शिक्षा सप्ताह के प्रथम दिन विद्यालयों में दिखा भारी उत्साह

मोबाइल के अधिक इस्तेमाल से दिमाग पर पड़ रहा है असर, बढ़ रहा साईबर क्राइम का खतरा- निधि मलिक

For Detailed

पंचकूला 29 फरवरी- रायपुररानी आंगनवाड़ी की सर्कल मीटिंग में आंगनवाड़ी वर्कर महिलाओ को बच्चों में मोबाइल की बढ़ती लत व इससे बचाव विषय पर जागरूकता कैम्प का आयोजन किया गया।


कानून एवं परिविक्षा अधिकारी निधि मलिक ने कहा कि लगातार स्क्रीन टाइम, दिमाग के कुछ हिस्से में ग्रे मैटर को कम करता है। ये वह हिस्सा है जो सीखने, याद रखने और निर्णय लेने में अहम भूमिका निभाता है।  

 
    स्मार्टफोन और इलेक्ट्रॉनिक गैजेट के अधिक इस्तेमाल से दिमाग का वह हिस्सा कमजोर हो जाता है, जो तार्किक क्षमता कंट्रोल करता है। इसके अलावा अलग-अलग लोगों पर डिजिटल उपकरणों का अलग-अलग असर पड़ता है। आने वाली पीढ़ी को स्वस्थ दिमाग और बेहतर भविष्य देने के लिए इन सावधानियों का ध्यान देना जरूरी है। बच्चों के स्क्रीन टाइम यानि टीवी, कंप्यूटर और मोबाइल जैसे गैजेट का एक घंटे से कम समय उपयोग करने तक सीमित करें। बढ़ता स्क्रीन टाइम (खासकर दिमाग के विकास के दौरान) भविष्य के लिए अल्जाइमर या ’डिजिटल डिमेशिया’ के खतरे को बढ़ा सकता है।
 उन्होंने बताया कि आजकल बच्चें मोबाइल का गलत इस्तेमाल भी करते है जोकि कानून के विरुद्ध है, जिससे बच्चों पर आपराधिक मामले ज्यादा दर्ज हो रहे है । उन्होंने बच्चों को मोबाइल से दूर रहने व अभिवावको को सतर्क रहने की अपील की।

https://propertyliquid.com