National Seminar on “India's Internal Threats and the Role of Security Forces

लोकतंत्र के महापर्व को समर्पित रक्तदान शिविर का आयोजन शहीद पृथ्वी सिंह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, रत्तेवाली में किया गया

पंचकूला, 3 मई

लोकतंत्र के महापर्व को समर्पित रक्तदान शिविर का आयोजन शहीद पृथ्वी सिंह राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय, रत्तेवाली में किया गया।जिसमें 67 रक्तदाताओं ने मानवता के लिए यह योगदान दिया। रक्तदान शिविर में ज़िला शिक्षा अधिकारी श्री एच0एस0सैनी व खंड शिक्षा अधिकारी पूनम शर्मा विशेष तौर पर रक्तदाताओं को प्रोत्साहन करने पहुंचे।

इस अवसर पर जिला शिक्षा अधिकारी एच0एस0सैनी ने रक्तदाताओं से कहा कि मानव रक्त का कोई अन्य विकल्प अभी तक विज्ञान से संभव नहीं हो पाया है।इसलिए मानवता को बचाने के लिए इसे सर्वोत्तम दान माना गया है। उन्होंने गांव के सरपंच रौकी राम द्वारा इस महान कार्य मे दिये योगदान की सराहना की, और कहा कि पंचायत द्वारा इस प्रकार से सहयोग देना अन्य पंचायतों को भी समाज में कुछ करने की प्रेरणा देता है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र का महापर्व हरियाणा में 12 मई को होगा। दोनों का मकसद समाज मे सुधार लाना है।

इस अवसर पर खण्ड शिक्षा अधिकारी पूनम शर्मा ने कहा कि रक्दान शिविर में बेशक 18 वर्ष से ऊपर की आयु के लीग की ही योगदान दे सकते हैं , परन्तु विद्यालय स्तर पर इनका आयोजन करने से विद्यार्थियों में भी मानवता की सेवा करने की प्रेरणा विद्यालय की प्रधानाचार्या व अध्यापकों से मिलती है। इस अवसर पर उन्होंने रक्तदान की महत्ता के बाटे में बताते हुए कहा कि रक्त देने के पश्चात वो रक्त 24 घण्टे में पूरा हो जाता है और नुआ रक्त का नाड़ियो में संचार होता है। लोकतंत्र के महापर्व से जोड़कर स्कूल की प्रधानाचार्य श्रीमती साधना व उनके स्टाफ ने जो कार्य किया है, उसकी जितनी सराहना की जाए कम है।
इस अवसर पर पीजीआई की डॉ गुरप्रीत के नेतृत्व में आयी 8 मेम्बरी टीम ने यहां शिविर में रक्त एकत्रित किया, पर इससे पूर्व डॉ गुरप्रीत ने छात्र छात्राओं को रक्त कितनी प्रकार का होता है, के बारे बताया।उन्होंने बताया कि रक्त 18 से 70 वर्ष की आयु तक के स्वस्थ लोग दे सकते हैं।

इस अवसर विद्यालय की प्रधानाचार्या श्रीमती साधना ने ज़िला शिक्षा अधिकारी एच0एस0सैनी, खण्ड शिक्षा अधिकारी श्रीमती पूनम शर्मा, पीजीआई की टीम, गांव के सरपंच श्री रौकी राम , विद्यालय के स्टाफ सदस्यों व आस पास के विधायलयों से रक्तदान करने औए अध्यापकों, व विभिन्न गांव के रक्तदाताओं का धन्यवाद किया। उन्होंने कहा कि रक्त देने से पहके जांच की जाती है, जिससे हमें हेमोग्लोबिन का पता चलता है। अगर हेमोग्लोबिन कम हो तो उसका मतलब की हम एनीमिक है । हेमोग्लोबिन को पूरा करने के लिये हमें चुकन्दर , अनार ब हरी सब्जियों का अधिक सेवन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि 12 मई को गांव का हर व्यक्ति जिसकी वोट बनी हुई है, वो वोट का इस्तेमाल करे । वोट देना अधिकार भी है और कर्त्तव्य भी। प्रधानाचार्य श्रीमती साधना ने सभी अतिथियों व रक्तदाताओं को लोकतंत्र के महापर्व से सम्बंधित निमंत्रण पत्र भी दिए।
इस अवसर ज़िला शिक्षा अधिकारी एच0एस0सैनी ने रक्तदाताओं को प्रशंसा पत्र, शील्ड देकर सम्मानित किया।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply