मतदाता पहचान पत्र के साथ आधार नंबर जोड़ने की कार्यवाही शुरू, मतदाता सूचियों के नए फार्म भी हुए लागू

उपायुक्त डाॅ0 बलकार सिंह जिला सचिवालय में अधिकारियों की बैठक की अध्यक्षता करते हुए।

पंचकूला, 29 अप्रैल

जिला में मलेरिया, डेंगू व अन्य प्रकार के बुखार को नियंत्रित रखने के लिये स्वास्थ्य विभाग व अन्य संबंधित विभाग वर्षा ऋतु से पहले ही अपनी सारी तैयारियां पूरी कर लें। 

उपायुक्त डाॅ0 बलकार सिंह ने यह निर्देश आज जिला सचिवालय में आयोजित एक बैठक की अध्यक्षता करते हुए दिये। उन्होंने कहा कि लोगों को इन बुखारों से सुरक्षित रहने के उपायों की जानकारी भी दें। इसके अलावा जिला में ऐसे क्षेत्र जहां वर्षा ऋतु या अन्य मौसमों में निरंतर जल भराव की समस्या रहती है वहां मच्छर के लारवे को नियंत्रित करने के लिये भी प्रभावी कदम उठाये। 

स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बैठक में बताया कि वर्ष 2018 में पंचकूला जिला में मलेरिया के 69 मामले सामने आये थे और इस वर्ष अप्रैल तक केवल दो मामले ध्यान में आये है। उन्होंने कहा कि लोगों को मच्छर से बचने के लिये तन को ढककर सोने, मच्छर से बचाव के लिये घरों में दवाई के छिड़काव, मच्छर को भगाने वाले साधनों का प्रयोग करने, जलभराव वाले स्थानों पर काला तेल या डीजल डालने इत्यादि उपायों के बारे में जागरूक किया जा रहा है। इसके अलावा जिला में 121 जलभराव के क्षेत्रों की पहचान करके उनमें मच्छर के लारवों को नष्ट करने वाली गम्बूजिया किस्म की मछलियां छोड़ी जा रही हैं। अब तक ऐसे ही 51 स्त्रोतों में यह मछलियां छोड़ी जा चुकी है। 

बैठक में एसडीएम पंकज सेतिया, नगराधीश गगनदीप सिंह, स्वास्थ्य, शिक्षा, विकास एवं पंचायत, जनस्वास्थ्य, शहरी विकास प्राधिकरण और नगर निगम के अधिकारी मौजूद रहे। 

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply