विकास के मामले में रानियां बन रहा अग्रणी हलका : रणजीत सिंह

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर किया तीखा वार, कहा इस देश को शंहशाह की नहीं लोकतंत्र की जरुरत है, संवैधानिक संस्थाओं को खत्म करने की कोशिश कर रही है सरकार

अम्बाला।  कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी मंगलवार को अम्बाला में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि इस देश को शंहशाह की नहीं लोकतंत्र की जरुरत है। खुद प्रधानमंत्री लोकतंत्र की हत्या करने में जुटे हैं। योजनाबद्ध तरीके से संवैधानिक संस्थाओं को खत्म करने की कोशिश हो रही है। मगर कांग्रेस कभी ऐसा होने नहीं देगी। प्रियंका यहां गांधी मैदान में आयोजित बड़ी कांग्रेस रैली को संबोधित कर रही थी। राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा की जीत के लिए उन्होंने लोगों से रोजगार, विकास, किसान व सर्वसमाज के हितों के मद्देनजर कांग्रेस को वोट देने की अपील भी की।

बरियानी खाने व ढोल बजाने से काम नहीं चलेगा

प्रियंका गांधी ने सीधेतौर पर पीए नरेंद्र मोदी को निशाना बनाते हुए कहा कि इस देश के युवाओं को रोजगार की जरुरत है। किसान को उसकी फसल के सही दामों की फिक्र है। महिलाओं को अपना  हक चाहिए। जीएसटी व नोटबंदी की वजह से व्यापार चौपट हो चुका है। व्यापारियों को इस मुश्किल समय से निकालने की जरुरत है। उन्होंने इस बात पर गहरा दुख जताया कि पीएम मोदी देश की बुनियादी जरुरतों को पूरा करने की बजाय पाकिस्तान में बरियानी खाने व जापान में ढोल पीट रहे हैं। चीन में वहां के प्रधानमंत्री से गले मिलकर झूठी वाहवाही दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जनता अब खोखले वायदों में आने वाली नहीं है। लोकतंत्र को नष्ट करने की कोशिश हो रही है। नागरिक हितों को सुरक्षित रखने वाले तंत्र से छेड़छाड़ हो रही है।

न रोजगार मिला न कालाधन वापिस

प्रियंका गांधी ने कहा कि पांच साल पहले पीएम नरेंद्र मोदी ने दो करोड़ युवाओं को सालाना रोजगार देने की बात कही थी। मगर मैं पूरे उत्तरप्रदेश घूम कर युवाओं से पूछकर थक गई कि क्या उन्हें रोजगार मिला? प्रियंका ने कहा कि अभी तक उन्हें एक भी ऐसा युवा नहीं मिला जिसे मोदी सरकार ने रोजगार दिया हो। उन्होंने कहा कि नोटबंदी से देशभक्ति का गुणगान किया गया था। देश की जनता को यह कहा गया था कि नोटबंदी होने से विदेशों में जमा काला धन वापिस आएगा। मगर काला धन वापिस आने की बजाय छोटे-छोटे कारोबार पूरी तरह खत्म हो गए।  उन्होंने कहा कि देश को शहंशाह की नहीं लोकतंत्र की जरूरत है। देश में सबसे बड़ा मुद्दा बेरोजगारी का है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की अर्थव्यवस्था को नष्ट कर दिया है। देश पूछ रहा है कि मोदी जी आपने जो 2 करोड़ रोजगार का वादा किया था। देशभर में 22 लाख सरकारी पद अभी भी खाली पड़े हैं।

हमारी न्याय योजना बदलेगी तकदीर


प्रिंयका गांधी ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक साल की कसरत के बाद न्याय योजना को लांच किया। उन्होंने कहा कि पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्रियों के जरिए यह योजना तैयार की गई। इस योजना से देश के पांच करोड़ परिवारों के 25 करोड़ लोगों की तकदीर बदलेगी। सत्ता में आते ही किसानों का कर्ज माफ होगा। साथ ही उनके विकास के लिए किसान बजट की व्यवस्था की जाएगी। सत्ता में आने के एक साल के भीतर 24 लाख खाली पड़े पदों को भरा जाएगा। उन्होंने कहा कि बारहवीं तक लड़कियों को स्कूल में निशुल्क शिक्षा मिलेगी। तथा सरकारी अस्पतालों में बेहतर उपचार की भी व्यवस्था की जाएगी।

सैलजा ने भी किया वार 

यहां अपने संबोधन में कांग्रेस प्रत्याशी कुमारी सैलजा ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर हमला किया। सैलजा ने कहा कि सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण हर नागरिक परेशान है। भाजपा ने किसान, व्यापारी, आम नागरिक, युवा व महिलाओं के साथ भी धोखा किया। न किसानों के फसलों के दाम दोगुने हुए। न ही उनका कर्ज माफ हुआ। जीएसटी व नोटबंदी ने व्यापारियों को बर्बाद कर दिया। 

दादी-पिता व मां भी कर चुकी रैली

कांग्रेस प्रत्याशी कुमारी सैलजा के लिए प्रियंका गांधी ने जिस ऐतिहासिक गांधी मैदान में रैली की। इसी मैदान में कभी उनकी दादी पूर्व प्रधानमंत्री श्रीमति स्वर्गीय इंदिरा गांधी पिता पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय राजीव गांधी व मां सोनिया गांधी भी रैली कर चुकी हैं। इसी मैदान पर अब गांधी परिवार से जुड़ी प्रियंका गांधी ने भी रैली कर नया अध्याय लिख दिया है। इससे पहले  प्रियंका की रैली के मद्देनजर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे। स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप (एसपीजी) की टीम ने पिछले दो दिन से यहां डेरा डाला हुआ था।  रैली स्थल और आस-पास पुलिस के जवान तैनात किए थे। जाम की स्थिति से बचने के लिए ट्रैफिक को  डायवर्ट किया गया था।  तय कार्यक्रम के अनुसार प्रियंका गांधी दोपहर बाद अंबाला से हेलीकॉप्टर में पहुंची थी।


फिर आधा किलोमीटर तक किया रोड शो

वापिस जाने से पहले प्रिंयका रैली में आई महिलाओं से हाथ मिलाने लगी। इस दौरान चारों तरफ से लोगों की भीड़ उमड़ आई। तब गाड़ी से उतरकर प्रियंका भी लोगों के साथ सड़क पर पैदल चल पड़ी। देखते ही देखतक उनकी एक झलक पाने के लिए सड़कों पर लोगों का हुजुम उमड़ आया। प्रियंका से मिलने के लिए रैली में आई हर महिला  हाथ मिलाने के लिए बेकरार दिखी। खुद राज्यसभा सांसद कुमारी सैलजा ने प्रियंका की महिलाओं से मुलाकात करवाई।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply