Posts

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

Advanced treatment Mechanical Thrombectomy  can save stroke patients’ lives

— 82-year-old woman suffering brain stroke and paralysis treated successfully via Mechanical Thrombectomy at Fortis Mohali

For Detailed

Bathinda, May 23, 2023: “In a relief for patients, who suffer acute brain stroke with paralysis of the body, can now have advanced treatment to save their lives only if they get required medical intervention in time. Mechanical Thrombectomy is regarded as the gold standard treatment for brain stroke patients and timely intervention within the golden hour can save them from life-long disability or death”, Dr Vivek Agarwal, Consultant, Neuro-intervention and Interventional Radiology, Fortis Mohali, said on the occasion of World Thrombectomy Day.

While talking to media, Dr Agarwal said that  recently, 82 year old woman, who had suffered a brain stroke with paralysis of left side of her body, got second lease of life due to timely action by the Neuro-Intervention Team at Fortis Hospital Mohali. Medical attention within four hours saved her life as any delay could have proved fatal for the patient.

The most advanced treatment for stroke -Mechanical Thrombectomy was used to treat the patient, the doctors at Fortis hospital said, adding that mechanical thrombectomy is a minimally-invasive procedure that involves inserting a catheter into the brain artery to remove the clot. This allows restoration of blood flow and saves a patient from disability or death by increasing treatment window for some brain stroke patients to up to 24 hours.

“The patient was rushed to Fortis Hospital Mohali on April 30 and medical examinations revealed acute stroke as the blood supply to her brain’s right side had been blocked. The team of doctors led by Dr Vivek Agarwal, Consultant, Neuro-intervention and Interventional Radiology, Fortis Mohali, immediately performed Mechanical Thrombectomy and removed the clot from her brain artery. Following good rehabilitation, her paralysis was treated and she was discharged in just four days after the procedure.

Elaborating on Fortis Mohali as a 24x7Stroke-ready Hospital,Dr Agarwal, said, “Stroke patients should reach the hospital as soon as possible as every second counts. Crucial time is wasted when patients reach healthcare facilities which are not well equipped with around the clock comprehensive stroke care facilities. Fortis Mohali is a 24x7Stroke-ready Hospital and equipped with a expert team and advanced technology.”

https://propertyliquid.com/

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

फोर्टिस अस्पताल मोहाली के डाक्टरों ने 50 वर्षीय महिला के टूटे हुए हिप रिप्लेसमेंट इम्पलांंट का किया सफल इलाज

असंभव को किया संभव : जांघ की हड्डी के साथ टुटा हिप इम्प्लांट, फिर भी जटिल सर्जरी कर चलने लायक बनाया

लंबे समय से बिस्तर पर पड़ी 50 वर्षीय मरीज के टूटे हिप रिप्लेसमेंट का सफल इप्लांट

For Detailed News-

बठिंडा, 10 नवंबर ( ): फोर्टिस अस्पताल मोहाली के हड्डियों के माहिर डाक्टरों की टीम ने 50 वर्षीय मरीज हरजीत कौर जिसकी जांघ की हड्डी के साथ पुराना हिप रिप्लेसमेंट इम्प्लांट टूट गया था तथा वह दर्द से बुरी तरह आहत थी व उसके पुराने स्तन कैंसर ने मामले को और जटिल बना रखा था, का सफल आप्रेशन करके कई माह से बिस्तर पर मजबूर उक्त महिला को चलने योगय कर दिया है।


फोर्टिस अस्पताल के हड्डियों के विभाग के सीनियर कंस्लटेंट डा. संदीप गुप्ता की अगुवाई में डाक्टरों की टीम ने हड्डियों के जोड़ बदलने की अति-आधुनिक तकनीक ‘फेथ’ (फास्टट्रैक अनाटामिक इम्पलांटेशन ऑफ टोटल हिप) द्वारा कामयाबी से इस हिप रिप्लेसमेंट को संभव किया है।


डा. संदीप गुप्ता ने बताया कि जब मरीज को उनके पास लाया गया तो उनको बहुत ज्यादा दर्द था तथा वह चल फिर नहीं सकती थी। उनको कूल्हे तथा जांघ की हड्डी टूटी होने के कारण ज्यादा तकलीफ थी, क्योंकि पहले से लगाया गया इप्लांट भी टूट चुका था। इससे फोर्टिस की टीम ने तुरंत हिप रिप्लेसमेंट करने का फैसला लिया ताकि अन्य नुकसान से बचा जा सके।


डा. गुप्ता ने बताया कि मरीज के आप्रेशन पर दो घंटे का समय लगा तथा आप्रेशन से अगले दिन ही उनको वॉकर की सहायता से चल-फिरने को कहा गया। आप्रेशन के चार दिन बाद मरीज को अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। उन्होंने बताया कि हिप ज्वाइंट ट्रांस्पलांट के बाद वह बिल्कुल स्वस्थ हैं तथा अपने रोजाना के काम काज के काबिल हो गए हैं।


डा. संदीप गुप्ता ने बताया कि ‘फेथ’ तकनीक एक सुरक्षित सर्जरी है, जिससे आप्रेशन में पूरी कामयाबी हासिल होती है, क्योंकि यह मरीज की शारीरिक बनावट अनुसार इम्पलांट की लंबाई निश्चित करती है तथा मरीज की हड्डी छोटी या बड़ी होने की गुजांइश नहीं रहती तथा मांसपेशियों पर ज्यादा खिचाव नहीं पड़ता। उन्होंने बताया कि फोर्टिस अस्पताल मोहाली उत्तरी भारत में पहला ऐसा अस्पताल है, जहां समर्पित हिप रिप्लेसमैंट यूनिट स्थापित है।

https://propertyliquid.com


इस मौके मरीज हरजीत कौर ने कहा कि डा. संदीप गुप्ता ने उनको इलाज की सबसे बेहतरीन इलाज की पेशकश की। मैं अपने जैसे मरीजों को रिवीजन हिप रिप्लेसमेंट का सुझाव देती हूं।  

नगराधीश ने टाउन पार्क में  स्कूली बच्चों द्वारा निकाली गई मैराथन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

बादल परिवार की “बहू” हरसिमरत के समक्ष बठिंडा लोकसभा सीट पर जीत की चुनौती

बठिंडा:

बादल परिवार की “बहू” हरसिमरत के समक्ष बठिंडा लोकसभा सीट पर जीत की चुनौती

बादल परिवार की बहू एवं केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर को बठिंडा लोकसभा सीट को तीसरी बार जीतने की चुनौती का सामना करना पड़ रहा है।

उनके परिवार के गढ़ रहे इस निर्वाचन क्षेत्र में उनका मुकाबला दो मौजूदा विधायकों तथा आम आदमी पार्टी के एक बागी से है।

पारंपरिक रूप से बठिंडा सीट अकाली दल का गढ़ रही है क्योंकि इसके उम्मीदवारों ने यहां से आठ मौकों पर जीत दर्ज की है।

शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने दिग्गज अकाली नेता प्रकाश सिंह बादल की बहू हरसिमरत कौर बादल पर बठिंडा सीट से फिर विश्वास जताया है।

हालांकि शुरू में अटकलें थीं कि उन्हें फिरोजपुर सीट से मैदान में उतारा जा सकता है। अकाली दल संरक्षक और पांच बार के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल अपनी बहू के लिए प्रचार कर रहे हैं।

सत्तारूढ़ कांग्रेस ने इस सीट से गिद्दड़बाहा के मौजूदा विधायक अमरिंदर सिंह राजा वारिंग को तथा आम आदमी पार्टी ने तलबंडी साबो की विधायक बलजिंदर कौर को मैदान में उतारा है।

आप के बागी एवं पंजाबी एकता पार्टी के प्रमुख सुखपाल सिंह खैरा भी यहां से चुनावी मैदान में हैं।

उन्होंने पिछले महीने विधायक पद से इस्तीफा दे दिया था। शिअद प्रमुख सुखबीर सिंह बादल की पत्नी हरसिमरत ने अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत 2009 के आम चुनावों के साथ की।

इन चुनावों में शिअद से हरसिमरत ने चुनाव लड़ा जिसमें उन्होंने कांग्रेस के उम्मीदवार रनिंदर सिंह को हराया था। 2014 के लोकसभा चुनाव में भी उन्होंने इस सीट से जीत दर्ज की थी।

बठिंडा लोकसभा क्षेत्र में नौ विधानसभा सीट हैं जिनमें से पांच पर आप का कब्जा है तथा दो सीट शिअद और दो सीट कांग्रेस की झोली में हैं। क्षेत्र में 15.89 लाख मतदाता हैं।