PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

शहर को साफ सूथरा रखने में सफाई मित्रों का अहम योगदान-कुलभूषण गोयल

पंचकूला 20 जनवरी- नगर निगम पंचकूला के महापौर कुलभूषण गोयल ने सैक्टर 14 स्थित निगम कार्यालय के प्रांगण में सफाई कर्मचारियों को सफाई मित्र कार्यक्रम में कोविड -19 महामारी के मध्येनजर सुरक्षा किट वितरित किए। इस कार्यक्रम की अध्यक्षता निगम आयुक्त आर के सिंह ने की।

For Detailed News-


इस अवसर पर महापौर ने सफाई मित्रों का मनोबल बढाते हुए कहा कि शहर में सफाई व्यवस्था बनाए रखने में इनकी अहम भूमिका है। सफाई व्यवस्था बनाए रखने को लेकर किए जा रहे सार्थक प्रयासो से स्वच्छ भारत मिषन 2021 में पंचकूला अवश्य ही पहले स्थान पर आएगा। उन्होंने सफाई मित्र व निगम अधिकारियों को परामर्श देते हुए कहा कि स्वच्छता अभियान को जनआन्दोलन का रूप दें। क्योंकि जनता की भागीदारी के बिना किसी लक्ष्य को हासिल नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा कि जनता की भागीदारी आवश्यक है तभी वांछित मुकाम हासिल किया जा सकता है।


उन्होंने कहा कि जिला के गांव झुरीवाला में ठोस कचरा प्रबंधन प्लांट लगाने का कार्य किया जा रहा है। इसके टैण्डर लगाए गए हैं। इसे प्राथमिकता के आधार पर पूरा कर शीघ्र ही कचरा प्रबंधन कार्य आरम्भ किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सैक्टर 23 के डम्पिंग ग्राउण्ड से प्रतिदिन 600 टन कूड़ा कचरा साफ किया जा रहा है। इस प्रकार कचरे को समाप्त कर शीघ्र ही इस स्थान भव्य एवं सुन्दर पार्क का निर्माण किया जाएगा।
इस मौके पर निगम आयुक्त आर के सिंह ने कहा कि भारत सरकार द्वारा सफाई सुरक्षा चैलंेजर 19 योजना नवम्बर माह से लागू की गई है। इसकेे अलावा नागरिक सुरक्षा टोल फ्री नम्बर लागू करने दिशा में पंचकूला नगर निगम देश के 12 शहरों मे पहले स्थान पर है। आगामी 15 अगस्त तक इसके सार्थक परिणाम सामने आएगें। उन्होंने आशा व्यक्त की कि हम सभी के सहयोग से निगम को बेहतर बनाने का कार्य करेंगें।

https://propertyliquid.com


इस मौके पर नगर निगम के उप नगर आयुक्त दीपक सूरा, कार्यकारी अधिकारी जनरैल सिंह, कार्यकारी अभियंता अंकित लोहान, संजीव गुप्ता, एसडीओ आर के शर्मा, मुख्य सफाई निरीक्षक साधु राम सहित कई अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।

PINK OF HEALTH ' WITH " PINATHON "

FDP on ‘Effective Communication in Digital Era’ concludes

Chandigarh January 20, 2021

“Effective Communication involves Consciousness” Prof. Nandita Singh

“Communication shapes your persona, requires logic and precision” Prof. Tomar

The seven day online Faculty Development Program on the theme ‘Effective Communication in the Digital Era’ organized by HRDC, Panjab University concluded today. The course was attended by 36 participants representing 22  disciplines including sciences, social sciences, humanities and eight states including Himachal Pradesh, Punjab, Haryana, Karnataka, Assam, Rajasthan, Madhya Pradesh, Rajasthan and Chandigarh. Prof. Nandita Singh, from Dept of Education, PU was the key note speaker and Prof. S.K. Tomar, honorary Director, HRDC, PU was the chief guest for the occasion.

For Detailed News-

Prof. Tomar spoke about the significance of effective communication as he compared communication to the respiratory system essential for human survival. He also pointed out the importance of precision and logic in making communication effective. Prof. Singh brought in the component of consciousness in making communication effective in the digital era. Recipient of the Heartfulness Educator Award 2020, Prof. Singh explained how mind and heart play a significant role in making communication effective in this digital era. Dr. Bhavneet Bhatti, Course Coordinator and Assistant Professor, School of Communication Studies, presented the report of the FDP and informed that 20 resource persons from various parts of the country and abroad conducted sessions on diverse aspects of effective digital communications. These included sessions on digital communication skills, fact checking in the digital content, online tools for digital classrooms, Digital storytelling, Media and Empathy, Digital Era and Mental Health to name a few. Prof. Jayanti Dutta, Deputy Director, HRDC, PU spoke to the participants about the challenges and advantages of online training programs.

https://propertyliquid.com

The valedictory session of the program also saw participants presenting their feedback for the program.

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

Alumni Re-lived Old Memories at U.I.F.T. Virtual ‘Reconnect’

Chandigarh January 20, 2021

For Detailed News-

Nearly 70 Alumni of the University Institute of Fashion Technology & Vocational Development (UIFT & VD), Panjab University participated in the first of its kind Virtual “Reconnect 2021” Meet hosted by the institute.

Two former students, Surbhi Singla, a leading model who has walked the ramp for leading brands and fashion designers, and Anupreet Sidhu, who runs her fashion label ‘Sidhuji’, were awarded at the virtual Meet. 

“It is due to all teachers’ support that I reached this position. Sometimes I had to miss classes to walk the ramp or to receive an award; it was because the UIFT family understood me that I could do something,” said Surbhi. 

Manisha Dhiman, a budding entrepreneur who has launched her own handicrafts’ brand, ‘Kalakari,’ was also a part of the Reconnect, where she shared her success story. “I wanted to make crafts merchandise that was durable. Other handicrafts that I used to see had this aspect missing. I began taking feedback of my first products from hostel friends and department faculty,” she said. Margee Sharma, an upcoming blogger who has worked with leading brands, was also a part of the Meet and shared her journey. 

https://propertyliquid.com

Dr. Anu H. Gupta, Chairperson UIFT & VD  warmly welcomed the former students and was reminiscent of the old days. “We had a humble beginning of U.I.F.T. with just five rooms in the old building. Gradually with the support of university administration, the alumni, faculty, and students, we have progressed leaps and bounds. We have hosted national and international events, and we aim to set higher benchmarks,” she said. 

‘Reconnect’ Convenor Dr. Rita Kant took friendly feedback from the alumni on their current pursuits and plans. “It is a great feeling to see the former students’ back-all on one platform. I am sure this Reconnect will benefit the institute in many ways,” she added. 

A novel initiative was announced at the ‘Reconnect 2021’ by the Chairperson- to commence a special lecture series-cum-regular interaction of ‘Alumni’ with the department’s current students.

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

DOCTORS AT FORTIS HOSPITAL, MOHALI SAVE A SEPTUAGENARIAN PATIENT FROM A DEADLY STROKE

Mandi, January 20

For Detailed News-

Stroke is one of the most common causes of mortality and handicap in the elderly population but miracles do happen: Dr. Amit Shankar Singh

A 73-year elderly male patient Mr. Gian Chand from Mandi district of Himachal Pradesh (HP) reached Fortis Hospital Mohali with a history of headache for the last 4 days and inability to speak since morning. The patient was evaluated in detail by Associate Consultant Neurology, Fortis Hospital, Mohali Dr. Amit Shankar Singh. On diagnosis, it was found that the patient had Aphasia (inability to speak), right facial weakness, and right-sided Hemiparesis (Paralysis).

Dr. Amit immediately ordered a CT Scan of the Head, which showed a large haemorrhagic infarction (both bleeding and clotting) in the left front parietal region of the brain. Swelling around the affected area was causing the mid-line to shift into another side of the brain. This was an unusual type of stroke, as it was showing both clots and bleeding in the brain. Because of the large size of this lesion, the condition of the patient worsened very fast and he became unconscious and started having fits. The patient was immediately put on a ventilator, shifted to Neuro-ICU, and put on medications to decrease swelling.

To find out the exact cause and nature of the disease, a brain MRI with MR Venography was done. According to Dr. Amit, such large infarctions with haemorrhage are not that common in most patients and patients can be saved even without surgery also, if the cause is diagnosed. In this patient, Brain MRI showed venous infarction along with thrombosis (blockage) in the left transverse and sigmoid sinus, and hence there was an obstruction in veins (vessels taking blood from the brain back to the heart), rather than arteries (which bring blood from heart to brain).

Arterial clots are common and very dangerous, whether it’s brain or heart. In the heart, they cause heart attacks and in the brain, they commonly cause brain attack or brain stroke. But venous infarctions are also now recognized commonly and they can be managed if rightly diagnosed and treated timely with appropriate medications.

https://propertyliquid.com

Based on these findings, the patient was immediately put on anti-coagulants (the drugs which dissolve clots in veins of the brain very effectively), along with medications to control fits besides medications to decrease swelling in the brain. With this treatment, the patient responded well. Slowly, his fits were brought under control, he became conscious and movements of his right side of the body also started. Repeat brain imaging showed a decrease in the mid-line shift, decrease in swelling of the brain. The patient was tracheotomised and finally taken off the ventilator. His weakness also improved gradually and was discharged on medications with few tubes to assist feeding and urination.

After one month, what seemed a pure miracle was that the patient came in OPD walking on his own. He was able to eat and speak properly after his tracheostomy was removed. Dr. Amit told that the patient’s family members were very happy, especially the granddaughter, who herself is in the medical profession, as she never thought that his grandfather will recover completely without going through any major handicap. According to Dr. Amit, such cases give hope to all of us that patients with stroke can be revived, if taken care of on time, and also the right diagnosis is of the foremost importance.

It is worth mentioning that Dr. Amit Shankar Singh is a well-known neurologist from Tricity, trained in very reputed institutes of India. He had his thesis on Stroke and has a special interest in Stroke Management. In Fortis Hospital, Stroke Management is at the topmost level. All recent advances in the Management of Stroke are available in Fortis Hospital Mohali, with well-trained doctors.

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

लॉजिस्टिक हब क्षेत्र के चहुंमुखी विकास और रोजगार के लिए मील का पत्थर साबित होगा – दुष्यंत चौटाला

– दक्षिण हरियाणा में विकास एवं रोजगार के खुलेंगे नए द्वार

– डिप्टी सीएम ने महेंद्रगढ़ में मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब के निर्माण को लेकर की समीक्षा

– संबंधित अधिकारियों को तय समय सीमा में कार्य शुरू करने के दिए निर्देश

चंडीगढ़, 20 जनवरी। दक्षिणी हरियाणा में विकास व रोजगार के नए द्वार खोलने की दिशा में राज्य सरकार ने तेजी से कार्य करना शुरू कर दिया है। इसी कड़ी में बुधवार को प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने महेंद्रगढ़ जिला के नांगल चौधरी में प्रस्तावित उत्तर भारत के बड़े मल्टी मॉडल लॉजिस्टिक हब के निर्माण कार्य शुरू करने बारे अधिकारियों के साथ मंथन किया और आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

For Detailed News-

डिप्टी सीएम (जिनके पास उद्योग एवं वाणिज्य विभाग का प्रभार भी है) ने इस लॉजिस्टिक हब  के निर्माण कार्यों से संबंधित बिजली विभाग, जनस्वास्थ्य एवं अभियांत्रिकी विभाग, सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग, लोक निर्माण (भवन एवं सड़के) विभाग के अलावा हरियाणा राज्य औद्योगिक एवं बुनियादी ढांचा विकास निगम के आला अधिकारियों के साथ हब की तैयारियों की समीक्षा बैठक की। उन्होंने उक्त सभी विभागों के प्रस्तावित निर्माण कार्य का नक्शे के माध्यम से अवलोकन किया तथा बारीकी से अध्ययन करने के बाद अधिकारियों को टाइम-लाइन देते हुए उस अवधि में सभी औपचारिकताएं पूरी कर कार्य शुरू करने के निर्देश दिए।

दुष्यंत चौटाला ने समीक्षा बैठक के बाद बताया कि नांगल चौधरी में इस लॉजिस्टिक हब के खुलने से दक्षिणी हरियाणा में पहली बार मल्टीनेशनल कंपनियों का आगमन होगा और महेंद्रगढ़ जिला के लिए राजस्व का हिस्सा भी बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि यह हब क्षेत्र के चहुंमुखी विकास एवं रोजगार के लिए मील का पत्थर सिद्ध होगा।

https://propertyliquid.com

उपमुख्यमंत्री ने बताया कि इस लॉजिस्टिक हब को दिल्ली-मुंबई डेडिकेटेड रेल फ्रेट कॉरिडोर का भी लाभ मिलेगा। उन्होंने बताया कि कंपनियों के लिए कच्चा माल लाने और तैयार माल ले जाने में कॉरिडोर अहम भूमिका निभाएगा। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि दिल्ली-मुंबई के बीच कंटेनर के माध्यम से लाने या ले जाने वाले सामान को यहां पर उतारा या चढ़ाया जा सकेगा।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

आईटीआई के नाकारा वस्तुओं की 23 जनवरी को होगी नीलामी

सिरसा, 20 जनवरी।


              राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (महिला) द्वारा 23 जनवरी को संस्थान के नाकारा वस्तुओं की नीलामी की जाएगी। नीलामी की शर्तें मौके पर ही सुना दी जाएगी। इच्छुक बोलीदाता दो हजार रुपये प्रतिभूति राशि के रुप में जमा करवा कर नीलामी में भाग ले सकते हैं।

For Detailed News-


             यह जानकारी देते हुए राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (महिला) के प्रधानाचार्य हरीश ने बताया कि संस्थान की नाकारा वस्तुओं जिनमें सिलाई मशीन, मशीन स्टैंड, यूपीएस, कुर्सियां, पाईप पीड़ी, ग्रीन बोर्ड आदि शामिल हैं, की निलामी 23 जनवरी को प्रात: 11 बजे संस्थान के प्रांगण में होगी। उन्होंने बताया कि इच्छुक बोलीदाता को दो हजार रुपये की प्रतिभूति राशि जमा करवानी होगी। बोलीदाता के असफल होने पर यह राशि उसी समय वापिस कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि बोली को रद्द करने का सर्वाधिकार सुरक्षित होगा। नीलामी संबंधी व सामान के निरीक्षण के लिए राजकीय  औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (महिला) सिरसा में किसी भी कार्य दिवस प्रात: 10 से सांय 4 बजे तक कार्यालय में सम्पर्क किया जा सकता है।

https://propertyliquid.com

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

बच्चों के सपनों को ऑनलाइन राज्य स्तरीय बाल महोत्सव के माध्यम से साकार कर रही परिषद : बिजली मंत्री रणजीत सिंह

चंडीगढ, 20 जनवरी।

– ऑनलाइन राज्य स्तरीय बाल महोत्सव में बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने मुख्य अतिथि के रूप में की शिरकत
– ऑनलाइन राज्य स्तरीय बाल महोत्सव में 5 लाख बच्चों के शिरकत करने को बताया ऐतिहासिक
– मानद महासचिव कृष्ण ढुल ने स्मृति चिन्ह देकर किया सम्मानित
– बाल कल्याण परिषद की गतिविधियों के लिए स्वैछिक कोष से 5 लाख देने की घोषणा की


              हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा आयोजित राज्यस्तरीय ऑनलाइन बाल महोत्सव में तीसरे दिन के दोपहर के सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने शिरकत की। उन्होंने ऑनलाइन राज्य स्तरीय बाल महोत्सव की प्रस्तुतियां देख बच्चों की प्रतिभा की सराहना की। हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय बाल महोत्सव में लगभग 5  लाख बच्चों के प्रतिभागिता करने को ऐतिहासिक एवं स्वर्णिम उपलब्धि बताया।

For Detailed News-


              बिजली मंत्री रणजीत सिंह ने कहा कि परिषद् द्वारा बाल कल्याण के लिए किए जा रहे कार्य बेहद सराहनीय है। इसके लिए उन्होंने मानद महासचिव कृष्ण ढुल को शुभकामनाएं दी। उन्होंने बाल कल्याण की गतिविधियों के लिए अपने कोष से 5 लाख देने की घोषणा की। हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद के मानद महासचिव कृष्ण ढुल ने कार्यक्रम के मुख्य अतिथि रणजीत सिंह का कार्यक्रम में शिरकत करने के लिए आभार व्यक्त करते हुए उन्हें स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

https://propertyliquid.com


              मानद महासचिव कृष्ण ढुल ने कहा कि हरियाणा राज्य बाल कल्याण परिषद बाल कल्याण की गतिविधियों को लेकर पूरी प्रतिबद्धता के साथ कार्य कर रही है। परिषद् भविष्य में भी बच्चों को इसी प्रकार बड़ा मंच उपलब्ध करवाती रहेगी ताकि बच्चों के सपनों को इसी प्रकार उड़ान मिलती रहे।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

उद्योग आधार मैमोरेंडम पंजीकरण होगा रद्ïद, उद्यमी ऑनलाईन करवाएं रजिस्ट्रेशन : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 20 जनवरी।


              उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि केंद्र हरियाणा सरकार द्वारा उद्यमियों को प्रोत्साहन देने के लिए अनेक योजनाएं क्रियांवित की जा रही है। योजनाओं का पारदर्शी एवं सीधे लाभ देने के लिए अब एमएसएमई के लिए ऑनलाइन पंजीकरण करवाना अनिवार्य किया गया है। जिला के सभी उद्यमी अपना ऑनलाइन पंजीकरण करवाएं, ताकि उन्हें योजनाओं का लाभ मिल सके।

For Detailed News-


              उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार द्वारा एक जुलाई, 2020 से ऑनलाइन उद्यम पंजीकरण शुरु किया जा चुका है। उद्यमी अपना पंजीकरण उद्यम रजिस्ट्रेशन डॉट जीओवी डॉट इन (www.udyamregistration.gov.in) पर कर सकते हैं। इसी कड़ी में हरियाणा सरकार द्वारा उद्यमियों को विशिष्ट पहचान व लाभ देने के उद्ïेश्य से पांच जून, 2020 से हरियाणा उद्यम मेमोरेंडम का ऑनलाईन पंजीकरण शुरू किया जा चुका है। इसके लिए हरउदय डॉट ईदिशा डॉट जीओवी डॉट इन (harudhyam.edisha.gov.in) पोर्टल पर पंजीकरण कर सकते है। भारत सरकार के सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम (एमएसएमई) मंत्रालय द्वारा ऑनलाईन माध्यम से किया जाने वाला उद्योग आधार मैमोरेंडम का पंजीकरण आगामी 31 मार्च, 2021 से रद्द हो जाएगा।

https://propertyliquid.com


हरियाणा उद्यम एवं रोजगार पॉलिसी 2020 :


              उप निदेशक जिला उद्योग केंद्र ज्ञान चंद लांग्याण ने हरियाणा उद्यम एवं रोजगार पॉलिसी 2020 के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा एक जनवरी, 2021 से हरियाणा उद्यम एवं रोजगार पॉलिसी 2020 लागू हो चुकी है। नई उद्यम एवं रोजगार पॉलिसी में विभिन्न नए प्रावधानों को रखा गया है, जिसमें रोजगार सृजन सब्सिडी, सावधि ऋण पर ब्याज सब्सिडी, नेट एसजीएसटी पर निवेश सब्सिडी, बिजली शुल्क छूट, उत्पाद शुल्क पर छूट, प्रौद्योगिकी उन्नयन के लिए राज्य क्रेडट लिंक्ड ब्याज सब्सिडी, सुफर्ति योजना, स्टाम्प ड्यूटी में छूट, विद्युत शुल्क सब्सिडी, डीसी सैट सब्सिडी, परीक्षण उपकरण सब्सिडी, माल ढुलाई सहायता, राज्य मिनी क्लस्टर और स्टार्ट अप हरियाणा  ग्रामीण औद्योगिक विकास योजना आदि शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इन प्रावधानों का लाभ लेने के लिए उद्यमी ऑनलाइन हरियाणाइंडस्ट्रीज डॉट जीओवी डॉट इन / इनवेस्ट हरियाणा डॉट इन (www.haryanaindustries.gov.in/investharyana.in) पर आवेदन कर सकते हैं। इसके अलावा अधिक जानकारी के लिए स्थानीय लघु सचिवालय स्थित कार्यालय जिला उद्योग केन्द्र, सिरसा कार्यालय में सम्पर्क कर सकते हैं।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

कोविड-19 : आरटी-पीसीआर टेस्ट रेट में बदलाव, 499 रुपये में होगा कोरोना टैस्ट : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 20 जनवरी।

For Detailed News-


              उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि हरियाणा सरकार द्वारा प्राइवेट लैब्स के लिए रिवर्स ट्रांसक्रिप्शन- पॉलीमरेज चेन रिएक्शन और रैपिड एंटीजेन टेस्ट की दर को 499 रुपये कर दिया है। वहीं, घर पर टेस्ट करने के लिए 699 रुपये दर निर्धारित की गई है। उन्होंने बताया कि अब सभी प्राइवेट लैब व अस्पताल में उक्त निर्धारित रेटों पर ही कोविड-19 का आरटी-पीसीआर टैस्ट किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस संबंध में अतिरिक्त मुख्य सचिव, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग, हरियाणा द्वारा आदेश जारी किए गए हैं।

https://propertyliquid.com