*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

Result December, 2023

Chandigarh May 6, 2024

For Detailed

This is to inform that the result of examination December, 2023 of the following courses have been declared/made public today.

1.      Post Graduate Diploma in Mass Communication 1st Semester Examination  – December,2023
2.      M.Ed. (General) Two Year 3rd Semester Examination  – December,2023
3.      Master of Computer Applications ( MCA ) 5th Semester Examination – December,2023

https://propertyliquid.com

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

पीठासीन (पीओ) और सहायक पीठासीन अधिकारियों (एपीओ) की  राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में चल रही ट्रेनिंग हुई संपन्न

चुनाव शुरू होने से पहले किया जाने वाला मॉक पोल चुनाव को पारदर्शी बनाने की अहम कसौटी – एआरओ

For Detailed

पंचकूला, 6 मई –  उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्री यश गर्ग के मार्गदर्शन में लोकसभा आम चुनाव – 2024 को शांतिपूर्ण एवं निष्पक्ष चुनाव संपन्न करवाने में अहम भूमिका निभाने वाले पीठासीन (पीओ) और सहायक पीठासीन अधिकारियों (एपीओ) की सेक्टर-1 स्थित राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में चल रही ट्रेनिंग संपन्न हुई। ट्रेनिंग में एआरओ पंचकूला गौरव चैहान ने उपस्थित पीठासीन (पीओ) और सहायक पीठासीन अधिकारियों (एपीओ) को चुनाव संबंधी हर पहलू पर विस्तृत जानकारी दी।


एआरओ पंचकूला गौरव चैहान ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े प्रजातंत्र में निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण चुनाव संपन्न करवाने की जिम्मेवारी हमारे कंधों पर है। ऐसे में हमारी भूमिका पूर्णतरू निष्पक्ष ही रहनी चाहिए। किसी भी राजनीतिक दल से हमारी नजदीकियां चुनाव को प्रभावित कर सकती हैं। ऐसे में हमें भारत निर्वाचन आयोग की प्रत्येक गाइडलाइन का पालन करते हुए चुनाव को निष्पक्षता के साथ संपन्न करवाना है और इसके लिए हमारे द्वारा चुनावी प्रक्रिया की हर गतिविधि को पारदर्शी तरीके से अपनाना है। उन्होंने कहा कि चुनाव शुरू होने से पहले किया जाने वाला मॉक पोल चुनाव को पारदर्शी बनाने की सबसे अहम कसौटी है।


विभिन्न राजनीतिक दलों के पोलिंग एजेंटों के समक्ष अपनाई जाने वाली इस प्रक्रिया की अहमियत को बताते हुए उन्होंने कहा कि इस प्रक्रिया को अपनाने से चुनाव करवाना बेहद सरल हो जाता है और ड्यूटी के दौरान चुनाव आयोग के निर्देशानुसार हमारे द्वारा अपनाए जा रहे हर प्रोसेस की विश्वसनीयता बढ़ती है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग की हिदायत अनुसार मॉक पोल के दौरान 50 वोट डलवाना सुनिश्चित करें। मॉक पोल के दौरान डाले गये वोट और वीवीपैट से निकलने वाली पर्चियों व कंट्रोल यूनिट में कुल वोट के मिलान होने पर पोलिंग एजेंट के हस्ताक्षर भी करवाएं तथा मॉक पोल का रिकार्ड सुरक्षित रखें। इसके उपरांत ईवीएम को क्लियर बटन दबाकर पुन पोलिंग के लिए तैयार करें।
उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे चुनाव संबंधी हैंडबुक का भी अध्ययन जरूर करें, इससे चुनाव करवाने में आसानी होगी और ड्यूटी संबंधी हर विषय की विस्तृत जानकारी मिलेगी। प्रशिक्षण के दौरान उन्होंने मतदान खत्म होने पर ईवीएम तथा वीवीपैट को सील करने के तरीके की जानकारी दी।
उन्होंने बताया कि यदि कोई नेत्रहीन मतदाता ब्रेल लिपि पढ़ने में सक्षम है तो उसे ब्रेल बैलेट पेपर उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने टेंडर वोट, चैलेंजिंग वोट, मतदाता पहचान पत्र के दस्तावेज, प्रयोग में लाये जाने वाले विभिन्न प्रकार के फार्म, पोस्टल वोट, माइक्रो पर्यवेक्षक, पोलिंग बूथ के अंदर प्रवेश करने वाले अधिकृत लोगों आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी।
उन्होंने पीओ तथा एपीओ को बताया कि वे अपने स्तर पर मतदान केंद्र के निर्धारित स्थान में बदलाव नहीं कर सकते। अपरिहार्य स्थिति में इसके लिए उन्हें पहले सहायक निर्वाचन अधिकारी को बताना होगा। ऊपर से मंजूरी मिलने पर ही इस दिशा में कोई कदम उठाया जा सकता है। जिस भी स्कूल/धर्मशाला/सामुदायिक केंद्र अथवा अन्य संस्था मेें पोलिंग बूथ बनाया गया है उसकी चारदीवारी से 200 मीटर की दूरी पर ही राजनीतिक दलों की ओर से निर्धारित आकार में टेंट लगाया जा सकता है। यदि इससे कम दूरी पर टेंट लगा है तो पीठासीन अधिकारी उसे हटवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि ईवीएम व वीवीपैट को मतदान केंद्र की खिडकी के पास नहीं रखा जाना चाहिये और ईवीएम पर ऊपर से सीधी रोशनी नहीं पड़नी चाहिए।
उन्होंने बताया कि 29 अप्रैल से 6 मई तक कालका विधानसभा के 700 और पंचकूला विधानसभा क्षेत्र के 700 अधिकारियों-कर्मचारियों को प्रशिक्षण में शामिल किया गया।
इस अवसर पर मास्टर ट्रेनर बीईओ सीमा रानी, गुरचरण, सुभाष भारद्वाज, सुनील दत्त, विरेन्द्र गौड़ द्वारा सीयू/बीयू, वीवीपैट के बारे में भी अधिकारियों को प्रशिक्षित किया गया।

https://propertyliquid.com

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

पंचकूला की तीनों मंडियों में 36503 मीट्रिक टन गेहूं व 654 मीट्रिक टन सरसों की हुई खरीद

For Detailed

पंचकूला, 6 मई – जिला में रबी सीजन 2024-25 के दौरान सरसों व गेहूं की खरीद तथा उठान का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। सरकारी खरीद एजेंसियों द्वारा जिला की मंडियों में अब तक 36503 मीट्रिक टन गेहूं और 654 मीट्रिक टन सरसों की खरीद की गई है और 654 मीट्रिक टन सरसों और 26029 मीट्रिक टन गेहूं का अब तक उठान किया जा चुका है।


     इस संबंध में जानकारी देते हुए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के प्रवक्ता ने बताया कि सरकारी खरीद एजेंसियों हैफेड और हरियाणा वेयर हाउसिंग कारपोरेशन द्वारा पंचकूला, बरवाला और रायपुररानी स्थित अनाज मंडियों में गेहूं व सरसों की खरीद की जा रही है।


    उन्होंने बताया कि 36503 मीट्रिक टन गेहूं में से 17692 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद रायपुररानी अनाज मंडी से, 17500 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद बरवाला अनाज मंडी से और 1311 मीट्रिक टन गेहूं की खरीद पंचकूला अनाज मंडी से की गई है। इसी प्रकार 654 मीट्रिक टन सरसों में से रायपुररानी अनाज मंडी से 386 मीट्रिक टन सरसों की खरीद हैफेड द्वारा, बरवाला अनाज मंडी से 56 मीट्रिक टन सरसों की खरीद हरियाणा वेयर हाउसिंग कारपोरेशन द्वारा और 212 मीट्रिक टन सरसों की खरीद हैफेड द्वारा की गई। उन्होंने बताया कि हैफेड द्वारा 598 मीट्रिक टन सरसों का उठान किया गया, जिसमें से 386 मीट्रिक टन सरसों रायपुररानी अनाज मंडी तथा 212 मीट्रिक टन सरसों बरवाला अनाज मंडी तथा हरियाणा वेयर हाउसिंग कारपोरेशन द्वारा बरवाला अनाजमंडी से 56 मीट्रिक टन सरसों का उठान किया  गया।  26029 मीट्रिक टन गेहूं में से हैफेड द्वारा रायपुररानी अनाज मंडी से 11222 मीट्रिक टन गेहूं और वेयर हाउसिंग कारपोरेशन द्वारा बरवाला अनाज मंडी से 14238 मीट्रिक टन और हैफेड द्वारा पंचकूला अनाज मंडी से 569 मीट्रिक टन गेहूं का उठान किया गया।

https://propertyliquid.com

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

एक्सपेंडिचर अब्जर्वर लोकसभा अंबाला ने चुनाव निगरानी के लिए गठित विभिन्न टीमों के साथ आयोजित बैठक की करी अध्यक्षता

प्रत्याशियों के प्रचार-प्रसार की वीडियोग्राफी करवाकर करें खर्च का आंकलन – एक्सपेंडिचर अब्जर्वर

प्रत्याशी चुनावी खर्च का चैक, ड्राफ्ट एवं अन्य इलेक्ट्रोनिक मोड़ यानी आरटीजीएस या एनईएफटी के माध्यम से करे भुगतान – चेतराम मीणा

For Detailed

पंचकूला, 6 मई – एक्सपेंडिचर अब्जर्वर लोकसभा अंबाला एवं आईआरएस चेतराम मीणा ने आज जिला सचिवालय के सभागार में लोकसभा आम चुनाव-2024 की निगरानी के लिए गठित पंचकूला व कालका विधानसभा की विभिन्न टीमों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में एक्सपेंडिचर अब्जर्वर ने संबन्धित टीमों को उचित दिशा-निर्देश दिए।


एक्सपेंडिचर अब्जर्वर लोकसभा अंबाला एवं आईआरएस चेतराम मीणा ने आमजन से अपील की कि वो किसी भी प्रकार की शिकायत सी-विजिल एप पर करें। इसके अलावा उनके मोबाइल नंबर 9530500065 पर भी जानकारी दे सकते हैं।


उन्होंने बताया कि लोकसभा चुनाव में टीमें अपनी-अपनी विधानसभा में हो रहे प्रचार पर पूरी नजरें रखें। वीडियो टीम द्वारा हर प्रत्याशी के प्रचार-प्रसार की वीडियो रिकाॅर्डिंग की जाए और खर्च का ब्योरा तैयार किया जाए। इसके बाद उसको एक्सपेंडिचर टीम को सौंपा जाए ताकि खर्च के ब्योरा का आंकलन किया जा सके। उन्होंने बताया कि लोकसभा आम चुनाव – 2024 में चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवार को एक अलग बैंक खाता खुलवाना होगा। चुनाव से संबंधित खर्च केवल इसी खाते के माध्यम से किया जा सकता है। प्रत्येक उम्मीदवार अधिकतम 95 लाख रुपये तक खर्च कर सकता है।
एक्सपेंडिचर अब्जर्वर ने बताया कि चुनाव लड़ने वाले अभ्यार्थी चुनावी खर्च चैक, ड्राफ्ट एवं अन्य इलेक्ट्रोनिक मोड़ यानी आरटीजीएस या एनईएफटी के माध्यम से ही करना सुनिश्चित करेंगे। यदि चुनाव की पूरी प्रक्रिया के दौरान व्यय की किसी भी मद के लिए उम्मीदवार द्वारा किसी व्यक्ति या संस्था को देय राशि 10 हजार रुपये से अधिक नहीं है, तो ऐसा व्यय उक्त बैंक खाते से निकालकर नकद में किया जा सकता है।


मीणा ने बताया कि जैसे ही नामांकन-पत्र उम्मीदवार द्वारा जमा किया जाएगा उसके साथ ही उसके खर्च का ब्योरा भी शुरू हो जाएगा। चुनाव लड़ने वाले सभी उम्मीदवारों को चुनाव प्रचार के दौरान कम से कम तीन बार खर्चा रजिस्टर चैक करवाना जरूरी है और चुनाव परिणाम घोषित होने के 30 दिन के अन्दर खर्चा रजिस्टर जमा करवाना होगा।
उन्होंने कहा कि चुनाव आदर्श आचार संहिता के चलते कोई भी व्यक्ति 50 हजार रूपये से ज्यादा लेकर नहीं चल सकता। जो व्यक्ति 50 हजार रूपये से ज्यादा राशि के साथ पाया जाता है तो उसके पैसे को पुलिस विभाग द्वारा सीज किया जाएगा। 10 लाख रूपये से ज्यादा पाए जाने पर सीज की कार्रवाई इनकम टैक्स विभाग द्वारा की जाएगी। उन्होंने सभी टीमों से उनकी कार्यप्रणाली को भी जाना। उन्होंने सभी टीमों को चुनाव की हर गतिविधि पर नजर रखने के निर्देश दिए।
इस मौके पर एसडीएम कालका लक्षित सरीन, एसडीएम पंचकूला गौरव चैहान, सीटीएम मन्नत राणा, चुनाव कानूनगो कुलदीप सिंह मौजूद रहे।

https://propertyliquid.com