प्रधान सचिव आनन्द मोहन शरण बरवाला के शैल्टर होम का मुआयना कर जानकारी लेते हुए।

श्री पारसमणि सिद्धेश्वर महादेव, सेक्टर 10, पंचकूला

News 7 World:

Panchkula:

श्री पारसमणि सिद्धेश्वर महादेव, सेक्टर 10, पंचकूला

स्वामी जी के महाप्रयाण दिवस के उपलक्ष में

पूजन एवं अखंड रामयण पाठ प्रारम्भ

इस पावन अवसर पर उपस्थित होकर धर्म लाभ की प्राप्ति की!

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

प्रधान सचिव आनन्द मोहन शरण बरवाला के शैल्टर होम का मुआयना कर जानकारी लेते हुए।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल 10 जनवरी, 2020 को पंचकूला में “महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा” विषय पर आयोजित किए जा रहे दो दिवसीय सम्मेलन के समापन दिवस अवसर पर उद्घाटन सत्र को संबोधित करेगें।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल 10 जनवरी, 2020 को पंचकूला में “महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा” विषय पर आयोजित किए जा रहे दो दिवसीय सम्मेलन के समापन दिवस अवसर पर उद्घाटन सत्र को संबोधित करेगें।

पंचकूला, 9 जनवरी – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल 10 जनवरी, 2020 को पंचकूला में “महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा” विषय पर आयोजित किए जा रहे दो दिवसीय सम्मेलन के समापन दिवस अवसर पर उद्घाटन सत्र को संबोधित करेगें।


पुलिस विभाग के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन हरियाणा पुलिस, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो और भारतीय पुलिस फाउंडेशन संस्थान (आईपीएफआई) द्वारा संयुक्त रूप से किया जा रहा है।


उन्होंने कहा कि अतिरिक्त मुख्य सचिव, गृह, श्री विजय वर्धन शाम 4 बजे कार्यक्रम के समापन सत्र की अध्यक्षता करेंगे। सम्मेलन के समापन दिवस पर हरियाणा सरकार के विभिन्न विभागों, पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो और आईपीएफआई के अधिकारियों के प्रतिनिधियों के साथ अन्य लोग भी शामिल होंगे।


समापन दिवस पर हरियाणा पुलिस द्वारा की गई ‘‘महिला सुरक्षा और अधिकारिता पहल‘‘ पर एक प्रदर्शनी दिखाई जाएगी। पांच कार्य समूहों, जिन्होंने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श किया, वे अपने निष्कर्ष को उपस्थित विभिन्न क्षेत्रों के लोगो के समक्ष प्रस्तुत करेंगे, ताकि इन सुझावों को अंतिम रूप दिया जा सके।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

प्रधान सचिव आनन्द मोहन शरण बरवाला के शैल्टर होम का मुआयना कर जानकारी लेते हुए।

“महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा” विषय पर दो दिवसीय सम्मेलन की शुरुआत

पंचकुला, 9 जनवरी – हरियाणा पुलिस द्वारा पुलिस अनुसंधान एवं विकास ब्यूरो व इंडियन पुलिस फाउंडेशन इंस्टीट्यूट (आईपीएफआई) के सहयोग से आज पंचकुला के सेक्टर -1 स्थित पीडब्ल्यूडी रेस्ट हाउस में “महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा” विषय पर दो दिवसीय सम्मेलन की शुरुआत की गई।


सम्मेलन के प्रथम दिन, पुलिस और सिविल अधिकारियों, शिक्षाविदों, सामाजिक कार्यकर्ताओं, न्यायपालिका और कानून अधिकारियों, शोधकर्ताओं, गैर सरकारी संगठन के सदस्यों, महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों के पांच विशेष कार्य समूहों द्वारा मंत्रणा की गई ताकि महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों पर विचार-विमर्श कर भविष्य की रणनीतियों को अपनाने के लिए कार्ययोजना तैयार की जा सके।


पुलिस महानिदेशक हरियाणा, श्री मनोज यादव और आईपीएफआई के अध्यक्ष श्री एन0 रामचंद्रन ने समूहों को संबोधित किया।


अपने उद्घाटन भाषण में, पुलिस महानिदेशक श्री मनोज यादव ने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा को हरियाणा पुलिस की सर्वोच्च प्राथमिकता बताते हुए कहा कि इस दिशा में राज्य सरकार द्वारा कई पहल की गई हैं। हरियाणा को महिलाओं के लिए एक सुरक्षित स्थान बनाने के लिए राज्य में 30 से अधिक महिला पुलिस थाने स्थापित किए गए हैं। इसके अतिरिक्त, दुर्गा शक्ति ऐप, महिला हेल्पलाइन, पुलिस स्टेशनों पर महिला हेल्प डेस्क की भी शुरुआत की गई है।


डीजीपी ने अनुसंधान और क्षमता निर्माण के माध्यम से पुलिसिंग में सुधार के लिए आईपीएफआई के योगदान की भी सराहना की। उन्होंने विश्वास व्यक्त किया कि यह सम्मेलन महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए पूरे देश में पुलिस द्वारा किए जा रहे प्रयासों में एक मील का पत्थर साबित होगा।


इस अवसर पर बोलते हुए आईपीएफआई, अध्यक्ष श्री एन0 रामचंद्रन ने पंचकूला में इस महत्वपूर्ण विषय पर सम्मेलन आयोजित करने के लिए डीजीपी, हरियाणा और उनकी समस्त टीम को धन्यवाद व्यक्त किया। उन्होने कहा कि कई राज्यों में पुलिस ने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए अनेक योजनाएं शुरू की हैं और यह प्रसन्नता का विषय है कि हरियाणा भी उनमें से एक है। उन्होंने संपूर्ण आपराधिक न्याय प्रणाली के सुधार की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि महिलाओं और बच्चों के खिलाफ हिंसा पर जमीनी हकीकत का एक देशव्यापी मानचित्रण किया जाना चाहिए। इसके अतिरिक्त, पेशेवर जांच के लिए पुलिस अधिकारियों में स्पेशल प्रोफेशनल सकिल भी विकसित की जानी चाहिए।


सम्मेलन में सार्वजनिक और निजी स्थान पर महिलाओं का उत्पीड़न, ऑनलाइन यौन उत्पीड़न और हिंसा, साइबर स्टाकिंग, मानव तस्करी, नैतिक मूल्यों की शिक्षा के बारे में जागरूकता जैसे अन्य अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों पर भी विचार-विमर्श किया गया।


सम्मेलन में श्रीमती विमला मेहरा, आईपीएस (सेवानिवृत्त), सीपी पंचकूला, श्री सौरभ सिंह, आईजी करनाल रेंज, श्रीमती भारती अरोड़ा, आईजी चारू बाली, एसपी क्राइस्ट अगेंस्ट वुमन, श्रीमती मनीषा चाौधरी, विभिन्न जिलों के एसपी, गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधि, शैक्षिक विद्वानों, छात्रों और नागरिक हितधारकों ने भी भागेदारी की।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

प्रधान सचिव आनन्द मोहन शरण बरवाला के शैल्टर होम का मुआयना कर जानकारी लेते हुए।

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चन्द्र गुप्ता मनसा देवी काम्पलैक्स सैक्टर 6 में आयोजित खुले दरबार मेें जनता की समस्याओं को सुनते हुए।

पंचकूला,9 जनवरी- हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञान चन्द्र गुप्ता की अध्यक्षता में मनसा देवी काम्पलैक्स सैक्टर 6 में आयोजित खुले दरबार मेें कुल 69 शिकायतों की सुनवाई हुई। इन शिकायतों में बिजली, पानी, सीवरेज, कानून व्यवस्था व आवरा पशुओं से संबधित समस्याएं थी। इस अवसर पर अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि ये महज शिकायतें नहीं है बल्कि जनता द्वारी भोगी जाने वाली तकलीफें और इन तकलीफों को हमें जल्द से जल्द सुलझाना है। इन तकलीफों को मानवीय संवेदनाओं के साथ समझ कर इनका ईलाज करना है।


