*श्रीमती अरूणा आसफ अली राजकीय महाविद्यालय कालका में राष्ट्रीय सेमिनार का आयोजन*

मुख्यमंत्री का आह्वान – आजादी के अमृतकाल में अलग-अलग कार्यक्रमों का आयोजन कर जन-जन तक पहुंचाए आजादी की कहानियां

मुख्यमंत्री ने सभी संस्थाओं, कॉलेजों, स्कूलों व समाज के अन्य वर्गों को आजादी के अमृत महोत्सव पर कार्यक्रम आयोजित करने का किया आह्वान

पंचकूला के इंद्रधनुष सभागार में आजादी के अमृत महोत्सव पर दूरदर्शन द्वारा आयोजित “स्वराज” धारावाहिक की विशेष स्क्रीनिंग पर पहुंचे थे मुख्यमंत्री

For Detailed

पंचकूला, 27 सितंबर – हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने प्रदेश की सभी संस्थाओं, स्कूलों, कॉलेजों व समाज के अन्य वर्गों को आजादी के अमृतकाल में आजादी के किस्सों से जुड़े अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित करने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि आजादी से जुड़े किस्से, कहानियां, चर्चा और इससे जुड़ी बातें होती रहनी चाहिए, ताकि हम आने वाली युवा पीढ़ी को बता सकें कि देश को आजादी कैसे मिली। मुख्यमंत्री मंगलवार को पंचकूला के इंद्रधनुष सभागार में आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत दूरदर्शन द्वारा आयोजित “स्वराज” धारावाहिक की विशेष स्क्रीनिंग के अवसर पर बोल रहे थे।

मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि आजादी के इतिहास में क्या छिपा है और क्या हमें ज्ञात है व क्या अभी भी अज्ञात है, इसे आम लोगों तक पहुंचाने के लिए दूरदर्शन द्वारा किया गया यह प्रयत्न सराहनीय है। उन्होंने कहा कि ऐसा माना जाता है कि हमारी आजादी की लड़ाई 1857 में शुरू हुई लेकिन इससे पूर्व भी अनेक ऐसे क्रांतिकारी और शहीद हुए, जिन्होंने इस देश की आजादी के लिए बहुत प्रयत्न किए। उन्होंने पहले मुगलों से संघर्ष किया फिर अंग्रेजों से लोहा लिया, इस संघर्ष में बहुत सी महान विभूतियों ने अपने प्राण न्यौछावर कर दिए, जो इतिहास में दर्ज नहीं हो पाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के इस अमृत महोत्सव में यह प्रयास किया गया है कि वीर शहीदों के बारे में उपलब्ध जानकारियां को दूरदर्शन ने इकट्ठा करने का बीड़ा उठाया और स्वराज नाम से धारावाहिक की श्रृंखला को बनाया। दूरदर्शन ने स्वराज के 75 एपिसोड बनाए, जिनमें से आज पहले और तीसरे एपिसोड की विशेष स्क्रीनिंग हुई।

नई पीढ़ी को बताना होगा स्वराज का अर्थ
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि स्वराज शब्द के कई मायने लिए गए। ऐसा माना जाता है कि शासन हमारा है तो हम स्वतंत्र हैं लेकिन स्वराज की गाथा हमारे देश के इतिहास से, हमारे देश की संस्कृति से, भाषा से, हमारे धर्म से शुरू होती है। यह बातें हमें नई पीढ़ी को बतानी पड़ेगी। यह समय की आवश्यकता है कि हम आजादी के 100 साल बाद तक भी युवा पीढ़ी को स्वराज का सहीं अर्थ बताए।

मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का जताया आभार
मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी का आभार है, जो उन्होंने वर्ष 2020 में आजादी के अमृत महोत्सव की योजना बनाई। अमृतकाल में 2 वर्ष तक कार्यक्रम बनाने की बात कही गई है। इसी के अंतर्गत यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने दूरदर्शन की टीम को यह धारावाहिक श्रृंखला बनाने पर हार्दिक बधाई दी।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री के अतिरिक्त प्रधान सचिव एवं महानिदेशक डॉ. अमित अग्रवाल ने मुख्यमंत्री का इस कार्यक्रम में पहुंचने पर आभार जताया। डॉ. अग्रवाल ने कहा कि पूरा देश आजादी के अमृत महोत्सव को मना रहा है। हरियाणा का सूचना जनसंपर्क एवं भाषा विभाग इस अमृत काल में लगातार प्रदेशभर में कार्यक्रमों का आयोजन कर रहा है। दूरदर्शन ने भी अमृत महोत्सव के अंतर्गत 75 एपिसोड की धारावाहिक श्रंखला बनाई है। उन्होंने दूरदर्शन की टीम को भी बधाई दी।

इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता, गृह एवं स्वास्थ्य मंत्री श्री अनिल विज, शिक्षा मंत्री श्री कंवरपाल, परिवहन मंत्री श्री मूलचंद शर्मा, शहरी स्थानीय निकाय मंत्री डॉ. कमल गुप्ता, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती कमलेश ढांडा, सोनीपत के सांसद श्री रमेश कौशक, राज्यसभा सांसद श्री कृष्ण लाल पंवार, विधायक मोहन बड़ौली व अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।

ttps://propertyliquid.com/