जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

ऑक्सी वन की अवधारणा पर बल देते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने नई नीति की घोषणा की है जिसके तहत आठवीं से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को पौधों की देखभाल और पालन-पोषण करने पर परीक्षा में अतिरिक्त अंक दिए जाएंगे।

For Detailed News-

पंचकूला  20 जून – ऑक्सी वन की अवधारणा पर बल देते हुए हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने नई नीति की घोषणा की है जिसके तहत आठवीं से 12वीं कक्षा तक के विद्यार्थियों को पौधों की देखभाल और पालन-पोषण करने पर परीक्षा में अतिरिक्त अंक दिए जाएंगे। इसके अलावा मुख्यमंत्री ने नेचर कैंप थापली  में स्थित पंचकर्म वेलनेस सेंटर का उद्घाटन किया। मुख्यमंत्री ने आज डिजिटल रूप से नक्षत्र वाटिका, नवग्रह वाटिका और राशि वन, जिसे सामूहिक रूप से अंतरिक्ष वन के नाम से जाना जाता है, की भी आधारशिला रखी।


मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में पहले से ही 23 पंचकर्म केंद्र कार्य कर रहे हैं और 24वें केंद्र का आज उद्घाटन किया गया। उन्होंने कहा कि राज्य में 500 योगशालाएँ और व्यायामशालाएँ भी कार्यरत हैं और सरकार का लक्ष्य राज्य में और अधिक पंचकर्म केंद्र खोलना है। उन्होंने कहा कि राज्य में इस वर्ष के दौरान 3 करोड़ पौधे लगाने का लक्ष्य भी रखा गया है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला और उसके आसपास के क्षेत्रों की एकीकृत विकास योजना से स्थानीय लोगों को रोजगार के अनेक अवसर मिलेंगे और इनसे पंचकूला को विकसित शहर बनाने में मदद मिलेगी।


मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर पर्यावरण, पर्यटन पर एक पुस्तिका का भी विमोचन किया। कार्यक्रम के दौरान एक वृत्तचित्र भी चलाया गया जिसमें पंचकूला को एक पर्यटन केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए की जा रही विभिन्न पहलों पर विस्तार से प्रकाश डाला गया।

https://propertyliquid.com


केंद्रीय जल शक्ति और सामाजिक न्याय राज्य मंत्री श्री रतन लाल कटारिया, हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता और वन मंत्री, श्री कंवर पाल और खेल राज्य मंत्री सरदार संदीप सिंह भी मौके पर मौजूद रहे।


मुख्यमंत्री ने ऑक्सी वन की अवधारणा को बढ़ावा देने की पहल के तहत 75 वर्ष से अधिक आयु के पेड़ों के संरक्षक को 2500 रुपये प्रति वर्ष पेंशन की भी घोषणा की।
उन्होंने बताया कि पंचकर्म विषहरण की एक पारंपरिक आयुर्वेदिक प्रक्रिया है, जो औषधीय तेलों की मदद से लोगों को लाभ पहुंचाती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकर्म केंद्र लोगों के लिए एक अनूठी सौगात है और इसे वन विभाग और आयुष विभाग के सहयोग से चलाया जा रहा है।  

नक्षत्र वाटिका, राशि वन और सुगंध वाटिका की रखी आधारशिला


मुख्यमंत्री ने नक्षत्र वाटिका, राशि वन और सुगंध वाटिका की आधारशिला रखी। इन वाटिकाओं को पंचकूला जिले के गांव मस्जिदवाला के पास जंगलों में विकसित किया जाएगा। इस वर्ष के दौरान दस एकड़ में नक्षत्र वाटिका, पांच-पांच एकड़ में सुगंध और  वन राशि का निर्माण किया जाएगा तथा भविष्य में क्षेत्र के विस्तार के और प्रयास किए जाएंगे।


पंचकूला एकीकृत विकास परियोजना के तहत मोरनी पहाडिय़ों में वन विभाग द्वारा ग्यारह नेचर ट्रेल्स विकसित किए गए हैं। इनमें स्थानीय युवा गाइड के रूप में कार्य करेंगे और स्थानीय संस्कृति और परंपराओं के बारे में और क्षेत्र के वनस्पतियों और जीवों के बारे में भी बताएंगे। ’प्रकृति मार्गदर्शकों से संवाद के माध्यम से गांवों के युवकों को नेचर गाइड के तौर पर प्रशिक्षित किया जा रहा है। प्रकृति पर्यटन के शिष्टाचार, प्रकृति भ्रमण कैसे करें, चोटों से निपटने, चलने की तकनीक, प्राथमिक चिकित्सा आदि के बारे और मोरनी की वनस्पतियों और जीवों के बारे में सिखाया जा रहा है।


इस अवसर पर बच्चों के एक दल को थापली नेचर कैंप से थापली गांव तक एक छोटे ट्रेक के लिए रवाना किया गया। मुख्यमंत्री ने नेचर ट्रेल इको ट्रेक के पहले समूह को झंडी दिखाकर रवाना किया।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव, वन एवं वन्य जीव विभाग श्री. जी अनुपमा, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव, डॉ. अमित अग्रवाल, उपायुक्त पंचकूला, श्री. विनय प्रताप सिंह , पीसीसीएफ, श्री. वी.एस. तंवर व मीडिया कोऑर्डिनेटर रमनीक सिंह मान मौजूद रहे।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

पंचकूला के 57 स्थानों में लगेगी कोविड वैक्सीन-उपायुक्त

जिले के 10 स्थानों पर कोवैक्सीन व 47 स्थानों पर कोविशील्ड की लगेगी वैक्सीन-विनय प्रताप सिंह

पंचकूला, 20 जून – पंचकूला के उपायुक्त श्री विनय प्रताप सिंह ने बताया कि जिला में कल मेगा वैक्सीनेशन-डे आयोजित किया जाएगा जिसके तहत जिला के 57 स्थानों पर लगभग 15 हजार लोगांें को वैक्सीन लगाने का लक्ष्य रखा गया है।

For Detailed News-


उन्होंने बताया कि लोगों को कोविड-19 संक्रमण से बचाव के लिए 57 स्थानों में से 10 स्थानों पर कोवैक्सीन का टीकाकरण होगा जबकि 44 स्थानों पर कोविशील्ड की वैक्सीन लगाई जाएगी। इसके अलावा, 3 निजी अस्पतालों मंे भी लोगों को वैक्सीन लगाने का काम होगा। उपायुक्त ने बताया कि वैक्सीनेशन का समय प्रातः 9 बजे से सायं 5 बजे के बीच रहेगा।

कोविशील्ड (18 साल के अधिक आयु)

उपायुक्त ने 57 स्थानों की जानकारी देते हुए बताया कि पीएचसी पुराना पंचकूला, गांव सकेतड़ी और रैली, गेट नंबर 3 व 4, एफपीएआई, हरीपुर, गांव महेशपुर और अभयपुर, पीएचसी नानकपुर, राधा स्वामी सतसंग भवन मडावाला, पीएचसी पिंजौर, सीआरपीएफ पिंजौर, व्हाईट हाउस पिंजौर, पीएचसी सूरजपुर, राधा स्वामी सत्संग भवन बीड घग्गर, पीएचसी मोरनी, गांव मंधाना और चपलाना में कोविशील्ड वैक्सीन लगेगी।


ऐसे ही, उन्होंने बताया कि गांव कंकराली, मौली, हरीपुर व बरवाल, गांव सुजानपुर, गडी कोटहा, बागवाला और हंगोला, पीएचसी कोट, गांव रामगढ़ सत्संग भवन, आईटीबीपी भानू, हरियाणा निवास चंडीगढ़, काॅमांड अस्पताल, एमडीसी सेक्टर-5 में क्लाॅउनाईन अस्पताल, धवन अस्पताल सेक्टर-7, अरोड़ा मल्टीस्पेस्लिट अस्पताल पिंजौर में कोविशील्ड वैक्सीन लगाई जाएगी।
उन्होंने बताया कि पाॅलीक्लिनिक सेक्टर-26, जीडी-7, जीडी-8, जीडी-19, जीडी-20, जीडी-21, कम्यूनिटी सेंटर सेक्टर-11, राधा स्वामी सत्संग भवन सेक्टर-17 पंचकूला, कम्यूनिटी सेंटर सेक्टर-20 पंचकूला, अमरटैक्स हैडक्वाटर प्लाॅट नंबर 365, इंडस्ट्रियल एरिया फेज-1 पंचकूला, आईएमए हाॅल सेक्टर-15 पंचकूला, एसडीएच कालका, राजकीय स्कूल कालका, राधा स्वामी सत्संग भवन कालका, सीएचसी रायपुररानी, गांव खटौली, शिव मंदिर रायपुररानी, भूड एडब्ल्यूसी और खजानपुर स्कूल और परवाला एडब्ल्यूसी में कोविशील्ड की डोज लगाई जाएगी।

https://propertyliquid.com

कोवैक्सीन (18 साल के अधिक आयु)

इसी प्रकार, यूएचसी-16, जीडी-12ए, जीडी-4, जीडी-25, एमडीसी-4, रेलवे वर्कशाॅप कालका, आईटीबीपी भानू, पीएचसी बरवाला, पीएचसी हंगोला में कोवैक्सीन लगाई जाएगी।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस : कोविड-19 नियमों की पालना के साथ आयोजित होंगे अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस कार्यक्रम : अनीश यादव

सिरसा, 20 जून।

For Detailed News-

-योग दिवस पर प्रधानमंत्री, आयुष मंत्री तथा मुख्यमंत्री के संबोधन का होगा लाइव प्रसारण


सातवें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर 21 जून को जिला में विभिन्न 50 स्थानों पर योग दिवस कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। सरकार की हिदायतोनुसार योग दिवस कार्यक्रमों में कोविड नियमों की पालना सुनिश्चित की जाएगी। निर्धारित संख्या अनुसार 50 व्यक्ति कार्यक्रम में शामिल होंगे।


उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर जिले में चिन्हित 50 स्थानों पर योग दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इन स्थानों पर योग शिक्षकों व नोडल अधिकारियों की ड्यूटियां लगाई जा चुकी है। उन्होंने बताया कि योग दिवस पर प्रधानमंत्री, केंद्रीय आयुष मंत्री व मुख्यमंत्री के संबोधन का लाइव प्रसारण दिखाया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी कार्यक्रम प्रात: 6 बजे से प्रात: 8 बजे तक होंगे, इस दौरान योग की विभिन्न क्रियाएं करवाई जाएगी। योग कार्यक्रम से पहले प्रात: 6.30 से  7.00 बजे तक माननीय प्रधानमंत्री व केंद्रीय आयुष मंत्री तथा प्रात: 7 से 7.15 बजे तक मुख्यमंत्री हरियाणा का संबोधन एलईडी के माध्यम से लाइव प्रसारण किया जाएगा। तत्पश्चात योग प्रोटोकॉल के तहत योग की विभिन्न क्रियाएं करवाई जाएगी तथा योग शिक्षक योग के महत्व बारे लोगों को जागरूक करेंगे। उन्होंने बताया कि कोविड महामारी के चलते अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को बी विद योगा-बी एट होम थीम के साथ मनाया जाएगा।


इन स्थानों पर आयोजित होंगे योग दिवस कार्यक्रम :


उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि 21 जून को अंतर्राष्टï्रीय योग दिवस के अवसर पर जिला में विभिन्न स्थानों पर योग दिवस कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे जिनमें सिरसा में स्थानीय शहीद भगत सिंह स्टेडियम, पुलिस लाइन, नेहरू पार्क, ताऊ देवीलाल चिल्ड्रन पार्क, आर्य समाज मंदिर बेगु रोड़, प्रतापगढ पार्क, एफ-ब्लॉक मिनी पार्क, भादरा पार्क, हुड्डïा पार्क नंबर आठ में योग दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि डबवाली में रामलीला ग्राउंड, हेल्थ वेलनेस सैंटर मिठड़ी, राजकीय मिडल स्कूल अलिकां, राजकीय मिडल स्कूल पन्नीवाला मोरिकां, राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल चौटाला, राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल गोरीवाला, राजकीय हाई स्कूल खुइयां मलकाना, लव कुश पार्क डबवाली में कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने बताया कि गांव नाथूसरी कलां में वाल्मीकि भवन, गांव दड़बां में पीएचसी, गांव अरनियांवाली में स्वामी विवेकानंद स्कूल, गांव बकरियांवाली में राजकीय हाई स्कूल में, गांव जमाल में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल में, गांव कागदाणा में राजकीय कन्या मिडल स्कूल, गांव गुडिया खेड़ा में राजकीय सीनियर सैकेंडरी स्कूल, गांव कैरांवाली में राजकीय मिडल स्कूल, गांव ढुकड़ा में सीनियर सेकेंडरी स्कूल में योग दिवस कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा।

https://propertyliquid.com


इसी प्रकार ऐलनाबाद में डीएवी स्कूल में, गांव भुर्टवाला में व्यायामशाला में, गांव धर्मपुरा में राजकीय हाई स्कूल में, गांव केहरवाला में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल, गांव पोहड़कां में राजकीय हाई स्कूल, गांव मि_ïी सुरेरां में राजकीय कन्या सीनियर सेकेंडरी स्कूल, ऐलनाबाद में पतंजलि पार्क में, सनातन धर्मशाला, गांव ममेरा में व्यायामशाला, गांव चक्कां में शनि मंदिर पार्क, रानियां में छोटा पार्क, गांव बालासर में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल, गांव बणी में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल गांव धोलपालिया में व्यायामशाला, गांव गदराणा में व्यायामशाला, गांव कालांवाली में दुर्गा मंदिर व व आर्य समाज मंदिर, पन्नीवाला मोटा में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल, गांव पिपली में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल, गांव तिगड़ी में राजकीय मिडल स्कूल, गांव असीर में राजकीय मिडल स्कूल, कालांवाली में शहीद उधम सिंह पार्क में कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसी प्रकार खंड बड़ागुढा के गांव पंजुआना में राधा कृष्ण मंदिर, गांव बप्प में स्कूल में, गांव बड़ागुढा में सीनियर सेकेंडरी स्कूल, गांव नेजाडेला कलां में सीनियर सेकेंडरी स्कूल में, गांव अलिकां में सीनियर सेकेंडरी स्कूल, गांव भंगु में राजकीय मिडल स्कूल, गांव झिड़ी में आरोही मॉडल सीनियर सेकेंडरी स्कूल में तथा गांव रघुआना में राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल में योग दिवस कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

टूरिज्म हब की राह पर बढा मोरनी

मुख्यमंत्री ने साहसिक खेल गतिविधियों का किया अवलोकन

पंचकूला 20 जून – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के सपने के अनुरूप  मोरनी हिल्स क्षेत्र अब टूरिज्म हब बनने की दिशा में आगे बढ गया है। मुख्यमंत्री ने आज टिक्करताल में साहसिक खेल गतिविधियों का अवलोकन कर युवाओं का हौसला बढाने के साथ पंचकूला को सांस्कृतिक, मेडिकल, वन्य जीव एवं अन्य क्षेत्रों में विकसित करने के प्रति प्रतिबद्धता जताई। मुख्यमंत्री ने पैराग्लाईडिंग, हॉट एयर बैलून, पैरासेलिंग, पावर मोटर, ई-हाईड्रोफॉयल, जेट स्कूटर, नौकायन आदि का अवलोकन किया और जेट स्कूटर स्वयं भी चलाई। इस मौके पर केन्द्रीय जल शक्ति राज्य मंत्री श्री रतन लाल कटारिया, हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता, हरियाणा के पर्यटन मंत्री श्री कंवर पाल, खेल राज्य मंत्री सरदार संदीप सिंह, पंचकूला के महापौर कुलभुषण गोयल भी उपस्थित रहे।

For Detailed News-


साहसिक खेल गतिविधियों का अवलोकन करने के पश्चात पत्रकारों से बातचीत करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि साहसिक खेल गतिविधियों के लिए लोगों को बहुत दूर मनाली आदि क्षेत्रों में जाना पड़ता है। शिवालिक पहाडिय़ों के बीच मोरनी हिल्स एरिया में इस तरह की गतिविधियां शुरू होने से लोगों को न केवल रोमांचक गतिविधियों में शामिल होने का अवसर मिलेगा बल्कि इनसे आसपास के क्षेत्र का आर्थिक विकास भी होगा। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र सांस्कृतिक रूप से समृद्ध रहा है। इस क्षेत्र का  भौगोलिक एवं सामाजिक रूप से प्रचीन इतिहास रहा है।


मिल्खा सिंह के नाम पर होगा पैराग्लाईडिंग क्लब
मुख्यमंत्री ने कहा कि पैराग्लाईडिंग के लिए आसपास के युवाओं को ही प्रशिक्षण दिया जाएगा और इन गतिविधियों के संचालन के लिए क्लब का गठन किया जाएगा। इसका नाम फ्लाईंग सिख मिल्खा सिंह के नाम पर रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि पैराग्लाईडिंग के लिए मोरनी एक बेहद उपयुक्त स्थल साबित होगा। इससे आसपास के गांवों में रोजगार बढेगा और प्रदेश के राजस्व में भी वृद्वि होगी। उन्होंने कहा कि पंचकूला में पर्यटन सूचना केन्द्र बनाया जाएगा। इसके साथ ही यात्री निवास की भी पर्याप्त व्यवस्था की जाएगी। पंचकूला दर्शन के लिए पांच बसें लगाई जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि साहसिक खेल गतिविधियों में एकदिवसीय 9 ट्रेकिंग रुट भी तैयार कर लिए गए हैं । जल्द ही नाईट स्टे व्यवस्थाओं को अंतिम रूप देकर दो दिवसीय ट्रेकिंग रूट भी फाईनल किए जाएंगे ।  


मुख्यमंत्री ने कहा कि पिंजौर में हॉट एयर बैलून का प्रयोग शुरु किया जाएगा। इससे नागरिक न केवल पिंजौर गार्डन बल्कि मोरनी, टिक्कर लेक व पंचकूला के अन्य स्थलों के भी दर्शन कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि हॉट एयर बैलून की सुविधा देश भर में केवल 5-6 स्थानों पर ही थी। पिंजौर में यह सुविधा शुरू होने से यह क्षेत्र पर्यटन के क्षेत्र में अग्रणी बनेगा।


कालका से कलेसर होगा पर्यटन रूट
मुख्यमंत्री ने कहा कि कालका से कलेसर तक का क्षेत्र पर्यटन रूट के रूप में विकसित किया जा रहा है। नाडा साहेब और मनसा देवी तीर्थ स्थलों के विकास के लिए केन्द्र से 49 करोड़ रुपए की राशि मिली है जिससे इन स्थलों पर कार्य करवाए जा रहे हैं । उन्होंने कहा कि आदिबद्री के लिए 52 करोड़ रुपए की राशि मिली है जिससे वहां पर भी कार्य करवाए जा रहे हैं । इस  रूट से मोरनी को भी जोड़ा जा रहा है।  इसमें माधोगढ, लोहगढ में बना किला भी पर्यटकों के लिए आकर्षण का केन्द्र होगा। टूरिज्म के हिसाब से और स्थानों पर भी गतिविधियां शुरू की जाएंगी। इनमें रानी महल बावड़ी नारनौल, ब्रह्म सरोवर कुरुक्षेत्र, पानीपत, करनाल में भी गतिविधियों को बढावा दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा को टूरिज्म के मानचित्र पर अलग पहचान दिलाना है। इसके लिए पर्यटन विभाग निरंतर योजनाओं पर काम कर रहा है।

https://propertyliquid.com

उन्होंने बताया कि धर्मस्थलों की यात्राओं के लिए पहले से ही कई योजनाएं चल रही हैं जिनमें स्वर्ण जयंती सिंधु दर्शन योजना, नांदेड हजुर साहेब, पटना साहेब आदि शामिल हैं । मुख्यमंत्री ने खर्टिया बड़ी शेर से भोज कोटी सम्पर्क मार्ग पर घग्गर नदी पर पांच स्पैन के पुल का भी उदघाटन किया। इससे आसपास के 10 गांवों को लाभ मिलेगा। पर्यटन विभाग की प्रदर्शनी का भी मुख्यमंत्री ने बारीकी से अवलोकन किया और अधिकारियों से योजनाओं की विस्तृत जानकारी ली।  


इस मौके पर अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री ए के सिंह, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. अमित अग्रवाल, महानिदेशक आर एस वर्मा, पर्यटन विभाग के एमडी डा. नीजर, उपायुक्त विनय प्रताप सिंह, पुलिस आयुक्त सौरभ सिंह, उपायुक्त मोहित हांडा , खेल विभाग के निदेशक पंकज नैन, एस डी एम कालका राकेश संधू, पूर्व विधायक लतिका शर्मा , मीडिया कॉआर्डिनेटर रमनीक सिंह मान, जिला अध्यक्ष अजय शर्मा एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित रहे

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

कोरोना से बचाव के लिए लगातार सतर्क व सजग रहने की जरूरत : उपायुक्त अनीश यादव

सिरसा, 20 जून।


उपायुक्त अनीश यादव ने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव

For Detailed News-

के लिए नागरिक लगातार सतर्क सजग रहें। लगातार घट रहे कोरोना मामलों से राहत मिली है लेकिन जब तक संक्रमण का पूरी तरह से खात्मा नहीं हो जाता है, तब तक बचाव उपायों में कोई भी लापरवाही न बरती जाए। संक्रमण से बचाव के लिए नागरिक कोविड-19 हिदायतों की पहले की भांति गंभीरता से पालना करते रहें, लक्षण दिखाई देने पर जरा भी देरी न करें, तुरंत अपनी जांच करवाएं।


उपायुक्त ने कहा कि प्रदेश सरकार व जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमण पर पूरी तरह से नियंत्रण के लिए हर संभव कदम उठाएं हैं, साथ ही सामाजिक, धार्मिंक संस्थाओं व आमजन के सहयोग जिला में स्थिति में सुधार हो रहा है, जिसकी बदौलत अब रिकवरी रेट 97.77 प्रतिशत हो चुका है। स्वास्थ्य विभाग द्वारा टेस्टिंग व वैक्सीनेशन का कार्य तेजी के साथ किया जा रहा है। अबतक तीन लाख 92 हजार 800 से अधिक लोगों की टेस्टिंग की जा चुकी है। इसके अलावा तीन लाख तीन हजार से भी अधिक लोगों को कोरोना रोधी वैक्सीन दी जा चुकी है तथा वैक्सीनेशन का कार्य तेजी से साथ जारी है।

https://propertyliquid.com


उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए वैक्सीनेशन कारगर उपाय है। कोरोना से बचने के लिए वैक्सीनेशन मजबूत सुरक्षा कवच है। इसलिए 18 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्ति अपना वैक्सीनेशन जरूर करवाएं। उन्होंने कहा कि वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है और शरीर पर इसका कोई भी प्रतिकूल प्रभाव नहीं पड़ता है। इसलिए बेझिझक होकर वैक्सीन लगवाएं तथा दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। वैक्सीन लगवाने के बाद भी सावधानियां बरतें, मास्क, सोशल डिस्टेसिंग व बार-बार हाथ धोने के उपायों की पालना करें।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा आगामी 28 जून तक रहेगा प्रभावी: उपायुक्त अनीश यादव

सिरसा, 20 जून।

For Detailed News-

– धार्मिक स्थानों व विवाह समारोह में 50 लोग कर सकेंगे शिरकत
– नए नियमों के तहत कॉर्पोरेट कार्यालयों में आ सकेंगे सभी कर्मचारी


उपायुक्त एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन अनीश यादव ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा की अवधि को 28 जून, 2021 प्रात: पांच बजे तक बढ़ा दिया गया है, जिसके मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा नई हिदायतें जारी की गई है। नई हिदायतों के अनुसार जिला में अब सभी दुकानों को अब प्रात: 9 बजे से लेकर रात्रि आठ बजे तक खोलने की अनुमति प्रदान की गई है। साथ ही कोविड-19 के नियमों की पालना करते हुए सुबह 10 बजे से रात्रि आठ बजे तक मॉल भी खोले जा सकेंगे। रेस्टोरेंट, बार (होटल अथवा मॉल में स्थित हैं) सुबह 10 बजे से रात्रि 10 बजे तक 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ खोलने की इजाजत है लेकिन कोविड गाइडलाइन की अनुपालना सुनिश्चित करनी होगी। होटल, रेस्टोरेंट व फास्ट फूड प्रतिष्ठानों से होम डिलीवरी की अनुमति रात्रि 10 बजे तक रहेगी। जिला में स्थित धार्मिक स्थल एक समय में 50 लोगों की उपस्थिति के साथ खुल सकते हैं और उक्त अवधि में एक दूसरे से उचित सामाजिक दूरी की पालना, मास्क का उपयोग व अन्य स्वास्थ्य सुरक्षा मानकों का ध्यान रखना होगा।


कॉर्पोरेट ऑफिसों में सभी कर्मचारी आ सकते हैं, जिसमें कोविड गाइडलाइन की गंभीरता से पालना करनी होगी। विवाह समारोह में व अंतिम संस्कार के दौरान 50 लोग शामिल हो सकते हैं जबकि विवाह समारोह में बारात की अनुमति नहीं होगी। गोल्फ कोर्स के क्लब हाउस, रेस्टारेंट, बॉर में भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलने की अनुमति सुबह 10 बजे से रात्रि 10 बजे तक की रहेगी तथा कोविड गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करनी होगी।

https://propertyliquid.com


नई गाइडलाइन के अनुसार जिम सुबह छह बजे से रात्रि आठ बजे तक 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलने की अनुमति रहेगी तथा कोविड गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करनी होगी। सभी उत्पादन इकाइयों, प्रतिष्ठानों, उद्योगों को कार्य करने की अनुमति है, हालांकि उन्हें कोविड-19 के तहत निर्धारित मानदंडों की कड़ाई से पालन करनी होगी। स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स व स्टेडियम को खेल गतिविधियों के लिए खोलने की अनुमति प्रदान की गई है लेकिन दर्शकों की अनुमति नहीं है। जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी खेल परिसर में सामाजिक दूरी, नियमित सैनिटाइजेशन व कोविड नियमों की पालना सुनिश्चित करेंगे। स्वीमिंग पुल व स्पा बंद रहेंगे। संबंधित एसडीएम अपने-अपने अधीन क्षेत्रों में आदेशों की दृढता से पालना सुनिश्चित करेंगे।


उपायुक्त ने कहा कि नियमों की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 व धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाए।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

Webinar on Yoga: A Holistic Approach to Health and Wellness

Chandigarh June 20, 2021

For Detailed News-

A webinar was organised on “Yoga: A Holistic Approach to Health and Wellness”

 by Panjab University Alumni Association in collaboration with Interdisciplinary Centre for Swami Vivekanand Studies and Dr. SSB University Institute of Chemical Engineering and Technology to commemorate International Day for Yoga on June 21. 

 Prof Raj Kumar, Vice Chancellor, Panjab University while presiding over the webinar  expressed that Yoga is believed to have started with the very dawn of civilization and derived from the Sanskrit root ‘Yuj’, meaning ‘to join’ or ‘‘to unite’. Thus, the practice of Yoga leads to the union of individual consciousness with that of the Universal Consciousness, indicating a synergistic harmony. He shared that PU is in a missionary mode to promote and popularise this ancient practise of ensuring wellness on the clarion call by our Hon’ble Prime Minister, Sh Narendra Modi and the directions of the University Grants Commission. He made an impassioned plea to all the attendees to popularise and practise Yoga. 

https://propertyliquid.com

Sh Rajiv Mishra, celebrated Master trainer from Project Life, Rajkot highlighted the cardinal principles and protocols of Yoga. He highlighted that modern Yoga focuses more on physical poses, breathing techniques, and meditation. He enumerated the ways and means of reducing stress and anxiety, tips of living a healthy life style and ensuring work-life balance through Yogic approach. He emphasised that in the contemporary times, everybody has conviction about yoga practices towards the preservation, maintenance and promotion of health. With the help of his team of instructors, he exhibited simple Yoga Asanas, enumerating their benefits and purposes, which was much appreciated by the audience.

Prof VR Sinha, Dean of University Instructions opined that scientific research has proven that yoga can help reduce stress levels, increase awareness, build immunity and strong physical and mental health along with helping regularize the systems of the body over all. Few simple yet effective yogic exercises can ensure good health and overall wellness in one’s life, thereby enhancing one’s productivity and efficiency. He highlighted the two-pronged approach through Yoga. Short term goal is to ensure physical fitness. In the long term, it aims at developing attitudinal changes that prevent the build up of toxins through various practices and meditative techniques. Thus, Yoga ensures purification of the body and mind.  

Prof Sanjeev Sharma, Coordinator, ICSVS informed that this webinar is being dedicated in the memory of Sh. Milkha Singh ji, the legendary and iconic sports persona who will always remain a role model due to his profound impact on all of us and commitment towards healthy lifestyle.

Prof Anupama Sharma, Dean Alumni Relations, PU highlighted the objective of the webinar in the form of the lecture cum demonstration for the benefit of the participants. She also highlighted various initiatives by Panjab University Alumni Association for showcasing the talent and achievements of its alumni

Prof. Amrit Pal Toor, Chairperson, Dr. SSBUICET proposed a vote of thanks and highlighted the philosophy of Yoga is being imbibed at Panjab University and the youngsters have developed favourable inclination towards Yoga as a means of holistic development.

Prof. Monica Aggarwal, University Institute of Applied and Management Sciences moderated the session and initiated the questions from the audience and concluded the session. The webinar was enthusiastically attended by a faculty, students, alumni members as well as leading health and wellness experts.

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

PU VC Interacts with Associate Professors

Chandigarh June 20, 2021

For Detailed News-

Prof Raj Kumar, Vice-Chancellor, Panjab University held an online interaction today with Associate Professors of PU. At the outset, he encouraged all by citing examples of success from his own experiences like facilitating the young person who wanted to start a start-up with the idea of generating power from discharged battery cells who later become  an employer of approx. 200 employees and getting soil samples tested for approx. 200 farmers. Appreciating the stature of Panjab University ,he urged all to work collectively towards achieving top rating of NAAC and sought cooperation of all in this endeavour by updating databases, informing achievements, keeping documentary evidence for evaluation etc. 

PU VC also advised faculty members to work towards interdisciplinary, multidisciplinary research, write new projects, new start-ups, start a PhD in a completely new research area, think on innovative ideas and get patents. He also motivated faculty members to send PhD panels for their research scholars across the Nation or few International examiners rather than limiting it to 3-4 nearby States. 

PU VC urged all to create a bond with their students and  strengthen decision making for the smooth working of the system . The suggestions were taken from the  senior officials and the faculty members present in the meeting. 

Prof Ashish Jain, Director IQAC informed that NAAC visit is due in July next year and we should be ready for getting the highest rating of the NAAC. He requested that all faculty members should report their achievements, lectures delivered, public lectures, projects, patents etc. to their respective departmental IQAC cells for updating the same on the IRB portal. He requested sharing of all information which can help in getting  PU a better NAAC score. 

Prof. Anuradha Sharma-Associate Director, IQAC requested to report all the non-academic activities, if happened, between Mentee-Mentor institutes as well as to inform all the programs organised or attended under IIC.

Prof Anupama Sharma- Dean Panjab University Alumni Association shared the information regarding the activities initiated under PUAA like awarding small research projects or providing seed money to initiate the project. She also informed that they are planning to honour faculty members for their outstanding achievements in the field of research & innovations. 

Prof. Anju Suri, Dean International Students informed about the activities taken up by their cell like conducting webinars, short term courses. She also informed that faculty members can send their proposal for conducting Short Term Courses, Exchange Programs etc.

https://propertyliquid.com

 Prof. G. R. Chaudhary, Director-CIL informed that their Lab is continuously testing samples received by their lab and helping the researchers in this tough time. More than 70 Associate Professors participated in the meeting and also gave suggestions on various aspects of improvement in the university.