Posts

राजकीय बहुतकनीकी नानकपुर में दाखिले  की तिथियों को किया संशोधित

दिल्ली-हरियाणा समेत सात राज्यों में आज मतदान

दिल्ली:

लोकसभा चुनाव 2019 के छठे चरण में दिल्ली व हरियाणा समेत सात राज्यों की 59 लोकसभा सीटों पर आज सुबह 7 बजे मतदान होगा।

इस चरण में केंद्रीय मंत्रियों के साथ तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों और कई पूर्व मंत्रियों समेत दर्जनों सियासी दिग्गजों की प्रतिष्ठा दांव पर है।

खासतौर से इस चरण का चुनाव भाजपा के लिए अहम होगा, जिसको अपनी मौजूदा 44 सीटों को बचाने की चुनौती होगी।

सत्रहवीं लोकसभा के लिए 543 में से पहले पांच चरण में 424 सीटों पर चुनाव पूरा होने के बाद अब छठें चरण में सात राज्यों की 59 सीटों पर आज 12 मई को सबकी नजरें टिकी हैं।

इस चरण में 83 महिलाओं समेत 979 प्रत्याशी चुनावी जंग में है, जिनमें 174 राष्ट्रीय दलों, 65 क्षेत्रीय दलों, 430 गैर पंजीकृत मान्यता प्राप्त दलों तथा 310 निर्दलीय रूप से लोकतंत्र के इस महासंग्राम में हिस्सेदार हैं। सात राज्यों के इन सियासी योद्धाओं के भविष्य का फैसला 4.74 करोड़ 46227 महिलाओं समेत 10.16 करोड़ 47624 मतदाताओं को करना है, जिनके लिए 113167 मतदान केंद्र बनाए गये हैं।

इस चरण में जिन 59 सीटों पर मतदान होना है उनमें फिलहाल 44 सीटों पर भाजपा, आठ पर तृणमूल तथा दो पर कांग्रेस का कब्जा है। 

छठे चरण में सात राज्यों की 59 सीटों के चुनाव में बड़े-बड़े सियासी दिग्गजों की साख दांव पर होगी, जिनमें छह केंद्रीय मंत्री दिल्ली की चांदनी चौक सीट पर डा. हर्षवर्धन, हरियाणा की गुडगांव सीट पर राव इन्द्रजीत व फरीदाबाद में कृष्णपाल गुर्जर, यूपी में सुल्तानपुर सीट पर मेनका गांधी, मध्य प्रदेश में मुरैना सीट पर नरेन्द्र सिंह तोमर तथा बिहार की पूर्वी चंपारण सीट पर राधा मोहन सिंह के अलावा यूपी की इलाहाबाद सीट पर योगी सरकार में कैबिना मंत्री रीता बहुगुणा जोशी शामिल हैं।

इसके अलावा हरियाणा की सोनीपत सीट पर भूपेन्द्र सिंह हुड्डा, उत्तर पूर्वी दिल्ली सीट पर शीला दीक्षित और यूपी की आजमगढ़ सीट पर सपा प्रमुख अखिलेश यादव जैसे पूर्व मुख्यमंत्रियों की सियासत भी कसौटी पर कसी जानी है।

इसके अलावा दिल्ली में क्रिकेटर गौतम गंभीर व मुक्केबाज बिजेन्द्र के अलावा केंद्र व दिल्ली सरकार में मंत्री रहे अजय माकन व अरविंदर लवली भी प्रतिष्ठा की जंग में हैं।

हरियाणा में हिसार सीट पर केंद्रीय मंत्री चौधरी बीरेन्द्र सिंह की प्रतिष्ठा भी अपने पुत्र बृजेन्द्र सिंह की सियासी पारी पर होगी।

जबकि काग्रेस प्रत्याशियों में पूर्व मंत्री कुमारी सैलजा, कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर, कैप्टन अजय यादव, श्रुति चौधरी, दीपेन्द्र हुड्डा व अवतार सिंह भडाना की अग्नि परीक्षा होगी।

मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल सीट पर भाजपा की साध्वी प्रज्ञा सिंह व कांग्रेस के दिग्गज दिग्विजय सिंह के अलावा गुना से कांग्रेस के ज्योतिरादित्य सिंधिया के लिए यह चुनाव अहम होगा।

लोकसभा के छठे चरण में 12 मई रविवार को जिन 59 सीटों पर मतदान होना है, उनमें बिहार की 8 सीटें पूर्वी चंपारण, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सिवान, वाल्मीकिनगर, महाराजगंज, पश्चिमी चंपारण, हरियाणा की 10 सीटें अंबाला, करनाल, सोनीपत, रोहतक, सिरसा, कुरुक्षेत्र, फरीदाबाद, गुड़गांव, भिवानी-महेन्द्रगढ़, हिसार, झारखंड की 4 सीटें धनबाद, सिंहभूम, जमशेदपुर, गिरीडीह, मध्य-प्रदेश की 8 सीटें गुना, सागर, विदिशा, मुरैना, भिंड, ग्वालियर, राजगढ़, भोपाल शामिल हैं।

इनके अलावा उत्तर प्रदेश की 14 सीटों फूलपुर, इलाहाबाद, सुल्तानपुर, प्रतापगढ़, श्रावस्ती, अंबेडकर नगर, बस्ती, संत कबीर नगर, डुमरियागंज, आजमगढ़, लालगंज, जौनपुर, भदोही, मछलीशहर, पश्चिम-बंगाल की 8 सीटों झारग्राम, मेदिनीपुर, तामलुक, कांति, घाटल, विष्णुपुर, पूरुलिया, बांकुरा तथा दिल्ली की 7 सीटों चांदनी चौक, पूर्वी दिल्ली, उत्तर-पूर्व दिल्ली, नई दिल्ली, उत्तर-पश्चिम दिल्ली, पश्चिम दिल्ली, दक्षिण दिल्ली पर भी मतदान होगा।

बिहार में सबसे ज्यादा दागी लोकसभा चुनाव के छठे चरण में चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों में 189 आपराधिक पृष्ठभूमि वाले भी शामिल हैं, जिनमें बिहार के 127 सियासी योद्धाओं सबसे ज्यादा 43 दागियों की सूची में शामिल है।

इसके बाद उत्तर प्रदेश की 14 सीटों पर 177 में से 36, पश्चिम बंगाल की आठ सीटों पर 177 में से 28, हरियाणा की दस सीटो पर 223 में से 24, दिल्ली की सात सीटों पर 164 में और झारखंड की चार सीटों पर 67 में प्रत्याशियों में से 20-20 तथा मध्य प्रदेश की 8 सीटों पर 138 प्रत्याशियों में से 18 प्रत्याशियों के खिलाफ आपराधिक मामले लंबित हैं।

चुनावी जंग में 146 उम्मीदवार ऐसे भी हैं जिनके खिलाफ हत्या, अपहरण, लूट, डकैती, हत्या के प्रयास, बलात्कार जैसे संगीन मामले लंबित हैं।

छठे चरण के चुनाव में सबसे ज्यादा 34 दागी निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव मैदान में है। जबकि राजनीतिक दलों में सबसे ज्यादा 26 भाजपा, 20 कांग्रेस, 19 बसपा, पांच शिवसेना, 4-4 तृणमूल कांग्रेस व एसयूसीआई तथा 3-3 आप व सीपीआई के प्रत्याशी इस फेहरिस्त में शामिल हैं।

