ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

उपायुक्त प्रदीप कुमार ने लगवाई कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज, कर्मचारियों को वैक्सीन लगवाने के लिए किया प्रेरित

सिरसा, 12 अप्रैल।

For Detailed News-


                      उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से प्रभावी व सुरक्षित है तथा इसका कोई भी साइड इफैक्ट नहीं है। वैक्सीन के बारे में किसी प्रकार की अफवाह के बारे में ध्यान न देते हुए वैक्सीन जरूर लगवाएं और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। कोरोना वैश्विक महामारी से बचाव व इसे जड़मूल से खत्म करने के लिए वैक्सीन लगवाने के साथ-साथ मॉस्क व सोशल डिस्टैसिंग जैसी प्रमुख सावधानियां बरतनी जरूरी हैं। नागरिक वैक्सीन लगवाकर व बचाव उपायों की पालना करके जिला को कोरोनामुक्त बनाने में सहयोग करें।


                      उपायुक्त ने सोमवार को सामान्य अस्पताल में बनाए वैक्सीनेशन केंद्र पर पहुंचकर कोरोना वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाई और आमजन को वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया। इस अवसर पर डिप्टी सीएमओ वीरेश भूषण, डा. बालेश बंसल सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य स्टाफ के सदस्य भी उपस्थित थे।


                      उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है और किसी प्रकार का साइड इफैक्ट नहीं है। कोरोना बीमारी से बचाव व इसके खात्मे के लिए कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम का सफलतापूर्वक क्रियांवयन के लिए जिलावासियों का सहयोग बेहद जरूरी है। उन्होंने आमजन से अपील करते हुए कहा कि कोरोना वैक्सीन से घबराने की जरूरत नहीं है और किसी प्रकार की अफवाहों पर ध्यान न दें। उन्होंने कहा कि जिला में कोविड-19 कोरोना वायरस से बचाव के लिए वैक्सीन लगाने का कार्य तीव्र गति से जारी है। उन्होंने बताया कि अब तक एक लाख 24 हजार 369 लाभार्थियों को कोरोना वैक्सीन लगाई जा चुकी है।

https://propertyliquid.com
                      उपायुक्त ने कहा कि अधिकारी व कर्मचारी आगे आकर वैक्सीन लगवाकर आमजन के लिए प्रेरक की भूमिका निभाएं।  उन्होंने सभी विभागाध्यक्षों को कहा कि वे अपने कर्मचारियों का रजिस्ट्रेशन स्वास्थ्य विभाग में जरूर करवाएं ताकि सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को कोरोना वैक्सीन लगवाई जा सके।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

SEWING TECHNOLOGY WORKSHOP AT UIFT & VD, PANJAB UNIVERSITY

Chandigarh April 12, 2021

For Detailed News-

University Institute of Fashion Technology & Vocational Development, (UIFT & VD),
Panjab University, Chandigarh, organized an Online Sewing Technology Workshop in
collaboration with Usha International Ltd. on April 12, 2021. Fifty students from
the department and faculty attended this workshop.

https://propertyliquid.com

Mr Rawat from Usha International Ltd. was the resource person. He elaborated the
latest technology in sewing machines. Earlier sewing used to be limited to working
on single needle lock stitch machine but now with the advent of zigzag sewing
machines as well as computerized sewing machines creativity can be made to
execution. A live demonstration of working of six different types of sewing machines
was conducted where usage of different presser foots like piping foot, ruffler foot,
zipper foot etc. was also shown.  Variation in zig zag stitch and length of stitches
can create stunning patterns. Application of beaded strings, applique work, lace
application, couching, designs in circular pattern all was demonstrated on different
types of fabrics. Not only sewing but surface decoration of fabric with computerized
embroidery was exhibited on Memory Craft Machine.

The two-hour session was completely engrossing and attendees were inquisitive about
the kind of work possibility on these machines. Dr Anu H. Gupta appreciated the
efforts of the team of USHA International Ltd. who elaborated and demonstrated not
on one but all seven different machines in detail and remarked that such workshops
definitely add to the students’ knowledge regarding the latest technology and trends
in Fashion Industry.

