संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

PU HOLDS 21ST SELF DEVELOPMENT VIRTUAL SESSION ON EFFECTIVE COMMUNICATION SKILLS

Chandigarh May 3, 2021

For Detailed News-

In the 21st  session of the 7th International Self Development Program (SDP) run at Panjab University on Sunday, 2nd May, Ms Manjula, Heartfulness Meditation Trainer from Amritsar and Science Teacher by profession  delivered a popular lecture on Effective Communication Skills using Heart as a true guide or Master. In her inimitable musical voice, filled with an extraordinary wave of love and affection, she transmitted not only the valuable knowledge about this sought after subject but made young participating aspirants experience and feel the uniqueness of the vibrations coming from the heart.  Ms. Manjula explained the scientific fundamentals of sonic waves. She could illustrate the importance of stillness of the mind vis a vis scattered and angry mind. Besides interpersonal, dimensions of intrapersonal communication were touched upon including  Self-Talk and its critical importance  to  convey the point in utmost purity of intentions.  The importance of simple Hearfulness Yogic techniques like body relaxation, meditation and cleaning protocols of one hour daily can bring the radical transformation in the person with respect to the conversation with self and others. 

The session which began with the meditative relaxation by a young volunteer, Ms Tanya Gupta of PU Zoology Department traversed through a very lucid presentation by the speaker followed by questions and answers.

 Prof  Nandita Singh  and Prof O.P. Katare had started SDP-U CONNECT program in 2014 and now it is  being continued under the aegis of Center for Human Excellence and Innovation and Creativity, CHEIC, the proposed, virtual  platform under the mentorship of Prof Raj Kumar, PU VC.

Several faculty members from the different parts of the region were present and interacted during this 21st session. 

https://propertyliquid.com

Prof Latika Sharma of the Education Department presented the Vote of Thanks. The session was attended by about 55 participants including post graduate students and research scholars of various disciplines, teachers and principals.

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

उपायुक्त के निर्देश पर एसडीएम कालांवाली ने निजी अस्पतालों का निरीक्षण कर लिया व्यवस्थाओं का जायजा

सिरसा, 3 मई।

For Detailed News-

-कोविड-19 प्रोटोकोल की पालना न करने वाले अस्पताल संचालक को लगाई फटकार
-ऑक्सीजन लेवल 80 पर भी नहीं कर रहे थे एडमिट, एसडीएम के दखल पर किया पेशेंट को दाखिल


उपायुक्त प्रदीप कुमार के निर्देश पर एसडीएम कालांवाली विजय सिंह ने सोमवार रात को शहर के विभिन्न निजी अस्पतालों का निरीक्षण किया। इस दौरान कई अस्पतालों में कोविड-19 प्रोटोकोल की पालना नहीं की जा रही थी। एसडीएम ने अस्पताल संचालक को कड़ी फटकार लगाते हुए इस दिशा में सुधार करने के निर्देश दिए। एसडीएम ने शहर के डबवाली रोड़ स्थित लाल गढिया अस्पताल, तलवार अस्पताल, सुरक्षा अस्पताल, खुराना अस्पताल व आस्था अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ सिविल अस्पताल के चीफ फार्मेसी ऑफिसर मनीष दुडिय़ा भी थे।


एसडीएम विजय सिंह ने बताया कि उपायुक्त प्रदीप कुमार के निर्देश पर निजी अस्पतालों में कोविड-19 मरीजों के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं व कोविड-19 प्रोटोकोल नियमों की अनुपालना बारे शहर के विभिन्न अस्पतालों का निरीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि लाल गढिया अस्पताल के निरीक्षण दौरान बिमला नाम की महिला पेशेंट के पुत्र ने बताया कि अस्पताल वालेे एक दिन के इलाज के 24 हजार रुपये जमा करवाने को कह रहे हैं। एसडीएम ने जब इस बारे अस्पताल प्रबंधक से पूछताछ की तो बताया कि हमने पैसों की मांग की ही नहीं। इस पर एसडीएम ने अस्पताल संचालक को निर्देश दिए कि निर्धारित रेटों के हिसाब से ही मरीज के इलाज का खर्चा लिया जाए। निरीक्षण में यह भी पाया गया कि एक मरीज के साथ तीन ऐटेंडेंट कमरे में थे, जोकि कोविड-19 के नियमों की उल्लंघना थी। इसके पश्चात एसडीएम ने तलवार अस्पताल का निरीक्षण किया तो वहां पर बलवंत कुमार व राज रानी पेशेंट को ऑक्सीजन लेवल 80 होने पर भी दाखिला नहीं दिया जा रहा था। इनमें से एक पेशेंट को तो ऑक्सीजन न होने की बात कहकर घर भेजने को बोल दिया गया था। एसडीएम के दखल के पश्चात दोनों पेशेंटों को दाखिल किया गया। इस अस्पताल में भी अधिक बिल व बिल की डिटेल न दिखाने का मामला पाया गया। एसडीएम ने अस्पताल संचालक को कड़ी फटकार लगाते हुए सरकार व प्रशासन के निर्देशों की अनुपालना करना सुनिश्चित करने को कहा। सुरक्षा अस्पताल में रेमेडिसिवर इंजैक्शन का मामला था। इस संबंध में भी एसडीएम ने अस्पताल संचालक को उचित निर्देश दिए और सरकार की हिदायतों की अनुपालना करने को कहा। इसी प्रकार खुराना अस्पताल में भी कोविड-19 प्रोटोकोल की पालना नहीं की जा रही थी। वार्ड में न मास्क लगाए हुए थे और वार्ड की कंडिशन भी सही नहीं थी।

https://propertyliquid.com

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

सोमवार को कोरोना संक्रमण से ठीक हुए 144 व्यक्तियों को किया गया डिस्चार्ज : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 03 मई।

For Detailed News-


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि जिला में सोमवार को 144 कोरोना मरीजों को ठीक होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया है तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा 1303 व्यक्तियों के सैंपल लिए गए। जिला में अबतक तीन लाख सात हजार 432 व्यक्तियों के सैंपल लिए जा चुके हैं। जिला में कुल 15 हजार 714 कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाए गए हैं जिनमें से 11 हजार 896 ठीक होने के उपरांत अपने घर जा चुके हैं। इस समय तीन हजार 635 व्यक्ति कोरोना संक्रमित हैं तथा जिला की मृत्यु दर 1.16 प्रतिशत है। आज जिला में 361 नए कोरोना संक्रमण के केस सामने आए हैं।


लॉकडाउन की पालना करें नागरिक, संक्रमण की कड़ी को तोड़ने में करें सहयोग : उपायुक्त प्रदीप कुमार


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने आमजन से अपील की है कि वे लॉकडाउन की गंभीरता से पालना करें और घर पर ही रहें ताकि कोरोना संक्रमण की कड़ी को तोड़ा जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से सतर्क रहते हुए कोविड-19 नियमों की सख्ती से पालना करें, बचाव के उपायों को अपनाएं तथा घबराएं नहीं। स्वयं की, परिवारजनों की तथा अन्य लोगों की सुरक्षा के दृष्टिïगत बाहर जाते समय मास्क अवश्य पहनें और दिन में कई बार साबुन व सेनेटाइजर से हाथों को अच्छी प्रकार से धोएं तथा छींकते व खांसते समय नाक व मुंह ढकें। उन्होंने कहा कि अगर आपको बुखार, खांसी और सांस लेने में तकलीफ है तो तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें। साथ ही अपनी आयुवर्ग अनुसार टीकाकरण अवश्य करवाएं। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए नागरिक प्रशासन की हिदायतों की गंभीरता से पालना करें और जरूरी कार्य हो तो ही घर से बाहर निकलें अन्यथा घर पर ही रहें। इसके अतिरिक्त नागरिक स्थानीय नागरिक अस्पताल स्थित कोविड कंट्रोल रूम में स्थापित हेल्पलाइन नंबर 90530-13967 व टोल फ्री नंबर 108 पर संपर्क कर सकते हैं।

https://propertyliquid.com

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

जिला में कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण और जिला में कोरोना के बढ़ते हुये केसों को देखते हुये उपायुक्त ने संज्ञान लेते हुये जिलावािसयों से अपील की कि जिला में लाॅकडाउन और कोरोना के संक्रमण को देखते हुये हरियाणा सरकार द्वारा लगाये गये लाॅकडाउन का गंभीरता से पालन करें।

For Detailed News-

पंचकूला, 3 मई- जिला में कोरोना महामारी के बढ़ते संक्रमण और जिला में कोरोना के बढ़ते हुये केसों को देखते हुये उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने संज्ञान लेते हुये जिलावािसयों से अपील की कि जिला में लाॅकडाउन और कोरोना के संक्रमण को देखते हुये हरियाणा सरकार द्वारा लगाये गये लाॅकडाउन का गंभीरता से पालन करें। इस दौरान किसी को भी किसी कार्य के लिये पैदल और वाहन से कहीं भी जाने की इजाजत नहीं है। हरियाणा सरकार का यह कदम प्रदेश में कोरोना की चैन को तोड़ने और जनता को कोरोना से बचाने को लेकर उठाया गया हैं।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने आगे कहा कि प्रशासन ने कोरोना के मरीजों के लिये एक नियंत्रण कक्ष बनाया है। इस नियंत्रण कक्ष में हैल्प लाईन 0172-2590000 प्रतिदिन 24 घंटे चलती रहेगी। जिले के किसी भी नागरिक को स्वास्थ्य से संबंधित कोई भी मदद की जरूरत हो तो इस हैल्पलाईन नंबर पर संपर्क कर मदद लें सकता है।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

देश और प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार के निर्देशानुसार उपायुक्त एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन मुकेश कुमार आहूजा ने 3 मई से 10 मई 2021 तक जिला पंचकूला में सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाने के आदेश जारी किए हैं।

पंचकूला, 3 मई- देश और प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकार के निर्देशानुसार उपायुक्त एवं जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के चेयरमैन मुकेश कुमार आहूजा ने 3 मई से 10 मई 2021 तक जिला पंचकूला में सम्पूर्ण लॉकडाउन लगाने के आदेश जारी किए हैं।

For Detailed News-


जिलाधीश द्वारा जारी आदेशों के तहत जिला में सभी नागरिक घरों में ही रहें। किसी भी नागरिक को उक्त अवधि में पैदल या किसी वाहन से सड़क पर या सार्वजनिक स्थान पर घूमने की अनुमति नहीं होगी। उक्त निर्देशों में जिन व्यक्तियों और सेवाओं को छूट दी गई है उनमें ऐसे लोग जो लॉ एंड आर्डर या आपात सेवाओं में तैनात होंगे। इनमें म्यूनिसिपल सेवाएं, पुलिस, सेना, सीएपीएफ  के वर्दीधारी कर्मचारी, स्वास्थ्य, बिजली, अग्नि शमन, मीडियाकर्मी, कोविड-19 के अंतर्गत काम कर रहे सरकारी कर्मचारी शामिल हैं। इस अवधि के दौरान पहचान पत्र दिखाकर इन्हें आने-जाने में छूट मिल सकेगी। इसके अलावा किसी परीक्षा में शामिल होने के लिए या परीक्षा में ड्यूटी आदि पर जाने वाले लोगो को भी एडमिट कार्ड, पहचान पत्र दिखाकर आने-जाने में छूट रहेगी। आवश्यक वस्तुओं के निर्माण में लगे लोगों पर भी आने-जाने में कोई रोक नहीं होगी। जिला के अंदर व बाहर आवश्यक वस्तुओं को ले जा रहे वाहनों पर भी कोई रोक नहीं होगी। ऐसे कार्यों में लगे वाहनों को पास उपलब्ध करवाए जाएंगे। ये पास लोडिंग व अंलोडिंग के स्थानों की वैरीफिकेशन के बाद जारी होंगे।


जिलाधीश ने बताया कि नागरिक अस्पताल, पशु अस्पताल, सभी संबंधित मैडिकल सेवाएं, मैन्युफेक्चिरिंग और वितरण यूनिटस को भी छूट रहेगी। यह सुविधा सरकारी और निजी क्षेत्र के लिए लागू होगी इनमें डिस्पेंसरी, कैमिस्ट, फार्मेसी, जन औषधि केंद्र सहित और मेडिकल उपकरण की दुकानें, लेबोरेट्री ,फार्मा रिसर्च लैब, क्लिनिक, नर्सिंग होम, एंबुलेंस आदि को काम करने की छूट रहेगी। सभी स्वास्थ्यकर्मियों, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ ,अस्पताल की सहायता के लिए आवश्यक सेवाओं के लिए आवागमन की अनुमति रहेगी। इसके अलावा, जिन अन्य आवश्यक वाणिज्यक एवं निजि सेवाओं को छूट रहेगी उनमें टेली कम्यूनिकेशन, इंटरनेट सेवाएं, प्रसारण एवं केबल सेवाएं आईटी और आईटी संबंधी सेवाओं के अलावा, ई-कॉर्मस के माध्यम से आवश्क वस्तुओं की डिलीवरी को छूट रहेगी। इनमें भोजन, फार्मास्यूटिकल, मेडिकल उपकरण आदि की डिलीवरी शामिल हैं। पैट्रोल पंप, एलपीजी गैस आदि के स्टोर आउटलेट भी खुले रहेंगे। बिजली निर्माण, प्रसारण और वितरण संबंधी सेवाएं, कोल्ड स्टोर, वेयरहाउस, प्राइवेट सिक्योरिटी सर्विस के अलावा खेती से जुड़े कार्यो के लिए किसानों और मजदूरों के आवागमन पर छूट रहेेगी।

https://propertyliquid.com


उन्होंने बताया कि सभी शिक्षण संस्थान, प्रशिक्षण संस्थान, कोचिंग संस्थान आदि बंद रहेंगे। सभी सिनेमा हॉल मॉल्स, शॉपिंग काम्पलेक्स, जिम, खेल परिसर, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमैंट पार्क, थिएटर, बार एंड ऑडिटोरियम, एसैंबली हॉल और इसी तरह के अन्य स्थान बंद रहेंगे। उन्होंने बताया कि सभी सामाजिक, राजनीतिक, खेल और मनोरंजन, एकैडेमिक, सांस्कृतिक व धार्मिक कार्यक्रम या अन्य इक्ट्ठा होने  वाले कार्यक्रमों पर रोक रहेगी। जब तक की इनकी अनुमति उपमंडल अधिकारी से न ली गई हो। उन्होंने बताया कि सभी धार्मिक पूजा स्थल जनता के लिए बंद रहेंगे। सभी धार्मिक सम्मेलन भी बंद रहेंगे।
जिलाधीश मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि रेस्टोरेंट और होटल आदि केवल होम डिलिवरी  के लिए खुले रहेंगे। उन्होंने बताया कि सड़क के किनारे ढ़ाबे और खाना खाने के स्टॉल व फल के स्टॉलों को केवल पार्सल के रूप में सामान देने की अनुमति होगी। कोई भी व्यक्ति स्टॉल पर खड़ा नही होगा और न ही वहां पर भोजन या फल ग्रहण करेगा। उन्होंने बताया कि कटेनमैंट जोनस मेें केवल आवश्यक भोजन दूध व राशन की अन्य वस्तुओं की होम डिलीवरी की अनुुमति होगी। जिला में अंतर्राज्यीय कटाई और बिजाई के कार्यो के लिए कृषि, बागवानी, मछली पालन, पशु पालन में उपयुक्त होने वाले उपकरणों, फीड निर्माण इकाईयों के लिए राज्य के अंदर व राज्य के बाहर आवागमन में छूट रहेगी। इन व्यवसायों से जुड़े उत्पाद अनाज, दूध व मछली इत्यादि के परिवहन को भी आदेशों से मुक्त रखा गया है। इसके अलावा सड़क निर्माण  व मनरेगा के कार्य भी जारी रहेंगे। एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन या अंतर्राज्यीय बस स्टैंड के लिए आने-जाने वाले यात्रियों को छूट दी जाएगी।


उन्होंने बताया कि जिला मैजिस्ट्रेट या अन्य प्राधिकृत से पूर्व अनुमति ले चुके विवाह समारोह व अन्य कार्यक्रमों के लिए शर्तों के साथ छूट रहेगी। इसके लिए इंडोर कार्यक्रम के लिए 30 और आउटडोर के लिए 50 व्यक्तियों से अधिक का कार्यक्रम करने पर प्रतिबंध रहेगा। इसके बावजूद जो भी प्रोटोकोल स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर बताएं जाएं संगठन नियोक्ता उनका सख्ती से पालन करवाना सुनिश्चित करेगें। सभी औद्योगिक इकाईयों, उद्योगपतियों एवं संबंधितों को सरल हरियाणा पोर्टल पर पास के लिए आवेदन करना अनिवार्य है। जारी निर्देशों मे स्पष्ट रूप से कहा गया है कि संबंधित क्षेत्रों मेें उक्त प्रतिबंधों का पालन न करने वालों के खिलाफ  सेक्शन 51 से 60 और आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 के अलावा आईपीसी की धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

हरियाणा विधानसभा स्पीकर ज्ञानचंद गुप्ता लघु सचिवालय के सभागार में अधिकारियों की आयोजित बैठक की अध्यक्षता करते हुये।

पंचकूला, 3 मई- जिला में बढ़ते हुए कोरोना के केसों को लेकर हरियाणा विधानसभा स्पीकर श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने लघु सचिवालय के सभागार में बैठक ली। बैठक में डीसी पंचकूला श्री मुकेश कुमार आहूजा, अतिरिक्त उपायुक्त मोहम्मद इमरान रजा, पुलिस उपायुक्त श्री मोहित हांडा, नगर निगम कमीशन श्री आरके सिंह, एसडीएम रिचा राठी, एसडीएम श्री राकेश संधु, नगराधीश सिमरनजीत कौर, सिविल सर्जन जसजीत कौर सहित अन्य संबंधित अधिकारियों से विधानसभा अध्यक्ष ने कोरोना से निपटने को लेकर विस्तार से चर्चा की।  

For Detailed News-


उन्होंने कहा कि कोविड-19 के नये स्ट्रेंन में मास्क ही प्रोटैक्शन है। उन्होंने जिला के सभी लोगों से मास्क पहनने की अपील की। मास्क पहनने से ना केवल स्वयं बल्कि औरो को भी संक्रमित होने से आप बचा सकते हो।


पीडब्ल्यूडी विभाग के एसीएस आलोक निगम ने बताया कि जिला में कोरोना के मामले बढ़ जरूर रहे है परंतु प्रशासन, सिविल सर्जन और पुलिस मिलकर इसको कंट्रोल करने की दिशा में ठोस कदम उठा रहे है। उन्होंने बताया कि हमारे पास कोविड-19 को लेकर पर्याप्त मात्रा में वेंटिलेटर, इंजेक्शन और बैड उपलब्ध हैं। सिर्फ आॅक्सीजन की सप्लाई दूर से आने की वजह से धीरे चल रही है।


श्री गुप्ता ने प्रशासन को आश्वस्त किया कि वे आज ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल से बात करके आॅक्सीजन की सप्लाई सुचारू रूप से करवाने का प्रयास करेंगें। उन्होंने पुलिस उपायुक्त को लाॅकडाउन और जिले में हरियाणा सरकार की कोविड को लेकर जारी गाईड लाईन का सख्ती से पालन सुनिश्चित करने के  निर्देश दिये। उन्होंने इजेंक्शन और आॅक्सीजन की कालाबाजारी करने वाले लोगों पर पैनी नजर रखने व कोई भी दोषी पाये जाने पर सख्त कार्रवाही के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि जिला का कोई नागरिक आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई न होने की वजह से परेशान न हो और आवश्यक वस्तुओं की सप्लाई वाले दुकानदारों को भी जनता को सप्लाई में कोई दिक्कत न हो। उन्होंने पंचकूला प्रशासन को इन सभी चीजों पर बारिकी से माॅनिटरिंग और सरकार द्वारा जारी की गई एसओपी का सख्ती से पालने करने के निर्देश दिये।  

https://propertyliquid.com


श्री गुप्ता ने पूछे गये एक सवाल के जवाब में कहा कि जिला पंचकूला से लाॅकडाउन और कोरोना के कारण कोई भी व्यक्ति पलायन नहीं कर रहा है।
इस अवसर पर मेयर कुलभूषण गोयल, बीजेपी जिला प्रधान अजय शर्मा, फारमेंसी काॅउसिंल के सदस्य बीबी सिंघल, वरिष्ठ बीजेपी नेता श्याम लाल बंसल सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

लॉकडाउन : आवश्यक वस्तुओं की दुकानें खुलने का समय निर्धारित : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 3 मई।

-सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक किरयाणा, सुबह 5 से सुबह 9 बजे तक दूध व दुग्ध उत्पाद की दुकानें रहेंगी खुली
-फल व सब्जियों की दुकानें सायं 5 बजे से सायं 7 बजे तक खुली रहेंगी
-मेडिकल हाल, केमिस्ट, फार्मेसिज 24 घंटे खुली रहेंगी
-मंडियों में फसल खरीद नहीं होगी, परंतु उठान का कार्य 24 घंटे जारी रहेगा
-खाद, बीज व किटनाशक, पशु चारा तथा कृषि उपकरण की दुकानें प्रात: 10 बजे से सायं 3 बजे तक रहेंगी खुली
-पैट्रोल पंप प्रात: 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक रहेंगे खुले

For Detailed News-


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि कोरोना संक्रमण के फैलाव को रोकने के मद्देनजर प्रदेश सरकार के आदेशानुसार जिला में 10 मई सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन लगाया गया है। आमजन की सुविधा को देखते हुए लॉकडाउन के दौरान आवश्यक वस्तुओं की दुकानों के खोलने का समय निर्धारित किया गया है। दुकानदार निर्धारित समय अनुसार ही अपनी दुकानों को बंद करेंगे व खोलेंगे। इस दौरान सोशल डिस्टेसिंंग, मास्क आदि बचाव उपायों की कड़ाई से पालना करेंगे। नियमों की उल्लंघना करने वालों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।


उन्होंने बताया कि किरयाणा दुकानों के लिए प्रात: 10 बजे से दोपहर 2 बजे तक खोलने का समय निर्धारित किया गया है। इसी प्रकार दूध व दुग्ध उत्पाद की दुकानें सुबह 5 से सुबह 9 बजे तक, फल व सब्जियों की दुकानें सायं 5 बजे से सायं 7 बजे तक खुली रहेंगी। उन्होंने बताया कि मेडिकल हाल, केमिस्ट, फार्मेसिज 24 घंटे खुली रहेंगी। इसी प्रकार मंडियों में फसल खरीद नहीं होगी, परंतु उठान का कार्य 24 घंटे जारी रहेगा। उपायुक्त ने बताया कि खाद, बीज व किटनाशक, पशु चारा तथा कृषि उपकरण की दुकानें प्रात: 10 बजे से सायं 3 बजे तक खुली रहेंगी। पैट्रोल पंप प्रात: 6 बजे से रात्रि 9 बजे तक खुले रहेंगी।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने संबंधित एसडीएम को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने क्षेत्र में लॉकडाउन के दौरान दुकानों के लिए निर्धारित किए गए समय की अनुपालना करवाना सुनिश्चित करेंगे। कोई भी उल्लंघना करता है, तो उसके खिलाफ धारा 51 से 60 व धारा 188 के तहत कानूनी कार्रवाई की जाए।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

कोविड-19 से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए कोविड कंट्रोल रुम स्थापित : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 03 मई।

– नागरिक दूरभाष नंबर 01666-24888, मोबाइल नंबर 98123-00947 या टोल फ्री नंबर 1950 पर कर सकते हैं संपर्क : उपायुक्त

For Detailed News-


उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि आमजन की कोविड-19 से संबंधित समस्याओं के समाधान के लिए जिला प्रशासन द्वारा स्थानीय लघु सचिवालय स्थित जिला राजस्व अधिकारी कार्यालय में कोविड कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है, यह कंट्रोल रुम दिन रात (24&7) कार्य करेगा। जिला राजस्व अधिकारी को कंट्रोल रुम के नोडल नियुक्त किया गया है।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने बताया कि इस कंट्रोल रुम पर बैड, ऑक्सीजन, दवाइयां आदि की पूर्ण जानकारी ली जा सकती है। नागरिक बैड, ऑक्सीजन, दवाइयां व कोविड-19 से संबंधित किसी भी प्रकार की जानकारी प्राप्त करने के लिए कोविड कंट्रोल कक्ष के दूरभाष नंबर 01666-24888, मोबाइल नंबर 98123-00947 या टोल फ्री नंबर 1950 पर संपर्क कर सकते हैं। उपायुक्त ने बताया कि यह कंट्रोल रुम लोगों की सुविधा के लिए बनाया गया है, आमजन कोविड-19 से संबंधित किसी भी प्रकार की समस्या होने पर उक्त नंबरों पर संपर्क कर सकते हैं।