जहां तक दलों द्वारा करोड़पति प्रत्याशियों को चुनाव मैदान में उतारने का सवाल है उसमें सबसे ज्यादा 46 प्रत्याशी भाजपा, 37 कांग्रेस, 31 बसपा, 7-7 इनेलो व तृणमूल कांग्रेस, छह आप, पांच-पांच जननायक जनता पार्टी व प्रगतिशील समाजवादी पार्टी, तीन शिवसेना और 71 निर्दलीय प्रत्याशी करोड़पतियों की फेहरिस्त में शामिल हैं।

इस चरण में प्रत्याशियों की औसतन संपत्ति 3.41 करोड़ आंकी गई है। 34 सीट रेडअलर्ट घोषित लोकसभा के छठे चरण के चुनाव में 34 सीटें रेडअलर्ट के दायरे में है, जहां तीन या उससे ज्यादा आपराधिक पृष्ठभूमि वाले प्रत्याशी चुनावी जंग लड़ रहे हैं, इनमें सबसे बिहार की भी सभी आठ और झारखंड की सभी चारों सीटें संवेदनशील यानि रेडअलर्ट के दायरे में हैं।

जबकि यूपी की सात, पश्चिम बंगाल की छह, मध्य प्रदेश व हरियाणा की तीन-तीन सीटों पर तीन या उससे ज्यादा प्रत्याशी दागी चुनावी जंग में हैं।

सर्वाधिक ग्रेजुएट प्रत्याशी छठे चरण के चुनाव में 509 प्रत्याशी स्नातक या उससे ज्यादा शिक्षित हैं, जबकि 395 पांचवी से इंटरमिडिएट तक की शिक्षा ग्रहण कर चुके हैं। वहीं दस अनपढ़ प्रत्याशी भी सियासत की जंग में किस्मत आजमा रहे हैं।

राजकीय बहुतकनीकी नानकपुर में दाखिले  की तिथियों को किया संशोधित

निष्पक्ष व शंातिपूर्ण ढंग से चुनाव सम्पन्न करवाना पुलिस की जिम्मेवारी: पुलिस अधीक्षक

सिरसा, 11 मई।

पुलिस अधीक्षक डा. अरुण सिंह ने मतदान ड्यूटी में लगे पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों को निर्देश दिये कि जिला में संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बुथों पर कड़ी नजर रखें। उन्होंने कहा कि कहीं भी कोई असामाजिक तत्व शरारत करता नजर आए तो उसे तुरंत कार्यवाही करें। श्री यादव ने अधिकारियों को अपने कर्तव्य का निर्वहन लग्न व निष्ठा से करने के निर्देश देते हुए कहा कि ज्यादा से ज्यादा पुलिस फोर्स सड़कों पर अलर्ट नजर आनी चाहिये, ताकि मतदान के लिए आने जाने वाले आमजन व महिलाये स्वयं को सुरक्षित महसूस कर सकें। उन्होंने पैट्रोलिंग पार्टी में तैनात अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा कि कोई भी सूचना मिलने पर तुरंत कार्यवाही करें। 

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के मद्देनजर जिला में संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बुथों पर विशेष पुलिस बल की तैनाती की गई है ताकि कोई भी दुर्घटना न घटे तथा शांति पूर्ण ढंग से चुनाव का सम्पन्न करवाया जाए।  श्री यादव ने कहा कि मतदान के दिन कोई भी व्यक्ति शराब या अन्य नशा लेकर घूमता है तो उस पर तुरंत कार्यवाही करें। उन्होंने मतदान केंद्रों पर ड्यूटी पर तैनात कर्मचारियों से कहा कि अपना कार्य पूरी निष्ठïा से व निष्पक्ष रूप से करें ताकि मतदान केंद्रों का माहौल शांतिप्रिय रहें।

राजकीय बहुतकनीकी नानकपुर में दाखिले  की तिथियों को किया संशोधित

न्यूज़ 7 वर्ल्ड की अपील हरियाणा के सभी मतदाताओं से 12 मई को अपने मतदान का प्रयोग अवश्य करे

पंचकूला, 11 मई-

न्यूज़ 7 वर्ल्ड की अपील

हरियाणा के सभी मतदाताओं से अपील हैं कि 12 मई को अपने मतदान का प्रयोग करने के लिए अवश्य जाए जो भी उम्मीदवार आपको सही लगे उसको वोट अवश्य दे !

राजकीय बहुतकनीकी नानकपुर में दाखिले  की तिथियों को किया संशोधित

चुनाव को लेकर प्रशासन की सभी तैयारियां पूर्ण, उपायुक्त ने मतदाताओं से की मतदान में बढ़चढ़कर भाग लेने की अपील

सिरसा 9 मई।

  • जिला की पांचों विधानसभा के 994 बूथों पर 18 लाख 3 हजार 353 मतदाता करेंगे मताधिकार का प्रयोग
  • बूथों पर सुरक्षा से लेकर सुगम मतदान के लिए सभी सुविधाओं के प्रबंध किए पुख्ता
  • दिव्यांग मतदाताओं के लिए 45 वाहनों की रहेगी व्यवस्था, 50 व्हील चेयर व 15 ट्राई साईकिल भी रहेंगी उपलब्ध

लोकसभा आम चुनाव 2019 के लिए 12 मई को होने वाले मतदान के लिए सभी तैयारियां पूर्ण कर ली हैं। बूथों पर सुरक्षा से लेकर मतदान के लिए सभी सुविधाओं की व्यवस्था की गई है। उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने जिला के मतदाताओं से अपील करते हुए कहा है कि वे 12 मई को होने वाले लोकसभा आम चुनाव के मतदान में बढचढकर भाग लेकर देश की लोकतांत्रिक प्रणाली को मजबूत करने में अपना सहयोग करें।

उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने सिरसा लोकसभा क्षेत्र में होने वाले मतदान बारे तैयारियों की जानकारी देते हुए बताया कि मतदान 12 मई को प्रात: 7 बजे से शुरू हो जाएगा, जोकि सायं 6 बजे तक चलेगा। जिला की पांचों विधानसभा क्षेत्र में 994 मतदान केंद्र बनाए गए हैं। सभी बूथों पर सुरक्षा से लेकर पानी, बिजली, रैंप, शौचालय आदि की व्यवस्था कर दी गई है। उन्होंने बताया कि चुनाव को लेकर सभी अधिकारियों व कर्मचारियों की ड्यूटियां निर्धारित कर दी गई हैं। चुनाव ड्यूटी में लगे सभी अधिकारियों व कर्मचारियों को उनके कार्य व जिम्मेवारियों के निर्वहन बारे प्रशिक्षित कर दिया गया है। 

बूथों पर सुरक्षा से लेकर पानी व शौचालय की व्यवस्था पुख्ता :

उपायुक्त ने चुनाव को लेकर सुरक्षा की तैयारियों बारे जानकारी देते हुए बताया कि मतदान केंद्रों पर शांतिपूर्वक, निष्पक्ष व सुचारू रूप से मतदान के लिए सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया गया है। उन्होंने बताया कि संवेदनशील व अतिसंवेदनशील बूथों पर सुरक्षा की दृष्टि से विशेष नजर रहेगी। इन पर अतिरिक्त सुरक्षा के लिए पुलिस बल तैनात रहेगा। उन्होंने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था में किसी प्रकार की कोई चूक ना रहे इसके लिए बाहर से भी अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती रहेगी। साथ ही सभी बूथों पर बिजली, पानी व शौचालय के पुख्ता इंतजाम किये गए हैं। इसके अलावा दिव्यांग व वरिष्ठï नागरिकों के लिए आवश्यकता अनुसार मतदान केन्द्रों पर रैंप बनाए गए हैं

दिव्यांग मतदाताओं के लिए रहेगी वाहन की व्यवस्था :

लोकसभा चुनाव मतदान में दिव्यांग मतदाताओं की भागीदारी सुनिश्चित करने तथा मतदान प्रतिशत्ता को बढाने के उद्ेश्य से दिव्यांग मतदाताओं को मतदान केंद्र तक लाने के लिए वाहन की विशेष व्यवस्था रहेगी। उपायुक्त ने बताया कि दिव्यांग मतदाताओं को बिना बाधा के सुगमता से मतदान करवाने के लिए वाहनों का प्रबंध किया गया है। इस कार्य के लिए जिला में 45 वाहनों की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा 50 व्हील चेयर व 13 ट्राई साईकिल की भी व्यवस्था दिव्यांग मतदाताओं के लिए रहेगी। उन्होंने बताया कि इस कार्य के लिए जीएम रोडवेज को नोडल अधिकारी बनाया गया है। किसी भी दिव्यांग मतदाताओं को मतदान के लिए आने बारे किसी प्रकार की कोई दिक्कत आती है तो वह जीएम रोडवेज से संपर्क कर सकता है।

मतदान जागरूकता के लिए गतिविधियां जोरों पर :

उपायुक्त ने बताया कि चुनाव आयोग के निर्देशानुसार स्वीप के तहत जिला में मतदाता जागरूकता गतिविधियां जोरो पर हैं। मतदान के लिए लोगों को जागरूक करने के लिए अनेकों कार्यक्रम आयोजित किए जा चुके हैं। लोगों को हर प्रकार की गतिविधियों के माध्यम से 12 मई को मतदान के लिए जागरूक किया जा रहो है। जिला की सभी पांचों विधानसभा सैगमेंट में एक-एक सखी (पिंक) व मॉडल बूथ बनाए गए हैं। इन बूथों पर मतदाताओं के लिए विशेष सुविधाएं रहेंगी। सखी बूथ पर सुरक्षा से लेकर मतदान प्रक्रिया के संचालन में महिला कर्मचारियों की ड्यूटी रहेगी। 

वोटर कार्ड न होने पर इन दस्तावेजों से कर सकते हैं मतदान :

उपायुक्त ने बताया कि वोट डालने के लिए मतदाता अपना वोटर आईडी कार्ड (एपिक) दिखाकर मतदान कर सकते हैं। लेकिन यदि किसी मतदाता के पास वोटर कार्ड नहीं है तो वह अपना पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, केंद्र या राज्य सरकार या पीएसयू या पब्लिक लिमिटेड कंपनियों द्वारा कर्मचारियों को जारी किए गए फोटोयुक्त सेवा पहचान पत्र, बैंक या डाकघर द्वारा जारी फोटोयुक्त पासबुक, पैन कार्ड, एनपीआर के तहत आरजीआई द्वारा जारी स्मार्ट कार्ड, मनरेगा जॉब कार्ड, श्रम मंत्रालय की योजना के तहत जारी स्वास्थ्य बीमा स्मार्ट कार्ड, फोटोयुक्त पेंशन दस्तावेज, सांसदों, विधायकों व एमएलसी को जारी किए गए आधिकारिक पहचान पत्र तथा आधार कार्ड में से कोई एक पहचान दिखाकर अपना वोट डाल सकता है।

अपने विवेक से करें मतदान, बढ़चढ़ कर लें मतदान में भाग :

उपायुक्त प्रभजोत सिंह ने जिलावासियों से अपील करते हुए कहा कि 12 मई को मतदान प्रक्रिया प्रात: 7 बजे से शुरू हो जाएगी। सभी मतदाता मतदान में बढ़चढ़कर भाग लें। उन्होंने कहा कि मतदाता लोभ-लालच, जाति-धर्म से ऊपर उठकर एक स्वस्थ एवं मजबूत लोकतंत्र के निर्माण के लिए मतदान करें। कोई भी मतदाता किसी के प्रलोभन में ना आए, क्योंकि रिश्वत लेना भी जुर्म और देना भी, इसलिए अपने विवेक से मतदान करें।