Alumni Re-lived Old Memories at U.I.F.T. Virtual ‘Reconnect’

कस्टम हायरिंग सैंटर के कृषि यंत्रों के भौतिक सत्यापन एक दिसम्बर से

सिरसा, 28 नवंबर।


            सहायक कृषि अभियंता इंजीनियर डीएस यादव ने बताया कि कस्टम हायरिंग सैंटर के कृषि यंत्रों के भौतिक सत्यापन का कार्यक्रम तय किया गया है। कृषि यंत्रों का भौतिक सत्यापन खंड अनुसार एक दिसंबर 2020 से किया जाएगा, जिसमें एक दिसंबर को सिरसा, दो दिसंबर को नाथुसरी चौपटा, तीन दिसंबर को औढ़ा, चार व आठ दिसंबर को ऐलनाबाद, 9 दिसंबर को डबवाली, 9 व 10 दिसंबर को बड़ागुढ़ा, 11 दिसंबर को रानियां खंड के कृषि यंत्रों का भौतिक सत्यापन किया जाएगा।

For Detailed News-


            उन्होंने बताया कि कृषि यंत्रों का भौतिक सत्यापन जिला स्तरीय कार्यकारिणी समिति की गठित कमेटी के सदस्यों द्वारा किया जाएगा। इस कमेटी में उप कृषि निदेशक के प्रतिनिधि, सहायक कृषि अभियंता के प्रतिनिधि व संबंधित खंड पंचायत अधिकारी द्वारा संयुक्त रूप से किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी सीएचसी अपने कृषि यंत्रों को भौतिक सत्यापन के कार्यक्रम अनुसार अपने कृषि यंत्र कलस्टर के शैड में सही ढंग से रखें। इसके अलावा भी सभी अपने कृषि यंत्रों पर पक्के रंग से कस्टम हायरिंग सैंटर का नाम, पता व स्कीम का नाम लिखवाएं तथा अपने शैड के ऊपर अपनी सीएचसी के नाम का पोस्टर चस्पा कर रखें। उन्होंने बताया कि अपने कृषि यंत्रों का निर्माण वर्ष व क्रम संख्या खुदवाकर रखें, ताकि भौतिक सत्यापन कार्य सुचारू रूप से किया जा सके। सभी सीएचसी अपने रजिस्टर की 2 फोटो कॉपी भी साथ रखें, जिसमें उन्होंने अपना किया हुआ कार्य दिखाया हुआ है।

https://propertyliquid.com


            उन्होंने बताया कि जो सीएचसी अपने कृषि यंत्रों के बिल, ई-वे बिल, कृषि यंत्र के साथ फोटो, घोषणा पत्र विभागीय पोर्टल पर ऑनलाइन अपलोड कर चुके है, वे अपने कृषि यंत्रों के बिल, ई-वे बिल, कृषि यंत्र के साथ फोटो, घोषणा पत्र व अन्य दस्तावेज सहायक कृषि अभियंता, सिरसा के कार्यालय में एक दिसंबर तक जमा करवाएं।