OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

राज्यपाल आज पंचकूला के सेक्टर 5 स्थित इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में संस्कार भारती और हरियाणा कला परिषद के संयुक्त तत्वावधान में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित भजन संध्या में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे।

For Detailed News

पंचकूला, 7 मई- हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि मनुष्य को भगवान को प्राप्त करने, उनके समीप होने तथा भगवान को पाने के लिए भजन ही एकमात्र पथ है। उन्होंने कहा कि जो अपना सब कुछ छोड़ कर भगवान का भजन करता है वह श्रेष्ठ भक्त बनता है।

राज्यपाल आज पंचकूला के सेक्टर 5 स्थित इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में संस्कार भारती और हरियाणा कला परिषद के संयुक्त तत्वावधान में आजादी के अमृत महोत्सव के तहत आयोजित भजन संध्या में मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता उनकी धर्मपत्नी श्रीमती बिमला गुप्ता तथा अम्बाला के सांसद श्री रतन लाल कटारिया भी उपस्थित थे।

राज्यपाल ने कहा कि उन्हें इस कार्यक्रम में उपस्थित होकर बहुत प्रसन्नता हो रही है। इससे पूर्व जब वे पार्लियामेंट में सदस्य थे तब उन्हें हैदराबाद में पद्मश्री अनूप जलोटा को सुनने का अवसर मिला था और आज जब वे हरियाणा के राज्यपाल हैं तो उन्हें पुनः यह अवसर मिला है। उन्होंने कहा कि 25 वर्ष पूर्व श्री नरेन्द्र मोदी जैसे व्यक्ति भी अनूप जलोटा को सुनने के लिए उत्सुक रहते थे। उन्होंने कहा कि आज पूरा देश भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे होने पर आज़ादी का अमृत महोत्सव मना रहा है। उन्होंने संस्कार भारती का स्वागत करते हुए कहा कि संस्कार भारती द्वारा संस्कृति में प्राण फूकने का कार्य किया जा रहा है। संस्कार भारती भारतीय कला, मूल, भजन, नाटय को आगे बढ़ाने के लिए जो कार्य कर रही है, वह सराहनीय है।

उन्होंने कहा कि आज की युवा पीढ़ी को संस्कार की बहुत जरूरत है और हमें भारतीय कला का माध्यम से संस्कारी भारत बनाना है। उन्होंने कहा कि महिलाओं में भक्ति रस रहता है, जो भक्तिभाव से घर में कार्य करती है और सारे घर को जोड़ कर रखती है तथा अपने बच्चों को संस्कार देने का कार्य करती है। उन्होंने कहा कि आज के समय में भक्ति भाव को जगाने की आवश्यकता है और इसके लिए महिलाओं को आगे आना होगा। उन्होंने इस भजन संध्या के सफल आयोजन के लिए संस्कार भारती और हरियाणा कला परिषद को बधाई एवं शुभकामनाएं दी।

इस अवसर पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि के 25 वर्ष पूर्व अनूप जलोटा जब चंडीगढ़ आए थे तब उन्हें उनकी मेजबानी करने का अवसर प्राप्त हुआ था। उस समय वे चंडीगढ़ के महापौर थे। उन्होंने कहा के भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी उस समय चंडीगढ़ में ही थे और वे भी अनूप जलोटा जी की भजन संध्या में आये थे।

उन्होंने कहा कि संस्कार भारती की स्थापना 1981 में हुई थी और संस्कार भारती तब से ही विभिन्न कलाओं और कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों में संस्कार पैदा करने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि इस प्रकार के कार्यक्रमों से हमें अपने संस्कार व सभ्यता के बारे में जानने का अवसर मिलता है। उन्होंने संस्कार भारती का इस आयोजन के लिए धन्यवाद करते हुए कहा की अनूप जलोटा पद्मश्री से सम्मानित हैं जो दुनिया भर को अपने भजनों से सराबोर करते हैं। उन्होंने कहा कि हम सब सौभाग्यशाली हैं कि हमें इस भजन संध्या में आने का अवसर मिला है।

इस अवसर पर उन्होंने अंतरराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त संगीतकार कंवर जगमोहन का भी स्वागत किया। उन्होंने कहा कि हरियाणा के राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय जितने साधारण हैं उतने ही भगवान से जुड़े हुए भी हैं। उन्होंने राज्यपाल का इस कार्यक्रम में पधारने के लिए धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि राज्यपाल ने इतना व्यस्त समय होते हुए भी इस कार्यक्रम के लिए समय निकाला जिसके लिए वे उनके आभारी हैं।
इस अवसर पर सांसद श्री रतनलाल कटारिया, मुलाना के विधायक वरुण चौधरी, बंतो कटारियाउपायुक्त श्री महावीर कौशिक, नगर निगम के महापौर कुलभूषण गोयल, बीजेपी जिला अध्यक्ष अजय शर्मा, महामंत्री वीरेंदर राणा, परमजीत कौर, संस्कार भारती के उत्तर क्षेत्र प्रमुख नवीन अंशुमन सहित काफी संख्या में लोग भी उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com/

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 का भव्य आगाज*

For Detailed News

पंचकूला, 7 मई- आज से प्रत्येक माह के प्रथम शनिवार को शिक्षा विभाग,हरियाणा के प्रत्येक विद्यालय में योग प्रशिक्षण  आरम्भ कर दिया गया है। हरियाणा योग आयोग के चेयरमैन डाॅ जयदीप आर्य ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के नेतृत्व में यह निर्णय लिया गया था कि प्रत्येक माह के प्रथम शनिवार को शिक्षा विभाग,हरियाणा के सभी विद्यालयों में योग का बृहद प्रशिक्षण करवाया जाये जिसमें विद्यार्थी, अध्यापक, स्टॉफ के साथ – साथ प्रबंधन समिति, अभिभावकगण एवं आस -पड़ोस के सभ्यजनों को भी आमंत्रित किया जायगा। हरियाणा सरकार द्वारा प्रत्येक माह के प्रथम शनिवार को पीटीआई/डीपीईज़ एवं प्रशिक्षित अध्यापकों द्वारा योग प्रशिक्षण दिवस के रूप में मनाने हेतु स्वीकृति प्रदान की गयी है। इसी के तहत शिक्षा विभाग, हरियाणा योग आयोग एवं राज्य शैक्षिक अनुसंधान एवं प्रशिक्षण परिषद्, गुरुग्राम के संयुक्त प्रयासों द्वारा योग प्रशिक्षण दिवस का भव्य आयोजन एससीईआरटी के निदेशक श्री विवेक कालिया के दिशा-निर्देशानुसार में ऑनलाइन एवं ऑफलाइन माध्यम से किया गया। प्रदेश भर से शिक्षा विभाग से सम्बन्ध रखने वाले प्रत्येक व्यक्ति ने योग कर अपनी भागीदारी सुनिश्चित की। इस भव्य आयोजन में हरियाणा योग आयोग के  चेयरमैन डॉ जयदीप आर्य, एससीईआरटी  के उपनिदेशक श्री सुनील बजाज, मुख्य शिक्षक अंशु सिंगला, विषय विशेषज्ञ श्री ब्रह्म प्रकाश,  एसएलए समन्वयक रजनी दहिया, योग महाविद्यालय चंडीगढ़ की प्राचार्य डॉ सपना नंदा एवं पीजीआई से डॉ अक्षय आनंद मुख्य रूप से उपस्थित रहे। इसके अलावा जिला शिक्षा अधिकारी, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी, खंड शिक्षा अधिकारी, जिला परियोजना समन्वयक, उप जिला शिक्षा अधिकारी, डाइट प्राचार्य एवं विभिन्न विद्यालयों के प्रशिक्षकों के साथ -साथ बच्चों से विशेष भागीदारी कर इस कार्यक्रम को भव्य रूप दिया।  इस अवसर पर श्री सुनील बजाज ने सभी उपस्थित लोगों का अभिनन्दन करते हुए कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। उन्होंने  कहा कि हम सभी अधिकारी, शिक्षक योग को स्वयं के लिए सीखेंगे और फिर छात्रों सहित समाज में सभी के साथ इस विधा को साझा करेंगे। तत्पश्चात हरियाणा योग आयोग के चेयरमैन डॉ जयदीप आर्य द्वारा योग को परिभाषित करते हुए अष्टांग योग की जीवन में भूमिका का सरल एवं सराहनीये परिचय दिया गया और साथ ही उन्होंने बताया कि योग केवल मात्र शारीरिक अभ्यास नहीं है अपितु मानसिक और आध्यात्मिक विकास भी है। योग जीवन का आधार है यही कहते हुए डॉ जयदीप आर्य द्वारा अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के योग प्रोटोकॉल का अभ्यास संयुक्त रूप से करवाया गया। शिक्षाविद डॉ सपना नंदा ने  शिक्षा विभाग, एससीईआरटी एवं हरियाणा योग आयोग के इस संयुक्त प्रयास को सरहाया गया एवं पीजीआई के न्यूरोसाइंस विभाग के प्रोफेसर एवं वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ अक्षय आनंद द्वारा बताया गया कि योग के क्षेत्र में अनेकों शोध कार्य किये जा रहे है, जिनसे यह स्पष्ट होता है कि वैज्ञानिक तौर पर भी यह प्रमाणित होता है कि योग के नियमित अभ्यास से विद्यार्थियों में शारीरिक क्षमता का विकास तो होता ही है, संवेदनाओं के स्तर पर नियंत्रण बढ़ता है , तनाव के प्रबंधन में तथा एकाग्रता निर्माण में योग , प्राणायाम, ध्यान की क्रियाएं  अत्यंत लाभकारी हैं,साथ ही योग रोग निवारण एवं स्वस्थ जीवन शैली जीने का तरीका है।

https://propertyliquid.com/

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 का भव्य आगाज*

*खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 का मस्कट, लोगो, जर्सी और थीम गीत लॉन्च*
*खेल से शरीर होता है बलशाली, मस्तिष्क तेज तो चंचल मन होता है निर्मलरू श्री मनोहर लाल*
*खिलाड़ियों की मेजबानी करने के लिए हरियाणा तैयाररू श्री मनोहर लाल*
*खिलाड़ियों को बचपन से ही तराशने की नीति पर काम कर रही हरियाणा सरकार*
*हरियाणा में पदक विजेता खिलाड़ियों को मिलती है सर्वाधिक नकद पुरस्कार राशिरू मुख्यमंत्री*

For Detailed News


पंचकूला, 7 मई – पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम में शनिवार को खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 के चैथे सीजन का शानदार और भव्य आगाज हुआ। इस लॉन्च कार्यक्रम में खेलो इंडिया यूथ गेम्स का शुभंकर (मस्कट), लोगो, जर्सी और थीम गीत भी लॉन्च किया गया। लॉन्चिंग सेरेमनी में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। वहीं विशिष्ट अतिथि के रूप में केंद्रीय खेल, युवा मामले और सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग ठाकुर शामिल हुए।


*खिलाड़ियों के स्वागत के लिए पलके बिछाएं बैठे*
इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि ये कार्यक्रम बहुत इंतजार के बाद आया है। कोरोना महामारी के कारण तीन बार इसकी तिथियां स्थगित हुईं। अब इन खेलों का नया आगाज हो रहा है। उन्होंने बताया कि 4 जून से खेलें शुरू होंगी, जिसके लिए उल्टी गिनती शुरू हो गई है। श्री मनोहर लाल ने कहा कि सामूहिक ताकत लगाकर यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। देश के हर प्रांत के खिलाड़ी इसमें हिस्सा लेंगे। उन्होंने कहा कि हम खिलाड़ियों की मेजबानी करने के लिए तैयार हैं। सब व्यवस्थाएं हो चुकी हैं। हमें इतंजार है खिलाड़ियों का, हम खिलाड़ियों के स्वागत के लिए पलके बिछाएं बैठे हैं। मुख्यमंत्री ने बताया कि इन खेलों के आयोजन हेतु करोड़ों रुपये की लागत से ताऊ देवीलाल खेल परिसर, पंचकूला में हॉकी एस्ट्रोटर्फ, वॉलीबॉल इन्डोर हॉल व बास्केटबॉल इन्डोर हॉल का निर्माण करवाया गया है। सिंथैटिक एथलैटिक्स ट्रैक, बैडमिंटन हॉल आदि का नवीनीकरण करवाया गया है। अम्बाला में अंतर्राष्ट्रीय स्तर के इन्डोर स्वीमिंग पूल का निर्माण भी किया गया है।


*हरियाणा की संस्कृति में रचे-बसे हैं खेल*
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा की धरतीध्मिट्टी विशेष प्रकार की है, हमारा कृषक अन्न पैदा करता है। मिट्टी हमारी अन्न के रूप में सोना उगलती है। वहीं इस मिट्टी का युवा और युवती खेलों में शानदार प्रदर्शन कर रहा है। जैसे मिट्टी सोना उगलती है वैसे ही हमारे खिलाड़ी जीत कर गोल्ड ला रहे हैं। उन्होंने कहा कि खेल हरियाणा की संस्कृति में रचे-बसे हैं। तीज-त्योहारों पर होने वाली खेल प्रतियोगिताओं से खेलों के प्रति यहां के जनमानस की रुचि बखूबी झलकती है। इसी खेल संस्कृति के चलते यहां खेल प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है। भौगोलिक दृष्टि से हरियाणा भले ही छोटा-सा प्रान्त हो परन्तु यहां खेल प्रतिभाओं की भरमार रही है। जरूरत केवल इन प्रतिभाओं को निखारने के लिए खेल-सुविधाएं और अवसर प्रदान करने की थी। हमने इस बात को समझा और खिलाड़ियों को अनेक सुविधाएं और प्रोत्साहन देने का काम किया। इससे राज्य में एक नई खेल संस्कृति का जन्म हुआ।
*हरियाणा के लोगों की सबसे बड़ी भूमिका रक्षा सेनाओं मेंरू मुख्यमंत्री*
श्री मनोहर लाल ने कहा कि खेल के कारण व्यक्ति का शरीर तो बलशाली होता ही है, मस्तिष्क भी तेज होता है और चंचल मन निर्मल होता है। खिलाड़ी सदभाव और सदगुण से भर जाता है। वहीं खिलाड़ी संघर्ष करके मुकाबला करने के लिए भी तैयार रहता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा के लोगों की सबसे बड़ी भूमिका रक्षा सेनाओं में है। अगर सेनाओं में हरियाणा की भूमिका 10 प्रतिशत है तो इसका कारण हम खोजते हैं तो खेल की भावना से ही इसकी प्रेरणा मिलती है। खेल से ही इसके लिए मन बनता है और बल मिलता है।
*खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 में खेल प्रेमियों की भी अहम भूमिका*
मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का आभार प्रकट करते हुए कहा कि उन्होंने खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 के चैथे सीजन के आयोजन का मौका हरियाणा को दिया। उन्होंने कहा कि इस तरह के पहले भी तीन कार्यक्रम हुए लेकिन मैं विश्वास दिलाता हूं कि हमारा खेल विभाग व्यवस्था में कमी नहीं आने देगा, भरपूर व्यवस्था की गई है। सभी विभाग मिलजुलकर इसमें भूमिका निभा रहे हैं। खेल प्रेमियों की भी इसमें खूब भूमिका रहने वाली है। मुख्यमंत्री ने कहा, श्मैं केंद्रीय खेल, युवा मामले और सूचना एवं प्रसारण मंत्री श्री अनुराग ठाकुर को विश्वास दिलाता हूं कि खेलों को लेकर कोई कमी नहीं आएगी।श् उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाने के लिए दर्शक जितनी अधिक संख्या में पहुंचेंगे उससे खिलाड़ियों का मनोबल बढेगा।
*1000 योग शिक्षकों की भर्ती शुरू*
        मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड से पहले जो 500 नर्सरी चल रही थी उनको दोबारा शुरू करेंगे। इनकी संख्या बढ़ाने के लिए खेल विभाग काम कर रहा है। गांव-गांव में खेल मैदान, पंचायत की जमीन में पार्क एवं व्यायामशाला बनाई जा रही हैं । इसके लिए 1000 गांवों को चिन्हिन किया गया है। 550 पार्क एवं व्यायामशाला बनकर तैयार हो चुकी हैं । हम हर जगह योग का प्रशिक्षण देने जा रहे हैं, 1000 योग शिक्षकों की भर्ती शुरू कर दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमने यहां गांव, ब्लॉक और जिला स्तर तक मैपिंग की है और जहां जिस इंफ्रास्ट्रक्चर की आवश्यता है उसकी व्यवस्था की जा रही है।
*हरियाणा में पदक विजेता खिलाड़ियों को सर्वाधिक नकद पुरस्कार राशि*
मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा देश का पहला राज्य है, जो पदक विजेता खिलाड़ियों को सर्वाधिक नकद पुरस्कार राशि देता है। हमने ओलंपिक खेलों में स्वर्ण पदक विजेता को 6 करोड़ रुपये, रजत पदक विजेता को 4 करोड़ रुपये और कांस्य पदक विजेता को 2.5 करोड़ रुपये के नकद पुरस्कार का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि मेडल विजेता के लिए इनाम में दुनिया के कई देशों से हम आगे हैं। श्री मनोहर लाल ने कहा कि जितने भी खेल के टूर्नामेंट हुए हैं, एशियन खेल, कॉमनवेल्थ या ओलंपिक सभी में हरियाणा की भूमिका अहम है। उन्होंने कहा कि हम हमारी भूमिका बेहतरी से निभाएंगे ताकि हमारा देश दुनिया में परचम लहरा सके।
*खेल कोटे के तहत सरकारी नौकरी प्राप्त करने में मिल रही मदद*
        श्री मनोहर लाल ने बताया कि हरियाणा देश का पहला राज्य है, जिसने ओलम्पिक व पैरालम्पिक खेलों के लिए क्वालीफाई करते ही खिलाड़ी को तैयारी के लिए 5 लाख रुपये की एडवांस राशि देने की व्यवस्था की है। हमने विश्व की 10 सबसे ऊंची पर्वत चोटियों की चढ़ाई करने वाले प्रदेश के पर्वतारोहियों के लिए भी नई नीति लागू की है। अब पर्वतारोहियों को 5 लाख रुपये का नकद पुरस्कार और खेल श्रेणी का ग्रेड-सी प्रमाण-पत्र दिया जाएगा। इससे उन्हें खेल कोटे के तहत सरकारी नौकरी प्राप्त करने में मदद मिलेगी।
*खिलाड़ियों को बचपन से ही तराशने की नीति पर काम कर रही सरकार*
मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार खिलाड़ियों को बचपन से ही तराशने की नीति पर काम कर रही है। राज्य स्तरीय खेल प्रतियोगिताओं, खेल अकादमियों और प्रशिक्षण शिविरों में भाग लेने वाले खिलाड़ियों की डाइट मनी 250 रुपये से बढ़ाकर 400 रुपये प्रतिदिन की गई है। बच्चों में खेल संस्कृति विकसित करने के उद्देश्य से प्रदेश में 1100 खेल नर्सरियां खोली जा रही हैं। इससे राज्य के लगभग 25000 नवोदित खिलाड़ी लाभान्वित होंगे। इन नर्सरियों में प्रशिक्षण लेने वाले 8 से 14 वर्ष तक के खिलाड़ियों को 1500 रुपये प्रतिमाह तथा 15 से 19 वर्ष तक के खिलाड़ियों को 2000 रुपये प्रतिमाह छात्रवृत्ति दी जाएगी। उन्होंने कहा कि खिलाड़ियों को विश्वस्तरीय प्रशिक्षण व सुविधाएं देने के लिए प्रदेश में 5 स्पोर्ट्स सेंटर ऑफ एक्सीलेंस खोले जाएंगे। इनमें प्रतिभावान खिलाड़ियों को मुफ्त कोचिंग प्रदान की जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा को स्पोर्टस हब बनाने की योजना है।
*भीम पुरस्कार विजेताओं को 5,000 रुपये प्रतिमाह मानदेय देने की शुरुआत*
सरकार ने उत्कृष्ट खिलाड़ियों के लिए सुरक्षित रोजगार सुनिश्चित करने हेतु श्हरियाणा प्रतिभाशाली खिलाड़ी नियम-2018श् बनाये हैं। उनके लिए खेल विभाग में 550 नए पद सृजित किए हैं। इसके अलावा, 156 खिलाड़ियों को सरकारी नौकरी दी गई है। खिलाड़ियों के लिए क्लास वन से क्लास फोर तक के पदों की सीधी भर्ती में आरक्षण का प्रावधान किया गया है। अर्जुन, द्रोणाचार्य और ध्यानचंद पुरस्कार जीतने वाले खिलाड़ियों का मानदेय 5,000 रुपये से बढ़ाकर 20,000 रुपये प्रतिमाह किया गया है। तेनजिंग नोर्गे राष्ट्रीय साहसिक पुरस्कार विजेताओं को 20 हजार रुपये प्रतिमाह और भीम पुरस्कार विजेताओं को 5,000 रुपये प्रतिमाह मानदेय देने की शुरुआत की है।
*खिलाड़ियों का सबसे बड़ा दल हरियाणा में होने वाले इन खेलों में आ रहा है, जो गर्व की बात है-  केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर*
इस अवसर पर केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्री श्री अनुराग ठाकुर ने मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का धन्यवाद करते हुए कहा कि आज का यह लॉन्च कार्यक्रम शुभंकर की तरह ही धाकड़ है। उन्होंने कहा कि चाहे खेलों के आयोजन की बात हो, जमीनी स्तर पर खेल प्रतिभाओं को तराशने या अधिक से अधिक मेडल जीतने की बात हो, इन सभी मामलों में हरियाणा हमेशा देश में नंबर वन रहा है।
उन्होंने कहा कि अभी तक खेलो इंडिया यूथ गेम्स के तीन संस्करणों का आयोजन किया गया है और हरियाणा में यह चैथ संस्करण आयोजित हो रहा है और खिलाड़ियों का सबसे बड़ा दल हरियाणा में होने वाले इन खेलों में आ रहा है, जो गर्व की बात है।
उन्होंने कहा कि हरियाणा भौगोलिक दृष्टि से भले ही छोटा प्रात है, लेकिन ओलंपिक में जाने वाले खिलाड़ियों के दल में 25 प्रतिशत यानी 30 खिलाड़ी हरियाणा से थे। हरियाणा ने सर्वाधिक पदक जीतने में मील का पत्थर स्थापित किया है। उन्होंने कहा कि उन्हें विश्वास है कि हरियाणा इस ऐतिहासिक आयोजन को बड़ी सफलता से पूर्ण करेगा।
इस अवसर पर हरियाणा के उप मुख्यमंत्री श्री दुष्यंत चौटाला , विधानसभा स्पीकर श्री ज्ञानचंद गुप्ता , खेल व युवा मामले राज्य मंत्री श्री संदीप सिंह, अंबाला के सांसद रतन लाल कटारिया, मुख्य सचिव श्री संजीव कौशल, खेल एवं युवा मामले विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री महावीर सिंह, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डाॅ. अमित कुमार अग्रवाल और आशिमा बराड़, पुलिस आयुक्त डाॅ. हनीफ कुरेशी, खेल एवं युवा मामले विभाग के निदेशक पंकज नैन, उपायुक्त श्री महावीर कौशिक, पुलिस उपायुक्त मोहित हांडा, अतिरिक्त उपायुक्त आयूष सिन्हा, एसडीएम ऋचा राठी, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी गगनदीप सिंह, नगराधीश गौरव चौहान सहित केंद्र व राज्य सरकार के कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे। 

https://propertyliquid.com


‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021’ का आयोजन 4 जून से 13 जून, 2022 तक राज्य सरकार और भारतीय खेल प्राधिकरण (साई), केंद्रीय युवा मामले एवं खेल मंत्रालय द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है। इस भव्य आयोजन में 25 तरह के खेल आयोजित होंगे, जिनमें पांच पारंपरिक खेल जैसे गतका, कलारीपयट्टू, थांग-ता, मलखंब और योगासन शामिल हैं। ये खेल पांच स्थानों पंचकूला, अंबाला, शाहबाद, चंडीगढ़ और दिल्ली में आयोजित होंगे। खेलो इंडिया यूथ गेम्स-2021 में 8,000 से अधिक एथलीट्स भाग लेंगे। इसके अलावा लाखों दर्शक इन खेलों के गवाह बनेंगे।

OFFICE ORDER OF DEAN STUDENT WELFARE

पोषण ट्रैकर एप्लीकेशन को लेकर कार्यशाला का आयोजन

सिरसा, 07 मई।

For Detailed News


महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा पोषण ट्रैकर एप्लीकेशन को लेकर प्रशिक्षण कार्यशाला का आयोजन किया गया। कार्यशाला की अध्यक्षता महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. दर्शना सिंह ने की। इस मौके पर राज्य समन्वयक पोषण अभियान गुरनितिका कौर व लेखाकार अनीता सांगवान ने पोषण ट्रैकर एप्लीकेशन से संबंधित प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण कार्यशाला में सभी महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी, सुपरवाईजर व आंगनवाड़ी वर्कर ने भाग लिया।


राज्य समन्वयक पोषण अभियान गुरनितिका कौर ने पोषण ट्रेकर एप्लीकेशन से संबंधित प्रशिक्षण में एप पर ऑनलाइन डाटा अपलोड करने से संबंधित जानकारी विस्तारपूर्वक दी। उन्होंने आंगनवाड़ी वर्कर को इस पोषण ट्रेकर एप्लीकेशन संबंधी आ रही परेशानियों के बारे में विचार विमर्श किया तथा उनकी समस्या का समाधान भी करवाया। आंगनवाड़ी वर्कर को नए लाभार्थी जोड़ने बारे सिखाया गया तथा लाभार्थी का डाटा भरने संबंधी आ रही परेशानियों के बारे में भी चर्चा की गई। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम पूरे दिन का रहा। इस कार्यक्रम में 200 प्रतिभागियों ने भाग लिया।

https://propertyliquid.com/


इस प्रशिक्षण कार्यक्रम में सभी महिला एवं बाल विकास परियोजना अधिकारी, सुपरवाईजर व आंगनवाड़ी वर्कर, ब्लॉक कोऑर्डिनेटर चीना गोयल, ब्लॉक कोऑर्डिनेटर सहायक पूनम, पीएमएमवीवाई सहायक दिव्या, खुला आश्रय गृह से मंजु व आशा ने भाग लिया।