जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने सेक्टर 15 और सेक्टर 25 के पार्क में किया पौधारोपण.

6 जून, पंचकूला.

For Detailed News-

भगवान परशुराम मंदिर में आयोजित रक्तदान शिविर में की शिरकत.

रविवार को पंचकूला में हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने 3 कार्यक्रमों में शिरकत की. श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने सबसे पहले सेक्टर 12 A स्थित भगवान परशुराम मंदिर में ब्लड डोनेशन कैंप में बतौर मुख्यअतिथि शिरकत की और ब्लड डोनेट करने वाले लोगों को बैज लगाकर प्रोत्साहित किया. वहीं शनिवार को 100 एकड़ जमीन पर “ऑक्सी वन” का नायाब तोहफा देने के बाद श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने भाजपा द्वारा आयोजित विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर दो दिवसीय कार्यक्रम के तहत रविवार को आयोजित दो पौधारोपण कार्यक्रमों में शिरकत की और पौधारोपण किया.


श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि रक्तदान महादान है और हर व्यक्ति को रक्तदान करना चाहिए. उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण बढ़ने के साथ ही जिले में रक्त की आवश्यकता वाले मरीजों को भी दिक्कत का सामना ना करना पड़े ऐसे में सभी को रक्तदान करना चाहिए ताकि लोगों की जान बचाई जा सके. श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने लोगों से अपील की कि सभी लोग रक्त दान करें जोकि एक नेक काम है.
वही रक्तदान शिविर में शिरकत करने के बाद हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने पंचकूला के सेक्टर 15 स्थित एक पार्क में शिरकत की और पार्क में स्वर्गीय राज भाटिया की याद में पौधारोपण किया. श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि श्री राज भाटिया भाजपा पंजाब कार्यालय के प्रमुख थे. वही इस पौधारोपण के दौरान श्री ज्ञान चंद गुप्ता के साथ स्वर्गीय राज भाटिया के परिवार के सदस्य, वार्ड पार्षद जय कौशिक और पार्क एसोसिएशन के लोग मौजूद रहे. वही इस दौरान पार्क एसोसिएशन के लोगों ने जिला अध्यक्ष अजय शर्मा, मेयर कुलभूषण गोयल और पार्षद जय कौशिक की उपस्थिति में हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता जी से मुलाकात की और अपनी मांग श्री ज्ञान चंद गुप्ता जी के समक्ष रखी. पार्क एसोसिएशन के सदस्यों ने विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता से मांग की कि पंचकूला के सभी पार्को के उत्थान व बेहतर रखरखाव के लिए क्यों नहीं पंचकूला में सभी पार्कों का एक कंपटीशन आयोजित किया जाए. वहीं इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि वे पार्क एसोसिएशन की इस मांग पर विचार करेंगे. इस दौरान श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने मौके पर पंचकूला नगर निगम के मेयर श्री कुलभूषण गोयल से भी कहा कि वे जल्द इस पर विचार करें और इस विषय पर उन्हें अपनी राय दें ताकि जल्द से जल्द पार्क एसोसिएशन की मांग पर निर्णय लिया जा सके. वही इसके साथ ही ज्ञान चंद गुप्ता ने यह भी कहा कि जो भी पार्क प्रथम आएगा उसे इनाम में 1 लाख रुपए दिए जाएंगे, दूसरे स्थान पर आने वाले पार्क को 50 हजार रुपए दिए जाएंगे और तीसरे स्थान पर आने वाले पार्क को 30 हजार रुपए इनाम में दिए जाएंगे.

https://propertyliquid.com


वही पंचकूला के सेक्टर 15 में पौधारोपण करने के बाद हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता पंचकूला के सेक्टर 25 में पहुंचे जहां उन्होंने स्वर्गीय रविंद्र सहगल के परिवार के साथ मिलकर रविंदर सहगल की याद में पौधारोपण किया. श्री ज्ञान चंद गुप्ता ने बताया कि स्वर्गीय रविंद्र सहगल भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष थे जोकि भाजपा के एक वरिष्ठ व कर्मठ नेता भी थे.

इस दौरान कार्यक्रम में मेयर श्री कुलभूषण गोयल, जिला अध्यक्ष अजय शर्मा, जिला महामंत्री रविंद्र राणा, परमजीत कौर, पार्षद जय कौशिक, पार्षद नरेंद्र लबाना, राजेंद्र नौनिवाल, एसपी गुप्ता, मंडल अध्यक्ष राकेश अग्रवाल, मंडल महामंत्री सिद्धार्थ राणा, मंडल सह मीडिया प्रभारी जसबीर गोयत व भाजपा के अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे.

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

हरियाणा में बढ़ाया गया लॉकडाउन।

For Detailed News-

14 जून तक बढ़ाया गई महामारी अलर्ट सुरक्षित हरियाणा की अवधि।

दुकानों को दो समूहों में सुबह 9 बजे से शाम 6 बजे तक खोलने की अनुमति है,।

दुकानों के खुलने के लिए ऑड-ईवन सिस्टम जारी रहेगा।

शॉपिंग मॉल को सुबह 10 बजे से शाम 8 बजे तक खोलने की अनुमति है।

रेस्तरां और बार (होटल और मॉल सहित) को 50% बैठने की क्षमता के साथ सुबह 10 बजे से शाम 8 बजे तक खोलने की अनुमति है पर सामाजिक दूरियों के साथ।

मंदिरो व प्रार्थना घरों में एक बार मे 21 से ज्यादा व्यक्ति ना हों।

शादी में व फ्यूनरल में 21 लोगों को इजाजत।

https://propertyliquid.com

इनसे अलग आयोजनों में 50 से ज्यादा व्यक्ति ना हों, 50 से ज्यादा के लिए प्रशासन से अनुमति अनिवार्य।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

उत्तर-पश्चिम भारत के हर ग्रामीण घर को 2022 तक नल से पीने योग्य जल का कनेक्शन मिलेगा -केंद्रिय जल शक्ति मंत्री

For Detailed News-

100 दिनों के अभियान द्वारा पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के सभी स्कूलो और आंगनबाडी केंद्रो में अब नल के पानी की आपूर्ति
उत्तर पश्चिमी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के जल जीवन मिशन के केंद्रीय आवंटन में चार गुना वृद्धि से 5 करोड़ से अधिक लोग लाभान्वित होंगे।

पंचकूला 6 जून- केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह शेखावत ने कहा है कि अगले वर्ष 2022 के अंत तक, हरियाणा सहित देश के सभी उत्तर पश्चिमी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में सभी ग्रामीण घरों में शुद्ध पेयजल की सप्लाई सुनिश्चित करने के लिए नल कनेक्शन प्रदान कर दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त, 2019 को, प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जल जीवन मिशन की शुरुआत करते हुए साल 2024 तक देश के हर ग्रामीण घर में पाइप से स्वच्छ पीने का पानी उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया था


केन्द्रीय जल शक्ति मंत्रालय पिछले एक साल के दौरान केंद्रीय जल शक्ति राज्य मंत्री श्री रतन लाल कटारिया और मंत्रालय के अधिकारीयों के साथ पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख समेत अन्य राज्यों के मुख्यमंत्रियों और उपराज्यपालों के साथ बैठकें कीं ।उन्होंने कहा कि प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के विजन और सपने को साकार करने के लिए इन बैठकों में कार्य की प्रगति की समीक्षा करने के पश्चात यह निर्णय लिया गया है कि हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, जम्मू कश्मीर और लद्दाख इन सभी 5 उत्तर-पश्चिमी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में जल जीवन मिशन के कार्यान्वयन में तेजी लाकर प्रत्येक ग्रामीण परिवार को 2024 के बजाय 2022 तक ही नल के पानी के कनेक्शन द्वारा पेयजल आपूर्ति उपलब्ध करा दी जाएगी।


