ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

BREVITY IS THE SOUL OF SHORT STORIES – Prof. Pankaj Malvia

Chandigarh April 7, 2021

For Detailed News-

“Brevity is the soul of short stories,” said Prof. Pankaj Malvia of the Department of Russian languages, Panjab University, Chandigarh, while addressing budding story writers of the Department of Urdu here today.

Speaking at the first ever online story telling contest organized by the Urdu Department, Prof. Malvia explained that a short story always looked life as a complete whole.

Prof. Malvia said that being a keen observer of men and their manners sorrunding him, a story writer always tried be very close to the real facts of life.  “A reader always see a bit of himself or herself in a short story and is always moved by its contents touching his or her sentiments” he added.

Earlier, Dr. Renu Behl, a noted short story writer while addressing the participants said a story should touch the heart and mind of readers.

While proposing the note of thanks Dr. Ali Abbas said that human life had intimate relationship with literature especially with short stories.

In all there were 19 participants.  Mrs. Gursahiba Gill, Mr. Ashish Puri and Mr. Jaskaran Singh got the first, second and third prize respectively.

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

WHD celebrations on occasion of World health day by DGHS Haryana

Panchkula , April 7-                                   A state wide event was organized by State TB cell to Reteriate National TB elimination program by Dr. Veena Singh DGHS Haryana, Chaired by H’ble ACS Health Haryana Sh. Rajiv Arora IAS in presence of W/S MDNHM Haryana Sh. Prabhjot Singh IAS the event was Hybrid with virtual participation of stakeholders such as district officers & officials of Health Haryana, IMA members from all over the state, Rotary members and other NGO’s.

For Detailed News-

Dr. Veena Singh informed that Health department is putting a tough fight despite COVID pandemic & National TB elimination program is being boosted  to resolve health in equities amongst patients. Building a fairer Healthier world is theme for WHD celebrations this year.

Sh. Prabhjot Singh MD NHM Haryana appreciated the achievements of the state in health sector and has been dedicatedly supporting the department in achieving the goals and targets. W/MD-NHM, focused to involve more and more private sector for general public to avail the health services free of cost. During Covid Pandemic situation all the Health workers did and still performing great job. So all should get together stressed and “Build fairer a healthier world”. 

Sh. Rajiv Arora ACS health Haryana was the chief guest on the occasion. He said that all employees of health have worked with courage & conviction during COVID 19 pandemic and TB program has not been left behind despite all challenges. W/ACS, Health said that a robust mechanism has been setup in all the districts of Haryana. He also briefed about Ayushmaan scheme and Health and Wellness centre during VC on World Health Day. The benefits and protocols be adopted in this scheme. W/ACS, Health focused to implement strategy and various health components into Public and Private sector for effectively implementation.    

Keynote Speaker Dr. Srinivasan from WHO Regional head office highlighted the theme & projects undertaken in Haryana for Health equity & reducing gaps between disease & good health.

To keep fit & prevent NCD one should eat healthy, talk healthy & walk healthy. Sh. Kulwinder Singh Master Chef from Bawa Global synergy shared the secret of healthy diet & recipes. Puppet show by Sunil Bhatt for social advocacy and awareness was sponsored by NGO Rotary Chandigarh Midtown. He shared the story of illness to Health which is the real wealth with great art & style.

ADGHS Haryana Dr. V. K. Bansal informed that virtual participation through all stakeholders govt. private doctors & NGO will give voice to the campaign all over the state.

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

बैंक योजना के पात्रों को समयावधि में दें लाभ : सीटीएम गौरव गुप्ता

सिरसा, 7 अप्रैल।

For Detailed News-


सीटीएम गौरव गुप्ता ने कहा कि सरकार द्वारा आमजन के लिए स्वयं का रोजगार स्थापित करने अन्य आर्थिक सहयोग के दृष्टिगत विभिन्न योजनाएं क्रियान्वित की हैं। सभी बैंक यह सुनिश्चित करें कि इन योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को समयावधि में मिले।


सीटीएम बुधवार को लघुसचिवालय स्थित सभागार में जिला स्तरीय समीक्षा समिति (डीएलआरसी) एवं जिला सलाहकार समिति (डीसीसी) की समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बैंकर्स को निर्देश दिए कि पात्र व्यक्तियों को योजनाओं का लाभ पहुंचाने में देरी न करें और निर्धारित मापदंडों अनुसार योग्य पात्रों को इन योजनाओं का लाभ पहुंचाना सुनिश्चित किया जाए। उन्होंने प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (पीएमएसबीवाई), प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (पीएमजेजेबीवाई), अटल पेंशन योजना (एपीवाई), मुद्रा योजना सहित विभिन्न योजनाओं को लेकर बैंकर्स से रिपोर्ट ली और समीक्षा की। इसके अलावा लंबित आवेदनों को निर्धारित समयावधि में निपटाने के निर्देश दिए।


उन्होंने ने सभी बैंकर्स को निर्दश दिए हैं कि वे केंद्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजनाओं को लेकर निर्धारित लक्ष्यों को प्राप्त करते हुए पात्र लाभार्थियों तक योजनाओं का लाभ पहुंचाने में गंभीरता दिखाएं। उन्होंने बैंक स्तर पर लंबित पड़े मामलों तथा सीएम विंडो, राष्ट्रीय ग्रामीण तथा शहरी आजिविका मिशन, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, मुद्रा योजना, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, पीएम स्वनिधि योजना, अटल पेंशन स्कीम, विभिन्न समाजिक सुरक्षा पेंशन इत्यादि योजनाओं की समीक्षा की और इन योजनाओं के तहत लक्षित ऋण स्वीकृति के संबंध में बैंकों को और अधिक गंभीरता से कार्य करने के निर्देश दिए।


अग्रणी जिला प्रबंधक सुनील कुकरेजा ने बताया कि आत्मनिर्भर, शिशु ऋण, प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना एवं पशु किसान क्रेडिट कार्ड भारत सरकार की प्रमुख योजनायें हैं तथा इनका लाभ देने में सभी बैंक अपनी सक्रियता दिखाएँ। इस बैठक में  पीएनबी के उप मंडल प्रमुख संजीव गर्ग, जीएम डीआईसी ज्ञान चन्द लांगयान सहित सभी सरकारी एजेंसियों के प्रतिनिधि और  बैंकों के डीसीओ ने भाग लिया।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

अधिकारी ई-ऑफिस में न बरतें ढिलाई, फाइलों का ई-ऑफिस से ही हो मूवमेंट : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 7 अप्रैल।

For Detailed News-


            उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि ई-ऑफिस सरकार की एक महत्वपूर्ण योजना है। इसके क्रियान्वयन में किसी भी प्रकार की ढिलाई व लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि कार्यालय में फाइलों का मूवमेंट ई-ऑफिस से ही हो और कोई भी फाइल बिना ई-ऑफिस के स्वीकार न की जाए।


            उपायुक्त बुधवार को लघुसचिवालय स्थित सभागार में विभिन्न योजनाओं की समीक्षा कर रहे थे। इस दौरान उपायुक्त ने ई-ऑफिस, सीएम विंडो, सोशल मीडिया, सरल पोर्टल, पीएनडीटी एक्त, पोक्सो एक्ट, प्ले स्कूल आदि योजनाओं की प्रगति की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। बैठक में सीटीएम गौरव गुप्ता, सीएमजीजीए सुकन्या जर्नादन, जिला शिक्षा अधिकारी संत कुमार सहित संबंधित विभागों के विभागाध्यक्ष व अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


            उपायुक्त ने सबसे पहले ई-ऑफिस प्रणाली की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को सख्त हिदायत देते हुए इस दिशा में गंभीरता से कार्य करने को कहा। इस दौरान ई-ऑफिस में सराहनीय कार्य करने वाले छ: विभागों के विभागाध्यक्षों को सम्मानित भी किया। सम्मानित होने वालों में पशुपालन विभाग, मत्स्य विभाग, पीडब्ल्यूडी बी एंड आर, आयुष विभाग, एसडीएम ऐलनाबाद व सिविल अस्पताल शामिल थे। उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को सम्मानित करने के दौरान उपस्थित दूसरे विभागाध्यक्षों को इनसे प्रेरणा लेते हुए ई-ऑफिस कार्य में तेजी लाने को कहा।


            उन्होंने कहा कि ई-ऑफिस से कार्य करना बहुत ही सरल है, जिससे कम समय में अधिक फाइलों का निपटान किया जा सकता है। ई-ऑफिस से संबंधित यदि कोई भी प्रशिक्षण व तकनीकी दिक्कत आती है, उस बारे अवगत करवाते हुए इसका समाधान करवाएं, ताकि इस दिशा में बेहतर कार्य हो। उन्होंने कहा कि ई-ऑफिस कार्य की हर सप्ताह समीक्षा होगी। इसके लिए सीटीएम की अध्यक्षता में हर वीरवार को बैठक होगी।


            उपायुक्त ने सीएम विंडो के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिए कि हर रोज संबंधित अधिकारी पोर्टल को चैक करना सुनिश्चित करें और कोई पैंडेंसी सीएम विंडों पर न रहे। पोर्टल पर आने वाली शिकायतों को समयावधि में प्राथमिकता के साथ निपटान करें। एक विभाग की अधिक पैंडेंसी से पूरे जिला की रैंकिंग पर असर पड़ता है, इसलिए सभी विभाग सीएम विंडों पर शिकायतों को लंबित न रहने दें। उन्होंने कहा कि सीएम विंडों पोर्टल की मुख्यमंत्री स्वयं समीक्षा करते हैं, इसलिए  इस कार्य को प्राथमिकता से लेते हुए गंभीरतापूर्वक कार्य करें।


            उन्होंने पीएनडीटी एक्ट की समीक्षा करते हुए कहा कि सिरसा जिला लिंगानुपात में नम्बर वन पर है। हमें इस पोजिशन को बरकरार रखना है और इसके लिए लगातार कार्य करते रहना होगा। उन्होंने कहा कि जिस भी गांव या क्षेत्र में लिंगानुपात के सुधार की आवश्यकता है, वहां पर विशेष फोक्स करते हुए कार्य करें। संबंधित विभाग आपसी तालमेल के साथ कार्य करते हुए लिंग जांच व कन्या भ्रूण हत्या करने वालों व ऐसे जघन्य कार्यों में संलिप्त लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाने संबंध में कार्रवाई करें। बेटी बचाओ-बेटी पढाओ अभियान के तहत सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं के बारे में लोगों को जागरूक करें।

            उपायुक्त ने कहा कि सभी आंगनवाड़ी केंद्रों को प्ले स्कूल में तब्दील किया जाएगा, जहां पर प्ले स्कूल की तर्ज पर खेल-खेल में बच्चों को शिक्षा दी जाएगी। उन्होंने मुख्यमंत्री सुशासन सहयोगी को निर्देश दिए कि वे इस कार्य की समीक्षा करते हुए कार्य की प्रगति की रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उपायुक्त ने इसके अलावा विभिन्न योजनाओं की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को इनके क्रियान्वयन में तेजी लाने बारे दिशा-निर्देश दिए। 

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

MCC constitutes sub committees

For Detailed News-

Chandigarh, April 7:- Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor, Chandigarh today informed that Municipal Corporation has constituted the following 12 sub committees (sent to the Administration for approval/notification) for the exercise of powers or discharge of functions of their respective areas:

1.     Sanitation Committee

1. Sh. Bharat Kumar

2. Sh. Shakti Prakash Devshali

3. Smt. Farmila

4. Smt. Asha Jaswal

5. Sh. Jagtar Singh

6. Smt. Sunita Dhawan

7. Smt. Sheela Devi

8. Sh. Charanjiv Singh

9. Ms. Shipra Bansal

2.     Environment & City Beautification Committee

1. Sh. Sachin Kumar Lohtiya

2. Smt. Gurbax Rawat

3. Smt. Heera Negi

4. Sh. Hardeep Singh

5. Sh. Vinod Aggarwal

6. Sh. Rajesh Gupta

7. Sh. Satish Kainth

8. Dr. Jyotsna Wig

9. Maj.Gen. M.S.Kandal

3.     Electricity Committee

1. Sh. Kanwarjeet Singh

2. Sh. Haji Mohd. Khurshid Ali

3. Sh. Rajesh Kumar

4. Sh. Davesh Moudgil

5. Sh. Anil Kumar Dubey

6. Sh. Devinder Singh Babla

7. Sh. Ajay Dutta

8. Sh. Sat Parkash Aggarwal

9.  Sh. Sachin Kumar Lohtiya

4.     Fire & Emergency Services Committee

1. Sh. Gurpreet Singh Dhillon

2. Sh. Sachin Kumar Lohtiya

3. Sh. Mahesh Inder Singh

4. Sh. Davesh Moudgil

5. Sh. Dalip Sharma

6. Sh. Hardeep Singh

7. Sh. Satish Kainth

8. Smt. Ravinder Kaur Gujral

9. Haji Mohd. Khurshid Ali

5.     Apni Mandi & Day Market Committee

1. Smt. Chanderwati Shukla

2.Sh. Rajesh Kumar

3. Smt. Raj Bala Malik

4. Sh Gurpreet Singh Dhillon

5. Sh. Jagtar Singh

6. Smt. Sunita Dhawan

7. Smt. Sheela Devi

8 Smt. Kamla Sharma

9. Dr. Jyotsna Wig

6.     Women Empowerment Committee

1. Smt. Ravinder Kaur Gujral

2. Smt. Asha Jaswal

3. Smt. Farmila

4. Sh. Raj Bala Malik

5. Smt. Heera Negi

6. Smt. Sunita Dhawan

7. Smt. Chanderwati Shukla

8. Smt. Sheela Devi

9. Smt. Shipra Bansal

7.     Enforcement Committee

1Smt. Asha Jaswal

2. Sh. Shakti Prakash Devshali

3. Sh. Mahesh Inder Singh

4. Sh. Arun Sood

5. Sh. Rajesh Kumar

6. Sh. Bharat Kumar

7. Smt. Ravinder Kaur Gujral

8. Sh. Charanjiv Singh

9. Sh. Sachin Kumar Lohtiya

8.     Slum, Colonies & Village Development Committee

1. Sh. Jagtar Singh

2. Sh. Kanwarjeet Singh

3. Smt. Raj Bala Malik

4. Sh. Anil Kumar Dubey

5. Sh. Rajesh Gupta

6. Sh. Dalip Sharma

7. Smt. Sheela Devi

8. Sh. Satish Kainth

9. Sh. Sat Parkash Aggarwal

9.     Arts, Culture & Sports Committee

1. Ms. Shipra Bansal

2. Smt. Heera Negi

3. Sh. Davesh Moudgil

4. Sh. Gurpreet Singh Dhillon

5. Sh. Vinod Aggarwal

6. Sh. Hardeep Singh

7. Smt. Gurbax Rawat

8. Sh. Devinder Singh Babla

9. Sh. Ajay Dutta

10.                        Primary Health Committee

1. Dr. Jyotsna Wig

 2. Sh. Ajay Dutta

 3. Sh. Haji Mohd. Khurshid Ali

4. Smt. Farmila

5. Sh. Dalip Sharma

 6. Sh. Rajesh Gupta

7. Sh. Anil Kumar Dubey

8. Sh. Vinod Aggarwal

 9. Sh. Bharat Kumar

11.                        Cattle Upkeep & Care Committee

1. Smt. Heera Negi

2. Sh. Mahesh Inder Singh

3. Sh. Arun Sood

4. Sh. Shakti Prakash Devshali

5. Sh. Devinder Singh Babla

6. Sh. Satish Kainth

7. Smt. Kamla Sharma

8. Maj. Gen. M.S. Kandal

9. Ms. Shipra Bansal

12.                        Street Vendor Welfare Committee

1. Sh. Shakti Prakash Devshali

2. Sh. Charanjiv Singh

3. Sh. Arun Sood

4. Smt. Asha Jaswal

5. Sh. Anil Kumar Dubey

6. Sh. Jagtar Singh

7. Sh. Kanwarjeet Singh

8. Smt. Chandrawati Shukla

9. Smt. Gurbax Rawat

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल ने पंचकूला जिला के 17 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता द्वारा प्रायोजित स्मार्ट क्लास रूम का उद्घाटन किया।

For Detailed News-

पंचकूला, 7 अप्रैल- प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल भारत के विजन को साकार करने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए हरियाणा के शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल ने पंचकूला जिला के 17 राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों में विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता द्वारा प्रायोजित स्मार्ट क्लास रूम का उद्घाटन किया। शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल  और विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने स्मार्ट क्लास रूम प्रोजैक्ट की शुरूआत राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सेक्टर-6 से की।  


उल्लेखनीय है कि विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने इन 17 स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम के साथ साथ विद्यार्थियों के लिये स्वच्छ पीने के पानी के लिये आॅरो और शौचालयों की व्यवस्था के लिये अपने निजी कोष से 50 लाख रुपये की राशि का योगदान दिया था।


कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में संबोधित करते हुए श्री कंवर पाल ने विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता द्वारा इन स्कूलों में शैक्षणिक स्तर में सुधार लाने व विद्यार्थियों के लिये स्वच्छ पीने के पानी व शौचालयों की व्यवस्था की दिशा में दिये गये सहरानीय योगदान के लिये बधाई दी। उन्होंने कहा कि यह एक अनूठी पहल है, जिसके भविष्य में सार्थक परिणाम देखने को मिलेंगे। उन्होंने कहा कि हालांकि शिक्षा विभाग इस दिशा में अनेक कदम उठा रहा है पर व्यक्तिगत तौर पर वह स्वयं इसी तरह विद्यालयों में अपना योगदान देेंगे और साथ ही सभी मंत्रियों, विधायकों व जनप्रतिनिधियों को भी इसके लिये प्रेरित करेंगे। उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग द्वारा 127 करोड़ रुपये की लागत से स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम बनाये जा रहे है।


 शिक्षा को देश, प्रदेश व समाज के विकास के लिये अह्म बताते हुए श्री कंवर पाल ने कहा कि स्मार्ट क्लास रूम प्रोजैक्ट सरकारी विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों विशेषतौर पर गरीब परिवार से संबंध रखने वाले बच्चों के लिये उपयोगी सिद्ध होगा, क्योंकि वे बिना किसी अतिरिक्त वित्तीय बोझ के डिजिटल शिक्षा ग्रहण कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि सरकारी स्कूलों में इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ साथ शिक्षा में आधुनिक तकनीक का प्रयोग कर, निजी स्कूलों की तर्ज पर विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में सरकार के पास धन की कोई कमी नहीं है। सरकार द्वारा निर्णय लिया गया है कि प्रदेश के सरकारी स्कूलों में शिक्षा ग्रहण कर रहे लगभग 8 लाख 6 हजार विद्यार्थियों को निशुल्क टेबलेट उपलब्ध करवाये जायेंगे। हरियाणा ऐसा पहला प्रदेश है जहां इतनी बड़ी संख्या में विद्यार्थियों को पढ़ाई के लिये टैब्ज उपलब्ध करवाये जा रहे है। उन्होंने कहा कि अध्यापकों का समाज में एक विशेष स्थान है और यह समाज व विद्यार्थियों का दायित्व है कि उन्हें पूरा मान और सम्मान दिया जाये। साथ ही उन्होंने कहा कि अध्यापकों का भी समाज के प्रति दायित्व है। वह अध्यापक के कत्र्तव्य को केवल नौकरी न समझकर राष्ट्रीय निर्माण के कार्य के रूप में लें, जिससे और अच्छे परिणाम आयेंगे। उन्होंने आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में सरकारी स्कूलों के और अच्छे परिणाम आयेंगे, जिससे विद्यार्थियों व उनके अभिभावकों का सरकारी स्कूलों के प्रति और अधिक रूझान बढ़ेगा।


-विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने घोषणा की कि वह इस वर्ष के स्वैच्छिक कोष की राशि में से एक करोड़ रुपये शिक्षा सुधार पर खर्च करेंगे।


विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि स्मार्ट क्लास रूम उनका एक ड्रीम प्रोजैक्ट है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के डिजिटलीकरण व कंप्यूटरीकरण के विजन को आगे बढ़ाने के लिये उन्होंने 6 महीने पूर्व पंचकूला विधानसभा क्षेत्र के 17 स्कूलों में स्मार्ट क्लास रूम बनाने का एक सपना संजोया था, जो आज पूरा हुआ हैं। इन सभी स्कूलों में बच्चों को स्वच्छ पानी उपलब्ध करवाने के लिये आॅरो के साथ साथ शौचालयों की व्यवस्था भी की गई है। उन्होंने कहा कि इस कार्य के लिये 50 लाख रुपये अपने स्वैच्छिक कोष से दिये है। उन्होंने उदारता दिखाते हुए कहा कि यह स्वैच्छिक कोष का पैसा जनता का है और जनता के लिये ही इसका उपयोग किया गया है।


श्री गुप्ता ने कहा कि प्रदेश में शिक्षा के स्तर में गुणात्तमक सुधार लाने की दिशा में मुख्यमंत्री श्री मनोहरलाल द्वारा अनेक प्रयास किये जा रहे है। नई-नई योजनायें बनाई जा रही है ताकि बच्चों को शिक्षा के साथ साथ निजी स्कूलों की तर्ज पर सभी सुविधायें उपलब्ध करवाई जा सके। हालांकि उन्होंने कहा कि पंचकूला में सरकारी स्कूल किसी भी प्रकार से निजी स्कूलों से पीछे नहीं है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि आने वाले समय में सरकारी स्कूलों के परिणाम अच्छे आयेंगे और बच्चों व उनके परिजनों का रूझान सरकारी स्कूलों की तरफ पुनः बढ़ेगा।


उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि शिक्षा के स्तर में सुधार लाने के लिये सरकारी अधिकारियों व जनता के चुने हुए प्रतिनिधियों को स्वयं पहल करते हुए अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में शिक्षा दिलवानी चाहिए। इससे दूसरे लोगों को भी अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में शिक्षा दिलवाने की प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के आत्मनिर्भर भारत के विजन को साकार करने के लिये स्टार्टअपस को आगे लाना जरूरी है। उन्होंने शिक्षा मंत्री से आह्वान किया कि शिक्षा क्षेत्र में लागू होने वाले प्रोजैक्टस में 20 प्रतिशत काम स्टार्टअपस के लिये आरक्षित किया जाना चाहिए, जिससे युवाओं को और अधिक बढ़ावा मिलेगा।


इससे पहले शिक्षा मंत्री श्री कंवर पाल और विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानंचद गुप्ता ने स्मार्ट क्लास रूम में जाकर प्रोजैक्ट की जानकारी ली। इंफोहाईटैक साॅलुशन्ज के कपिल जिंदल ने बताया कि स्मार्ट क्लास रूम प्रोजैक्ट 17 स्कूलों में शुरू किया गया हैं और कोविड काल में यह अध्यापकों और बच्चों के लिये विशेषतौर पर फायदेमंद रहेगा। इसके माध्यम से अध्यापक अपना लैक्चर स्कूल या घर बैठे बच्चों तक ई-मेल और व्हट्सअप के माध्यम से भेज सकेंगे। उन्होंने बताया कि स्मार्ट क्लास रूम में पहली से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिये सभी विषयों की डिजिटल सामग्री के साथ साथ क्यूशन बैंक भी उपलब्ध होंगे।

इस अवसर पर नगर निगम महापौर कुलभूषण गोयल, एलीमेंट्री एजुकेशन विभाग के महानिदेशक श्री नितिन यादव, विभाग के संयुक्त निदेशक श्री विजय सिंह यादव, जिला शिक्षा अधिकारी उर्मिल देवी, जिला प्राथमिक शिक्षा अधिकारी निरूपमा कृष्ण, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय सेक्टर-6 के प्रिंसीपल श्री रजनीश सचदेवा सहित संबंधित स्कूलों के प्रिंसीपल, पार्षद सुरेश वर्मा, नरेंद्र लुबाना, हरेंद्र मलिक, डीपी सिंगल, डीपी सोनी व शिक्षा विभाग के अन्य अधिकारी भी उपस्थित थे।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

ज्ञान चंद गुप्ता की मांग पर रक्षा मंत्री का आश्वासनए जल्द शुरू होगा निर्माण

For Detailed News-

बतौड़ में आर्मी नर्सिंग कॉलेज निर्माण का रास्ता साफ

एचएमटी की जमीन पर रक्षा विनिर्माण उद्योग की मांग    

पंचकूला, 7 अप्रैल- हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता के प्रयास से पंचकूला जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग-73 पर बतौड़ गांव में आर्मी नर्सिंग कॉलेज के निर्माण का रास्ता साफ हो गया है। इस कॉलेज का संचालन भारतीय सेना के पश्चिम  कमान मुख्यालय द्वारा किया जाएगा। नर्सिंग कॉलेज की स्थापना के लिए ज्ञान चंद गुप्ता लंबे अरसे से प्रयासरत थे। इसके लिए वे पहले प्रदेश सरकार से 10 एकड़ भूमि आवंटित करवा चुके हैं। सोमवार को देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से विशेष मुलाकात कर उन्होंने रक्षा मंत्रालय से यह आर्मी नर्सिंग कॉलेज का निर्माण कार्य जल्द शुरू करवाने का आग्रह किया। इसके साथ ही गुप्ता ने रक्षा मंत्री से पिंजौर में एचएमटी की भूमि पर रक्षा उपकरण उद्योग की भी मांग की।


बतौड़ गांव में जहां आर्मी नर्सिंग कॉलेज खुलेगा वह स्थान चंडीमंदिर स्थित पश्चिमी कमान के मुख्यालय से 20 किलोमीटर दूर है। यह 80 फुट चैड़े राष्ट्रीय राजमार्ग से जुड़ा है। यहां नर्सिंग कॉलेज बनाने के लिए ज्ञानचंद गुप्ता के प्रयासों से प्रदेश सरकार ने भूमि उपलब्ध करवाई थी। वर्ष 2019 के फरवरी माह में प्रदेश सरकार ने यह भूमि पश्चिमी कमान मुख्यालय को सौंप दी थी, लेकिन धन के अभाव में कॉलेज का निर्माण नहीं किया जा सका। अब ज्ञानचंद गुप्ता ने रक्षामंत्री राजनाथ से आग्रह कर इसके लिए जल्द अनुदान जारी करवाने की मांग की है।


केंद्रीय रक्षा मंत्री से मुलाकात के दौरान हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने पिंजौर स्थित एचएमटी की जमीन पर रक्षा विनिर्माण उद्योग स्थापित करने की मांग भी की। इस दौरान रक्षा मंत्री और विधान सभा अध्यक्ष के बीच रक्षा विनिर्माण उद्योग और डिफेंस पार्क पर विस्तृत विचार विमर्श हुआ है। गुप्ता ने केंद्रीय मंत्री को बताया कि परियोजना के सिरे चढ़ने पर पंचकूला की पहचान की हेलिकॉप्टर और हवाई जहाजों के एसेंबलिंग हब के रूप में स्थापित होगी। इसके साथ ही रक्षा के क्षेत्र में भारत की आत्मनिर्भरता का अध्याय भी शुरू हो जाएगा।


