कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि हरियाणा के खिलाड़ियों ने मैदानी खेलों के साथ-साथ इनडोर खेलों में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई है।

पंचकूला, 21 अक्तूबर –  हरियाणा के राज्यपाल बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि हरियाणा के खिलाड़ियों ने मैदानी खेलों के साथ-साथ इनडोर खेलों में भी अपनी एक अलग पहचान बनाई है। उन्होंने कहा कि बेहतरीन खेल नीति बनाने के साथ-साथ हरियाणा सरकार द्वारा खिलाड़ियों को विश्व स्तरीय सुविधाएं दी जा रही हैं।

For Detailed News-


श्री दत्तात्रेय आज पंचकूला के सेक्टर 3 स्थित ताऊ देवी लाल स्टेडियम में भारतीय टेबल टैनिस संघ और हरियाणा टेबल टैनिस एसोसिएशन के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित की जा रही यूटिलिटी नेशनल रैंकिंग टेबल टेनिस चैंपियनशिप फाइनल एवं पारितोषिक वितरण समारोह के अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे।


इस अवसर पर उप मुख्यमंत्री एवं टेबल टैनिस फैडरेशन आॅफ इंडिया के अध्यक्ष श्री दुष्यंत चैटाला भी उपस्थित थे।


श्री दत्तात्रेय ने कहा कि आज हरियाणा सरकार की खेल नीति की न केवल देश में बल्कि विदेशों में भी सराहना की जा रही है।  हरियाणा के बारे में एक प्रसिद्ध कहावत ‘देस्सों में देस हरियाणा- जित दूध-दही का खाणा’ का जिक्र करते हुए राज्यपाल ने कहा कि हमारे खिलाड़ियो ने खेल के क्षेत्र में अपनी उपलब्धियों से इस कहावत को सही साबित कर दिखाया है।


यूटिलिटी नेशनल रैंकिंग टेबल टेनिस चैंपियनशिप  के विजेता खिलाड़ियों को बधाई देते हुए राज्यपाल ने कहा कि इस राष्ट्र स्तरीय टूर्नामैंट में जिन खिलाड़ियों ने जीत दर्ज की है, वे बधाई के पात्र हैं। उन्होंने इस चैम्पियनशिप की सफलता के लिए आयोजकों को बधाई देते हुए कहा कि उन्हें प्रसन्नता है कि टेबल टैनिस में हमारे खिलाड़ी अन्तराष्ट्रीय स्तर पर बेहतरीन प्रदर्शन कर रहे हैं। इस चैम्पियनशिप में ओलम्यिन शरद कमल व सुथिर्ता मुखर्जी के साथ-साथ हरियाणा की खिलाड़ी सुहाना सैणी भी भाग ले रही हैं, जो अन्डर -16 में विश्व में चैथे नम्बर की खिलाड़ी हैं।


श्री दत्तात्रेय ने कहा कि हरियाणा का ओलंपिक खेलों में एक स्वर्णिम इतिहास रहा है। ओलंपिक के इतिहास में एकल खेलों में भारत ने अब तक कुल 20 पदक जीते हैं, इनमें 11 पदक हरियाणा के नाम हैं। इसी प्रकार टोक्यो ओलंपिक व पेरालम्पिक में भी प्रदेश के खिलाड़ी ने सबसे अधिक पदक जीत कर प्रदेश का नाम रोशन किया है। उन्होंने कहा कि हरियाणा देश का मात्र 2 प्रतिशत भू-भाग होते हुए खेलों का हब बना है और भारत का नाम रोशन किया।

https://propertyliquid.com


राज्यपाल ने कहा कि आज उन्हें बेटियों पर और भी गर्व है जिन्होंने टेबल टेनिस व अन्य प्रतिस्पर्धाओं में उम्दा प्रदर्शन कर देशवासियों का दिल जीता है। उन्होंने युवाओं से अपील करते हुए कहा कि वे पढ़ाई के साथ-साथ खेलों से जुडें और खेलों को कैरियर के रूप में अपनाकर दृढ़ निश्चिय से आगे बढ़ें। उन्होंने आशा व्यक्त की कि हमारे खिलाड़ी पेरिस (फ्रांस) में होने वाले ओलंपिक में डबल डिजिट में पदक जीतकर देश का नाम रोशन करेंगे। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार खिलाड़ियों के साथ है और सरकार खिलाड़ियों को हर सम्भव मदद प्रदान करेगी।


-पिछले दो दशकों में इस खेल ने एक अलग पहचान बनाई है-दुष्यंत चैटाला


-2022 में यूके में होने वाली काॅमन वेल्थ खेलों में भारत के खिलाड़ी सबसे अधिक पदक जीत कर देश का नाम दुनिया में रोशन करेंगे-उप मुख्यमंत्री


कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए उप मुख्यमंत्री एवं टेबल टैनिस फैडरेशन आॅफ इंडिया के अध्यक्ष श्री दुष्यंत चैटाला ने कहा कि इस राष्ट्रीय प्रतियोगिता में देश भर के 650 से अधिक खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज से 20 वर्ष पूर्व ग्रामीण आंचल में लोगों को टेबल टैनिस खेल की जानकारी तक नहीं थी परंतु पिछले दो दशकों में इस खेल ने एक अलग पहचान बनाई है। श्री दुष्यंत चैटाला ने कहा कि टेबल टैनिस के प्रति बच्चों में रूचि पैदा करने के लिए स्कूल स्तर पर टेबल टैनिस लीग शुरू की गई है और जिसके सकारात्मक परिणाम भी सामने आ रहे हैं।


उन्होंने कहा कि हमारे खिलाड़ियों ने काॅमन वेल्थ व ओलंपिक खेलों के साथ-साथ अन्य राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में बेहतरीन प्रदर्शन किया है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि जिस तरह से क्रिकेट व एथलैटिक्स में भारतीय खिलाड़ियों ने देश का परचम लहराया है, उसी तरह से आने वाले समय में भारत टेबल टैनिस में भी विश्वभर में अपना लोहा मनवाएगा। उन्होंने कहा कि उनका लक्षय है कि 2022 में यूके में होने वाली काॅमन वेल्थ खेलों में भारत के खिलाड़ी सबसे अधिक पदक जीत कर देश का नाम रोशन करेंगे।


कार्यक्रम में राज्यपाल श्री बंडारू दत्तात्रेय व उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चैटाला और मेयर ने प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विजेताओं को स्वर्ण, रजन व कांस्य पदक और नकद पुरस्कार देकर सम्मानित किया।  पुरूष एकल प्रतियोगिता में पेट्रोलियम स्पोर्टस प्रमोशन बोर्ड  के शरद कमल विजयी रहे जबकि जबकि महिला एकल प्रतियोगिता में बंगाल-ए टीम की प्राप्ति सेन ने बाजी मारी। शरद कमल को स्वर्ण पदक, 84 हजार रूपए नदक पुरस्कार व शील्ड देकर सम्मानित किया गया जबकि प्राप्ति सेन को स्वर्ण पदक, 72 हजार रूपए नदक पुरस्कार व शील्ड से नवाजा गया। इसके साथ-साथ पुरूष एकल प्रतियोगिता में दूसरा स्थान प्राप्त करने पर सोम्यजीत घोष को को रजत पदक, 42 हजार रूपए की नकद राशि जबकि तीसरा स्थान प्राप्त करने पर हरमीत देसाई को कांस्य पदक के साथ-साथ  21 हजार रूपए की नकद राशि व शील्ड देकर सम्मानित किया गया। इसी प्रकार महिला एकल प्रतियोगिता में दूसरा स्थान प्राप्त करने पर रजत पदक, 36 हजार तथा तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले खिलाड़ी को कांस्य पदक जीतने पर 18 हजार रूपए की नकद राशि तथा शील्ड प्रदान की गई।


इस अवसर पर विधायक देवेन्द्र बबली व रामकरण काला, उपायुक्त विनय प्रताप सिंह, पुलिस उपायुक्त मोहित हांडा, नगर निगम के महापोर कुलभूषण गोयल, भारतीय टेबल टैनिस संघ के महासचिव अरूण बेनर्जी, आयोजन सचिव एमपी सिंह, भारतीय टेबल टैनिस संघ के वरिष्ठ संयुक्त सचिव यशपाल राणा व भारतीय टेबल टैनिस संघ के अन्य पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

जिला बाल कल्याण परिषद्, पंचकूला द्वारा 11 से 18 अक्तूबर तक कक्षा 1 से लेकर कक्षा 12 तक 17 विभिन्न जिला स्तरीय प्रतियोगिताएं करवाई गई।

For Detailed News-

पंचकूला, 21 अक्तूबर- हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद्, के तत्वाधान तथा पंचकूला के उपायुक्त एवं जिला बाल कल्याण परिषद के अध्यक्ष श्री विनय प्रताप सिंह के आदेशानुसार जिला बाल कल्याण परिषद्, पंचकूला द्वारा 11 से 18 अक्तूबर तक कक्षा 1 से लेकर कक्षा 12 तक 17 विभिन्न जिला स्तरीय प्रतियोगिताएं करवाई गई।


 जिला बाल कल्याण अधिकारी भगत सिंह ने बताया कि परिषद द्वारा फैन्सी ड्रैस, क्ले माडलिगं, रंगोली, कार्ड मेकिंग, दिया, थाली पूजन सजावट, लेखन, प्रश्नोतरी, बेस्ट ड्रामेबाज, स्कैचिंग, हास्स खेल, भाषण, पोस्टर मेंकिग, एकल नृत्य, समूह नृत्य, एकल गान, देश भक्ति समूह गान इत्यादि की प्रथम, द्वितीय, तृतीय तथा चतुर्थ समूहों में सतलूज पब्लिक स्कूल सेक्टर 2 पचंकूला प्रतियोगिताएं आयोजित करवाई गई। उन्हांने बताया कि इन सभी प्रतियोगिताओं में जिला पंचकूला के लगभग 70 सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों ने भाग लिया। इन सभी प्रतियोगिताओं में प्रथम, द्वितीय, तृतीय व सात्वनां स्थान पर रहने वाले बच्चों को 14 नवम्बर 2021 बाल दिवस के उपलक्ष्य पर जिला बाल कल्याण परिषद् पंचकूला द्वारा सम्मानित किया जाऐगा।

https://propertyliquid.com


उन्होंने कहा कि जिला पंचकूला में प्रतिभाओं की कमी नहीं है केवल उनको स्टेज देने की आवश्यकता है जिले की प्रतिभाओं को निखारने में जिला बाल कल्याण परिषद् की अहम भूमिका है बाल कल्याण परिषद् जिले के बच्चों को एक ऐसा मंच प्रदान कर रही है जिसके माध्यम से उनके हुनर और आत्म विश्वास को तराशा जा सके। इस तरह की प्रतियोगिताओं के आयोजन से बच्चों के आत्मविश्वास में वृद्वि होती है जिससे उन्हें एक प्रेरणा मिलती है और जीवन में आगे बढने को मौका मिलता है। यही बच्चें आगे चलकर जिले का नाम प्रदेश व देश में रोशन करेंगे।


उन्होनें बताया कि एकल नृत्य, समूह नृत्य, एकल गायन, देशभक्ति समूह गान, प्रश्नोतरी प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय स्थान पर आने वाली टीमों को मंडल स्तर पर जिला कुरूक्षेत्र में भाग लेने का मौका मिलेगा। जोकि दिनाकं 25 अक्तूबर से 28 अक्तूबर 2021 तक जिला कुरूक्षेत्र में करवाया जा रहा है। इन प्रतियोगिताओं में प्रथम व द्वितीय स्थान पर रहने वाली टीमें जिला कुरूक्षेत्र में समय रहते अपना पंजीकरण करवा ले। इसके उपरान्त मंडल स्तर पर प्रथम व द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले बच्चों को राज्य स्तरीय प्रतियोगिताओं में भाग लेने का अवसर प्राप्त होगा।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

सिरसा उपमंडल में लगेगी पटाखों की 12 स्टॉल : एसडीएम जयवीर यादव

-पटाखों के अस्थाई लाइसेंस के लिए आवेदन 25 अक्टूबर तक, 27 अक्टूबर को निकाला जाएगा ड्रा


सिरसा, 21 अक्टूबर।

For Detailed News-


एसडीएम जयवीर यादव ने बताया कि दीपावली व गुरुपर्व के त्यौहार पर पटाखों की स्टॉल के लिए अस्थाई लाइसेंस जारी किए जाएंगे। सिरसा उपमंडल में पटाखों की 12 स्टॉल निर्धारित की गई है। पटाखों की अस्थाई स्टॉल लगाने के इच्छुक व्यक्ति 25 अक्टूबर सायं पांच बजे तक आवेदन जमा करवाए जा सकते हैं। अस्थाई लाइसेंस के लिए ड्रा 27 अक्टूबर को स्थानीय पंचायत भवन में निकाला जाएगा। लाइसेंस के इच्छुक व्यक्ति अपना आवेदन पत्र एसडीएम के कार्यालय में जमा करवा सकते है। निर्धारित तिथि के उपरांत आवेदन स्वीकार नहीं किए जाएंगे।

https://propertyliquid.com

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

पुलिस स्मृति दिवस-डीजीपी हरियाणा पी.के. अग्रवाल ने पुलिस शहीदों को दी श्रद्धांजलि

पुलिस के 377 अमर शहीदों को किया नमन

For Detailed News-

पंचकूला, 21 अक्तूबर – हरियाणा के पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) श्री प्रशांत कुमार अग्रवाल ने पुलिस स्मृति दिवस-2021 के अवसर पर सेवारत और सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारियों का नेतृत्व करते हुए कर्तव्य-परायणता के दौरान अपने प्राणों की आहुति देने वाले पुलिस शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की।


               श्री अग्रवाल ने पंचकूला स्थित पुलिस स्मारक पर गत वर्ष पुलिस सहित केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के 377 अमर शहीदों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि देश की कानून-व्यवस्था, एकता और अखंडता बनाए रखने के लिए हमारे शूरवीरों द्वारा दिए गए सर्वाेच्च बलिदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि इस वर्ष हरियाणा पुलिस के सिपाही संदीप कुमार ने भी ड्यूटी के दौरान कर्तव्य-परायणता एवं अदम्य साहस का परिचय देते हुए शहादत प्राप्त की। देश इन वीरों का सदैव ऋणी रहेगा। उन्होंने कहा कि इन बहादुर व जांबाज जवानों का सर्वाेच्च बलिदान गर्व से खाकी पहनने वालों के लिए प्रेरणा है।


            पुलिस बल के अमर शहीदों के साहस एवं बलिदान को सलाम करते हुए डीजीपी ने उन कर्मवीरों को भी श्रद्धांजलि दी, जिन्होंने कोविड महामारी के कठिन समय में मानवता की सेवा करते हुए अपनी जान गंवाई। स्वयं की जान जोखिम में डालकर इन कोरोना योद्धाओं ने न तो हिम्मत हारी और न ही जन सुरक्षा के प्रति इनके समर्पण में कोई कमी आई।

https://propertyliquid.com


          डीजीपी ने पुलिस स्मारक पर अमर शहीदों को पुष्पांजलि भी अर्पित की। उनके साथ एडीजीपी क्राइम ओपी सिंह, एडीजीपी सीआईडी आलोक मित्तल, एडीजीपी एडमिन एंड आईटी ए.एस. चावला, एडीजीपी (लॉ एंड ऑर्डर), नवदीप सिंह विर्क, डीजीपी (सेवानिवृत्त) के. सेल्वराज, आईजीपी आधुनिकीकरण अमिताभ सिंह ढिल्लों, आईजीपी सीएम फ्लाइंग स्क्वायड राजिंदर सिंह, डीआईजी ओपी नरवाल एवं अन्य पुलिस अधिकारी व जवानों ने भी पुष्पांजलि अर्पित कर शहीदों को नमन किया।