केन्द्रीय मंत्री ने आगे बताया कि वर्ष 2022 तक इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जल शक्ति मंत्रालय ने इन राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों में वित्त वर्ष 2021-2022 में 8216.25 करोड़ रुपये के केंद्रीय आवंटन को मंजूरी दी है जो 2020-2021 में इन राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों को किए गए आवंटन के 4 गुना से भी अधिक है। आवंटन में इस भारी वृद्धि और कार्यान्वयन की गति में वृद्धि के साथ, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू और कश्मीर और लद्दाख 2024 के राष्ट्रीय लक्ष्य से दो साल पहले 2022 तक ‘हर घर जल’ का दर्जा हासिल करने के लिए तैयार हैं।

https://propertyliquid.com


केन्द्रीय मंत्री द्वारा हरियाणा को जल जीवन मिशन के अंतर्गत प्राथमिकता देने और केन्द्रीय बजट आवंटन में अभूतपूर्व वृद्धि के लिए जल शक्ति मंत्रालय के राज्य मंत्री और अंबाला से लोक सभा सदस्य श्री रतन लाल कटारिया ने उनका आभार व्यक्त किया। हरियाणा में जल जीवन मिशन की प्रगति पर श्री रतन लाल कटारिया ने बताया कि राज्य में जल जीवन मिशन की घोषणा से पहले, 31.03 लाख घरों में से केवल 17.67 लाख (57%) घरों में पाइप से पीने के पानी के कनेक्शन थे। जल जीवन मिशन के तहत 21 महीने में नए 10.71 लाख ग्रामीण परिवारों को नल से पानी के कनेक्शन दिए गए हैं। नल के पानी के कनेक्शन में इस 35 फीसदी की बढ़ोतरी के साथ अब हरियाणा के 28.37 लाख (91.45 फीसदी) ग्रामीण घरों को नल का पानी मिल रहा है। राज्य के 5,202 गांव, 58 ब्लॉक और अंबाला, पंचकुला और कुरुक्षेत्र सहित 8 जिले पहले ही ‘हर घर जल’ बन चुके हैं और यमुनानगर समेत 10 अन्य जिलों में 90% से अधिक घरों में नल के पानी की आपूर्ति है और वहां भी शत प्रतिशत कनेक्शन का लक्ष्य बहुत जल्द प्राप्त कर लिया जाएगा।
श्री रतन लाल कटारिया ने आगे बताया जल जीवन मिशन के तहत हरियाणा के लिए 2020-21 के 256.81 करोड़ रुपए के केन्द्रीय आवंटन को आवंटन वर्ष 2021-2022 में बढ़ाकर चार गुना से भी अधिक 1119.95 करोड़ रूपए किया गया है, स्कूलों और आंगनवाड़ी केंद्रों में बच्चों को सुरक्षित पेयजल सुनिश्चित करने के लिए, प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने 100 दिनों के अभियान की घोषणा की, जिसे 2 अक्टूबर, 2020 को केंद्रीय जल शक्ति मंत्रालय द्वारा शुरू किया गया था। उन्होने खुशी जाहिर कि जहां हरियाणा ने सभी स्कूलों और आंगनवाड़ी केंद्रों को नल के पानी के कनेक्शन प्रदान कर दिए हैं ।
अंत मे श्री कटारिया ने कहा कि
प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने ‘सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास’के मंत्र पर जोर दिया है। जल जीवन मिशन इस सिद्धांत के बेहतरीन उदाहरणों में से एक है और यह सुनिश्चित करने का प्रयास है कि गांव के हर घर नल से पीने के पानी की आपूर्ति हो। 2022 में, जब भारत आजादी के 75 वर्ष पूरे होने का पर्व मनाएगा, तब प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का हर घर में सुरक्षित नल का पानी उपलब्ध कराने का सपना देश के कुछ अन्य राज्यों के साथ सभी उत्तर पश्चिमी राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशो के हर गांव में साकार होगा।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

Holistic Approach Needed towards Environmental Preservation

Chandigarh June 6, 2021

For Detailed News-

The ecological footprints of modern human society and its practices are huge. Thus, we need a holistic approach of environmental protection that entails a merger between environmental protection and economic development. said  Prof Raj Kumar, Vice Chancellor, Panjab University while presiding over the webinar on “Need for Connecting Industry and People to Nature: Role of Engineers” expressed that the Ancient Indian wisdom of “green, clean, resilient” path is even more relevant today as we pursue poverty reduction and development in an increasingly fragile environment. 