उन्होंने पिंजौर में प्रस्तावित रक्षा विनिर्माण उद्योग की व्यावहारिकता और उपयोगिता पर विस्तृत ब्योरा दिया। गुप्ता ने बताया कि भारी नुकसान के कारण बंद हुई एचएमटी इकाई की लगभग 800 एकड़ भूमि का समुचित सदुपयोग हो सकेगा। इसके अलावा अंबाला-कालका-शिमला और लद्दाख के राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित होने के कारण इस स्थान का रणनीतिक महत्व भी है।


गुप्ता ने बताया कि भारतीय सेना के पश्चिमी कमान का मुख्यालय चंडीमंदिर भी पास लगता है। इसके साथ ही पंचकूला में भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड ’बेल’ के अलावा रामगढ़ में डीआरडीओ संस्थान, भानु पंचकूला स्थित इंडो तिब्बती सीमा पुलिस बल का बेसिक ट्रेनिंग सेंटर बीटीसी, पिंजौर में सीआरपीएफ का डीआईजी कार्यालय ऐसे प्रतिष्ठान हैं जो प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से भारतीय सशस्त्र बलों और रक्षा के साथ जुड़े हुए हैं। इसके अलावा यह क्षेत्र चंडीगढ़ पीजीआई, पंजाब यूनिवर्सिटी, पंजाब इंजीनियरिंग कॉलेज जैसे बड़े शैक्षणिक संस्थानों से भी घिरा हुआ है। इनसे भी सीधी मदद मिलेगी। आईआईटी रोपड़ और बड़ी संख्या में निजी इंजीनियरिंग कॉलेज भी चंडीगढ़ के आसपास के क्षेत्रों में स्थित हैं।


ज्ञानचंद गुप्ता ने यह भी तर्क पेश किया कि निर्माण पर अधिक जोर होने के अगले 10 वर्षों में ’मेक इन इंडिया’ कार्यक्रम के माध्यम से साथ भारत का पूंजीगत व्यय 200 बिलियन अमरीकी डॉलर से अधिक होने की उम्मीद है। केंद्र सरकार के ’मेक इन इंडिया’ और ’आत्मनिर्भर भारत’ पहल को बढ़ावा देने के लिए रक्षात्मक प्रक्रियाओं को संस्थागत बनाने, सुव्यवस्थित और सरल बनाने, स्वदेशी डिजाइन, प्लेटफॉर्म, सिस्टम के स्वदेशी डिजाइन, विकास और निर्माण को बढ़ावा देने के लिए व्यवस्था की गई है। गुप्ता ने रक्षा मंत्री को यह भी याद दिलाया कि केंद्र सरकार उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में दो रक्षा गलियारे स्थापित कर रही है। पंचकूला का यह प्रस्तावित स्थान यूपी गलियारे के करीब है। इस कारण यह केंद्र की महत्वाकांक्षी परियोजना में भी सहयोगी बनेगा।


देश के अन्य हिस्सों से कनेक्टिविटी के अलावा यह स्थान बहुत ही प्रमुख है। यह हिमाचल प्रदेश लद्दाख और पश्चिमी उत्तराखंड का प्रवेश द्वार है। इस सुविधा का मुख्य रूप से उत्तर और पश्चिमी भारतीय सीमाओं में सक्रिय रक्षा उपकरणों के रखरखाव मरम्मत और सेवा की जरूरतों को पूरा करने के लिए रणनीतिक लाभ होगा।
फोटो कैप्शन- नई दिल्ली में देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मुलाकात करते हरियाणा विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता।