जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

औद्योगिक इकाइयों के केसों का पॉलिसी प्रावधान तथा निर्धारित समयावधि में करें निपटान : उपायुक्त अनीश यादव

सिरसा, 23 जून।

For Detailed News-

– उपायुक्त अनीश यादव ने जिला स्तरीय क्लीयरेंस कमेटी व जिला स्तरीय ग्रिवेंस कमेटी की बैठक में अधिकारियों को दिए जरुरी दिशा निर्देश


उपायुक्त अनीश यादव ने कहा कि औद्योगिक इकाइयों के विभिन्न कार्यों को पूरा करने के लिए समय का निर्धारण किया गया है, इसलिए तय समय सीमा में ही सभी कार्य पूरे होने चाहिए। बिना उचित कारण के किसी भी कार्य में विलंब नहीं होना चाहिए और लंबित केसों को पॉलिसी प्रावधान के अंतर्गत तुरंत प्रभाव से निपटान करते हुए प्रगति रिपोर्ट पोर्टल पर अपलोड करना सुनिश्चित करें। इसके अलावा किसी भी आवेदन को अस्वीकृत करने का कारणों पर अपनी टिप्पणी स्पष्ट भाषा में जरूर लिखें।


उपायुक्त अनीश यादव स्थानीय लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में उद्यमी प्रोत्साहन नीति-2015 के प्रावधान के तहत गठित जिला स्तरीय क्लीयरेंस कमेटी व जिला स्तरीय ग्रिवेंस कमेटी की मासिक समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में जिला उद्योग केंद्र के उप निदेशक ज्ञान चंद लाग्यांण, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद सिरसा संदीप सोलंकी, कार्यकारी अधिकारी नगर परिषद डबवाली राकेश पूनिया, कार्यकारी अभियंता बिजली निगम संदीप कुमार व जीके वधवा, कार्यकारी अभियंता लोक निर्माण विभाग केसी कंबोज, एमई कमलदीप, एसडीई बलवंत सिंह व किशोरी लाल सहित संबंधित विभागों के जिला स्तरीय नोडल अधिकारी मौजूद थे।


उपायुक्त ने कहा कि जिला स्तरीय क्लीयरेंस कमेटी के माध्यम से एक एकड़ तक के सीएलयू और दस करोड़ लागत तक के प्रोजेक्ट को अनुमति प्रदान करती है। बैठक में 89 आवेदनों पर विचार विमर्श किया गया, ये आवेदन दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम, श्रम विभाग, पीडब्ल्यूडी विभाग, पंचायत विभाग व नगर परिषद / पालिकाओं से संबंधित थे। अधिकतर केस प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड व टावर से संंबंधित थे, इसके अलावा एक शिकायत बिजली निगम से संबंधित थी जिसका मौके पर ही निपटान कर दिया गया।

https://propertyliquid.com


जिला उद्योग केंद्र के उप निदेशक ज्ञान चंद लाग्यांण ने बताया कि कि इनवेस्ट हरियाणा पोर्टल के माध्यम से विभिन्न 26 विभागों की 118 प्रकार की सेवाएं प्रदान की जा रही है, जिसमें आवेदक वेबसाइट इनवेस्ट हरियाणा डॉट इन पर लॉगइन करके अपना आवेदन कर सकता है। उन्होंने बताया कि उद्यमकर्ताओं के लिए हरियाणा सरकार द्वारा हरियाणा उद्यम एवं रोजगार पॉलिसी-2020 का नोटिफिकेशन जारी हो चुका है जो कि एक जनवरी, 2021 से शुरू हो गई है। उन्होंने बताया कि हरियाणा एंटरप्राइज प्रमोशन एक्ट के प्रावधान के अनुसार उद्यमियों को सभी प्रकार के सुविधाएं एक ही छत्त के नीचे प्रदान करने के उदेश्य से हरियाणा एंटरप्राइज प्रमोशन सेंटर का गठन किया गया है, जहां पर संबंधित विभाग द्वारा अपनी सेवाएं प्रदान की जा रही है।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

अम्बाला को लॉजिस्टिक हब बनाने की ओर एक कदम बढे: कटारिया

अम्बाला लोकसभा 3 जिलो में रेलवे पुलो के चल रहे 200 करोड़ के काम 31 मार्च 2022 तक पूर्ण हो जाएंगे: कटारिया

For Detailed News-

पंचकूला, 23 जून- केंद्रीय जल शक्ति एवं सामाजिक अधिकारिता राज्य मंत्री रतन लाल कटारिया ने केंद्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल से भेंट कर अपनी लोकसभा के रेलवे प्रोजेक्ट्स के बारे में बात की, कटारिया ने बताया कि इस समय करीब 201 करोड़ के  28 आरओबी/आरयूबी/प्लेटफार्म के प्रोजेक्ट उनके लोकसभा क्षेत्र अम्बाला में चल रहे है जो 31 मार्च 2022 तक अगले 9 महीने में पूरे हो जाएंगे।


उन्होंने बताया कि इसमें 4 पंचकूला जिले में और बाकी 12-12 अम्बाला व यमुनानगर जिलो में चल रहे है, इन प्रोजेक्टस के पूरा होंने से आने वाले दिनों में इन क्षेत्र के  आसपास रहने वाले आमजन को बहुत सुविधा होगी।


कटारिया ने बहुत दिनों से लंबित चंडीगढ़ – बद्दी रेल लाइन परियोजना शुरू करने पर केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल जी का धन्यवाद किया, 3 बड़े महत्वपूर्ण प्रोजेक्ट यमुनानगर से करनाल, यमुनानगर से चंडीगढ़ , यमुनानगर से पटियाला को भी शीघ्र शुरू करने की अपील की है।


कटारिया ने बताया कि हरियाणा के मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने पंचकूला मेट्रोपोलिटन अथॉरिटी बनाने की घोषणा की है, पंचकुला व यमुनानगर से सटे हिमाचल के दोनों बड़े उद्योगिक क्षेत्र बद्दी व कालाअंब अगर सीधे रेल लिंक से जुड़ जाएंगे तो जहां उद्योगों को बड़ी सुविधा मिलेगी वही क्षेत्र में रोजगार के स्थायी साधन उपलब्ध होंगे, प्रोजेक्ट में होने वाले व्यय भी उद्योगिक उन्नति होने से बहुत जल्दी पूरा हो सकता है। केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल जी ने कटारिया को अपना पूर्ण सहयोग देने का वादा किया है।


कटारिया ने आगे बताया पंचकुला साइड रेलवे स्टेशन के विकास व अम्बाला कैंट रेलवे स्टेशन को विश्वस्तरीय बनाने के लिये 2015 में भारत सरकार व फ्रांस में एक समझौता हुआ था उस कार्य को भी गति देने की बात हुई है।

https://propertyliquid.com

उल्लेखनीय है अम्बाला को लाजिस्टिक हब बनाने के प्रयास में कटारिया बहुत दिनों से लगे है, रेल व रोड का एक विस्तृत जाल अम्बाला के आसपास के क्षेत्रों में फैला हो , जिससे पड़ोस के 5-6 राज्यो को लाजिस्टिक की बेहतरीन सुविधाएं अम्बाला में प्राप्त हो सकें।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

Environment & City Beautification committee meeting held

For Detailed News-

Chandigarh, June 23: – A meeting of Environment & City Beautification committee, Municipal Corporation Chandigarh was held here today in the conference hall under the chairmanship of Sh. Sachin Kumar Lohatiya and attended by other member councillors of MCC namely Sh. Hardeep Singh, Sh. Rajesh Gupta, Mrs Gurbax Rawat, Mrs Heera Negi, Maj. Gen. M.S. Kandal and concerned officers of MCC. Mrs. Asha Jaswal, MC Councillor also attended the meeting as special invitee.

During the meeting various issues related to proper maintenance of parks and green belts and repair of infrastructure over there along with the open air gyms were discussed and asked the concerned officers to expedite the work on priority before monsoon besides according approval to following developmental agendas:

1.     Supply and fixing of open air gym and fitness equipments in the park in front of house no. 3070 & 3071, Sector 20, Chandigarh under landscaping at estimated cost of Rs. 2.95 Lac.

https://propertyliquid.com

2.     Providing and fixing of brick on edge on both sides of concrete track in park near Verka booth, Sector 21, Chandigarh and repair of concrete track in Green Belt sector 18&19, Chandigarh under Landscaping at estimated cost of Rs. 9.70 Lacs.

https://propertyliquid.com/

The Committee also recommended to consider the amendment in the policy regarding provision of huts in the small parks under 0.5 acre land.

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

Webinar on Cancer Awareness

Chandigarh June 23, 2021

For Detailed News-

Centre for Social Work and Department of Ancient Indian History, Culture & Archaeology, Panjab University in collaboration with the Organization SANJEEVANI  organized  a webinar today on Cancer Awareness and Healthy LifeStyle . 

Prof. Monica Munjial Singh, Dept. of Social Work and Prof. Paru Bal Sidhu, Dept. of AIHC&A  gave the introductory remarks.

 Founder of SANJEEVANI, Mrs. Ruby Ahluwalia  talked about proper diet, proper breathing  and building immunity to prevent cancer.

https://propertyliquid.com

Ms Archita Verma, Member, SANJEEVANI gave an inspiring motivational talk on prevention and cure of cancer.  The talks were followed by a Quiz in which one of the winners was Ms Sarika Dhiman, Research Scholar, Department of Ancient Indian History, Culture& Archaeology.  The webinar was well attended.  All participants were issued an e-certificate by SANJEEVANI organization.

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

खेल विभाग द्वारा अंतर्राष्टï्रीय ओलंपिक दिवस के अवसर पर साइलिक रैली व पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन

– अंतर्राष्टï्रीय हॉकी खिलाड़ी सविता पूनिया के पिता महेंद्र सिंह पूनिया व माता लीलावती ने साइलिक रैली को दिखाई हरी झंडी

सिरसा, 23 जून।

For Detailed News-


जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग द्वारा अंतर्राष्टï्रीय ओलंपिक दिवस के अवसर पर साइकिल रैली व पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर अंतर्राष्टï्रीय हॉकी खिलाड़ी सविता पूनिया के पिता महेंद्र सिंह पूनिया ने साइलिक रैली हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर सविता पूनिया की माता लीलावती भी मौजूद थी। जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी लाजवंती ने अंतर्राष्टï्रीय हॉकी खिलाड़ी सविता पूनिया के पिता महेंद्र सिंह पूनिया व उनकी माता लीलावती को पौधा भी भेंट किया।

https://propertyliquid.com


अंतर्राष्टï्रीय हॉकी खिलाड़ी सविता पूनिया के पिता महेंद्र सिंह पूनिया ने कार्यक्रम में उपस्थित खिलाडिय़ों को सविता पूनिया के संघर्ष व मेहनत के बारे में जानकारी दी। उन्होंने जिला स्तर से लेकर टोक्यों ओलंपिक तक के सफर के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि लग्न व मेहनत के बल पर कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है। खेल सभी के लिए जरूरी है, स्वस्थ शरीर और दिमाग को विकसित करने के लिए खेल महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।


जिला खेल एवं युवा कार्यक्रम अधिकारी लाजवंती ने बताया कि वर्तमान समय में खेल क्षेत्र में अपार संभावनाएं है।  बड़े गौरव की बात है कि जिला सिरसा के खिलाडिय़ों ने अंतर्राष्टï्रीय स्तर पर देश, प्रदेश व जिला का नाम चमकाया है। उन्होंने खिलाडिय़ों से आह्वान किया कि वे शिक्षा के साथ-साथ खेलों में अपनी भागीदारी बढ़ाते हुए अपने भविष्य को उज्ज्वल बना सकते हैं। उन्होंने बताया कि अंतर्राष्टï्रीय ओलंपिक दिवस के अवसर पर जिला के पांच स्टेडियमों व आठ राजीव गांधी खेल परिसरों में लगभग 550 पौधे रोपित किए गए हैं। उन्होंने कहा कि पेड़ पर्यावरण को शुद्ध बनाते हैं, स्वच्छ ऑक्सीजन से प्रदूषण स्तर में कमी आती है। खेल परिसरों में पौधारोपण से खिलाडिय़ों में सकारात्मक ऊर्जा का संचार होगा और खेल अभ्यास में और अधिक मन लगेगा। उन्होंने बताया कि शहीद भगत सिंह स्टेडियम में चियर फॉर इंडिया टोक्यो 2020 नाम से सेल्फी प्वाइंट भी स्थापित किया गया है।


इस अवसर पर उपाधीक्षक हरि राम, लॉग टेनिस कोच रेशम सिंह, जुडो कोच सीमा व अर्चना, क्रिकेट कोच शंकर, वॉलीबॉल कोच रणजीत सिंह, कुश्ती कोच लखविंद्र सिंह, तीरंदाजी कोच कर्ण सहित अन्य  मौजूद थे।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

फसल विविधिकरण समय की मांग: डॉ. रामनिवास ढांडा

For Detailed News-

कृषि विज्ञान केंद्र में ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन

पंचकूला, 23 जून- चैधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि विज्ञान केंद्र पंचकूला में एक ऑनलाइन वेबिनार का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में विश्वविद्यालय के विस्तार शिक्षा निदेशक डॉ. रामनिवास ढांडा बतौर मुख्यातिथि शामिल हुए। वेबिनार का विषय स्थायी कृषि प्रणाली रखा गया।


डाॅ. ढांडा ने कहा कि परंपरागत खेती में बदलाव करते हुए फसल विविधीकरण पर जोर देना समय की मांग है। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में प्राकृतिक संसाधनों का अंधाधुंध दोहन हो रहा है, जो पर्यावरण के लिए एक खतरा है। इसलिए प्राकृतिक संसाधनों के संरक्षण के लिए कृषि में विज्ञान और तकनीकी को शामिल किया जाना बहुत ही जरूरी है। उन्होंने कहा कि आज का युग तकनीकी का युग है। मौसम में हो रहे बदलाव, घटते भूमिगत जलस्तर, मुक्त बाजार, घटती हुई जोत और कम होती जमीन की उपजाऊ शक्ति, सीमित  कृषि योग्य क्षेत्र हमारे सामने बहुत ही कठिन चुनौतियां हैं। उन्होंने वैज्ञानिकों से आह्वान करते हुए कहा कि अब हमारा लक्ष्य सीमित संसाधनों का आधुनिक तकनीक के प्रयोग से अधिकाधिक लाभ उठाते हुए किसान की आय में बढ़ोतरी करना होना चाहिए और किसानों को भी चाहिए कि वह कृषि वैज्ञानिकों की सलाह अनुसार और विश्वविद्यालय द्वारा सिफारिश किए गए उर्वरकों का ही इस्तेमाल करें।


समन्वित कृषि प्रणाली एकमात्र विकल्प: डॉ. श्रीदेवी तल्लापगड़ा

https://propertyliquid.com


केंद्र की इंचार्ज श्रीदेवी तल्लाप्रगड़ा ने कहा कि वर्तमान समय में एकल फसल प्रणाली को छोडक़र समन्वित कृषि प्रणाली को अपनाना ही एकमात्र विकल्प है। इससे किसानों की आमदनी मेें इजाफा हो सकता है। उन्होंने कहा कि फसलों में कीड़े, मकोड़े व बीमारियों से कहीं ज्यादा नुकसान खरपतवार करते हैं, इसलिए इसके बचाव हेतू प्रमाणित बीज, सही किस्म का चुनाव, बिजाई का उचित समय, गुणवत्ता वाली गोबर की खाद, खरपतवारों का फूल व बीज बनने से पहले ही नियंत्रण करना कारगर साबित होता है। उन्होंने कहा कि फसलों में बीमारियों की रोकथाम के लिए बीज उपचार करना बहुत जरूरी है। उन्होंने कहा कि ज्यादा खाद व पानी इस्तेमाल करने से भी पौधों में रोग लग जाते हैं। वर्तमान समय में इस बात पर जोर दिया जाना चाहिए कि परंपरागत कृषि पद्धति में बदलाव करके किसानों को फल-फूल सब्जी व औषधीय खेती की ओर ध्यान देना चाहिए, जिससे किसानों की आमदनी में भी इजाफा हो सके। उपभोक्ता, बाजार, व्यापार और मार्केट की मांग के अनुरूप फसलों का उत्पादन किया जाना चाहिए ताकि किसान को अधिक से अधिक लाभ हासिल हो सके। कृषि विभाग की ओर से डॉ. जयप्रकाश ने विभाग द्वारा चलाई जा रही विभिन्न किसान कल्याणकारी योजनाओं के बारे में भी विस्तार पूर्वक जानकारी दी।


 मत्स्य विज्ञानी डॉ. गजेंद्र सिंह ने किसानों को लिए मछली पालन के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए इसकी शुरुआत में आने वाली परेशानियों व उनके समाधान के बारे में बताया। कार्यक्रम मेें सस्य वैज्ञानिक डॉ. वंदना, पौध रोग वैज्ञानिक डॉ. रविंद्र, डॉ. राजेश लाठर ने भी अपने विचार रखे। डॉ. गुरनाम सिंह ने कार्यक्रम में शामिल होने पर सभी प्रतिभागियों का धन्यवाद किया। वेबिनार में क्षेत्र के किसानों,  कृषि अधिकारियों और कृषि विज्ञान केंद्र के कर्मचारियों ने ऑनलाइन माध्यम से हिस्सा लिया।

जिला पंचकूला के विभिन्न केन्द्रों पर आयोजित की जाएगी परीक्षा

उपायुक्त श्री विनय प्रताप सिंह ने जिला के सभी गांवों में ग्रामीणों को पैट्रोलिंग करने के दिये निर्देश।

For Detailed News-

पंचकूला 23 जून- उपायुक्त श्री विनय प्रताप सिंह ने कोविड-19 महामारी के संक्रमण को रोकने व आम जनता के स्वास्थ्य और सुरक्षा की दृष्टि से जिले के सभी गांवों में दिन और रात के समय बिना वैध पास के गांवों में प्रवेश करने वाले व्यक्तियों पर नजर रखने के लिये गश्त लगाने के आदेश जारी किये है। इसके साथ-साथ वे सुनिश्चित करेंगे कि ग्रामीणों द्वारा सामाजिक दूरी का पालन किया जा रहा है।


       उपायुक्त द्वारा ये आदेश पंजाब विलेज एंड स्मॉल टाउन पेट्रोल एक्ट, 1918 की धारा 3 (1) के तहत जारी किए गए हैं जो आगामी आदेशों तक जारी रहेंगे।


        आदेशों में जिले के सभी खंड विकास एवं पंचायत अधिकारियों (बीडीपीओ) को अपने-अपने अधिकार क्षेत्र में गश्त सुनिश्चित करने के आदेश दिये है।


आदेशानुसार जिले के सभी खंड विकास  एवं पंचातय अधिकारी अपने अपने अधिकार क्षेत्र में पड़ने वाले गांव में पैट्रालिंग सुनिश्चित करेंगे और जिला प्रशासन को नियमित रूप से रिपोर्ट देंगे कि उनके अधीन गांवों में कितने वयस्क पुरुष रह रहे है और कितनी संख्या में लोगों ने दिन व रात के समय पैट्रोलिंग करने का विकल्प दिया है। इसके अलावा अधिकारी ये सुनिश्चित करेंगे कि चयनित किये गये ऐसे व्यक्तियों का पैट्रोलिंग करने का तरीका रोटेशन से या संख्या के आधार पर या किसी अन्य तरीके से किया जायेगा। ये आदेश आगामी आदेशों तक जारी रहेंगे। इन आदेशों की अवेहलना करने वाले व्यक्तियों के विरूद्ध पंजाब विलेज एंड स्मॉल टाउन पेट्रोल एक्ट, 1918 की धारा 9 और 11 के तहत कार्रवाही की जायेंगी।


        इन आदेशों की अनुपालना सभी इंसीडेंट कमांडर तथा पुलिस थानों के प्रभारी सुनिश्चित करेंगे। इसके लिये तहसीलदार और नायब तहसीलदार सहयोग करेंगे। आदेशानुसार पुलिस उपायुक्त पंचकूला तथा उपमंडल अधिकारी (ना0) पंचकूला और कालका इन आदेशों की अनुपालना सुनिश्चित करने के लिये नियमित रूप से सुपरवाईज व माॅनिटरिंग करेंगे।

https://propertyliquid.com