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

अनुसूचित जातियों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना

For Detailed News-

पंचकूला, 12 अप्रैल- सामाजिक न्याय और अधिकारिता राज्य मंत्री श्री रतन लाल कटारिया ने गत वर्ष के दौरान अनुसूचित जातियों के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना में मोदी सरकार के ऐतिहासिक निवेश पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि पीएमएस-एससी स्कीम के फंडिंग पैटर्न में बदलाव के बाद पहली धनराशि जारी की गई है। सरकार ने कुल लगभग  4000 करोड़ रुपये वित्तीय वर्ष 2020-21 में जारी किये। इस में सबसे अधिक धनराशि 892.36 करोड़ रुपये उत्तर प्रदेश को, उसके बाद महाराष्ट्र को 558 करोड़ रुपये  और आंध्र प्रदेश को 450 करोड़ रुपये जारी किये गए है।

https://propertyliquid.com


कटारिया ने कहा कि सरकार ने अनुसूचित जाति के युवाओं को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना को पूरी तरह से बदल दिया है। केंद्र और राज्यों के बीच फंडिंग पैटर्न को प्रतिबद्ध दायित्व (कमिटेड लायबिलिट) सूत्र से बदल कर 60ः40 के निश्चित शेयरिंग पैटर्न पर कर दिया गया था  (पूर्वोत्तर के लिए 90ः10) इससे सरकार की प्रतिबद्धता लगभग चार गुणा बढ़ गई है और सरकार  द्वारा रुपये 35,534 करोड़ की राशि का प्रावधान किया गया है । इस योजना के लिए 2025-26 तक यह अनुमान है कि इस अवधि के दौरान अनुसूचित जाति समुदाय के लगभग 4 करोड़ युवा लाभान्वित होंगे। उन्होंने आगे बताया कि योजना में केंद्रीय हिस्सेदारी बढ़ाने के अलावा, सरकार ने डीबीटी प्रणाली का उपयोग करके छात्रवृत्ति के भुगतान में देरी से बचने के लिए कई प्रक्रिया सुधार लाए हैं।


रतन लाल कटारिया ने शिक्षा के महत्व को रेखांकित किया और कहा कि शिक्षा वह आधारशिला है जिस पर सामाजिक प्रगति की छाप बनती है। नरेंद्र मोदी जी ने अपनी अधिकतम क्षमता हासिल करने के लिए, अज्ञानता और अंधविश्वास के प्रभावों को दूर करने के लिए एवं एक व्यक्ति को ढालने में, गुणवत्ता शिक्षा के महत्व पर कई बार जोर दिया है।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

पंचकूला के नागरिक अस्पताल से पब्लिक प्राइवेट पार्टनशिप में सीटी स्कैन तथा एमआरआई की सुविधा का शुभारंभ किया गया था।

पंचकूला, 12 अप्रैल- हरियाणा सरकार द्वारा प्रदेश के नागरिकों को रियायती दरों पर बेहतर स्वास्थ्य सुविधायें उपलब्ध करवाने https://news7world.com/?cat=33के उद्देश्य से 2015 में पंचकूला के नागरिक अस्पताल से पब्लिक प्राइवेट पार्टनशिप में सीटी स्कैन तथा एमआरआई की सुविधा का शुभारंभ किया गया था। वर्तमान में हरियाणा में पंचकूला सहित कुल 12 सेंटर द्वारा यह सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही है।

For Detailed News-


इस संबंध में जानकारी देते हुए मणिपाल हेल्थ मैप काॅरपोरट हेड आर एस खोखर ने बताया कि वर्तमान हरियाणा सरकार का यह प्रयास रहा है कि प्रदेश के नागरिको को राडीओलाॅजी कम दाम पर मुहैया करवाई जाये।


उन्होंने बताया कि कोरोना के इस दौर में सीटी स्कैन का महत्व और भी बढ़ गया है। कई बार कोरोना कैरियर होने की सही जानकारी सीटी स्कैन द्वारा ही पता लग पाती है। कोरोना मरीजों का चैकअप किया जाता है तथा सीटी स्कैन केंद्र को कई बार सेनीटाईज किया जाता है। सभी की सुरक्षा उनकी प्राथमिकता है।
उन्होंने बताया कि प्रदेश में अब तक 7 लाख से अधिक सीटी स्कैन तथा एमआरआई किये जा चुके है। जिसमें से 1 लाख 90 हजार लोग बीपीएल परिवारों से, हरियाणा कर्मचारी तथा एक्सीडेंट में घायल हुए अनजान व्यक्ति इत्यादि को यह सुविधा निशुल्क दी गई है।


उन्होंने बताया कि इन केंद्रों पर एमआरआई व सीटी स्कैन की सुविधा बाजार से लगभग 30 से 50 प्रतिशत कम दामों पर दी जा रही है। इसके अलावा डायलसिस व कार्डियोलाॅजी की सुविधा भी पब्लिक प्राईवेट पार्टनरशिप पर दी जा रही है। भारत में हरियाणा न्यूनतम दरों पर सेवायें देने वाला पहला राज्य है। उन्होंने कहा कि ट्राइसिटी में केेंसर को डिटेक्ट करने के लिये कोई भी पेट स्कैन सेंटर नहीं है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की अनुमति से इस सेंटर को पंचकूला में खोलने का प्रयास किया जायेगा।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

चैत्र नवरात्र मेले के सफल आयोजन के लिये कोविड दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए सभी आवश्यक प्रबंध पूरे कर लिये गये है।

पंचकूला, 12 अप्रैल- जिला उपायुक्त एवं श्री माता मनसा देवी श्राईन बोर्ड के मुख्य प्रशासक श्री मुकुल कुमार ने बताया कि 13 से 21 अप्रैल तक आयोजित होने वाले चैत्र नवरात्र मेले के सफल आयोजन के लिये कोविड दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए सभी आवश्यक प्रबंध पूरे कर लिये गये है।


श्री मुकुल कुमार ने बताया कि कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि श्रद्धालु ई-टोकन के माध्यम से ही माता के दर्शन कर सकेंगे।
उन्होंने बताया कि मेले के दौरान कानून व्यवस्था बनाये रखने और श्रद्धालुओं की सुविधा के लिये पुलिस द्वारा 20 नाके लगाये गये है। पुलिस द्वारा यह भी सुनिश्चित किया जायेगा कि मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं ने फेस मास्क पहन रखा हो और कम से कम दो गज की दूरी बना रखी हो। श्रद्धालुओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए मंदिर परिसर में जगह-जगह पर सेनिटाईजर की व्यवस्था की गई हैं। इसके अलावा स्वास्थ्य विभाग द्वारा कोविड वैक्सीनेशन कैंप का आयोजन भी किया जायेगा, जिसमें श्रद्धालु अपना कोविड टेस्ट करवाने के साथ-साथ कोविड वैक्सीनेशन भी करवा सकेंगे।


श्री मुकुल कुमार ने कहा कि कोरोना को देखते हुए इस बार भीड़-भाड़ वाली जगह जैसे लंगर, सांस्कृतिक संध्या, मनोरंजन की गतिविधियों का आयोजन नहीं किया जायेगा। साथ ही मंदिर की धर्मशालायें भी बंद रहेंगी।


उपायुक्त ने लोगों से अपील की है कि जितना संभव हो सके वे आॅन-लाईन माध्यम से ही माता के दर्शन करें। उन्होंने कहा कि श्राईंन बोर्ड द्वारा श्रद्धालुओं के लिये फेसबुक पेज जय माता मनसा देवी और यूट्यूब पर माता के लाईव दर्शन की व्यवस्था की गई हैं। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक लोग इस सुविधा का लाभ उठाये और घर से ही माता के दर्शन करें। उन्होंने लोगों से यह भी अपील की है कि वे बाहर से प्रसाद न लाये। बोर्ड द्वारा श्रद्धालुओं के लिये रियायती दामों पर प्रसाद की व्यवस्था की गई है।


उन्होंने कहा कि नगर निगम पंचकूला द्वारा प्रतिदिन मंदिर परिसर की सेनिटाईजेशन और फोगिंग की जायेगी। इसके अलावा मेले के दिनों में जिला सूचना एवं जनसंपर्क कार्यालय द्वारा स्थापित सूचना केंद्र के माध्यम से समय-समय पर श्रद्धालुओं को कोरोना से बचाव के बारे मेें जागरूक किया जायेगा।


 उन्होंने कहा कि श्री माता मनसा देवी मंदिर पंचकूला में 15 मिनट में 180 के हिसाब से श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे जबकि काली माता मंदिर कालका में 15 मिनट में 120 श्रद्धालु दर्शन कर सकेंगे। जो श्रद्धालु माता मनसा देवी मंदिर में लिफ्ट एंट्री के माध्यम से प्रेफरेंशियल दर्शन करने के इच्छुक है, वे 50 रुपये प्रति श्रद्धालु बोर्ड की वेब साईट www.mansadevi.org.in   पर रजिस्ट्रेशन करवा सकते है। श्रद्धालु एक साथ अधिकतम 10 व्यक्तियों का रजिस्ट्रेशन करवाया सकता है। हालांकि फिलहाल एक घंटे में लिफ्ट द्वार के माध्यम से 100 श्रद्धालुओं के दर्शन की व्यवस्था की गई है।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

पुलिस विभाग ने कई चोरियों की गुत्थी सुलझाई, साढे 25 लाख रुपये से अधिक की चोरीशुदा सम्पत्ति बरामद

सिरसा, 12 अप्रैल।

For Detailed News-


                    पुलिस विभाग की ओर से मार्च माह में जिला में आपराधिक गतिविधियों को नियंत्रित करते हुए विभिन्न धाराओं के तहत 422 विभिन्न अभियोग दर्ज किए गए हैं। विभिन्न चोरियों की गुत्थी सुलझाते हुए 25 लाख 56 हजार 700 रुपये की चोरीशुदा संपति भी बरामद करने में पुलिस विभाग ने सफलता हासिल की है।

https://propertyliquid.com
                    पुलिस अधीक्षक भूपेंद्र सिंह ने बताया कि आबकारी अधिनियम के तहत दर्ज 9 अभियोग दर्ज किए गए जिनमें 302 बोतल शराब ठेका देसी, 142 बोतल शराब अवैध, 50 किलोग्राम लाहण, 180 बोतल अंग्रेजी शराब बरामद की है। जिला में मादक पदार्थों की तस्करी पर लगाम कसने के लिए पुलिस टीम ने विभिन्न स्थानों पर छापामारी की और नारकोटिक्स अधिनियम के तहत 41 अभियोग दर्ज किए गए जिनमें 152 किलो 950 ग्राम चुरापोस्त, 12 ग्राम स्मैक, पांच किलो 944 ग्राम अफीम, एक किलो 25 ग्राम गांजा, 708 ग्राम 280 मिलीग्राम हिरोइन बरामद की गई। उन्होंने बताया कि जुआ अधिनियम के तहत 21 अभियोग दर्ज किए गए जिसके तहत विभिन्न स्थानों पर सट्टे खाईवाली करते हुए व जुआ खेलते लोगों से 59 हजार 895 रुपये की राशि बरामद की गई है।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

अब तक जिला की मंडियों में हुई 29,832 मीट्रिक टन गेहूं की आवक : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 12 अप्रैल।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि अब तक जिला की अनाज मंडियों, सब यार्ड व खरीद केंद्रों पर 29,832 मीट्रिक टक गेहूं की आवक हो चुकी है। सिरसा अनाज मंडी में 5465 मीट्रिक टन, ऐलनाबाद मंडी में 5343 मीट्रिक टन, रानियां मंडी में 4476 मीट्रिक टन, डिंग में 3345 मीट्रिक टन तथा डबवाली मंडी में 770 मीट्रिक टन गेहूं की आवक हो चुकी है। साथ ही जिला की अन्य मंडियों में भी फसल की आवक जारी है।


                    उपायुक्त ने बताया कि इस बार जिला में 6 अनाज मंडी, 7 सब यार्ड तथा 46 खरीद केंद्रों पर गेंहू की खरीद की जा रही है। उन्होंने कहा कि मंडियों व खरीद केंद्रों पर खरीद प्रक्रिया संबंधी सभी प्रकार के प्रबंध किए गए हैं और इस बारे अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए गए हैं, ताकि किसानों को गेंहू बेचने में दिक्कत न आए। उन्होंने कहा कि फसल खरीद प्रक्रिया के साथ-साथ उठान कार्य भी साथ-साथ होना चाहिए और किसानों के लिए पीने का पानी, शौचालय आदि सुविधाओं का विशेष ध्यान रखें। उन्होंने किसानों से आह्वïान किया है कि वे कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए मंडियों में सोशल डिस्टेंस बनाए रखें और अपने हाथों को सैनिटाइज करें व मुंह पर मास्क या गमछे का इस्तेमाल जरूर करें।

https://propertyliquid.com

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

कलाकारों ने गांव गंगा में ग्रामीणों को कोरोना संक्रमण से बचाव उपाय अपनाने का दिया संदेश

सिरसा, 12 अप्रैल।

For Detailed News-


                    सूचना, जनसंपर्क एवं भाषा विभाग के महानिदेशक डा. अमित अग्रवाल के दिशा निर्देशानुसार उपायुक्त प्रदीप कुमार के मार्गदर्शन में जिला सूचना एवं जनसंपर्क विभाग की भजन मंडलियां गांव-गांव पहुंच कर लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव, हिदायतों की पालना व वैक्सीनेशन करवाने के लिए प्रेरित कर रही है। इसी कड़ी में भजन पार्टी लीडर जुगती राम व अमरजीत सिंह ने गांव गंगा में ग्रामीणों को गीतों, भजनों व रागनियों के माध्यम से कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक किया। इसके साथ-साथ कलाकारों ने आमजन को सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी।


              कलाकारों द्वारा आमजन से कोरोना संक्रमण से बचाव के तरीकों व जारी हिदायतों की पालना करने का आह्वïान किया जा रहा है। आमजन को बताया जा रहा है कि कोरोना वैक्सीन पूरी तरह से सुरक्षित है और किसी तरह का कोई साइडइफेक्ट नहीं है, इसलिए 45 से 59 आयुवर्ग तथा 60 से अधिक आयुवर्ग के लोग टीकाकरण के लिए आगे आएं और दूसरों को भी टीकाकरण के लिए प्रेरित करें। आमजन से मास्क लगाने, सामाजिक दूरी का पालन करने, खांसी, बुखार, जुखाम आदि होने पर तुरंत अपना टेस्ट करवाने का भी आह्वïान किया जा रहा है। कलाकारों ने ग्रामीणों से कहा कि कोरोना से बचाव के लिए सामाजिक दूरी के साथ-साथ मास्क लगाना बेहद जरूरी है। इसके साथ-साथ बार बार साबुन से हाथ भी धोएं और स्वयं भी सुरक्षित रहें और दूसरों को भी सुरक्षित रखने में सहयोग करें।

https://propertyliquid.com


              कलाकारों ने आमजन से आह्वïान किया कि वे अपने-अपने परिवार पहचान पत्र अवश्य बनाएं तथा जिन व्यक्तियों ने अपने परिवार पहचान पत्र बनवा लिए हैं, वे अपना डाटा नजदीकी अटल सेवा केंद्र पर अपडेट करवाएं। उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा परिवार पहचान पत्र में इनकम वैरिफिकेशन का कार्य किया जा रहा है। अब सरकार द्वारा विभिन्न विभागों की योजनाओं का लाभ देने के लिए परिवार पहचान पत्र जरूरी कर दिया गया है, इसलिए वे अटल सेवा केंद्र, सरल – अंत्योदय केंद्र के माध्यम से अपना परिवार पहचान पत्र बनवाएं।

ऑक्सिजन लेवल चेक करने के लिए न फंस जाएं फेक ऑक्सिमीटर ऐप के जाल में, खाता हो सकता है खाली :- डी.सी.पी. पंचकूला

परिवार पहचान पत्र के इनकम वैरिफिकेशन में व्यक्तिगत रूचि लेकर कार्य करें अधिकारी : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 12 अप्रैल।

For Detailed News-

-उपायुक्त प्रदीप कुमार ने नागरिकों से किया आह्वान इनकम वैरिफिकेशन कार्य में टीमों का सहयोग करें, दें सही जानकारी
-परिवार पहचान पत्र योजना के तहत अधिकारियों की बैठक आयोजित


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि परिवार पहचान पत्र प्रदेश सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है और सरकार की योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को परिवार पहचान पत्र के आधार पर ही मिलेगा। इसलिए परिवार पहचान पत्र में इनकम वैरिफिकेशन कार्य को अधिकारी व्यक्तिगत रूचि लेकर गंभीरता से लें और लोकल कमेटी को सही विवरण दर्ज करने के लिए प्रोत्साहित करें। अधिकारी व वैरिफिकेशन कार्य के लिए बनाई गई लोकल कमेटी सदस्य आपसी तालमेल के साथ कार्य करते हुए इंकम वैरिफिकेशन कार्यों को जल्द से जल्द पूरा करें। अगर किसी स्तर पर कोई समस्या है तो तुरंत उनके संज्ञान में लाएं ताकि समस्या का समाधान जल्द किया जा सके।


                    उपायुक्त सोमवार को परिवार पहचान पत्र के इंकम वैरिफिकेशन तहत पंचायत भवन में आयोजित अधिकारियों की बैठक में संबोधित कर रहे थे। इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह, एसडीएम डबवाली अश्वनी कुमार, डीएसपी आर्यन चौधरी, उप निदेशक कृषि डा. बाबूलाल, डीआईओ रमेश कुमार, डीआईओ कार्यालय से कुलदीप आदि भी उपस्थित रहे। परिवार पहचान पत्र में इनकम वैरिफिकेशन कार्य की देखरेख के लिए जिला में हर चार गांवों पर एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। ये नोडल अधिकारी यह सुनिश्चित करेंगे कि इनकम वैरिफिकेशन का कार्य सही हो व निर्धारित समयसीमा में पूरा हो।


                    उपायुक्त ने कहा कि जिला में परिवार पहचान पत्र में दर्ज पारिवारिक इनकम वैरिफिकेशन का कार्य किया जा रहा है। इस कार्य में गठित टीमों के साथ सोशल वर्कर भी लगे हुए हैं। उन्होंने कहा कि इंकम वैरिफिकेशन का कार्य बहुत ही महत्वपूर्ण है, इसलिए टीम के लीडर व सोशल वर्कर आपसी तालमेल के साथ इस कार्य को करें और निर्धारित अवधि तक पीपीपी के इंकम वैरिफिकेशन कार्य को पूरा करें। वैरिफिकेशन कार्य में किसी प्रकार की समस्या या दिक्कत आती है, तो उस बारे तुरंत अवगत करवाएं, ताकि जल्द समस्या का समाधान किया जा सके और कार्य सुचारू रूप से हो सके। उन्होंने कहा कि इनकम वैरिफिकेशन कार्य को पूरे विवेक से करें और वास्तविक जानकारी को ही दर्ज करें, ताकि भविष्य में कोई भी पात्र व्यक्ति सरकार की योजनाओं का लाभ लेने से वंचित न रहे।

https://propertyliquid.com


                    अतिरिक्त उपायुक्त उत्तम सिंह ने नागरिकों से भी आह्वïान किया है कि वे परिवार पहचान पत्र में इनकम वेरिफिकेशन कार्य में टीमों का सहयोग करें तथा सही जानकारी दें। परिवार पहचान पत्र के माध्यम से जरूरतमंद पात्र लोगों को सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ आसानी से मिल पाएगा। पहले जहां अलग-अलग योजनाओं एवं सेवाओं के लिए नागरिकों को अलग-अलग स्थानों एवं कार्यालयों में जाकर कागजात जमा करवाने पड़ते थे। परिवार पहचान पत्र के लागू हो जाने के बाद एक ही स्थान पर सभी कार्य होंगे और बार-बार कागजात जमा करवाने की जरूरत भी नहीं पड़ेगी। उन्होंने सभी विभागाध्यक्षों से भी कहा कि अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि उनके कार्यालय के सभी कर्मचारियों का परिवार पहचान पत्र बना हो और उसमें सही विवरण दर्ज हो। उन्होंने कहा कि परिवार पहचान पत्र प्रदेश सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है, जिसका उद्ेश्य पात्र व्यक्ति को जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पहुंचाना है।