कृषि यंत्रों पर अनुदान लिया है, वे किसान इस स्किम में उसी यंत्र पर आवेदन करने के लिए पात्र नहीं होंगे। उन्होंने बताया कि अधिक जानकारी के लिए कृषि विभाग की वैबसाईट अथवा सहायक कृषि अभियन्ता, पंचकूला या उप कृषि निदेशक, कृषि तथा किसान कल्याण विभाग, पंचकूला कार्यालय में किसी भी कार्य दिवस को सुबह 09 बजे से सांय 05 बजे तक संपर्क कर किया जा सकता है।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

बैत बाज़ी में ग़ालिब ग्रुप ने बाज़ी मारी

Chandigarh May 21, 2022

For Detailed News

पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ के उर्दू विभाग द्वारा बैतबाज़ी का आयोजन किया गया, जिसमें उर्दू  फ़ारसी विभाग के छात्रों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।कार्यक्रम में दो राउंड हुए, छात्रों ने  उर्दू भाषा के प्रमुख कवियों की मानक कविताओं का पाठ किया और शेरों की अंत्याक्षरी  में सफल रहे, मात्र पन्द्रह सेकेंड में हर प्रतिभागी को शेर पढ़ना था जिसकी वजह से अंत तक दोनों प्रतिभागियों ने कशमकश का माहौल बनाए रखा,जिसकी वजह से मुक़ाबला अंत तक बहुत रोचक रहा,जिसमें निर्णायकों ने अंतत:ग़ालिब ग्रुप को विजेता घोषित किया।

    इस ग्रुप में,राशिद अमीन नदवी,ख़लीक़ उर रहमान,जसप्रीत सिंह,बशीर,सुमेघा वैद,जेपी सिंह,नाज़िर, राम,मानिक व वीना आहूजा ने भाग लिया।

 विजेता टीम को ट्रॉफी से सम्मानित किया गया और सभी प्रतिभागियों को स्वर्ण पदक और प्रमाण पत्र से सम्मानित किया गया।

   इसके अलावा, हाफ़िज़ ग्रुप को सिकंड पुरस्कार के रूप में ट्रॉफी व रजत पदक और प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया गया।

 इस ग्रुप में मुहम्मद सुल्तान, सुदीप सिंह, विदुषी चंदेल, मनीज़ पनेसर, तरणजोत सिंह, मनदीप सिंह, परमवीर सिंह, रमनप्रीत, कार्तिक ने भाग लिया।

   अपने शुरुआती वक्तव्य में उर्दू विभाग के संयोजक और अध्यक्ष डॉ. अली अब्बास ने बैत बाज़ी के सिद्धांतों और नियमों के बारे में बताया और कहा कि उर्दू विभाग की तरफ़ से  पंजाब यूनिवर्सिटी के इतिहास में पहली बार यह बैत बाज़ी प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है।  उन्होंने कहा कि बैत बाज़ी  से छात्रों में शायरी व अदब का ज़ौक़ और सही शायरी पढ़ने का जुनून भी पैदा होगा।

 उर्दू और फारसी विभाग से सर्टिफिकेट, डिप्लोमा और एडवांस डिप्लोमा और परास्नातक के छात्रों और शोधार्थियों के उत्साह को देखते हुए डॉ. अब्बास ने कहा कि जल्द ही विश्वविद्यालय के विभिन्न विभागों और चंडीगढ़ के विभिन्न कॉलेजों के बीच बड़े पैमाने पर बैत बाज़ी का आयोजन किया जाएगा.

https://propertyliquid.com/

   कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि के रूप में भाग लेते हुए डॉ. रेहाना परवीन ने कहा कि कार्यक्रम अपेक्षा से अधिक सफल रहा।  विद्यार्थियों ने मानक शायरी को बहुत ही अच्छे ढंग से प्रस्तुत किया।छात्रों के उत्साह को देखते हुए ऐसा नहीं लगा कि विभाग में पहली बार यह बैत बाज़ी का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है।

    कार्यक्रम में बतौर जज  ‘तामीर ए हरियाणा’ के पूर्व संपादक और कवि डॉ. सुल्तान अंजुम ने कहा कि बैत बाज़ी कभी उर्दू के लोगों की पहचान थी, शिक्षकों की कविताओं को याद करना, उन्हें महफ़िलों में पढ़ना एक सराहनीय कार्य माना जाता था।  एक समय था जब कायस्थ घराने की शादी पार्टियों में बैत बाज़ी एक अनिवार्य रस्म थी।  लेकिन आजकल उर्दू के साथ-साथ बैत बाज़ी का शौक़ भी मद्धम पड़ता जा रहा है.  उर्दू विभाग में आयोजिन

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

दो बार के कॉमनवेल्थ खेलों के पदक विजेता प्रभपाल सिंह का फोर्टिस मोहाली में एडवांस्ड हाइब्रिड एसीएल सर्जरी के साथ सफलतापूर्वक इलाज किया गया

-हाइब्रिड एसीएल प्रोसीजर मूल संरचना को बहाल करने में मदद करती है, रीहैबलीटेशन में तेजी लाती है और संबंधित खेल में रोगी की वापसी सुनिश्चित करती है-

For Detailed News

जालंधर, 20 मई, 2022: फोर्टिस हॉस्पिटल, मोहाली में ऑर्थोपेडिक्स टीम ने हाल ही में 2016 कॉमनवेल्थ खेलों के स्वर्ण पदक विजेता (कुश्ती) प्रभपाल सिंह की एसीएल टीयर और मेनिस्कस की चोट के लिए सफलतापूर्वक सर्जरी प्रोसीजर को पूरा किया। एसीएल घुटने में एक लिगामेंट है जो स्थिरता को नियंत्रित करता है और खेलकूद के लिए महत्वपूर्ण है। एसीएल इसमें टीयर (आंतरिक तौर पर फटना) से खेल करियर का नुकसान होता है, और इससे बड़े झटके लग सकते हैं। मेनिस्कस घुटने में एक कुशन है और आमतौर पर खेलने के दौरान क्षतिग्रस्त हो जाता है।

रोगी प्रभपाल को असहनीय दर्द हो रहा था और इससे मैदान पर उसका प्रदर्शन प्रभावित हो रहा था। 2016 के कॉमनवेल्थ खेलों में कुश्ती में स्वर्ण पदक और 2017 में उसी खेल स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाले प्रभपाल अपनो स्पोर्ट्स इंजरी के कारण खेल को छोडऩे पर विचार कर रहे थे।

आखिरकार उन्होंने इस साल मार्च में फोर्टिस हॉस्पिटल मोहाली के ऑर्थोपेडिक्स और स्पोर्ट्स मेडिसिन के सलाहकार डॉ. मानित अरोड़ा से मुलाकात की और उसके बाद 22 मार्च को हाइब्रिड एसीएल सर्जरी करवाई। एसीएल सर्जरी के लिए हाइब्रिड एसीएल सर्जरी एक नई तकनीक है जो देशी शरीर रचना को बहाल करने में मदद करती है, पुनर्वास में तेजी लाती है और संबंधित खेल में रोगी की वापसी होती है।
फोर्टिस मोहाली में अच्छे रीहैबलीटेशन प्रोग्राम के बाद, रोगी प्रभपाल को सर्जरी के अगले दिन छुट्टी दे दी गई और वह बिना किसी सहारे के चलने में सक्षम हो गए। डॉ. अरोड़ा ने खुलासा किया कि रोगी प्रभपाल 6 महीने के भीतर कुश्ती में वापसी करने में सक्षम होंगे।

https://propertyliquid.com/

इस पूरे केस प्रीसजर के बारे में विस्तार से चर्चा करते हुए, डॉ. अरोड़ा ने कहा कि ‘‘रोगी के एसीएल टीयर और मेनिस्कस की चोट थी जो मैदान पर उसके प्रदर्शन को बाधित कर रही थी। मैंने हाइब्रिड एसीएल सर्जरी की सबसे एडवांस्ड तकनीक के माध्यम से उनके घुटने का ऑपरेशन किया। रोगी प्रभपाल के 6 महीने के भीतर खेल के मैदान में वापसी करने की संभावना है।’’

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने चैथे खेलो इंडिया यूथ गेम्ज़-2021 के आयोजन की तैयारियों के संबंध में विभिन्न विभागों के अधिकारियों की आयोजित बैठक की करी अध्यक्षता

-खेलों के सफल आयोजन के लिए अधिकारियों को दिये दिशा-निर्देश

-पंचकूला रहेगा खेलों के आयोजन का मुख्य केन्द्र-उपायुक्त

-25 खेल प्रतियोगिताओं में से 19 प्रतियोगिाएं पंचकूला में होंगी आयोजित

-खेलो इंडिया यूथ गेम्ज़-2021 का उदघाटन व समापन समारोह पंचकूला में होगा आयोजित

For Detailed News

पंचकूला, 20 मई- उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने 4 जून से 13 जून तक आयोजित होने वाले चैथे खेलो इंडिया यूथ गेम्ज़-2021 के आयोजन के संबंध में विभिन्न विभागों के अधिकारियों की आयोजित बैठक की अध्यक्षता की तथा खेलों के सफल आयोजन के लिए दिशा-निर्देश दिये।


आज लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित बैठक में उपायुक्त ने संबंधित विभागों के अधिकारियों को सभी आवश्यक प्रबंध 1 जून तक पूरा करने के निर्देश दिये।


उन्होंने कहा कि हालांकि खेलो इंडिया यूथ गेम्ज़-2021 के तहत खेल प्रतियोगिताएं पंचकूला के साथ-साथ अंबाला, शाहबाद, दिल्ली और चण्डीगढ़ में आयोजित की जाएंगी लेकिन पंचकूला खेलों के आयोजन का मुख्य केन्द्र रहेगा। खेलो इंडिया यूथ गेम्ज के तहत आयोजित होने वाली 25 खेल प्रतियोगिताओं में से 19 प्रतियोगिताएँ पंचकूला में आयोजित की जाएंगी। इसके अलावा खेलों के उदघाटन समारोह तथा समापन समारोह का आयोजन भी पंचकूला में ही किया जाएगा।

पंचकूला में इन स्थानों पर आयोजित होंगी खेल प्रतियोगिताएं


श्री महावीर कौशिक ने बताया कि ज्यादातर खेल प्रतियोगिताएं सेक्टर  3 स्थित ताउ देवी लाल खेल परिसर में आयोजित की जाएंगी। इसके अलावा राजकीय कन्या महाविद्यालय सेक्टर 14, जिमखाना क्लब सेक्टर 6 और रेड बिशप हाॅल में भी खेलों का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि ताउ देवी लाल खेल परिसर में एथलैटिक्स, फुटबाॅल, बैडमिंटन, टेबल टैनिस, कबड्डी, हैंडबाॅल, कुश्ती, बास्केटबाॅल, वाॅलीबाॅल, बाॅक्सिंग, खो-खो, गतका, थांग-ता, कलरीपायट्टु, योगासन, मलखंभ और हाॅकी प्रतियोगिओं का आयोजन किया जाएगा। इसी प्रकार राजकीय कन्या महाविद्यालय सेक्टर 14 के आॅडिटोरियम में वेट लिफ्टिंग, जिमखाना सेक्टर 6 में टैनिस और रेड बिशप हाॅल में जुडो प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा।


उन्होंने संबंधित विभागों को निर्देश दिये कि देश भर से खेलों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों के लिए उच्च स्तर के प्रबंध किए जाएं ताकि वे पंचकूला से सुनहिरी यादें लेकर जाएं। उन्होंने बताया कि हाल ही में केन्द्रीय खेल एवं युवा मामले विभाग के सचिव तथा हरियाणा के मुख्य सचिव की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की गई, जिसमें हरियाणा में आयोजित होने वाले खेलो इंडिया यूथ गेम्ज़-2021 की तैयारियों की समीक्षा की गई। इन खलों का आयोजन हरियाणा खेल एवं युवा मामले विभाग द्वारा किया जा रहा है और इन खेलों के सफल आयोजन के लिए पंचकूला जिला प्रशासन का अहम रोल रहेगा।


श्री महावीर कौशिक ने संबंधित विभागों को खेलों के दौरान ताउ देवी लाल खेल स्टेडीयम, राजकीय कन्या महाविद्यालय सेक्टर 14, जिमखाना क्लब सेक्टर 6 और रेड बिशप हाॅल में बिजली, पानी की निर्बाध आपूर्ति और समूचित साफ-सफाई के साथ-साथ प्रयाप्त संख्या में एम्बुलेंस और फायर ब्रिगेड की व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि खेल विभाग द्वारा नगर निगम की एलईडी स्क्रीनों के माध्यम से पंचकूला में खेलों का प्रचार-प्रसार किया जाएगा। उन्होंने कहा कि खेल स्थलों पर सभी आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने लिए संबंधित विभागों के एक-एक अधिकारी को नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा। इसके अलावा एचसीएस स्तर के अधिकारियों को प्रबंधों की निगरानी के लिए नियुक्त किया जाएगा।

https://propertyliquid.com/


इस अवसर पर नगर निगम के आयुक्त धर्मवीर सिंह, अतिरिक्त उपायुक्त मनीता मलिक, एसडीएम ऋचा राठी, नगराधीश गौरव चैहान, एसीपी राजकुमार, हरियाणा रोडवेज के महाप्रबंधक रविंदर पाठक, परिवहन प्रबंधक व्यौम शर्मा, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी गगनदीप सिंह, कार्यकारी अभियंता अशोक राणा, अमित राठी, जिला खेल अधिकारी श्री पाल, सीएमओ कार्यालय से डाॅ. अनुज बिश्नोई, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के एसडीई धम्रेन्द्र सिंह सहित अन्य विभागों के संबंधित अधिकारी भी उपस्थित थे।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

आजादी के अमृत महोत्त्सव एवं 8वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में जिला में योग शिविर का किया आयोजन

विभिन्न स्थानों पर आयोजित एक दिवसीय शिविर में कुल 329 लोगों ने किया योगाभ्यास-जिला आयुर्वेद अधिकारी

For Detailed News

पंचकूला, 20 मई- आजादी के अमृत महोत्त्सव एवं 8वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में जिला में विभिन्न स्थानों पर एक दिवसीय योग शिविर का आयोजन किया गया, जिनमें कुल 329 लोगों ने योगाभ्यास किया।
इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला जिला आयुर्वेद अधिकारी, डा0 दिलीप कुमार मिश्रा ने बताया कि पंचकूला के सेक्टर 5 स्थित यवनिका टाउन पार्क में आयोजित योग शिविर में आयुष विभाग की योग प्रशिक्षक रितु मित्तल व पतंजलि योग समिति से विनोद कुमार ने योगा प्रोटोकाॅल का अभ्यास करवाया। इसी प्रकार नेता जी स्टेडियम रायपुररानी में पतंजलि योग समिति से सत्यपाल तथा आर्य समाज मंदिर पिंजौर में पतंजलि योग समिति के रामपाल जांगड़ा ने योगा प्रोटोकोल का अभ्यास करवाया।

https://propertyliquid.com/

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

पंचकूला के उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने मोरनी के गांव धर्मपुर, बीड़, मादोवाल तथा गांव ठाठर का किया दौरा 

For Detailed News

पंचकूला, 20 मई- पंचकूला के उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने जिला के अंतर्गत पड़ने वाले खण्ड मोरनी के गांव धर्मपुर, बीड़, मादोवाल तथा गांव ठाठर का दौरा किया। उपायुक्त के साथ वन विभाग, लोक निर्माण विभाग (भवन एवं सड़कें) तथा अन्य संबंधित अधिकारी भी उपस्थित थे।


इस अवसर पर उपायुक्त ने ग्रामीणों से बात-चीत की। उपायुक्त का यह दौरा मोरनी खँड के गांवो को पक्की सड़क के साथ रायपुररानी से जोड़ने को लेकर किया गया।

https://propertyliquid.com/


उपायुक्त ने बताया कि ग्रामीणों के द्वारा लंबे समय से धर्मपुर,  बीड, मादोवाला और ठाठर गांवो को रायपुर रानी से पक्की सड़क के मध्यम से जोड़ने की मांग की जा रही थी ताकि इन गांवों को मूलभूत सुविधाएं मिल सके। उपायुक्त ने बताया कि सड़क मार्ग को बनाने के लिए जमीन वन विभाग को ट्रांसफर की जानी है। उन्होंने  ग्रामीणों को आश्वासन दिया है कि जल्द ही इस संबंध में कार्य शुरू हो जाएगा और इन गांवों को पक्की सड़क की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगीं।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने अधिकारियों व कर्मचारियों को दिलाई आंतकवाद विरोधी शपथ

For Detailed News

पंचकूला, 20 मई- उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने आज जिला सचिवालय के सभागार में आतंकवाद विरोधी दिवस के उपलक्ष्य में सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को आंतकवाद विरोधी शपथ दिलाई।
उपायुक्त ने बताया कि इस दिन को मनाने का उद्देश्य युवाओं को आतंकवाद और हिंसा से दूर रखना है।उन्होंने बताया कि आंतकवादी विरोधी दिवस हर वर्ष 21 मई को मनाया जाता है परंतु 21 मई शनीवार को सरकारी कार्यालयों में अवकाश होने के कारण इसे आज आयोजित किया गया।


इस अवसर पर उपायुक्त ने अधिकारियों व कर्मचारियों को शपथ दिलवाई कि- हम भारतवासी अपने देश की अंहिसा एवं सहनशीलता की परंपरा में दृढ़ विश्वास रखते हैं तथा निष्ठापूर्वक शपथ लेते है कि हम सभी प्रकार के आतंकवाद और हिंसा का डटकर विरोध करेंगे। हम मानव जाति के सभी वर्गों के बीच शांति, सामाजिक सद्भाव तथा सूझबूझ कायम करने और मानव जीवन मूल्यों को खतरा पंहुचाने वाली और विघटनकारी शक्तियों का डट कर मुकाबला करेंगे।

https://propertyliquid.com/


इस अवसर पर नगर निगम के आयुक्त धर्मवीर सिंह, एसडीएम ऋचा राठी, नगराधीश गौरव चैहान, एसीपी राजकुमार सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी उपस्थित थे।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

तापमान 48.3 डिग्री सेल्सियस रहने के बावजूद  नहीं लगे बिजली के कट

– प्रदेश में 18 मई को सभी संसाधनों से उपलब्ध रही 7050 मेगावॉट बिजली जबकि 9774 मेगावॉट की मांग को पूरा किया गया , यह सब  बिजली विभाग के बेहतर प्रबंधन  के चलते सम्भव हुआ : रणजीत सिंह


चंडीगढ – सिरसा, 19 मई।

For Detailed News


हरियाणा के बिजली मंत्री चौधरी रणजीत सिंह ने कहा कि वर्ष  1901 के  बाद इस वर्ष उत्तरी भारत के राज्यों में भीषण गर्मी पडऩे के कारण मई-माह में तापमान 48.3 डिग्री सैल्सियस तक पहुंचने के बावजूद हरियाणा ही एक ऐसा राज्य रहा जहां बिजली के कट नहीं लगे और उपलब्धता से अधिक बिजली की मांग को पूरा किया। यह सब सरकार के बेहतर बिजली प्रबंधन के चलते ही सम्भव हो सका। बिजली मंत्री ने यह जानकारी चंडीगढ़ में पत्रकारों से बातचीत करते हुए दी।


बिजली मंत्री ने कहा कि  प्रदेश में पहली मई से निर्बाध बिजली की आपूर्ति की जा रही है और पिछले पांच दिनों से रात्रि में कोई भी बिजली के कट नहीं लगे है। किसी प्रकार की तकनीकी खराबी को छोडकऱ यहां तक की गुरुग्राम व फरीदाबाद जैसे बड़े औद्योगिक शहरों में भी औद्योगिक क्षेत्रों को भी पूरी बिजली दी गई। उन्होंने कहा कि अदानी ग्रुप से 500 मेगावॉट अतिरिक्त बिजली मिलनी आरम्भ हो गई है और इससे 500 मेगावाट और बिजली शीघ्र मिलने लग जाएगी।


3024 मेगावाट अतिरिक्त बिजली के प्रबंध


बिजली मंत्री ने बताया कि अदानी ग्रुप से 1424 मेगावाट, छतीसगढ़ से 350 मेगावाट, मध्यप्रदेश से 150 मेगावाट, सिक्कम से हाइड्रो-पावर से 500 मेगावाट अतिरिक्त बिजली खरीद के प्रबंध किए गए हैं। खेदड़ प्लांट की 600 मेगावाट की एक इकाइ का रुटर खराब हो गया था जो चीन से मंगवा लिया गया है ,इसको बदलने में कुछ समय लगेगा, सम्भावना है कि इस माह के अंत तक इससे भी 600 मेगावाट अतिरिक्त बिजली मिलने लग जाएगी। इस प्रकार कुल, 3024 मेगावाट अतिरिक्त बिजली के प्रबंध किए गए हैं।


एक प्रश्न के उत्तर में बिजली मंत्री ने कहा कि 18 मई को प्रदेश में सभी संसाधनों से 7050 मेगावॉट बिजली उपलब्ध थी, जबकि बिजली की लगभग 9774 मेगावॉट प्रतिदिन की मांग को पूरा किया गया जो पिछले वर्ष की तुलना में 45.11 प्रतिशत की खपत अधिक थी।  उन्होंने कहा कि प्रदेश में पीक आवर की अवधि 15 जून से 20 जुलाई अर्थात एक महीने तक मानी जाती है। जुलाई में केरल, तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा व पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों में मानसून पहले ही आ जाता है। इसलिए उन राज्यों से उत्तरी भारत के राज्य बिजली लेते हैं क्योंकि वहां उन समय बिजली की अतिरिक्त मांग नहीं होती है।


एक अन्य प्रश्न के उत्तर में चौ0 रणजीत सिंह ने कहा कि अप्रैल माह में 12 रुपये प्रति यूनिट की दर से महंगी बिजली खरीदी अब बाजार में भी चार से 6 रुपये प्रति यूनिट बिजली उपलब्ध है। कृषि क्षेत्र को धान के मौसम के दौरान 8 घंटे बिजली आपूर्ति की गई क्योंकि उस समय पानी की अधिक जरूरत होती है अब कपास का सीजन है इसलिए पांच घंटे बिजली आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने बताया कि यमुनानगर में 700 मेगावाट का एक नया प्लांट लगाने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है। भाखड़ा से 22 मई से हाइड्रो-पावर भी मिलने लग जाएगी ।

https://propertyliquid.com


सौर ऊर्जा नलकूप पर किसानों को केवल 25 प्रतिशत की राशि देनी होगी


बिजली मंत्री ने बताया कि प्रदेश में सौर-ऊर्जा को भी बढ़ावा दिया जा रहा है जो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का भी विजन है। केन्द्र सरकार ने हरियाणा को 15 मेगावाट सौर उत्पादन का लक्ष्य दिया गया था परन्तु हम 50 मेगावाट सौर ऊर्जा का उत्पादन कर रहे है। सरकारी भवनों, इंजीनियरिंग कॉलेजों व अन्य बड़े भवनों पर सौर-ऊर्जा संयंत्र लगाए जा रहे हैं।  सौर-ऊर्जा नलकूपों के लिए सब्सिडी के रूप में केन्द्र सरकार की ओर से 30 प्रतिशत तथा हरियाणा सरकार की ओर से 45 प्रतिशत राशि दी जाती है किसान को तो केवल 25 प्रतिशत राशि वहन करनी होती है।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

सेक्टर 16 के गांव बुढनपुर निवासियों को बरसात के दिनों में जल भराव की समस्या से मिलेगा छुटकारा

-एचएसवीपी, एमडीसी नाले के दोनो और खड़ी करेगा रिटेनिंग वाॅल

-हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता पहुंचे गांववासियों के बीच, समस्याओं के समाधान के लिए मौके पर ही दिये अधिकारियों को निर्देश

-एचएसवीपी की भूमि पर अवैध अतिक्रमण हटाने के लिए तीन दिन के अंदर एक व्यापक कार्य योजना तैयार करने के दिये निर्देश

For Detailed News

पंचकूला, 19 मई- सेक्टर 16 के गांव बुढनपुर निवासियों को बरसात के दिनों में जल भराव की समस्या से छुटकारा मिलने जा रहा है। हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने आज गांव का दौरा कर हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को गांव से होकर बहने वाले एमडीसी नाले के दोनो ओर रिटेनिंग वाॅल का निर्माण करने व नाले को और अधिक गहरा करने के निर्देश दिये।

इस अवसर पर श्री गुप्ता के साथ नगर निगम के मेयर कुलभूषण गोयल, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के प्रशासक जगदीश शर्मा, नगर निगम के आयुक्त धर्मवीर सिंह व अन्य उच्च अधिकारी भी उपस्थित थे।

श्री गुप्ता ने कहा कि नाले के दोनो ओ रिटेनिंग वाॅल बनने तथा नाले की गहराई बढने से बरसात के दिनों में नाले के ओवरफलो की समस्या का निदान होगा और लोगों के घर भी सुरक्षित रहेंगे। गांव की महिलाओं ने श्री गुप्ता को अवगत करवाया कि नाले में पानी के अधिक बहाव के कारण घरों में पानी भर जाने का खतरा रहता है। इस पर श्री गुप्ता ने कहा कि वे इस समस्या के निदान के लिए आज सब लोगों के बीच आए हैं और उन्होंने गांव वासियों को इस समस्या के स्थाई समाधान का आश्वासन दिया।

बुढनपुर में बहने वाले नाले के कारण गांव से शमशान घाट तक सीधा मार्ग न होने की समस्या का समाधान करते हुए श्री गुप्ता ने नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिये कि चण्डीगढ़ सीमा के साथ लगती निगम की भूमि से नाले के उपर एक छोटा पुल बना कर शमशान घाट तक रास्ता दिया जाए। गांव की एक बुजुर्ग महिला बीरो देवी ने जैसे ही श्री गुप्ता को उसके घर के समीप गली में पानी भरने की समस्या से अवगत करवाया श्री गुप्ता ने तुरंत महिला के साथ गली का निरीक्षण किया और मौके पर ही नगर निगम के अधिकारियों को गली का स्तर उंचा करने और पानी की निकासी की समूचित व्यवस्था सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। श्री गुप्ता ने गांव में स्थित पार्क का निरीक्षण भी किया और नगर निगम के अधिकारियों को पार्क की चारदीवारी, साफ-सफाई,  सौंदर्यीकरण व रखरखाव के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पार्क की देख-रेख और विकास के लिए पार्क डेवलपमेंट कमेटी का गठन किया जाए।

श्री गुप्ता ने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण को गांव में एचएसवीपी की भूमि पर अवैध अतिक्रमण हटाने के लिए तीन दिन के अंदर एक व्यापक कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि गांव में किसी भी प्रकार के अवैध अतिक्रमण को जल्द से जल्द हटाया जाए और भूमि की तारबंदी की जाए ताकि वहां दुबारा अतिक्रमण न हो। उन्होंने कहा कि अधिकारी अवैध अतिक्रमण को हटाने के लिए गंभीरता से कार्य करें ताकि सही मायनों में धरातल पर उनका काम नज़र आए।

https://propertyliquid.com/

इस अवसर पर हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के मुख्य अभियंता हरिदत्त शर्मा, अधीक्षक अभियंता एस.के. नंदवानी, नगर निगम के अधीक्षक अभियंता विजय गोयल, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के कार्यकारी अभियंता अशोक राणा और अमित राठी, निधि भारद्वाज, बीजेपी जिला उपाध्यक्ष उमेश सूद, पार्षद जय कौशिक, नरेन्द्र लुबाणा, महामंत्री प्रमोद वत्स व नगर निगम तथा हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

Mayor launches Helmet Bank at MCC under road safety project of NGO Patiala Foundation

For Detailed News

Chandigarh, May 19:- Smt. Sarbjit Kaur, Mayor, Chandigarh today launched Helmet Bank at the premises of Municipal Corporation Chandigarh under road safety project namely “SADAK” of NGO Patiala Foundation.

Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Sh. Dalip Sharma, Senior Deputy Mayor, Sh. Anup Gupta, Deputy Mayor, Sh. Ravee Singh Ahluwalia, chief functionary of the NGO and interns associated with the Foundation from different parts of the country were also present during the occasion.

The Patiala Foundation NGO has donated 100 helmets to the Municipal Corporation for the use of their employees. The two-wheeler users can get their helmets issued from the Helmet Bank and in case, they do not require it no more then they will have to return the helmet back to the Helmet Bank manager.

While addressing the employees of MCC and the interns from different colleges throughout country, Mrs. Sarbjit Kaur, Mayor, Chandigarh said that the concept of ‘Helmet Bank’ with the aim of making the two wheeler user habitual to the use of helmet in daily routine in order to protect their precious lives from mishap. The earlier this habit is inculcated in the young riders, the better it is for the society, added the Mayor.

https://propertyliquid.com/

Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, MCC praised this road safety initiative and also lauded the earlier efforts of Patiala Foundation towards promoting Road safety.

Speaking on the occasion the chief functionary of the Patiala Foundation, Mr Ravee Singh Ahluwalia highlighted various activities done under project Sadak till date, one of the initiatives of Bicycle Safety Campaign, launched in Chandigarh last week under which reflective stickers have been fixed on the bicycles to avoid any kind of mishap. He emphasised the increasing need of Road safety awareness and also shared that it is the 8th Helmet Bank, earlier these helmet banks have been established in various colleges, universities, organisations & associations in Patiala.