*MCC organizes special workshop for students on World Paper Bag Day*

*टीबी मुक्त अभियान की पहली त्रिमाही समीक्षा में जिला पंचकूला ने पाया प्रदेश में प्रथम स्थान – ज्ञानचंद गुप्ता*

*पंचकूला में मेडिकल काॅलेज की शुरूआत जल्द, सभी औपचारिकताएं हुई पूरी – विधानसभा अध्यक्ष*

*अब तक पंचकूला जिला में टीबी मरीजों का पोषण योजना के तहत रोगियों के खाते में भेजे 3.24 करोड़ – ज्ञानचंद गुप्ता*

*टीबी मुक्त अभियान के तहत जिला की 26 पंचायतों को स्मृति चिन्ह, एक-एक पौधा और प्रशंसा पत्र देकर किया सम्मानित*

For Detailed

पंचकूला, 4 जुलाई – हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि टीबी मुक्त अभियान की वर्ष 2024 की पहली त्रिमाही समीक्षा में आयुष्मान भारत गुणवत्ता स्वास्थ्य कार्यक्रम में राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानकों के अनुसार उत्कृष्ट प्रदर्शन में जिला पंचकूला ने प्रदेश में प्रथम स्थान हासिल किया है। इस उपलब्धि में अहम योगदान देने वाली टीबी मुक्त 26 पंचायतों के सरपंच बधाई के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की इस उपलब्धि से पहले शिक्षा विभाग ने भी बोर्ड परीक्षाओं के परिणामों में प्रदेश में प्रथम स्थान हासिल किया।

विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता आज रेड बिशप, सेक्टर-1 पंचकूला में आयोजित टीबी मुक्त ग्राम पंचायत सम्मान समारोह में मुख्यातिथि के तौर पर बोल रहे थे। कार्यक्रम में जिला की 26 पंचायतों को स्मृति चिन्ह, एक-एक पौधा और प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया गया।

श्री गुप्ता ने बताया कि जल्द ही पंचकूला में मेडिकल काॅलेज की शुरूआत की जा रही है। काॅलेज की शुरूआती सभी औपचारिकताएं पूरी हो चुकी हैं। हमारे सेक्टर-6 के अस्पताल में ही काॅलेज की एमबीबीएस कक्षाओं की शुरूआत की जानी हैं। एमबीबीएस की 100 सीटों के लिए प्रयास किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि लोक कल्याणकारी राज्य वो होता हैं जहां पर अपने नागरिकों को भोजन, कपड़ा, मकान, शिक्षा और स्वास्थ्य की उचित व्यवस्था की जाती हो। आज प्रधानमंत्री देश को इसी दिशा में लेकर जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने दिसम्बर 2025 तक देश को टीबी मुक्त किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस दिशा में सभी अपना योगदान दें, ताकि इस लक्ष्य को पंचकूला में पहले पूरा किया जा सके।

*प्रति माह टीबी मरीज के खाते में आते हैं 500 रूपये- विधानसभा अध्यक्ष*

श्री गुप्ता ने कहा कि पंचकूला जिला में 135 पंचायतेें हैं। इनमें से 26 पंचायतें टीबी मुक्त की श्रेणी में आ चुकी हैं। स्वास्थ्य विभाग की इस योजना से जुड़े सभी टीम सदस्य बची हुई पंचायतों को भी टीबी मुक्त बनाने में अपने अभियान को निरंतर आगे बढ़ाती रहेंगी। उन्होंने बताया कि जिला में करीब 6 लाख 93 हजार की आबादी में से 1062 टीबी रोगी हैं। जिनका स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुफत इलाज और मुफत दवाइयों दी जा रहीं है। उन्होंने कहा कि जिला को टीबी मुक्त बनाने के लिए तेजी से काम करना होगा।

विधानसभा अध्यक्ष ने बताया कि भारत सरकार की तरफ से वर्ष 2018 से टीबी मरीजों को पोषण आहार देने के लिए 500 रूपये प्रति माह सीधे मरीजों के खाते में दिए जा रहे हैं। इस योजना के तहत अब तक पंचकूला जिला में लगभग 3 करोड़ 24 लाख 50 हजार रूपये रोगियों के खाते में आ चुके हैं। टीबी मुक्त अभियान की पहली सफलता पर मेडिकल विभाग की पूरी टीम इसके लिए बधाई की पात्र है।

*मां की सेवा के समान करें पौधे की देखभाल – गुप्ता*

श्री गुप्ता ने कहा कि सरपंचों को सम्मान में एक-एक पौधा भी दिया गया है। जिसको रोपित करके उसकी देखभाल भी सरपंचों ने खुद ही करनी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने एक पौधा मां के नाम लगाकर उसकी देखभाल करने का आह्वान किया हुआ है। मां-बाप को हमारे समाज में देवी-देवता का दर्जा दिया हुआ है। इसीलिए हमें मां की सेवा करने के समान ही पौधे की देख-रेख करनी है। 

*टीबी की बीमारी आर्थिक स्थिति पर निर्भर- उपायुक्त*

उपायुक्त डा. यश गर्ग ने बताया कि पंचायत एक महत्वपूर्ण ईकाई है। शुरूआत में 26 पंचायतें टीबी मुक्त हुई हैं। जल्द ही अन्य पंचायतों को भी टीबी मुक्त किया जाएगा। इसके बाद शहर के साथ जिला को टीबी मुक्त किया जाएगा। उन्होंने बताया कि टीबी की बीमारी आर्थिक स्थिति पर काफी निर्भर है। निम्न वर्ग के लोग संपूर्ण पौष्टिक आहार नहीं ले पाते हैं, जो ज्यादा मात्रा में टीबी से प्रभावित मिलते हैं। संपूर्ण पौष्टिक आहार ना मिलने का स्वास्थ्य पर काफी प्रभाव पड़ता है। 

डा. यश गर्ग ने कहा कि टीबी मुक्त मुहिम को जन-जन तक लेकर जाएं और लोगों को जागरूक करें कि इस बीमारी से कैसे बचा जा सकता है। उन्होंने टीबी मुक्त हुई सभी पंचायतों के सरपंचों को बधाई देते हुए कहा कि ग्रामीणों को टीबी बीमारी के लक्षण और बचावों को बताते हुए अपनी स्थिति को बरकरार रखें।

*इन 26 पंचायतों को किया सम्मानित*

कार्यक्रम में गांव नारायणपुर, बधौड, मीरपुर, रत्ता टिब्बी, मंडपा, शाहपुर, त्रिलोकपुर, काजमपुर, टपरियां, कनौली, बुंगा, देबर, फिरोजपुर, डंडलावार, खेड़ी, बागवाला, रवा, नयां गांव, भरेली, भगवानपुर, टाबर, थान की शेर, खोई, डखरोग, ठरवा रवा भुडी, भोज बालग की पंचायत को स्मृति चिन्ह, एक-एक पौधा और प्रशंसा पत्र देकर सम्मानित किया।

*प्रदेश व केन्द्र की योजनाओं पर डाला प्रकाश*

कार्यक्रम की शुरूआत में सीएमओ डा. मुक्ता कुमार ने सभी अतिथियों को स्वागत किया। उन्होंने टीबी को लेकर चलाए गए अभियान की विस्तार से जानकारी दी। टीबी को लेकर प्रदेश और केन्द्र सरकार की और से चलाई गई योजनाओं से अवगत करवाया। कार्यक्रम के अंत में टीबी मुक्त अभियान की इंचार्ज उप सिविल सर्जन डा. मोनिका ने सभी अतिथियों व सरपंचों का आभार व्यक्त किया। साथ ही जानकारी देते हुए बताया कि पिछले एक साल में टीबी का कोई भी मरीज ना मिलने वाली पंचायत को टीबी मुक्त ग्राम पंचायत घोषित किया जाता है।

*ये रहे मौजूद*

इस मौके पर भाजपा जिलाध्यक्ष दीपक शर्मा, पीएमओ डा. उमेश मोदी, भाजपा जिला उपाध्यक्ष हरेन्द्र मलिक, पूर्व जिलाध्यक्ष अजय शर्मा, जिला पंचायत एवं विकास अधिकारी राजन सिंगला, बीडीपीओ पिंजोर विनय प्रताप सिंह, पार्षद जय कौशिक समेत अन्य गणमान्य मौजूद रहे।

https://propertyliquid.com

*MCC organizes special workshop for students on World Paper Bag Day*

*पंचकूला में स्थापित होगा फल व सब्जियों का उत्कृष्टता केंद्र : कंवर पाल*

*हरियाणा और इंग्लैंड के बीच हुआ एमओयू*

For Detailed

चंडीगढ़ , 4 जुलाई – हरियाणा के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री श्री कंवर पाल ने बताया कि पंचकुला में इंगलैंड (UK) के सहयोग से फल व सब्जियों के प्रबंधन के लिए 115 करोड़ रुपए की लागत से एक उत्कृष्टता केन्द्र की स्थापना की जायेगी। इस संबंध में एक एम.ओ.यू साइन किया गया है। यह केंद्र वर्ष 2026 तक बनकर तैयार हो जाएगा।

श्री कंवर पाल ने बताया कि विश्व स्तर पर फल व सब्जियों के उत्पादन में भारत दूसरे स्थान पर है, परंतु इस उत्पादन क्षमता का 20 से 30 प्रतिशत नष्ट हो जाता है। इस उत्कृष्टता केंद्र से प्रदेश के किसानों की फल व सब्जियों का सही रखरखाव हो सकेगा।

उन्होंने बताया कि यह उत्कृष्टता केंद्र अत्याधुनिक तकनीकों को अपनाकर, विदेश व अन्य राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों के सहयोग से विकसित किया जायेगा। तुडाई उपरान्त फल व सब्जियों को भंडार व परिवहन में सही तापमान व आर्द्रता पर रखा जा सकेगा। इससे फल व सब्जियों को ताजा रखने की अवधि बढ़ाई जा सकेगी।

कृषि मंत्री ने बताया कि उत्कृष्टता केंद्र के निर्माण से भारतवर्ष में कोल्डचेन को सुदृढ़ करने व साथ ही कोल्डचेन में प्रयोग होने वाली ऊर्जा को न्यूनतम करने में सहयोग मिल सकेगा। यही नहीं इस उत्कृष्टता केंद्र में फल व सब्जियों में तुड़ाई उपरान्त होने वाली हानि को कैसे कम किया जाये, इस बारे में अलग-अलग प्रयोग किये जायेंगे व किसानों को इस बारे में जागरूक भी किया जायेगा ताकि तुड़ाई उपरान्त फलों व सब्जियों की हानि न्यूनतम किया जा सके ताकि सर्वोच्च गुणवत्ता के फल व सब्जी सभी को उपलब्ध करवाये जा सके।

उधर , हरियाणा एवं इंग्लैंड के बीच उक्त उत्कृष्टता केंद्र के निर्माण को लेकर एक एम.ओ.यू साइन किया गया। इस एम.ओ.यू पर कृषि एवं किसान कल्याण विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री अंकुर गुप्ता तथा ब्रिटिश डिप्टी हाई कमिश्नर, चंडीगढ़ की कैरोलिन रोवेट की मौजूदगी में साइन किये गए।

https://propertyliquid.com

*MCC organizes special workshop for students on World Paper Bag Day*

अतिरिक्त उपायुक्त ने 5 गांवों के लोगों की शिकायत पर वन एवं पीडब्ल्यूडी बी एंड आर को मौके पर जाकर मुआयना करने व जल्द से जल्द खराब सडक की मरम्मत व पुलिया बनाने के दिए निर्देश 

श्री सचिन गुप्ता ने गांव पस्यून के ग्रामीणों के लिए सीईओ जिला परिषद को मौके पर जाकर जांच कर ग्राम पंचायत इलाके में मिट्टी डालने व संबंधित विभाग को साथ लेकर पीने के पानी की समस्या का समाधान करने के दिए निर्देश 

अतिरिक्त उपायुक्त की जिलावासियों से अपील- आय का सेल्फ एफिडेविट जमा करवाकर, करवाए शीघ्र समस्याओं का समाधान

For Detailed

पंचकूला, 4 जुलाई – अतिरिक्त उपायुक्त सचिन गुप्ता ने लघु सचिवालय के सभागार में समाधान शिविर में मोरनी ब्लाॅक के 5 गांवों के लोगों की शिकायत का समाधान करते हुए वन एवं पीडब्ल्यूडी बी एंड आर को मौके पर जाकर मुआयना करने व जल्द से जल्द खराब सडक की मरम्मत व पुलिया बनाने के निर्देश दिए। 

अतिरिक्त उपायुक्त ने सरकार द्वारा निर्देशित समाधान शिविर में आज जिला के लगभग 73 लोगों की समस्याएं सुनी। समाधान शिविर में कुछ समस्याओं का अतिरिक्त उपायुक्त ने मौके पर ही निदान किया। 

गांव पस्यून मोरनी ब्लाॅक के ग्रामीणों के लिए श्री सचिन गुप्ता ने सीईओ जिला परिषद को मौके पर जाकर जांच कर ग्राम पंचायत इलाके में मिट्टी डालने व संबंधित विभाग को साथ लेकर पीने के पानी की समस्या का समाधान करने के दिए निर्देश 

अतिरिक्त उपायुक्त की जिलावासियों से अपील- आय का सेल्फ एफिडेविट करवाएं जमा

अतिरिक्त उपायुक्त ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि जिन लोगों की आय फैमिली आईडी में ज्यादा दिखाई गई है वो सभी लोग अपनी आय का सेल्फ एफिडेविट जमा करवाएं ताकि सर्वे कर उनकी समस्याओं का तुरंत निवारण किया जा सके और उनको सरकार की स्कीमों का समय पर लाभ मिल सके। श्री गुप्ता ने फैमली आईडी, प्रोपर्टी आईडी, आधार कार्ड, पेंशन, आय अधिक के लगभग 51 मामलों की सुनवाई की और संबंधित अधिकारियों को इसका शीघ्र ही समाधान करने के निर्देश दिए। 

 अतिरिक्त उपायुक्त ने समाधान शिविर में बिजली विभाग के अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिले के लोगों के लिए बिजली बिल पर गंभीरता से नजर रखे। किसी भी व्यक्ति का बिल जरूरत से ज्यादा न आए, इस बात का पूरा ख्याल रखा जाए ताकि किसी भी व्यक्ति को बिना वजह की परेशानी न झेलनी पडे। 

इस मौके पर पुलिस उपायुक्त हिमांद्री कौशिक, एसडीएम गौरव चैहान, नगराधीश मन्नत राणा, जिला राजस्व अधिकारी डा. कुलदीप सिंह, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राजन सिंगला, जिला समाज कल्याण अधिकारी विशाल सैनी, कष्ट निवारण कमेटी के सदस्य राजेंद्र नुनिवाल, एसपी गुप्ता समेत संबंधित विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

https://propertyliquid.com

*MCC organizes special workshop for students on World Paper Bag Day*

Mayor raises issue for giving water connection to the residents outside lal dora on the pattern of electricity connections*

*Raises to release grant in aid to MCC as per the recommendations of 4th Delhi Finance Commission*

For Detailed

*Chandigarh, July 4:-* City Mayor Sh. Kuldeep Kumar raised the issue of giving water connections on the pattern of electricity connections by Chandigarh Administration outside red line area (Lal Dora) in the villages of Chandigarh.

In a letter written to the Adviser to the Administrator, UT, Chandigarh here today the Mayor raised various key issues pertaining to the larger public interest including withdrawal of the notice of advertisement served during the Sobha Yatra taken out to celebrated the birth anniversary of Lord Shree Valmiki ji by the people of Valmiki Samaj in the year 2019.

The other issues raised by the Mayor including allow giving water connections outside red line (lal dora) area in the villages of Chandigarh; Regular co-ordination meetings may be convened between Chandigarh Administration and MC Chandigarh as per past practice; The councilors who represent general public of city beautiful may also be taken into confidence before passing any orders and notifications for implementing the same in Chandigarh which directly relate to the residents of the city.

The Mayor raised the issue to release the proceeds of taxes under the provisions of setion 90 (6) (a) (b) & (c) of Punjab Municipal Corporation Act, 1976 as extended to Union Territory Chandigarh by the Punjab Municipal Corporation Law (Extension to Chandigarh) Act, 1994 including (a) Under the Indian Stamp Act 1899 on account of Stamp Duty on transfer of property situated within the local area of the city; (b) Under the Punjab Motor Vehicle Taxation Act, 1924 as applicable to the Union Territory of Chandigarh, from every person keeping a motor vehicle within the local area of the city: (c) Under the Punjab Electricity (duty) Act, 1958, on the energy supplied within the local area of the city.

He informed the Adviser about all the revenue receipts of the Municipal Corporation, which are not sufficient to cope up with the financial crunch of the MC Chandigarh and demanded that necessary instructions may be issued to the concerned authorities to release the proceeds of taxes according to the provisions of law.

He mentioned in the letter that for the coming financial year 2024-25, Rs. 200 crores required in addition to the sanctioned grant-in-aid. Due to increased expenditure on account of arrears, salary and pension under 7th Central Pay Commission, increase in wages rate, electricity charges and other miscellaneous expenditure on the various ongoing projects.

The Mayor requested the Adviser for strengthening the financial position of the MC Chandigarh as well as welfare of its employees. He also raised the issue to release the grant in aid as per the recommendations of 4th Delhi Finance Commission to the MC, Chandigarh.

https://propertyliquid.com