Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

हरियाणा विधान सभा सचिवालय में बुधवार को पंचकूला स्वच्छता एवं रखरखाव कमेटी की बैठक लेते विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता।

पंचकूला, 17 फरवरी

For Detailed News-


शहरवासियों की बिजली, पानी, सड़कों के गड्ढे इत्यादि समस्याओं का समाधान मात्र एक कॉल पर होगा। पंचकूला के सभी सेक्टरों और गांवों की मार्केटों में सूचना पट लगेंगे, जिस पर जिम्मेदार अधिकारियों के मोबाइल नंबर होंगे। ये नंबर पुलिस विभाग की तरह स्थायी होंगे यानी कि अफसरों के तबादले होने पर भी लोग इन्हीं नंबरों से विभाग से संपर्क कर सकेंगे। विधान सभा सचिवालय में बुधवार को पंचकूला स्वच्छता एवं रखरखाव कमेटी की बैठक में इस योजना का खाका तैयार किया गया। बैठक की अध्यक्षता कर रहे विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि शहरवासियों की समस्या का निराकरण उनकी प्राथमिकता है और इस मामले में किसी भी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं होगी। बैठक में हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण और पंचकूला नगर निगम के अधिकारी व कमेटी के पदाधिकारी उपस्थित रहे।


विधान सभा अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता ने इस दौरान शहर के मुख्य मार्गों पर लगी रेलिंग के रखरखाव पर कड़ा संज्ञान लिया। उन्होंने कहा कि कई सड़कों पर रेलिंग टूटी होने के कारण यहां हादसों का खतरा बना रहता है। उन्होंने एचएसवीपी और नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि रेलिंग के बीच में कहीं भी रास्ता न छोड़ा जाए। ऐसा होने से सड़क दुर्घटनाएं बढ़ती हैं। उन्होंने रेलिंग की ऊंचाई एक समान रखने और इन पर सौंदर्यीकरण के लिए फूल इत्यादि लगाने को भी कहा।


बैठक में विधान सभा अध्यक्ष ने शहर में हो रहे अतिक्रमण पर भी संज्ञान लिया। उन्होंने कहा कि पिछली बैठक में इस समस्या को लेकर व्यापक योजना बनी थी, लेकिन अतिक्रमण अभी भी देखने को मिल रहा है। उन्होंने कहा कि अतिक्रमण रोकने के लिए कड़ाई से काम करना होगा। इसके निगम के कर्मचारियों का ड्यूटी समय बदलने के भी निर्देश दिए। अब अतिक्रमण हटाने वाले कर्मचारियों की ड्यूटी दोपहर 1 बजे से लेकर रात 9 बजे तक होगी। इसके लिए नगर निगम आयुक्त जल्द आदेश जारी करेंगे। सेक्टर 23 में बनने वाले मल्टी फीचर पार्क की जगह पर खुदाई से निकल रहे ग्रेवल पत्थरों की ओर भी विधान सभा अध्यक्ष ने अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट किया। उन्होंने कहा कि यह निगम की संपत्ति है, इसके लिए निगम को इस मामले में पूरी एहतियात बरतनी चाहिए। पंचकूला जिला अदालत में पार्किंग की समस्या के निराकरण के लिए भी उन्होंने अधिकारियों को निर्देश जारी किए। सेक्टर 2 से लेकर 12ए तक के नाले और सेक्टर 7 के नाले को ढकने की योजना पर भी विचार हुआ।


बैठक के दौरान शहरवासियों को बिजली, पानी तथा सड़कों के गड्ढ़ों की समस्या भी उठी। ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि इसके लिए जिम्मेदार अधिकारियों के नंबर सार्वजनिक करने होंगे, जिससे कि लोग उनसे सीधे संपर्क कर सके। कमेटी में सुझाव आया कि अफसरों के तबादले होने पर नंबर स्थायी रखने के लिए नगर निगम को उन्हें मोबाइल हैंडसेट और सिम कार्ड उपलब्ध करवाने चाहिए। बैठक में उपस्थित नगर निगम आयुक्त आरके सिंह ने कहा कि इसके लिए निगम जल्द व्यवस्था करेगा और 50 से ज्यादा मोबाइल हैंडसेट और सिम कार्ड खरीदेगा। ज्ञान चंद गुप्ता ने कहा कि दैनिक जरूरत के कामों से संबंधित अधिकारियों के नंबर मार्केटों में सूचना पट स्थापित कर उपलब्ध करवाएं। बैठक में पंचकूला स्वच्छता एवं रखरखाव कमेटी के समन्वयक डीपी सोनी, सह-समन्वयक डीपी सिंघल, सदस्य रमाकांत भारद्वाज, नगर निगम आयुक्त आरके सिंह, कार्यकारी अधिकारी अशोक कुमार, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के इस्टेट ऑफिसर अनिल दून, मुख्य वास्तुकार हेमराज यादव समेत अनेक अधिकारी मौजूद रहे।

https://propertyliquid.com

जुगाड़ वाहनों पर कसेगा शिकंजा


जुगाड़ वाहनों पर सब्जी और फल बेचने वालों पर भी नगर निगम शिकंजा कसने जा रहा है। बैठक में विषय उठा कि अनेक लोग इन वाहनों पर लाउड स्पीकर लगा गलियों में सब्जियां और फल बेचते हैं। ऐसे वाहनों से जहां सड़का हादसों की आशंका रहती है, वहीं निगम को राजस्व का भी नुकसान होता है। विधान सभा अध्यक्ष ने निर्देश दिए कि शहर में निर्धारित स्थानों पर वेंडिंग जॉन बनाएं जा रहे हैं। ऐसे में इस प्रकार के विक्रेताओं को अनुमति नहीं दी जा सकती। इसके साथ ही सड़क किनारे नारियल पानी और तरबूज इत्यादि विक्रेताओं को भी हटाने के निर्देश दिए। बैठक में उपस्थित कमेटी पदाधिकारियों ने कहा कि सड़क किनारे इस प्रकार सामान बेचने से शहर की सुंदरता खराब होती है और साथ ही यहां अचानक वाहन रुकने से हादसा होने का भी डर रहता है। गुप्ता ने पुरानी गाड़ियों को मोडीफाई कर उन पर खाना इत्यादि का कारोबार करने वालों पर शिकंजा के भी निर्देश दिए।

देशी दवाओं की आड़ में पनप रहा नशे का धंधा, गुप्ता बोले तुरंत हटाओ


पंचकूला स्वच्छता एवं रखरखाव कमेटी की बैठक में शहर में अनेक स्थानों पर तंबू लगाकर देशी दवाओं कारोबारियों का मुद्दा भी उठा। बताया गया कि ये विक्रेता देशी दवाओं की आड़ में नशे का कारोबार कर रहे हैं। विधान सभा अध्यक्ष ने एचएसवीपी और नगर निगम के अधिकारियों को निर्देश दिए कि इसके लिए सांझी रणनीति बनाकर ऐसे लोगों को शहर से बाहर किया जाए। इससे जहां छोटे बच्चों पर गलत असर पड़ता है, वहीं युवा पीढ़ी नशे के मकड़जाल में फंस सकती है। उन्होंने कहा कि ऐसे कारोबार न तो सामाजिक दृष्टि से ठीक है और न ही स्वास्थ्य की दृष्टि से। उन्होंने कहा कि नशा समाज की जड़ों को खोखला कर देता है और इसका खामियाजा अनेक पीढ़ियों को भुगतना पड़ता है।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

हाई पावर्ड कमेटी के आदेशों के तहत 2,580 दोषियों का पुनः प्रवेश

For Detailed News-

पंचकूला, 17 फरवरी-   हाई पावर्ड कमेटी की 12 वीं बैठक न्यायमूर्ति श्री राजन गुप्ता, न्यायाधीश, पंजाब एवं हरियाणा उच्च न्यायालय तथा कार्यकारी अध्यक्ष, हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की अध्यक्षता में आयोजित की गई। यह बैठक 2,580 दोषियों, जिन्हें हाई पावर्ड कमेटी के आदेशों के तहत रिहा किया गया था, के पुनः प्रवेश की अनुमति हेतू आयोजित की गई।


इस बैठक में श्री राजीव अरोड़ा, अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह विभाग,  श्री के0 सेल्वराज, आईपीएस (सेवानिवृत्त), जेल महानिदेशक और श्री प्रमोद गोयल, जिला एवं सत्र न्यायाधीश सदस्य सचिव, हरियाणा राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण ने भाग लिया।


उक्त समिति बनने के बाद से, यह समिति जेलों के अंदर कोरोना संक्रमण के जोखिम से बचने के लिए दोषियों/विचाराधीन कैदियों की पैरोल/जमानत प्रदान अथवा बढ़ा रही है। मौजूदा स्थिति को देखते हुए, इस समिति ने 09 चरणों में हाई पावर्ड कमेटी की सिफारिशों के तहत पैरोल पर रिहा किए गए दोषियों का फिर से प्रवेश शुरू करने का फैसला किया है। जेल अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि दोषियों का फिर से उच्चाधिकार समिति द्वारा निर्धारित मापदंड के अनुसार पुनः प्रवेश सुनिश्चित करें और यह भी सुनिश्चित करें कि दोषियों का पुनः प्रवेश, उनके कारावास की अवधि के आधार पर दिनांक 23.02.2021 से हो। जेल अधिकारियों और स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे एक-दूसरे के साथ तालमेल करें और 2,580 दोषियों के प्रवेश के समय सख्त परीक्षण और प्रोटोकॉल का पालन करें।


इस बैठक में यह निर्णय भी लिया गया है कि जिन कैदियों को 01.02.2021 को पैरोल/फर्लो पर रिहा किया गया था, वे सक्षम प्राधिकारियों द्वारा उन्हें दी गई पैरोल/फर्लो की अवधि समाप्त होने पर आत्मसमर्पण करेंगे।


  कोविड-19 संक्रमण के कारण, कैदियों को उनके परिवार के सदस्यों के साथ मिलने/बैठक को निलंबित कर दिया गया था, अब हाई पावर्ड कमेटी ने कैदियों को अपने परिवार के सदस्यों के साथ एक सप्ताह में सोमवार से शुक्रवार तक फिर से मुलाकात शुरू करने की अनुमति दी है। विचाराधीन कैदियों और दोषियों को भी हर शनिवार को अपने वकीलों से मिलने की अनुमति दी गई है। एक महीने में दो बार अपने परिवार के सदस्यों के साथ विचाराधीन कैदी मिलेंगे, जबकि दोषियों को महीने में एक बार मिलने की अनुमति होगी। जेल अधिकारियों को निर्देश दिया गया है कि वे मिलने के दौरान संक्रमण से बचने के लिए सभी एहतियाती सुरक्षा उपाय करें जैसे की मास्क पहनना, हाथों की सफाई व सामाजिक दूरी आदि।

https://propertyliquid.com


इसके अलावा इस समिति ने जेल अधिकारियों को सुरक्षा के आधार पर या कोविड-19 मुद्दों के मद्देनजर एक जेल से दूसरे जेल में कैदियों के स्थानांतरण करने की अनुमति दी है।
दोषियों/विचाराधीन कैदियों को पैरोल/जमानत पर छोड़ने की वजह से जेलों में आवश्यक जगह बन पायी, जिसके फलस्वरूप जेल प्राधिकरण कोविड-19 महामारी पर अच्छी तरह से नियंत्रण कर पाये।  हरियाणा की जेलों में हाई पॉवर्ड कमेटी के आदेशों के तहत सुझाए और लागू किए गए दिशा-निर्देशों के कारण कोविड संक्रमण के कोई बड़े मामले सामने नहीं आए। 

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

Dr.SSBUICET welcomes Alumnus Manika Sheokand Miss India Grand 2020

Chandigarh February 17, 2021

For Detailed News-

Dr. S. S. Bhatnagar University Institute of Chemical Engineering & Technology (Dr.SSBUICET), Panjab University, Chandigarh welcomed Miss. Manika Sheokand, Miss India Grand 2020, alumnus of UICET, PU, of B.E. (Chemical)-MBA, 2018 batch who visited the department on Feb 17, 2021. She was welcomed and felicitated by the Prof. Amrit Pal Toor, Chairperson, Prof. Anupama Sharma, Dean Alumni Relations, Prof. V.R.Sinha, Dean of University Instructions, Prof. Rajesh Gill, Dean Research, Prof. Sanjay Kaushik, Dean College Development Council, faculty members, staff and research scholars. She was accompanied by her family members and friends. The programme was inaugurated with tree plantation by her to mark her presence in the department.

Miss. Manika shared her experiences in the department about how the department has helped her in moulding her personality and given her opportunities and her journey of becoming Miss India Grand 2020.

Prof. Anupama Sharma also offered her lifetime alumni membership of Panjab University. She said that it was a matter of immense pleasure and pride for the department as well as Panjab University that she would be representing India on the world stage.

https://propertyliquid.com

Parents, sister and other family members of Miss Manika also shared Manika’s childhood memories with the audience.

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

Around 85900 students took Online Exam by PU on Day 3

Chandigarh February 17, 2021

For Detailed News-

Dr. Jagat Bhushan, Controller of Examination informed that around 85900 students of Undergraduate/Post Graduate/Other Professional Courses including USOL/Private have appeared today on Day 3 of online examination conducted by Panjab University. He informed that total exams in Slot 1 and Slot 2 were 80 and 18 respectively. He further informed that all the exams conducted today, went off smoothly.

https://propertyliquid.com

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

Chandigarh shortlisted for stage II on Nation-wide Cycles4change challenge

For Detailed News-

Chandigarh, February 17:- Chandigarh has become one of the 25 cities in India shortlisted for the stage II of nation-wide Cycles4Change  Challenge, organised under the Smart Cities Mission of the Centre. About 107 cities participated in the challenge which aimed at making cities cycling friendly post-covid. Among the 107 cities 41 cities gave their proposal and strategy presentation for evaluation by the Minsitry of Housing and Urban Affairs.

Chandigarh Smart City Limited (CSCL) initiated strategic action plans based on three broad principals of social media engagement, community involvement and implementation of pilot intervention at Sukhna Lake and Sector 36 V4 road to promote cycling. Several activities have been taken up  in the city in the last 6 months such as free cycle repair workshop, online perception survey, pilot launch of Public Bicycle Sharing System, Cycle Rallies, Cycle themed photo and video competition, lighting of cycle tracks among other initiatives.

Chandigarh Smart City Limited (CSCL) has as well initiated the Draft Bicyling Plan for the city to be taken up by Healthy Street Cell and to be finalized by the Apex Committee headed by the Municipal Commissioner, Chandigarh. Now, the city is further preparing for second round to give a presentation to the jury to get selected among 11 cities which will receive a scale up support of Rs 1 crore,”.

https://propertyliquid.com

Notably, the CSCL has already constructed dedicated 200km-long cycle track in entire city and further will be constructing more such tracks to connect the periphery and the city industrial areas to boost last mile connectivity and NMT. Chandigarh is also gearing up for launch of its 1st phase of Public Bicyle Sharing System with 1250 bicycles at 155 docking stations spread across the city.

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

कुपोषण की रोकथाम के लिए आमजन का खान-पान के प्रति जागरूक होना जरूरी : एसडीएम दिलबाग सिंह

ऐलनाबाद, 17  फरवरी।

For Detailed News-


एसडीएम दिलबाग सिंह ने कहा कि कुपोषण की रोकथाम व इससे बचाव के लिए जन जागरूकता लाना जरूरी है। विशेष कर माताओं एवं बच्चों में होने वाले कुपोषण संबंधी समस्याओं से निपटने के लिए लोगों को जागरूक करना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि किसी भी स्वस्थ व सुदृढ समाज के लिए महिलाओं व बच्चों का स्वस्थ और तंदुरूस्त होना बहुत जरूरी है।


उन्होंने कहा कि कुपोषण की रोकथाम व अच्छे पोषण को बढावा देने के के उद्ेश्य से सरकार जहां विभिन्न योजनाएं क्रियान्वित कर रही है, वहीं समय-समय पर जागरूकता अभियान भी चला रही है। इसी कड़ी में महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से पोषण अभियान के तहत नाटक मंडलियों द्वारा गांव-गांव जाकर नाटक मंचन कर लोगों को स्वास्थ्य के साथ-साथ स्वच्छता को लेकर जागरूक किया जा रहा है।


एसडीएम ने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से नाटक मंडलियों द्वारा गांवों में नाटकों के माध्यम से महिलाओं एवं बच्चों में खून की कमी को दूर करने, पौष्टिïक भोजन के महत्व बारे जानकारी देने के साथ-साथ प्रदेश सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं बारे में अवगत करवाया जा रहा है। कलाकार नाटक के मध्यम से आमजन को विशेषकर महिलाओं को खान पान व स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही से होने वाली बीमारियों से  बचाव के तरीकों बारे जानकारी दे रहे हैं। इसके साथ ही पौष्टिïक आहार लेने व अच्छे स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहने का संदेश भी दिया जा रहा है। इसके अलावा आमजन को साफ-सफाई के महत्व के बारे में बताते हुए अपने घरों व आसपास में स्वच्छता का माहौल बनाए रखने की अपील की जा रही है, ताकि गंदगी से फैलने वाली बीमारियों पर रोकथाम लग सके।

https://propertyliquid.com


गांव मल्लेकां व गांव केशुपुरा में किया गया नाटक मंचन का आयोजन :


पोषण अभियान के तहत गांव मल्लेकां व गांव केशुपुरा में केएल थियेटर की नाटक मंडली ने खुबसूरती के साथ नाटक मंचन कर ग्रामीणों को संतुलित खान-पान के साथ-साथ स्वच्छता के महत्व को परिभाषित किया और लोगों को पौष्टिक आहार को अपने खान-पान में शामिल करने के लिए पेे्ररित किया। पोषण अभियान का उद्ेश्य लोगों को पोषाहार के बारे में अधिक से अधिक जागरूक करना है, ताकि कुपोषण को खत्म किया जा सके।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

जिला के 2 लाख 86 हजार से अधिक परिवारों के परिवार पहचान पत्र अपडेशन का कार्य पूरा : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 17 फरवरी।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि नागरिकों को विभिनन योजनाओं सुविधाओं का लाभ पारदर्शिता व सरलता से उपलब्ध करवाना प्रदेश सरकार की प्राथमिकता है। भविष्य में आमजन को सरकार की योजनाओं का लाभ परिवार पहचान पत्र के माध्यम से मिलेगा। इसके लिए जिला में परिवार पहचान पत्र बनाने के साथ-साथ अपडेशन का कार्य तेजी से किया जा रहा है। अबतक दो लाख 86 हजार 359 परिवारों का डाटा अपडेट किया जा चुका है। बड़ागुढा में 26 हजार 364, डबवाली में 48 हजार 182, ऐलनाबाद में 31 हजार 679, कालांवाली में 5487, नाथूसरी चौपटा में 39 हजार 63, रानियां में 38 हजार 345, सिरसा में 73 हजार 564 तथा ओढ़ां में 23 हजार 675 परिवारों का डाटा अपडेट किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि जल्द ही परिवार पहचान पत्र अपडेशन का कार्य शतप्रतिशत पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि भविष्य में परिवार पहचान पत्र के माध्यम से ही पात्र नागरिकों को योजनाओं व सुविधाओं का लाभ मिलेगा, इसलिए नागरिक अपना परिवार पहचान पत्र जरुर बनवाएं।


                    उन्होंने बताया कि नागरिक अपने नजदीकी कॉमन सर्विस सैंटर में जाकर परिवार पहचान पत्र निशुल्क बनवा सकते है। शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों में योजनाबद्ध तरीके से परिवार पहचान पत्र बनाए जा रहे हैं और जल्द ही शतप्रतिशत कार्य पूरा कर लिया जाएगा। उन्होंने बताया कि समय-समय पर परिवार पहचान पत्र बनाने के कार्य की समीक्षा की जा रही है और प्रदेश के मुख्यमंत्री स्वयं भी निगरानी रखे हुए हैं और साथ में इस कार्य की प्रगति फीडबैक भी लेते रहते हैं। इसके अलावा सरकारी अधिकारी व कर्मचारी स्वयं का परिवार पहचान पत्र बनाने के साथ-साथ आमजन को परिवार पहचान पत्र बनवाने के लिए जागरूक कर रहे हैं।

https://propertyliquid.com

यहां बनवाए जा सकते हैं परिवार पहचान पत्र :


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि कोई भी व्यक्ति सरल – अंत्योदय केंद्र, कॉमन सर्विस सैंटर, बीएलओ के माध्यम से परिवार पहचान पत्र बनवा सकता है। उन्होंने कहा कि कॉमन सर्विस सैंटर में परिवार पहचान पत्र में शुद्धिकरण या अपडेट करवाया जा सकता है, इसके लिए वोटर आईडी कार्ड, आधार कार्ड आदि दस्तावेज आवश्यक हैं। परिवार पहचान पत्र बनने से सरकार की विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ संबंधित व्यक्तियों को मिलना सुनिश्चित होगा। इसके अलावा सरकार की सभी योजनाओं का लाभ लेने के लिए परिवार पहचान पत्र देना अनिवार्य कर दिया गया है।

बुढापा, विधवा व दिव्यांग पेंशन का लाभ लेने के लिए परिवार पहचान पत्र अनिवार्य : डीएसडब्ल्यूओ


                    जिला समाज कल्याण अधिकारी नरेश बत्रा ने बताया कि सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग द्वारा बुढापा, विधवा व दिव्यांग पेंशन लाभार्थियों के लिए परिवार पहचान पत्र अनिवार्य कर दिया गया है। इसके अलावा विभाग की अन्य योजनाओं को भी परिवार पहचान पत्र से जोड़ा जा रहा है। उन्होंने जिला में विभाग द्वारा विभिन्न योजनाओं के तहत पेंशन प्राप्त कर रहे लाभार्थियों से आह्वïान किया है कि वे शीघ्र अपने परिवार पहचान पत्र बनवाना व अपडेट करवाना सुनिश्चित करें, ताकि उन्हें विभाग द्वारा पेंशन का लाभ मिलता रहे।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

वन स्टॉप सेंटर (सखी) : 256 पीडि़त महिलाओं को उपलब्ध करवाई सुविधाएं : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 17 फरवरी।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा है कि वन स्टॉप सेंटर (सखी) के माध्यम से घरेलू हिंसा तथा विभिन्न मामलों में पीडि़त महिलाओं को सुरक्षा के साथ-साथ कानूनी सहायता व सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही है। स्थानीय लघु सचिवालय स्थित आवासीय कॉलोनी बी-10 में बनाए गए वन स्टॉप सेंटर में वर्ष 2019 से लेकर अबतक विभिन्न मामलों में पीडि़त 256 महिलाओं को न केवल कानूनी सहायता व मार्गदर्शन किया गया बल्कि अस्थाई आश्रय व भोजन आदि सुविधाएं नि:शुल्क उपलब्ध करवाई गई है।


                    उपायुक्त ने बताया कि पीडि़त महिलाएं वन स्टॉप सेंटर की सुविधा लेने के लिए हेल्पलाइन नंबर 181 पर उत्पीडऩ के बारे में सूचना देकर सुविधाएं प्राप्त की जा सकती हैं। उन्होंने बताया कि योजना के तहत किसी भी प्रकार की हिंसा से पीडि़त महिलाओं को कानूनी सहायता, पुलिस सहायता, 5 दिन का अस्थाई आश्रय देना व खाना आदि सुविधाएं निशुल्क उपलब्ध करवाई जाती है। उन्होंने बताया कि योजना के तहत घरेलू हिंसा, मारपीट, दुष्कर्म, लैंगिक उत्पीडऩ, भावनात्मक उत्पीडऩ, बाल विवाह, महिला तस्करी, दहेज उत्पीडऩ, एसिड अटैक, साइबर क्राइम, लावारिस महिलाएं आदि को शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि वन स्टॉप सेंटर पीडि़त महिलाओं के लिए एक स्पोर्ट सिस्टम की तरह काम करता है और पीडि़त महिलाओं को आर्थिक, सामाजिक व मानसिक तौर पर सशक्त करने के लिए उनका मार्गदर्शन किया जाता है।

https://propertyliquid.com


                    महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी डा. दर्शना सिंह ने बताया कि वन स्टॉप सेंटर में पीडि़त महिलाओं को पुलिस मेडिकल कानूनी व मानसिक सहायता उपलब्ध करवाई जाती है। उनका कानूनी मार्गदर्शन करने के साथ-साथ काउंसलिंग करने का कार्य भी किया जाता है। वन स्टॉप सेंटर का उद्देश्य महिलाओं पर हो रही हिंसा से संरक्षण करना है जिससे महिलाएं खुद को सुरक्षित महसूस करते हुए कानूनी सहायता प्राप्त कर सकती हैं। उन्होंने बताया कि महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा महिलाओं को समय-समय पर गांव स्तर पर जागरुकता कार्यक्रमो ंके माध्यम से वन स्टॉप सेंटर में दी जा रही सुविधाओं के बारे में जानकारी दी जाती है।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

Day 2 of PU Online Exams

Chandigarh February 16, 2021

For Detailed News-

Dr. Jagat Bhushan, Controller of Examination informed that around 650 students of
Undergraduate/Post Graduate/Other Professional Courses including USOL/Private have
appeared today on Day 2 of online examination conducted by Panjab University. He
informed that total of 7 exams were conducted from 9.30 am to 12.30 pm in Slot and 6
exams  from 1.30pm-4.30 pm Slot. He further informed that all the exams conducted
today went off smoothly.

https://propertyliquid.com