29 अप्रैल से 14 मई तक मैक्सिकों सिटी में आईटीएफ वल्र्ड चैंपियनशिप का किया जाएगा आयोजन

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने श्री रतन लाल कटारिया की अंतिम यात्रा में  सम्मिलित होकर उन्हे दी भावपूर्ण अंतिम विदाई

– श्री रतन लाल कटारिया का निधन उनके लिए व्यक्तिगत क्षति-ज्ञानचंद गुप्ता

-उनकी सहनशीलता, कार्यकुशलता और उनके संघर्ष की गाथा ने उन्हें कभी अपने लक्ष्य से ओझल नहीं होने दिया-विधानसभा अध्यक्ष

For Detailed

पंचकूला, 18 मई- हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने पूर्व केन्द्रीय राज्य मंत्री एवं अंबाला के सांसद श्री रतन लाल कटारिया के एमडीसी सेक्टर-4 निवास स्थान पंहुच कर उन्हें श्रद्धांजलि दी और शोकाकुल परिजनों को सांत्वना दी। श्री कटारिया ने आज प्रातः लगभग 3.30 बजे पीजीआई चण्डीगढ़ में अंतिम सांस ली। वे पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे।

श्री गुप्ता ने कहा कि वे प्रभू से प्रार्थना करते हैं कि उनकी आत्मा को अपने चरणों में स्थान दें और परिवार के सदस्यों को इस अपूर्णीय क्षति के सहन करने की शक्ति दे।  

दोपहर बाद श्री रतन लाल के पार्थिव शरीर को मनीमाजरा स्थित शमशान घाट लाया गया जहां श्री गुप्ता ने उन्हें पुष्पचक्र अर्पित की श्रद्धांजलि दी।  

पत्रकारों से बातचीत करते हुए श्री गुप्ता ने कहा कि श्री रतन लाल कटारिया का निधन उनके लिए व्यक्तिगत क्षति है। श्री गुप्ता ने कहा कि श्री रतन लाल कटारिया के मार्गदर्शन में पंचकूला ने बहुत तरक्की की है।

श्री गुप्ता ने कहा कि उनकी सहनशीलता, कार्यकुशलता और उनके संघर्ष की गाथा ने उन्हें कभी अपने लक्ष्य से ओझल नहीं होने दिया। श्री कटारिया के कण-कण और रोम-रोम में देशभक्ति और राष्ट्रभक्ति की भावना कूट-कूट कर भरी थी। गांव के एक साधारण परिवार में जन्मे श्री कटारिया ने बचपन से ही तय कर लिया था कि वे सच्चाई के मार्ग पर चलते हुए देश सेवा और राष्ट्र सेवा में अपना जीवन लगाएंगे, उसी का परिणाम है कि वे विधायक बने, प्रदेश में मंत्री रहे, तीन बार लोकसभा के सदस्य रहे और केन्द्र सरकार में राज्य मंत्री भी बने। इसके अलावा पार्टी में उन्होंने अनेक पदों पर अपनी सेवाएं दी। श्री गुप्ता ने कहा कि यह उनकी कार्यकुशलता और संगठन के प्रति निष्ठा का ही परिणाम है।

https://propertyliquid.com/