दो दिवसीय 36वें स्परिंग फेस्ट-2024 का टाउन पार्क, सेक्टर-5  में किया जाएगा आयोजन

Health Department and National Health Mission Panchkula, celebrates World Asthma Day

For Detailed

Panchkula May 2: The Health Department and National Health Mission Panchkula, celebrated World Asthma Day  at Brick Kilns situated in Village Paploha, Kalka today.
    The programme was organized under the chairpersonship of Civil Surgeon, Panchkula, Dr Mukta Kumar, and Deputy Civil Surgeon (NCD), Dr Shivani Hooda.
   Dr Sakshi Jain, Medical Officer (NCD), and Dr Shilpa Singh, District Program Co-ordinator (NCD), addressed the labour force and informed them that Pollution from brick kiln is associated with respiratory problems as well as a decrease in lung function. Although asthma cannot be cured, it is possible to manage asthma to reduce and prevent asthma attacks.


     Along with awareness on asthma, a Non-Communicable diseases (NCD) screening camp was also held, to screen the people present for diabetes, hypertension and common cancers. People gathered were advised on the lifestyle changes to manage rising cases of hypertension and diabetes among them. Screening for Anaemia was also done and those found anaemic, hypertensive or diabetic were prescribed medicines.


    It was informed that NCDs specifically high blood pressure and diabetes are a leading cause of cardiovascular diseases, blindness, kidney failure, lower-limb amputation, etc., which account for considerable mortality and morbidity. These complications can be prevented or delayed by maintaining blood glucose, blood pressure, and cholesterol levels as close to normal as possible.


   Dr Sakshi Jain, Medical Officer (NCD) and Dr Shilpa Singh, District Program Co-ordinator (NCD), provided on the spot counselling to those found borderline hypertensive or with raised blood sugar markers. The people present were also informed about NCD Clinic being operational in Sub Divisional Hospital, Kalka, and availability of free diagnostics and medicines to all the patients availing services at government health facilities.

https://propertyliquid.com/

दो दिवसीय 36वें स्परिंग फेस्ट-2024 का टाउन पार्क, सेक्टर-5  में किया जाएगा आयोजन

मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत आयोजित मेलों के चौथे चरण में खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय पिंजौर में मेले का किया गया आयोजन

-पिंजौर खण्ड के ग्रामीण क्षेत्र  के 92 पात्र लाभार्थी परिवारों को दिया गया योजनाओं का लाभ

-मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना का मुख्य उद्देश्य 1.8 लाख से कम वार्षिक आय वाले परिवारों की आय की बढ़ाना है – अतिरिक्त उपायुक्त

For Detailed

पंचकूला, 2 मई- मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत अति गरीब परिवारों की सालाना आय बढाने के उद्देश्य से जिला में 2 से 9 मई तक चौथेे चरण के मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान मेलों का आयोजन किया जा रहा है।

 इसी कड़ी में आज पिंजौर खण्ड के ग्रामीण क्षेत्रों के लाभार्थियों के लिए खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी कार्यालय पिंजौर में मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान मेले का आयोजन किया गया जिसमें 92 पात्र परिवारों को आमंत्रित किया गया और उन्हें विभिन्न विभागों की कल्याणकारी योजनाओं के तहत लाभ प्रदान किया गया।
अतिरिक्त उपायुक्त श्रीमती वर्षा खांगवाल ने मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान मेले में विभिन्न विभागों द्वारा लगाई गई स्टालों का निरीक्षण किया और वहां लाभाथिर्याें को विभिन्न योजनाओ के तहत दिये जा रहे लाभ की जानकारी ली।

उन्होंने बताया कि मेले के दौरान विभागों के साथ-साथ विभिन्न बैंकों द्वारा भी स्टॉल लगा कर लाभार्थियों को ऋण उपलब्ध करवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज जमा करवाए गए और उन्हें संबेधित बैंकों को भेजा गया ताकि लाभार्थी शीघ्र अति शीघ्र ऋण प्राप्त कर स्वरोजगार स्थापित कर स्वयं  व अपने परिवार की आय बढा सके। उन्होंने बताया कि मेले के दौरान लाभार्थियों के कौशल विकास के लिए उन्हें प्रशिक्षण प्रदान करने संबंधि भी जानकारी उपलब्ध करवाई गई।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना सरकार की एक अहम योजना है, जिसका मुख्य उद्देश्य अति गरीब परिवार जिनकी वार्षिक आय 1.8 लाख रूपए से कम है, को विभिन्न सरकारी योजनाओं का लाभ प्रदान करने के साथ-साथ स्वरोजगार और कौशल विकास के माध्यम से उनकी आय में बढोतरी करना है।

https://propertyliquid.com/

दो दिवसीय 36वें स्परिंग फेस्ट-2024 का टाउन पार्क, सेक्टर-5  में किया जाएगा आयोजन

स्वास्थ्य विभाग और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन पंचकूला द्वारा मनाया गया विश्व अस्थमा दिवस

For Detailed

पंचकूला, 2 मई- स्वास्थ्य विभाग और राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन पंचकूला द्वारा आज कालका, पंचकुला के ग्राम पापलोआ में स्थित ईंट भट्ठों में विश्व अस्थमा दिवस मनाया गया। यह कार्यक्रम सिविल सर्जन, पंचकुला, डॉ मुक्ता कुमार और डिप्टी सिविल सर्जन (एनसीडी), डॉ शिवानी हुड्डा की अध्यक्षता में आयोजित किया गया।


डॉ. साक्षी जैन, चिकित्सा अधिकारी (एनसीडी), और डॉ. शिल्पा सिंह, जिला कार्यक्रम समन्वयक (एनसीडी) ने श्रमिकों और मजदूरों को संबोधित किया और उन्हें ईंट भट्ठे से होने वाले प्रदूषण से श्वसन संबंधी समस्याओं के बारे में जानकारी दी। उन्होने बताया कि  अस्थमा का इलाज नहीं किया जा सकता है लेकिन, अस्थमा के दौरे को कम करने और रोकने के लिए अस्थमा का प्रबंधन करना संभव है।


अस्थमा पर जागरूकता के साथ-साथ एक गैर-संचारी रोग (एनसीडी) स्क्रीनिंग शिविर भी आयोजित किया गया, जिसमें उपस्थित लोगों की मधुमेह, उच्च रक्तचाप और सामान्य कैंसर की जांच की जा गईे। उच्च रक्तचाप और मधुमेह के बढ़ते मामलों को रोकने के लिए लोगों को जीवनशैली में बदलाव की सलाह दी गई। एनीमिया के लिए स्क्रीनिंग भी की गई और जिन लोगों को एनीमिया, उच्च रक्तचाप या मधुमेह पाया गया, उन्हें दवाईयां भी दी गईं।


एनसीडी विशेष रूप से उच्च रक्तचाप और मधुमेह, हृदय रोग, अंधापन, गुर्दे की विफलता, का एक प्रमुख कारण है। रक्त शर्करा, रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल के स्तर को यथासंभव सामान्य के करीब बनाए रखकर इन जटिलताओं को रोका या विलंबित किया जा सकता है।


डॉ. साक्षी जैन, चिकित्सा अधिकारी (एनसीडी) और डॉ. शिल्पा सिंह, जिला कार्यक्रम समन्वयक (एनसीडी) ने बॉर्डरलाइन उच्च रक्तचाप या बढ़े हुए ब्लड शुगर मार्कर वाले लोगों को मौके पर ही परामर्श प्रदान किया। उपस्थित लोगों को उपमंडल अस्पताल, कालका में चल रहे एनसीडी क्लिनिक के बारे में जागरूक किया गया, इसके अलावा सरकारी स्वास्थ्य सुविधाओं में सेवाओं का लाभ उठाने वाले सभी रोगियों को मुफ्त निदान और दवाओं की उपलब्धता के बारे में भी बताया गया।

https://propertyliquid.com/

दो दिवसीय 36वें स्परिंग फेस्ट-2024 का टाउन पार्क, सेक्टर-5  में किया जाएगा आयोजन

High Powered Committee headed by Adviser to Administrator approves AMRUT projects

All parks in Chandigarh to be irrigated through tertiary treated water

For Detailed

Chandigarh, May 2:- Sh. Dharam Pal, IAS, Adviser to the Administrator, UT, Chandigarh reviewed the future plans under AMRUT scheme in a meeting of State level High Powered Steering Committee (SHPSC) held here today which was attended by Sh. Nitin Kumar Yadav, IAS, Secretary Local Govt., Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, MCC and other senior officers of Chandigarh Administration and MCC.

During the meeting, various projects under AMRUT were discussed at length including strengthening of tertiary treated water supply system and laying of tertiary treated water lines in left out areas to supply TT water in the city. It was discussed that the city beautiful has a large number of open spaces, parks, gardens and houses with big lawns where water is required for irrigation. At present 680 parks and green belts are irrigated through TT water and after laying of these lines , all 1800 parks will be irrigated through TT water.

The project was discussed in detail, designed to cover the left-out areas of the city by laying of new lines and creation of infrastructure like reservoirs, pumps and electrical systems, especially from Sector 47 to 63, villages recently transferred to MCC and left out pockets of Sectors where network exists. 

The SHPC accorded administrative approval for strengthening TT water supply system in city at an estimated cost of Rs. 9725 lacs from AMRUT 2.0.

During the meeting, strengthening of sewerage network in Chandigarh was also discussed to ease out the excessive sewer load on trunk sewer carrying sewerage of southern sectors, an additional sewer line has been approved to connect trunk sewer of sector 35 with trunk sewer located at sector 44, Chandigarh near village Burail at an estimated cost of Rs. 235 lacs from AMRUT 2.0.

The committee also discussed and approved the upgradation of Kajauli Water works sand rehabilitation of rising main from Kajauli water works to water works at sector 39.

During the meeting it was discussed that in a recent survey of all the phases it has been established that additional components of Phase III and Phase IV also need to be replaced. 

The committee accorded approval for the replacement of machinery in various phases of Kajauli Water Works to the tune of Rs. 2714.99 Lacs from AMRUT 2.0 under Water Supply 24 x 7 component.

https://propertyliquid.com/