जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा हर घर तिरंगा अभियान के तहत निकाली गई साइकिल रैली

अतिसंवेदनशील व संवेदनशील बूथों पर रहेगी विशेष सुरक्षा व्यवस्था

सिरसा 9 मई।

जिला उपायुक्त कार्यालय में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त प्रभजोत सिंह, पुलिस ऑब्जर्वर ओपी सिंह, सामान्य ऑब्जर्वर सौरभ कुमार, चुनाव खर्च पर्यवेक्षक एन. वरुण व पुलिस अधीक्षक डा. अरुण नेहरा ने आज एक संयुक्त बैठक कर जिला में 12 मई को होने वाले मतदान के दौरान शांति व्यवस्था बनाए रखने व सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद करने के लिए विचार विमर्श किया और चुनावों के दौरान शांति बनाए रखने के लिए अधिकारियों को जरुरी दिशा निर्देश भी दिये। 

जिला के 69 गांवों के 178 अतिसंवदेनशील बूथ व 70 गांवों के 183 संवेदनशील बूथ किये चिह्निïत

उपायुक्त ने बताया कि जिला में 69 गांवों के 178 पोलिंग बूथ अतिसंवेदनशील तथा 70 गांवों के 183 बूथ संवेदनशील चिह्निïत किये गए हैं। इसके अलावा 13 बूथों को क्रिटिकल की श्रेणी में रखा गया है। उन्होंने कहा कि संवेदनशील, अतिसंवेदनशील व क्रिटिकल बूथों में चुनाव प्रक्रिया की देखरेख और शांतिपूर्ण मतदान के लिए विशेष बल तैनात किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला को पंजाब पुलिस की एक कंपनी, झारखंड पुलिस की 3 कंपनी व 2 बटालियन उपलब्ध करवाई गई है। इसके अलावा सिरसा पुलिस के जवान भी सुरक्षा व्यवस्था में ड्यूटी पर तैनात किये जाएंगे। 

उपायुक्त ने अतिसंवेदनशील व संवेदनशील गांवों व बूथ की जानकारी देते हुए बताया कि कालांवाली विधानसभा क्षेत्र में 17 गांवों के 51 बूथ अतिसंवेदनशील व 23 गांवों के 67 बूथ संवेदनशील चिह्निïत किये गए हैं। इसी प्रकार डबवाली विधानसभा क्षेत्र में 14 गांवों के 66 बूथ अतिसंवेदनशील व 18 गांवों के 54 बूथ संवेदनशील, रानियां विधानसभा क्षेत्र में 21 गांवों के 74 बूथ अतिसंवेदनशील व 9 गांवों के 19 बूथ संवेदनशील, सिरसा विधानसभा क्षेत्र में 7 गांवों के 28 बूथ अतिसंवेदनशील व 4 गांवों के 27 बूथ संवेदनशील, ऐलनाबाद विधानसभा क्षेत्र में 10 गांवों के 35 बूथ अतिसंवेदनशील व 17 गांवों के 59 बूथ संवेदनशील चिह्निïत किये गए हैं।

उन्होंने कहा कि क्रिटिकल पोलिंग बूथों में जिन 13 बूथ को शामिल किया गया है, उनमें पिछले चुनावों में 70 प्रतिशत से अधिक मतदान या फिर एक ही प्रत्याशी के पक्ष में अधिक मतदान होना शामिल है। ऐसे बूथों पर सुरक्षा के विशेष प्रबंध किये जाएंगे। 

पुलिस पर्यवेक्षक ओपी सिंह ने अधिकारियों से कहा कि वे पुलिस पैट्रोलिंग लगातार करें। अंतर्राज्जीय नाकों पर विशेष निगरानी रखें और वाहनों की सघन चैकिंग भी करें। आपराधिक पृष्टïभूमि के लोगों पर विशेष नजर रखें। इसके साथ-साथ अवैध शराब, धन या किसी भी प्रकार की सामग्री की आवागमन पर विशेष नजर रखें। उन्होंने पुलिस अधीकारियों से कहा कि सभी विधानसभा क्षेत्रों के पोलिंग बूथों से जुड़ा सुरक्षा मैप तैयार करें और उपलब्ध बल की तैनाती सुनिश्चित कर लें। 

पुलिस अधीक्षक डा. अरुण नेहरा ने बताया कि जिला में शांतिपूवर्क चुनावों के लिए पर्याप्त सुरक्षा बल उपलब्ध है। इसके अलावा अतिरिक्त बल की भी मांग की जा रही है ताकि संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया करवाई जा सके। उन्होंने कहा कि चुनाव प्रचार 10 मई को सांय 6 बजे बंद हो जाएगा। ऐसे में जो व्यक्ति इस जिला के नहीं है या प्रत्याशी के प्रचार के लिए बाहर से आए हुए हैं वे अपने-अपने गंतव्य स्थानों को चले जाएं। 

बैठक में एएसपी सुरेश हुड्डïा, डीएसपी आर्यन चौधरी, सीटीएम जयवीर यादव, पंजाब पुलिस के इंस्पेक्टर असपाल सिंह, झारखंड पुलिस के डीएसपी सहदेव व अरुण सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। 

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply