Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

Odd Semester Exam Planned for Offline Mode

Chandigarh November 15, 2021

For Detailed News-

The Panjab University authorities have planned to hold the forthcoming odd semester December 2021 examinations in offline mode and started the preparation for the same, informed Dr Jagat Bhushan, Controller of Examinations.

https://propertyliqui

The practicals of undergraduate courses will be conducted between 17th to 21st December, 2021 and postgraduate courses will be conducted between 20th to 24th December, 2021.  The theory exams of undergraduate courses will start w.e.f. 22nd December and postgraduate courses will start from 27th December, 2021. 

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

Mayor & Commissioner visits Dumping site Dadumajra

For Detailed News-

Chandigarh, November 15:- Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor and Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Chandigarh visited dumping site Dadumajra, here today. They were accompanied by concerned senior officers of MCC.

The visit was conducted in order to monitor and to take stock of the work progress in the dumping site and the mining of waste garbage processing plant. The Mayor and Commissioner reviewed the progress of the work and the contractor was instructed to speed up the work of the on site. Further, the sanitary landfill site was also visited and the Commissioner instructed the contractor to construct the boundary wall faster.

The chief engineer explained how legacy waste is of three categories i.e Construction and Demolition waste (C and D waste), Municipal Solid Waste and Industrial Waste used for refuse derived fuel (RDF) and fiber work. Through conveyor belts and other machines, separation and segregation become an easy task for processing the same.

https://propertyliquid.com

The team also visited garbage processing plant to take stock of the processing of garbage and enquired about the daily processing of compost plant.

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

Mayor laid foundation stone of finishing work at Community centre at sector 52

Listens issues of local residents at “Nigam Aapke Dwar” programme

For Detailed News-

Chandigarh, November 15:- Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor, Chandigarh has laid the foundation stone of finishing work of community centre in sector 52, here today in the presence of Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, MCC, Smt. Chanderawati Shukla, area councilor and other prominent persons of the area.

Spread over 2.13 acre of plot area, the finishing work of the community centre involves hall for gathering for 500 persons, bridal room, dormitory, caretaker office, sampark centre at ground floor, gym/indoor games, library hall, meeting room and office hall etc. at first floor besides providing parking facility for nearly 210 cars at an estimated cost of Rs. 3.30 crores.

In addition to that the Mayor also laid foundation stone of providing parking 80mm thick paver blocks over 4” thick vet mixed macadam and 6” thick GSB along green belt, village Kajehri, sector 52, Chandigarh having area 2241 square meter at an estimated cost of Rs. 31.48 lacs.

After laying the foundation stone for both the works, the Mayor and senior officers alongwith area councillor hold “Nigam Aapke Dwar” programme at civil dispensary, Sector 52, where local ward residents lauded the work done by the Municipal Corporation Chandigarh recently.

The Mayor assured the local residents for better basic amenities and infrastructure in the area. He said that with the provision of Community centre having capacity of 500 persons in the hall, the local residents need not to go far from their houses to get their social functions organized.

The Mayor said that parking of vehicles along the green belt in village Kajaheri was a big problem earlier, now with the provision of proper parking space, local residents will get ease of parking over there.

https://propertyliquid.com

Besides this, the Mayor inaugurated open air gym at a park in sector 22-B, Chandigarh and laid foundation stone of toilet block in Nehru park, Sector 22, Chandigarh.

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

Mayor & Commissioner take stock of Gaushala work progress at Raipur Kalan

For Detailed News-

Chandigarh, November 15:- Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor and Ms. Anindita Mitra, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Chandigarh today visited the construction site of Gaushala at Raipur Kalan, Chandigarh.


The Mayor and Commissioner took round of the construction site of gaushala and ABC center. The Commissioner instructed the concerned engineers to speed up the work to complete the project in stipulated time frame.


The work of three sheds including healthy cow shed, heifer shed and pregnant cow shed to accommodate nearly 1000 cows have been completed except brick on edge flooring and roof sheeting. the work of water supply, sewer work completed in existing sheds, except sump and storm work. The conduit pipe done in existing sheds and wiring work yet to be done at phase I of the gaushala.


The Commissioner instructed the chief engineer to complete the balance work at phase I including provision for electrical services, horticulture, pellet making machine and construction of vetnary hospital, sick animal shed, fodder shed, finishing of toilet blocks and labour huts.
She further asked to prepare plans for developing phase 2 of the gaushala having 6.82 acre of plot area.

https://propertyliquid.com

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

प्राथमिक प्रशिक्षण केंद्र, भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के 60वें स्थापना दिवस परेड का किया आयोजन

For Detailed News-

पंचकूला, 15 नवंबर- प्राथमिक प्रशिक्षण केंद्र, भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के 60वें स्थापना दिवस परेड का आयोजन प्राथमिक प्रशिक्षण केन्द्रय के प्रागंण में आयोजित किया गया। श्री पी0 एस0 पापटा, महानिरीक्षक, भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल द्वारा परेड की सलामी ली गई तथा परेड में श्री राजेश शर्मा उप महानिरीक्षक प्राथमिक प्रशिक्षण केंद्र, भी उपस्थित थे। तत्पश्चात बल के लिए उत्कृष्ट कार्य करने पर 05 पदाधिकारियों को प्रशस्ति पत्र एवं गोल्ड तथा सिल्वर डिस्क प्रदान किए गए।

https://propertyliquid.com


महानिदेशक, भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल द्वारा इस केंद्र में तैनात श्री रविंद्र पूनिया, सहायक सेनानीध्जीडी को वर्ष 2019 में नक्सल प्रभावित क्षेत्र में नक्सलवादियों से मुठभेड़ के दौरान नक्सलियों को मार गिराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने पर एवं श्री अक्षय आहूजा, सहायक सेनानी/जीडी को वर्ष 2020 में लद्दाख पैंगोंग टीएसओ झील के फिंगर एरिया में भारत चीन सीमा विवाद में भारतीय सुरक्षा बलों एवं चीनी सुरक्षा बलों के बीच हुई मुठभेड़ के दौरान सराहनीय कार्य करने पर पुलिस मेडल वित ळंससंदजतल (पीएमजी)  से सम्मानित किया गया।


इस अवसर पर मेले का आयोजन किया गया, जिसका शुभारंभ श्री मनोज सिंह रावत, अपर महानिदेशक (।क्ळ), द्वारा किया गया । मेले में बच्चों के लिए ड्राइंग, फैंसी ड्रेस एवं गुब्बारा फोड़ना तथा महिलाओं के लिए रंगोली, बास्केट बॉल फेंकना, म्यूजिकल चेयर रेस तथा पुरुषों के लिए मूछ, स्लो साइकिलिंग एवं रस्साकसी प्रतियोगिताओं एवं अंत म डाॅग शो का आयोजन किया गया। प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान पाने वाले पदाधिकारियों को मुख्य अतिथि द्वारा पुरस्कृत किया गया तथा बच्चों एवं महिलाओं की प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय स्थान प्राप्त करने पर श्रीमती मधु पापटा द्वारा पुरस्कृत किया गया।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

इंडिया स्किल्स 2021 उत्तरी क्षेत्रीय प्रतियोगिता का आज से शुभारम्भ

-प्रतियोगिता में 8 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के उम्मीदवार 45 से अधिक कौशल में करेंगे प्रदर्शन

– प्रतियोगिताएं 16-17 नवंबर को आयोजित की जाएंगी, 18 नवंबर को होगा समापन समारोह

-युवा विजेता इंडिया स्किल्स 2021 राष्ट्रीय प्रतियोगिता में करेंगे प्रवेश

-अक्टूबर 2022 में शंघाई में होने वाली वर्ल्ड स्किल्स इंटरनेशनल प्रतियोगिता में भाग लेने का मिलेगा अवसर

For Detailed News-

पंचकुला, 15 नवंबर- राष्ट्रीय कौशल विकास निगम द्वारा आयोजित, इंडिया स्किल्स 2021 क्षेत्रीय प्रतियोगिता-उत्तर, आज इंद्रधनुष सभागार, सेक्टर 5 पंचकुला में एक उद्घाटन समारोह के साथ शुरू हुई। यह प्रतियोगिता आठ राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों- चंडीगढ़, दिल्ली, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर, पंजाब, उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश के 450 से अधिक प्रतिभागियों के प्रदर्शन की साक्षी बनेगी। इंडिया स्किल्स देश की सबसे बड़ी कौशल प्रतियोगिता है जो उत्कृष्टता के लिए प्रयास करती है, कुशल और प्रतिभाशाली युवाओं की खोज करती है, और उन्हें एक वैश्विक मंच के लिए तराशती है।

आज इस कार्यक्रम का उद्घाटन पंजाब के राज्यपाल और केंद्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के प्रशासक श्री बनवारी लाल पुरोहित ने किया। इस अवसर पर श्री दिलीप कुमार, आईएएस, प्रमुख सचिव रोजगार सृजन, कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण, पंजाब, श्री सरप्रीत सिंह गिल, आईएएस, सचिव तकनीकी शिक्षा, चंडीगढ़, उपायुक्त  पंचकूला श्री विनय प्रताप सिंह, प्रकाश शर्मा, निदेशक, वर्ल्डस्किल्स इंडिया, और जयकांत सिंह, सीनियर हेड, वर्ल्ड स्किल्स इंडिया भी उपस्थित रहे।

19 से 24 वर्ष की आयु के युवा प्रतिभागी, ऑटोबॉडी रिपेयर, ब्यूटी थेरेपी, पेंटिंग और डेकोरेटिंग, वेल्डिंग, मोबाइल रोबोटिक्स, पेटिसरी और कन्फेक्शनरी, स्वास्थ्य और सामाजिक देखभाल, प्लंबिंग और हीटिंग, वॉल और फ्लोर टाइलिंग, कंक्रीट निर्माण कार्य, साइबर सुरक्षा, कारपेन्टरी और अन्य सहित 45 से अधिक कौशल में प्रतिस्पर्धा करेंगे। कौशल प्रतियोगिताएं चंडीगढ़ (12), हिमाचल प्रदेश (1) और उत्तर प्रदेश (1) में 14 सहयोगी संस्थानों (पीआई) में आयोजित की जाएंगी।

https://propertyliquid.com

इस प्रतियोगिता में कुल 458 प्रतिभागी हिस्सा ले रहे हैं, जिनमें चण्डीगढ़ से 68 प्रतिभागी, दिल्ली से 59, हरियाणा से 57, हिमाचल प्रदेश से 16, जम्मू और कश्मीर से 18, पंजाब से 88, उत्तराखण्ड से 35, उत्तरप्रदेश से 52 के अलावा वाइल्डकार्ड/नामांकन के 65 प्रतिभागी शामिल हैं।

प्रतियोगिताएं 16-17 नवंबर को आयोजित की जाएंगी, जिसके बाद 18 नवंबर को समापन समारोह में प्रत्येक कौशल में दो विजेताओं (एक स्वर्ण और एक रजत) को सम्मानित किया जाएगा।

इंडिया स्किल्स को देश में कौशल के उच्चतम मानक को प्रदर्शित करने और युवाओं के लिए व्यावसायिक प्रशिक्षण को आकांक्षी बनाने के लिए डिजाइन किया गया है। इंडिया स्किल्स 2021 उत्तर के विजेता अन्य क्षेत्रीय प्रतियोगिताओं- पूर्व (पटना), पश्चिम (गांधीनगर) और दक्षिण (विशाखापत्तनम) के स्वर्ण और रजत पदक विजेताओं के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे। इसके बाद दिसंबर 2021 में बैंगलोर (कर्नाटक) में एक राष्ट्रीय प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। इन प्रतियोगिताओं के अंतिम प्रतिभागियों को 2022 में वर्ल्डस्किल्स शंघाई, चीन में भारत का प्रतिनिधित्व करने से पहले लगभग नौ महीने के कठिन प्रशिक्षण से गुजरना होगा।

इस अवसर पर संबोधित करते हुए पंजाब के राज्यपाल एवं केन्द्रीय शासित प्रदेश चण्डीगढ़ के प्रशासक श्री बनवारीलाल पुरोहित ने कहा कि ‘इंडिया स्किल्स केवल एक प्रतियोगिता नहीं है, यह एक अनूठा प्लेटफार्म है जो हमें देश के दूर-दराज के हिस्सों से युवा प्रतिभाओं को खोजने का अवसर प्रदान करता है, कौशल को आकांक्षी और युवाओं को सशक्त बनाता है। उन्होंने कहा कि यह प्रतियोगिता भारत की क्षमताओं को दुनिया के सामने प्रदर्शित करने में सक्षम बनाती है और उभरती प्रौद्योगिकियों और प्रगति को सीखने-समझने की सुविधा प्रदान करती है। यह द्विवार्षिक कार्यक्रम युवाओं, सरकारों, उद्योग निकायों, समुदायों, संस्थानों और शिक्षकों को एक प्रतिस्पर्धी प्लेटफार्म देकर आज की युवा प्रतिभाओं को कल की चुनौतियों के लिए तैयार करने में मदद करने के लिए एक साथ लाता है।

इस अवसर पर पंजाब के रोजगार सृजन, कौशल विकास और औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के प्रमुख सचिव श्री दिलीप कुमार ने कहा कि मुझे विश्वास है कि इंडिया स्किल्स प्रतियोगिता युवाओं को कौशल के लिए प्रोत्साहित करने, उत्कृष्टता प्राप्त करने और विश्व स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करने का अवसर तलाशने के लिए प्रेरित करेगी। उन्होंने कहा कि कौशल प्रशिक्षण को वैश्विक प्रशिक्षण मानकों के साथ जोड़कर युवा उम्मीदवारों का समर्थन करने में हमारे उद्योग भागीदारों और प्रशिक्षकों द्वारा प्रदर्शित समर्पण का स्तर कौशल विकास के बेंचमार्क को बढ़ाएगा। इस तरह की प्रतियोगिताएँ सरकारों, उद्योग और शिक्षाविदों के बीच सहयोग की सुविधा भी प्रदान करती हैं।

चंडीगढ तकनीकी शिक्षा के सचिव श्री सरप्रीत सिंह गिल ने कहा कि  “इंडिया स्किल्स 2021 में सात न्यू-एज स्किल्स की शुरूआत होना उत्साहजनक है क्योंकि यह दर्शाता है कि प्रतिस्पर्धा विशेष रूप से कोविड -19 महामारी के बीच और बाद में लगातार बदलती तकनीकों और जॉब मार्केट के अनुकूल है। भारत में एक युवा कार्यबल है और हमें इसे पर्याप्त अवसर प्रदान करने के लिए अपने स्किलिंग, रीस्किलिंग और अपस्किलिंग के प्रयासों को आगे बढ़ाना चाहिए जिससे इसे रोजगार योग्य बनाया जा सके और भारतीय अर्थव्यवस्था को मजबूत करने में महत्वपूर्ण योगदान मिल सके”।

निदेशक, वर्ल्डस्किल्स इंडिया प्रकाश शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय कौशल विकास निगम अपने ‘स्किल इंडिया’ मिशन को कुशल और सक्रिय बनाने की दिशा में भारत सरकार की कई पहलों का दायित्व निभा रही है। इंडियास्किल्स प्रतियोगिता एक ऐसी पहल है जो न केवल कुशल और प्रतिभाशाली युवाओं की पहचान करती है बल्कि एक मंच पर सर्वश्रेष्ठ लाकर और उन्हें अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अपने साथियों का सामना करने के लिए ढालकर देश के स्किल इकोसिस्टम में योगदान देती है। क्षेत्रीय और राष्ट्रीय प्रतियोगिताएं वर्ल्डस्किल्स शंघाई 2022 में भारत का प्रतिनिधित्व करने वाले सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागियों को खोजने में मदद करेंगी।

अगस्त-सितंबर 2021 में जिला/क्लस्टर और राज्य स्तर पर आयोजित प्रतियोगिताओं के माध्यम से क्षेत्रीय प्रतियोगितओं के लिए प्रतिभागियों का चयन किया गया है, जिसमें 250,000 से अधिक पंजीकरण दर्ज किए गए हैं। इस वर्ष, इंडियास्किल्स क्षेत्रीय प्रतियोगिताएं चार क्षेत्रों के 30 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के 1,500 प्रतिभागियों को एक साथ लाएंगी। पटना और गांधीनगर ने इंडिया स्किल्स रीजनल के पूर्वी और पश्चिमी प्रतियोगिता को सफलतापूर्वक पूरा किया। चंडीगढ़ इंडिया स्किल्स क्षेत्रीय प्रतियोगिता – उत्तर की मेजबानी के लिए तैयार है, और इसके बाद विशाखापत्तनम (दक्षिण) में क्षेत्रीय प्रतियोगिता आयोजित होगी। क्षेत्रीय प्रतियोगिताओं के बाद, इंडियास्किल्स राष्ट्रीय प्रतियोगिता दिसंबर 2021 में बेंगलुरु, कर्नाटक में आयोजित की जाएगी। इंडिया स्किल्स राष्ट्रीय प्रतियोगिता के विजेता अक्टूबर 2022 में वर्ल्डस्किल्स शंघाई में भारत का प्रतिनिधित्व करने के लिए प्रशिक्षण से गुजरेंगे।

इन प्रतियोगिताओं के दौरान, प्रतिभागियों को बूट कैंप और प्रोजेक्ट-आधारित प्रशिक्षण, उद्योग और कॉर्पोरेट प्रशिक्षण, उद्योगों के लिए एक्सपोजर विजिट, माइंड कोचिंग और व्यक्तित्व विकास जैसे कार्यक्रमों के माध्यम से बहु-स्तरीय उद्योग प्रशिक्षण मिलता है। एनएसडीसी, अपने क्षेत्र कौशल परिषदों (एसएससी) और सहयोगी संस्थानों के माध्यम से, उम्मीदवारों को प्रतियोगिताओं के लिए और भविष्य के प्रयासों के लिए भी प्रशिक्षित करता है।

एनएसडीसी विश्व कौशल प्रतियोगिताओं में भारत की भागीदारी का नेतृत्व कर रहा है। वर्ल्ड स्किल्स, कौशल उत्कृष्टता के लिए स्वर्ण मानक, एक द्विवार्षिक कार्यक्रम है जिसमें 80 से अधिक देशों की भागीदारी दर्ज है। दुनिया भर के कुशल और प्रतिभाशाली युवा कई ट्रेडों में अंतरराष्ट्रीय मंच पर प्रतिस्पर्धा करते हैं। 2019 में रूस के कज़ान में आयोजित वर्ल्डस्किल्स के पिछले संस्करण में, भारत वैश्विक आयोजन में भाग लेने वाले 63 देशों में से 13 वें स्थान पर था। इसमें 1,350 से अधिक उम्मीदवारों ने 56 कौशल में भाग लिया, और टीम इंडिया ने चार पदक-एक स्वर्ण, एक रजत, दो कांस्य पदक के साथ-साथ 15 उत्कृष्टता पदक जीतकर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दिया।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

COPD 2nd Largest killer after Heart Problems & Cancer worldwide. – Dr. Sunny Virdi

·        India needs a National COPD prevention & control Program says Dr Vishal Sharma

·        COPD causes more deaths than AIDS, TB, Malaria & Diabetes all Put Together. – Dr Sunny Virdi

·        COPD prevalence is around 5.5 to 7.55% in India- Dr Vishal Sharma

·        Tobacco & Smoke are the main Cause of COPD Deaths – Dr Sunny Virdi

·        Another Graving fact is in India 99.15 % of the people have never heard of word COPD says experts.

For Detailed News-

Chandigarh 15 November, 2021: In order to create awareness on Chronic Obstructive Pulmonary disease (COPD), a team of Doctors from Alchemist-Ojas Hospitals Panchkula shared various facts and myths regarding diseases related with lungs. Present on the occasion were Dr Sunny Virdi & Dr Vishal Sharma Consultant Pulmonary Medicine from Alchemist Hospital Panchkula.

 You may have COPD –Increased breathlessnessFrequent coughing (with and without sputum)WheezingTightness in the chest 

 Throughout the world millions of people are affected by COPD Diseases emphysema, chronic bronchitis, refractory (non-reversible) asthma, and some forms of bronchiectasis.  Chronic Obstructive Pulmonary Disease (COPD) is an umbrella term used to describe progressive lung diseases. This disease is characterized by increasing breathlessness.

https://propertyliquid.com

Shedding light on the ailment Chronic Obstructive Pulmonary Disease (COPDand its treatments, Dr. Sunny Virdi, Consultant AlchemistOjas Hospital Panchkula said, “COPD 2nd Largest killer after Heart Problems & Cancer worldwide and India has become COPD Capital of World. Many people mistake their increased breathlessness and coughing as a normal part of aging. In the early stages of the disease, you may not notice the symptoms. COPD can develop for years without noticeable shortness of breath. You begin to see the symptoms in the more developed stages of the disease. Chronic obstructive pulmonary disease (COPD) is a progressive form of lung disease ranging from mild to severe. It is characterized by a restriction of airflow into and out of the lungs that makes breathing difficult. “

Sharing his experience Dr Vishal Sharma Consultant Pulmonology, Alchemist Hospital Panchkula said “COPD most often occurs in people 40 years of age and older who have a history of smoking. These may be individuals who are current or former smokers. Not everybody but most of the individuals who have COPD (about 90% of them) have smoked. COPD can also occur in those who have had long-term contact with harmful lung irritants in the workplace like chemicals, dust, or fumes, organic cooking fuel, may also cause COPD. Even if an individual has never smoked or been exposed to pollutants for an extended period of time, they can still develop COPD.  ‘COPD prevalence is around 5.5 to 7.55% in Indian. ’ Recent studies suggest prevalence rate of COPD in males is as high as 22%  in men and 19% in females.

On this occasion Dr Sunny Virdi also said “Many sufferers have trouble walking short distances and are especially susceptible to illness and pneumonia. Often, sufferers need oxygen support 24 hours per day. If you show signs of emphysema or chronic bronchitis you may have COPD. The long-term effects of COPD result in an enlargement of the right side of the heart and eventual death.” There is no permanent cure for COPD, but treatment options are available to prevent more damage and improve quality of life.’’

Dr Sunny Virdi further added, ‘’Also, as the temperature drops, people having COPD are more prone to illness. The symptom becomes more aggravated during colder weather. The effects of cold weather on the lungs can be extreme and chronic exposure to cold environments is known to cause dramatic changes to the respiratory system. If a COPD patient develops COVID , it really life threatening.

The lungs provide oxygen to the bloodstream and the heart pumps blood, delivering oxygen to various parts throughout the body. With an onset of low to extreme temperatures blood vessels begin to narrow, restricting blood flow and depriving the heart of oxygen. The heart is forced to pump harder, which ultimately increases blood pressure. In mild winters particularly, the largest strain on the respiratory system can be found, leading to a higher rate of cold-related mortality among the elderly. That’s why it is important that you talk to your doctor as soon as you notice any of these symptoms. Ask your doctor about taking a spirometry (Pulmonary Function Test) test. ‘’

https://propertyliquid.com

 ‘’Early screening can identify COPD before major loss of lung function occurs. Most cases of COPD are caused by inhaling pollutants; that includes smoking (cigarettes, pipes, cigars, etc.), and second-hand smoke. Fumes, chemicals and dust found in many work environments are contributing factors for many individuals who develop COPD.

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

शहीद भगत सिंह स्टेडियम में 20 नवंबर को लगाया जाएगा ड्राइव-इन टीकाकरण शिविर

सिरसा, 15 नवंबर।

For Detailed News-


कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के तहत जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से 20 नवंबर (शनिवार) को स्थानीय शहीद भगत सिंह स्टेडियम में ड्राइव-इन टीकाकरण शिविर का आयोजन किया जाएगा।


जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव लाल बहादुर बैनीवाल ने बताया कि उपायुक्त अनीश यादव के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से वैक्सीनेशन के शत प्रतिशत लक्ष्य को प्राप्त करने की कड़ी में 20 नवंबर को दो चरणों में प्रात: 9.30 बजे से साढ़े 12.30 बजे तथा शाम को 03.00 बजे से 05.30 बजे तक लगाया जाएगा।

https://propertyliquid.com


उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना से बचाव के लिए जगह-जगह पर कैंप लगाकर लोगों का टीकाकरण किया जा रहा है। शिविर में कोविड-19 नियमों का पालन की जाएगी। शिविर में दो प्रकार की वैक्सीनेशन कोविशील्ड व कोवैक्सिन उपलब्ध रहेगी। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन लगवाना जरूरी है, इसलिए अधिक से अधिक नागरिक उक्त शिविर में पहुंचकर वैक्सीनेशन का लाभ उठाएं।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

अनुमोदित कस्टम हायरिंग सेंटर 22 नवंबर तक ऑफलाइन जमा करवाएं बिल

सिरसा, 15 नवंबर।

For Detailed News-


फसल अवशेष प्रबंधन स्कीम के तहत अनुमोदित जिन कस्टम हायरिंग सेंटर ने ऑनलाइन 10 नवंबर 2021 तक अपलोड कर दिए थे, ऐसे अनुमोदित कस्टम हायरिंग सेंटर अपने बचे हुए बिल 22 नवंबर 2021 तक ऑफलाइन सहायक कृषि अभियंता सिरसा के कार्यालय में जमा करवाए।

https://propertyliquid.com


सहायक कृषि अभियंता गोपी राम ने बताया कि कस्टम हायरिंग सेंटर अपने कृषि यंत्र/मशीनों का बिल, ई-बिल, मशीन के साथ किसान की फोटो (जीपीएस लोकेशन) तथा शपथ पत्र 22 नवंबर तक किसी भी कार्य दिवस जमा करवाए। जिला स्तरीय कमेटी द्वारा विभागीय मापदंड पूरे करने वाले आवेदकों को स्वीकार किया जाएगा। कस्टम हायरिंग सेंटर का सभी सदस्यों का आधार कार्ड, कस्टम हायरिंग सेंटर का पैन कार्ड, चालू बैंक खाता, वैद्य ट्रेक्टर की आरसी, सदस्यों का मेरी फसल मेरा-ब्योरा का पंजीकरण, कृषि योग्य भूमि के लिए (स्वयं या किसान के माता/पिता/पती/पत्नी/बेटा/बेटी के नाम) पटवारी रिपोर्ट, शपत पत्र, शैड का किरायानामा का होना आवश्यक है। सभी दस्तावेज बिल सहित कार्यालय मे भी जमा करावाएं।

Director, ICAR-NBAGR, Karnal Addresses a Webinar on "Animal Genetic Resources of India"

सीएम विंडो पर कोई भी शिकायत न रहे लंबित, निर्धारित समयावधि में करें समाधान : उपायुक्त अनीश यादव

– उपायुक्त ने ई-ऑफिस प्रणाली की प्रगति व सीएम विंडो पर आई शिकायतों की समीक्षा की


सिरसा, 15 नवंबर।

For Detailed News-


उपायुक्त अनीश यादव ने कहा कि सीएम विंडो पर आई शिकायतों को अधिकारी गंभीरता से लेते हुए इस कार्य में तेजी लाएं। जिस भी विभाग से संबंधित सीएम विंडो की पैंडेंसी है तो उसका जल्द से जल्द निपटान करें। किसी भी प्रकार की कोताही को सहन नहीं किया जाएगा, इसलिए सीएम विंडो पर आने वाली शिकायतों को गंभीरता से लें और लंबित शिकायतों का जल्द से जल्द निपटान करें तथा शिकायतकर्ता को संतुष्ट करके एटीआर अपलोड करवाएं।


उपायुक्त सोमवार को स्थानीय लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में ई-ऑफिस प्रणाली व सीएम विंडो को लेकर विभागाध्यक्षों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में उपायुक्त ने विभागवार प्रगति की समीक्षा की और अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। बैठक में एसडीएम सिरसा जयवीर यादव, एसडीएम डबवाली राजेश पुनिया, नगराधीश गौरव गुप्ता, उप पुलिस अधीक्षक आर्यन, सीएमजीजीए रोमिल होतवानी, कुनाल चौहान, सिविल सर्जन डा. मुनीश बंसल, जिला शिक्षा अधिकारी संत कुमार, उप सिविल सर्जन डा. बुधराम सहित सभी विभागाध्यक्ष मौजूद थे।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने सीएम विंडो पर आई शिकायतों के निपटान कार्यों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को कहा कि सीएम विंडों पर आई शिकायतों का निपटान जल्द से जल्द करवाएं। उन्होंने ई-ऑफिस की प्रगति की समीक्षा करते हुए कहा कि सभी विभाग ई-ऑफिस प्रणाली को लेकर दिए गए लक्ष्यों को गंभीरता से पूरा करें ताकि जिला की रैंकिंग में सुधार हो। उन्होंने कहा कि सभी विभाग अपने कार्यालय से संबंधित फाइल वर्क को ई-ऑफिस प्रणाली पर ही लाएं। विभागाध्यक्ष स्वयं रुचि लेकर गंभीरता से अपना दायित्व निभाएं, इस कार्य में किसी भी प्रकार की ढील बर्दाश्त नहीं की जाएगी।