Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

उर्दू अकादमी द्वारा पंचकूला के सेक्टर 1 स्थित रेड बिशप में त्रिभाषी कवि सम्मेलन का किया गया आयोजन

– हरियाणा के मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव श्री वी. उमाशंकर ने मुख्यातिथि के रूप में की शिरकत

पंचकूला, 16 नबंवर – हरियाणा उर्दू अकादमी द्वारा पंचकूला के सेक्टर 1 स्थित रेड बिशप में आज  त्रिभाषी कवि सम्मेलन, मुशायरा एवं रूबरू कार्यक्रम- ‘शेर-ए-ऐहत्माम अजीम-उश-शान महफिल’ का आयोजन किया गया।

For Detailed News-


इस अवसर पर मुख्यमंत्री हरियाणा के प्रधान सचिव एवं सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के प्रधान सचिव श्री वी. उमाशंकर ने मुख्यातिथि के रूप में शिरकत की तथा परंपरागत दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उर्दू अकादमी के उपाध्यक्ष एवं निदेशक डाॅ. चंद्र त्रिखा भी उपस्थित थे।


त्रिभाषी कवि सम्मेलन में श्री उमाशंकर ने शायरों को शाॅल ओढ़ा कर सम्मानित किया। इस अवसर पर उन्होंने डाॅ मोहम्मद अयूब खान द्वारा उर्दू शायरी पर आधारित देवनागरी में लिखित पुस्तक ‘ग़ज़ल दर्पण’ तथा डाॅ. राम प्रताप द्वारा वाॅल पेंटिंग पर संग्रहित पुस्तक ‘द वैनिशिंग ट्रेज़र (The Vanishing Treasure) का विमोचन भी किया। श्री उमाशंकर ने कहा कि नज़म और ग़ज़ल दोनो फुरसत की विधाएं हैं। उन्होंने कहा कि शायरों के नज़में और गज़लें मोतियों की तरह होते हैं।


सम्मेलन में विभिन्न शायरों ने अपनी ग़ज़लों व नज़मों से माहौल को खुशनुमा बना दिया। शायर शम्स तबरेज़ी ने ‘कोई भी ख्वाब अब आंखों में कहां होता है, लोग कहते हैं जहां दिल है वहां होता है’ पेश की, जिसे श्रोताओं ने खूब सराहा। इसके अलावा डॉक्टर मोहम्मद अयूब खान ने ‘हादसा ये भी हुआ दरों-दीवारों के दरमियाँ, टूट कर बिखरा था कोई सूने घर के दरमियाँ,’ पंजाब के एडीजीपी मोहम्मद फयाज़ फारूकी ने ‘पड़े है चोट कभी दिल पे बना कर खिलाफ, चराग ज़ोर पकड़ता है तब हवा के खिलाफ, डाॅ. के.के.़ ऋषि ने ‘दूर अब उनके ठिकाने हो गए हैं, फिर न मिलने के बहाने हो गए हैं’ प्रस्तुत की।

https://propertyliquid.com


इस अवसर पर हरियाणा हिन्दी साहित्य अकादमी द्वारा सम्मानित श्री ज्ञान प्रकाश विवेक ने ‘मुद्दत से मिली जीस्त मुझे ढूंढ रही है, लगता है मुझे भूल रही है’, डाॅ. नवाज़ बैदी ने ‘जूते सीधे कर दिये थे एक दिन उस्ताद के, उसका बदला ये मिला कि तकदीर सीधी हो गई’ और फख्र-ए-हरियाणा डाॅ. बी.डी. हमदम कालिया ने ‘अदाएं हुस्न रूमानी बहुत हैं, निगाहें शोंक में दीवानी बहुत हैं’ पेश कर मौज़ूद लोगों की वाहवाही लूटी।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

Municipal Corporation Chandigarh extends insurance net to its employees

MCC enrolls all group D employees under PMJJBY & PMSBY

Door to door waste collectors and outsourced group D employees also covered under the scheme to provide death insurance and accidental insurance

For Detailed News-

Chandigarh, November 16:- The Municipal Corporation Chandigarh has enrolled all its group D employees under two ambitious social security schemes i.e. “Pardhan Mantri Jivan Jyoti Beema Yojna” (PMJJBY) and “Pardhan Mantri Suraksha Beema Yojna” (PMSBY).

In a function organized at Auditorium, Rani Laxmi Bai Mahila Bhawan, Sector 38, Chandigarh, the City Mayor Sh. Ravi Kant Sharma distributed enrolment letters to the 25 beneficiaries from Sanitation wing, Public Health wing and Horticulture wing, MCC.

While addressing the employees about the social security schemes, the Mayor lauded the efforts of Municipal Commissioner, Ms. Anindita Mitra, IAS for introducing and implementing the social schemes very fast. He said that last week the Commissioner came with the agenda item in the General House meeting for the social security schemes for the employees of MCC and after its approval the same has been implemented with today’s enrolment distribution function.

He said that this is a pathbreaking initative towards providing affordable universal access to essential social security protection in a convenient manner linked to auto-debit facility from the bank account of the subscriber.

He said that both the ambitious social security schemes will provide insurance cover in the unfortunate event of death by any cause or disability due to an accident. He said that the convenient delivery mechanism of the schemes is expected to address the situation of very low coverage of life or accident insurance.

The Mayor said that the PMSBY will offer a renewable one year accidental death cum disability cover of Rs. 2 lacs for partial permanent disability to all group D employees, door to door waste collectors and outsourced group D employees in the age group of 18-70 years for a premium of Rs. 12/- per annum per subscriber. While PMJJBY on the other hand will offer a renewable one year life cover of Rs. 2 lacs to all group D employees, door to door waste collectors and outsourced group D employees in the age group of 18-50 years, covering death due to any reason, for a premium of Rs. 330/- per annum per subscriber.

https://propertyliquid.com

He said that the annual premium of all the group D employees, door to door waste collectors and outsourced group D employees will be borne by the Municipal Corporation Chandigarh. It shall amount to around 24 lacs per Annum. Initially two banks i.e. Punjab National Bank and Bank of Baroda have been authorized for enrolling the employees under both the schemes.

Earlier, Sh. Arun Sood, area councilor welcomed all the dignatories including Chief Guest and listed many beneficiary schemes run by the Government of India and the important role and responsibilities of Municipal Corporation Chandigarh for implementing the same in the city beautiful.

Others present on the occasion were Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, Sh. Sanjay Tandan, Director, National Mineral Development Corporation (NDMC), Sh. Arun Sood, area councilor, other councilors and officers of MCC.

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

हरियाणा को भवन क्षेत्र में शीर्ष प्रदर्शन करने वाला ऊर्जा कुशल राज्य किया घोषित- श्री पीके दास

For Detailed News-

पंचकूला, 16 नवंबर- ऊर्जा दक्षता ब्यूरो, विद्युत मंत्रालय द्वारा जारी राज्य ऊर्जा दक्षता सूचकांक (एसईईआई), 2020 के अनुसार हरियाणा भारत में भवन क्षेत्र में ऊर्जा दक्षता में शीर्ष राज्य के रूप में उभरा है। ऊर्जा दक्षता ब्यूरो, ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार की प्रतिष्ठित वार्षिक रिपोर्ट में हरियाणा के प्रदर्शन को भारत की 30 के संभावित क्षेत्र के मुकाबले 22 के स्कोर के साथ सराहा गया है।


हरियाणा उर्जा विभाग तथा नवीन एवं नवीकरणीय उर्जा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री पी.के. दास ने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने हरियाणा में बिजली उपयोगकर्ताओं के सभी क्षेत्रों में ऊर्जा संरक्षण और ऊर्जा दक्षता पर जोर दिया है।


उन्हांेने कहा कि बीईई और संबंधित उपभोक्ताओं के साथ समन्वय में हरेडा द्वारा किए गए लगातार प्रयासों के परिणामस्वरूप हरियाणा में ऊर्जा बचत में बड़े पैमाने पर प्रगति हुई है। अन्य अच्छे प्रदर्शन करने वालों में कर्नाटक, पंजाब, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश और राजस्थान शामिल हैं।

https://propertyliqui


डॉ हनीफ कुरैशी, महानिदेशक, नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा विभाग ने बताया कि भारत में भवन क्षेत्र कुल अंतिम ऊर्जा खपत (टीएफईसी) में दूसरा सबसे बड़ा है और  2017 बेसलाइन से वर्ष 2027 तक 45 प्रतिशत तक बढ़ने का अनुमान है। एसईईआई 2020 ने इस क्षेत्र में ईई पहलों का मूल्यांकन करने के लिए 16 संकेतकों को परिभाषित किया है। ये डेटा एनर्जी कंजर्वेशन बिल्डिंग कोड (ईसीबीसी 2017), इमारतों की अनिवार्य ऊर्जा ऑडिट, ऊर्जा ऑडिट के लिए वित्तीय प्रोत्साहन, निर्माण/ रेट्रोफिट, प्रमाणित हरित भवनों को अपनाने, ईसीबीसी 2017 कार्यान्वयन का समर्थन करने के लिए संस्थागत क्षमता और इमारतों में ईई से संबंधित हैं। 300 से अधिक हरित प्रमाणित भवन हरियाणा में स्थित हैं। एलईडी लाइट वाली इमारतें, ऊर्जा ऑडिट, ईसीबीसी को अपनाना और ऊर्जा संरक्षण से संबंधित विभिन्न अन्य योजनाएं इस प्रदर्शन के लिए मुख्य चालक हैं।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

गांव चरनियां व खेडावाली में अवैध रूप से निर्माणाधीन 9 दुकानों को किया गया ध्वस्त- प्रियम भारद्वाज

– जमीन की खरीद फरोख्त से पूर्व विभाग से  जांच-पड़ताल जरूर करें- जिला नगर योजनाकार

For Detailed News-

पंचकूला, 16 नवंबर- जिला नगर योजनाकार (ई0) पंचकूला द्वारा  पैरीफेरी नियंत्रित क्षेत्र/अर्बन एरिया की राजस्व सम्पदा गांव चरनियां व खेडावाली में अवैध रूप से निर्माणाधीन 9 दुकानों को जेसीबी द्वारा तोड़ दिया गया। जिला नगर योजनाकार, पंचकूला की टीम भारी पुलिस बल व जेसीबी के साथ गांव चरनियां व खेडावाली पहंुची।


इस कार्यवाही में जिला नगर योजनाकार श्रीमती प्रियम भारद्वाज व श्री देवेन्द्र राठी, एसडीई, कंस्ट्रक्शन डिविजन हरियाणा, पीडब्ल्यूडी, कालका बतौर ड्यूटी मैजिस्ट्रेट तथा जिला नगर योजनाकार (ई0), पंचकूला से कनिष्ठ अभियंता श्री दीपक व कनिष्ठ अभियंता श्री सचिन भी मौके पर मौजूद थे।  

https://propertyliqu


जिला नगर योजनाकार श्रीमती प्रियम भारद्वाज ने बताया कि अवैध निर्माण को हटाने से पहले नोटिस भी दिए गए थे लेकिन इस निर्माण को नहीं हटाया गया, जिस कारण विभाग को यह कार्रवाई करनी पड़ी। उन्होंने बताया कि जमीन की खरीद फरोख्त से पूर्व विभाग से जांच-पड़ताल जरूर करें ताकि लोगांें की कड़ी मेहनत का पैसा बर्बाद न हो तथा अवैध निर्माण पर रोक लग सकेें।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

Procession at PU on winning MAKA Trophy

Chandigarh November 16, 2021

For Detailed News-

Panjab University, Chandigarh took out a procession on winning Maulana Abul Kalam Azad (MAKA), here today, which was graced by Prof. Raj Kumar, Vice Chancellor (VC) and all Senior PU Officials, Sports Coaches, Administrative & Ground Staff of the Directorate of Sports, students and staff.

            PU VC congratulated all for this incredible achievement and assured all possible facilities to be provided to the sports persons for achieving still more in the field of sports.

            The procession was for making a hat trick for MAKA after winning the trophy for the year 2019-20, 2020-21. Earlier, in 2019 also, PU won the trophy. PU made hat trick after a long span of 50 years.

            The procession started from the office of Vice-Chancellor, PU amidst beats of dhol and bhangra by students and staff of PU. The MAKA trophy was taken on an open flower laden jeep with PU VC, Prof. Prashant Gautam, Director, Physical Education and Sports, Sh. Vikram Nayyar, officiating Registrar and Finance & Development Officer, Prof. Anju Suri, Dean College Development Council, Prof. S.K. Tomar, Dean Research, Sh. Rakesh Malik, Deputy Director of Sports and Ms. Neeru Malik, PU Fellow.

https://propertyliqui

Throughout the procession, huge number of employees were present for cheering up the officials carrying the MAKA Trophy. The sweets were also distributed on the occasion.

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना का लाभ लेने के लिए शादी से दो माह पहले आवेदन करना जरूरी : उपायुक्त अनीश यादव

– योजना के तहत बेटी के विवाह पर कन्यादान स्वरूप दिए जाते हैं 71 हजार रुपये : उपायुक्त


– चालू वित्त वर्ष में एक हजार 79 लाभार्थियों को दी जा चुकी है तीन करोड़ 71 लाख 53 हजार की राशि


सिरसा, 16 नवंबर।

For Detailed News-


हरियाणा सरकार ने मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति तथा टपरिवास समुदाय के परिवारों को लड़की के विवाह के अवसर पर कन्यादान के तौर पर अब 71 हजार रुपये की राशि दी जाएगी। योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी को शादी से दो माह पूर्व आवेदन करना जरूरी है। चालू वित्त वर्ष में एक हजार 79 लाभार्थियों को तीन करोड़ 71 लाख 53 हजार की राशि दी जा चुकी है।


उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि ने बताया कि अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग कल्याण विभाग द्वारा गरीब एवं जरूरतमंद लोगों के कल्याणार्थ विभिन्न योजनाएं एवं कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। विभाग द्वारा मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना के तहत अनुसूचित जाति/जनजाति तथा टपरिवास समुदाय के लोग जो गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करते हैं, उनकी लड़कियों की शादी के अवसर पर दी जाने वाली शगुन की राशि 71 हजार रुपये है। योजना के तहत शगुन के तौर 66 हजार रुपये की राशि शादी के अवसर पर या उससे पहले तथा 5 हजार रुपये की राशि शादी का रजिस्ट्रेशन प्रमाण पत्र जमा करवाने के उपरांत 6 महीने के भीतर दी जाती है।

https://propertyliqui


जिला कल्याण अधिकारी सुशील शर्मा ने बताया कि इसी प्रकार मुख्यमंत्री विवाह शगुन योजना के तहत जिला के गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों को मिलने वाली शगुन की राशि 31 हजार रुपये है। बीपीएल परिवारों की लड़कियों को उनकी शादी के अवसर पर या उससे पहले 28 हजार रुपये तथा 3 हजार रुपये की राशि शादी का पंजीकरण जमा कराने के उपरांत दी जाएगी। इसी प्रकार राज्य सरकार द्वारा अनुसूचित जाति और पिछड़ा वर्ग के उन परिवारों जिनकी सालाना आमदनी एक लाख 80 हजार से कम है उन्हे भी कन्यादान के तौर पर 31 हजार दिए जा रहें है। इस योजना के संदर्भ में अधिक जानकारी के लिए लघु सचिवालय स्थित जिला कल्याण अधिकारी कार्यालय में संपर्क किया जा सकता है।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

अब एक ही एप के माध्यम सेे ले सकेंगे सभी सरकारी सेवाओं का लाभ : उपायुक्त अनीश यादव

सिरसा, 16 नवंबर।


प्रदेश सरकार द्वारा दी जाने वाली सेवाएं और सूचनाएं अब एक ही एप के माध्यम से मोबाइल पर ही प्राप्त की जा सकती है। इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा जन सहायक हेल्प मी एप शुरू किया हुआ है।
उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि सरकार द्वारा शुरू की गई जन सहायक हेल्प मी एप के माध्यम से आम नागरिकों को सभी सरकारी सेवाएं और सूचनाएं मोबाइल फोन पर ही उपलब्ध होंगी। यह सेवाएं आप घर पर मौजूद रहते हुए ही एप के माध्यम से देख सकते हैं और योजनाओं का फायदा उठा सकते हैं। इसके लिए जिलावासी मोबाइल पर जनसहायक एप डाउनलोड कर सकते हैं। एप का इस्तेमाल करने के लिए मोबाइल नंबर या परिवार पहचान पत्र के द्वारा रजिस्ट्रेशन करवाना जरूरी है। उन्होंने बताया कि नागरिकों को विभाग अनुसार एवं सरल पोर्टल पर उपलब्ध सेवाओं की जानकारी जन सहायक एप पर मिलेगी।

For Detailed News-


उन्होंने बताया कि 112 आपातकालीन सेवाएं, 100 पुलिस, 108 एंबुलेंस, 101 अग्निशमन, 104 स्वास्थ्य, 1091 महिला हेल्पलाइन, 1098 बाल हेल्पलाइन, 1075 कोविड-19 हेल्पलाइन सहित अन्य सेवाओं के रूप में निविदाएं, बिल भुगतान, यात्रा, नौकरियां, खेल, आधारभूत संरचना व कौशल विकास और सरल सेवाएं, विभागवार सेवाएं, यूजर्स सेवाएं व जन शिकायत एवं आरटीआई आदि सभी प्रकार की सेवाएं व सूचनाएं जन सहायक एप पर उपलब्ध हैं। साथ ही एप पर नवीनतम समाचार, कैलेंडर एवं कार्यक्रम, सरकार की नवीनतम उपलब्धियां और घोषणाओं सहित सरकारी दूरभाष निर्देशिका भी मौजूद है, जिसका प्रयोग लोग अपने मोबाइल फोन के माध्यम से उठा सकते हैं।


उपायुक्त ने बताया कि जन सहायक एप के माध्यम से सरकार द्वारा किसी विशेष जिला, आयु वर्ग आदि के नागरिकों को नोटिफिकेशन भेजी जा सकती है। जन सहायक एप पर रजिस्ट्रेशन करवाकर सरकार की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ उठाया जा सकता है। इस जनसहायक एप के माध्यम से सरकार द्वारा दी जा रही सेवाओं पर नागरिक अपने सुझाव भी दे सकते हैं। साथ ही प्राप्त सुझावों का विश्लेषण कर विभागों की सेवा प्रदायगी को और उत्कृष्ट बनाया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हरियाणा जनसहायक एप की मदद से राज्य के नागरिकों को सूखा राशन वितरण, बना बनाया भोजन, डॉक्टर, पढ़ाई, कहीं पर आने-जाने के लिए पास, वित्तीय मदद, सिलेंडर, एम्बुलेंस सहित अन्य विभिन्न सुविधाएं उपलब्ध करवाने का विकल्प भी है। एप के माध्यम से किसी व्यक्ति द्वारा किसी भी सेवा के लिए अनुरोध किये जाने पर तुरंत संबंधित जिला के संबंधित अधिकारी को आवश्यक कार्रवाई के लिए भेज दिया जाता है। स्वयं सेवी संस्थाएं तथा समर्थ नागरिक एवं परिवार इस एप के माध्यम से पंजीकरण करवा कर जरूरतमंद लोगों को मदद पहुंचा सकते हैं। इस एप के माध्यम से घर से ही मोबाइल बैंकिंग एप के द्वारा नकदी की निकासी के लिए भी आवेदन किया जा सकता है।

https://propertyliqui


उन्होंने बताया कि सभी इच्छुक नागरिक जो जनसहायक मोबाइल एप को डाउनलोड करना चाहते हैं वे गूगल प्ले स्टोर से एप को डाउनलोड कर लें। मोबाइल ऐप के इंस्टॉल होने के बाद एप को ओपन करके भाषा का चयन करें। इसके बाद 10 अंको का मोबाइल नंबर दर्ज करके बटन पर क्लिक कर दें। एक ओटीपी सत्यापन कोड प्राप्त होगा जिसके निर्धारित स्थान में दर्ज करके मोबाइल नंबर को सत्यापित कर ले। मोबाइल नंबर के सफलतापूर्वक सत्यापित होने के बाद एप के माध्यम से सेवाओं के लिए अनुरोध किया जा सकता है।