जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

चंडीगढ़ में पाबंदियों पर प्रशासन का बड़ा फैसला, शहर में पाबंदियों का दायरा और ज्यादा कम कर दिया

चंडीगढ़:

For Detailed News-

चंडीगढ़ में पाबंदियों पर प्रशासन का बड़ा फैसला

एक समय में कोरोना वायरस का बरपा कहर अब शांत हो गया है| इसीलिए इसके चलते लागू पाबंदियों के दायरे को कम किया जा रहा है| हालांकि, पाबंदियों को पूर्ण तरीके से हटाने की अभी जहमत नहीं उठाई जा रही है| इधर, चंडीगढ़ में भी अब पाबंदियां सिमटने लगी हैं| मंगलवार को चंडीगढ़ प्रशासन ने बड़ा फैसला लेते हुए शहर में पाबंदियों का दायरा और ज्यादा कम कर दिया है|

शहर में अब सभी दुकानें सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक खुलेंगी| दुकान मालिकों को हर हाल में कोरोना प्रोटोकाल का पालन करना है और ग्राहकों से करवाना है|
शहर में अब रेस्टोरेंट और बार खुल सकेंगे, 50% क्षमता के साथ इनका संचालन हो सकेगा| इनके खुलने का का समय सुबह 10 बजे से रात 9 बजे तक रहेगा|
रात का कर्फ्यू अब रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक रहेगा|
रविवार को पूर्ण बंदी रहेगी| सिर्फ बहुत जरूरी सामान की दुकानों को खोलने की इजाजत| इस दिन वाहनों के आवागमन पर भी पाबन्दी रहेगी|
शॉपिंग मॉल्स सुबह 10 बजे से शाम 6 बजे तक खुल सकेंगे| मॉल के अंदर ईटिंग पॉइंट्स रात 8 बजे तक खुले रह सकते हैं| मॉल के लिए प्रशासन की तरफ से ये भी कहा गया है कि मॉल में भीड़ जमा न होने पाए| मॉल में दुकानों और खुले एरिया में भीड़ को जमा होने से रोका जाए| इसके साथ ही मॉल आने वाले लोगों की स्क्रीनिंग की जाए और उनके सनेटाइज़ की व्यवस्था हो|
जिम, वेलनेस सेंटर, क्लब्सऔर स्पा भी खुल सकेंगे, 50% क्षमता के साथ इनका संचालन हो सकेगा| इनके संचालनकर्ताओं को कहा गया है कि वह यहां कोरोना प्रोटोकॉल का पूरा ध्यान रखें| इसके साथ ही स्टाफ को वैक्सीनेट करवाएं|
सिनेमा हॉल/थिएटर बंद रहेंगे|
संग्रहालय और पुस्तकालय खुले रहेंगे|
विवाह, दाह संस्कार या किसी अन्य सभा के लिए अधिकतम 30 व्यक्तियों के शामिल होने की अनुमति है|
सुखना झील सुबह 05:00 बजे से शाम 08:00 बजे तक खुली रहेगी, नौका विहार की अनुमति नहीं है| रविवार को झील बंद रहेगी|

https://propertyliquid.com

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण (पीएमडीए) का गठन करने पर विधानसभा अध्यक्ष ने किया मुख्यमंत्री का धन्यवाद।

For Detailed News-

पंचकूला, 8 जून- हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने आज मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल द्वारा पंचकूला के समग्र विकास के लिये पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण (पीएमडीए) का गठन करने, पंचकूला में फिल्म सिटी बनाने, मोरनी को एडवेंचर स्पॉट के रूप में विकसित करने, आधुनिक सुविधाओं से युक्त दो बड़े अस्पताल खोलने, सड़क तंत्र को और मजबूत करने और जिला को आर्थिक रूप से और अधिक मजबूत बनाने की दिशा में की गई अनेक घोषणाओं के लिये मुख्यमंत्री का आभार व्यक्त किया है।


श्री गुप्ता ने कहा कि आज जिला पंचकूला के विकास के लिये एक ऐतिहासिक दिन है। गुरुग्राम और फरीदाबाद के बाद अब पंचकूला के लिये महानगरीय विकास प्राधिकरण का गठन किया जायेगा। इस प्राधिकरण के गठन करने से पंचकूला के लिए  बनाई गई एकीकृत विकास योजना का समय पर और तेजी से क्रियान्वयन सुनिश्चित होगा और पंचकूला का निरंतर और सामान विकास सुनिश्चित हो सकेगा।
उन्होंने कहा कि श्री मनोहर लाल ने प्रदेश का समान रूप से विकास सुनिश्चित किया है और इसी कड़ी में जिला पंचकूला को समय समय पर अनेक विकास परियोजनाओं की सौगात दी है। उन्होंने कहा कि आज भी मुख्यमंत्री ने पंचकूला के सर्वांगीण विकास के लिये अनेक बड़ी घोषणायें की है जो जिला के विकास में मील का पत्थर साबित होगी।

https://propertyliquid.com


श्री गुप्ता ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल का हमेशा से प्रयास रहा है कि पंचकूला हरियाणा राज्य के साथ साथ ट्राई सिटी में भी विकास की दृष्टि से अग्रणी रहे। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि आज मुख्यमंत्री द्वारा पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण (पीएमडीए) का गठन करने की घोषणा से उनका यह सपना शीघ्र ही पूरा होगा।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

पंचकूला के समग्र विकास के लिए पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण (पीएमडीए) की घोषणा

जीएमडीए एफएमडीए की तर्ज पर कार्य करेगी पीएमडीए-
अलग से विकास प्राधिकरण के गठन के मामले में गुरुग्राम और फरीदाबाद के बाद पंचकूला बना तीसरा शहर

For Detailed News-

पंचकूला, 8 जून- हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने पंचकूला  के समग्र विकास को सुनिश्चित करने की दिशा में एक और बड़ा कदम उठाते हुए पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण (पीएमडीए) का गठन करने की घोषणा की।


मुख्यमंत्री  ने आज यहाँ एक प्रेसवार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि पंचकूला महानगरीय विकास प्राधिकरण (पीएमडीए) के गठन से पंचकूला के लिए  बनाई गई एकीकृत विकास योजना का समय पर और तेजी से क्रियान्वयन सुनिश्चित होगा।


इस अवसर पर उनके साथ हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता भी उपस्थित थे।


उन्होंने कहा कि पीएमडीए पंचकूला के निरंतर और सामान विकास को सुनिश्चित करेगा। यह  प्राधिकरण गुरुग्राम महानगरीय विकास प्राधिकरण (जीएमडीए) और फरीदाबाद महानगरीय विकास प्राधिकरण (एफएमडीए) की तर्ज पर काम करेगा।


 उन्होंने कहा कि प्राधिकरण अन्य विभागों जैसे एचएसवीपी, एचएसआईआईडीसी और नगर निगम के साथ सौहार्दंपूर्ण ढंग से काम करते हुए लोगों को बुनियादी ढांचा और अन्य विकासात्मक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करेगा।

https://propertyliquid.com


 उन्होंने कहा कि पंचकूला के निवासियों के साथ-साथ राज्य के लोगों को  पंचकूला शहर के विकास के बारे में पर्याप्त जानकारी देने के लिए एक व्यापक सूचना, शिक्षा व संचार (आईईसी) अभियान चलाया जाएगा, जिसमें पंचकूला की एकीकृत विकास योजना से सम्बंधित  मैप तैयार किया जाएगा और शहरों में जगह-जगह होर्डिंग के माध्यम से इस मैप को प्रदर्शित किया जाएगा, जिसमें पंचकूला के हर कोने को चित्रित किया जाएगा और विभिन्न विभागों द्वारा संचालित की जा रही योजनाओं की जानकारी दी जाएगी।


 मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला के बाद करनाल, हिसार और अन्य जिलों के भी इसी तरह की एकीकृत विकास योजना बनाई जाएगी।
 मुख्यमंत्री ने कहा पंचकूला की एकीकृत विकास योजना के तेजी से क्रियान्वयन और पीएमडीए की स्थापना से न केवल पंचकूला का समग्र विकास सुनिश्चित होगा, बल्कि इससे हरियाणा को ईज ऑफ लिविंग एंड बिजनेस इंडेक्स में सुधार करने में भी मदद मिलेगी।


पंचकूला को आर्थिक राजधानी बनने का लक्ष्य-


वर्ष 2019 में दूसरी बार हरियाणा के मुख्यमंत्री बनने के बाद से श्री मनोहर लाल की पंचकूला को हरियाणा की दूसरी ’आर्थिक राजधानी’ के रूप में विकसित करने की परिकल्पना जल्द मूर्तरूप लेने जा रही है। इस उद्देश्य के लिए पंचकूला को ’सेंटर ऑफ एक्सिलेंस’ के रूप में विकसित करने के लिए ’पंचकूला इंटिग्रेटिड प्लान’ तैयार किया गया, जिसकी मुख्यमंत्री द्वारा स्वयं निरंतर समीक्षा की गई। इस दिशा में बढ़ते हुए मुख्यमंत्री ने कुछ ऐतिहासिक फैसले भी लिए।


 प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए पंचकूला के समेकित विकास की भावी योजनाओं को सांझा करते हुए उन्होंने कहा कि राज्य सरकार पंचकूला के समग्र विकास को सुनिश्चित करने और निवेश के लिए अनुकूल वातावरण बनाने की दिशा में कई पहल कर रही है।


 मुख्यमंत्री ने कहा कि ट्राई सिटी में पंचकूला हरियाणा का पहला पूर्व नियोजित शहर है। इसके शहरीकरण के लिए वर्ष 1972 में तैयार की गई पहली कार्य योजना  के बाद से आज तक पंचकूला ने बुनियादी ढांचे के विकास के साथ-साथ  आधुनिक सुविधाओं के विकास से लेकर कईं बड़े बदलाव देखे हैं।


उन्होंने कहा कि पंचकूला के समग्र विकास और यहां निवेशकों को आकर्षित करने के लिए हाल ही में राज्य सरकार ने पंचकूला में विभिन्न विकास शुल्क और करों को लगभग एक तिहाई कम किया है और इन्हें मोहाली और ज़ीरकपुर के बराबर लेकर आई है।


उन्होंने कहा कि ईडीसी और आईडीसी को कम करने के निर्णय से जहां एक ओर पंचकूला का समग्र विकास सुनिश्चित होगा तो वहीं दूसरी ओर पंचकूला को स्मार्ट सिटी, पर्यटन स्थल, शिक्षा और मेडिसिटी हब के रूप में विकसित करने की योजना के क्रियान्वयन में अहम लाभ होगा।
पंचकूला में खुलेंगे आधुनिक सुविधाओं से युक्त दो बड़े अस्पताल-
मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला को मेडिकल हब के रूप में विकसित करने की दिशा में यहां आधुनिक सुविधाओं से युक्त दो बड़े अस्पताल सेक्टर-32 और सेक्टर-5सी में खोले जाएंगे। इसके अलावा, पंचकूला के सेक्टर-3 में 22 करोड़ रुपये की लागत से प्रदेश की पहली संयुक्त फूड व ड्रग टेसिं्टग लैब खोली जा रही है। थापली में वेलनेस सेंटर और पंचकर्मा केंद्र स्थापित किया जा रहा है। साथ ही, पंचकूला में नर्सिंग कॉलेज की स्थापना की जा रही है।


श्री मनोहर लाल ने कहा कि पंचकूला में एजुकेशन सिटी स्थापित करने के लिए गंभीर प्रयास किये जा रहे हैं। नगर निगम क्षेत्र में चंडी मंदिर में इसके लिए जगह की तलाश की गई है। इसके अलावा, सेक्टर-23, पंचकूला में राष्ट्री फैशन प्रोद्योगिकी संस्थान (निफ्ट) की स्थापना की जा रही है। उन्होंने कहा कि पंचकूला के सेक्टर-26 में नया संस्कृति मॉडल स्कूल खोला गया और सेक्टर-31 में 1.66 करोड़ रुपये की लागत से प्राथमिक विद्यालय का निर्माण किया गया है।


बरवाला में फार्मा उद्योग को बढ़ावा देने की योजना-


मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसा कि पंचकूला हिमाचल और दिल्ली का गेट-वे है, इसलिए पंचकूला में निवेश की अपार संभावनाओं को देखते हुए पंचकूला को औद्योगिक और लॉजिस्टिक हब के रूप में विकसित करने की योजना है। इस दिशा में बढ़ते हुए बरवाला में दवा उद्योग के निवेशकों को आकर्षित करने के लिए प्रदेश सरकार उद्योगपतियों के सम्पर्क में हैं। इसके लिए बद्दी इंडस्ट्रीयल एसोसिएशन के साथ बैठक हो चुकी है और आगे की योजना तैयार की जा चुकी है।


उन्होंने कहा कि बरवाला को औद्योगिक टाउनशिप के रूप में विकसित करने, पंचकूला आई.टी. पार्क को सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पाक्र्स ऑफ इंडिया के साथ संचालित करने जैसे निर्णय लिए गए हैं।


पैराग्लाइडर के लिए मोरनी को एडवेंचर स्पॉट के रूप में विकसित करना-


मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचकूला का मोरनी अपने हरे भरे वातावरण के लिए जाना जाता है और यही कारण है कि यह शहर आगंतुकों जो पंचकूला से होकर गुजरने वाली खूबसूरत पर्वत श्रृंखलाओं का आनंद लेना चाहते हैं, के लिए एक प्रमुख आकर्षण बन गया है।


इसे देखते हुए राज्य सरकार ने पंचकूला को टूरिज्म हब के रूप में विकसित करने के लिए मोरनी में पैराग्लाईडिंग सुविधाओं को विकसित किया है। वहां आगामी 20 जून, 2021 को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर पैराग्लाइडिंग की शुरूआत की जाएगी। पैराग्लाइडिंग खेल में काफी जोखिम रहता है इसलिए प्रतिभागियों के बीमा आदि का भी प्रावधान किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि पर्वतारोहण को बढ़ावा देने के लिए ट्रैकिंग रूट ऐसे बनाए जाएंगे, ताकि युवा सायं के समय आसानी से गंतव्य स्थल पर पहुंच जाएं। होम स्टे/फार्म स्टे पॉलिसी तैयार कर ली गई है और जल्द ही इसे लागू किया जाएगा।


इसके अलावा, पहाड़ों के लिए टूरिज्म सर्किट रूट, माउंटेन ट्रेल और माउंटेन बाइकिंग के लिए रास्तों की पहचान की गई है। कोविड-19 महामारी के कारण इन्हें शुरू नहीं किया जा सका है। हालात सामान्य होने पर इनका शुभारंभ किया जाएगा।


उन्होंने कहा कि पंचकूला में नाडा साहिब गुरुद्वारा व माता मनसा देवी मंदिर में 54 करोड़ 52 लाख रुपये की लागत के विकास कार्य प्रगति पर हैं।  साथ ही प्रदेश के नागरिकों को गौरवशाली इतिहास से अवगत करवाने के लिए पंचकूला के सेक्टर-5 में एक स्टेट-ऑफ-आर्ट पुरातात्विक संग्रहालय स्थापित किया जा रहा है।


मजबूत सड़क तंत्र-
मुख्यमंत्री ने कहा कि सड़क संपर्क को मजबूत करना किसी भी योजना का सबसे जरूरी हिस्सा है। चूंकि पंचकूला राजमार्गों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है, इसलिए हरियाणा सरकार पंचकूला आने वाले यात्रियों को सुगम और सुव्यवस्थित सड़क तंत्र मुहैया करवाने की दिशा में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। उन्होंने कहा कि चण्डीगढ़ एयरपोर्ट से पंचकूला की कनेक्टिविटी का कार्य प्रगति पर है। इसके लिए घग्गर नदी पर पुल भी निर्माणाधीन है।


इसके अलावा, पिंजौर हवाई पट्टी का निर्माण कार्य भी प्रगति पर है। इसके पूरा होने के बाद जल्द ही लोग एयर टैक्सी सेवा का लाभ उठा सकेंगे, जो हिंडन, शिमला, धर्मशाला, कुल्लू-मनाली आदि पर्यटन स्थलों के लिए शुरू की जाएगी।


उन्होंने कहा कि मोरनी और टिक्करताल आदि पर्यटन स्थलों तक सुगम यातायात के लिए सड़कों को चैड़ा किया जा रहा है।


 पंचकूला-मंधाना-मोरनी-टिक्करताल-रायपुररानी सड़कों को भी चैड़ा किया जा रहा है ताकि पर्यटकों का आवागमन सुगम हो सके। साथ ही, रामगढ़ से हिमाचल प्रदेश को जोड़ने के लिए नई सड़क का निर्माण जल्द ही शुरू किया जाएगा।


 पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए नक्षत्र, सुगंध वाटिका और राशि वन किए जाएंगे स्थापित-


श्री मनोहर लाल ने कहा कि पंचकूला के हरे भरे वातावरण को बढ़ावा देने और इसे संरक्षित करने के लिए निरंतर कार्य किया जा रहा है। इसके लिए पंचकूला से मोरनी रोड के किनारे लगभग 20 एकड़ में नक्षत्र वाटिका, सुगंध वाटिका और राशि वन स्थापित करने का कार्य चल रहा है।


उन्होंने कहा कि नक्षत्र वाटिका में सभी 27 नक्षत्रों से संबंधित पौधे लगाए जाएंगे और इनके बारे में विस्तृत जानकारी भी उपलब्ध होगी। सुगंध वाटिका में सुगंध बिखेरने वाले पौधे लगाए जाएंगे और आसपास के किसानों को ऐसे पौधे लगाने के लिए प्रेरित किया जाएगा ताकि सुगंधित तेल बनाने वाले उद्योग में किसान अपनी फसल बेच कर अधिक से अधिक मुनाफा कमा सकें।
इसी प्रकार, राशि वन में सभी 12 राशियों से संबंधित पौधों का रोपण किया जाएगा और इन पौधों और राशियों के बारे में पर्यटकों को जानकारी उपलब्ध करवाई जाएगी।
उन्होंने कहा कि इलैक्ट्रिक गाड़ियों को बढ़ावा देने के लिए पहला फास्ट ई-वाहन चार्जिंग स्टेशन अक्षय ऊर्जा भवन, पंचकूला में स्थापित किया गया है।


पिंजौर के विकास पर अधिक जोर-


मुख्यमंत्री ने कहा कि पिंजौर का विकास पंचकूला की एकीकृत विकास योजना का एक अहम हिस्सा है, इसके लिए वहां फिल्म सिटी बनाने की व्यापक योजना बनाई जा रही है.। इसके अलावा पिंजौर की मंडी को भी पंचकूला के समग्र विकास की योजना में शामिल किया जाएगा।


उन्होंने कहा कि किसानों को उनके फलों एवं सब्जी का उचित मूल्य दिलवाने तथा उपभोक्ताओं को उचित मूल्य पर ताजा फल एवं सब्जियां उपलब्ध करवाने के लिए पंचकूला के सेक्टर-20 में किसान बाजार शुरू किया गया है।


डमिं्पग ग्राउण्ड 31 दिसम्बर 2021 तक झूरीवाला में होगा शिफ्ट-
मुख्यमंत्री ने कहा कि सेक्टर-23 के डमिं्पग ग्राउण्ड में कूड़ा डालना तत्काल बंद करने के साथ-साथ डमिं्पग ग्राउण्ड को 31 दिसम्बर 2021 तक झूरीवाला में पूरी तरह शिफ्ट किया जाएगा। वहां कूड़ा- कचरा पहुंचाना शुरू कर दिया गया है और ठोस कचरा प्रबंधन संयंत्र भी लगाया गया है।


एसडीजी रिपोर्ट में हरियाणा रहा सबसे आगे-
 मुख्यमंत्री ने नीति आयोग के सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स में हरियाणा को पहला स्थान दिलाने में सहयोग करने वाले संबंधित अधिकारियों के समर्पित प्रयासों की सराहना करते हुए कहा कि यह गर्व की बात है कि राज्य ने पिछली बार के मुकाबले सबसे ज्यादा सुधार किया है।


उन्होंने कहा कि पिछले वर्ष की तुलना में इस बार हरियाणा को सस्ती और स्वच्छ ऊर्जा की श्रेणी में 100 प्रतिशत अंक मिले हैं। इतना ही नहीं, सतत उपभोग, ज़ीरो हंगर सहित अन्य श्रेणियों में भी हरियाणा ने काफी सुधार किया है।  


इस मौके पर वन एवं वन्य जीव विभाग की प्रधान सचिव श्रीमती जी अनुपमा, मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव और सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डॉ अमित अग्रवाल, पंचकूला के उपायुक्त श्री विनय प्रताप सिंह, अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रजा, एसडीएम पंचकूला ऋचा राठी, पुलिस आयुक्त सौरभ सिंह, पुलिस उपायुक्त मोहित हांडा, पंचकूला नगर निगम के मेयर कुलभूषण गोयल, मुख्यमंत्री के प्रधान मीडिया सलहाकार विनोद मेहता, बीजेपी के जिला प्रधान अजय शर्मा, जिला महामंत्री वीरेंद्र राणा, बीजेपी प्रवक्ता प्रवीण अत्रे, प्रवक्ता रंजिता मेहता, मीडिया काॅरडीनेटर रमनीक सिंह मान, संजय आहूजा व बीजेपी मीडिया प्रभारी नवीन गर्ग सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति भी उपस्थित थे।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

तत्कालीन उपायुक्त प्रदीप कुमार के कार्यकाल में जिला ने की बड़ी उपलब्धियां हासिल : कुलपति

सिरसा, 08 जून।

For Detailed News-


तत्कालीन सिरसा उपायुक्त प्रदीप कुमार के सम्मान में सीडीएलयू के फैक्लटी हाऊस में समारोह का आयोजन किया गया। समारोह में कुलपति प्रो. अजमेर सिंह मलिक, रजिस्ट्रार राकेश वधवा, यूनिवर्सिटी कॉलेज प्रिंसिपल सुलतान ढांडा, प्रो. पंकज शर्मा सहित यूनिवर्सिटी के अन्य प्रोफेसर व अधिकारी उपस्थित थे।


कुलपति प्रो. अजमेर सिंह मलिक ने कहा कि तत्कालीन उपायुक्त प्रदीप कुमार ने अपने कार्यकाल में सराहनीय कार्य किए हैं, जिसकी बदौलत जिला ने ऑनलाइन सेवाओं के माध्यम से विभिन्न योजनाओं के बेहतर क्रियांवयन से लेकर लिंगानुपात में प्रदेशभर में प्रथम स्थान हासिल करने की उपलब्धि भी प्राप्त की। उन्होंने कहा कि उनके उपायुक्त का पद संभालने के उपरांत जिला अंत्योदय सरल की ऑनलाइन सेवाओं की रैंकिग में काफी सुधार हुआ है।


उन्होंने कहा कि तत्कालीन उपायुक्त प्रदीप कुमार के बेहतर कोविड प्रबंधन व अधिकारियों के साथ आपसी तालमेल के कारण जिला में कोरोना संक्रमण की स्थिति काबू में रही और विशेषकर ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के फैलाव रोकने को लेकर योजनाबद्ध तरीके से कार्य किया गया। ग्रामीण क्षेत्र में मेडिकल किट वितरण का कार्य किया गया, जिसे प्रदेशभर में मॉडल के तौर पर अपनाया गया और इस कार्य की सराहना भी हुई। इसके साथ-साथ कोरोना संक्रमण व गंभीर बीमारियों से ग्रस्त लोगों को ऑक्सीजन सिलेंडर सुविधा उपलब्ध करवाने की दिशा में भी बेहतर कार्य किया गया। समारोह में रजिस्ट्रार राकेश वधवा, यूनिवर्सिटी कॉलेज प्रिंसिपल सुलतान ढांडा, प्रो. पंकज शर्मा सहित अन्य ने भी उपायुक्त प्रदीप कुमार की कार्य प्रणाली की प्रशंसा की और जीवन में उन्नति व प्रगति की कामना की।

https://propertyliquid.com


तत्कालीन उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि कोई भी अधिकारी हो या कर्मचारी सबसे बड़ी बात तो यही होती है कि जनता के कल्याण के लिए व्यक्तिगत रूचि लेकर जनता के कार्यों के साथ-साथ कर्म भी करते रहें। उन्होंने कहा कि यहां के लोग सहयोगी स्वभाव के हैं, जोकि सामाजिक कार्यों के लिए हमेशा तैयार रहते हैं। कोविड महामारी में एक आह्वान पर सामाजिक संस्थाओं, समाज सेवियों व नागरिकों ने अपना पूरा सहयोग दिया, इससे उन्हें स्वयं को भी हौसला मिला, जिसका परिणाम भी सकारात्मक रहा। जो प्रेम प्यार और स्नेह यहां की जनता से मिला उनके आज तक के कार्यकाल में कही प्राप्त नहीं हुआ।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

Mayor visits Mauli Complex

For Detailed News-

Chandigarh, June 8:- Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor, Chandigarh today visited ward No.24 i.e. Mauli Complex to review the ongoing works at the area and joined ‘Swachhata hi Sewa’ drive in the area alongwith Sh. Anil Kumar Dubey, area councilor, Sh. Shailender Singh, Chief Engineer, Sh. K.P. Singh, SE, Horticulture, Dr. Amrit Warring, Medical Officer of Health, concerned Executive Engineers and other officials.

During the visit the Mayor and team of officers visited booth market in Mauli Complex, where the Mayor asked the concerned engineers to prepare status report about the market and get the maintenance work done in this area. He asked the sanitation inspector to maintain proper cleanliness in the market area.

The Mayor and team took round of the streets at Mauli Complex and instructed the concerned officers to repair the paver blocks in road berms and repair the dug up roads. The Mayor asked the executive engineer of Electrical wing to maintain the street lights properly in the area and repair the broken lights.

https://propertyliquid.com

During the drive required pruning of trees were also done by the horticulture wing and lifted the horticulture waste from the road berms and open areas of ward No.24. The Mayor also distributed face masks to the shopkeepers and local residents besides pamphlets depicting precautionary measures to be taken during the COVID-19 and maintaining cleanliness in their surroundings.

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

“Preparing Roadmap for Implementation of NEP-2020” Discussed at PU

Chandigarh June 8, 2021

For Detailed News-

A webinar series on ‘Preparing Roadmap for Implementation of NEP-2020’ was jointly organized by Department of Education and University Institute of Hotel and Tourism Management, Panjab University, Chandigarh which was inaugurated by Prof Raj Kumar Vice Chancellor.

In his Inaugural address, PU VC stressed upon revision and revamping of  the education structure, as per NEP2020.. He focused on the importance of national and international collaborations through MOU and the Research and Student exchange programmes etc.which bring visibility of  the University. He also stressed that based on these series, a policy document shall be prepared which will be sent to Ministry of Education for reference.  

Prof. Amit Kauts, Dean Faculty of Education, Guru Nanak Dev University, Amritsar was the resource person of the day. His topic was “Digital initiatives, their integration and use for improving quality in education’. He emphasized on a more holistic and multidisciplinary education, internationalization with an aim of restoring India’s position of Vishwa Guru, technology use and integration etc.

https://propertyliquid.com

Further, an initiative of ICT enabled teaching learning pedagogy improves the visibility of self and of the university one is working with. He emphasised that in NEP, technology is the centre of various programs like Swayam, Swayam Prabha, National Digital Library etc. and through the use of ICT,  teaching and learning will improve as technological interventions will be thrust area for every academic body. 

The webinar was attended by 70 participants which were a mix of  students staff and faculty from varied institutions. The webinar was convened by Prof. Kirandeep Singh Chairperson Department of Education ,PU and the vote of thanks  was presented by Dr. Anish Slath Director University Institute of Hotel and Tourism Management 

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

Mayor & Commissioner plants saplings at sector 19 & 23

For Detailed News-

Chandigarh, June 7:- Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor, Chandigarh and Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner, Municipal Corporation Chandigarh today planted saplings of medicinal plants at a park, Sector 23, Chandigarh.

During the tree plantation drive Smt. Sunita Dhawan, area Councillor and Sh. K.P. Singh, Superintending Engineer, Horticulture, MCC also planted saplings of plants. The Mayor appealed to the area Resident Welfare Association representatives to take care of the plants and upkeep of the park near their houses.

https://propertyliquid.com

In addition to that the Commissioner planted saplings of various plants at a park, sector 19, Chandigarh during tree plantation drive organized by Indian Oil Corporation. Nearly 30 medicinal and flowering plants were planted by the officials of MCC and Indian Oil Corporation during the drive.

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

नवनियुक्त उपायुक्त श्री विनय प्रताप सिंह जिला सचिवालय के सभागार में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुये।

For Detailed News-

पंचकूला 7 जून- नवनियुक्त उपायुक्त श्री विनय प्रताप सिंह ने आज जिला सचिवालय के सभागार में जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक के दौरान उपायुक्त ने जिला की प्राथमिकताओं पर विस्तृत चर्चा की और विभिन्न विभागों के बीच समन्वय को और बेहतर बनाने के लिये दिशा-निर्देश दिये।


श्री विनय प्रताप सिंह ने कहा कि जिला में राज्य सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं और कार्यक्रमों को और प्रभावी ढंग से लागू करने तथा उनका लाभ आमजन तक पंहुचाने के उद्देश्य से इस प्रकार की और भी बैठके आयोजित की जायेगी।


उन्होंने कहा कि इन बैठकों के उपरांत जिलावासियों से मिलकर शीघ्र ही जिला की प्राथमिकताओं को तय किया जायेगा और जिला प्रशासन के अधिकारियों की पूरी टीम इस दिशा में मिलकर इन्हें पूरा करने का प्रयास करेगी। उन्होंने कहा कि जिला में कोरोना के मामलों में काॅफी कमी आई है और कोविड की दूसरी वेव लगभग समाप्ति की ओर है। उन्होंने कहा कि केसों में कमी आने के बावजूद भी हमें किसी भी प्रकार की कोताही या लापरवाही नहीं बरतनी है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा कोरोना से प्रभावी ढंग से निपटने के लिये कोविड टीकाकरण के साथ साथ आईसीएमआर, भारत सरकार तथा राज्य सरकार द्वारा समय समय पर जारी की गई हिदयतों व दिशा निर्देशों की पालना सुनिश्चित की जायेगी।

https://propertyliquid.com


बैठक के दौरान उपायुक्त ने जिला में परिवार पहचान पत्र, मरीजों के लिये आॅक्सीजन की सप्लाई, खेलों इंडिया गेम्स-2021, डीड रजिस्ट्रेशन सहित अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की।


इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रजा, एसडीएम पंचकूला ऋचा राठी, एसडीएम कालका राकेश संधु, नगराधीश सिमरनजीत कौर, सिविल सर्जन जसजीत कौर, सीईओ जिला परिषद निशु सिंगल, जिला परिवहन अधिकारी अमरिंद्र सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा नियम 14 जून तक जारी: डीसी

For Detailed News-

– डीसी विनय प्रताप सिंह ने कहा-तिथि अनुसार ऑड-ईवन के तहत सुबह 9 बजे से सायं 6 बजे तक खुल सकती हैं दुकानें

पंचकूला 7 जून- कोरोना महामारी से बचाव के मद्देनजर पंचकूला जिला में सरकार के निर्देशानुसार अब आगामी 14 जून तक महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा के मद्देनजर नियमों की पालना सुनिश्चित होगी। महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा के तहत पूर्व निर्धारित नियमों की सभी व्यवस्थाएं प्रभावी रूप से लागू रहेंगी और इस बार आदेश के तहत अब जन सुविधा के लिए सरकार की ओर से तिथि अनुसार ऑड-इवन फार्मूले के तहत सुबह 9 बजे से सायं 6 बजे तक दुकानें खोलने की छूट दी गई है।


जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण चेयरमैन एवं डीसी विनय प्रताप सिंह  ने कहा कि महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा के तहत नियमों को प्रभावी रूप से क्रियांवित करने के लिए प्रशासनिक स्तर पर प्रशासन सजग एवं सतर्क है। पुलिस विभाग के माध्यम से आदेशों की अनुपालना सुनिश्चित की जा रही है। गौरतलब है कि हरियाणा सरकार ने कोरोनावायरस से प्रभावी ढंग से निपटने के लिये प्रदेश में अब आगामी 14 जून सुबह 5 बजे तक महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा के तहत नियम लागू किए हैं।


प्रतिष्ठानों के लिए निर्धारित की नई समयावधि:
डीसी विनय प्रताप सिंह ने बताया कि दूध, फल-सब्जी, किरयाने की दुकानों सहित मेडिकल स्टोर पूर्व निर्धारित नियमों के तहत ही खुलेंगे जबकि नए नियमों के तहत अब ऑड-ईवन तिथि अनुसार ही ऑड-ईवन नंबर की दुकानें सुबह 9 बजे से सायं 6 बजे तक खुल सकती हैं। इसके अलावा कोविड के उचित व्यवहार की पालना करते हुए सुबह 10 बजे रात 8 बजे तक मॉल भी खोले जा सकेंगे। रेस्टोरेंट, बार-जो होटल अथवा मॉल में स्थित हैं, सुबह 10 बजे से सायं 8 बजे तक 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ खोलने की इजाजत है और कोविड गाइडलाइन की अनुपालना सुनिश्चित करनी होगी। होटल, रेस्टोरेंट व फास्ट फूड से होम डिलीवरी की अनुमति रात्रि 10 बजे तक रहेगी। जिला में स्थित धार्मिक स्थल एक समय में 21 लोगों की उपस्थिति के साथ खुल सकते हैं और उक्त अवधि में एक दूसरे से उचित शारीरिक दूरी की पालना, मास्क का उपयोग व अन्य स्वास्थ्य सुरक्षा मानकों का ध्यान रखना होगा। डीसी ने बताया कि कारपोरेट आफिस को भी खोलने की छूट 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ दी गई है जिसमें कोविड गाइडलाइन की पालना प्रभावी रूप से सुनिश्चित करनी होगी। विवाह समारोह में व अंतिम संस्कार के दौरान 21 लोगों की उपस्थिति सुनिश्चित रहेगी जबकि शादी कार्यक्रम में बारात की अनुमति नहीं होगी।

https://propertyliquid.com


 उन्होंने बताया कि सरकार की ओर से जारी आदेश के मद्देनजर शादी कार्यक्रम अथवा अंतिम संस्कार के अतिरिक्त किसी भी रूप के सामूहिक कार्यक्रम में 50 से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकते। वहीं यदि 50 से अधिक लोग एकत्रित होते हैं तो उससे पहले उपायुक्त से अनुमति आवश्यक है। गोल्फ कोर्स के क्लब हाउस, रेस्टारेन्ट, बार में भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलने की अनुमति सुबह 10 बजे से सायं 8 बजे तक की रहेगी। महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा के दौरान विभिन्न पहलुओं पर सरकार की ओर से दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं जिनकी अनुपालना पंचकूला प्रशासन की ओर से करवाई जाएगी। डीसी ने कोरोना संक्रमण फैलाव को रोकने के उद्देश्य से जिलावासियों को अपने घरों में रहने को कहा है। किसी भी नागरिक को उक्त महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा नियमों के तहत उक्त निर्धारित अवधि में नियमों की अवहेलना नहीं करने दी जाएगी।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा आगामी 14 जून तक रहेगा प्रभावी : उपायुक्त अनीश यादव

सिरसा, 07 जून।

For Detailed News-

– नए नियमों के तहत अब जिला में सुबह 9 बजे से सांय छह बजे तक खोली जा सकेगी दुकानें
– बाजारों में बाईं तरफ की दुकानें ऑड तिथि को तथा दाईं तरफ की दुकानें इवन तिथि को खोली जा सकेगी
– बाईं व दाईं तरफ की दुकानों की दिशा पूर्व से पश्चिम या दक्षिण से उत्तर की तरफ चलने के हिसाब से तय किया जाएगा


उपायुक्त एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन अनीश यादव ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा महामारी अलर्ट-सुरक्षित हरियाणा की अवधि को 14 जून, 2021 प्रात: पांच बजे तक बढ़ा दिया गया है, जिसके मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा नई हिदायतें जारी की गई है। नई हिदायतों के अनुसार एकल दुकानों के अलावा अन्य दुकानों को अब प्रात: 9 बजे से लेकर सांय 6 बजे तक ऑड व इवन दो समूहों में खोलने की अनुमति प्रदान की गई है। बाईं तरफ की दुकानें ऑड तिथि को तथा दाईं तरफ की दुकानें इवन तिथि को खोली जा सकेगी। बाईं व दाईं तरफ की दुकानों की दिशा पूर्व से पश्चिम या दक्षिण से उत्तर की तरफ चलने के हिसाब से तय किया जाएगा।


साथ ही कोविड-19 के नियमों की पालना करते हुए सुबह 10 बजे से रात्रि आठ बजे तक मॉल भी खोले जा सकेंगे। रेस्टोरेंट, बार-जो होटल अथवा मॉल में स्थित हैं, सुबह 10 बजे से रात्रि 8 बजे तक 50 प्रतिशत बैठने की क्षमता के साथ खोलने की इजाजत है और कोविड गाइडलाइन की अनुपालना सुनिश्चित करनी होगी। होटल, रेस्टोरेंट व फास्ट फूड प्रतिष्ठानों से होम डिलीवरी की अनुमति रात्रि 10 बजे तक रहेगी। जिला में स्थित धार्मिक स्थल एक समय में 21 लोगों की उपस्थिति के साथ खुल सकते हैं और उक्त अवधि में एक दूसरे से उचित सामाजिक दूरी की पालना, मास्क का उपयोग व अन्य स्वास्थ्य सुरक्षा मानकों का ध्यान रखना होगा। कॉर्पोरेट ऑफिस को भी खोलने की छूट 50 प्रतिशत कर्मचारियों के साथ दी गई है जिसमें कोविड गाइडलाइन की गंभीरता से पालना करनी होगी। विवाह समारोह में व अंतिम संस्कार के दौरान 21 लोग शामिल हो सकते हैं जबकि शादी कार्यक्रम में बारात की अनुमति नहीं होगी। सरकार की ओर से जारी आदेश के मद्देनजर शादी समारोह अथवा अंतिम संस्कार के अतिरिक्त किसी भी रूप के सामूहिक कार्यक्रम में 50 से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकते। वहीं यदि 50 से अधिक लोग एकत्रित होते हैं तो उससे पहले संबंधित एसडीएम से अनुमति आवश्यक है। गोल्फ कोर्स के क्लब हाउस, रेस्टारेंट, बॉर में भी 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुलने की अनुमति सुबह 10 बजे से सायं 8 बजे तक की रहेगी तथा कोविड गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित करनी होगी।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने कहा कि संबंधित एसडीएम अपने-अपने क्षेत्र में जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित समय अवधि के दौरान दुकानों के लिए समय की अनुपालना करवाना सुनिश्चित करेंगे। दुकानदार प्रशासन द्वारा निर्धारित समयसीमा को ध्यान में रखते हुए सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क आदि बचाव उपायों की कड़ाई से पालना करेंगे। नियमों की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 51 से 60 व धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाए।