उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

जम्मु कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए मेजर अनुज सूद की शहादत पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने उनके अमरावती स्थित एन्कलेव में पहुंचकर शोक संतप्त परिवार का ढांढस बंधाया।

जम्मु कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए मेजर अनुज सूद की शहादत पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने उनके अमरावती स्थित एन्कलेव में पहुंचकर शोक संतप्त परिवार का ढांढस बंधाया।

पंचकूला 3 मई- जम्मु कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुए मेजर अनुज सूद की शहादत पर हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने उनके अमरावती स्थित एन्कलेव में पहुंचकर शोक संतप्त परिवार का ढांढस बंधाया। उन्होंने शहीद के पिता बिग्रेडियर चंन्द्र कांत व उनकी माता सुमन से मुलाकात कर शहीद के परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त की। उनके साथ जिला सैनिक बोर्ड के सचिव कर्नल नरेश ने शौक संतत्प परिवार का ढांढस बंधाया।

For Detailed News-


श्री गुप्ता ने कहा कि हमें मेजर की शहादत पर गर्व है जोे उग्रवादियों से लोहा लेते हुए वीरगति को प्राप्त हुए। ऐसे शहीदों को नमन है जिन्होंने देश की अखण्डता व एकता को बनाए रखते हुए अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने सैनिकों के लिए अनेक जनकल्याणकारी योजनाएं क्रियान्वित की है जिसके तहत 50 लाख रुपए की राशि प्रदान की जाती है। उन्होंने शौक संतप्त परिवार का ढांढस बंधाते हुए कहा कि हरियाणा सरकार की ओर हर सम्भव सहायता उपलब्ध करवाई जाएगी। उन्होंने शहीद हुए अन्य सैनिकों के प्रति भी शौक व्यक्त किया।

https://propertyliquid.com/


उल्लेखनीय है कि मेजर अनुज सूद का जन्म 17 दिसम्बर 1989 बंगलौर के पोस्ट अस्पताल मंें हुआ उस समय उनके पिता ब्रिगेडियर वहां पर तैनात थे। आर्मी स्कूल सें शिक्षा ग्रहण करने के बाद से मेजर अनुज सूद देहरादून से एनडीए में भर्ती हुए। सितम्बर 2017 में उनकी शादी धर्मशाला निवासी आकृति से हुई। उनके पिता ने बताया कि शहीद हुए आशुतोष भी उनके बेच मेट है। उनकी शहादात पर उन्हे गर्व है। यह उनके घर में दूसरी शहादत है। इससे पहले उनकी दतक बेटी के पति भी 1995 में शहीद हुए थे। उनकी बहन हर्षिता भी सेना में कैप्टन के पद पर कार्यरत है, जो नैशनल लेवल की शूटर है ओर आजकल इंदौर के माऊ स्थित आर्मी मास्कमेनशिप युनिट में प्रशिक्षण प्राप्त कर रही है। मेजर अनुज सूद एक बड़ी बहन आस्ट्रेलिया में रहती हैं।


जम्मू कश्मीर के हंदवाड़ा में शहीद हुये 21 राष्ट्रीय राइफल्स के मेजर अनुज सूद (30) पंचकूला स्थित अमरावती एनक्लेव के मकान नंबर 38 के रहने वाले थे। इनके पिता सीके सूद भी ब्रिगेडियर (सेवानिवृत) हैं और माता समुन यमुनानगर के एक सरकारी स्कूल में बतौर प्रिंसीपल कायर्रत हैं। मेजर अनुज सूद की दो साल पहले शादी हुई थी। उनकी कोई संतान नहीं है। सूद परिवार लगभग 8 माह पूर्व पंचकूला स्थित अमरावती एनक्लेव में रहने आया था और अभी कोठी भी निर्माणाधीन है। मेजर सूद की पत्नी पुणे मेें एक प्राइवेट कंपनी में कार्यरत हैं। मेजर सूद का पार्थिव शरीर सोमवार को पंचकूला पहंुचेगा।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

PU to remain Closed till May 17,2020

Chandigarh May 3, 2020

PU to remain Closed till May 17,2020

For Detailed News-

The Panjab University, Chandigarh including Regional Centres,
Constituent and Affiliated Colleges shall continue to remain closed
till May 17, 2020, informed Prof Karamjeet Singh, Registrar.

https://propertyliquid.com/

In addition, the guidelines being issued/released  by the Government
of India  from time to time will also be applicable.  These will be
communicated separately, as and when these are received.

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि जिला के नागरिकों को कोरोना के चलते लाॅकडाउन केे दौरान उचित दर पर सब्जी एवं फल उपलब्ध करवाने के लिए फलों एवं सब्जी के रेट निर्धारित किए है।

पंचकूला 3 मई- उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि जिला के नागरिकों को कोरोना के चलते लाॅकडाउन केे दौरान उचित दर पर सब्जी एवं फल उपलब्ध करवाने के लिए फलों एवं सब्जी के रेट निर्धारित किए है। 

For Detailed News-

उपायुक्त ने इन रेटों को सचिव मार्केट कमेटी बरवाला, पंचकूला, रायपुर रानी एवं इंसीडेंट कमाण्डर को भेजते हुए निर्देश दिए है कि जिला प्रशासन द्वारा तय किए गए फल एवं सब्जी के थोक एवं खुदरा रेट पर ही नागरिकों को फल एवं सब्जी उपलब्ध करवाना सुनिश्चित करें। अगर कोई खुदरा विक्रेता आम नागरिकों से सब्जी एवं फलों के निर्धारित कीमत से ज्यादा पैसे वसूल करते पाया जाता है तो उनके खिलाफ नियमानुसार सख्त कार्यवाई अमल में लाई जाए। 

https://propertyliquid.com/

 उपायुक्त ने बताया कि किन्नोर सेब 100 से 130 रुपए, सेब 80 से 85 रुपए, हरा अंगूर 80 से 90, काला अंगूर 90 से 100, पपीता 40 से 45 अमरूद 60 से 65, किन्नु 40 से 45, चीकू 50 से 55, स्ट्राबेरी 40 से 45, कंधारी अनार 90 से 95, सफेदा आम, 80 से 90, सिंदुरी आम 150 से 170 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार तरबूज व आलू, घिया, कद्दू हरा, पत्ता गोभी, खीरा, धनिया, पालक 20 से 25 रुपए, प्याज 25 से 30, मटर , खीरा पोली हाउस 40 से 45, टमाटर, हरा प्याज 25 से 30, गाजर व कद्दू पीला, फुलगोभी, मेथी, पुदीना 30 से 35, बैंगन-बैंगनी, शिमला मिर्च, करेला, हरी मिर्च, चुकुन्दर, ककड़ी 35 से 40, भिंडी 75 से 80, फ्रांसबीन, कटहल 50 से 55, लाल पीली शिमला मिर्च 180 से 190, जीमीकंद 50 से 60, अरबी 60 से 65, मूली 15 से 20, अदरक 90 से 100, लहसून 140 से 150 रुपए प्रति किलोग्राम की दर से बिक्री की जा सकेगी। इसी प्रकर केला 55 से 60 रुपए दर्जन, कीवी 20 से 25 प्रति पीस बेचा जा सकेगा।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

पंचकूला के नागरिक अस्पताल सैक्टर 6 में चंडीमंदिर पश्रिमी कमाण्ड के ब्रिगेडियर टी0एस0मुंडी के नेतृत्व में जवानों ने कोरोना वीर योद्वाओं का आर्मी बैंड की देशभक्ति धुनों से सम्मान किया।

पंचकूला के नागरिक अस्पताल सैक्टर 6 में चंडीमंदिर पश्रिमी कमाण्ड के ब्रिगेडियर टी0एस0मुंडी के नेतृत्व में जवानों ने कोरोना वीर योद्वाओं का आर्मी बैंड की देशभक्ति धुनों से सम्मान किया।

पंचकूला 3 मई- पंचकूला के नागरिक अस्पताल सैक्टर 6 में चंडीमंदिर पश्रिमी कमाण्ड के ब्रिगेडियर टी0एस0मुंडी के नेतृत्व में जवानों ने कोरोना वीर योद्वाओं का आर्मी बैंड की देशभक्ति धुनों से सम्मान किया और सेना के हेलीकाॅप्टर ने खुले आसमान से कोरोना वाॅरियर्स पर फुलों की बारिश कर उनको सलाम किया।