 The webinar was organised by Panjab University Alumni Association in collaboration with PU Chemical Engineers Alumni Association (PUChETAA) to celebrate World Environment Day.  Prof Raj Kumar recommended that the efforts should be made towards the ideal scenario where natural resources can regenerate themselves and be used without compromising the life cycle of production, highlighting the pivotal role of industry in protecting the environment. He expressed his concern towards rapid industrialisation, population growth coupled with changing lifestyles which are increasing the severity of the environmental problems. He made an impassioned plea to all the attendees to be the harbingers of sustainability and become the change agents and be true Karmayogis. Lauding the role of industry, he pleaded with them to undertake an Energy Audit periodically to assess energy usage to reduce wastage and be more efficient and also to benchmark against best practices worldwide. He urged all to plant at least one tree to celebrate World Environment day and contribute towards environment sustainability. 

https://propertyliquid.com

Prof VR Sinha, DUI opined that the environmental protection challenges require multipronged strategies and community participation. By creating opportunities and efficiencies in all social and economic areas of resource utilisation and distribution as well as involvement of all can help achieve sustainable development goals. He made an earnest appeal to all to work wholeheartedly towards developing the planet a better place to live in for our future generations. 

Dean Alumni Relations, PU Prof Anupama Sharma highlighted the objective of the panel discussion to sensitise and motivate individuals to think about the way they consume; for businesses to develop greener models; for farmers and manufacturers to produce more sustainably and for youth to build a greener future. The three pillars of Industry 4.0 i.e. digitization, automation, and integration  needs to have the fourth pillar of environmental sustainability also. She also highlighted a few initiatives by Panjab University in the direction of environmental protection. 

Chief Guest Sh. Aseem Sharma, IFS expressed the need for a long term perspective for developing a tradeoff between industrial economic development and environmental preservation. This mandates resource consumption through a resilience perspective with continuous innovation for developing greener technologies and processes. He stressed on the term “Environ-mend” to highlight the efforts towards environmental restoration. 

Treasurer, PUCHETA Sh Rakesh Aggarwal moderated the panel discussion.  

Sh. Sukhraj Soni, Business Head, Spray Engg. Devices Ltd., outlined numerous Energy-saving opportunities in industry which can be addressed by either technological or process changes. Technological changes include replacing old machinery with energy-efficient equipment and improving insulation in physical plants. Process changes include shifting production schedules so that more electricity is used during off-peak demand times. 

Highlighting cement industry perspective and initiatives, Sh. Ashok Demla, President and MD, Humbolt Wedag India informed that in response to environmental concerns, many businesses have made changes in their product materials, ingredients and packaging. He shared the best practices in the cement industry to reduce the carbon footprints in recent times which has changed the perspective of the cement industry from most polluting to most advanced. Advances in technology have resulted in the production of more sustainable materials and production methods, thereby reducing carbon footprints. 

Sh. Sanjeev Handa, Director Projects, EIL highlighted the need to ensure healthy ecosystems that enhance livelihoods and productivity, counteract climate change and prevent the collapse of biodiversity. Without conserving and protecting these resources, sooner rather than later, companies will have no raw materials to use in production. He stressed that we need to usher in an era with sustainability as the cornerstone. He underlined flagship programmes of the government for cleaning major rivers like Ganges and Yamuna.

Prof. Amrit Pal Toor, Chairperson, Dr. SSBUICET Sh. Sanjeev Gupta, Secretary, PUChETAA also expressed their views. 

The webinar was  attended by faculty, students, alumni members and leading experts from industry. 

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

जिला का रिकवरी रेट हुआ 95.84 प्रतिशत, रविवार को 137 कोरोना संक्रमित हुए ठीक

सिरसा, 06 जून।

For Detailed News-


सिविल सर्जन डा. मनीष बंसल ने बताया कि रविवार को जिला में 137 कोरोना रोगी स्वस्थ हुए हैं तथा 45 नए कोरोना के मामले आए हैं। अब जिला का रिकवरी रेट 95.84 प्रतिशत हो गया है। जिला में अब तक तीन लाख 75 हजार 641 व्यक्तियों के सैंपल लिए जा चुके हैं।

https://propertyliquid.com


उन्होंने बताया कि जिला में अब तक कुल 28 हजार 646 कोरोना संक्रमण के मामले आ चुके हैं, जिनमें से 27 हजार 455 ठीक चुके हैं। जिला में इस समय 754 व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं। रविवार को 45 नए कोरोना संक्रमण के केस सामने आए हैं जिनमें सिरसा शहरी क्षेत्र में पांच, डबवाली शहरी क्षेत्र में चार, ऐलनाबाद में छह तथा कालांवाली में चार कोरोना संक्रमण के नए केस सामने आए हैं। इसके अलावा ओढां में छह, नाथूसरी चौपटा में छह, माधोसिंघाना में छह, रानियां में तीन, चौटाला में तीन तथा बड़ागुढ़ा में दो कोरोना संक्रमण के नए केस सामने आए हैं।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

स्वच्छता के साथ-साथ आमजन को कोरोना से बचाव के लिए भी किया जा रहा है जागरूक : जिला नगर आयुक्त संगीता तेतरवाल

सिरसा, 06 जून।

For Detailed News-


नगर परिषद / नगर पालिका द्वारा कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए शहर के रिहायशी इलाकों, सार्वजनिक स्थानों, बाजारों, चौक-चौराहों और कंटेनमेंट जोन में प्रतिदिन सैनिटाइजेशन का कार्य के साथ-साथ सभी वार्डों की स्वच्छता पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। रविवार को नगर परिषद द्वारा स्थानीय ऑक्सीजन प्लांट, नागरिक अस्पताल, बस स्टैंड, शिवपुरी, पीर बस्ती, थेहड़ मोहल्ला, गली मुख्तयार सिंह थानेदार वाली, जनकल्याण कॉलोनी, गुरुनानक नगर, एकता नगर (ए, बी, सी, डी, ई ब्लॉक), तारा बाबा कुटिया एरिया, जेजे कॉलोनी, नाथ मोहल्ला, लॉर्ड शिवा कॉलोनी एरिया, गांव रामनगरिया व बाजार एरिया आदि क्षेत्रों को सैनिटाइज किया गया।

https://propertyliquid.com


जिला नगर आयुक्त संगीता तेतरवाल ने कहा कि स्वच्छता, कोविड-19 के नियमों जैसे सामाजिक दूरी को अपना कर, मास्क के प्रयोग से कोरोना को हराया जा सकता है। हर नागरिक जिम्मेवारी से संक्रमण से बचाव उपायों की पालना करें और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सैनिटाइजेशन एक अहम उपाय है, इसी को ध्यान में रखते हुए नगर परिषद द्वारा शहर में वार्ड अनुसार जहां गली मोहल्लों में सैनिटाइज किया जा रहा है वहीं कूड़ा उठाने वाले वाहनों के माध्यम से आमजन को स्वच्छता बनाए रखने व कोविड नियमों की पालना के लिए जागरूक भी किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में स्वच्छता का महत्व और भी अधिक बढ़ गया है, इसलिए जिलावासी स्वयं की स्वच्छता के साथ-साथ शहर की स्वच्छता बनाए रखने में अपना पूर्ण सहयोग करें। आमजन गीले व सूखे कचरे को अलग-अलग एकत्रित करे और नगर परिषद के डोर टू डोर कचरा एकत्रित करने वाले वाहनों में डालें। अपने आसपास गंदगी न जमा होने दें और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। इसके साथ ही संक्रमण से बचाव के लिए सरकार व प्रशासन की हिदायतों व बचाव नियमों की पालना करें।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

कोविड-19 : रिकवरी रेट में लगातार सुधार, ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए आवेदन करने वालों की संख्या में आई कमी

सिरसा, 06 जून।

For Detailed News-

– जिला रेडक्रॉस सोसायटी ने रविवार को सात व्यक्तियों को उपलब्ध करवाए ऑक्सीजन सिलेंडर : उपायुक्त अनीश यादव
– अबतक 472 जरूरतमंद रोगियों को उपलब्ध करवाएं ऑक्सीजन सिलेंडर


जिला में लगातार कोरोना संक्रमण की रफ्तार धीमी हो रही है और रिकवरी रेट में भी लगातार सुधार हो रहा है। कोरोना संक्रमित रोगियों की संख्या कम होने के साथ-साथ ऑक्सीजन स्पोर्ट वाले रोगियों के आवेदन करने की संख्या में भी कमी आई है। कोरोना काल में होम आइसोलेशन में रह रहे रोगियों को किसी प्रकार की परेशानी न हो इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाने की सुविधा शुरु की गई, जोकि बहुत ही कारगर सिद्ध हो रही है। जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा अबतक होम आइसोलेट कोरोना व गंभीर बीमारियों से ग्रस्त 472 रोगियों को ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवाए जा चुके हैं। रविवार को सात जरूरतमंद रोगियों को ऑक्सीजन गैस सिलेंडर मुहैया करवाए गए।


उपायुक्त ने बताया कि नागरिक सुविधा का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन पोर्टल ऑक्सीजनएचआरवाईडॉटइन पर रजिस्ट्रेशन करके अपनी रिक्वेस्ट डाल सकते हैं। कोरोना महामारी के दौर में होम आइसोलेट कोरोना व गंभीर बीमारियों से ग्रस्त रोगियों के परिजनों को ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए समस्या का सामना न करना पड़े, इसके लिए जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। उन्होंने आमजन से कहा है कि वे कोविड-19 हिदायतों की गंभीरता से पालना करें और किसी प्रकार की लापरवाही न बरतें। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी व सजगता बेहद जरूरी है, सावधानी व बचाव उपायों को अपना कर ही कोरोना संक्रमण के फैलाव पर अंकुश लगाया जा सकता है। इसलिए नागरिक बेवजह घर से बाहर न निकलें, अतिआवश्यक होने पर ही घर से निकलते समय मास्क का सही तरीके से प्रयोग करें और सामाजिक दूरी का भी ध्यान रखें।

https://propertyliquid.com


जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा रविवार को सात जरूरतमंद रोगियों को ऑक्सीजन गैस सिलेंडर मुहैया करवाए गए, जिनमें सिरसा में रानिया रोड निवासी नीलम रानी, रोड़ी बाजार निवासी अभय कुमार, गांव चामल निवासी कृष्णा बाई, गांव माधोसिंघाना निवासी प्रीतम कौर, गांव अहमदपुर दारेवाला निवासी बृज लाल, गांव बकरियांवाली निवासी अजय कुमार व गांव बुढ़ाभाणा निवासी शगन लाल को सिलेंडर उपलब्ध करवाए।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

कोरोना संक्रमण के नए मामले आने पर प्रभावित क्षेत्रों में 23 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए : उपायुक्त अनीश यादव

सिरसा, 06 जून।

For Detailed News-


उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि जिला में कोरोना संक्रमण से नए मामले सामने आने पर प्रभावित क्षेत्रों में 23 माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाया गया है तथा इनके आसपास के क्षेत्रों को बफर जोन घोषित किया गया है। माइक्रो कंटेनमेंट जोन व बफर जोन में सभी प्रबंधों व व्यवस्थाओं की देखरेख के लिए संबंधित एसडीएम को ओवरऑल इंचार्ज बनाया गया है। संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि माइक्रो कंटेनमेंट जोन व बफर जोन में प्रशासन द्वारा जारी हिदायतों की गंभीरता से पालना सुनिश्चित की जाए। इसके अलावा यह भी ध्यान रखा जाए कि इन क्षेत्रों में रह रहे लोगों को किसी प्रकार की परेशानी न हो व सुविधाएं सरलता से उपलब्ध हो। कानून एवं शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए सभी प्रभावित क्षेत्रों में ड्यूटी मजिस्ट्रेट भी नियुक्त किए गए हैं।


उपायुक्त अनीश यादव ने बताया कि ऐलनाबाद में वार्ड नंबर दो गोगा मेड़ी वाली गली, वार्ड नंबर तीन नजदीक धानुका बुक स्टोर विजय डेंटल वाली गली, वार्ड नंबर नौ नजदीक सतलुज पब्लिक स्कूल/अटल पार्क व गली ब्यूटी टेलर वाली, वार्ड नंबर 13 ममेरा बाईपास, वार्ड नंबर 15 अर्जुन धर्मकांटा नजदीक कर्ण पैलेस, पुलिस स्टेशन फैमिली कैंपस (कंट्रोल रूम कार्यालय नगर पालिका ऐलनाबाद, हेल्पलाइन नंबर 01698-220352, 93066-78952), गांव ढाणी लखजी (कंट्रोल रूम राजकीय प्राइमरी स्कूल ढाणी लखजी, हेल्पलाइन नंबर 94163-79718), गांव धोलपालिया वार्ड नंबर चार (कंट्रोल रूम राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल धोलपालिया, हेल्पलाइन नंबर 94669-08683), गांव रत्ताखेड़ा (कंट्रोल रूम राजकीय प्राइमरी स्कूल रत्त्ताखेड़ा, हेल्पलाइन नंबर 98126-33308) में माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं। इसी प्रकार मंडी डबवाली में वार्ड नंबर नौ बाबा रामदेव वाली गली, फ्रेंडस कॉलोनी वार्ड नंबर 17 नजदीक आत्मा राम एएसआई मकान, वार्ड नंबर आठ ए-वन धर्मकांटा, वार्ड नंबर 11 जय भारत वाली गली (कंट्रोल रूम कार्यालय मार्केट कमेटी डबवाली, हेल्पलाइन नंबर 01668-222784), वार्ड नंबर छह नजदीक डीएवी स्कूल चौटाला रोड़ (कंट्रोल रूम फायर ब्रिगेड कैंपस मंडी डबवाली, हेल्पलाइन नंबर 01668-223719), गांव रिसालियाखेड़ा (कंट्रोल रूम राजकीय कन्या प्राइमरी स्कूल रिसालियाखेड़ा, हेल्पलाइन नंबर 94166-20113), गांव अहमदपुर दारेवाला (कंट्रोल रूम राजकीय प्राइमरी स्कूल अहमदपुर दारेवाला, हेल्पलाइन नंबर 94165-95707), गांव सक्ताखेड़ा (कंट्रोल रूम राजकीय प्राइमरी स्कूल सक्ताखेड़ा, हेल्पलाइन नंबर 98128-63236), गांव लौहगढ़ (कंट्रोल रूम राजकीय सीनियर सेकेंडरी स्कूल लौहगढ़, हेल्पलाइन नंबर 98128-63236) व गांव खुइयां मलकाना (कंट्रोल रूम राजकीय हाई स्कूल खुइयां मलकाना, हेल्पलाइन नंबर 94161-28623) में माइक्रो कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने अधिकारियों को कोरोना वायरस के आस-पास के क्षेत्रों में इसके फैलाव को रोकने के लिए संदिग्धों की स्क्रीनिंग, संदिग्ध मामलों का परीक्षण, थर्मल स्कैनिंग, क्वारंटाइन, सोशल डिस्टेंस आदि कार्यों के लिए कार्य योजना तैयार करने के निर्देश दिए हैं। इन क्षेत्रों में सैनिटाइजेशन, खाद्य सामग्री की सुचारू आपूर्ति, बिजली व पानी की सुचारु सप्लाई, कंटेनमेंट जोन में रहने वालो लोगों का डाटा आरोग्य सेतु एप पर अपलोड करने, पशुधन के लिए खाद्य सामग्री उपलब्ध करवाने, स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध करवाने आदि कार्यों के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को हिदायतें जारी की गई है। इसके अलावा माइक्रो कंटेनमेंट जोन में सभी प्रकार की गतिविधियों व आवागमन पर रोक लगा दी गई है। केवल आपातकालीन सेवाओं के लिए ही बाहर जाया जा सकता है।