संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

कोरोनावायरस की जांच का दावा करने वाले फेक Oximeter App से बचें

For Detailed News-

पुलिस प्रवक्ता नें जानकारी देते हुए बताया कि आज डी.सी.पी. पंचकूला श्री मोहित हांडा (IPS) नें फेक Oximeter App के बारें में जानकारी देते हुए बताया कि देश में कोरोना सकंट जारी है परन्तु इसी के साथ कई ऑनलाइन फ्रॉड इस का फायदा उठा रहें है तथा आपको बता दें कि आजकल Oximeter की बढ़ती डिमांड को देखते हुए काफी ऐसे ऐप्स तैयार किए गये है जो आनलाईन ऐप के जरिए आपका ऑक्सीजन लेवल चेक करने का दावा करते हैं Oximeter मरीज के ऑक्सीजन स्तर को चेक करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है. कोरोना से पीड़ित मरीज जिनका ऑक्सीजन लेवल कम हो रहा है वे ओक्समीटर के साथ ही ओक्समीटर ऐप्स का भी सहारा ले रहे हैं । लेकिन, साइबर अपराधी इसका फायदा उठा रहे हैं । ओक्समीटर ऐप को साइबर अपराधियों ने भी निशाना बनाया है रिपोर्ट के मुताबिक, कुछ ऐप्स सही रीडिंग भी नहीं देते हैं, जिसकी वजह से लोक घबरा जाते हैं इस लिए इस प्रकार के ऐपस सें अपना ऑक्सीजन लेवल चैक ना करें । Oximeter सें ही अपना ऑक्सीजन लेवल चैक करें ।
-फेक ऑक्समीटर ऐप (Fake Oximeter App) :- इंटरनेट पर Fake Oximeter App के कई लिंक उपलब्ध हैं. इसका उद्देश्य किसी व्यक्ति के फोन लाइट, कैमरा और फिंगरप्रिंट स्कैन के माध्यम से ऑक्सीजन के स्तर की जांच करने का दावा करते हैं वे यूजर्स के फोन में बैंक डिटेल्स, कॉन्टैक्ट, फोटो और दूसरी फाइलों तक पहुंच के लिए भी पूछ रहे है. हालांकि, फेक ऑक्समीटर ऐप से संबंधित हैकर्स यूजर्स के फिंगरप्रिंट डेटा के जरिए डिवाइस से बैंक डिटेल्स, गुगल पे,फोन पें, पे टीम जैसी एप की जानकर सें आपका बैंक अकाउंट खाली कर सकते हैं । और यह ऐप न केवल गलत रीडिंग दे सकता है, बल्कि आपके मोबाइल से डेटा भी चोरी कर सकता है. यह ऐप साइबर अपराधियों के लिए एक नया हथियार बन गया है. इसलिए, पंचकूला पुलिस नागरिकों को इससे दूर रहने का निर्देश दे रही है । मेडिकल एक्सपर्ट्स सलाह देते हैं कि चिकित्सकीय रूप से सिद्ध ऑक्समीटर से ही अपने ऑक्सीजन लेवल नापना जरूरी है ।

https://propertyliquid.com

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

हरियाणाः कोरोना संकट के बीच लोगों के लिए मददगार साबित हो रही खाकी घर-घर पहुंचा रही आॅक्सीजन सिलेंडर

For Detailed News-

चंडीगढ, 14 मई – हरियाणा पुलिस कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर में लोगों की बढ चढ़कर सहायता कर रही है। पुलिस के ’कर्मवीरों’ द्वारा सांस की किल्लत से जूझ रहे होम आइसोलेट कोरोना संक्रमितों को लगातार ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध करवा कर उनकी जान बचाने में मदद की जा रही है।


हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां बताया कि पुलिस द्वारा यह कार्य सिविल प्रशासन के साथ मिलकर किया जा रहा है। oxygenhry.in पोर्टल पर आवेदन करने के बाद पुलिस की पीसीआर व अन्य वाहनों में जरूरतमंदो को तुरंत घर-घर आॅक्सीजन सिलेंडर पहुंचाए जा रहे हैं। महामारी की दूसरी लहर में सभी विभाग मिल कर आमजन का जीवन बचाने में लगे हैं। आक्सीजन की इस होम डिलीवरी से कोरोना मरीजों को नया जीवन दान मिल रहा है।


इससे पहले भी कोरोना संक्रमितों के लिए पुलिस ने आगे आकर पहल की है। पुलिस की 440 इनोवा गाड़िया जरूरतमंद संक्रमितों को निःशुल्क घर से अस्पताल और वापिस घर ले जाने के लिए सभी जिलों में दी गई हैं। ये वाहन संक्रमितों की सेवा में काफी मददगार साबित हो रहे हैं। इसके अतिरिक्त, आॅक्सीजन सिलेंडर व कोरोना दवाओं की कालाबाजारी करने वालों पर पुलिस का डंडा लगातार चल रहा है।
लोगों के दिलों में जगह बना खाकी अब जैसे ही राज्य सरकार के निर्देश पर सिविल प्रशासन द्वारा घर-घर आक्सीजन सिलेंडर पहुंचाने का काम शुरू किया गया है, तो पुलिस के ये ’कर्मवीर’ बिना किसी डर के अंग्रिम पंक्ति में रहकर समर्पण भाव से जनता की सेवा में लगे हैं। प्रशासन की ओर से जहां भी आक्सीजन सिलेंडर पहुंचाने के लिए निर्देश मिलते हैं, पुलिस पीसीआर व अन्य वाहनों से सिलेंडर जरूरतमंद मरीजों के घर पहुंचाए जा रहे हैं। अक्सर शिकायतों से घिरी रहने वाली खाकी लोगों के दिलों में जगह बना रही है।

https://propertyliquid.com


उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा जरूरतमंद बीमार व्यक्तियों तक घर-घर आक्सीजन के सिलेंडर पहुंचाने के लिये oxygenhry.in पोर्टल बनाया गया है जिस पर जरूरतमन्द व्यक्ति अपना पूरा ब्यौरा देकर सिलैन्डर घर पर मँगवा सकता है।


कोविड महामारी मे एक तरफ जहाँ पुलिस सडकों पर दिन रात डयूटी करके लॉकडाउन के नियमों की पालना करवाने मे लगी है वहीं इस कठिन समय मे पुलिस के वाहन जरूरतमन्दो तक सांसे पहुंचाने में लगे हैं। राज्य पुलिस द्वारा कानून व्यवस्था बनाए रखने सहित नियमित कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए जरूरी संसाधनों की व्यवस्था करने में नागरिक प्रशासन को भी पूरा सहयोग दिया जा रहा है।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

उपायुक्त प्रदीप कुमार ने किया गांव ओटू, मोहम्मदपुरिया व खारियां के स्कूल में बने होम आइसोलेशन सैंटरों का निरीक्षण

सिरसा, 14 मई।

For Detailed News-


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि ग्रामीण गला खराब, जुकाम, खांसी व बुखार आदि लक्षण होने पर तुरंत कोरोना संबंधी दवाईयां लेना शुरू कर दें। समय पर लिया गया उपचार गंभीर स्थिति से बचाव करेगा और अस्पताल में दाखिल होने की नोबत नहीं आएगी। गांव के सरपंच व गणमान्य व्यक्ति कोरोना लक्षण वाले व्यक्तियों को प्रशासन द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही कोविड दवाई के बारे में जानकारी देने के साथ-साथ इसे लेने के लिए प्रेरित भी करें।