For Detailed News-


ब्रिगेडियर ने कहा कि जो फर्ज आज कोरोना वाॅरियर्स ने निभाया है उनके सहयोग से कोरोना की लड़ाई जीतने में कामयाब होंगें और जिला ही नहीं अपितु प्रदेश को कोरोना मुक्त बना सकेंगें। लेफ्टिनेंट कर्नल ए बिश्वास व अजय पटियाल के मार्गदर्शन से यह कार्यक्रम आयोजित किया गया। इस दौरान अस्पताल पसिर को भव्य रूप दिया गया। बैंड की बजती धुनों से सारा वातावरण उन कोरोना योद्वाओं का सम्मान कर रहा था। जो पिछले एक महीने से अधिक समय से अस्पताल के बाॅर्डर पर अपना फर्ज निभाने के लिए तत्पर खड़े हुए हैं।

https://propertyliquid.com/


अतिरिक्त उपायुक्त मनीता मलिक व एसडीएम धीरज चहल के मार्गदर्शन में जिस प्रकार से आज जिला कोविड-19 की इस समस्या से गुजर रहा है। उसमें इन कोरोना वाॅरियर्स के योगदान से हम जिले को कोरोना रहित बनाने की ओर अग्रसर है। जिस प्रकार से डाॅक्टर, पैरा मेडिकल स्टाॅफ, पुलिस प्रशासन, सफाई कर्मचारी व स्वयं सेवक इस महामारी में आगे आए हैं, वो काबिले तारीफ है। कोरोना योद्वाओं ने जान की परवाह किए बिना अपनी सेवाएं दी हैं। जिस जोश से यह यौद्वा काम कर रहे हैं, उनका उत्साहवर्धन करने के लिए भारतीय सेना की यह छोटी सी भेंट है। जब भी देश किसी संकट से गुजरता है तो सभी लोग सेना का मनोबल बढ़ाने के लिए आगे आते हैं। इस बार डाॅक्टर, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ पहली पंक्ति के सैनिक हैं और भारतीय सेना सबके साथ खड़ी है।


सिविल सर्जन डाॅ जसजीत कौर ने कहा कि भारतीय सेना ने एक बहुत ही अच्छी पहल की है। कोरोना वरियर्स देशवासियों को महामारी से बचाने के लिए दिन रात जी जान से लगे हुए हैं। उनमें से कुछ बीमार भी हुए हैं लेकिन इस समय उनका मनोबल बढ़ाने की जरूरत भी थी। ऐसे में सरकार व भारतीय सेना का इस कदम से उनके हौंसलों को नई उड़ान मिलेगी ओर वे ओर जोश व उत्साह से लोगों की सेवा करेंगे।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

फल उत्कृष्टïता केन्द्र मांगेआना में 8 मई को होगी फलों की नीलामी

सिरसा, 3 मई।

किसान उत्पादक समूह लेंगे नीलामी प्रक्रिया में भाग


                   हरियाणा प्रदेश के किसान उत्पादक समूहों की मांग को देखते हुए फल उत्कृष्टïता केन्द्र मांगेआना में आगामी 8 मई को वर्ष 2020-21 के लिए फलों की नीलामी की जाएगी। इस प्रक्रिया में केवल विभाग के साथ पंजीकृत किसान उत्पादक समूह (एफपीओ) ही भाग ले सकेंगे।


                   उद्यान विभाग के उप निदेशक एवं फल उत्कृष्टïता केंद्र मांगेआना डा. आत्म प्रकाश ने बताया कि उद्यान विभाग द्वारा प्रदेश में व्यावसायिक कृषि मॉडल को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से 8 मई को प्रात: 11 बजे फल उत्कृष्टïता केन्द्र मांगेआना में विभिन्न फलों की नीलामी की जाएगी। उन्होंने बताया कि इस प्रक्रिया में किन्नों, माल्टा, अनार, अमरुद, बेर एवं खजूर आदि फसलों की नीलामी की जाएगी।

For Detailed News-


उन्होंने बताया कि इस प्रक्रिया में 8 से 13 वर्ष आयु के 13 एकड़ में 1968 नींबू वर्गीय (सिट्रस) के पौधे, 8 वर्ष आयु के 6 एकड़ में 986 अनार के पौधे, 9 वर्ष आयु के 3 एकड़ में 400 अमरुद के पौधे, 8 वर्ष आयु के 6 एकड़ में 378 खजूर के पौधे तथा 26 वर्ष आयु के 3 एकड़ में 100 बेर के पौधे की फसल शामिल है। उन्होंने बताया कि नीलामी प्रक्रिया में भाग लेने के लिए प्रत्येक बोलीदाता किसान उत्पादक समूह को 50 हजार रुपये की अग्रिम धरोहर राशि जमा करवानी होगी। प्रत्येक सफल बोलीदाता के अतिरिक्त सभी नीलामी के पश्चात वापिस कर दी जायेगी। उन्होंने बताया कि सफल बोलीदाता द्वारा जमा अग्रिम राशि को नीलामी राशि में सम्मिलित कर दिया जाएगा।

https://propertyliquid.com/


                   उन्होंने बताया कि नीलामी के दौरान कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के मद्देनजर सभी बोलीदाता सोशल डिस्टेंसिंग का विशेष ध्यान रखेंगे व मास्क का प्रयोग करेंगे। प्रत्येक एफ.पी.ओ. सदस्य द्वारा अपना आधार कार्ड, एफपीओ प्रमाण पत्र व किसान उत्पादक समूह के अध्यक्ष का बोली में भाग लेने के लिए अधिकृत पत्र साथ लाना होगा। बिना आधार कार्ड व प्रमाण पत्र के बोली में भाग नहीं ले सकता। बोली में भाग लेने के इच्छुक एफपीओ सदस्य को केंद्र पर प्रात: 10 बजे के बाद प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। अधिक जानकारी के लिए मोबाइल नम्बर 94466-62540 व 94665-84020 पर सम्पर्क कर सकते है। उन्होंने बताया कि इच्छुक बोलीदाता इस बारे अधिक जानकारी के लिए उप निदेशक उद्यान फल उत्कृष्टïता केंद्र मांगेआना कार्यालय में किसी भी कार्य दिवस में सम्पर्क कर सकते हैं।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष विभाग ने तैयार की औषधीय किट

सिरसा, 3 मई।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष विभाग ने तैयार की औषधीय किट


                   आयुष विभाग द्वारा वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के खिलाफ अग्रिम पंक्ति में रह कर जन-सेवा करने वाले नगर-पालिका/नगर-परिषद के कर्मचारियों, पुलिस विभाग के कर्मचारियों, पंचायत विभाग के कर्मचारियों जन-प्रतिनिधियों के लिए रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के उद्देश्य से औषधियों की विशेष किट तैयार की गई है। इसमें दस दिन की आयुर्वेदिक औषधियां है। आयुष विभाग द्वारा जिला में कार्यरत कर्मचारियों के लिए कुल 12098 किट संबंधित विभागों के अधिकारियों को संपूर्ण दिशा-निर्देशानुसार उपलब्ध करवा दी है।

For Detailed News-


                   जिला आयुर्वेदिक अधिकारी डा. गिरीश चौधरी ने बताया कि आयुष विभाग द्वारा प्रत्येक उपमंडल व खण्ड स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है जो कि संबंधित विभागों के माध्यम से उनके कर्मचारियों तक औषधियां पहुंचवाने के लिए समन्वय स्थापित करेंगे तथा इस संबंध में परामर्श के लिए उपलब्ध रहेंगे। इस कार्य को सफलतापूर्वक सम्पन्न करवाने के लिए खंड सिरसा/बड़ागुढा के लिए डा. राज कुमार, खंड डबवाली के लिए डा. लोकेश्वर दत्त, खंड ऐलनाबाद के लिए डा. शिव प्रकाश, खंड कालांवाली/ओढां के लिए डा. पूनम, खंड रानियां के लिए डा. गंगा विष्णु तथा खंड नाथूसरी चौपटा के लिए डा. पवन कुमार नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए है।

https://propertyliquid.com/


                   उन्होंने बताया कि आयुष विभाग भारत सरकार द्वारा इस महामारी से बचने के लिए जन साधारण को रोग प्रतिरोधक क्षमता बढाने के लिए उपाय बताए गए हैं। इस सलाह के अनुसार सभी को कोसे जल का सेवन करना चाहिए, ताजा व घर में बना सुपाचय भोजन करना चाहिए, भोजन में लहसुन, जीरा, धनिया इत्यादि का प्रयोग उचित मात्रा में करना चाहिए, दिन में एक/दो बार आधा चम्मच हल्दी दूध में मिला कर पीना चाहिए। इसके अतिरिक्त, सौठ, तुलसी, दालचीनी, काली मिर्च, पिप्पली का काढ़ा बना कर पीना चाहिए। इन विधियों से जन साधारण में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। उन्होंने आमजन से आह्वïान किया कि इस महामारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिग, स्वयं की व सामुदायिक स्वचछता आदि नियमों का निरंतर रूप से पालन करें व लक्षण दिखाई देने पर चिकित्सक की सलाह आवश्य लें।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

उपायुक्त ने बताया कि जिला प्रशासन द्वारा बाढ बचाव को लेकर 13.88 लाख रुपए की 5 परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं।

राज्यों से आने वाले वे व्यक्ति जो जिला सिरसा से होकर अपने गंतव्य (अन्य जिला/राज्य) की ओर जा रहे हैं तथा उनके पास वैध मुवमेंट पास / अथोरिटी लैटर है तो ही उन्हें आगे जाने की अनुमति दी जाएगी।

सिरसा, 3 मई।

For Detailed News-


               उपायुक्त रमेश चंद्र बिढ़ान ने बताया कि जिला सिरसा की सीमाएं पंजाब व राजस्थान से लगती हैं जिसमें पंजाब के जिले मानसा, बठिंडा, मुक्तसर व फाजिल्का तथा राजस्थान राज्य के जिला हनुमानगढ शामिल है। ऐसे में प्रवासी श्रमिक, तीर्थयात्री, पर्यटक, छात्र व आमजन की आवाजाही लॉकडाउन की पालना को प्रभावित कर सकते हैं और कोरोना वायरस संक्रमण के फैलाव की संभावना बढ़ा सकते हैं।

https://propertyliquid.com/


                   उन्होंने बताया कि पड़ोसी राज्यों से आने वाले वे व्यक्ति जो जिला सिरसा से होकर अपने गंतव्य (अन्य जिला/राज्य) की ओर जा रहे हैं तथा उनके पास वैध मुवमेंट पास / अथोरिटी लैटर है तो ही उन्हें आगे जाने की अनुमति दी जाएगी। ये नियम उन व्यक्तियों पर लागू नहीं होंगे, जिनके आवास जिला सिरसा की सीमा के भीतर हैं, लेकिन कटाई / बुवाई आदि के लिए सीमा पार स्थित अपने कृषि फार्मों / खेतों में जाना पड़ता है। सीमा व नाकों पर ऐसे व्यक्तियों के का पूर्ण ब्यौरा (आना-जाना, समय व मोबाइल नम्बर) देना होगा। इसके लिए उपमंडल अधिकारी नागरिक सिरसा, डबवाली, ऐलनाबाद व कालांवाली को इंसिडेंट कमांडर बनाया गया है। उन्होंने बताया कि वे अपने-अपने अधिकार क्षेत्रों में आदेशों को प्रभावी ढंग से लागू करवाना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने बताया कि पड़ोसी राज्यों में कार्य करने वाले कर्मचारी चाहें वे सरकारी, पब्लिक, प्राइवेट सैक्टर या केंद्रीय व जनरल पब्लिक सैक्टर में काम कर रहे हैं वे उसी कैंपस या उसके आसपास के क्षेत्र में ही अपने रहने की व्यवस्था करें तथा किसी भी स्थिति में राज्य की सीमा को पार न करें। आदेशों की अवहेलना करने वाले व्यक्ति के विरुद्ध कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!