संत कबीर दास जी की जयंती के उपलक्ष पर पंचकूला में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम

बिजली मंत्री ने स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए 25 लाख रुपये और देने की घोषणा, पहले भी दे चुके 25 लाख रुपये की राशि

सिरसा, 3 मई।

For Detailed News-

-सिरसा का ऑक्सीजन का कोटा बढऩे से अब नहीं होगी कोई दिक्कत : बिजली मंत्री
-ऑक्सीजन व रेमेडिसिवर इंजैक्शन की ब्लैकमेलिंग करने वालों पर की जाए सख्त कार्रवाई :
-निजी अस्पतालों में निर्धारित इलाज रेट की लिस्ट हो चश्पा, अधिक पैसे वसूलने वाले अस्पताल पर की जाए कार्रवाई
-कंट्रोल रूम स्थापित कर आमजन को दी जाए अस्पतालों में ऑक्सीजन, बैड आदि की उपलब्धता की जानकारी
-सख्ती से करवाई जाए कोविड-19 निर्देशों की पालना, उल्लंघना करने वालो पर की जाए कार्रवाई
-बिजली मंत्री रणजीत सिंह की अध्यक्षता में कोरोना से बचाव प्रबंधों सीडीएलयू में बैठक का आयोजन


हरियाणा के बिजली, अक्षय ऊर्जा एवं जेल मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि समय के साथ कोरोना स्थिति कंट्रोल हो रही है। हमें सीमित संसाधनों से बेहतर करने की दिशा में काम करना होगा। स्वास्थ्य सुविधाओं के अभाव में कोविड-19 मरीजों के इलाज में कोई कमी न रहने दी जाए। सिरसा का ऑक्सीजन कोटा बढा दिया गया है, जिससे कोरोना मरीजों के इलाज में कोई दिक्कत नहीं आएगी।


बिजली मंत्री सोमवार को सीडीएलयू में कोविड-19 को लेकर आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में अधिकारियों, कोविड-19 प्रबंधों की समन्वय व निगरानी समिति के सदस्यों ने भाग लिया। बैठक में उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बिजली मंत्री को जिला में कोरोना स्थिति व इससे निपटने के लिए किए जा रहे प्रबंधों तथा कार्य योजना बारे जानकारी दी। इस अवसर पर बीजेपी जिला अध्यक्ष आदित्य देवीलाल, पूर्व चेयरमैन जगदीश चौपड़ा, पूर्व चेयरमैन गुरदेव राही, पूर्व चेयरमैन रेणु शर्मा,पदम जैन, डा. अमर सिंह, भूपेश मेहता ने संक्रमण फैलाव को रोकने के संबंध में अपने सुझाव सांझा किए। बिजली मंत्री ने मौके पर ही इन सुझावों को इंप्लीमेंट करवाने के लिए उपायुक्त को दिशा-निर्देश दिए। इस पर प्रदीप रातुसरिया, रत्नलाल बामणिया, महाबीर गोदारा, राजेंद्र लोहिया, लखविंद्र, जसीन्द्र पाल, बलकौर सिंह आदि उपस्थित थे। प्रशासन अधिकारियों में नगर आयुक्त संगीता तेतरवाल, अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह, एसडीएम जयवीर यादव, एसडीएम दिलबाग सिंह, एसडीएम विजय सिंह, एसडीएम अश्वनी कुमार, सीटीएम गौरव गुप्ता, डीएसपी आर्यन चौधरी, सीएमजीजीए सुकन्या जर्नादन सहित संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।  


ऑक्सीजन व रेमेडिसिवर इंजेक्शन की कालाबाजारी वालों पर होगी सख्त कार्रवाई :


बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि यह संकट का समय है, जिसमें सभी को सहयोग की भावना से काम करना चाहिए। लेकिन कई लोग ऐसे समय में फायदा उठाने की मंशा से काम करते हैं। जिला में कोई भी ऑक्सीजन, रेमेडिसिवर या अन्य किसी भी आवश्यक वस्तुओं की कालाबाजारी करता है, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। इसके लिए उन्होंने उपायुक्त को स्पष्ट निर्देश दिए कि कालाबाजारी की सूचना मिलने पर तुरंत छापामारी की जाए और संबंधित के खिलाफ कड़ी कार्रवाई अमल में लाई जाए।

अस्पतालों में निर्धारित इलाज रेटों की सूची करवाई जाए चस्पा :


बिजली मंत्री ने कहा कि कई बार निजी अस्पतालों में इलाज के बिल को लेकर शिकायतें आती हैं। ऐसे में अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि सभी निजी अस्पतालों में बैड व इलाज से संबंधित रेट की सूची अस्पताल में चस्पा करवाना सुनिश्चित करें, ताकि लोगों को किसी प्रकार की परेशानी न उठानी पड़े। इसके साथ ही उन्होंने कमेटी के सदस्यों को भी अस्पतालों का दौरा कर अस्पतालों की व्यवस्थाओं की निगरानी करने को कहा, ताकि आमजन में विश्वास पैदा हो। बैठक में दिए गए सुझाव पर मंत्री ने उपायुक्त को निर्देश दिए कि डबवाली के कोविड-19 मरीजों को वहीं पर दाखिल करने की व्यवस्था की जाए, ताकि उन्हें किसी प्रकार की परेशानी न उठानी पड़े।  


वार्ड अनुसार रेहडिय़ों से सब्जी सप्लाई की हो व्यवस्था :


बिजली मंत्री ने कहा कि हमें कोरोना संक्रमण के फैलाव को भी रोकना है और आमजन को कोई असुविधा भी न हो इसके लिए भी काम करना है। सब्जी मंडी में आमजन की आवाजाही न हो, इसके लिए वार्ड अनुसार रेहडिय़ों के माध्यम से सब्जी वितरित करवाने की व्यवस्था की जाए। आमजन भी इन व्यवस्थाओं में प्रशासन का सहयोग करें।


सहयोग के लिए 24 घंटे तैयार, कोई भी जरूरत हो करवाएं अवगत :


बिजली मंत्री ने कहा कि जिलावासियों को स्वास्थ्य सुविधाओं की कमी नहीं रहने दी जाएगी। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कोविड-19 से संबंधित किसी भी जरूरत हो, उस बारे किसी भी समय अवगत करवा सकते हैं। बिजली मंत्री ने स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए 25 लाख रुपये और देने की घोषणा भी की। इससे पहले भी मंत्री 25 लाख रुपये स्वास्थ्य सुविधाओं के लिए दे चुके हैं। इस प्रकार से मंत्री ने 50 लाख रुपये की राशि स्वास्थ्य सुविधाओं के विस्तार के लिए दी हैं।

https://propertyliquid.com

उपायुक्त प्रदीप कुमार ने मंत्री को जिला की कोरोना स्थिति व प्रबंधों के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि प्रशासन पूरी तरह से टीम भावना के साभ प्रभावी योजना बनाकर कार्य कर रहा है। उन्होंने बताया कि कोरोना की संभावित स्थिति के दृष्टिगत स्वास्थ्य सुविधाओं को विस्तार दिया जा रहा है। इसके साथ अतिरिक्त बैड की भी व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि जिला में कोविड-19 मरीजों के इलाज के लिए सभी आवश्यक स्वास्थ्य सुविधाएं उपलब्ध है। अभी तक किसी प्रकार की दिक्कत नहीं आई है। उन्होंने बताया कि जिला में ऑक्सीजन व अन्य स्वास्थ्य सुविधाओं के कालाबाजारी बारे कोई शिकायत नहीं मिली है। यदि ऐसी कोई शिकायत मिलती है, तो उस सख्त कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कहा कि वे स्वयं सभी व्यवस्थाओं व प्रबंधों की निगरानी रखे हुए हैं। स्वास्थ्य सेवाओं को सुचारू रूप से चलाने के उद्ेश्य से नोडल अधिकारी लगाए गए हैं और वे स्वयं व अतिरिक्त उपायुक्त समय-समय पर अस्पतालों का दौरा कर चुके हैं। उन्होंने मंत्री को आश्वस्त किया कि जो भी सुझाव व दिशा-निर्देश बैठक में दिए गए हैं, उनकी प्राथमिकता से पालना की जाएगी। अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने भी कोविड-19 को लेकर बिजली मंत्री को बताया कि जिला में कोरोना स्थिति बेहतर है और समय-समय पर नोडल अधिकारियों से बातचीत कर हर परिस्थिति का जायजा लिया जा रहा है।