*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

Extension of last date of Fresh Admission & Re-Registration up to 31st March, 2024

For Detailed

Indira Gandhi National Open University (IGNOU) has extended the last date for online admission to all Masters, Bachelors, PG Diploma, Diploma (except certificate, semester based and merit based programmes) and online Re-registration (RR) of all Masters and Bachelors for the session January, 2024 session till 31st March, 2024. Dr. Bhanu Pratap Singh, Senior Regional Director of IGNOU Regional Center Chandigarh informed that interested applicants can apply through online link for admission to any Masters, Bachelors, PG Diploma, Diploma and Certificate programmes of their choice: https://ignouadmission.samarth.edu.in/ which is available on IGNOU website www.ignou.ac.in.

SC/ST students will be admitted without charging any fee in some of the Diploma/PG Diploma & Graduate Programmes and they will have to apply online and to upload all necessary documents for fee exemption. For further information regarding the courses on offer the applicants may see the IGNOU website (www.ignou.ac.in) or IGNOU Chandigarh’s website (www.rcchandigarh.ac.in and IGNOU Regional Center Chandigarh’s Facebook page https://www.facebook.com/RCCHD . 

Dr. Bhanu Pratap Singh further informed that the last date for online Re-registration (RR) of all Masters and Bachelors for the session January, 2024 session till 31st March, 2024 with late fee of Rs.500/-.  For Re-registration process the candidate has to register himself/herself (if not registered) on the official website i.e. https://onlinerr.ignou.ac.in/ . Whereas those who have already registered can simply login with the id- password and fill up the registration and submit the requisite fees online. In case a learner faces any difficulty he/she can approach the RC Chandigarh office for support.  

https://propertyliquid.com

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

गांव सबिलपुर, मोरनी में लोगों को पोषण के बारे में किया गया जागरूक

For Detailed

पंचकूला, 22 मार्च- गाँव सबिलपुर, मोरनी में लोगों को जिला कार्यक्रम अधिकारी डॉक्टर सविता नेहरा की अध्यक्षता में जिला संयोजक मीनू सिंह द्वारा पोषण के बारे में जागरूक किया गया। कार्यकर्म में अनीमिया के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी दी गयी जिसके तहत अनीमिया के कारण , लक्षण, उसे रोकने व उससे बचने के उपायों के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी प्रदान की गयी। सभी को सुबह का पोषण से भरा नाश्ता, हरी, पत्ते दार सब्जियाँ, खट्टे,फल जिनसे हमे विटामिन सी भरपूर मात्रा में मिलता है की महता के बारे में अवगत करवाया।
कार्यक्रम के दौरान खाने को सही प्रकार से पकाने के तरीको तथा उनसे मिलने वाले पोषण के बारे में विस्तार से बताया गया।  जागरूकता फेलाने के लिए ईआईसी मैटिरियल का वितरण किया गया और विभाग द्वारा चलाई गई सभी योजनाओ जैसे प्रधानमंत्री मातृत्व विकास योजना, बेटी बचाओ बेटी पढाओ के बारे में भी अवगत करवाया गया। पोषण, पढ़ाई भी स्लोगन को सार्थक करने के लिए बच्चों में पढ़ाई से संबंधित किट का वितरण किया गया, जिसके द्वारा वे खेलें भी और पढे भी ताकि उनका शारीरिक व मानसिक विकास पूर्ण रूप से हो सके।
कार्यक्रम में जिला बाल अधिकार इकाई की कानून एवं परिविक्षा अधिकारी निधि मलिक ने पोक्सो एक्ट के बारे में लोगों को जागरूक किया। इस कानून को हमारे देश में 14 नवम्बर 2012 को बाल दिवस के अवसर पर लागू किया गया। इस कानून के मुताबिक 18 साल से कम उम्र के सभी बच्चे चाहे लड़का हो या लड़की जिनके साथ हिंसा/शोषण/अपराध हुआ हो या करने का प्रयास किया गया हो, ऐसे अपराध कानून के दायरे में आता है। इस कानून में कई तरह के अपराधों को शामिल किया गया है जैसे बलात्कार, बच्चों को यौन संतुष्टि के लिए इस्तेमाल करना या उकसाना, बच्चों को अश्लील चित्र व लेखन दिखाना, उनके साथ अश्लील बात करना, बच्चों के शरीर को या यौन अंगो को गलत इरादे से छूना बच्चों का पीछा करना इत्यादि । उन्होंने बताया कि इस कानून में ऐसे अपराधों के लिए अपराधियों को उम्र कैद से लेकर जुर्माना का प्रावधान है। पीड़ित बच्चे को मुआवजा व गरीब बच्चे को आर्थिक सहायता दी जाती है।  अंत में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता के द्वारा बनाए गए मिलेट्स से बने हुए पोषण से भरपूर लड्डुओ का वितरण किया गया और डॉक्टर सविता नेहरा के द्वारा कार्यक्रम में आए सभी लोगों का धन्यवाद देकर कार्यक्रम का समापन किया गया।

https://propertyliquid.com

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

आपदा में अहम भूमिका निभाएंगे आपदा मित्र- रेनु फुलिया,आयुक्त, अम्बाला

For Detailed

 पंचकूला मार्च 22: भारतीय रैड क्रास समिति, हरियाणा राज्य शाखा द्वारा लक्ष्मी भवन धर्मशाला, माता मनसा देवी कॉम्प्लेक्स, पंचकूला में आयोजित राज्य स्तरीय रैड क्रॉस आपदा मित्र डिजास्टर रिस्पांस ट्रेनिंग कैंप का समापन समारोह आयोजित किया गया ।
      कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में श्रीमती रेनु फुलिया ,मंडल आयुक्त अम्बाला  विशिष्ट अतिथि श्री सुशील सारवान, उपायुक्त पंचकूला द्वारा शिरकत की गई।
       कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती रेनु फुलिया ने इस राज्य स्तरीय कार्यक्रम की  प्रशंसा की और इसे एक महत्वपूर्ण पहल बताया। उन्होंने सभी प्रतिभागियों के साथ अपने अनुभव भी सांझे किए और विभाग की तरफ से सम्पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया।विशिष्ट अतिथि श्री सुशील सारवान उपायुक्त पंचकूला द्वारा जुलाई महीने में आई बाढ़ के दौरान रेड क्रॉस द्वारा  आमजन को पहुंचाई गई सहायता के लिए  प्रशंसा की।
 गौरतलब है की प्राथमिक सहायता एवं गृह परिचर्या में हरियाणा का प्रथम स्थान है। पिछले वर्ष में सीपीआर के विशेष मुहिम चलाई गईं जिसके माध्यम से 66124 लोगो को प्रशिक्षण दिया गया।
     इस अवसर पर डॉ. मुकेश अग्रवाल, महासचिव, भारतीय रैड क्रॉस समिति, हरियाणा राज्य शाखा, चंडीगढ़ द्वारा मुख्य अतिथि का स्वागत किया गया और रैड क्रॉस द्वारा चलाई जा रही गतिविधियों एवं उपलब्धियों को सांझा किया।
      उन्होंने कहा की जूनियर रेड क्रॉस, यूथ रैड क्रॉस वॉलिंटियर को रैड  क्रॉस शिविरों के माध्यम से फर्स्ट एड एवं होम नर्सिंग की ट्रेनिंग , रक्तदान,  सड़क सुरक्षा , अंगदान, पर्यावरण, आपदा प्रबंधन व नशा मुक्ति आदि विषयों के बारे में जानकारी दी जाती है । इस राज्य स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा की प्राकृतिक आपदाओं जैसे भूकंप, बाढ़ आदि में रैडक्रॉस के स्वयंसेवक हमेशा अपना योगदान देते हैं, उन्होंने   सभी प्रतिभागीयो से अनुरोध किया कि प्रत्येक आपदा मित्र अपने अपने स्थान पर 100 स्वयंसेवक बनाकर तैयार करगे ताकि रेस्क्यू ऑपरेशन के लिए वे प्रशिक्षित स्वयंसेवक काम कर सके । ये प्रशिक्षित वॉलिंटियर किसी भी आपदा में न केवल हरियाणा बल्कि सम्पूर्ण भारत में अपनी सेवाओं के लिए तत्पर रहेंगे। वाइस चेयरपर्सन डॉ. सुषमा गुप्ता ने सभी प्रतिभागियों को  शिविर में आने पर शुभकामनाएं दी और रैड क्रॉस से जुड़े रहने के लिए आह्वान किया।
     कार्यक्रम के अंत में संयुक्त सचिव, अनिल कुमार जोशी ने आपदा से संबंधित अपने अनुभव सांझा किए और आपदा मित्रों को प्रेरित किया कि वे यहां बेहतर प्रशिक्षण लेकर  जिला  रैड क्रॉस शाखाओं के साथ जुड़कर समाज के लिए बेहतर कार्य करें। उन्होंने मुख्य अतिथि महोदय का धन्यवाद किया कि उन्होंने अपना कीमती समय देकर  प्रतिभागियों का मार्गदर्शन किया और उनका उत्साह वर्धन किया।  उन्होंने आपदा प्रबंधन के बारे में अपने अनुभव सांझे किये ।  
   इस मौके पर शिविर निदेशक रविंद्र कुमार द्वारा प्रतिभागियों को अपने-अपने जिलों में आपदा मित्र तैयार करने के लिए प्रेरित किया।
    इस अवसर पर  सौरभ धीमान प्रोजेक्ट ऑफिसर  , आपदा प्रबंधन व  राजा शाखा चंडीगढ़ से रामाशीष मंडल संजीव धीमान, रोहित शर्मा, विजय कुमार, दीपक नाशा,)  अनुपम , मीनाक्षी खन्ना, रमेश चौधरी,  सरबजीत सिंह, सुनील पहाड़िया, सौरभ धीमान, प्रोजेक्ट ऑफिसर आपदा प्रबंधन पंचकूला,  चंद्रपाल, कृष्ण कुक्कड़, हरियाणा  रैड क्रॉस के अधिकारी , विभिन्न जिलों से आए  116 प्रतिभागी व अन्य गण मान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com

*Municipal Corporation takes another step to improve Sanitary Waste Management with new initiatives*

22 मार्च विश्व जल दिवस कार्यक्रम आयोजित-   नरेन्द्र मोदगिल

For Detailed

पंचकूला 22 मार्च :  विश्व जल दिवस के मौके पर खंड  बरवाला के गांव बतोड़ मे जल एवं स्वच्छता सहायक संगठन पंचकूला और जन स्वास्थ्य अभियान्त्रिकी मंडल पंचकूला  के द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

     खंड समन्वयक नरेंद्र मोदगिल ने विश्व जल दिवस पर संबोधित करते हुए बताया कि वर्ष 1992 में ब्राजील के रियो डि जेनेरियो में पर्यावरण और विकास के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र ने एक सम्मेलन का आयोजन किया। उसी दिन विश्व जल दिवस मनाने की पहल की गई। बाद में 1993 में पहली बार विश्व जल दिवस मनाया गया। तब से हर साल 22 मार्च को विश्व जल दिवस मनाया जाता है। वहीं वर्ष 2010 में संयुक्त राष्ट्र मे सुरक्षित, स्वच्छ पेयजल एवं स्वच्छता के अधिकार को मानवाधिकार के रूप में मान्यता दी। जल संरक्षण के बारे में खंड समन्वयक नरेंद्र मोदगिल ने  जल बचाने एवं जल को सहेज कर रखने के बारे में बताते हुए कहा कि जल को केवल बचाया जा सकता है ना कि बनाया जा सकता ।
     उन्होंने बताया कि जल हमारे लिए प्रकृति का अनमोल उपहार है, हमें इसे सहेज कर रखना चाहिए जैसे कि वर्षा के दिनों में हमें वर्षा के पानी को एकत्रित करके अपने अन्य घरेलू कामों में प्रयोग करना चाहिए जिससे पानी की बचत होती है ।
    इस मौके पर आजीविका मिशन की महिलाओं आंगनवाड़ी वर्कर,  महिला बाल विकास विभाग से सुपरवाइजर मनीषा नेहरा ,अनुपमा ,किरन आजीविका मिशन से सीमा शर्मा ,सुशील राणा, ममता ,कमलेश ,नसीब कौर,रीना रानी , सोनिया आदि ग्रामीण महिलाये मौजूद रहे ।

https://propertyliquid.com