उपायुक्त शुक्रवार सायं जिला के गांव ओटू, मोहम्मदपुरिया व खारियां के स्कूलों मेें बनाए गए ग्रामीण होम आइसोलेशन सैंटरों के निरीक्षण के दौरान उपस्थित गांव के मौजिज व्यक्तियों से बातचीत कर रहे थे। उपायुक्त ने सभी होम आईसोलेशन सैंटर में दवाइयां, बैड, पेयजल, बिजली, शौचालय जैसी मूलभूत सुविधाओं का गहनता से निरीक्षण किया और ड्यूटी पर तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इस अवसर बीडीपीओ अनिल कुमार, ग्राम सचिव अनिल, सरपंच अमर सिंह, सरपंच प्रतिनिधि रोहताश, निर्मल सिंह नम्बरदार, समाजसेवी नारायणसिंह, संदीप गोदारा, मांगेराम, आशा वर्कर कौशल्या, सुमन सहित गांव के गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने होम आईसोलेशन सैंटर का निरीक्षण करने के दौरान बीडीपीओ को निर्देश दिए कि गांव में प्रत्येक कोरोना लक्षण वालों तक मेडिकल किट पहुंचाना सुनिश्चित करें। उन्होंने आशा वर्कर व आंगनवाड़ी वर्कर को सर्वे के दौरान लक्षण वाले व्यक्तियों को कोविड दवाई देने को कहा। होम आइसोलेशन सैंटरों में सभी आवश्यक बचाव उपायों की पालना की जाए और साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाए। उन्होंने कहा कि कोविड प्रबंधन से संबंधी किसी भी चीज की जरूरत हो, तो तुरंत उच्च अधिकारियों को अवगत करवाएं ताकि समय पर जरूरी सामान को उपलब्ध करवाया जा सके।  
  उन्होंने उपस्थित गणमान्य व्यक्तियों को कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना का फैलाव तेजी से हो रहा है, इसे रोकने के लिए ग्रामीणों को एकजुट होकर पूरी सजगता से कोविड नियमों की पालना करनी होगी और ठीकरी पहरे के माध्यम से बाहर आने जाने वालों पर निगरानी करनी होगी, तभी हम अपने गांव में कोरोना महामारी की रोकथाम कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि लोगों को कोरोना को लेकर जागरूक करें और उन्हें वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करें। उन्होंने बताया कि गांव में होम आईसोलेशन सैंटर बनाए जाने का उद्ïेश्य यही है कि कोरोना लक्षण वाले व्यक्ति को अलग रखा जाए, ताकि संक्रमण का फैलाव न हो सके। उन्होंने ग्रामीणों से कहा कि प्रशासन के पास कोविड दवाई की कोई कमी नहीं है। जिला में करीब 15 हजार मेडिकल किट वितरित करवाई जाएंगी, जिन्हें आवश्यकता अनुसार बढाया भी जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना लक्षण वाले व्यक्ति कोविड दवाई लेने में बिल्कुल भी देरी न करें। कोरोना का समय पर लिया गया उपचार उन्हें गंभीर स्थिति से बचाएगा। इसके अलावा ग्रामीण गर्म पानी, भाप, पानी के गरारे, गिलोय का पानी आदि घरेलू उपचार भी नियमित रूप से करते रहें।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

शुक्रवार को 880 लाभार्थियों ने लगवाई कोरोना वैक्सीन, अब तक जिला में हुआ दो लाख 32 हजार से अधिक वैक्सीनेशन

सिरसा, 14 मई।

For Detailed News-


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि शुक्रवार को 880 लाभार्थियों ने कोरोना की डोज लगवाई तथा अब तक जिला में दो लाख 32 हजार 625 लाभार्थियों को वैक्सीन की डोज दी जा चुकी हैैं। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन बेहद जरूरी है। वैक्सीनेशन पूरी तरह से सुरक्षित व प्रभावी है और किसी तरह का इससे कोई साइड इफेक्ट नहीं है। इसलिए नागरिक बिना किसी भय व संकोच के वैक्सीनेशन के लिए आगे आएं और अपनी आयुवर्ग के अनुसार वैक्सीनेशन करवाएं। वैक्सीनेशन के साथ-साथ नागरिक बचाव उपायों की भी पालना अवश्य करें।


उन्होंने बताया कि 18 से 44 आयुवर्ग के 17 हजार 23 लाभार्थियों, 45 से 60 वर्ष आयुवर्ग के 59 हजार 210 लाभार्थियों ने कोरोना की पहली तथा 14 हजार 128 लाभार्थियों ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा ली है। इसके अलावा 60 वर्ष से अधिक आयु के 94 हजार 373 लाभार्थियों ने पहली तथा 32 हजार 258 लाभार्थियों ने कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवा ली है। कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए प्रत्येक व्यक्ति को चाहिए कि वे अपनी नैतिक जिम्मेवारी समझ कर बचाव उपायों व एसओपी गाइडलाइन की अनुपालना करें तभी कोरोना संक्रमण से बचाव संभव है। कोरोना संक्रमण पर काबू पाने के लिए नागरिकों का सहयोग जरूरी है, इसलिए आमजन जरा भी ढील न बरतें और टेस्टिंग व वैक्सीनेशन अवश्य करवाएं।

https://propertyliquid.com

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

Mayor honoured Corona Warriors at ward No.13

Chandigarh:

For Detailed News-

Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor, Chandigarh today honoured the Corona fighter officers and officials of various departments at a programme held at community centre, sector 50 in presence of Smt. Heera Negi, area councilor, ward No.13.

The Mayor honoured the officials those who are working for providing medical kits, involved in Covid testing, collecting garbage from the houses of COVID positive patients  and taking care of their families in sector 49, 50, 51 and 63.

The honoured officials were among Sh. Gaurav Sharma, JE, Public Health, Sh. Anwar Rahi, JE, Mr. Vishal Sharma, SEM of kits distribution, Mr. Karan, Nodal officer, Mr.Sanjeev Nayyar, Nodal Officer, Mr Vikas Goel and Sh. Parmod Sharma, SEMs, Mr. Harman, Mr. Vishal Sharma, Mr. Amandeep, Harmandeep and Narender, Drivers, Mr. Vickey, Sanjay and Pardeep, Helpers of MCC.

Mr. V.K. Bali, Mr. Ramesh Kaul, Mr. Rajesh Sharma, Mr. Rakesh Raina, Mr. Narinder Kumar and Mr. N.K.Shahi.

https://propertyliquid.com

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

अबतक 78 रोगी उठा चुके हैं घर द्वार पर ऑक्सीजन सिलेंडर सुविधा का लाभ

सिरसा, 14 मई।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार के मार्गदर्शन में जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा कोरोना संक्रमित होम आइसोलेट गंभीर रोगों से ग्रस्त रोगियों को कोई असुविधा न हो, इसके लिए उनके घर द्वार पर ही उनकी ऑनलाइन रिक्वेस्ट के अनुसार ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाए जा रहे हैं। अबतक 78 जरूरतमंद कोरोना संक्रमित होम आइसोलेट व गंभीर रोगों से ग्रस्त मरीजों को ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाए जा चुकी हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को 13 जरूरतमंद रोगियों को ऑक्सीजन गैस सिलेंडर मुहैया करवाए हैं, जिनमें सिरसा कीर्ति नगर से कपिल वत्स, हुड्डïा कॉलोनी से शारदा सभ्रवाल, अग्रसेन कालोनी से सुमित अरोड़ा, सुविधा मार्ग सिरसा से सत्या देवी, सूरतगढिय़ा बाजार से सुखदेव सिंह, कालांवाली से कश्मीरी लाल, रानियां के वार्ड नं.13 से हरभजन कौर, गांव झोरडऩाली से सुभाष, गांव बकरियांवाली से अजय कुमार, गांव रिसालियाखेड़ा से नत्थू राम, मि_ी सुरेरां से औम प्रकाश, गांव फरवाई कलां से मिल्खा सिंह, गांव शाहपुरिया से शारदा शामिल है। इन्होंने विभागीय पोर्टल पर ऑक्सीजन सिलेंडर लेने के लिए अप्लाई किया था।


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि कोविड से संक्रमित होम आइसोलेट व गंभीर रोगों से ग्रस्त रोगियों के लिए घरद्वार पर ऑक्सीजन सिलेंडर देने की सुविधा संजीवनी का काम कर रही है। सरकार द्वारा रेडक्रॉस के माध्यम से शुरु की गई यह सुविधा महामारी के बीच लोगों को बड़ी राहत पहुंचा रही है। ऑक्सीजन सिलेंडर लेने के लिए ऑक्सीजनएचआरवाईडॉटइन पर रजिस्टे्रशन करके अपनी रिक्वेस्ट डालना जरूरी है। कोरोना संक्रमित होम आइसोलेट व गंभीर रोगों से ग्रस्त मरीजों के लिए अब उनके परिजनों को ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए घर पर ही ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया जारी है। इसके लिए ऑक्सीजनएचआरवाईडॉटइन पर रजिस्ट्रेशन करके अपनी रिक्वेस्ट डालनी होगी। उन्होंने आमजन से आह्वïान किया है कि जिनके पास खाली सिलेंडर है वे जिला रेडक्रॉस सोसाइटी के कार्यालय में जमा करवा दें ताकि संकट की इस घड़ी में जरूरतमंद के पास ऑक्सीजन सिलेंडर की सप्लाई की जा सके।

https://propertyliquid.com


ये होगी ऑक्सीजन की प्रक्रिया :


                    जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव लाल बहादुर बेनीवाल ने बताया कि घर पर ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए सबसे पहले संबंधित व्यक्ति की तरफ से ऑनलाइन ऑक्सीजनएचआरवाईडॉटइन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके बाद जिला रेडक्रॉस द्वारा द्वारा वॉलेंटियर के माध्यम से ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी। ऑक्सीजन वितरण सिस्टम में एक मोबाइल फोन के माध्यम से एक ऑक्सीजन सिलेंडर का ही पंजीकरण किया जा सकेगा। होम आइसोलेट होने वाले कोरोना संक्रमित व गंभीर बीमारी से पीडि़त ही ऑक्सीजन के लिए पंजीकरण कर सकेंगे।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

जिला न्यायालय में वैक्सीनेशन कार्यक्रम आयोजित, 223 लाभार्थियों ने लगवाई वैक्सीन

सिरसा, 14 मई।

For Detailed News-


                    जिला एवं सत्र न्यायधीश तथा जिला विधिक सेवाएं प्राधिकरण के अध्यक्ष राजेश मल्होत्रा के आदेशानुसार मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अनुराधा के निर्देशानुसार स्वास्थ्य विभाग के सहयोग से स्थानीय जिला न्यायालय परिसर में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन किया गया। वैक्सीनेशन कैंप में 223 जिला न्यायालय के अधिकारियों, कर्मचारियों व उनके परिवार के सदस्यों, पैनल अधिवक्ताओं, पैरा लीगल वॉलेंटियर्स, सक्षम युवाओं का टीकाकरण किया गया।  


                    मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी एवं सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अनुराधा ने बताया कि वैक्सीनेशन कैंप में जिला न्यायालय के अधिकारियों, कर्मचारियों व उनके परिवार के सदस्यों, पैनल अधिवक्ताओं, पैरा लीगल वॉलेंटियर्स, सक्षम युवाओं ने बढचढ कर भाग लिया और कोरोना संक्रमण के विरुद्ध लड़ाई में अपना योगदान दिया। उन्होंने आमजन से आह्वïान किया कि वे अपना नागरिक वैक्सीनेशन के लिए आगे आएं, यह बहुत ही सुरक्षित व प्रभावी है। सावधानी व संयम बरतकर हम कोविड संक्रमण से बचाव कर सकते हैं। नागरिक नियमों की गंभीरता से पालना करें ताकि बढ़ते संक्रमण पर अंकुश लग सके। इसके अलावा किसी भी तरह के बुखार, जुखाम, खांसी आदि को हल्के में न लें और तुरंत अपनी स्वास्थ्य जांच करवाएं। नियमों की पालना करके हम स्वयं की, अपनो की व दूसरों की सुरक्षा कर सकते हैं। वैक्सीनेशन करवाने के बाद भी नागरिक कोविड नियमों की पालना करें, मास्क लगाएं, सामाजिक दूरी बनाए रखें, साबुन से अपने हाथों को अच्छी प्रकार से साफ करें या सैनिटाइज करें।

https://propertyliquid.com

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

हरियाणा ग्रामीण सामान्य स्वास्थ्य जांच योजना के तहत टीमें अब घर-घर पहुंच कर करेगी सर्वे : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 14 मई।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा हरियाणा ग्रामीण सामान्य स्वास्थ्य जांच योजना कैंपेन को लांच किया गया है, जिसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए टी-3 पॉलिसी (टॉक, टेस्ट व ट्रीट) अपनाई जाएगी तथा स्वास्थ्य जांच कैंपों का आयोजन किया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा दो टीमें गठित की गई है जिनमें से एक फील्ड टीम व दूसरी हेडक्वार्टर टीम बनाई जाएगी।  


