विकास के मामले में रानियां बन रहा अग्रणी हलका : रणजीत सिंह

संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के तत्वावधान से स्थानीय संत निरंकारी सत्संग भवन सेक्टर 9 में 22वें रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया

पंचकूला, 19 मई

संत निरंकारी चैरिटेबल फाउंडेशन के तत्वावधान से स्थानीय संत निरंकारी सत्संग भवन सेक्टर 9 में 22वें रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। इस शिविर में कुल 275 श्रद्धालुओं जिनमें 49 महिलाएं भी सम्मिलित थी, ने रक्तदान कर मानवता को एक करने में अपना योगदान दिया।
रक्तदान शिविर का शुभारंभ पूर्व पुलिस महानिदेशक हरियाणा, श्री परमिंदर रॉय ने अपने कर कमलों द्वारा किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि रक्तदान को महादान इसलिए कहा गया है क्योंकि रक्त लेने व देने वाले कि कभी जाति, धर्म , खान -पान व वेशभूषा नही पूछी जाती। केवल मात्र मानवता के परोपकार के लिए कुछ करना होता है, यही भाव निरंकारी सतगुरु माता सुदीक्षा जी आज जन जन तक पहुंचाने का पैगाम दे रही हैं।
चंडीगढ़ के जोनल इंचार्ज श्री के0के0कश्यप जी ने बताया कि इस बार पूरे चंडीगढ़ ज़ोन में 30 शिविर लगाए जा रहे है और आज यह चंडीगढ़ जोन का तीसरा शिविर है । उन्होंने कहा कि सतगुरु माता सुदीक्षा जी महाराज बाबा हरदेव सिंह जी महाराज के उस कथन ” मानव रक्त नालियों में नही, नाड़ियो में बहे ” को किर्यान्वित करने का संदेश दे रही हैं।
सन्त निरंकारी मण्डल की पंचकूला इकाई के संयोजक श्री कुलदीप सिंह जी ने बताया कि 1986 से शुरू किये गए इन शिविरों का आयोजन अब वर्ष भर 24 अप्रैल से किया जाता है।सन्त निरंकारी मंडल विश्व मे अब तक सर्वाधिक रक्दान यूनिट देने वालीी संस्था बन चुकी है।

पंचकूला इकाई के संचालक श्री करनैल सिंह ने बताया कि रक्तदान शिविर में रक्त एकत्रित करने पीजीआई चंडीगढ़ के डॉ सुचेत सहदेव के नेतृत्व में सदस्यीय टीम व नागरिक अस्पताल पंचकूला के डॉ के नेतृत्व में सदस्यीय टीम पहुंची। उन्होंने बताया कि रक्तदान के इलावा मिशन द्वारा वर्ष भर वृक्षारोपण, स्वच्छता अभियान , चैरिटेबल डिस्पेंसरी व निःशुलक पुस्तकालय जैसी गतिविधियों चलाई जाती हैं।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply