शिक्षा सप्ताह के प्रथम दिन विद्यालयों में दिखा भारी उत्साह

26वें जिला स्तरीय युवा उत्सव का आयोजन

प्ंाचकूला, 7 नवंबर-

            26वें जिला स्तरीय युवा उत्सव का आयोजन हरियाणा माॅडल स्कूल सैक्टर-10 में करवाया गया। युवा उत्सव का शुभारंभ जिला खेल अधिकारी सुमन सैनी ने अपने कर कमलों द्वारा किया। उनके अतिरिक्त युवा एवं खेल विभाग के युवा और सांस्कृतिक आयोजक कुमार अंजू आन्नद, हरियाणा माॅडल स्कूल सैक्टर-10 की प्रधानाचार्या स्वर्णा शर्मा भी उपस्थित रहे।


इस अवसर पर प्रतिभागियों का मनोबल बढ़ाते हुए जिला खेल अधिकारी सुमन सैनी ने कहा कि खेलों की भांति संगीत व वाद्य्य यंत्र भी एकाग्रता बढ़ाने का काम करते हैं। जो प्रतिभागी यहां पर आकर अपनी प्रतिभा दिखाने आए हैं, वे बधाई के पात्र हैं। अकादमिक शिक्षा के साथ अन्य गतिविधियों में भाग लेना भी छात्र जीवन के सर्वोगीण विकास की निशानी है।


विभिन्न विधाओं में प्रतिभागियों ने अपने जौहर दिखाए। लोकगीत विधा में प्रथम स्थान ज्योति, द्वितीय स्थान राजकीय महाविद्यालय सैक्टर-14  व तृतीय स्थान राजकीय महाविद्यालय, सैक्टर-1 की मनिका ने प्राप्त किया। लोकनृत्य श्रेणी में काजल गु्रप ने पहला, राजकीय महाविद्यालय ने दूसरा व राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, रत्तेवाली ने तीसरा स्थान हासिल किया। नाटक/एकांकी श्रेणी में राजकीय महाविद्यालय सैक्टर-1, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, सैक्टर-7 व राजकीय महाविद्यालय, बरवाला ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त किया। अप्रतियोगिता वर्ग में राजकीय महाविद्यालय सैक्टर-1 ने प्रथम स्थान अर्जित किया। भाषण/व्यवाखान में हरियाणा माॅडल स्कूल सैक्टर-10 की शिवानी ने, ओपन कैटेगरी की राजनंदिनी व बबिता ने क्रमशः प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त किया। इसी प्रकार सितार में राजकीय महाविद्यालय सैक्टर-1 के शुभम ने प्रथम व ओपन कैटेगिरी के निलेश व यशोदा ने क्रमशः द्वितीय व तृतीय स्थान हासिल किया। बांसुरी मे ंमोहित, तबले में संदीप, हरमोनियम में शुभम व शास्त्रीय गायन में ज्योति ने राज्य स्तरीय प्रतियोगिता के लिए उत्तीर्ण किया। इसी प्रकार शास्त्रीय नृत्य में कथक विधा में बबिता ने प्रथम व काजल ने द्वितीय एवंम् भारतनाट्यम में मनु श्रेया व सोनु ने क्रमशः पहला व दूसरा स्थान अर्जित किया।


युवा और सांस्कृतिक आयोजक भावना राणा ने बताया कि युवा उत्सव की प्रतियोगिताएं करवाने का मुख्य उद्देश्य जिला व ग्रामीण क्षेत्रों में छुपी प्रतिभा को उभारना है। विभिन्न विधाओं में प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को क्रमशः 1000,750 व 500 रूपए पुरस्कार के रूप में दिए गए।
निर्णायक मंडल में राजकीय महाविद्यालय सैक्टर-1 की डाॅ पूनम रानी, राजकीय महाविद्यालय सैक्टर-14 के सत्य नारायण सोलंकी, युवा और सांस्कृतिक आयोजक राजुल शर्मा, युवा और सांस्कृतिक आयोजक रिटायर्ड विमल कुमार ने सभी विधायों को परखा।

Watch This Video Till End….

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply