First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

हरियाणा रोडवेज की 5 मिनी बसों को बनाया गया एम्बुलेंस, सभी बसों में उपलब्ध होंगे ऑक्सीजन सहित सभी उपकरण

सिरसा, 12 मई।

For Detailed News-

-प्रत्येक बस में ऑक्सीजन सहित चार बैड की व्यवस्था, जरूरी बचाव उपायों की भी सुविधा रहेगी उपलब्ध
-उपायुक्त प्रदीप कुमार ने सिरसा डिपू की वर्कशॉप में स्वास्थ्य विभाग को सौंपी पांच मिनी एंम्बूलेंस बसें, जीएम रोडवेज के.आर कौशल व डिप्टी सीएमओ डा. बुध राम भी रहे


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि बढ़ते कोरोना को देखते हुए हरियाणा रोडवेज सिरसा डिपो की 5 मिनी बसों को एम्बुलैंस बनाया गया है। इन बसों ऑक्सीजन सिलेंडर सहित जरूरी उपकरणों के साथ-साथ बचाव उपायों की सुविधा भी उपलब्ध रहेगी। ये बसें किसी भी आपातकालीन स्थिति में ग्रामीण क्षेत्रों व दूर-दराज के क्षेत्रों से कोरोना संक्रमितों को जल्द से जल्द अस्पताल तक पहुंचाने का कार्य करेंगी, ताकि मरीज को समय पर उपचार सुविधा मिल सके।
उपायुक्त ने बुधवार को सिरसा बस स्टैंड स्थित वर्कशॉप में पांच मिनी बस एम्बुलैंसों को स्वास्थ्य विभाग को सौंपते हुए कहा कि कोविड-19 महामारी के बढते संक्रमण को रोकने तथा किसी भी स्थिति से निपटने के लिए सरकार व प्रशासन सभी आवश्यक कदम उठा रहे है। इसी कड़ी में हरियाणा राज्य परिवहन सिरसा डिपो में 05 मिनी बसों को एम्बुलैंस के रूप में तैयार किया गया है। प्रत्येक बस में चार-चार ऑक्सीजन बैड सहित कुल 20 ऑक्सीजन बैड की व्यवस्था की गई। इन एम्बुलैंस में ऑक्सीजन सिलेंडर, सेनेटाइजर, पंखे, स्ट्रैचर, पीपीई किट सहित सभी जरूरी चिकित्सा उपकरणों की सुविधा उपलब्ध है।


उन्होंने रोडवेज की इस पहल की प्रशंसा करते हुए कहा कि इस कोरोना महामारी के दौरान मरीजों की सहायता के लिए जो कदम उठाया है वह बहुत ही सराहनीय है। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी में जरूरत पडऩे पर इन एम्बुलैंस बसों को इस्तेमाल में लाया जाएगा। इन्हें किसी भी आपात स्थिति में इस्तेमाल किया जाएगा और इन एम्बुलैंसों को रोडवेज के चालक ही चलाएंगे। उन्होंने कहा कि बसों को एम्बुलैंसों के रूप में तैयार करने का निर्णय मरीजों को बेहतर सुविधा देने के लिए लिया गया है, ताकि किसी भी मरीज को परेशानी न हो और जरूरत पडऩे पर एम्बुलैंस सुविधा तुरंत मिल सके।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने कहा कि जिला में कोरोना की स्थिति में धीरे-धीरे सुधार हो रहा है। पोजिटीव रेट जो दस दिन पहले 30-35 प्रतिशत तक पहुंच गया था, जो अब घटकर 20 प्रतिशत हुआ है। उन्होंने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि संक्रमण फैलाव को रोकने में सहयोग करें। कोरोना से बचाव उपायों व प्रशासन की हिदायतों की ईमानदारी से पालना करें।

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

MCC extends the date of depositing water bills till May 31

For Detailed News-

Chandigarh, May 12:- The Municipal Corporation, Chandigarh has decided to extend the date of depositing water bills till 31st May, 2021.

This was decided in a meeting held today between Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor and Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Chandigarh.

The Mayor said that due to the COVID-19 lockdown period, the MCC has earlier extended the deposit date of water bills till 17th May but keeping in mind the present situation and ease to the citizens the deadline has been extended till 31st May, 2021.

https://propertyliquid.com

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

MCC to bear cremation charges of poor people died due to COVID-19

For Detailed News-

Chandigarh, May 12:- The Municipal Corporation Chandigarh has decided that the cremation charges of poor and needy people (death due to COVID-19) will be borne by the MCC.

This was decided by the Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor and Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner during visit of cremation grounds situated at Manimajra, Industrial area Ph-1 and Sector 25. They decided that cremation charges of the poor and needy people died due to COVID-19 will be incurred from the COVID cess.

During the visit to Manimajra cremation ground, the Mayor asked the concerned sanitary staff to maintain proper cleanliness over there inside the cremation ground compound.