इंदिरा कालोनी व राजीव कालोनी में नशे की समस्या को देखकर उन्होने कड़े तेवर अपनाते हुए अधिकारियों से कमेटी से तुरंत इस पर एक्शन लेने को कहा। स्पीकर ने कहा कि वे किसी भी हालत में पंचकूला में नशे को पांव नहीं पसारने देंगें। राजीव कालोनी में पीने के पानी की आपूर्ति में गंदा पानी आने और पानी पीकर निवासियों के बीमार होने की शिकायत पर उन्होंने अधिकारियों को तुरन्त प्रभाव से लीकेज को दुरूस्त करने के निर्देश दिए। राजीव कालोनी मेें ही स्कूली बच्चियों से छेड़खानी की शिकायत को उन्होंने गंभीरता से लिया और पुलिस अधिकारियों को बच्चियों की सुरक्षा पुख्ता करने के निर्देश दिए। इसी कालोनी में बिजली के करंट से होने वाले खतरे से निबटने के लिए श्री गुप्ता ने निर्देश देते हुए कहा कि वे किसी भी लापरवाही को बिल्कुल भी सहन नहीं करेंगें।


भैसं का टिब्बा क्षे़़त्र में सरकारी जमीन पर झुग्गी होने की शिकायत पर उन्होंने कहा कि सरकारी जमीन पर किसी का भी नाजायज कब्जा नहीं होने दिया जाएगा और जिसके पास कागजात पूरे हों उन्हें किसी भी प्रकार तंग नहीं किया जाएगा। भैंस का टिब्बा क्षेत्र से ही राशन के डिपो पर नाजायज तंग करने पर उन्होंने जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक को इसकी जांच कर व्यवस्था को दुरूस्त करने के निर्देश दिए।


अध्यक्ष ने अपने संबोधन में कहा कि विकास के लिए पैसे की कोई कमी नहीं है। अधिकारी परियोजना बनाकर लाएं। पार्कों में झूले और जिम की व्यवस्था के लिए पर्याप्त बजट है। उन्होने एमडीसी 5-6-4 को सैक्टरों में परिवर्तित करने के बारे में आएडब्लूए व अन्य निवासियों से सुझाव से भी मांगे। उन्होंने कहा कि यह तीसरा खुला दरबार था । इससे पूर्व के दरबारों में आने वाली समस्याओं का समाधान हुआ है और जो समस्याएं अभी रह गई हैं उनके समाधान के लिए उन्होंने अधिकारियों को निर्देश भी दिए। उन्होने जनता को आश्वासन दिया कि पहले के दो खुले दरबारो की एक्शन टेकन रिर्पोट जांची जाएगी।


इस दरबार में जिला उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा, नगर निगम आयुक्त सुमेधा कटारिया, अतिरिक्त उपायुक्त मनिता मलिक, एसडीएम पंचकूला धीरज चहल, नगराधीश सुशील कुमार नगर निगम के संयुक्त आयुक्त दिलबाग सिंह व अन्य विभागों के संबधित अधिकारी उपस्थित थे।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

प्रधान सचिव आनन्द मोहन शरण बरवाला के शैल्टर होम का मुआयना कर जानकारी लेते हुए।

लाखों रुपयों की नशीली ट्रामाडोल गोलियों के साथ दो काबू

लाखों रुपयों की नशीली ट्रामाडोल गोलियों के साथ दो काबू

सिरसा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉ. अरुण सिंह के नेतृत्व में जिलाभर में नशा तस्करों के  खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत कार्रवाई करते हुए सीआईए सिरसा पुलिस ने गश्त व चैकिंग के दौरान रेलवे स्टेशन सिरसा के नजदीक से दो युवकों के कब्जा से लाखों रुपये कीमत की नशीली ट्रामाडोल गोलियों के साथ काबू किया है। आरोपियों की पहचान करनैल सिंह उर्फ कैलू पुत्र बंता सिंह निवासी गांव वनावन जिला अलवर (राजस्थान) व सोनू पुत्र महेंद्र सिंह निवासी मंडापुर जिला अलवर (राजस्थान) के रूप में हुई है। पुलिस ने आरोपियों से सप्लायर के बारे में पता करके आरोपियों व सप्लायर के खिलाफ थाना सिविल लाइन सिरसा में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज कर सप्लायर की तलाश शुरू कर दी है। सीआईए इंचार्ज रविंद्र कुमार ने बताया कि एक पुलिस टीम एएसआई तरसेम सिंह के नेतृत्व में गश्त के दौरान पुरानी कचहरी रोड पर रेलवे पार्क के नजदीक मौजूद थी कि लालबती चौक की तरफ से दो नौजवान लड़के बैग लिए आते दिखाई दिए जो दोनों युवक सीआईए की टीम को देखकर वापिस मुड़कर भागने की कोशिश करने लगे तो सीआईए टीम ने तत्परता से कारवाई करते हुए दोनों नशा तस्करों को बैग सहित काबू कर लिया। सीआईए टीम ने मौका पर राजपत्रित अधिकारी रामकुमार एसडीओ पंचायती राज अधिकारी सिरसा को बुलाकर बैग की तलाशी ली तो बैग से 61 डिब्बे कुल 12,200 नशीली ट्रामाडोल गोलियां बरामद हुई। आरोपियों से सप्लायरों के बारे में नाम पता मालूम कर चार लोगों के खिलाफ थाना सिविल लाइन सिरसा मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज किया गया है। पकड़ी गई नशीली गोलीयों की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में करीब 2.25 लाख रुपये आंकी गई है। आरोपियों द्वारा नशीली गोलियों की सप्लाई सिरसा व कालांवाली क्षेत्र में की जानी थी।

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!

प्रधान सचिव आनन्द मोहन शरण बरवाला के शैल्टर होम का मुआयना कर जानकारी लेते हुए।

Indira Gandhi National Open University (IGNOU) Launches Four New Programmes

Indira Gandhi National Open University (IGNOU) Launches Four New Programmes

Indira Gandhi National Open University (IGNOU) had launchers four new programmes from January 2020, session which include Diploma in Event Management, Diploma in Modern Office Practice, Post Graduate Diploma in Environmental and Occupational Health and Post Graduate Diploma in Sustainability Science.

Dr. Anil K. Dimri, Regional Director, IGNOU Regional Centre Chandigarh informed that for admission in Diploma in Event Management the minimum eligibility is 10+2 in any stream. The Programme is highly beneficially for those seeking employment in event management industry. Through this programme one can get employment in organized and unorganized sectors and corporate events such as brand launching, dealers meeting, seminars etc. This program is also useful for those engaged in organization of wedding events, birthday parties, festivals, fairs, anniversary celebration, regional events, local sports, digital events for rural market, festivals and government events. The fee for this programme is Rs. 8000/-.

The eligibility for Diploma in Modern Office Practice is 10+2 and the programme is presently available in English medium. The objective of this programme is to develop competency of learners in communication skills, proficiency in stenography skills, competency in handling of office machines, to operate PC on window operating system and how to manage office filing and indexing office, management methods and inventory control. The programme fee is Rs. 6000/-. This programme is very useful for personal assistant, private secretary, stenographer, office manager, office executive, executive assistant, front event executive, data entry operators, computer operators and those engaged in self employment.

The eligibility for Post Graduate Diploma in Environmental and Occupational Health is 10+2 with science stream and the objective of this program is to make applicants aware about physical, chemical and biological hazards, Environmental hazards in human health, identify the equipment hazards and also manage the hazards efficiently. It also discusses policies, laws, standards management techniques and application in different occupational setups.

Post Graduate Diploma in Sustainability Sciences is available for under-graduate and this programme is innovative in nature and useful for those who are interested to understand the issues pertaining the sustainability. This programme develops the applicants competency in project formation, implementation, monitoring and evaluation. The programme fee is Rs. 6200/-. After pursuing this programme, there are employment opportunity as programme experts, sustainability experts and sustainability analysts.

IGNOU is also planning to launch MSc in Environmental Science from July 2020 session. In this programme the learners will be familiar with various issues pertaining to the environment which include its physical, chemical and biological process. The programme will also provide exposure to the learners about waste management, climate change and resource management. The programme is blended with the component of theory and practical.

For more information about the Programmes applicants can visit IGNOU website http://www.ignou.ac.in/ or IGNOU Regional Center Chandigarh website http://rcchandigarh.ignou.ac.in/ or contact with IGNOU Regional Center. , SCO – 208, Sector – 14, Panchkula – 134109 (Haryana) (0172-2590277).

Watch This Video Till End….

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल पर जुड़ें!