Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

पूरे उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए

BIG BREAKING

पूरे उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

Road Safety Awareness Campaign at Panjab University

Chandigarh February 12, 2021

The Department of NSS, Panjab University, Chandigarh in collaboration with NSS Open Unit-UT, Chandigarh organized a Road Safety Campaign on 12th February, 2021at PU Gate No. 2 to create awareness on the importance of wearing Helmets and Seat Belts while driving the vehicles for the safe journey to kickstart the Road Safety Awareness Campaign Month under the theme “Sadak Suraksha” being observed from  January 18 to February 17, 2021.

For Detailed News-

The drive was inaugurated by the NSS Programme Officers Dr. Sucha Singh, Dr. Navneet Kaur, Dr. Tilak, Dr. Vivek, Dr Anuj, Dr Naveen and Mr. Binesh. More than 30 NSS volunteers participated in the Road Safety Campaign. Volunteers made people (motorists as well as pedestrians and cyclists) more aware of the traffic rules and also persuaded them to follow rules particularly wearing of helmets and seat belts while on the road. Dr. Sucha Singh also gave information about “motor vehicle act and traffic rules” and also said that the best way to keep others and yourself safe is to follow proper traffic rules. Volunteers pledged to make aware others about these traffic rules after the drive. 

https://propertyliquid.com

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

Prof (Dr) VK Paul, Member Niti Aayog, Releases Booklet on ‘COVID-19 Prevention- Role of Residential Welfare Association

Chandigarh February 12, 2021

Prof (Dr) VK Paul, Member NITI Aayog, released the infographic booklet – ‘COVID-19 Prevention- Role of Residential Welfare Association’. Professor Vinod K. Paul is a well-known medical professional and has been a faculty member at the All India Institute of Medical Sciences, New Delhi, for over three decades.

For Detailed News-

Prof (Dr) VK Paul commended the efforts of Dr. Suman Mor, Department of Environment Studies, Panjab University, Chandigarh; Dr. Suneela Garg, Maulana Azad Medical College, New Delhi and Dr. Ravindra Khaiwal, Department of Community Medicine & School of Public Health, Post Graduate Institute of Medical Education & Research, Chandigarh for bringing out the booklet on ‘COVID-19 Prevention: Role of Residential Welfare Association’.

Prof Paul mentioned that Residential Welfare Associations play a significant role in restricting the spread of COVID-19. This booklet emphasizes how they can further elaborate on their role in disease prevention, including their role in addressing the stigma and discrimination of COVID-19 patients and corona warriors. He added that Residential Welfare Association could provide counseling and support to COVID-19 affected families and specifically to the vulnerable members.

Prof Paul specifically stressed that Residential Welfare Association have a major role to play to address the issue of vaccine hesitancy, providing the correct information about vaccine & clearing the myths

Dr. Suneela Garg, Director Professor HAG, Maulana Azad Medical College and President-Elect- Indian Association of Public Health and Indian Association of Preventive and Social Medicine mentioned that gated community are the pillar of societies and they have a crucial role in promoting the COVID appropriate behavior to prevent the spread of diseases.

https://propertyliquid.com

Dr. Suman Mor said that Residential Welfare Association played a significant role during the covid crisis’s peak by supporting the vulnerable population and now they can help them by providing all necessary support for the COVID vaccine.

Dr. Ravindra Khaiwal mentioned that the infographic booklet provides guidelines in simple pictorial languages about their responsibilities, including dos and don’ts, to restrict the emergence of coronavirus disease.

The authors mentioned that this infographic booklet aimed to guide the RWAs to promote COVID-appropriate behavior as scientists believe that new strain could even be worse and we need to be vigilant. The infographic is developed in partnership with Indian Public Health (IPHA) and the Indian Association of Preventive and Social Medicine (IAPSM).  

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिए अब 18 फरवरी तक कर सकते हैं आवेदन : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 12 फरवरी।

For Detailed News-


                उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि कृषि अभियांत्रिकी विभाग द्वारा समैम स्कीम 2020-21 के अंतर्गत कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिए ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ़ा कर 18 फरवरी कर दी गई है। जो किसान किसी कारणवश पहले आवेदन करने से वंचित रह गए थे, वे निर्धारित तिथि से पहले अपने ऑवेदन ऑनलाइन कर सकते हैं। योजना का लाभ पहले आओ-पहले पाओ के आधार पर दिया जाएगा।

                उपायुक्त ने बताया कि इच्छुक किसान विभाग के पोर्टल www.agriharyanacrm.com पर ऑनलाइन आवेदन कर सकते है। किसान स्ट्रा बेलर, हे-रेक, शर्ब मास्टर/रोटरी स्लैशर, पीटीओ ऑपरेटेड वीडर, ब्रीकेट मेकिंग मशीन, टै्रक्टर चलित  स्प्रेयर, टै्रक्टर चालित क्रोप कॅम रीपर बाईंडर, रीपर बाईंडर 4/3 व्हील, स्वचालित पैड्डी ट्रांसप्लांटर, मल्टीक्रोप प्लांटर/मेज प्लांटर, न्युमैटिक प्लांटर, कपास बिजाई मशीन, टै्रक्टर चलित बूम स्प्रेयर, लेजर लैंड लेवलर, स्ट्रा रीपर आदि कृषि यंत्रों पर अनुदान के लिए आवेदन कर सकते है।

https://propertyliquid.com


               सहायक कृषि अभियंता डीएस यादव ने बताया कि किसान को आवेदन के समय जिन कृषि यंत्रों की लागत 2.5 लाख से कम है, उसके लिए 2500 रुपये व जिन यंत्रों की लागत 2.5 लाख से अधिक है, उसके लिए पांच हजार रुपये की टोकन राशि जमा करवानी होगी, यह राशि रिफंडेबल होगी। उन्होंने बताया कि टै्रक्टर चालित कृषि यंत्र पर अनुदान के लिए किसान के पास हरियाणा राज्य में पंजीकृत अपना टै्रक्टर होना अनिवार्य है तथा संबंधित किसान ने उस कृषि यंत्र पर पिछले 4 वर्षो में अनुदान का लाभ न लिया हो। इसके अलावा किसान का ‘मेरी फसल-मेरा ब्यौराÓ पोर्टल पर पंजीकरण होना अनिवार्य है।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एक निवारक उपाय के रूप मेंए हरियाणा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक और राजनीतिक समारोह सहित अन्य के बारे में मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी), दिशानिर्देश जारी किए हैं।

पंचकुला, 12 फरवरी- कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एक निवारक उपाय के रूप मेंए हरियाणा राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण ने सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक और राजनीतिक समारोह सहित अन्य के बारे में मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी), दिशानिर्देश जारी किए हैं।   

For Detailed News-

  आज यहां यह जानकारी देते हुए पंचकूला के उपायुक्त श्री मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि इन कार्यक्रमों के आयोजन के लिए 6 फरवरी 2021 को जारी किए गए एसओपी/दिशानिर्देशों के अनुसार, हॉल की क्षमता का अधिकतम 50 प्रतिशत के साथ अनुमति दी जाएगी अर्थात 1000 व्यक्तियों की हॉल क्षमता में 500 व्यक्तियों की अनुमति होगी। इसी प्रकारए 500 व्यक्तियों की हॉल क्षमता में 250 व्यक्तियों की अनुमति है और 200 व्यक्तियों की हॉल क्षमता में 100 व्यक्तियों की अनुमति हैं।उन्होंने बताया कि चेहरे पर मास्क पहनना, सामाजिक दूरी बनाए रखना, थर्मल स्कैनिंग और हैंड वाश या सैनिटाइजर का उपयोग करना अनिवार्य होगा।


