*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

*MCC conducts Income Tax-TDS awareness seminar*

For Detailed

Chandigarh, February 09:- The Additional Commissioner of Income Tax, TDS range, Chandigarh in coordination with Municipal Corporation Chandigarh has conducted an Income Tax-TDS/TCS awareness programme including introduction of new provisions. The seminar was carried out at the conference hall, 6th floor, MCC building, Sector 17, Chandigarh.

Sh. Surinder Meena, Additional Commissioner of Income Tax, TDS range Chandigarh addressed the seminar, which was attended by all DDOs and officers/officials of responsible for TDS/TCS in MCC. Sh. Jasvir Singh Saini, Assistant Commissioner of Income Tax (TDS),  Smt. Saroj Bala, Income Tax Officer were also present during the seminar.

The seminar was very informative and advisable in respect of new provisions of TDS/TCS.

https://propertyliquid.com

*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

हरियाणा  में चलाया जा रहा “बेसहारा गौवंश मुक्त हरियाणा अभियान“

– मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विकास एवं पंचायत तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग को 15 फरवरी से 29 फरवरी तक गौवंश को गौशालाओं में उनकी सहमति अनुसार पुनर्वासित करने के लिए विशेष अभियान चलाने के दिए निर्देश- श्री श्रवण कुमार गर्ग

For Detailed

पंचकूला 9 फरवरी – मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार हरियाणा  में “बेसहारा गौवंश मुक्त हरियाणा अभियान“ चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत गौशालाओं से लगभग 65000 बेसहारा गौवंश को पुनर्वासित करने के लिए सहमति पत्र गौशालाओं से प्राप्त हो चुके हैं, जिसमें लगभग 10000 गौवंश पुनर्वासित किये जा चुके है।
 इसी अभियान के तहत आज अध्यक्ष, हरियाणा गौ सेवा आयोग श्री श्रवण कुमार गर्ग तथा महानिदेशक, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग के डा0 लाल चन्द रंगा द्वारा गौशालाओं को विशेष चारा अनुदान देने के लिए एक पोर्टल लांच किया गया ।
 “बेसहारा गौवंश मुक्त हरियाणा अभियान“  के तहत गौशालाओं को उनकी गौशाला में पुनर्वासित किये गये गौवंश की संख्या के आधार पर एक वर्ष से कम आयु के पुनर्वासित बछडे व बछडियों को 20 रुपये, एक वर्ष से अधिक आयु के पुनर्वासित गायों को 30 रुपये तथा एक वर्ष से अधिक आयु के पुनर्वासित नन्दियों/बैलों/सांडों को 40 रुपये प्रति दिन के हिसाब से विशेष चारा अनुदान के रूप में दिये जायेंगे।

इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें  मंत्री, पशुपालन विभाग हरियाणा श्री जय प्रकाश दलाल, अध्यक्ष हरियाणा गौ सेवा अयोग, अतिरिक्त मुख्म सचिव, विकास एवं पंचायत, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग, आयुक्त एवं सचिव, शहरी स्थानीय निकाय विभाग, मुख्यमंत्री की अतिरिक्त प्रधान सचिव, महानिदेशक, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग हरियाणा तथा अन्य विभागों के सम्बन्धित अधिकरियों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विकास एवं पंचायत विभाग तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग को 15 फरवरी से 29 फरवरी तक गौवंश को गौशालाओं में उनकी सहमति अनुसार पुनर्वासित करने के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिये ताकि प्रदेश को बेसहारा गौवंश से जल्द से जल्द मुक्त किया जा सके।

हरियाणा गौ सेवा आयोग ने बताया कि आयोग में सभी काम-काज डिजिटल माध्यम से हो रहे हैं, जो सरकार की पारदर्शिता को दर्शातें हैं।
इस अवसर पर महानिदेशक, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग हरियाणा के डा0 एल0 सी0 रंगा ने बताया कि पशुपालन विभाग ने इस कामकाज को गतिपूर्ण करने के लिए पूर्ण रूप से कमर कस ली है और गौशालाओं में टैगिंग का कार्य विभाग द्वारा पूरा किया जा चुका है तथा वैक्सिनेशन का कार्य पूरा किया जा रहा है। इस अभियान के दौरान पुनर्वासित गौवंश को गुलाबी रंग के ईयर टैग के द्वारा चिन्हित किया जा रहा है। इस पूरे अभियान को हरियाणा गौ सेवा आयोग, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग, विकास एवं पंचायत विभाग, शहरी स्थानीय निकाय विभाग तथा सभी गौशालाओं व गौभक्तों के सहयोग से पूरा किया जायेगा।

https://propertyliquid.com

*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ने पंचायती विभाग द्वारा गांव खेतपराली में लगभग 47 लाख रूपए की लागत से बनने वाले सामुदायिक केन्द्र का किया शिलान्यास

-सामुदायिक केंद्र पंचायती विभाग द्वारा 6 महीने में बनकर होगा तैयार-ज्ञानचंद गुप्ता

-जिला में 6000 करोड़ रुपए से ज्यादा के हुए विकास कार्य-विधानसभा अध्यक्ष

-मुख्यमंत्री ने हरियाणा एक हरियाणवी एक का नारा देकर प्रदेश से जात-पात खत्म करने का किया कार्य

For Detailed

पंचकूला, 9 फरवरी- हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने आज पंचायती विभाग द्वारा गांव खेतपराली में लगभग 47 लाख रूपए की लागत से बनने वाले सामुदायिक केन्द्र का शिलान्यास किया। श्री गुप्ता ने कहा कि सामुदायिक केंद्र के बनने से खेतपराली व आस पास के लोगों को इसका लाभ मिलेगा।
इस अवसर पर खेतपराली की सरपंच सरिता शर्मा व पंचायती राज के कार्यकारी अभियता विकास राणा भी उपस्थित थे।

श्री गुप्ता ने ग्रामीणों को संबोधित करते हुए कहा कि यह सामुदायिक केंद्र पंचायती विभाग द्वारा 6 महीने में बनकर तैयार होगा। सामुदायिक केंद्र में शौचालय और चारों ओर चारदीवारी भी होनी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि निर्माण कार्य में अच्छी व उच्च गुणवत्ता वाली सामग्री उपयोग में लाई जानी चाहिए, इसमें किसी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। श्री गुप्ता ने कहा कि सामुदायिक केंद्र शानदार बनना चाहिए इसके लिए यदि 47 लाख रुपये सामुदायिक केंद्र  के लिए कम पडे तो वे अपने स्वैच्छिक कोष से धन उपलब्ध करवाएंगे।


श्री गुप्ता ने कहा कि सरकार का मुख्य उद्देश्य है कि आम जन को मूलभूत सुविधाएं मिले, जिनमें बिजली, पानी तथा सड़क की सुविधा मुख्य हैं। उन्होंने कहा कि वर्ष 2014 से पहले हरियाणा  में कभी 7 तो कभी 8 या 10 घंटे बिजली की आपूर्ति होती थी लेकिन आज हरियाणा के 24 घंटे बिजली आपूर्ति की जाती है और पंचकूला हरियाणा का ऐसा पहला जिला बना जहां पर 24 घंटे बिजली आपूर्ति होती है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय राजमार्ग-73 का कार्य 10 साल से लंबित था जिसे 1100 करोड़ रूपए की लागत से पूरा करवाया गया है। इससे न केवल आवागमन सुगम हुआ है बल्कि यह राष्ट्रीय राजमार्ग पंचकूला की लाईफलाईन बन चुका है। उन्होंने कहा कि जहां-जहां से यह सड़क गुजर रही है वहां-वहां जमीनों के दामों ने आसमान छुआ है। इसके अलावा पंचकूला के सेक्टर 6 नागरिक अस्पताल को 100 बैड से सभी आवश्यक सुविधाओं के साथ 500 बैड का सरकार ने बनाया।

उन्होंने कहा कि पंचकूला में चण्डीगढ़ स्थित पीजीआई की तर्ज पर 500 करोड़ रूपए की लागत से आयुर्वेद का एम्स बनने जा रहा है जो 250 बैडिड अस्पताल होगा और उसमें पीजीआई की तरह रिसर्च भी होंगी। इसके अलावा सेक्टर 23 में 200 करोड़ रूपए की नैशनल इंस्टिटयूट आॅफ फैशन टैक्नोलाॅजी का निर्माण किया गया है जहां से शिक्षा प्राप्त करने उपरांत विद्यार्थियों को यहां से निकलते ही नौकरी के अवसर प्राप्त हो रहे हैं।
उन्होंने कहा कि उन्होंने में जिला में 6000 करोड़ रुपए से ज्यादा के विकास कार्य करवाएं है। उन्होंने कहा कि देश तथा प्रदेश में बीजेपी की सरकार बनने के बाद प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश व प्रदेश में विकास की नई इबारत लिखी है। उन्होंने कहा कि पूर्व की सरकारों में प्रत्येक मुख्यमंत्री ने अपने अपने गृह जिलों का ही विकास किया। इसी के कारण पंचकूला का विकास नहीं हो पाया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में हरियाणा में समान विकास हुआ है।
उन्होंने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने पंचकूला के सेक्टर 32 में मेडिकल काॅलेज का शिलान्यास किया जो जल्द ही बनकर तैयार हो जाएगा। उन्होने कहा कि खेतपराली से टोका तक 14 करोड रुपये की लागत से 8.50 किलोमीटर लंबी सडका का कार्य शुरू हो गया है। इसमें से 4.50 किलोमीटर कंकरीट की और 4 किलोमीटर तारकोल से सडक बनेगी, जिससे सभी के लिए आवागमन के सुगम साधन उपलब्ध हो सकेंगे। उन्होंने बताया कि भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से आह्वान किया है नौकरी लेने वाले नहीं नौकरी देने वाले बनो। अपने स्वरोजगार शुरूकर  लोगों को भी रोजगार दो। स्वरोजगार के लिए सरकार अनेको सबसिडी भी दे रही है। उन्होनंे कहा कि सभी के लिए देश ही सर्वोपरि होना चाहिए। परिवार, जाति पाति, जिला व गांव से पहले हमें देशहित के बारे में सोचना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के माध्यम से 12 करोड बेटियों को गैस कनैक्शन दिए। जन धन खाते के माध्यम से करोडो लोगों के खाते खुलवाकर बुढावा पेंशन, विधवा पेंशन अन्य सरकारी योजनाओं का लाभ सीधे लाभार्थी के खाते में जाता है। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड के माध्यम से बीपीएल परिवारों को 5 लाख रुपये का मुफ्त इलाज उपलब्ध करवाया। इसके पीछे प्रधानमंत्री की मन्सा थी कि कोई भी गरीब व जरूरतमंद बिना इलाज के न रहे।
श्री गुप्ता ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने भी सबका साथ सबका विकास और सबका प्रयास से प्रदेश में एक समान विकास कार्य करवाए है। श्री मनोहर लाल ने हरियाणा एक हरियाणवी एक का नारा देकर प्रदेश से जाति पाति खत्म करने का कार्य किया।
इस अवसर पर बरवाला मंडलाध्यक्ष गौतम राणा, पूर्व चेयरमैन अशोक शर्मा, पूर्व जिलाध्यक्ष देशराज पौसवाल, महिला मोर्चा मंडलाध्यक्ष कविता चैधरी, जिला सचिव संजू चैधरी, टिब्बी के सरपंच चरणजीत सिंह, समाजसेवी देवेंद्र शर्मा, छोटा त्रिलोकपुर के सरपंच विनोद, सरपंच प्रतिनिधि दुधगढ सतबीर, बूंगा से समाजसेवी जसविंद्र, कनौली के सरपंच मीनू राणा, श्यामटू से संभूनाथ, पृथ्वी नंबरदार, बलवंत, हरिपाल शर्मा, हीरा नंबरदार, जीतराम, केदारनाथ, रामपाल, नायब सिंह, रोशनलाल सहित अन्य ग्रामीण भी उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com

*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

पंचकूला के मुख्य एंट्री प्वाईंट कहें जाने वाले माजरी चैक का होगा जीर्णोंद्धार -हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष

श्री ज्ञानवंद गुप्ता ने माजरी चैक का किया निरीक्षण

राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को माजरी चैक के सौदर्यकरण के लिए एक विस्तृत कार्य योजना तैयार करने के दिए निर्देश

माजरी चैक पर बस क्यू सैल्टर के समीप लोगों की सुविधा के लिए बनेगा फुटओवर ब्रीज

लोगों की सुविधा के लिए माजरी चैक पर पीक आॅवर्स को छोडकर हटाई जाए बेरिकेटिंग

For Detailed

पंचकूला, 9 फरवरी- पंचकूला के मुख्य एंट्री प्वाईंट कहें जाने वाले माजरी चौक का जीर्णोंद्धार होने जा रहा है। हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने आज माजरी चौक का निरीक्षण किया और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण को माजरी चौक के सौदर्यकरण के लिए एक विस्तृत कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा की माजरी चौक पर बस क्यू सैल्टर के समीप लोगों  की सुविधा के लिए फुटओवर ब्रीज का निर्माण भी किया जाएगा।

इस अवसर पर उनके साथ नगर निगम महापौर कुलभूषण गोयल,नगर निगम आयुक्त सचिन गुप्ता और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण की डीजीएम प्रियंका मीणा भी उपस्थित थी।

माजरी चौक पर खाली पडी जमीन की साफ सफाई सुनिश्चित की जाए और सौंदर्यकरण के लिए वहां फूल और पौधे लगाए जाए

श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि माजरी चौक पंचकूला का मुख्य एंट्री प्वाईंट है और यहां प्रतिदिन भारी संख्या में लोगों का आवागमन बना रहता है। उन्होंने निर्देश दिए कि राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा फलाईओवर के नीचे माजरी चौक पर खाली पडी जमीन की साफ सफाई सुनिश्चित की जाए और सौंदर्यकरण के लिए वहां फूल और पौधे लगाए जाए, इससे ना केवल माजरी चौक की साफ सफाई होगी बल्कि इसका सौंदर्यकरण भी होगा। श्री गुप्ता ने यह भी निर्देश दिए कि एनएचएआई द्वारा माजरी चैक पर मौजूदा आईलैंड को स्थानांतरित किया जाए,  जिससे मैन रोड के साथ साथ फलाई ओवर के नीचे चारों ओर स्लिप रोड और चौड़ी होगी और वाहनों का आवागमन और सुगम होगा।  उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग द्वारा माजरी चौक पर बेरिकेटिंग के कारण शिमला-कालका से जीरकपुर की ओर से आने वाले यात्रियों को नाडा साहिब की ओर जाने वाली सडक से यूटर्न लेकर आना पडता है, जिससे यात्रियों को असुविधा का सामना करना पड रहा है। उन्होंने पुलिस विभाग को निर्देश दिए कि पीक आॅवर्स, जिसमें वाहनों की ज्यादा आवाजाही रहती है, उस समय को छोडकर बेरिकेटिंग हटाई जाए और माजरी चौक पर यातायात को सुचारू रूप से चलाने के लिए पर्याप्त संख्या में ट्रेफिक पुलिस की तैनाती की जाए।

दुकानदारों और रेहडी फडी वालो को सफाई के प्रति करे जागरूक

श्री गुप्ता ने माजरी चौक पर गंदगी की शिकायत का कडा संज्ञान लेते हुए नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि दुकानदारों और रेहडी फडी वालो को सफाई के प्रति जागरूक किया जाए यदि फिर भी उनकी ओर से खुले में कूडा करकट फेका जाता है तो उनका चालान किया जाए।

एनएचएआई, नगर निगम और हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण आपसी सामज्सय के साथ कार्य करे

इससे पहले श्री गुप्ता ने राजकीय पीजी महाविद्यालय सेक्टर-1 से माजरी चौक तक की सडक का निरीक्षण किया। उन्होंने सडक के बीच पानी की लीकेज की वजह से इक्ट्ठा हुए पानी पर नाराजगी जाहिर करते हुए एनएचएआई के अधिकारियों को एक सप्ताह में समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए। उन्होंने एनएचएआई, नगर निगम और हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को आपसी सामज्सय के साथ कार्य करने के निर्देश दिए ताकि सौंदर्यकरण का कार्य जल्द से जल्द पूरा किया जा सके। उन्होंने कहा कि वे 23 फरवरी को पुन माजरी चैक का निरीक्षण करेंगे और वहां साफ सफाई और सौंदर्यकरण की दिशा में किए गए कार्यों का जायजा लेंगे।

श्री गुप्ता ने सेक्टर-17-18 स्थित पंचकूला एंट्री प्वाईंट और आईटी पार्क चंडीगढ की तरफ से पंचकूला के एंट्री द्वार का भी किया निरीक्षण

इसके पश्चात श्री गुप्ता ने सेक्टर-17-18 स्थित पंचकूला एंट्री प्वाईंट का भी निरीक्षण किया। उन्होंने चंडीगढ-पंचकूला एंट्री प्वाईंट को और सुंदर बनाने के लिए सडक के साथ साथ साफ सफाई करने और फूल पौधे लगाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि प्रवेश द्वार पर लाईटिंग की व्यवस्था की जाए ताकि प्रवेश द्वार की सुंदरता और बढ़े। साथ ही एंट्री गेट के समीप एमडीसी मनसा देवी काॅम्पलैक्स से आ रहे नाले के साथ साथ रिटेनिंग वाॅल बनाई जाए। श्री गुप्ता ने आईटी पार्क चंडीगढ की तरफ से पंचकूला के एंट्री द्वार का भी निरीक्षण किया। उन्होंने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रवेश द्वार से डोलफिन चैक तक साफ सफाई और सौंदर्यकरण का कार्य प्राथमिकता के आधार पर किया जाए।

ये रहे उपस्थित

इस अवसर पर नगर निगम के अधीक्षक अभियंता विजय गोयल, कार्यकारी अभियंता प्रमोद कुमार, जेई रोहित सैनी, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के संपदा अधिकारी मानव मलिक, अधीक्षक अभियंता अशोक राणा और राजीव शर्मा, पीएमडीए के चीफ इंजीनियर अमर सिंह, पार्षद राकेश वाल्मिकी, पार्षद नरेंद्र लुबाना, सुदेश बिडला के अलावा सोनू बिडला, खडक मंगोली शक्ति केंद्र प्रमुख जंगशेर, कृष्ण कुमार, श्यामलाल अग्रवाल, जोगिंद्र शर्मा, शमशेर, उषा सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com

*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

एचसीएस व अलाईड सर्विस की प्रिलीमरी परीक्षा 11 फरवरी को

10,891 कैंडिडेट देंगे एचसीएस  की परीक्षा – सचिव

निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से करवाई जाएगी परीक्षा- उपायुक्त

For Detailed

पंचकूला, 9 फरवरी- उपायुक्त श्री सुशील सारवान की अध्यक्षता में 11 फरवरी को होने वाली एचसीएस व अलाईड सर्विस की प्रिलीमरी परीक्षा की तैयारियों को लेकर लघु सचिवालय के सभागार में बैठक हुई। उपायुक्त ने परीक्षा के सफल आयोजन के लिए संबंधित अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश दिए।  

श्री सारवान ने बैठक में उपस्थित हरियाणा लोक सेवा आयोग के सचिव मुकेश कुमार आहुजा को आश्वासन दिया कि एचसीएस व अलाईड सर्विस की प्रिलीमरी परीक्षा को निष्पक्ष व पारदर्शी तरीके से करवाया जाएगा। परीक्षा के सफल आयोजन के लिए एसडीएम गौरव चैहान को परीक्षा का नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। इसके अलावा  कोर्डिनेटर, पेपर डिस्ट्रीब्यूटर, डयूटी मेजिस्टैªट, फलाईंग स्कवायड अफिसर, परीक्षा केंद्र आस पास के के्रदांे पर लाॅ एंड आर्डर को व्यव्स्थित करने के लिए अन्य अधिकारियों को भी नियुक्त किया गया है।

हरियाणा लोक सेवा आयोग के सचिव मुकेश कुमार आहुजा ने बताया कि एचसीएस व अलाईड सर्विस की प्रिलीमरी परीक्षा हरियाणा सरकार की अहम परीक्षाओं में से एक है और इस परीक्षा के सफल आयोजन के लिए पंचकूला  जिले में 42 सैंटर बनाए गए है। 42 सैंटरों पर 10,891 कैंडिडेट परीक्षा में बैठेंगे।  उन्होंने बताया कि परीक्षा को निष्पक्ष और पारदर्शी तरीके से आयोजित करवाने के लिए  फलाईंग स्कवेड आफिसर, डियूटी मैजिस्ट्रेट के अलावा पेपर डिस्ट्रिब्यूटर, स्टेशन आॅफिसर व अन्य संबंधित कर्मचारी नियुक्त किए गए हैं।


श्री आहुजा ने बताया कि परीक्षा केन्द्रों के आस-पास 500 मीटर के दायरे में 5 या 5 से ज्यादा व्यक्तियों के इकट्ठा होने की अनुमति नहीं होगी और इस परिधि में धारा 144 लगाई जाएगी।
किसी भी सेंटर सुपरवाईजर को छोड़ कर किसी भी अधिकारी व कर्मचारी को मोबाइल रखने की अनुमति नहीं होगी और सेंटर सुपरवाईजर को भी आपातकाल की स्थिति में ही मोबाइल पर बात करने की अनुमति रहेगी।

उन्होंने बताया कि परीक्षा केन्द्रों पर सीसीटीवी कैमरे और जैमर लगाए जाएंगे। परीक्षा केन्द्र के 500 मीटर के दायरे में किसी भी फोटोस्टेट की दुकान को खोलने की अनुमति नहीं होगी। एचसीएस की परीक्षा सुबह और शाम दो चरणों में होगी। सुबह 10 से 12 तथा सायं 3 से 5 बजे तक परीक्षा का आयोजन होगा। उन्होने पुलिस विभाग को लाॅ एंड आर्डर मेंटेन करने और परीक्षा केंद्रो पर पर्याप्त पुलिस बलों को नियुक्त करने के निर्देश दिए। उन्होने निर्देश दिए कि किसी भी परीक्षार्थी को बिना एडमिट कार्ड और आईडी परीक्षा कंे्रद पर आने की अनुमति न दे।  
इस अवसर पर पुलिस उपायुक्त सुमेर प्रताप सिंह, एसडीएम गौरव चैहान, जिला शिक्षा अधिकारी सतपाल कौशिक सहित अन्य संबंधित अधिकारी  उपस्थ्ति थे।

https://propertyliquid.com

*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

युवाओं को निजी क्षेत्रों में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिये उद्योगों की मांग के अनुरूप करें युवाओं को तैयार -उपायुक्त

उपायुक्त ने अप्रेंटिस एक्ट के तहत जिला अप्रेंटिशिप आत्मनिर्भर कमेटी की आयोजित बैठक की करी अध्यक्षता

For Detailed

पंचकूला, 9 फरवरी- उपायुक्त श्री सुशील सारवान ने निर्देश दिये कि आईटीआई युवाओं को निजी क्षेत्रों में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिये उद्योगों की मांग के अनुरूप नये कोर्स तैयार किये जाये। इसके अलावा ओद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में प्रतिष्ठित उद्योगपतियों द्वारा लेक्चर का आयोजन किया जाये ताकि युवाओं को सरकारी विभागों के साथ साथ निजी क्षेत्र में भी रोजगार के लिये प्रेरित किया जा सके।
श्री सारवान  आज लघु सचिवाल के सभागार में अप्रेंटिस एक्ट के तहत जिला अप्रेंटिशिप आत्मनिर्भर कमेटी की आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रह थे।  बैठक में विभिन्न ओद्यौगिक संस्थानों के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

उन्होने कहा कि युवाओं का निजी क्षेत्र की ओर रूझान बढ़ाने के लिये आईटीआईज द्वारा युवाओं को विभिन्न ओद्योगिक संस्थानों में दौरा करवाया जाये ताकि वे जान सके कि ओद्योगिक क्षेत्र में उनके लिये रोजगार की क्या क्या संभावनायें हैं । उन्होंने कहा कि इससे युवाओं का मनोबल भी बढ़ेगा और वे पढ़ाई के साथ साथ उद्योगों की कार्य प्रणाली को भी बारीकी से जान सकेंगे। उन्होंने निर्देश दिये कि कक्षाओं में बच्चों को अपनी ट्रेड के साथ साथ अन्य तकनीकी ज्ञान भी दिया जाये ताकि वे ओद्यौगिक संस्थानों की मांग को पूरा कर सके।

इस मौके पर आईटीआई सेक्टर-14 के प्रिंसीपल मनदीप बेनिवाल,  जेएपीओ राजबाला, जेएपीओ कालका रजनी, अप्रेंटिस इन्सट्रक्टर सुमन, हरियाणा चेंबर आॅफ काॅमर्स इंड्रस्टी के प्रधान रजनीश गर्ग, सीबी गोयल, रमेश सहित विभिन्न कंपनियों के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com

*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

उपायुक्त ने बाल श्रम को रोकने के लिए जिला टास्क फोर्स कमेटी द्वारा आयोजित बैठक की करी अध्यक्षता

-जिला में बाल मजदूरी पर पूर्णतः अंकुश लगाने के लिए ईंट-भट्ठो, ढाबों, इत्यादि स्थानों पर नियमित रूप से करें छापेमारी-उपायुक्त

-बाल श्रम की शिकायतों पर कार्रवाई करने के साथ-साथ अधिकारी अपने स्तर पर भी करें औचक निरीक्षण-श्री सुशील सारवान

For Detailed



पंचकूला, 9 फरवरी- उपायुक्त श्री सुशील सारवान ने लघु सचिवालय के सभागार में बाल श्रम को लेकर जिला टास्क फोर्स कमेटी की आयोजित बैठक की अध्यक्षता की। उन्होने संबंधित अधिकारियों को जिलें में छापंेमारी बढाकर बाल मजदूरी रोकने के निर्देश दिए।

उपायुक्त श्री सुशील सारवान ने जिला में बंधुआ मजदूरी पर पूर्णतः अंकुश लगाने के लिए ढाबों, ईंट-भट्ठो इत्यादि स्थानों पर नियमित रूप से छापेमारी की जाए और यदि कोई भी बंधुआ मजदूर पाया जाए तो बंधुआ मजदूर अधिनियम की विभिन्न धाराओं के तहत उचित कार्रवाई के निर्देश दिए।

उन्होंने निर्देश दिये कि पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी निरीक्षण टीम के साथ रहें ताकि किसी भी स्थिति से आसानी से निपटा जा सके। उन्होंने कहा कि विजीलेंस समिति के सदस्य अधिकारी अपने अधीनस्थ अधिकारियों को भेजने की बजाए स्वयं निरीक्षण के लिए जाएं और की गई कार्रवाई की रिपोर्ट उन्हें प्रस्तुत करें।  

इसके उपरांत उपायुक्त ने जिला में बाल श्रम के मामलों को रोकने के लिए गठित जिला टास्क फोर्स की आयोजित बैठक की भी अध्यक्षता की। उन्हांेने अधिकारियों को निर्दश दिये कि बाल श्रम की शिकायतों पर कार्रवाई करने के साथ-साथ वे अपने स्तर पर भी ऐसे स्थानों का औचक निरीक्षण करें जहां बच्चों से बाल श्रम करवाया जा रहा हो। उन्होंने निर्देश दिये कि विभिन्न स्थानों टीम बनाकर छापेमारी कर बाल मजदूरी में संलिप्त बच्चों को छुडवाया जाये और बच्चों से जबरन मजूदरी करवाने वालों के विरूद्ध नियमानुसार सख्त कार्रवाही की जायें। साथ ही रेस्क्यू किये गये बच्चों का पुर्नंवास भी सुनिश्चित किया जाये।


उन्होंने बताया कि बाल श्रम (रोकथाम और विनियमन) संशोधन अधिनियम के तहत 14 वर्ष से कम आयु के बच्चों से दुकानों, फैक्ट्रियों, कारखानों, होटल, ढाबो और घरों में काम करवाना अपराध हैं और ऐसे मामलों में संलिप्त पाये जाने पर 10 हजार रुपये से लेकर 50 हजार रुपये जुर्माना तथा 6 महीने से 2 साल तक की सजा का प्रावधान है।

उन्होनंे निर्देश दिये कि एक संयुक्त टीम बनाकर और पुलिस के साथ छापेमारी करें ताकि बच्चों से जबरन काम करवाने वाले गिरोह को पकड़कर, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाही की जाये ताकि ऐसे लोगों को एक कड़ा संदेश जाये। इसके अलावा बाल श्रम के साथ-साथ भीख मांगने वाले स्थानों पर भी छापेमारी करें तथा इसमें संलिप्त बच्चों को ऐसा न करने के लिए जागरूक करें। उन्होंने कहा कि बाल श्रम के साथ-साथ चाईल्ड बैगिंग (बच्चों द्वारा भीख मांगना) भी अपराध है।

उन्होंने कहा कि आज के समय में बच्चे तथा युवा हर कार्य को जोश के साथ करते हैं और इस दिशा में वे सकारात्मक भूमिका निभा सकते हैं। उन्होंने कहा कि स्कूल-कॉलेजों में बच्चों को बाल मजदूरी की रोकथाम के लिए जागरूक करें कि यदि उन्हें कहीं बाल श्रम होता दिखे तो वे इसकी सूचना अवश्य दें। विद्यार्थियों को भीख मांगने वाले बच्चों को भीख न देने तथा दूसरों को भी ऐसा करने के लिए जागरूक करें।
उपायुक्त ने सभी से बंध्ुाआ मजदूरी व बाल श्रम को रोकने के लिए सुझाव मांगे और जिले के संबंधित अधिकारियों को ज्यादा से ज्यादा छापेमारी कर बंध्ुाआ मजदूरी व बाल श्रम पर अंकुश लगाने के निर्देश दिए।

उपायुक्त ने जिलावासियों से अपील की कि यदि उनके संज्ञान में बाल श्रम से संबंधित कोई भी मामला आता है तो वे इसकी जानकारी चाईल्ड लाईन नंबर 1098 पर दें।

इस अवसर पर असिस्टेंट लेबर कमिश्नर अनुज कुमार, नगराधीश मन्नत राणा, एसीपी हेडक्वार्टर आर्यन चैधरी, डिप्टी सीएमओ डाॅ. स्नेहा, तहसीलदार कालका, किरण वर्मा, राजेंद्र सिंह, गुरमेल सिंह, हरदेव ंिसह, तेजबीर सिंह व अन्य सदस्य भी उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com

*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

उपायुक्त ने जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी (खनन) की आयोजित बैठक की करी अध्यक्षता

डीसी ने अवैध खनन के खिलाफ सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश

जिला में अवैध खनन किसी भी हालत में नही किया जाएगा बर्दाश्त

उपायुक्त ने पुलिस, प्रशासन और खनन अधिकारियों को संयुक्त आॅपरेशन चलाकर अवैध खनन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने के दिए निर्देश

1 अपैल 2023 से  जनवरी 2024 तक अवैध माइनिंग में संलिप्त 225 वाहनों को जब्त किया गया,  1 करोड, 87 लाख 27 हजार 690 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूली और 101 एफआईआर की दर्ज

For Detailed

पंचकूला, 9 फरवरी- उपायुक्त सुशील सारवान ने जिले में अवैध खनन पर पूर्णतः अंकुश लगाने के लिए अधिकारियों को सख्त कदम उठाने के निर्देश दिए। उन्होने कहा कि जिला में अवैध खनन किसी भी हालत में बर्दाश्त नही किया जाएगा।  

    उपायुक्त आज लघु सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में जिला स्तरीय टास्क फोर्स कमेटी (खनन) की आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे।

उपायुक्त ने निर्देश दिए कि अधिकारी सुनिश्चित करें कि आंबटित माईनिंग स्थलों पर भी सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा- निर्देशों के अनुरूप खनन गतिविधियां चलाई जाएं और तय गहराई से ज्यादा खनन न किया जाए। वर्तमान में जिला में 6 माईनिंग ब्लाॅक हैं जिसमें एक कालका उपंमंडल और 5 पंचकूला उपमंडल में है। उन्होने निर्देश दिए कि कालका उपंमडल के गांव  बुर्जकोटिया, जबरोट, दिवानवाला, बसौला, पपलोहा, नानकपुर, चरनीया और  महताब माजरा जंहा अवैध माईनिंग की अधिक संभावना हैं वंहा एसडीएम के  नेतृत्व में  माईनिंग और पुलिस विभाग की संयुक्त टीम द्वारा छापेमारी की जाए और यदि कोई अवैध खनन में संलिप्त पाया जाए तो उसके विरूद्व सख्त से सख्त कारवाई की जाए। उन्होने अधिकारियों को यह भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए कि सरकारी जमीन पर किसी प्रकार का अवैध अतिक्रमण न हो।

उपायुक्त ने  पिछली बैठक में लिए गए निर्णयों पर की गई कारवाई की समीक्षा की और जिला खनन अधिकारी को अवैध खनन में संलिप्त लोगों के अधिक से अधिक चालान करने और एफआईआर दर्ज करवाने के निर्देश दिए।

जिला खनन अधिकारी गुरजीत सिंह ने बताया कि जनवरी 2024 में अवैध माइनिंग में संलिप्त 34 वाहनों को जब्त किया गया, जिनसे 28 लाख 78 हजार 600 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूली गई। इस दौरान अवैध खनन करने वालों पर 15 एफआईआर भी दर्ज की गई। उन्होने बताया कि 1 अपैल 2023 से  जनवरी 2024 तक अवैध माइनिंग में संलिप्त कुल 225 वाहनों को जब्त किया गया, जिनसे 1 करोड, 87 लाख 27 हजार 690 रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूली गई। इस दौरान अवैध खनन करने वालों पर 101 एफआईआर भी दर्ज की गई। जिला खनन अधिकारी ने बताया कि  अवैध खनन के विरूद्व विभाग की कारवाई लगातार जारी है।

इस अवसर पर एसडीएम कालका निशा यादव, एसीपी रजनीश कुमार, डीडीपीओ विशाल पराशर, जिला खनन अधिकारी गुरजीत सिंह, डीएफओ मोरनी बीएस राघव, सिचांई एव जल संसाधन विभाग के कार्यकारी अभियंता अनुराग गोयल, एसडीओ सुखविंद्र, लोक निर्माण विभाग के एसडीओ अनिल कंबोज  सहित अन्य अधिकारी व कर्मचारी मौजूद थे।

https://propertyliquid.com