विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने यूपीएससी सिविल सर्विसिज में 74वां रैंक हासिल करने पर आयुष गुप्ता को दी बधाई

नशा हटाओ देश बचाओ का संकल्प लेकर करें समाज को नशा मुक्त-प्रवीण अत्री

पंचकूला जून 26:

साईकिल रैली के माध्यम से दूध दही का खाणा-नशा मुक्त हरियाणा का दिया सन्देश

हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद ने अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस के अवसर पर प्रदेश भर में आयोजित किया साइकिल यात्रा अभियान

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने की शिरकत

बोले परिषद भविष्य में भी करवाती रहेगी इस तरह के आयोजन

For Detailed News-


हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस के अवसर पर प्रदेश भर में दूध दही का खाणा-नशा मुक्त हरियाणा साईकिल यात्रा का आयोजन किया गया। पंचकूला में शिशुगृह से साईकिल यात्रा अभियान की शुरुआत शिशु गृह के नन्हे बच्चों द्वारा हरी झंडी दिखाकर की गई। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के मानद महासचिव प्रवीण अत्री और विशिष्ट अतिथि के रूप में मानद कोषाध्यक्ष पवन कुमार ने शिरकत की। साइकिल यात्रा अभियान में 50 से अधिक साइकिलिस्ट शामिल हुए। जिन्होंने कई स्थानीय चौकों से गुजरते हुए नशा छोड़ने का उद्घोष और नशा विरोधी नारों के साथ आमजन को समाज से नशा खत्म करने के लिए प्रेरित किया। कार्यक्रम में उपस्थित सभी लोगों को मुख्य अतिथि मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने नशा मुक्ति पर शपथ दिलाई। मुख्य अतिथि मानद महासचिव प्रवीण अत्री ने अपने संबोधन में कहा कि अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस के अवसर पर परिषद द्वारा प्रदेश के प्रत्येक जिले में नशा मुक्ति साईकिल रैली के माध्यम से जागरूकता का संदेश दिया गया। उन्होंने कहा कि परिषद का उद्देश्य पूरे समाज को नशा मुक्त करना है। इसके लिए परिषद निरंतर कार्य कर रही है। प्रदेश भर में परिषद द्वारा पांच नशा मुक्ति केंद्र चलाए जा रहे हैं। जिनमें अब तक 55 हजार से अधिक लोग नशा मुक्त हो मुख्यधारा में वापिस लौट चुके हैं। उन्होंने कहा कि कोई भी आयोजन तभी सही मायनों में सार्थक होता है। जब उस आयोजन के उद्देश्य को सभी पूरी कर्तव्य निष्ठा के साथ अपने जीवन में आत्मसात करें। उन्होंने कहा कि परिषद भविष्य में भी इस तरह के आयोजन करवाती रहेगी ताकि आमजन में जागरूकता आए। विशिष्ट अतिथि मानद कोषाध्यक्ष पवन कुमार ने कहा कि जब सभी नशा मुक्ति की शपथ को जीवन में भी अमलीजामा पहनाएंगे तभी नशामुक्ति का संदेश जन-जन तक पहुँच सकता है। कार्यक्रम का समापन राष्ट्रीय गान के साथ हुआ। इस अवसर पर सभी प्रतिभागियों ने संकल्प लिया कि वह इस अभियान को जन-जन तक पहुंचाएंगे ताकि सभी स्वस्थ रहें।

https://propertyliquid.com

विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने यूपीएससी सिविल सर्विसिज में 74वां रैंक हासिल करने पर आयुष गुप्ता को दी बधाई

जिला में कल से शरू होगा सब नेशनल इम्यूनाइजेशन डे फ़ॉर पोलियो अभियान – विनय प्रताप सिंह

For Detailed News-

  • 27 जून से 29 जून तक अधिक रिस्क वाले क्षेत्रों में रहने वाले 0-5 वर्ष के 20,519 बच्चों को पिलाई जाएगी पोलियो की दवा – उपायुक्त

-आज एडवांस एक्टिविटी के तहत पंचकूला के अर्बन स्लम में रहने वाले 534 बच्चों को पोलियो की डोज़ दी गयी- उपायुक्त

पंचकूला जून 26: उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया कि जिले में कल 27 जून से सब नेशनल इम्यूनाइजेशन डे फ़ॉर पोलियो शुरू हो रहा है। इसके अंतर्गत 27 जून से 29 जून तक अधिक रिस्क वाले क्षेत्रों में रहने वाले 0-5 वर्ष के 20,519 बच्चों को पोलियो की दवा पिलाई जाएगी।


उपायुक्त ने बताया की सब नेशनल इम्यूनाइजेशन डे फ़ॉर पोलियो के सफल आयोजन के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा सभी आवश्यक तैयारियां पूरी कर ली गई है।
उन्होंने बताया कि जिला में 542 हाई रिस्क वाले स्थानों की पहचान की गई है जिसमे कंस्ट्रक्शन साइट्स, ईंट के भट्ठे, पोल्ट्री फार्म, इंदिरा कॉलोनी, राजीव कॉलोनी इत्यादि शामिल है।
उन्होंने बताया कि इस कार्य के लिए स्वास्थ्य विभाग की 332 सदस्यों की टीम का गठन किया गया है जो ऐसे हाई रिस्क वाले स्थानो पर बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाएगी। इसके अलावा 26 मोबाइल टीम भी बनाई गई है। साथ ही विभाग के कोल्ड चैन पॉइंट्स पर भी फिक्स्ड बूथ की व्यवस्था की गई वहां भी पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी।

https://propertyliquid.com


उन्होंने यह भी बताया कि विभाग द्वारा आज एडवांस एक्टिविटी का आयोजन किया गया जसके तहत पंचकूला के अर्बन स्लम में रहने वाले 534 बच्चों को पोलियो की डोज़ दी गयी।

विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने यूपीएससी सिविल सर्विसिज में 74वां रैंक हासिल करने पर आयुष गुप्ता को दी बधाई

हरियाणा महिला विकास निगम की व्यक्तिगत ऋण योजना के तहत वर्ष 2021-22 के लिए 40 केसों का लक्ष्य निर्धारित – उपायुक्त विनय प्रताप सिंह

For Detailed News-

जिन महिलाओं की वार्षिक आय 1.50 लाख रुपये से कम है तथा परिवार का कोई सदस्य आयकर दाता न हो, वे कर सकती है इस योजना के अंतर्गत आवेदन- उपायुक्त

पंचकूला, 26 जून- उपायुक्त विनय प्रताप सिंह ने बताया की हरियाणा महिला विकास निगम की व्यक्तिगत ऋण योजना के तहत वर्ष 2021-22 के लिए 40 केसों ( 20 अन्य श्रेणी व 20 अनुसूचित जाति ) का लक्ष्य रखा गया है। जिन महिलाओं की वार्षिक आय 1.50 लाख रुपये से कम हो तथा उसके परिवार का कोई सदस्य आयकर दाता न हो वह इस योजना के अंतर्गत 1.50 लाख रुपये तक का ऋण लेने के लिये आवेदन कर सकती है ।


उन्होंने बताया कि इस पर निगम द्वारा 25 प्रतिशत ( अधिकतम 10,000 रुपये अन्य श्रेणी व 25 हजार रुपये अनुसूचित जाति) अनुदान राशि दी जाती है जबकि 10 प्रतिशत लाभार्थी को स्वयं वहन करना पड़ता है। शेष राशि की व्यवस्था राष्टीªयकृत/ सहकारी बैकों से करवाई जाती है।

https://propertyliquid.com

उन्होंने बताया कि ऋण की यह व्यवस्था शहरी और ग्रामीण पात्रों के लिए विभिन्न क्रियाकलापों जैसे की सिलाई, कढ़ाई, करियाना, मनियारी, रेडीमेट गारमैन्टस, कपड़े की दुकान, स्टेशनरी, बुटीक व जनरल स्टोर इत्यादि के लिये उपलब्ध है।

उन्होंने बताया कि इस संबंध में अधिक जानकारी के लिये निगम के जिला कार्यालय हरियाणा महिला विकास निगम, एस0 सी0 ओ0 30, प्रीत काॅम्पलैक्स बिल्डिंग, रैली सैक्टर 12ए, पंचकूला फोन न0 0172-2585271 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने यूपीएससी सिविल सर्विसिज में 74वां रैंक हासिल करने पर आयुष गुप्ता को दी बधाई

कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन बेहद जरूरी : उप सिविल सर्जन डा. बुधराम

For Detailed News-

सिरसा, 26 जून। उप सिविल सर्जन डा. बुधराम ने बताया कि शनिवार को 4463 लाभार्थियों ने कोरोना की डोज लगवाई तथा अब तक जिला में तीन लाख 40 हजार 783 लाभार्थियों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी हैैं। उन्होंने बताया कि 18 से 44 आयुवर्ग के 86 हजार 317 लाभार्थियों को पहली तथा 2656 लाभार्थियों को दूसरी, 45 से 60 वर्ष आयुवर्ग के 81 हजार 591 लाभार्थियों ने कोरोना की पहली तथा 18 हजार 584 लाभार्थियों ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा ली है। इसके अलावा 60 वर्ष से अधिक आयु के 98 हजार 979 लाभार्थियों ने पहली तथा 35 हजार 687 लाभार्थियों ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा ली है। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन बेहद जरूरी है, इसलिए 18 वर्ष से अधिक आयुवर्ग का प्रत्येक व्यक्ति अपना वैक्सीनेशन अवश्य करवाएं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रत्येक व्यक्ति को चाहिए कि वे अपनी नैतिक जिम्मेवारी समझ कर बचाव उपायों व एसओपी गाइडलाइन की अनुपालना करें तभी कोरोना संक्रमण से बचाव संभव है। कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए नागरिकों का सहयोग जरूरी है, इसलिए आमजन जरा भी ढील न बरतें और टेस्टिंग व वैक्सीनेशन अवश्य करवाएं।

https://propertyliquid.com

विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने यूपीएससी सिविल सर्विसिज में 74वां रैंक हासिल करने पर आयुष गुप्ता को दी बधाई

कुरीति हीन समाज की संरचना के लिए सतत प्रयास करने की आवश्यकता : एसडीएम जयवीर यादव

सिरसा, 26 जून।

For Detailed News-


उपमंडल अधिकारी (ना.) जयवीर यादव ने कहा कि सभ्य समाज में नशे के लिए कोई जगह नहीं है, इसलिए नशा मुक्त समाज बनाने के लिए हम सभी को मिलकर सतत प्रयास करने की आवश्यकता है, क्योंकि नशे के कारण ही समाज में विभिन्न प्रकार की कुरीतियों पनपती हैं और कुरीति हीन समाज की संरचना के लिए सभी प्रकार के नशे का जड़ मूल से खात्मा होना चाहिए।


वे आज स्थानीय लघु सचिवालय स्थित बैठक कक्ष में अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस के अवसर पर आयोजित सेमिनार मेें उपस्थित अध्यापकों को संबोधित कर रहे थे। सेनिमार से पहले एसडीएम जयवीर यादव व उप पुलिस अधीक्षक आर्यन चौधरी ने नशा न करने के प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए साइकिल जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया तथा सेमिनार में एसडीएम ने उपस्थित जनों को नशा न करने की शपथ भी दिलवाई। कार्यक्रम में मनोवैज्ञानिक डा. रविंद्र पुरी ने डा. अमनदीप नशा तथा नशीली दवाओं के दुरुपयोग व इससे बचाव उपायों बारे विस्तारपूर्वक जानकारी दी।
एसडीएम ने कहा कि जिला को नशा मुक्त बनाने के लिए उपायुक्त अनीश यादव व पुलिस अधीक्षक भूपेंद्र सिंह के अगुवाई में गंभीरता से कार्य किए जा रहे हैं। स्कूलों व महाविद्यालयों में खेल नर्सरियों की स्थापना की जाए ताकि बच्चे अधिक से अधिक खेल गतिविधियों में भाग लें। उन्होंने कहा कि अध्यापक व अभिभावक भी बच्चों को खेलों के साथ-साथ अन्य सांस्कृतिक गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रोत्साहित करें। इस दिवस का मुख्य उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय स्तर पर नशीली दवाओं व नशे से छुटकारा पाना है तथा समाज को सुदृढ व खुशहाल बनाना है। अंतर्राष्ट्रीय नशा निषेध दिवस प्रतिवर्ष 26 जून को मनाया जाता है ताकि युवाओं को नशे के खिलाफ जागरूक कर इससे होने वाले दुष्प्रभावों बारे अवगत करवाया जाए जिससे नशा मुक्त व स्वस्थ समाज का निर्माण हो सके।

https://propertyliquid.com


उन्होंने कहा कि नशा मुक्त समाज की कल्पना को साकार करने के लिए हम सबको इसके खिलाफ जन जागरूकता पैदा करनी होगी ताकि हम अपनी युवा पीढ़ी को नशे की गिरफ्त में आने से बचा सकें। इसके लिए सबसे पहले हमें स्वयं जागरूक होना होगा और एक मिशन के रुप में एकजुट होकर कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि अध्यापक का समाज में महत्वपूर्ण स्थान होता है और विद्यार्थी उन्हें अपना आदर्श मानते हैं। विद्यार्थियों का अध्यापकों व माता-पिता से सीधा जुड़ाव होता है, इसलिए अध्यापक विद्यार्थियोंं को नशीले पदार्थों व नशीली दवाओं के दुष्प्रभावों के बारे में जानकारी दें। शिक्षा के साथ-साथ हमारी संस्कृति के बारे में जागरूक करते हुए नशा न करने के लिए प्रेरित करें।


मनोचिकित्सक डा. रविंद्र पुरी ने कहा कि नशा सिर्फ एक आदत नहीं, मानसिक रोग भी है। इस रोग की शुरुआत बेशक शौकिया और छोटी-मोटी परेशानियों से होती है, लेकिन धीरे-धीरे ये क्रोनिक रूप धारण कर लेता है। मानसिक रोगों का असर सिर्फ इंसान की मनोस्थिति पर नहीं पड़ता बल्कि उसकी शिक्षा, व्यवसाय सहित पूरे परिवार को प्रभावित करता है। आज समाज में नशा चुनौतीपूर्ण ढंग से बढ़ रहा है, जिसे रोकने के लिए सभी को प्रयास करने होंगे जिससे जिला सिरसा से नशा जड़ मूल से समाप्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि नशे से मानसिक पीड़ा के साथ-साथ माइग्रेन, सिरदर्द एवं चक्कर आना, इनसोमनिया (नींद न आने की बीमारी), चिंता, भय, घबराहट, डिप्रेशन, याददाश्त में समस्या आदि बीमारियां उत्पन्न होती है। उन्होंने कहा कि आमतौर पर नशे की गिरफ्त में फंसे लोगों को सिर्फ दवाएं देकर ठीक करने की कोशिश की जाती है। असल में दवाओं के साथ साथ नशा ग्रस्त की काउंसलिंग भी जरूरी है।


डा. अमनदीप ने बताया कि नशे का जहर समाज को तेजी से निगल रहा है। भावी पीढ़ी भी नशे की चपेट में आ रही है। उन्होंने कहा कि नशीले पदार्थों का प्रयोग एक मनोवैज्ञानिक बीमारी है। नशा सेवन करने वाला इंसान खुद तो तबाह होता ही है साथ ही अपना परिवार भी उजाड़ देता है। नशा त्यागने के लिए दृढ इच्छा शक्ति व संकल्प का होना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि नशे के कारण समाज में आपराधिक घटनाएं भी बढ़ती हैं जोकि भविष्य के लिए चिंता का विषय है। इस प्रकार से नशा केवल व्यक्तिगत नुकसान ही नहीं करता बल्कि पूरे परिवार व समाज को भी बुरी तरह से प्रभावित करता है। उन्होंने कहा कि नशा को समाज से खत्म करना सबकी सामूहिक जिम्मेवारी है। नशे के खिलाफ सभी को एकजुट होकर लड़ना होगा और सभी को जिला को नशा मुक्त बनाने की मुहिम में अपना योगदान देना होगा।

सेमिनार में मंच संचालन अध्यापक चिमन भारतीय ने किया। इस अवसर पर जिला रेडक्रॉस के सचिव लाल बहादुर बेनीवाल, जिला समाज कल्याण अधिकारी नरेश बत्रा, सहायक पवन राणा सहित पुलिस व शिक्षा विभाग के अधिकारी भी मौजूद थे।