                    उपायुक्त ने बताया कि फील्ड टीम द्वारा गांवों में घर-घर पहुंच कर सर्वे किया जाएगा, किसी भी टीम को दो से अधिक गांव नहीं दिए जाएंगे। फील्ड टीम द्वारा सर्वे के दौरान गांव के प्रत्येक व्यक्ति का स्वास्थ्य संबंधि डाटा एकत्रित किया जाएगा। टीम द्वारा आमजन से सामान्य स्वास्थ्य व कोविड से संबंधित प्रश्र पूछे जाएंगे तत्पश्चात उन्हें हेडक्वार्टर टीम के पास स्वास्थ्य जांच के लिए भेजा जाएगा ताकि अनावश्यक भीड़ न हो। हेडक्वार्टर टीम को विभिन्न स्थानों जैसे स्कूल, सब सैंटर, पीएचसी, पशुपालन डिस्पेंसरी, पंचायत घर आदि पर तैनात किया जाएगा। उन्होंने बताया कि फील्ड टीम में संबंधित गांव की आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर, जिला शिक्षा अधिकारी / जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी द्वारा तैनात अध्यापक व ग्राम सचिव को शामिल किया गया है। इसके अलावा हेडक्वार्टर टीम में सिविल सर्जन द्वारा नियुक्त एएनएम/एचएचवी/फार्मासिस्ट/एलटी/सीएचओ आदि, राजस्व पटवारी तथा डीआईओ ऑफिस से डाटा एंट्री ऑप्रेटर शामिल होंगे।

https://propertyliquid.com


                    उपायुक्त ने सिविल सर्जन को निर्देश दिए कि हेडक्वार्टर पर तैनात प्रत्येक टीम को आवश्यक उपकरण जैसे डिजिटल थर्मामीटर, पल्स ऑक्सीमीटर, वजन मापने की मशीन, ब्लड प्रेशर मशीन, स्टीमर, आरएटी किट, दवाइयां आदि उपलब्ध करवाएं तथा उन्हें इन उपकरणों को उपयोग करने का प्रशिक्षण भी दिया जाए। टीम द्वारा प्रत्येक व्यक्ति की पूर्व में की गई स्वास्थ्य जांच जानकारी ली जाएगी, सामान्य स्वास्थ्य जांच, कोविड टेस्टिंग व इलाज सुविधा भी दी जाएगी। कैंप में आने वाले सभी ग्रामीणों को एलोपैथिक मल्टी विटामिन व आयुष इम्यूनिटी बूस्टर व कोरोना संक्रमण से बचाव की हिदायतों की बुकलेट भी दी जाएगी। टीम द्वारा आरएटी टेस्ट किया जाएगा और अगर व्यक्ति पॉजिटिव पाया जाता है तो रोगी की स्थिति के आधार पर उसे होम क्वारंटाइन करने या विलेज कोविड केयर सैंटर में भेजा जाएगा। अगर व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो उसे होम आइसोलेशन किट दी जाएगी और अगर व्यक्ति कोरोना संक्रमित नहीं है तो उसे मल्टी विटामिन व इम्यूनिटी बूस्टर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि ड्यूटी के दौरान कर्मचारी व अधिकारी कोविड-19 प्रोटोकॉल की पालना करें, मास्क लगाएं, सामाजिक दूरी बनाए रखें, समय-समय पर अपने हाथों को अच्छी प्रकार से धोते रहें और सैनिटाइज करें।


                    फील्ड टीम व हैडक्वार्टर टीम के कार्यों की लगातार निगरानी के लिए मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद को नोडल अधिकारी बनाया गया है। संबंधित एसडीएम अपने-अपने क्षेत्रों में ओवरऑल इंचार्ज होंगे। प्राइमरी मॉनिटरिंग टीम में संबंधित बीडीपीओ, एसडीओ/जेई व संबंधित एचसीसी चिकित्सक शामिल होंगे। यह टीम होम आइसोलेशन व विलेज कोविड केयर सैंटर में एडमिट रोगियों की स्टीमर, ऑक्सीजन, दवा आदि जरूरतों का ख्याल रखेगी।


                    उपायुक्त ने जिलावासियों से आह्वïान किया है कि वे इस सर्वे में सहयोग करें, फील्ड टीम को अपनी सही जानकारी दर्ज करवाएं, शुरुआती लक्षण पाए जाने पर स्वास्थ्य जांच अवश्य करवाएं ताकि कोरोना संक्रमण के फैलाव पर रोक लग सके।