              राज्य सरकार के प्रयासों की सराहना करते हुए डीजीपी ने कहा कि ड्यूटी के दौरान वीरगति को प्राप्त होने वाले पुलिसकर्मियों के परिजनों को 30 लाख रुपये की विशेष अनुग्रह अनुदान राशि प्रदान की जाती है। इसके अतिरिक्त, दुर्घटना मृत्यु बीमा कवर के विशेष समझौते के तहत मृतक कर्मियों के परिजनों को 65 लाख रुपये की आर्थिक सहायता भी दी जा रही है।


             इस अवसर पर पुलिस आयुक्त पंचकूला, सौरभ सिंह ने राज्य पुलिस और केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बलों के शहीदों के नाम पढ़कर उनके द्वारा किए गए सर्वाेच्च बलिदान को याद करते हुए श्रद्धांजलि अर्पित की।


            1959 में चीनी सैनिकों से लड़ते हुए लद्दाख के हॉट स्प्रिंग्स में शहीद हुए 10 पुलिस कर्मियों की याद में हर साल 21 अक्टूबर को पुलिस स्मृति दिवस मनाया जाता है।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

उप श्रम आयुक्त परमजीत सिंह ढुल ने लघु सचिवालय में आयोजित बैठक की करी अध्यक्षता

जो कर्मचारी ई.एस.आई अथवा पीएफ और आयकर में से किसी के भी सदस्य नहीं हैं वे इस पोर्टल पर करवा सकते हैं अपना पंजीकरण- परमजीत सिंह ढुल

For Detailed News-

पंचकूला, 21 अक्तूबर- उप श्रम आयुक्त परमजीत सिंह ढुल की अध्यक्षता में सेक्टर एक स्थित लघु सचिवालय में बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।
इस अवसर पर सहायक श्रम आयुक्त परमजीत ढुल ने जिला की अनाधिकृत मजदूरों/कार्यकर्ताओं को ई-श्रम पोर्टल के माध्यम से पंजीकृत करवाने के लिए संबंधित अधिकारियों से कहा।


उन्होंने कहा कि जो श्रमिक/कर्मचारी ई.एस.आई अथवा पीएफ और आयकर में से किसी के भी सदस्य नहीं हैं वे इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवा सकते हैं। उन्होंने कहा कि इसके लिए वे स्वयं पोर्टल के माध्यम या कॉमन सर्विस सेंटर पर जाकर अपना पंजीकरण कर सकते हैं। इस पंजीकरण के बाद वे केन्द्र सरकार की लगभग 25 योजनाओं का लाभ लेने के साथ-साथ राज्य सरकार की योजनाओं का भी लाभ प्राप्त कर सकेंगे। इसके अलावा वे सरकार द्वारा दिये जाने वाले मासिक राशन भी पूरे भारत में कहीं से भी ले सकेंगे।


उन्होंने कहा कि ई-श्रम पोर्टल पर पंजीकरण करवाने के लिए श्रमिक के पास मोबाइल नंबर से लिंक आधार कार्ड और बैंक पास बुक का होना अनिवार्य है। उन्होंने बताया कि 16 से 59 उम्र वर्ग के श्रमिक इस योजना के लिए पंजीकरण करने के लिए पात्र होंगे।

https://propertyliquid.com


इस अवसर पर उप श्रम आयुक्त भगत प्रताप सिंह, श्रम विभाग के आई.टी. विभाग के अधिकारी एनएस मान, जिला शिक्षा अधिकारी उर्मिला देवी, उप सिविल सर्जन डॉ. नीरू, महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला परियोजना अधिकारी सुनीता नेहरा, श्रम निरीक्षक कृष्ण कुमार तथा तेजवीर सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रज़ा ने की जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक की अध्यक्षता

पंचकूला, 21 अक्तूबर- पंचकूला के अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रज़ा की अध्यक्षता में आज जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम (कोटपा)-2003 के तहत की गई गतिविधियों की समीक्षा की गई।

For Detailed News-


उन्होंने कहा कि शीघ्र ही जिला पंचकूला एक धूम्रपान मुक्त जिला होगा। उन्होंने पुलिस और आबकारी एवं कराधान विभाग के संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे जिला में गैरकानूनी रूप से बिकने वाली सिग्रेट व तंबाकू उत्पादों को रोकने के लिए अधिक से अधिक चालान करें और छापेमारी करें। उन्होंने पुलिस विभाग के अधिकारियों को यह भी निर्देश दिये कि जो व्यक्ति कार व स्कूटर पर धूम्रपान करते पाए जाएं उनका मोटर वाहन अधिनियम के तहत चालान किया जाये। उन्होंने कहा कि हर विभाग में एक नोडल आफिसर नयुक्त किया जाए जो यह सुनिश्चित करे कि कार्यालय में कोई भी कर्मचारी या आम जन धूम्रपान न करे और इसके बारे में एक ‘धूम्रपान निषेध’ का बोर्ड लगवाना भी सुनिश्चित करें।


उन्होंने कहा कि सिगरेट और अन्य तंबाकू उत्पाद अधिनियम (कोटपा)-2003  के तहत हर तीन माह में बैठक का आयोजन किया जाये और कार्यक्रम की समीक्षा की जाये। हर विभाग महीने की 7 तारीख तक अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय में अपने द्वारा किए गए चालान की रिपोर्ट जमा करवाना सुनिश्चित करें।

https://propertyliquid.com


बैठक में नगराधीश सिमरनजीत कौर, राज्य स्तरीय नोडल ऑफिसर डॉ. रीटा, जिला नोडल ऑफिसर डॉ. संदीप, एनजीओ जैनरेशन सेवियर ऐसोसिएशन के प्रतिनिधियों सहित जिला के अन्य विभागों के अधिकारी भी उपस्थित थे।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

पिंजौर गौशाला में लगा दो दिवसीय गौ उत्पाद प्रशिक्षण शिविर

गो उत्पादों को महिलाएं बना सकती है आमदनी का साधन-श्रवण कुमार गर्ग

दीपावली पर पंचकूला के 41 गांव जगमगाएंगे गाय के गोबर से बने दीपकों से

For Detailed News-

पंचकूला अक्टूबर 21:  हरियाणा में महिलाएं गौ उत्पाद बनाना सीख कर उन्हें अपनी आमदनी का जरिया बना सकती है। यह हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन श्रवण कुमार गर्ग ने दो दिवसीय गौ उत्पाद  प्रशिक्षण शिविर के समापन समारोह में प्रतिभागियों को संबिधित करते हुए कहा। जिला के पिंजौर स्थित हरियाणा गौ सेवा आयोग के तकनीकी मार्गदर्शन में श्री कामधेनु गौशाला सेवा सदन में स्थापित गौ अनुसन्धान केंद्र में महिलाओं के लिए आयोजित दो दिवसीय गौ उत्पाद प्रशिक्षण शिविर लगाया गया था। जिसमें 37 महिलाओं ने  विभिन्न प्रकार के गो उत्पाद गाय के गोबर से बने दीपक, गमले, धूप, चटाई, हवन समिधा व कंडे, बर्तन साफ करने का पाउडर, गोमूत्र अर्क, हैंड वॉश, शैंपू, गौ फिनायल, नहाने का साबुन आदि अनेकों प्रकार के उत्पाद बनाने का प्रशिक्षण लिया।
अपने संबोधन में मुख्य अतिथि श्रवण कुमार गर्ग ने प्रतिभागियों को कहा कि इस तरह के उत्पाद बनाने से जहां परिवार में आमदमनी बढ़ाने का काम होगा वहीं दूसरी और गाय की सेवा भी होगी। इससे गौशालाओं को स्वावलंबी बनाने में मदद होगी। उन्होंने शिविर में शामिल सभी 37 महिला प्रतिभागियों को प्रमाणपत्र बांटते हुए कहा कि इस दीपावली पर विदेशी लड़ियों और  विदेशी दीपकों को अलविदा कहकर हम गाय के गोबर से बने दीपको से सब अपनी दीपावली रोशन करें।


इस प्रशिक्षण शिविर में मुख्य प्रशिक्षक के तौर पर प्रसिद्ध गौ विज्ञानिक एवं पारंपरिक चिकित्सक वैद्य राजेश कपूर ने दोनों दिन अपनी टीम के साथ प्रशिक्षण दिया। इस मौके पर हरियाणा गौ सेवा आयोग के उपाध्यक्ष विद्यासागर बाघला, शिविर समन्वयक डॉ अश्वनी कुमार, गौ अनुसंधान केंद्र के ट्रस्टी नवराज धीर, जितेंद्र डोगरा समेत गौशाला प्रबंधक समिति के कई सदस्य मौजूद रहे।

https://propertyliquid.com

बॉक्स:
हरियाणा राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन में पिंजोर ब्लॉक की कलस्टर प्रबंधक सीमा देवी ने भी इस 2 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में भाग लिया। उन्होंने इस शिविर में हुए अपने अनुभव में कहा कि वह इस तरह के उत्पादों का प्रशिक्षण प्राप्त करके बेहद उत्साहित है। इस प्रकार के गौ उत्पाद बनाने के प्रशिक्षण शिविर जल्द ही दोबारा आयोजित किए जाने चाहिए। सीमा देवी ने कहा कि वह महिलाओं के स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से इस दीपावली पर 41 पंचायतों में गाय के गोबर से बने दीपको से दीपावली मनाने का काम करेंगी। यह प्रशिक्षण लेकर वह खुद गांव में और महिलाओं को भी उत्पाद बनाने हेतु प्रेरित करेंगी ताकि महिलाएं गौ सेवा के साथ-साथ अपनी आमदनी भी बढ़ा सकें ।

बॉक्स:
गौ उत्पाद प्रशिक्षण शिविर में प्रशिक्षणार्थी के तौर पर आयुर्वेद चिकित्सक डॉ अनु भारद्वाज ने भी हिस्सा लिया। समापन समारोह पर अपना अनुभव बताते हुए डॉ अनु भारद्वाज ने कहा कि इस तरह के उत्पादों से ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारों को काम मिल सकता है। जिससे प्रदेश में बेरोजगारी की समस्या पर लगाम लगाने का कार्य होगा। उन्होंने कहा कि वह स्वयं जम्मू और कश्मीर में 25 हजार महिलाओं से ऑर्गेनिक हल्दी की खेती करवा रही हैं। इनके साथ साथ प्रदेश के अनेकों क्षेत्रों में इस तरह के उत्पाद बनाने और उन्हें प्रयोग करने हेतु युवा बेरोजगारों को प्रोत्साहित करेंगी।

कृषि यंत्रो/मशीनो पर अनुदान हेतु आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ कर 27 मई हुई

Police Commemoration Day at PU

Chandigarh October 21, 2021

For Detailed News-

 Centre for Police Administration, Panjab University, Chandigarh organized ‘Shaheedon Ko Naman’ to mark the Police Commemoration Day today with Prof. Anju Suri, Dean International Students, as guest of honor.

            Prof. Suri lauded the role of police in maintaining peace and order in the society. According to her the members of the society specially the youth should be thankful to them and draw inspiration from the dedication and devotion shown by the police towards their duty. Later, she led faculty, students, and staff of the centre in paying homage to police martyrs by offering flowers.

            Prof. Anil Monga, Chairperson, Centre for Police Administration while welcoming the guests traced the history of Police Commemoration Day and said that on 21st October, 1959, a patrol party of CRPF was ambushed by the Chinese Army in Hot Springs, Ladakh, in which 10 police personnel were martyred. Since then this day is commemorated to pay homage to the police martyrs. He highlighted that the purpose is to create awareness and sensitize the students towards the sacrifices being made by the Police force.

https://propertyliquid.com

            A documentary film “Wall of Valour” A Tribute to Martyrs was screened on the occasion. The Producer/Director of the documentary film Ms. Beenu Rajput while interacting with the students shared her experiences of making this film. She said that meeting with the families of police martyrs were a life time experience and their sacrifices are invaluable. She made an appeal that people should come forward and provide help to the families and children’s of the police martyrs.

            The event was attended by faculty, research scholars and students of Centre for Police Administration. Dr. Kuldeep Singh, Assistant Professor, Centre for Police Administration proposed vote of thanks to everyone present on the occasion.