PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

युवाओं के कौशल विकास के लिए इस तरह के कोर्स शुरू किए – श्री मनोहर लाल

चंडीगढ़, 22 फरवरी-

For Detailed News-

हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रदेश के युवाओं के कौशल विकास के लिए इस तरह के कोर्स शुरू किए जाएं जिससे कि उन्हें रोजगार के अच्छे अवसर मिल सकें। साथ ही, कौशल विकास से जुड़े कोर्सों का सर्टिफिकेशन श्री विश्वकर्मा कौशल विश्वविद्यालय, दुधौला (पलवल) से करवाया जाए ताकि लोगों में इन कोर्सेज के बारे में विश्वसनीयता बढ़े।


मुख्यमंत्री आज यहां हरियाणा कौशल विकास मिशन द्वारा तैयार किए गए स्किलिंग पोर्टल के शुभारंभ अवसर पर बोल रहे थे। हरियाणा के कौशल विकास तथा औद्योगिक प्रशिक्षण मंत्री श्री मूलचंद शर्मा भी इस अवसर पर मौजूद रहे।


कौशल विभाग व औधोगिक प्रशिक्षण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ राजा शेखर वुंडरू ने मुख्यमंत्री को बताया  कि इस पोर्टल के माध्यम से 11 विभागों द्वारा चलाए जा रहे कोर्सेज को एकीकृत किया गया है। इसके साथ ही, हरियाणा देश का ऐसा पहला राज्य बन गया है जिसने इस तरह का पोर्टल बनाया है। उन्होंने कहा कि इस पोर्टल के माध्यम से इच्छुक युवा जिला स्तर पर उपलब्ध कोर्स और प्रशिक्षण केंद्र का चयन कर सकते हैं। आने वाले समय में इस पोर्टल का मोबाइल ऐप भी शुरू किया जाएगा।


मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने  कहा कि परिवार पहचान पत्र पोर्टल पर जिन युवाओं ने पंजीकरण करवाया है, उनकी शैक्षणिक योग्यता के अनुरूप ऐसी चीजें सिखाई जाएं जिससे कि वे आत्मनिर्भर बन सकें। इसके अलावा, सक्षम युवा पोर्टल व रोजग़ार पोर्टल के साथ-साथ जन-सहायक ऐप में भी इस पोर्टल का लिंक डाला जाए ताकि 10+2, ग्रेजुएशन तथा पोस्ट ग्रेजुएशन करने वाले युवाओं को भी इन कोर्सेज की जानकारी मिल सके।


मुख्यमंत्री ने कहा कि इस पोर्टल की शुरुआत के साथ ही प्रदेश के युवा अब 357 कौशल प्रशिक्षण केंद्रों में करवाए जाने वाले 200 से अधिक कोर्सेज की जानकारी हासिल कर सकते हैं। इच्छुक युवा कई विकल्पों में से बेहतर का चयन कर सकें, इसके लिए कौशल प्रशिक्षण केंद्रों को सर्टिफिकेशन और प्लेसमेंट में उनके पिछले प्रदर्शन के आधार पर फाइव स्टार रेटिंग भी दी गई है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि कौशल विकास से जुड़े कोर्सेज की समयावधि की जानकारी भी पोर्टल पर दी जाए ताकि इच्छुक युवा अपनी जरूरत व पसंद के हिसाब से कोर्स कर सकें। इसके साथ ही, निर्धारित फीस स्ट्रक्चर के साथ सेल्फ फाइनेंस कोर्स भी शुरू किए जाएं। इस कड़ी में सॉफ्ट स्किल कोर्स करवाए जा सकते हैं। इसके तहत, जापानी, चाइनीज या कोई अन्य विदेशी भाषा सिखाई जा सकती है।


श्री मनोहर लाल ने कहा कि हमें शिक्षा और कौशल के बीच का अंतर समझना होगा क्योंकि स्किलिंग हुनर को तराशने की तकनीक है। इसी तरह, जिसे काम मिल गया हो उसे भी दक्षता बढ़ाने के लिए प्रशिक्षण की जरूरत होती है। उन्होंने कहा कि जिस तरह नए फीचर्स का इस्तेमाल करने के लिए हमें समय-समय पर अपने मोबाइल फोन को अपडेट करने की जरूरत पड़ती है, ठीक उसी तरह सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों के दक्षता सुधार और उन्हें अपडेट करने के लिए भी निरंतर प्रशिक्षण की जरूरत है। इसी कड़ी में राज्य सरकार के कर्मचारियों को हरियाणा लोक प्रशासन संस्थान से प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है।

https://propertyliquid.com


इस अवसर पर सैनिक एवं अर्ध सैनिक कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री वी.एस. कुण्डू, कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. राजा शेखर वुंडरू, तकनीकी शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव श्री आनन्द मोहन शरण, इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग के प्रधान सचिव श्री विनीत गर्ग, रोजग़ार व कौशल विकास एवं औद्योगिक प्रशिक्षण विभाग के महानिदेशक श्री पी.सी. मीणा, हरियाणा कौशल विकास मिशन के मिशन निदेशक श्री अनंत प्रकाश पांडे के अलावा अन्य सम्बन्धित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद रहे।

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

Around 61000 students took Online Exam by PU on Day 8

Chandigarh February 22, 2021

For Detailed News-

Dr. Jagat Bhushan, Controller of Examination informed that around 61000
students of Undergraduate/Post Graduate/Other Professional Courses including
USOL/Private have appeared today on Day 8 of online examination conducted by Panjab
University. He informed that total exams in Slot 1 and Slot 2 were 108 and 57
respectively. He further informed that all the exams conducted today, went off
smoothly.

https://propertyliquid.com

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

National Pharmacy Teachers Training Programme Begins at PU

Chandigarh February 22, 2021

For Detailed News-

A one-week web faculty training school under the initiative of UGC Networking
Resource Centre (UGC-NRC), on “Fundamentals, Advances and Innovative Platforms for
Drug Delivery and Pharmaceutical Technology” from 22 to 27 February 2021 was
inaugurated today via Cisco WebEx at the University Institute of Pharmaceutical
Sciences (UIPS), Panjab University Campus, for pharma faculty participants across
the country by Professor B. R. Mittal, Director, Institute of Medical Sciences,
Banaras Hindu University, Uttar Pradesh.

A total of 40 participants were selected for training, hailing from various
Colleges/Universities, representing 13 different states of India. The training
school intends to provide superior understanding to the participants on fundamental
concepts for product development, innovative drug delivery platforms, regulatory and
technological advancement in pharma industry.

https://propertyliquid.com

Professor Indu Pal Kaur, Chairperson, UIPS and Programme Coordinator, UGC-NRC
welcomed the participants and briefed them about the achievements of UIPS and UGC-
NRC programmes. Professor V. R. Sinha, Dean of University Instruction, Panjab
University and Course Coordinator, 27th UGC-NRC summarized about the course content
to the participants and Dr Amita Sarwal, Joint Course Coordinator conducted the
proceedings of the event.

Professor Mittal highlighted on the importance of Nuclear medicine not only as
diagnostic but also as therapeutic option. He elaborated that radionucleotides
tagging can be used in antibody therapies for breast cancer, neuroendocrine tumors
and thyroid cancer.

Professor Prince Sharma, Former Dean, Faculty of sciences and Professor in
Department of Microbiology, Panjab University, Chandigarh, delivered the Key Note
Address on “Reverse Vaccinology: Developing Vaccines against Drug resistant
Bacterial Pathogens in the Post- Antibiotic Era.” He delivered a very impactful
talk, highlighted the concept of Antibiotic resistance in the current era, and
focused on solutions like repurposing the drugs, combination therapies and
nanomedicine. He showcased his study on “Acinetobacter baumannii” which has been
designated as critical in WHO priority list of pathogens. He concluded his talk with
emphasis on simple hand-washing as an effective method for reducing infections.

Subsequent sessions included a lecture on “Cocrystals as Novel Solid Form of
Pharmaceutical Development” by Professor Arvind Bansal, Professor and Head,
Department of Pharmaceutics, National Institute of Pharmaceutical Education and
Research (NIPER), Mohali, Punjab. He aptly explained that co-crystals can modify the
physico-chemical properties of Active-Pharmaceutical Ingredients. It is a Green-
Synthesis approach for production of pharmaceutical compounds. The post-lunch
session covered informative talks by Professor B. Mishra, Professor of Pharmaceutics
and Former Head, Indian Institute of Technology, Banaras Hindu University, Varanasi,
Uttar Pradesh on “Pulsatile Drug Delivery using Pastilation Technique” can achieve
desired therapeutic effects and reduced side-effects for patient-compliant products
and Professor Bikash Medhi, Department of Pharmacology, Post Graduate Institute of
Medical Education & Research (PGIMER), Chandigarh on “How to apply IND Application
in Drug Delivery Process and Re-purposing of Drug in Pandemic” as a crucial
preliminary step for the approval of drug for public use.

UIPS is the first and the only Pharmacy Institute in the country selected by MHRD
for creating UGC Networking Resource Centre to promote and foster research and
academics in the field of Pharmaceutical Sciences by training young pharma trainers,
selected across the nation.

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

On Day 1 of allotment, Ph.D students returned to PU Hostels

Chandigarh February 22, 2021

For Detailed News-

 Panjab University, Chandigarh today allotted rooms to around 20 Ph.D
students against single occupancy at present on the first day of hostel allotment.
Also, exit semester students of Nuclear Medicine, Medical Physics, MDS and M.Pharma
are allowed to stay in hostels, informed Dr. Sukhbir Kaur, Dean Student
Welfare(Women), PU.

https://propertyliquid.com


        She further informed that the students who are having their departments in
Sector -14 Campus, are allotted the hostels in Sector-14, while those in Sector-25
Campus, are allotted in South Campus. At present, the mess of Girls Hostel No. 4 is
working which is catering to the Sector-14 Campus Girls Hostels and Girls Hostel no.
10 which is open is catering to the Hostels in South Campus. The mess of Boys Hostel
No. 6 is catering to all the Boys Hostels in PU Campus. All SoPs related to Covid
will be strictly followed.

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

Matribhasha Diwas Celebrated at UIFT, PU

Chandigarh February 22, 2021

For Detailed News-

University Institute of Fashion Technology and Vocational Development,
Panjab University, Chandigarh celebrated Matribhasha Diwas by organizing an online
Poem Reciting Competition and Slogan Writing Competition on February 22, 2021. The
idea behind such a day was to inspire solidarity and to promote, preserve and
protect the cultural diversity of languages.


        For Poem Writing Competition, participants were given an opportunity to
recite any poem in his/her style and in any of their native language. 10 minutes
were given to each participant to present. The performances were judged by faculty
of UIFT&VD and winners were chosen. Nitika Sharma, student of MSc semester 1, won
the first prize for reciting self-composed poem in her mother tongue, Punjabi.
Khushi and Gurpreet, students of MSc semester 1, were awarded with 2nd and 3rd prize
respectively.


        For Slogan Writing Competition, Participants were to creatively write a
slogan on 閃ATRI BHASHA DIWAS, in any of their native language. The slogans
submitted were also judged by the faculty of UIFT&VD. Yuvraj Gujjar, a student of
BSc semester1, won the first prize for preparing a slogan in Haryanvi language.
Kashish and Shivani, both students of BSc semester 1, won 2nd and 3rd prize
respectively. Ms Ginni, Research scholar, UIFT & VD organized the event.  Dr Anu H.
Gupta, Chairperson of the department appreciated efforts and creativity of all the
participants and remarked that their presentations whether in the form of slogan or
a poem has reflected connectivity with the roots and appreciation for the culture.

https://propertyliquid.com

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

अलीपुर नग्गल में प्रवासी पक्षियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले वेटलैंड्स {झील} से सटे क्षेत्र को एवियन इन्फ्लुएंजा (एच5एन1) से संक्रमित घोषित किया है।

For Detailed News-

पंचकूला, 22 फरवरी- पशु अधिनियम, 2009 में संक्रामक रोगों की रोकथाम और नियंत्रण (2009 की 27), की धारा 7 की उप-धारा (1) और (2) के साथ पढ़ी जाने वाली धारा 6 की उप-धारा (1) द्वारा प्रदत्त शक्तियों का प्रयोग करते हुए पंचकूला के उपायुक्त श्री मुकेश कुमार आहूजा ने गाँव अलीपुर नग्गल में प्रवासी पक्षियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले वेटलैंड्स {झील} से सटे क्षेत्र को एवियन इन्फ्लुएंजा (एच5एन1) से संक्रमित घोषित किया है।


        उन्होंने बताया कि उपकेंद्रों से 1 किलोमीटर के दायरे के भीतर के क्षेत्र (ग्राम अलीपुर नग्गल में प्रवासी पक्षियों द्वारा उपयोग किए जाने वाले वेटलैंड्स से सटे क्षेत्र) को “इन्फेक्टेड जोन” के रूप में घोषित किया गया है और इससे आगे के क्षेत्र को 1-10 किलोमीटर के दायरे में “सर्विलांस जोन” के रूप में घोषित किया गया है। 


https://propertyliquid.com

        श्री आहूजा ने बताया कि अलर्ट ज़ोन के साथ-साथ सर्विलांस जोन के क्षेत्रों में, किसी भी पक्षी के अंडे या एवियन प्रजातियों के फ़ीड,जो पोल्ट्री, बतख, टर्की, गिनी फाउल आदि को उपरोक्त वर्णित क्षेत्र से किसी अन्य स्थान पर स्थानांतरित नहीं किया जाएगा।  हालांकि, मुक्त क्षेत्रों से स्वस्थ पक्षी, अंडे या फ़ीड उपरोक्त क्षेत्र में प्रवेश कर सकते हैं।

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

वैक्सीन का कोई साइड इफैक्ट नहीं, अधिकारी-कर्मचारी वैक्सीन जरूर लगवाएं और दूसरों को भी प्रेरित करें : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 22 फरवरी।

For Detailed News-

उपायुक्त प्रदीप कुमार ने लगवाई वैक्सीन, कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने के लिए किया प्रेरित


-अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह व सिटीएम गौरव गुप्ता ने भी वैक्सीन लगवाकर कोरोना से बचाव का संदेश दिया


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि कोरोना वैक्सीन का कोई भी साइड इफैक्ट नहीं है। वैक्सीन के बारे में किसी प्रकार की अफवाह के बारे में ध्यान न देते हुए वैक्सीन जरूर लगवाएं और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। कोरोना वैश्विक महामारी से बचाव व इसे जड़मूल से खत्म करने के लिए वैक्सीन लगवाने के साथ-साथ मॉस्क व सोशल डिस्टैसिंग जैसी प्रमुख सावधानियां बरतनी जरूरी हैं। नागरिक वैक्सीन लगवाकर व बचाव उपायों की पालना करके जिला को कोरोनामुक्त बनाने में सहयोग करें।


उपायुक्त ने सोमवार को सामान्य अस्पताल में बनाए वैक्सीनेशन केंद्र पर पहुंचकर वैक्सीन लगवाई और अधिकारियों व कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान उपायुक्त के साथ अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह व सिटीएम गौरव गुप्ता ने भी अपने रजिस्ट्रेशन अनुसार वैक्सीन लगवाई। इस अवसर पर सीएमओ डा. कृष्ण कुमार, डिप्टी सीएमओ वीरेश भूषण, डा. बालेश बंसल सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य स्टाफ के सदस्य भी उपस्थित थे।


जिला में कोरोना वैक्सीनेशन का दूसरा चरण चलाया जा रहा है, जिसमें फ्रंटलाइन वर्कर को वैक्सीन लगाई जा रही है। इसी कड़ी में उपायुक्त प्रदीप कुमार, अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह व सिटीएम गौरव गुप्ता ने स्थानीय सामान्य अस्पताल के वैक्सीनेशन बूथ पर जाकर कोरोना वैक्सीन लगवाई। सभी अधिकारियों को सीएमओ की उपस्थित में पूरी प्रक्रिया की पालना करते हुए वैक्सीन लगाई गई। वैक्सीन लगवाने के बाद सभी ने विक्टरी सैल्फी प्वाइंट पर फोटो खिंचवाते हुए आमजन को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूकता का संदेश दिया।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है और किसी प्रकार का साइड इफैक्ट नहीं है। कोरोना बीमारी से बचाव व इसके खात्मे के लिए कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम का सफलतापूर्वक क्रियान्वयन बहुत जरूरी है। इसके लिए सभी जिलावासियों का सहयोग जरूरी है। उन्होंने कहा कि जिला में दूसरे चरण का वैक्सीनेशन का कार्य चल रहा है, जिसमें फ्रंट लाइन वर्कर को कोरोना वैक्सीन लगाई जा रही है। उन्होंने अधिकारियों व कर्मचारियों को प्रोत्साहित करते हुए संदेश दिया कि वे कोरोना वैक्सीन जरूर लगवाएं, खुद भी बचें और दूसरों को भी सुरक्षित रखने में सहयोग करें।


उपायुक्त ने आमजन से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वैक्सीन से घबराने की जरूरत नहीं है और किसी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दें। उन्होंने कहा कि जिला में कोविड-19 कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन लगाने का कार्य तीव्र गति से जारी है। उपायुक्त ने बताया कि दूसरे चरण के लिए 3377 का रजिस्ट्रेशन किया गया है, जिनमें से अब तक 1213 लाभार्थियों को कोरोना वैक्सीन लगवाई जा चुकी है। उन्होंने सभी विभागाध्यक्षों को कहा कि वे अपने कर्मचारियों का रजिस्ट्रेशन स्वास्थ्य विभाग में जरूर करवाएं ताकि सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन लगवाई जा सके।


अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने कहा कि अधिकारी व कर्मचारी आगे आकर वैक्सीन लगवाकर आमजन के लिए प्रेरक की भूमिका निभाएं। उन्होंने कहा कि वैक्सीन से किसी प्रकार के डरने की जरूरत नहीं है। वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है। उन्होंने कहा कि रजिस्ट्रेशन के तहत चरणबद्ध तरीके से वैक्सीन लगाने का कार्य तेजी से चल रहा है। अधिकारी व कर्मचारी अपने फोन पर वैक्सीन लगाने के संदेश आने पर वैक्सीन लगवाने संबंधित बूथ पर जाकर वैक्सीन जरूर लगवां।

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

2020-21 में बोई गई फसलों का विवरण मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल पर शीघ्र करवाना सुनिश्चित करें।

पंचकूला, 22 फरवरी- उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने जिला के किसानों से आग्रह किया है कि वे रबी 2020-21 में बोई गई फसलों का विवरण मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल (fasal.haryana.gov.in)  पर शीघ्र करवाना सुनिश्चित करें।

For Detailed News-


उन्होंने कहा कि यह सरकार की महत्वपुर्ण स्कीम हैं, जिसके तहत किसानों द्वारा अपने कृषि उत्पादों को मण्डियों में बेचने एंव कृषि या बागवानी विभाग से सम्बन्धित योजनाओं का लाभ उठाने के लिये अपनी फसलांे का पंजीकरण मेरी फसल मेरा ब्यौरा में करवाना अनिवार्य है।

https://propertyliquid.com


उन्होंनेे कहा कि पंजीकरण के लिए किसान अपने नजदीकी काॅमन सर्विस सैन्टर या कृषि अधिकारी से सम्पर्क कर सकते हैं। सरकार द्वारा चलाई जा रही सभी योजनाओं का लाभ प्राप्त करने के लिए जैसे कि फसल बिक्री, कृषि यन्त्रों पर सब्सिडी प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना इत्यादि का लाभ केवल पंजीकृत किसानों को दिया जाएगा। रबी 2020-21 मंे बोई गई फसलों की खरीद भी इस योजना के तहत की जाएगी। इसके लिये किसानों द्वारा इस पोर्टल पर अपना पंजीकरण करवाना अनिवार्य है, चाहे वो अपनी फसल मण्डी में बेचना चाहते हैं या नही चाहते हो। किसानों द्वारा अपनी फसलों के पंजीकरण के लिये परिवार पहचान पत्र का होना अनिवार्य है।

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

सहायक निदेशक गुरप्रताप सिंह को मिला एमएसएमई सेंटर का अतिरिक्त कार्यभार

सिरसा, 22 फरवरी।

For Detailed News-


सहायक निदेशक गुरप्रताप सिंह को सिरसा के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योग (एम.एस.एम.ई) केंद्र का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है। गुरप्रताप सिंह ने सोमवार को अपना कार्यभार संभाल लिया है। इसके अलावा इन्हें फतेहाबाद व हिसार के एमएसएमई केंद्र का भी अतिरिक्त कार्यभार सौंपा गया है।


गुरप्रताप सिंह ने बताया कि किसी भी देश के विकास में सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्योगों(एमएसएमई) का महत्वपूर्ण योगदान है। इसी उद्ेश्य के तहत एमएसएमई को बढावा देने के लिए जिला स्तर पर एमएसएमई सैंटर स्थापित किया गया हैं। उन्होंने बताया कि एमएसएमई सैंटर की सभी प्रकार की गतिविधियां जिला उद्योग केंद्र सिरसा से संचालित की जाएंगी।

https://propertyliquid.com

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

महिला सवारी की मदद करने वाले रोडवेज कर्मचारियों को उपायुक्त ने प्रशस्ति पत्र देकर किया सम्मानित

सिरसा, 22 फरवरी।

For Detailed News-


महिला बस सवारी से पर्स छीनकर भागने वाले को पकडऩे के बहादुरी कार्य के लिए उपायुक्त प्रदीप कुमार ने रोडवेज के निरीक्षक व चालक को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया और इस कार्य के लिए दोनों की सराहना करते हुए पीठ भी थपथपाई। इस दौरान सिटीएम गौरव गुप्ता व रोडवेज महाप्रबंधक के.आर कौशल भी मौजूद थे।


गत दिनों सिरसा बस स्टैंड पर महिला बस सवारी से एक व्यक्ति पर्स छीनकर भाग रहा था। महिला द्वारा मदद मांगने पर वहां पर मौजूद रोडवेज में निरीक्षक पद पर कार्यरत सुरेंद्र पाल सिंह व किलोमीटर स्कीम बस के चालक दलबीर सिंह ने पर्स छीनने वाले का पीछा करते हुए उसे बस स्टैंड परिसर में ही दबोच लिया। महिला के पर्स में नकदी व कीमती जेवर थे। इस बाहदुरी व उत्कृष्ट कार्य के लिए उपायुक्त ने दोनों कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि इस तरह के कार्य समाज में एक सकारात्मक संदेश देते हैं और भाईचारे को सुदृढ बनाते हैं। उन्होंने कहा ऐसे बहादुरी भरे कार्यों से असामाजिक तत्वों को भी सबक मिलता है और उनमें भय पैदा होता है। रोडवेज के कर्मचारियों ने पर्स छीनने वाले को पकड़कर न केवल महिला की मदद की बल्कि समाज में एक-दूसरे की मदद करने का संदेश भी दिया है। उन्होंने कहा कि इस तरह के कार्य दूसरों के लिए प्रेरणादायी बनते हैं।