OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

Doctors at Fortis Mohali treat 75-year-old woman with significant artery blockage using technology of Fractional Flow Reserve

-The advanced technology helps determine if a cardiac patient needs a stent or a bypass surgery, or should be administered only medicines –

For Detailed News

Kullu, May 14, 2022: The Cardiology Team at Fortis Hospital Mohali has given a new lease of life to 75-year-old Ram Kumari, based in Kullu,by treating her for severe artery blockages through Fractional Flow Reserve (FFR).

The Cardiology Team headed by Dr RK Jaswal, Head of Department and Director of Cardiology; and Director, Cathlabs, Fortis Hospital Mohali, successfully treated the Patient using the most advanced technology of Fractional Flow Reserve (FFR), available 24×7 at Fortis Mohali.

Fractional Flow Reserve is used to determine if a cardiac patient needs a stent or a bypass surgery, or should be administered only medicines during treatment. The procedure is performed by a pressure wire introduced inside the narrowed artery and assesses the actual reduction in blood flow in the vessel due to blockage.

The Patientpresented with a history of hypertension along with definitive exertional shortness of breath and chest discomfort.A 64 Slice CT Angiography–non-invasive test that helps detect blockages in arteries –revealed significant narrowing of the Left Anterior Descending (LAD) artery.She was subsequently admitted to Fortis Mohaliwhere Catheter Angiography was done on 7th May this year.

Catheter angiography is an invasive procedure that allows a cardiologist to see how well blood vessels supply blood to the heart.  The procedure revealed 70% blockage of the LAD artery. Going by angiography alone, the Patientwas a candidate for stentingof LAD.

Discussing the case, Dr Jaswal, said, “FFR was utilized to further evaluate whether the stent will benefit or harm the patient in the long run.  Both FFR and Relative Flow Reserve (RFR) established that the Patient could do well without stenting on just medical treatment.”

The Patient was discharged from Fortis Mohali on the same day. Post treatment, she is doing well and leading a normal life.

As per medical findings, critical blockages in the arteries with abnormal FFR, if not stented, can pose a risk to life and poor outcome.On the contrary, heart artery blockages with FFR which is not critically reduced can be managed medically through this advanced technique.

https://propertyliquid.com/

With FFR, about 25-30% of all patients who are otherwise candidates for stenting on the basis of their angiography findings, end up on medical treatment. Therefore, avoiding unnecessary stenting and better long-term outcomes.Discussing the advanced treatment option, Dr Jaswal, said, “FFR is available in selected hospitals such as Fortis Mohali. It is highly useful in stenting heart arteries in an objective and ethical way as recommended by international guidelines of repute in the world.”

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

द्वितीय हरियाणा बटालियन से पीआई स्टाफ ने राजकीय महाविद्यालय कालका में एनसीसी कैडेट्स गर्ल्स विंग और बॉय विंग का लिया जायजा

For Detailed News

पंचकूला, 14 मई- राजकीय महाविद्यालय कालका  की प्राचार्य श्रीमती प्रमिला मलिक के कुशल नेतृत्व में द्वितीय हरियाणा बटालियन से पीआई स्टाफ सूबेदार प्रदीप कुमार और हवलदार विजय गिल ने कालेज में एनसीसी कैडेट्स गर्ल्स विंग और बॉय विंग का जायजा लिया। 

https://propertyliquid.com/

बाॅय विंग के इंचार्ज लेफ्टिनेंट यशवीर सिंह और गर्ल्स विंग की इंचार्ज लेफ्टिनेंट गुरप्रीत कौर के मार्गदर्शन में कैडेट्स को ड्रील का अभ्यास करवाया गया। इस गतिविधि में विद्यार्थियों ने बढ़ चढ़कर भाग लिया। पी आई स्टाफ ने कैडेट्स को अनुशासन में रहने का महत्व बताया।

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

राष्ट्रीय लोक अदालत में 1238 केसो का किया गया निपटारा

 कुल 1,37,45,854 रुपये की राशि  की गई तय*

For Detailed News


पंचकूला, 14 मई- हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिला विधिक सेवा प्राधिकरण पंचकूला के सत्र न्यायाधीश श्री दीपक गुप्ता की देखरेख में आज न्यायिक परिसर में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया। इस लोक अदालत में जिला एवं सत्र न्यायधीश श्री दीपक गुप्ता, प्रिंसिपल जज फैमिली कोर्ट श्रीमती तरनजीत कौर, सिविल जज सीनियर डिवीजन हितेश गर्ग, अतिरिक्त सिविल न्यायाधीश श्री विनोद कुमार, जुडिशल मजिस्ट्रेट फर्स्ट क्लास पंचकूला श्रीमती पल्लवी ओझा, जुडिशल मजिस्ट्रेट फर्स्ट क्लास, कालका डिविजन श्री जतिंदर कुमार, व परमानेंट लोक अदालत के चेयरमैन श्री. सी. एल. कोच्चर के बैंच गठित किये गये।   

https://propertyliquid.com/

  मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्रीमती समप्रीत कौर ने बताया कि इस राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न अदालतों में लंबित मुकदमों, अपराधिक, एन आई एक्ट, बैंक रिकवरी, मोटर वाहन, श्रम से संबंधित मामले व अन्य मामलों सहित प्री लिटिगेशन मामले और अन्य सिविल आदि के कुल 3944 केस लिए गए जिसमें से  1238 केसो का निपटान किया गया, जिसमंे कुल 1,37,45,854 रुपये की राशि तय की गई।

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

श्री गुरदेव चेरिटेबल ट्रस्ट की हॉकी टीम में रचा इतिहास, हॉकी में पंजाब को हराकर हरियाणा की टीम ने जीता गोल्ड मेडल

सांसद सुनीता दुग्गल ने फोन के माध्यम से दी विशेष बधाई


रानियां, 13 मई।

For Detailed News


श्री गुरदेव चेरिटेबल ट्रस्ट की टीम ने बेंगलोर में चल रहे पैन इंडिया मास्टरर्स गेम फेडरेशन द्वारा आयोजित हॉकी गैम्स में हरियाणा की तरफ से अपना प्रतिनिधित्व करते हुए एवं शानदार खेलते हुए पंजाब को 4-3 से हराते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया है। जिसे रानियां क्षेत्र सहित पूरे हरियाणा में खुशी का माहौल है।


सिरसा लोकसभा क्षेत्र की सांसद सुनीता दुग्गल ने फोन के माध्यम से बधाई देते हुए खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन किया है। टीम का फाइनल मैच पंजाब की टीम ने के साथ करवाया गया, जिसमें श्री गुरदेव चेरिटेबल ट्रस्ट की हॉकी की टीम ने दमखम दिखते हुए स्वर्ण पदक जीता। इसके अलावा टीम के खिलाड़ी जसपाल सिंह वैद्य ने 45 वर्ष आयु वर्ग में 400 मीटर की हर्डल रेस में प्रथम स्थान प्राप्त करते हुए गोल्ड मेडल जीता है। इस मौके पर टीम का नेतृत्व कर रहे श्री गुरदेव चेरिटेबल ट्रस्ट के प्रधान हरपिन्द्र सिंह कूका ने बताया कि इस टूर्नामेंट में उनकी हॉकी की टीम ने बेहतर प्रदर्शन करते हुए हरियाणा प्रदेश का नाम रौशन किया है। ट्रस्ट के सभी सदस्यों ने टीम को बधाई देते हुए उनके उज्जवल भविष्य की कामना की है। वहीं खिलाडिय़ों की इस उपलब्धि पर गांव संतनगर के सभी ग्रामीणों ने टीम को बधाई देते हुए उन्हें और अधिक मेडल लाने का आहवान किया है।

https://propertyliquid.com/

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

पुलिस विभाग ने चोरियों की गुत्थी सुलझाई, 24 लाख रुपये से अधिक की चोरीशुदा संपत्ति बरामद

– अप्रैल माह में विभिन्न धाराओं के तहत 561 विभिन्न अभियोग दर्ज


सिरसा, 14 मई।

For Detailed News


पुलिस विभाग की ओर से अप्रैल माह में जिला में आपराधिक गतिविधियों को नियंत्रित करते हुए विभिन्न धाराओं के तहत 561 विभिन्न अभियोग दर्ज किए गए हैं। विभिन्न चोरियों की गुत्थी सुलझाते हुए 24 लाख 24 हजार 800 रुपये की चोरीशुदा संपति भी बरामद करने में पुलिस विभाग ने सफलता हासिल की है।


पुलिस अधीक्षक डा. अर्पित जैन ने बताया कि आबकारी अधिनियम के तहत दर्ज 29 अभियोग दर्ज किए गए जिनमें 371 बोतल शराब ठेका देसी, 50.25 बोतल शराब अवैध, 1639 किलोग्राम लाहण बरामद किया गया। जिला में मादक पदार्थों की तस्करी पर लगाम कसने के लिए पुलिस टीम ने विभिन्न स्थानों पर छापामारी की और नारकोटिक्स अधिनियम के तहत 49 अभियोग दर्ज किए गए जिनमें 124 किलो 916 ग्राम चुरापोस्त, 2 किलो 677 ग्राम अफीम, 35 ग्राम गांजा, 365 ग्राम 634 मिलीग्राम हिरोइन बरामद की गई। शस्त्र अधिनियम के तहत 5 अभियोग दर्ज किए गए जिनमें 7 पिस्तोल बरामद की गई। उन्होंने बताया कि जुआ अधिनियम के तहत 45 अभियोग दर्ज किए गए जिसके तहत विभिन्न स्थानों पर सट्टे खाईवाली करते हुए व जुआ खेलते लोगों से 5 लाख 42 हजार 505 रुपये की राशि बरामद की गई है।

https://propertyliquid.com/

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने चिन्हित अपराधों को लेकर गठित जिला स्तरीय समिति की बैठक की करी अध्यक्षता

-बैठक में 27 पुराने आपराधिक मामलों पर चर्चा के साथ-साथ 11 नये मामलों को भी किया शामिल

For Detailed News

पंचकूला, 13 मई- उपायुक्त श्री महावीर कौशिक की अध्यक्षता में आज जिला सचिवालय स्थित उपायुक्त कार्यालय में चिन्हित अपराधों को लेकर बैठक आयोजित की गईं। बैठक में 27 पुराने आपराधिक मामलों पर चर्चा करने के साथ-साथ 11 नये मामलों को शामिल किया गया।


बैठक में पुलिस उपायुक्त श्री मोहित हांडा भी उपस्थित थे।


उपायुक्त ने पोक्सो एक्ट, आई.टी. एक्ट, आर्मस एक्ट तथा भारतीय दण्ड संहिता की अन्य धाराओं के तहत दर्ज विभिन्न संगीन अपराधिक मामलों की समीक्षा की। जिन 11 नये मामलों को चिन्हित अपराधों की श्रेणी में शामिल किया गया है उनमें वर्ष 2018 से वर्ष 2022 तक पंचकूला में दर्ज पेपर लीक व धोखाधड़ी से संबंधित मामले शमिल हैं।


उपायुक्त श्री महावीर कौशिक ने चिन्हित अपराधों के मामलों की समीक्षा करने उपरांत निर्देश दिये कि जांच प्रक्रिया में तेजी ला कर मामलों का जल्द से जल्द निपटान किया जाए ताकि पीड़ित को समय पर न्याय मिल सके। उन्होंने कहा कि जिन संगीन अपराधिक मामलों में आरोप तय हो चुके है, ऐसे मामलों में न्यायालय के माध्यम से अपराधियों को कानून के अनुसार सजा दिलवाना सुनिश्चत किया जाए ताकि आपराधिक प्रवृति के लोगों में कड़ा संदेश जाए तथा वे इस प्रकार की गतिविधियों में शमिल न हों।

https://propertyliquid.com/


पुलिस उपायुक्त श्री मोहित हांडा ने उपायुक्त को अब तक विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज किए गए 27 मामलों में की गई कार्रवाई की प्रगति के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इन 27 मामलों में 14 मामले महिलाओं के विरूद्ध अपराध तथा पोक्सो एक्ट, 12 मामले हत्या और हत्या का प्रयास और एक मामला पासपोर्ट एक्ट से संबंधित है। उन्होंने बताया कि इस बार पेपर लीक व धोखाधड़ी से संबंधित मामलों को भी चिन्हित अपराध की श्रेणी में शामिल किया गया  है।  श्री मोहित हांडा ने उपायुक्त को आश्वासन दिया कि मामलों की प्राथमिकता के आधार पर जांच प्रक्रिया में और तेजी लाई जाएगी व माननीय न्यायालय के माध्यम से अपराधियों को सज़ा  दिलवाना सुनिश्चित किया जाएगा।


डी.ए. पंकज गर्ग ने उपायुक्त को अवगत करवाया कि कोविड के दौर में अदालतों में मामले काफी लंबित हो गए थे। अब अदालती काम में तेजी आने से  ऐसे मामलों का निपटान करने में सहायता मिलेगी। उन्होंने चिन्हित अपराध के मामलों में हुई प्रगति का ब्यौरा भी उपायुक्त के समक्ष प्रस्तुत किया।


 इस अवसर पर एसीपी राजकुमार, जिला न्यायवादी पंकज गर्ग,  सेंट्रल जेल अंबाला के अधीक्षक लखबीर सिंह बराड़ व पुलिस विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

डायरेक्टर जनरल हेल्थ सर्विसेज डॉक्टर वीना सिंह की अध्यक्षता में टीबी रोग से ग्रस्त बच्चों को गोद लेने की प्रक्रिया का किया शुभारंभ

For Detailed News

पंचकूला, 13 मई- अतिरिक्त पोषण, सोशल, मोरल सपोर्ट व टीबी मुक्त भारत के लिए आज डायरेक्टर जनरल हेल्थ सर्विसेज डॉक्टर वीना सिंह की अध्यक्षता में टीबी रोग से ग्रस्त बच्चों को गोद लेने की प्रक्रिया का शुभारंभ किया गया। कम्युनिटी सपोर्ट प्रक्रिया के अंतर्गत गोद लिए बच्चों को सपोर्ट डाइट से लेकर भावात्मक व अन्य जरूरतों के लिए भी सहयोग प्रदान किया जाएगा। गोद लेने का समय मरीज के इलाज खत्म होने व 1 वर्ष तक रहेगा  एक माह का सपोर्टिव डाइट का खर्च 300 से 500 रुपए रहेगा।

स्वास्थ्य विभाग हरियाणा की महानिदेशक डॉ विना सिंह ने  बताया कि इसकी शुरुआत आज राज्य स्तर से हो रही है। उन्होंने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि  स्वास्थ्य विभाग के निदेशक व उप निदेशक,  मेडिकल ऑफिसर व अन्य कर्मचारी इस सपोर्ट के लिए आगे आए हैं और आज 19टीबी ग्रस्त बच्चों को गोद लिया गया है। उन्होंने कहा कि इस गोद लेने की प्रक्रिया से मरीजों के प्रति भेदभाव की भावना भी खत्म होगी तथा इन्हें परिवार व समाज की हीन भावना नहीं प्यार वह अपनापन मिलेगा।

राज्य क्षय रोग अधिकारी डॉ राजेश राजू ने बताया कि जिले स्तर पर भी यह कार्यक्रम चलाया जाएगा और राज्य सरकार के मंत्रियों और सांसदों के अलावा कॉरपोरेट सेक्टर और एनजीओ आदि भी इन मरीजों को गोद ले सकते हैं और कम्युनिटी सपोर्ट प्रदान करके प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के  2025 तक टीबी मुक्त भारत के सपने को साकार करने  में अपना सहयोग दे सकते हैं।

कार्यक्रम  में डॉक्टर दहिया ने बताया कि इस कार्यक्रम के लागू होने से एनडीईपी के अतिरिक्त अन्य संगठनों की भागीदारी बढ़ेगी और टीबी की जानकारी जन-जन तक पहुंचेगी, भेदभाव कम होगा, पोषण बेहतर होगा और इलाज खत्म होने पर परिणाम भी बेहतर मिलेंगे तथा मरीजों व परिवारों का खर्च भी कम होगा।

https://propertyliquid.com/

इस अवसर पर डीएचएस डॉक्टर जेएस पुनिया, डॉक्टर दहिया, डॉ ज्योति कौशल, डॉक्टर अनिल वर्मा, डॉक्टर सुषमा, डॉक्टर वर्षा, डॉक्टर श्यामली, डॉक्टर परमिंदर, दिलबाग सिंह, डॉक्टर रीटा कालरा, सरिता नरयाल, आईईसी ऑफिसर व राज्य टीबी सेल हरियाणा के कर्मचारी भी उपस्थित थे।

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

आजादी के अमृत महोत्त्सव एवं अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस- 2022 के उपलक्ष्य में 16 से 18 मई तक किया जाएगा विशाल योग विज्ञान शिविर का आयोजन

-सेंक्टर 5 स्थित परेड ग्राउंड में किया जाएगा  योग शिविर का आयोजन

-16 मई को हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता करेंगे योग शिविर का उदघाटन

-जिलावासी इस निःशुल्क विशाल योग विज्ञान शिविर में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर योगाभ्यास का लाभ उठाएं-दिलीप मिश्रा

For Detailed News

पंचकूला, 13 मई- आजादी के अमृत महोत्त्सव एवं अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस- 2022 के उपलक्ष्य में हरियाणा योग आयोग, जिला प्रशासन, पंचकूला तथा  आयुष विभाग, पंचकूला के संयुक्त तत्वावधान में 16 से 18 मई 2022 प्रातः 6ः00 बजे से 7ः30 बजे तक विशाल योग विज्ञान शिविर का आयोजन परेड ग्राउड, सैक्टर-5 ,पंचकूला में किया जाएगा।


इस संबंध में जानकारी देते हुए जिला आयुर्वेदिक अधिकारी दिलीप मिश्रा ने बताया कि हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता 16 मई को सेक्टर 5 स्थित परेड ग्राउंड में आयोजित योग शिविर में मुख्य अतिथि के रूप में शिरकत करेंगे। अंबाला के सांसद श्री रतन लाल कटारिया 17 मई को तथा पंचकूला नगर निगम के महापौर कुलभूषण गोयल 18 मई को आयोजित योग शिविर में मुख्य अतिथि होंगे।


उन्होंने बताया कि इस कार्यक्रम के सह आयोजक भारत स्वाभिमान के जिला प्रभारी होंगे। इसके अलावा इंडियन योगा एसोसिएशन, पतजंलि योग समिति, भारतीय योग संस्थान, आरोग्य भारती, ब्रह्मकुमारी, आर्ट आॅफ लिविंग, क्रीड़ाभारती, भारत विकास परिषद्, आर्य समाज, गुरूकुल इत्यादि संस्थाए इस आयोजन में अपनी भागेदारी करेंगी।

https://propertyliquid.com/


      उन्होंने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि वे इस निःशुल्क विशाल योग विज्ञान शिविर में अधिक से अधिक संख्या में पहुंचकर योगाभ्यास का लाभ उठाएं।

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

Kirron Kher inaugurates automatic block making machine at C&D waste plant

For Detailed News

Chandigarh, May 13:- Smt. Kirron Kher, Member Parliament, UT, Chandigarh today inaugurated fully automatic block making machine, hydro-vibro compaction type with batch mix plant at the C&D waste plant site, industrial area Phase-I, here today in the presence of Smt. Sarbjit Kaur, Mayor, Sh. Dharam Pal, IAS, Adviser to the Administrator, Chandigarh, Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Chandigarh.

Speaking on the occasion Smt. Kher said that having a capacity of approximate 12000-15000 paver block per day, the automatic block making machine will be boon for not only the Municipal Corporation but for the city as well. She said that the demand for the efficient and fast production line of automatic block making machines adds to reducing the per-unit cost of the blocks, offers high quality, less damaged and dimensionally accurate concrete products.

She said that using a block making machine in construction has been increasing over the years but this is not a coincidence as concrete blocks offer multiple advantages economically, in terms of constructive performance, as well as in build quality and versatility.

While sharing information about the plant, Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Chandigarh said that keeping in view ease of citizens, an exclusive system has been set in place for transportation of construction and demolition waste from their door steps the MCC vehicle will lift 250 cubic foot C&D waste for its scientific disposal including loading and unloading @ Rs. 800 per trip upto 5 kilometer distance from the C&D waste plant situated at industrial area Phase-I and Rs. 100 extra per kilometer beyond 5 kilometer from the plant site. She said that people may also transport their C&D waste to the 23 designated C&D waste collection centers located throughout the city.

https://propertyliquid.com/

She said that any type of concrete blocks can be produced with consistent quality by fixing different types of moulds and ram in the automatic machine and designed to deliver unparalleled performance and cost-effective solution. She said that the scope of work for establishment of the automatic machine involves approximately 1.62 crores including maintenance for next 5 years including all the maintenance and wear & tear of all machinery at casting unit of C&D waste processing plant.

The Commissioner said that various concrete products will be produced in this automatic block making machine including big and small size kerbs, channel, paver block 60mm and 80mm and PCC bricks.

Others present during the inauguration were Sh. Dalip Sharma, Senior Deputy Mayor, Sh. Anup Gupta, Deputy Mayor, Smt. Vimla Dubey, area councilor, other councilors and officers of MCC.

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

सभी बैंक मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के तहत लाभार्थियों को तुरंत प्रभाव से ऋण उपलब्ध करवाकर उनका रोजगार स्थापित करने में बने सहयोगी : अतिरिक्त उपायुक्त सुशील कुमार

अतिरिक्त उपायुक्त सुशील कुमार ने मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के दृष्टिगत ली बैंकर्स की बैठक


सिरसा, 13 मई।

For Detailed News


अतिरिक्त उपायुक्त सुशील कुमार ने कहा कि मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना बहुत ही महत्वाकांक्षी योजना है, जिसके तहत जरूरतमंद व्यक्तियों को विभिन्न योजनाओं के तहत ऋण देकर उनके जीवन स्तर को ऊंचा उठाना है। सभी बैंकर्स इस योजना के तहत लाभार्थियों को जल्द लाभ देना सुनिश्चित करें। संबंधित व्यक्ति जिस भी योजना के लिए आवेदन करता है तो उसके फार्म को ध्यान से भरवाएं। यदि कोई तकनीकी बाधा है तो उसे दूर करवाएं न कि उसके आवेदन को रिजेक्ट करें। इस कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जिन आवेदकों के आवेदन दस्तावेजों की कमी या किसी अन्य कारणवश रिजेक्ट कर दिए गए हैं, उनकी औपचारिकताएं पूर्ण करवाएं और उन्हें ऋण दें ताकि वे स्वरोजगार शुरु कर सकें।


वे शुक्रवार को लघु सचिवालय के सभागार में मुख्यमंत्री अंत्योदय परिवार उत्थान योजना के दृष्टिगत बैंकर्स की बैठक लेकर उन्हें आवश्यक दिशा-निर्देश दे रहे थे। उन्होंने कहा कि जिला में इस योजना के तहत लाभार्थियों को लाभ देना शुरू हो चुका हैं। मुख्यमंत्री मनोहर लाल स्वयं इस योजना की समय-समय पर समीक्षा करते हैं। सभी बैंकर्स इस बात का विशेष ध्यान रखें कि जितने भी आवेदन संबंधित व्यक्तियों द्वारा दिए जाते हैं, उन्हें शत-प्रतिशत पूरा करें, ताकि जिला के सभी जरूरतमंदों को किसी न किसी योजना के तहत लाभ दिया जा सके। इस मौके पर सीएमजीजीए रोमिल होतवानी, एलडीएम सुनील सहित विभिन्न बैंकों के प्रतिनिधि मौजूद रहे।

https://propertyliquid.com/


उन्होंने कहा कि मानवीय संवेदना रखते हुए सभी कार्य करें। इस कार्य में कोई भी कोताही नही होनी चाहिए। समय-समय पर सभी बैंकों की योजना से संबंधित समीक्षा की जाएगी। आगामी बैठक में अगर कोई बैंक बिना किसी बड़े कारण के किसी व्यक्ति का फार्म रिजेक्ट करता है और वह व्यक्ति योजना का पात्र है तो उस बैंक के खिलाफ भी आवश्यक कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। सरकार का मुख्य उद्देश्य गरीबों के सामाजिक और आर्थिक स्तर को बेहतर बनाना है। इसके लिए सरकार ने अनेकों योजनाएं शुरू की हैं और प्रशासन का मुख्य उद्देश्य यही है कि उन योजनाओं को धरातल पर लागू किया जाए। इसके लिए सभी बैंक जिम्मेदारी से कार्य करें और जानबूझकर लापरवाही बरतने वाले बैंकों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।