        उन्होंने कहा कि खुले स्थानों में, समारोहों के आयोजन के लिए कोई सीमा या बाध्यता नहीं है।  हालांकि, इस संबंध में लोगों को समायोजित करने के लिए जगह की क्षमता को ध्यान में रखते हुए ही अनुमति दी जाएगी ताकि समय-समय पर गृह मंत्रालय और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार और हरियाणा सरकार द्वारा जारी किए गए सभी सामाजिक दूरी मानदंड जैसे कि चेहरे पर मास्क पहनना, हैंड वाश या सैनिटाइजर का उपयोग और थर्मल स्कैनिंग आदि के लिए अनिवार्य रूप से पालन किया जाना है।  उन्होंने बताया कि इस संबंध में सामाजिक, शैक्षणिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक, धार्मिक, राजनीतिक कार्यक्रमों और अन्य मण्डलों के आयोजक जिला मजिस्ट्रेट की पूर्व अनुमति लेंगे।

https://propertyliquid.com


        श्री आहूजा ने बताया कि इसके अलावा, यह सुनिश्चित करने के लिए भी निर्देश जारी किए गए हैं कि स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए उत्सवो के दौरान गत 6 फरवरी, 2021 को जारी किए गए एसओपी के सभी प्रावधान, निवारक उपायों का अक्षरशः पालन किया जाना चाहिए।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

औद्योगिक इकाइयों के केसों का पॉलिसी प्रावधान के तहत तुरंत करें निपटान : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 12 फरवरी।

For Detailed News-


                उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि औद्योगिक इकाइयों के विभिन्न कार्योंं को पूरा करने के लिए समय का निर्धारण किया गया है, इसलिए तय समय सीमा में ही सभी कार्य पूरे होने चाहिए। बिना उचित कारण के किसी भी कार्य में विलंब नहीं होना चाहिए और लंबित केसों को पॉलिसी प्रावधान के अंतर्गत तुरंत प्रभाव से निपटान करते हुए प्रगति रिपोर्ट पोर्टल पर अपलोड करना सुनिश्चित करें।


उपायुक्त प्रदीप कुमार शुक्रवार को स्थानीय लघु सचिवालय के बैठक कक्ष में उद्यमी प्रोत्साहन नीति-2016 के प्रावधान के तहत गठित जिला स्तरीय क्लीयरेंस कमेटी व जिला स्तरीय ग्रिवेंस कमेटी की मासिक समीक्षा बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में उप निदेशक जिला उद्योग केंद्र ज्ञान चंद्र लांग्याण सहित संबंधित विभागों के जिला स्तरीय नोडल अधिकारी मौजूद थे।

https://propertyliquid.com


                उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि मोबाइल टावर लगाने की स्वीकृति देने से पहले अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि टावर आबादी वाले क्षेत्र से थोड़ी दूरी पर हो। उन्होंने कहा कि जिला स्तरीय क्लीयरेंस कमेटी के माध्यम से एक एकड़ तक के सीएलयू और दस करोड़ लागत तक के प्रोजेक्ट को अनुमति प्रदान करती है। बैठक में 15 आवेदनों पर विचार विमर्श किया गया। ये आवेदन दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगम, श्रम विभाग, पीडब्ल्यूडी विभाग, पंचायत विभाग व नगर परिषद / पालिकाओं से संबंधित थे। इनमें से अधिकतर का निपटान मौके पर ही किया गया। उपायुक्त ने संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि सभी लंबित केसों को पॉलिसी प्रावधान के अंतर्गत तुरंत प्रभाव निपटान करें तथा इनकी प्रगति रिर्पोट पोर्टल पर अपटेड करना सुनिश्चित किया जाए। इसके लिए आवेदनों के निपटान के लिए अपनी स्पष्ट रिपोर्ट अंकित करें ताकि उनके निपटान में किसी प्रकार का विलंब न हो सके।


                जिला उद्योग केन्द्र के उप निदेशक ज्ञानचंद लाग्यांण ने बताया कि कि इनवेस्ट हरियाणा पोर्टल के माध्यम से विभिन्न 26 विभागों की 118 प्रकार की सेवाएं प्रदान की जा रही है, जिसमें आवेदक वबसाइट इनवेस्ट हरियाणा डॉट इन पर लॉगइन करके अपना आवेदन कर सकता है। उन्होंने बताया कि उद्यमकर्ताओं के लिए हरियाणा सरकार द्वारा हरियाणा उद्यम एवं रोजगार पॉलिसी-2020 का नोटिफिकेशन जारी हो चुका है जो कि एक जनवरी, 2021 से शुरू हो रही है। उन्होंने बताया कि हरियाणा एंटरप्राइज प्रमोशन एक्ट के प्रावधान के अनुसार उद्यमियों को सभी प्रकार के सुविधाएं एक ही छत्त के नीचे प्रदान करने के उदेश्य से हरियाणा एंटरप्राइज प्रमोशन सैंटर का गठन किया गया है, जहां पर संबंधित विभाग द्वारा अपनी सेवाएं प्रदान की जा रही है और उद्यमियों को उनके प्रस्तावित प्रोजेक्ट बारे सभी प्रकार की क्लीयरेंस 30 दिन में दिए जाने का प्रावधान है।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

खेलों में बेहतर प्रशिक्षण व सही मार्गदर्शन से ही लक्ष्य की प्राप्ति संभव : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 12 फरवरी।

For Detailed News-


            उपायुक्त प्रदीप कुमार ने कहा कि अगर बच्चों को अभिभावकों का प्रोत्साहन और खेल प्रशिक्षक का सही मार्गदर्शन मिले तो वे निश्चित ही जीवन में बड़े से बड़ा लक्ष्य हासिल कर सकते हैं। अभिभावक बच्चों को शिक्षा के साथ-साथ न केवल खेल तथा अन्य गतिविधियों में भाग लेने के लिए प्रेरित करे बल्कि उनकी रुचि अनुसार आगे बढऩे के लिए हौसला बढ़ाएं। इसके अलावा अभिभावक बच्चों के स्वास्थ्य और पोष्टिïक भोजन का विशेष ध्यान रखें, क्योंकि यदि बच्चे शारीरिक तौर पर स्वस्थ होंगे तो खेल के साथ-साथ शैक्षणिक कार्य में भी रुचि बढ़ेगी।


            उपायुक्त प्रदीप कुमार वीरवार को देर सांय स्थानीय बाबा भूमणशाह चौक के नजदीक स्थित दि रामेश्वर जांगड़ा स्पोर्टस ट्रस्ट बॉक्सिंग अकादमी द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में बतौर मुख्यअतिथि संबोधित कर रहे थे। समारोह में उपायुक्त ने नॉर्थ इंडिया चैंपियनशिप में मैडल विजेता बच्चों को सम्मानित कर न केवल उनका हौसला बढ़ाया बल्कि अपनी शिक्षा व खेलों के दिनों के अनुभवों को बच्चों के साथ सांझा किए। गत सात फरवरी से 10 फरवरी तक पंजाब के फाजिल्का में हुई नॉर्थ इंडिया चैंपियनशिप में अकादमी के तीन बच्चों ने स्वर्ण, तीन बच्चों ने रजत व तीन बच्चों ने कांस्य पदक जीत कर जिला, प्रदेश व अपने परिवार का नाम रोशन किया। इस सफलता पर उपायुक्त ने मेडल विजेता खिलाडिय़ों को बधाई दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। इस अवसर पर अकादमी के मैंटर एवं अर्जुन अवार्डी मंदीप जांगड़ा, खेल प्रशिक्षक परविंद्र फौगाट, मैनेजर विजय देडू सहित खिलाड़ी व उनके अभिभावक मौजूद थे।


            उपायुक्त ने कहा कि अगर बच्चों को खेल नर्सरियों में सही मार्गदर्शन व प्रशिक्षण मिले तो निश्चित तौर पर वे खेल के साथ-साथ पढ़ाई में भी सफलता हासिल कर सकेंगे, क्योंकि बच्चों की बचपन से ही नींव मजबूत होगी तो वे अपने जीवन में बड़ी से बड़ी कामयाबी आसानी से हासिल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि बच्चे अर्जुन की तरह अपने लक्ष्य का निर्धारण कर कड़ी मेहनत करें और अपने व अपने अभिभावकों के सपनों को साकार करें। प्रशिक्षक छोटे खिलाडिय़ों को खेल के टिप्स के साथ-साथ सही डाइट व शिक्षा के लिए भी उनका मार्गदर्शन करें। उन्होंने कहा कि जीवन में आगे बढऩे और सफलता प्राप्त करने के लिए तंदुरुस्त शरीर में एक स्वस्थ मन का होना बहुत ही जरूरी है। खेल बच्चों को जहां अनुशासन में रहना सीखाता है वहीं उनमें आत्मविश्वास भी बढ़ता है, जो जीवन में आगे बढऩे में सहायक होता है। उन्होंने कहा कि खेल या शिक्षा में एकाग्रता होनी बहुत जरूरी है, क्योंकि एकाग्रता व मेहनत से हमें जीवन में आगे बढऩे की प्रेरणा मिलती है।

https://propertyliquid.com


            अकादमी के मैंटर एवं अर्जुन अवार्डी मंदीप जांगड़ा ने बताया कि सात फरवरी से 10 फरवरी तक पंजाब के फाजिल्का में हुई नॉर्थ इंडिया चैंपियनशिप में दि रामेश्वर जांगड़ा स्पोर्टस ट्रस्ट बॉक्सिंग अकादमी के 18 खिलाडिय़ों ने भाग लिया और तीन स्वर्ण पदक सहित 9 पदक प्राप्त किए। उन्होंने बताया कि झील, रजनी व दीक्षांत ने स्वर्ण, अभिनव, निशांत व सुजल ने रजत व राहुल, शोर्य व सुभाष ने कांस्य पदक हासिल किए।

Panjab University, Chandigarh conducted M.Phil. & Ph.D. Entrance Test on 7.3.2021.

डिप्टी सीएम के प्रयासों से सिरसा को मिलेंगे 6 वेंटिलेटर

सिरसा, 12 फरवरी।

स्वास्थ्य सेवाओं को और ज्यादा बेहतर करना हमारा प्रयास – दुष्यंत चौटाला


                प्रदेश के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला के प्रयासों से सिरसा जिला को जल्द छह वेंटिलेटर उपलब्ध होंगे। इससे जिला के सरकारी अस्पताल में पांच अतिरिक्त वेंटिलेटर की सुविधा बढ़ जाएगी तो वहीं ग्रामीण क्षेत्र में भी स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर करने की दिशा में डिप्टी सीएम ने अहम कदम उठाया है। ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को वेंटिलेटर सुविधा मिले, इसके लिए ओढा सीएचसी में भी एक वेंटिलेटर उपलब्ध होगा, इससे आपातकालीन सेवाओं के दौरान गांवों के गंभीर मरीजों को लाभ मिलेगा। सिरसा को ये वेंटिलेटर सीएसआर स्कीम के तहत जल्द उपलब्ध करवाएं जाएंगे।

For Detailed News-


                उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने कहा कि प्रदेश सरकार का निरंतर यही प्रयास है कि गांव-गांव तक बेहतर स्वास्थ्य सेवा पहुंचाई जाए। उन्होंने कहा कि इसको लेकर सिरसा जिला में जल्द छह वेंटिलेटर उपलब्ध करवाएं जाएंगे, इससे सिरसा के सामान्य अस्पताल व ओढा सीएचसी में मरीजों को अब शीघ्र ही वेंटिलेटर की सुविधा मिल सकेगी।


                दुष्यंत चौटाला ने कहा कि इन मेड-इन-इंडिया जीवन-रक्षक वेंटिलेटर का कोविड के मरीजों तथा अन्य घातक बीमारियों के मरीजों को लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि कोविड-19 महामारी के दौरान बनी आपातकालीन स्थिति में दुनिया के कई बड़े देशों को भी मरीजों को वेंटिलेटर सुविधा देने से जुझना पड़ा। डिप्टी सीएम ने कहा कि अस्पतालों में वेंटिलेटर की संख्या बढऩे से राज्य को जहां आपात स्थिति से निपटने में सहायता होगी, वहीं मरीजों को तुरंत वेंटिलेटर सुविधा दी जा सकेगी। उन्होंने भरोसा दिलाया कि भविष्य में भी वे अपनी प्रतिबद्धता को इसी तरह जारी रखेंगे। फ्लिपकार्ट कंपनी की सहायता से सीएसआर स्कीम के तहत जल्द ही इन छह वेंटिलेटर की सुविधा मरीजों को मिल सकेगी।

https://propertyliquid.com