The team was apprised by the Pandits at cremation grounds that Rs. 3000 are being charged for cremation and Rs. 1200 for Saamgri charges for the bodies died due to COVID and Rs. 1500 for Saamgri charges for the bodies died normal death.

The Mayor and Commissioner asked the Medical Officer of Health to display boards depicting the cremation charges, Saamgri charges etc. on the boards alongwith complaint number of MCC for any kind of assistance or complaint.

https://propertyliquid.com

The Mayor asked the MOH to waive off the charges @ Rs. 30/- per body of LPG crematorium at Sector 25, cremation ground during the period of COVID-19.

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

MCC extends the deadline for depositing property tax till 30th June

For Detailed News-

Chandigarh, May 12:- Offering big relief to the city residents, the Municipal Corporation Chandigarh has extended the deadline from 31st May to 30th June, 2021 for paying the property tax due to the COVID-induced lockdown.

This was decided in a meeting held today between Sh. Ravi Kant Sharma, Mayor and Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner, Municipal Corporation Chandigarh.

https://propertyliquid.com

The Mayor said that as per the practice, the residential property taxpayers will get rebate of 20 percent and commercial property tax payers 10 percent till 30th June, 2021 instead of previous deadline i.e. 31st May, 2021 for depositing the levy for the fiscal 2021-22.

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

हरियाणा सरकार द्वारा घोषित लाॅकडाउन में उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने जिला के लोगों से अपील की कि कोविड-19 के नये स्ट्रेन को हल्के में न लें।

https://propertyliquid.com

पंचकूला, 12 मई- हरियाणा सरकार द्वारा घोषित लाॅकडाउन में उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने जिला के लोगों से अपील की कि कोविड-19 के नये स्ट्रेन को हल्के में न लें। जिला में लाॅकडाउन और कोविड-19 के संक्रमण से बचने के लिये सामाजिक दूरी बनाये रखें और मास्क को अच्छी तरह पहने और बिना ई-पास के अनावश्यक आवागमन न करें। ऐसा करके आप स्वयं और अपने परिवार को संक्रमित होने से बचा सकते है। हरियाणा सरकार और जिला प्रशासन का यह कदम प्रदेश में कोरोना की चैन को तोड़ने और जनता को कोरोना के संक्रमण से बचाने को लेकर उठाया गया हैं।

For Detailed News-


उपायुक्त ने आगे कहा कि प्रशासन ने कोरोना के मरीजों के लिये एक नियंत्रण कक्ष बनाया है। इस नियंत्रण कक्ष में हैल्प लाईन 0172-2590000 व 0172-2930222 प्रतिदिन 24 घंटे चलती रहेगी। जिले के किसी भी नागरिक को स्वास्थ्य से संबंधित कोई भी मदद की जरूरत हो तो इस हैल्पलाईन नंबर पर संपर्क कर मदद लें सकता है।

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

उपायुक्त ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के दौरान अनाथ और बेसहारा हो रहे बच्चों की जिम्मेवारी हम सबकी है। अगर कोई व्यक्ति ऐसे अनाथ बच्चों को गोद लेना चाहता है तो वह कानूनी प्रक्रिया अपनाकर गोद ले सकता हैं।

पंचकूला, 12 मई- उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने कहा है कि कोविड-19 महामारी के दौरान अनाथ और बेसहारा हो रहे बच्चों की जिम्मेवारी हम सबकी है। अगर कोई व्यक्ति ऐसे अनाथ बच्चों को गोद लेना चाहता है तो वह कानूनी प्रक्रिया अपनाकर गोद ले सकता हैं।

For Detailed News-


श्री आहूजा ने कहा कि सोशल मीडिया पर कोविड-19 की वजह से अनाथ हुये बच्चों को सीधे तौर पर गोद लेेने की अफवाहे फैलाई जा रही है। सीधे तौर पर अनाथ बच्चों को गोद लेना व गोद देना गैर कानूनी है। यह एक दंडीय अपराध है। कानूनी रूप से गोद लेने की प्रक्रिया आॅन लाईन ूूूण्बंतंण्दपबण्पद पर लाॅग इन कर प्राप्त की जा सकती है। उन्होंने बताया कि इसके अलावा चाईल्ड हैल्प लाईन नंबर 1098 पर भी संपर्क किया जा सकता है तथा जिला बाल संरक्षण अधिकारी या बाल कल्याण समिति कार्यालय से भी संपर्क किया जा सकता है। उन्होंने बताया कि राज्य दत्तक ग्रहण एजेंसी, महिला एवं बाल विकास हरियाणा, बेज नंबर 15-20 सेक्टर-4 पंचकूला व दूरभाष संख्या 0172-2741151 पर काॅल करके गोद लेने की प्रक्रिया के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने चेताया कि कोविड-19 महामारी का फायदा उठाकर किसी अनाथ व बेसहारा बच्चों को यदि कोई व्यक्ति व संस्था नुकसान पंहुचाती है तो इसकी सूचना तुरंत 100 नंबर या महिला एवं बाल विकास हरियाणा को दूरभाष संख्या 0172-2741151 पर दी जा सकती है। ऐसा करने वालों के खिलाफ सख्त कानूनी कार्रवाही अमल में लाई जायेगी।

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

जिला के सरकारी व निजी अस्पतालों में बैडो की स्थिति

सिरसा, 12 मई।

For Detailed News-


                उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि जिला में सरकारी निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों का इलाज किया जा रहा हैं, जिनमें 713 नॉन ऑक्सीजन बैड, ऑक्सीजन बैड, आईसीयू बैड तथा वेंटिलेटर बैडों की व्यवस्था है, इनमें से 535 बैड उपयोग में तथा 178 बैड खाली है। जिला के सरकारी व निजी अस्पतालों में कुल 208 नॉन ऑक्सीजन बैड हैं जिनमें से 120 बैड उपयोग में तथा 88 बैड खाली है। इसके अलावा 369 ऑक्सीजन बैड है जिनमें से 304 बैड उपयोग में तथा 65 बैड खाली है। उन्होंने बताया कि जिला में 86 आईसीयू बैड्स की व्यवस्था है जिनमें से 82 बैड उपयोग में हैं तथा 4 बैड खाली है। जिला के सरकारी व निजी अस्पतालों में कुल 50 वेंटिलेटर उपलब्ध हैं जिनमें से 29 वेंटिलेटर उपयोग में तथा 21 वेंटिलेटर खाली है।

https://propertyliquid.com

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

ग्रामीण ठीकरी पहरा लगाकर कोरोना संक्रमण फैलाव की रोकथाम में करें सहयोग : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 12 मई।

For Detailed News-


                उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र में कोरोना संक्रमण फैलाव को रोकने के मद्देनजर गांवों में ठीकरी पहरा लगाने के निर्देश जारी किए गए हैं। निर्देशों की पालना करते हुए कई गांवों में ग्रामीण ठीकरी पहरा लगा कर कोरोना के प्रति जागरूकता का परिचय दे रहे हैं तथा बाहर से आने जाने वालों पर निगरानी रख रहे हैं। उन्होंने कहा कि हर गांव में ठीकरी पहरा लगा कर ग्रामीण संक्रमण के फैलाव को रोकने में अपना सहयोग करें।


उपायुक्त ने कहा कि पहले भी ग्रामीणों ने ठीकरी पहरा लगा कर कोरोना को फैलने से रोकने में सहयोग किया था, इस बार ग्रामीण क्षेत्रों में महामारी का फैलाव सरकार व प्रशासन के लिए चिंता का विषय है। संक्रमण महामारी की रोकथाम के लिए सरकार व प्रशासन सभी आवश्यक कदम उठा रहा है। कोरोना महामारी के खिलाफ सभी को अपना सहयोग करना होगा तभी इस पर जीत सुनिश्चित होगी। इसलिए ग्रामीण अपने गांवों में ठीकरी पहरा लगा कर इस महामारी को फैलने से रोकने में सहयोगी बने।

https://propertyliquid.com


पहल : ठीकरी पहरे लगा कर कर रहे हैं अपनों की सुरक्षा

                जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी रवि कुमार बागड़ी ने बताया कि उपायुक्त प्रदीप कुमार के आदेशानुसार जिला के गांवों में ठीकरी पहरे लगाए जा रहे हैं, इसमें ग्रामीण पूर्ण सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि गांव दड़बी, कंगनपुर, मोरीवाला, सुचान, बाजेकां आदि गांवों में ग्रामीणों द्वारा ठीकरी पहरा लगा कर आने-जाने वाले बाहरी लोगों पर निगरानी की जा रही है। अपनी व अपनों की सुरक्षा के लिए ग्रामीण सजगता का परिचय देते हुए ठीकरी पहरों के माध्यम से न केवल आने-जाने वालों पर नजर रख रहे हैं बल्कि बचाव संबंधी सावधानियां जैसे मास्क लगाने, सामाजिक दूरी बनाए रखने तथा स्वच्छता बनाए रखने का भी आह्वïान कर रहे हैं। ग्रामीणों ने कहा कि प्रशासन द्वारा कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए पुख्ता प्रबंध किए गए हैं लेकिन हमारा भी दायित्व है कि हम जिला प्रशासन का सहयोग करें।

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

मेडिकल किट वितरण के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त, हर रोज देंगे किट वितरण की रिपोर्ट

सिरसा, 12 मई।


                  उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के लिए प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं। राज्य सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना के लक्षण वाले लोगों को घर द्वार पर ही कोरोना संबंधी इलाज के लिए दवाइयों की किट उपलब्ध करवाने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। जिला के गांवों में सफलतापूर्वक किट वितरण कार्य के लिए जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राजेश कुमार को नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। संबंधित एसडीएम अपने क्षेत्र में किट वितरण अभियान के ऑवर आल इंचार्ज होंगे।


                  उन्होंने कहा कि नोडल अधिकारी ग्रामीण क्षेत्र में अपनी देखरेख में किटों का वितरण करवाएंगे और किट वितरण अभियान की बारीकी से निगरानी रखेंगे। इसी प्रकार सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में नोडल अधिकारी के दिशा-निर्देशानुसार किट वितरित करवाएंगे। उन्होंने बताया कि संबंधित अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि ग्रामीण क्षेत्र में प्रत्येक कोरोना मरीज तक मेडिकल किट पहुंचे, ताकि वो कोरोना से लडऩे में सक्षम हो सकें। नोडल अधिकारी ग्राम सचिव, पटवारी, स्वास्थ्य कर्मचारी, आशा वर्कर, आंगनवाड़ी वर्कर, महिला स्वास्थ्य आंगुतक, अध्यापक सहित क्षेत्र के अधिकारी से किट वितरण कार्य में सहयोग लेंगे।

First meeting of Interdisciplinary Task Force Held

होम आइसोलेशन मरीजों को घर द्वार पर उपलब्ध हो रही ऑक्सीजन, जिला रेडक्रॉस ने अबतक 25 रोगियों तक पहुंचाए ऑक्सीजन सिलेंडर

सिरसा, 12 मई।

For Detailed News-


                  प्रदेश सरकार के दिशा निर्देशानुसार उपायुक्त प्रदीप कुमार के मार्गदर्शन में जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा कोरोना संक्रमित होम आइसोलेट व गंभीर रोगों से ग्रस्त मरीजों को घर पर ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाए जा रहे हैं। ऑक्सीजन सिलेंडर लेने के लिए ऑक्सीजनएचआरवाईडॉटइन पर रजिस्टे्रशन करके अपनी रिक्वेटस्ट डालना जरूरी है। अबतक सोसायटी द्वारा 25 जरूरतमंद रोगियों को उनके घरद्वार पर ऑक्सीजन सिलेंडर पहुंचाए जा चुके हैं।


                  इसी कड़ी में मंगलवार को देर सांय चार जरूरतमंद रोगियों को उनके घरद्वार पर ऑक्सीजन गैस सिलेंडर मुहैया करवाए हैं। गांव चौटाला के 58 वर्षीय ओंकार मल व 86 वर्षीय ललिता देवी, गांव रुपाणा बिश्रोइयां के 53 वर्षीय जगतार सिह व सिरसा की तेलियांवाली गली में विनित कुमार को उनके घर पर ऑक्सीजन सिलेंडर दिए गए। इन्होंने विभागीय पोर्टल पर ऑक्सीजन सिलेंडर लेने के लिए अप्लाई किया था।


                  उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि ने बताया कि कोरोना संक्रमित होम आइसोलेट व गंभीर रोगों से ग्रस्त मरीजों के लिए अब उनके परिजनों को ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए घर पर ही ऑक्सीजन की सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए पंजीकरण प्रक्रिया जारी है। इसके लिए ऑक्सीजनएचआरवाईडॉटइन पर रजिस्टे्रशन करके अपनी रिक्वेस्ट डालनी होगी। उन्होंने आमजन से आह्वïान किया है कि जिनके पास खाली सिलेंडर है वे जिला रेडक्रॉस सोसाइटी के कार्यालय में जमा करवा दें ताकि संकट की इस घड़ी में जरूरतमंद के पास ऑक्सीजन सिलेंडर की सप्लाई की जा सके।

https://propertyliquid.com

ये होगी ऑक्सीजन की प्रक्रिया :


                  जिला रेडक्रॉस सोसायटी के सचिव लाल बहादुर बेनीवाल ने बताया कि मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव डा. अमित अग्रवाल के दिशा निर्देशानुसार कोविड / गंभीर बीमारी से पीडि़तों को उनके घर पर ऑक्सीजन सिलेंडर मुहैया करवाए जा रहे हैं। उन्होंने आगे बताया कि घर पर ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए सबसे पहले संबंधित व्यक्ति की तरफ से ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। इसके बाद संबंधित संस्था द्वारा वॉलेंटियर के माध्यम से ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी। ऑक्सीजन वितरण सिस्टम में एक मोबाइल फोन के माध्यम से एक ऑक्सीजन सिलेंडर का ही पंजीकरण किया जा सकेगा। होम आइसोलेट होने वाले कोरोना संक्रमित व गंभीर बीमारी से पीडि़त ही ऑक्सीजन के लिए पंजीकरण कर सकेंगे।