नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

Municipal Corporation Committed to Improving Community and City Sanitation Standards*

*Raises Awareness and Improves Sanitary Waste Management under the Swachhata Ki Mohar Initiative during training at Pink MRF*

For Detailed

*Chandigarh, May 17:-* Aiming to make a lasting impact on Chandigarh’s cleanliness journey, the MC Chandigarh conducted training on the second day at Pink MRF to raise awareness and improve sanitary waste management under the ‘Swachhata Ki Mohar’ initiative by the expert team as part of a two-week-long exercise. The exercise coincides with International Menstrual Hygiene Day and aims to educate and empower both municipal staff and citizens on effective sanitary waste management.

The training session for the MRF staff underscored the importance of segregating sanitary waste from other waste streams, with the goal of leaving an indelible mark on the path towards a cleaner and greener India.

Over the course of the next two weeks, the exercise will cover all MRF staff, field staff, and door-to-door waste collectors. They will be trained on the significance of proper sanitary waste management. Additionally, the team will visit households across the city to educate citizens about the types of waste considered “sanitary” and provide information on eco-friendly menstrual hygiene options.

Municipal Commissioner Ms. Anindita Mitra, IAS, said that the Municipal Corporation’s efforts have already yielded tangible results. Initially, the daily collection of sanitary waste was only 12-15 kilograms. However, over the last two years, the daily collection has increased to 650-700 kilograms. As per the Solid Waste Management Rules 2016, sanitary waste must be processed through incineration, and the Municipal Corporation has been doing so through the authorized biomedical waste processing agency, Alliance Care.

She further added that as the Municipal Corporation moves towards 100% collection of segregated waste, this exercise will help the Corporation further improve the management of sanitary waste in the city.

The Municipal Commissioner appealed to all citizens to segregate their sanitary waste and hand it over to the Municipal Garbage Collector.

The two-week “Swachhata Ki Mohar” campaign aims to build on the progress made in waste segregation and management, with a focus on raising awareness and encouraging citizens to effectively segregate their sanitary waste.

https://propertyliquid.com

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

85 वर्ष से अधिक व 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगजनों 9053 में से 27 मतदाताओं ने घर से मतदान की जताई इच्छा – डा. यश गर्ग

विधानसभा वाइज मोबाइल टीमों का गठन कर करवाई जाएगी वोटिंग- जिला निर्वाचन अधिकारी

For Detailed

पंचकूला, 17 मई – उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी डा. यश गर्ग ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा पहली बार 85 वर्ष से अधिक के आयु वर्ग के लोगों तथा 40 प्रतिशत से अधिक दिव्यांगजों को घर पर ही वोट डालने की सुविधा प्रदान की गई है। इस सुविधा का लाभ लेने के लिए जिला के 9053 में से 27 मतदाताओं ने फार्म-12डी भरकर पोस्टल बैलेट पेपर से यानि घर पर ही मतदान करने के लिए ईच्छा जाहिर की है।


जिला निर्वाचन अधिकारी बताया कि जिला प्रशासन द्वारा इस कार्य को निष्पक्ष, पारदर्शी, शांति पूर्ण करवाने के लिए जिला में पर्याप्त मोबाईल पोलिंग टीमों का गठन किया गया है। पोलिंग पार्टी में एक सैक्टर ऑफिसर, बीएलओ, पीठासीन अधिकारी, पोलिंग अधिकारी, माईक्रो ऑब्जर्वर, वीडियोग्राफर तथा पुलिस कर्मी आदि स्टाफ शामिल रहेगा। पोलिंग पार्टी के कर्मचारी संबंधित मतदाता के निवास स्थान पर जाएंगे और बैलेट पेपर से इनके वोट डलवाएंगे। इस पूरी प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी करवाई जाएगी। उन्होंने बताया कि जल्द ही वोटिंग का समय भी निर्धारित किया जाएगा।
डा. यश गर्ग ने बताया कि जिला में 6619 बुजुर्ग मतदाता और 2434 दिव्यांग मतदाता हैं। 01-कालका विधानसभा में 85 वर्ष से ज्यादा आयुवर्ग के 2779 बुजुर्ग मतदाता और 1206 दिव्यांग मतदाता शामिल हैं। इनमें से 9 मतदाताओं ने घर से वोट करने का आवेदन किया है। 02-पंचकूला विधानसभा में 85 वर्ष से ज्यादा आयुवर्ग के 3840 बुजुर्ग मतदाता और 1228 दिव्यांग मतदाता शामिल हैं। इनमें से 18 मतदाताओं ने घर से वोट करने का आवेदन किया है। उन्होंने बताया कि 01-कालका विधानसभा में पार्ट नंबर 212 वोटर संख्या 560 पर 104 वर्षीय शांति पत्नी मकतुल सिंह और पार्ट नंबर 143 वोटर संख्या 756 पर 102 वर्षीय द्रोपति पत्नी काला राम और 02-पंचकूला विधानसभा में पार्ट नंबर 192 वोटर संख्या 1040 पर 109 वर्षीय रोजी पत्नी पतिराम, पार्ट नंबर 146 वोटर संख्या 409 पर 103 वर्षीय दुग्गी पत्नी कपूरिया और पार्ट नंबर 150 वोटर संख्या 58 पर 100 वर्षीय छज्जू पत्नी रज्जा सबसे उम्रदराज वोटरों में शामिल हैं।
जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि मतदान की गोपनीयता बनाए रखने के लिए आयोग की ओर से जो नियम निर्धारित किए गए हैं, उनकी पूरी तरह से पालना सुनिश्चित की जाए। इसके साथ ही जो भी बैलेट पेपर लेकर आएगी, उसके पीछे संबंधित एआरओ के हस्ताक्षर जरूर हों। उन्होंने घर से वोटिंग करने वाले बुजुर्ग एवं दिव्यांगजनों से आह्वान किया है कि वे निर्धारित तिथि को घर पर मौजूद रहे।

https://propertyliquid.com

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

पिंजौर बाइपास से वाहनों को निकालने के लिए सेफ्टी पैरामीटर के साथ दो दिन में वैकल्पिक रास्ता तैयार करे – डा. यश गर्ग

उपायुक्त ने ठेकेदार को दिए निर्देश

For Detailed

पंचकूला, 17 मई – उपायुक्त डा. यश गर्ग ने ठेकेदार को पिंजौर बाइपास से वाहनों को निकालने के लिए सेफ्टी पैरामीटर के साथ वैकल्पिक रास्ता दो दिन में तैयार करने के निर्देश दिए। साथ ही रोड अंडर ब्रिज के काम को जल्द पूरा करने को कहा।
डा. यश गर्ग आज लघु सचिवालय स्थित अपने कार्यालय में एनएचएआई शिमला, चंडीगढ़, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के अधिकारियों के साथ जिला के रोड को लेकर बनी समस्याओं पर आयोजित बैठक की अध्यक्षता कर रहे थे। बैठक में उपायुक्त ने संबन्धित अधिकारियों को उचित दिशा-निर्देश दिए।
उपायुक्त ने एनएचएआई चंडीगढ़ को निर्देश दिए कि वो सेक्टर-26, 27 चैक पर बनी समस्या का समाधान करें। साथ ही पंचकला-यमुनानगर हाईवे पर वन-वे स्पाट पर संकेत बोर्ड और वैकल्पिक डिवाइडर की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इसके अलावा माजरी चैक एरिया को रि-डिजाइन पर काम करने के निर्देश दिए।
उन्होंने कहा कि शिमला हाईवे पर डीएलएफ के सामने ओवर ब्रिज के निर्माण और सर्विस रोड को जल्द शुरू किया जाए ताकि वाहन चालकों को यहां से आने-जाने में किसी प्रकार की दिक्कत ना रहे।
डा. यश गर्ग ने एनएचएआई शिमला को निर्देश दिए कि वो बद्दी नालागढ़ हाईवे का निर्माण पूरा होने तक वैकल्पिक रास्ता वाहनों के लिए तैयार करें। वैकल्पिक रास्ता होने से बद्दी आने-जाने वाले वाहनों को परेशानी नहीं होगी।
उपायुक्त ने निर्देश दिए कि 15 दिनों में रोड सेफ्टी की बैठक का आयोजन किया जाना है। बैठक से पहले अपने-अपने विभाग के काम को पूरा करने सुनिश्चित करें।
इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त सचिन गुप्ता, पीडब्ल्यूडी बीएंडआर एक्सईएन जगविन्द्र रंगा, एनएचएआई चंडीगढ़ डीजीएम प्रियंका, ठेकेदार जयदीप मौजूद रहे।

https://propertyliquid.com

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

पंचकूला जोन की उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच की कार्यवाही 20 और 27 मई को यूएचबीवीएन के मुख्यालय पंचकूला में की जाएगी

मंच 1 लाख रुपये से 3 लाख रुपये तक की राशि के वित्तीय विवादों से संबंधित शिकायतों की करेगा सुनवाई

For Detailed

पंचकूला, 17 मई – उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम उपभोक्ताओं को विश्वसनीय, अच्छी वोल्टेज और निर्बाध बिजली की आपूर्ति के लिए प्रतिबद्ध है। ‘पूर्ण उपभोक्ता संतुष्टि’ के लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए बिजली निगम द्वारा अनेक महत्वाकांक्षी कार्यक्रम प्रारंभ किये गए हैं ताकि उपभोक्ताओं की समस्याओं को त्वरित रूप में सुलझाया जा सके।
उक्त जानकारी देते हुए बिजली निगम के प्रवक्ता ने बताया कि जोनल उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच रेगुलेशन 2.8.2 के अनुसार प्रत्येक मामले में 1 लाख रुपये से अधिक और 3 लाख रुपये तक की राशि के वित्तीय विवादों से संबंधित शिकायतों की सुनवाई करेगा। पंचकूला जोन के अंतर्गत आने वाले जिलों (कुरुक्षेत्र, अंबाला, पंचकूला, कैथल और यमुनानगर) के उपभोक्ताओं की शिकायतों का निवारण 20 और 27 मई को जोनल उपभोक्ता शिकायत निवारण मंच पंचकूला में उपभोक्ताओं की समस्याओं का समाधान किया जाएगा।
उन्होंने बताया कि पंचकूला जोन के अंतर्गत आने वाले जिलों के उपभोक्ताओं के गलत बिलों, बिजली की दरों से सम्बंधित मामलों, मीटर सिक्योरिटी से जुड़े मामलों, खराब हुए मीटरों से सम्बंधित मामलों, वोल्टेज से जुड़े हुए मामलों का निस्तारण किया जाएगा। इस दौरान बिजली चोरी, बिजली के दुरूपयोग और घातक गैर-घातक दुर्घटना आदि मामलों पर विचार नहीं किया जाएगा। उपभोक्ता और निगम के बीच किसी भी विवाद के निपटान के लिए फोरम में वित्तिय विवादों से संबंधित शिकायत प्रस्तुत करने से पहले पिछले छह महीनों के दौरान उपभोक्ता द्वारा भुगतान किए गए बिजली के औसत शुल्क के आधार पर गणना की गई प्रत्येक माह के लिए दावा की गई राशि या उसके द्वारा देय बिजली शुल्क के बराबर राशि, जो कम है, उपभोक्ता को जमा करवानी होगी। इस दौरान उपभोक्ता को प्रमाणित करना होगा कि यह मामला अदालत, प्राधिकरण या फोरम के समक्ष पेंडिंग (लंबित) नहीं है क्योंकि इस न्यायालय या फोरम में विचाराधीन मामलों पर बैठक के दौरान विचार नहीं किया जाएगा।
उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम उपभोक्ताओं से अपील करता है कि वे अपनी बिजली से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए 20 और 27 मई को यूएचबीवीएन के मुख्यालय विद्युत सदन, इंडस्ट्रियल प्लाट-3 और 4, सेक्टर-14, पंचकूला में प्रातः 11ः30 बजे से दोपहर 1ः30 बजे तक होने वाली कार्यवाही में सम्मिलित होकर अपनी समस्याओं का समाधान करवाएं।
उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम प्रदेश के सभी उपभोक्ताओं को निरंतर एवं निर्बाध बिजली आपूर्ति मुहैया करवाने के लिए वचनबद्ध है।

https://propertyliquid.com

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

पंचकूला की तीनों मंडियों में 37743 मीट्रिक टन गेहूं की हुई खरीद

For Detailed

पंचकूला, 17 मई- जिला में रबी सीजन 2024-25 के दौरान सरसों गेहूं की खरीद तथा उठान का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा जिला की मंडियों में अब तक 37743 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद की गई है और 34967  मीट्रिक टन गेहूं का अब तक उठान किया जा चुका है।
     इस संबंध में जानकारी देते हुए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि सरकारी खरीद एजेंसियों हैफेड और हरियाणा वेयर हाउसिंग कारपोरेशन द्वारा पंचकूला, बरवाला और रायपुररानी स्थित अनाज मंडियों में गेहूं व सरसों की खरीद की जा रही है।
    उन्होंने बताया कि 37743 मीट्रिक टन गेहूं में से 18330 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद रायपुररानी अनाज मंडी से, 17942 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद बरवाला अनाज मंडी से और 1471 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद पंचकूला अनाज मंडी से की गई है।
इसी प्रकार 34967 मीट्रिक टन गेहूं में से हैफेड द्वारा रायपुररानी अनाज मंडी से 15748 मीट्रिक टन गेहूं और वेयर हाउसिंग कारपोरेशन द्वारा बरवाला अनाज मंडी से 17936 मीट्रिक टन और हैफेड द्वारा पंचकूला अनाज मंडी से 1283 मीट्रिक टन गेहूं का उठान किया गया।

https://propertyliquid.com

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

उपायुक्त ने लघु सचिवालय के सभागार में आयोजित बैठक में मानसून से पहले बाढ़ नियंत्रण उपायों की करी समीक्षा

-उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को 30 जून तक बाढ नियंत्रण से संबंधित कार्य को पूरा करने के दिए निर्देश

For Detailed

पंचकूला, 17 मई- उपायुक्त यश गर्ग ने लघु सचिवालय के सभागार में आज आगामी मानसून सीजन की तैयारी को लेकर जिले में बाढ़ नियंत्रण व्यवस्था को लेकर संबंधित विभागों के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता की व अधिकारियों को उचित दिशा निर्देश दिए।
आपदा प्रबंधन के परियोजना अधिकारी सौरभ धीमान ने उपायुक्त को विस्तार से पिछले साल बाढ से हुए नुकसान के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
    बैठक में उपस्थित संबंधित विभागों के अधिकारियों को संबोधित करते हुए उपायुक्त ने मानसून की शुरुआत से पहले जिले में डेªनों की सफाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को भारी बारिश के दौरान सुचारू जल प्रवाह सुनिश्चित करने के लिए सफाई कार्य में तेजी लाने के भी निर्देश दिए।

    उपायुक्त ने राजस्व एवं आपदा प्रबंधन विभाग को बारिश के मौसम में उत्पन्न होने वाली किसी भी संभावित स्थिति से निपटने के लिए पर्याप्त तैयारी करने की आवश्यकता पर भी जोर दिया। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे राष्ट्रीय आपदा प्रतिक्रिया बल (एनडीआरएफ) के साथ उचित समन्वय स्थापित करें ताकि किसी भी एमरजेंसी जैसी स्थिति उत्पन्न होंने पर आवश्यक सहायता तुरंत उपलब्ध हो सके। बैठक में सचिव जिला सैनिक बोर्ड कर्नल नरेश ने उपायुक्त को सेना द्वारा की जाने वाले सुरक्षा व नावों और जीवन रक्षक जैकेटों के स्टॉक सहित मौजूदा व्यवस्थाओं के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
    उन्होंने हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण, नगर निगम, पीडब्ल्यूडी (बी एंड आर), सिंचाई, जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी तथा सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के अधिकारियों को अपने ड्रेनेज नालों की साफ सफाई सुनिश्चित करने व मानसून सीजन में बाड को रोकने के लिए पुख्ता इंतजाम करने के निदेश दिए। सीजन के लिए पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि अतिरिक्त पंप सेट या किसी अन्य सहायता लिए समय रहते सूचित किया जाए ताकि पुख्ता इंतजाम सुनिश्चित किए जा सके। उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे पिछली बार जहां बाढ़ की स्थिति पैदा हुई थी और जहां ज्यादा नुकसान हुआ था, उसे चिन्हित कर रिपोर्ट करें ताकि वे स्वयं उन जगहों का निरीक्षण कर सके।
श्री गर्ग ने राजस्व अधिकारियों को स्कूल, काॅलेज, आईटीआई, कम्यूनिटी सेंटर, एप्पल मार्केट का निरीक्षण कर इन जगहों पर मूलभूत सुविधाएं सुनिश्चित करने के निर्देश दिए ताकि बाढ की स्थिति पैदा होने पर इन जगहों को बाढ रिलीफ कैंप में परिवर्तित किया जा सके।

    उपायुक्त ने सिंचाई विभाग के अधिकारियों को 30 जून तक बाढ नियंत्रण से संबंधित कार्य को पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने संबंधित विभागों को नदियों, नालों तथा अन्य स्थानों पर तैरना व नहाना मना है के बोर्ड लगवाने के निर्देश दिए और पुलिस विभाग को इन जगहों पर धारा 144 लगाने व किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए नालों और नहरों के आसपास के क्षेत्रों में सतर्कता बढ़ाने के लिए कहा गया।
    उपायुक्त ने संबंधित विभागों को आपस में समन्वय स्थापित कर जिला में मानसून सत्र के दौरान किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के निर्देश दिए।  
    डिजास्टर मैनेजमेंट अधिकारी ने उपायुक्त को बताया कि उपायुक्त कार्यालय में कमरा नंबर 107 में एक फ्लड नियंत्रक कंट्रोल रूम बनाया गया है, जिसका दूरभाष  नंबर 0172-2562135 है। इस नंबर पर जिला का कोई भी नागरिक अपने क्षेत्र में बाढ से संबंधित समस्या के बारे में बता सकता है।

बैठक में एसडीएम कालका लक्षित सरीन, नगराधीश मन्नत राणा, डीआरओ कुलदीप सिंह, डीडीपीओ राजन सिंगला, तहसीलदार विवेक गोयल, यूएचबीवीएन के कार्यकारी अभियंता ललित अत्री, ईओ एमसी कालका रविंद्र सिंह, वैटरनी सर्जन सुषमा यादव, पीडब्ल्यूडी के एसडीओ अनिल कंबोज, सिंचाई विभाग के एसडीओ सुखविंद्र सिंह, बीडीपीओ पिंजौर विनय कुमार, जनस्वास्थ्य विभाग के कार्यकारी अभियंता समीर शर्मा  सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com