मतदाता पहचान पत्र के साथ आधार नंबर जोड़ने की कार्यवाही शुरू, मतदाता सूचियों के नए फार्म भी हुए लागू

जोनल मैजिस्ट्रेट व सैक्टर आफिसर की ट्रेनिंग-डा.बलकार सिंह

प्ंाचकूला 3 मई।


पोल डे मोनीटर एप व पोल डयूटी सुविधा डाट काम बारे प्रशिक्षण

जिला सचिवालय के सभागार में सैक्टर आफिसर व जोनल मैजिस्ट्रेट के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस प्रशिक्षण में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डा. बलकार सिंह ने उन्हें पोल डे मोनीटर एप व पोल डयूटी सुविधा डाट काम के बारे में विस्तार से जानकारी दी।


जिला निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि सभी सैक्टर आफिसर व जोनल मैजिस्ट्रेट अपनी डयूटी पूरी मुस्तैदी से करें और पोल डे मोनीटर एप को अपलोड करके उसमें मांगी गई सारी जानकारी मतदान वाले दिन व पहले दिन आसानी से पूरी करें ताकि चुनाव आयोग को सही एवं स्टीक डाटा समय पर भेजा जा सके। उन्होंने कहा कि पोल डे मोनीटर एप उनके द्वारा दिए गए रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर पर ही चलेगा। जब वे अपने रजिस्टर्ड मोबाईल नम्बर से इस एप को अपलोड करेंगें तो उनके मोबाईल पर ओटीपी आएगा। उसके बाद बारी बारी से मांगी गई सूचना सही एवं विस्तार से भरेंगें।

ईडीसी व पोस्टल बैलेट के लिए आवेदन करना सिखाया


डा. सिंह ने कहा कि सैक्टर आफिसर व जोनल मैजिस्ट्रेट सभी बूथों की जांच करके सही रिपोर्ट प्रशासन को दें। यदि कोई दिक्कत है तो उन्हें दूर करवाने का प्रयास करें। उन्हांेने आशा व्यक्त की कि सभी अधिकारी बेहतर प्रशिक्षण लेकर पोल डे व पहले दिन अच्छा कार्य करके लोकसभा आम चुनाव 2019 को शंांतिपूर्वक, निष्पक्ष एवं पारदर्शिता के साथ सम्पनन करवाएगें। उन्होंने कहा कि स्टेच्यूरी लिफाफे हरे रंग तथा नोन स्टेच्यूरी लिफाफे पीले रंग के होंगें। इसलिए उन्हें भली भांति अलग अलग बंद करवाएं ताकि जमा करवाते समय उन्हें कोई दिक्कत पेश न आए।


जिला निवार्चन अधिकारी ने कहा कि जिन कर्मचारियों व अधिकारियों की अम्बाला लोकसभा क्षेत्र की मतदाता सूची में नाम दर्ज है ओर उनकी डयूटी भी इसी क्षेत्र में लगी हुई है उन्हें ईडीसी जारी किए जाऐंगें। इसके आधार पर वे संबधित मतदान केन्द्र को छोडकर कहीं भी मताधिकार का प्रयोग कर सकते है। इसलिए वे फार्म 12 ए में आवेदन करें। इसके अलावा जिन अधिकारियों व कर्मचारियों की डयूटी अम्बाला लोकसभा क्षेत्र में लगी हुई है और उनके नाम अन्य जिलों की मतदाता सूची में दर्ज हैं, उन्हें फार्म 12 में पोस्टल बैलेट के लिए आवेदन करना होगा। आवेदन करते समय उन्हें चुनाव डयूटी आर्डर अवश्य लगाना होगा। ऐसे अधिकारियों व कर्मचारियों के लिए उनके निवास स्थान पर बैलेट पेपर आएगा जिसे वे प्रशिक्षण के दोरान जमा करवा सकते है।

उन्होंने कहा कि यदि किसी कारणवश प्रशिक्षण के दौरान पोस्टल बैलेट जमा नहीं करवा पाये तो उन्हें स्पीड पोस्ट से भेजना होगा जो गिनती तक 23 मई को संबधित आरओ के पास पहंुच जाने चाहिएं। उन्हांेंने कहा कि पुलिस, ड्राईवर व अन्य कई कर्मचारी चुनावी डयूटी पर होने के कारण अपने मताधिकार का प्रयोग नहीं कर पाते थे। इसलिए चुनाव आयोग ने उनके लिए भी मतदान करने की सुविधा प्रदान की है।


प्रशिक्षण में सीईओ हरियाणा राजीव रंजन द्वारा तैयार की गई ट्रैनिंग वीडियो भी चलाई गई जिसमें विस्तार से सैक्टर आफिसर व जोनल मैजिस्ट्रेट के कार्य के बारे में बखूबी से बताया गया। उन्होंने कहा कि जब मोबाईल पर सैलेक्ट कर बटन दबाएंगें तब उन्हें विस्तार से पता चलेगा कि किस किस बूथ पर उनकी डयूटी लगाई गई है। केवल उन्हीं बूथों की सही जानकारी उन्हें अपलोड करनी है। इसके अलावा इवीएम, वीवीपेट की रिपोर्ट भी उनके टैग नम्बर सहित मांगी जाएगी जिसका मिलान करके भेंजे। मोक पोल, टोटल पोल, बैलेट यूनिट, कंट्रोल युनिट, वीवीपेट के क्रमांक नम्बर, फार्म 17 सी, क्लीयर, क्लोज सहित चैक एवं सील के बारे में विस्तार से प्रशिक्षित किया गया।


इस प्रशिक्षण में एसडीएम पंकज सेतिया, नगराधीश गगनदीप सिंह, चुनाव तहसीलदार सुरेश कुमार, अजय राठी, भी मौजूद रहे।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply