पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

MCC joins Safaimitra Suraksha Challenge competition

Chandigarh, November 19:- The Municipal Corporation Chandigarh joined the Safaimitra Suraksha Challenge competition to be held between 243 cities throughout the country from November 19, 2020 and May, 2021. The competition launched by Sh. Hardeep Singh Puri, MoS, I/C, Housing and Urban Affairs, Govt. of India through webinar from New Delhi, has been joined by Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner, Municipal Corporation, Chandigarh here today.

For Detailed News-

The Challenge, aptly launched on the occasion of World Toilet Day, is aimed at preventing ‘hazardous cleaning’ of sewers and septic tanks and promote their mechanized cleaning.

Explaining the contours of the Challenge, the Commissioner said that the challenge will focus extensively on creating citizen awareness on this critical issue along with infrastructure creation for mechanized cleaning and capacity building of workforce.

https://propertyliquid.com

He said that the actual on-ground assessment of participating cities will be conducted in May 2021 by an independent agency and results of the same will be declared on 15 August 2021. Cities will be awarded in three sub-categories – with population of more than 10 lakhs, 3-10 lakhs and upto 3 lakhs, with a total prize money of Rs 52 crores to be given to winning cities across all categories.

Sh. Sorabh Arora, Joint Commissioner, Sh. Shailender Singh, Chief Engineer, Sh. Vijay Kumar Premy, Executive Engineer, MCPH and other concerned officers were also present during the webinar at Chandigarh Smart City Ltd. office premises, Sector 17, Chandigarh.

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

दिल व कैंसर के बाद स्वास रोग दुनिया भर में मौतों का सबसे बड़ा कारण: डा.एस.के. गुप्ता

सांस संबंधी बीमारियां भारत में छुपी हुई महामारी

चंडीगढ़, 19 नवंबर ( ): फेफड़ों के खराब होने से संंबंधित करोनिक आब्सट्रक्टिव पलमोनेरी डिजीज (सीओपीडी) के बारे जागरूकता पैदा करने के लिए पारस अस्पताल पंचकूला के डाक्टरों की एक टीम ने इस रोग से संबंधित कई तथ्यों तथा काल्पनिक बातों के बारे जानकारी दी। इस अवसर पर फेफड़ों संबंधी सीनियर सलहाकार डा. एस.गुप्ता व सीनियर मेडीसन कंस्लटेंट डा. सुमित जैन मौजूद थे।  उन्होंने बताया कि पूरी दुनिया में लाखों लोग सी.ओ.पी.डी. रोगों से पीडि़त हैं, जिनमें एमफिसिमा, सोजिश, ना ठीक होने वाला दमा तथा सोजिश के कुछ अन्य लक्ष्ण शामिल हैं। करोनिक आब्सट्रक्टिव पलमोनेरी डिजीज (सीओपीडी ) फेफड़ों संबंधी सभी बीमारियों के लिए प्रयोग किया जाने वाला आम नाम है। इस बीमारी की पहचान सांस लेने में तकलीफ से होती है।

For Detailed News-


करोनिक आब्सट्रक्टिव पलमोनेरी डिजीज (सीओपीडी) रोग तथा इसके इलाज पर प्रकाश डालते हुए अस्पताल पंचकूला के फेफड़ों संबंधी सीनियर सलहाकार डा. एस.के. गुप्ता ने कहा कि दिल की बीमारियां तथा कैंसर के बाद सीओपीडी दुनिया में सबसे ज्यादा लोगों की मौत का कारण बनता है। ज्यादातर लोग सांस लेने में तकलीफ व खांसी को अपनी बढ़ती उम्र से जोड़ लेते हैं। हो सकता है कि इस बीमारी के शुरूआती दौर में आपको इसके लक्षणों के बारे पता न लगे। सी.ओ.पी.डी. रोग कई वर्षों तक बगैर लक्ष्णों से भी रह सकता है। जब यह रोग बहुत ज्यादा बढ़ जाता है, उस समय आपको इसके लक्ष्ण देखने को मिलते हैं। इसकी पहचान फेफड़ों के अंदर तथा बाहर हवा के दौरे में रूकावट से होती है, जिससे सांस लेना मुश्किल हो जाता है।


पारस अस्पताल पंचकूला में इनटरनल मेडीसन के सीनियर सलाहकार डा. सुमित जैन ने अपने अनुभव सांझे करते हुए कहा कि सी.ओ.पी.डी. आम तौर पर 40 साल से ज्यादा उम्र के लोगों में देखने को मिलता है। इस रोग से पीडि़त हर कोई नही, पर ज्यादातर (90 प्रतिशत) लोग ऐसे होते हैं, जो कि धूम्रपान करते हैं। सीओपीडी ऐसे लोगों को भी हो सकता है, जो लंबे समय तक फेफड़ों के लिए खतरनाक हालात जैसे रसायनों, धूल या धुएं में तथा चूल्हे के सामने काम करते रहे हैं। ऐसे लोगों को भी यह रोग हो सकता है, जिन्होंने कभी धूम्रपान नहीं किया या वह कभी लंबे समय तक प्रदूषण भरे वातावरण में नहीं रहे। भारत में सी.ओ.पी.डी. की दर 5.5 से 7.55 प्रतिशत है। बीते समय दौरान हुए सर्वेक्षण में बताया गया है कि पुरुषों में सी.ओ.पी.डी. की अधिक से अधिक दर 22 प्रतिशत है, जबकि महिलाओं ये यह 19 प्रतिशत है।


इस अवसर पर डा. सुमित जैन ने कहा कि इस रोग से पीडि़त लोगों को थोड़ा दूर चलने-फिरने में सांस चढ़ जाता है तथा यह बहुत जल्द बीमारियों तथा निमोनिया का शिकार हो जाते हैं। अकसर, पीडि़तों को रोजाना 24 घटें तक आक्सीजन की जरूरत रहती है। यदि आप में एफीसिमा या सोजिश की समस्या है तो आप सी.ओ.पी.डी. से पीडि़त हैं। सी.ओ.पी.डी. के लंबे समय रहने से दिल का बायां तरफ का हिस्सा बड़ा हो जाता है, जिससे अंत में व्यक्ति की मौत हो जाती है। उन्होंने कहा कि सी.ओ.पी.डी. का कोई स्थाई इलाज नहीं है, पर रोग से शरीर का ज्यादा नुकसान होने से बचाने तथा जीवन का स्तर बेहतर करने के तरीके मौजूद हैं।

https://propertyliquid.com


डा. एस.के. गुप्ता ने यह भी कहा कि जब सर्दी आती है तो सी.ओ.पी.डी. से पीडि़त लोगों का स्वास्थ्य खराब हो जाता है। उनको ज्यादा  ठंड, जुकाम तथा अन्य सांस संबंधी बीमारियां होती हैं। इस रोग के लक्ष्ण सॢदयों दौरान ज्यादा बढ़ जाते हैं। उन्होंने कहा कि फेफड़े खून में आक्सीजन मिलाने का काम करते हैं तथा दिल खून का दौरा चलाता हैं, जिससे आक्सीजन शरीर के अलग-अलग हिस्सों में पहुंचती हैं। तापमान घटने से सांस नली सिकुड़ जाती है, जिससे खून का दौरा रूकता है तथा दिल को आक्सीजन नहीं मिलती। दिल का ज्यादा तेजी से धडक़ता है तथा ब्लड प्रैशर बढ़ जाता है। इसलिए ठंड के मौसम में सांस प्रणाली से ज्यादा भार पड़ता है। इसलिए यह जरूरी है कि जब भी आपको इस तरह के लक्षण दिखें आप डाक्टर को जल्द से जल्द संपर्क करें।


इस अवसर पर मौजूद पारस अस्पताल पंचकूला के फैसिलिटी डायरेक्टर डा. आशीष चड्ढा ने कहा कि मौजूदा समय की मांग है कि बीमारियों से बचाव की तरफ ज्यादा ध्यान दिया जाए। इसमें सी.ओ.पी.डी तथा अन्य फे$फड़ों से संबंधित बीमारियां तथा इनके खतरों के बारे जागरूकता फैलाना शामिल है। जिसके लिए सी.ओ.पी.डी. तथा संबंधित समस्याओं के लिए बड़े सतर पर सार्वजनिक शिक्षा प्रोग्राम, वर्कशाप तथा सलाहकार सेशन चलाने चाहिए।

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

Seniors of English Deptt,PU Interact with The Freshers Online in the Ice Breaking Session

Chandigarh November 19, 2020

The Department of English and Cultural Studies has become the first department in Panjab University to organize an online “Ice Breaking Session”  under the guidance of Prof. Deepti Gupta, Chairperson. This event was an effort by the students of MA English Final Year to welcome the new batch.

Prakhar Sinha, Class Representative, MA Final Year welcomed everyone and introduced his classmates who were serving as the speakers and mentors, to their juniors.

For Detailed News-

The new students introduced themselves with their respective career aspirations and academic backgrounds. They were high on energy and posed several questions about the department and its academics. Senior students enthusiastically resolved their queries and briefed them about various highlights of the department. COVID-19 had put students through challenging times but the Ice Breaker and a hearty conversation cheered everyone up. Marking pattern, Hostel admission procedure, Optional subject choice related questions were the most frequent ones. Many of them were anxious about the new syllabus introduced in 2019, but final year students reassured them with the promise of thorough guidance. The pandemic didn’t allow the senior students to meet and greet the new batch, but technology allowed them to connect which left everyone ecstatic. Senior students spoke about the kinds of challenges they faced when preparing for exams and provided juniors with study strategy and tips to score well. Inspiring examples of the class toppers were given to motivate juniors for meritorious academic performance.

The boarding students spoke about plenty of student accommodations available for students who don’t qualify for a hostel. Senior students discussed the major attractions of Punjab University like Annual Fests, Departmental events, Campus life and the liberal hostel life. New students were reassured about the University’s institutional support, gender inclusive space, innumerous platforms for talent and an equal environment for all. Regular initiatives taken by the senior students to bond with junior students were also discussed in detail. Seniors concluded by saying that all students should support each other.

https://propertyliquid.com

The new students felt that the interactive session had been immensely helpful to them. They expressed their gratitude to the senior students for the warm welcome. The session ended with everyone hoping to meet soon.

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

अधिकारी सक्षम योजना के सफल क्रियान्वयन की दिशा में करें कार्य : एसडीएम जयवीर यादव

सिरसा, 19 नवंबर।

For Detailed News-

एसडीएम ने की खंड सिरसा व नाथूसरी चौपटा के सक्षम योजना कार्यों  की समीक्षा


एसडीएम जयवीर यादव ने कहा कि अधिकारी सक्षम योजना के तहत किए जा रहे कार्यक्रमों में तेजी लाएं और विद्यार्थियों के लर्निंग लेवल को बढाने बारे कार्य योजना बनाकर उसका बेहतर तरीके से क्रियान्वयन करें। सक्षम योजना विद्यार्थियों के लर्निंग लेवल बढाने की दिशा में प्रदेश सरकार की महत्वकांक्षी योजना है, इसलिए अधिकारी योजना के सफल क्रियान्वयन के लिए गंभीरता से कार्य करें।

एसडीएम वीरवार को लघुसचिवालय स्थित सभागार में सक्षम हरियाणा योजना के तहत खंड सिरसा व नाथूसरी चौपटा के कार्र्याें की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में खंड शिक्षा अधिकारी कमलेश, जसपाल सिंह व दोनों खंडों के एबीआरसी, बीआरपी सदस्य उपस्थित थे। बैठक में सीएमजीजीए सुकन्या जर्नादन ने योजना संंबंधी रिपोर्ट प्रस्तुत की। एसडीएम जिला के दोनों खंडों में शिक्षा विभाग की ओर से चलाए जा रहे सक्षम अभियान की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।

https://propertyliquid.com


बैठक में एसडीएम ने कोविड-19 की हिदायतों की अनुपालना बारे भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि कोरोना के बचाव संबंधी उपायों के बारे में आमजन को जागरूक करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी व कर्मचारी अपने कार्यों को समय अवधि में पूरा करें, ताकि आमजन को किसी प्रकार की असुविधा न हो और उसे सरकार की योजनाओं का लाभ अविलंब मिल सके।

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

15 दिसंबर तक चलेगा मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम : उपायुक्त प्रदीप कुमार

सिरसा, 19 नवंबर।


                  उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी प्रदीप कुमार ने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग के निर्दशानुसार एक जनवरी 2021 को आधार मानकर मतदाता सूचियों का पुनरीक्षण कार्यक्रम चलाया जा रहा है जिसके तहत मतदाता सूची के संबंध में 15 दिसंबर तक दावे व आपत्तियां प्राप्त किए जाएंगे। इस अवधि के दौरान कोई भी पात्र व्यक्ति नये वोट बनवाने, कटवाने, वोट शुद्धि आदि के लिए अपना आवेदन संबंधित मतदान केंद्र पर जमा करवा सकेंगे। इसी कड़ी में 28 व 29 नवंबर तथा 12 व 13 दिसंबर 2020 को विशेष अभियान चलाया जाएगा। इन विशेष तिथियों में बूथ लेवल अधिकारी प्रात: 9 से सायं 5 बजे तक अपने बूथ पर उपस्थित रहकर दावे व आपत्तियों के आवेदन प्राप्त करेंगे। दावे व आपत्तियों का निपटारा 5 जनवरी, 2021 तक किया जाएगा तथा 15 जनवरी 2021 को मतदाता सूचियों का अंतिम प्रकाशन कर दिया जाएगा।

For Detailed News-


                      उपायुक्त एवं जिला निर्वाचन अधिकारी प्रदीप कुमार वीरवार को अपने कार्यालय में विशेष पुनरीक्षण मतदाता सूची को लेकर अधिकारियों व राजनीतिक पार्टियों के प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर रहे थे। इस दौरान उपायुक्त ने जहां अधिकारियों को मतदाता सूची व मतदान केंद्रों के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश दिए, वहीं इस कार्य में सभी राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से सहयोग की अपील की। बैठक में एसडीएम जयवीर यादव, एसडीएम दिलबाग सिंह, एसडीएम अश्वनी कुमार, चुनाव तहसीलदार हनुमानदास, कानूनगो बलवंत सिंह, सतपाल, हवासिंह, जगदीश चंद्र सहित राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि उपस्थित थे।


                      उपायुक्त ने कहा कि 18 एवं 19 आयु वर्ग के युवा मतदाताओं के अधिक से अधिक वोट दर्ज किए जाएं ताकि कोई भी मतदाता ना छुटे।  विशेष रूप से महिलाओं के पंजीकरण पर विशेष ध्यान दिया जाए। उन्होंने राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से कहा कि त्रुटिरहित मतदाता सूची तैयार करने में वे अपना सहयोग करें और जल्द से जल्द अपने-अपने बूथ लेवल एजेंट नियुक्त करें। कोई भी पात्र व्यक्ति अपना फार्म नंबर-6 भरकर निर्वाचक पंजीयन अधिकारी, ऑनलाइन पोर्टल एनवीएसपी एवं अपनी नजदीकी सीएससी पर आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए आयोग की वेबसाईट पर उपलब्ध मोबाईल एप का भी प्रयोग किया जा सकता है। जानकारी के लिए नेशनल सर्विस सेंटर 1950 पर फोन किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि आवेदन पर आवेदक के हस्ताक्षर व फोटो जरूर होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पारदर्शिता के लिए इस बार आवेदन फार्म बंडलों में ईक्_ïा करके नहीं लिए जाएंगे। अभियान के तहत नये मत या मत में शुद्घि के लिए हिंदी व अंग्रेजी दोनों भाषाओं के आवेदन भरवाए जाएंगे। पंचायत राज अधिनियम के तहत होने वाले चुनाव भी अंतिम प्रकाशित मतदाता सूची के अनुरूप ही होगा।

https://propertyliquid.com


28, 29 नवंबर तथा 12, 13 दिसंबर को चलेगा विशेष अभियान :
                      उपायुक्त प्रदीप कुमार ने बताया कि आमजन की सुविधा के लिए 28, 29 नंवबर तथा 12, 13 दिसंबर को विशेष अभियान चलाया जाएगा। इन अभियान तिथियों के दिन बूथ लेवल अधिकारी संबंधित मतदान केंद्रों पर प्रात: 9 से सायं 5 बजे तक उपस्थित रहकर नये वोट बनवाने, वोट कटवाने, वोट शुद्धि आदि के बारे में आवेदन प्राप्त करेंगे। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे अपने-अपने बूथों को इन तिथियों में निरीक्षण कर सुनिश्चित करेंगे कि सभी बीएलओ बूथ पर उपस्थित रहकर आवेदन प्राप्त कर रहे हैं या नहीं।

पीएम किसान योजना की 7वीं किस्त, एक दिसंबर से किसानों के खातों में डलना शुरू हो जाएगी !

लोक सम्पर्क विभाग द्वारा गांव पीरखेड़ा व जोधपुरिया में कार्यक्रम आयोजित

सिरसा, 19 नवंबर।

For Detailed News-


                    उपायुक्त प्रदीप कुमार के निर्देशानुसार जिला सूचना एवं जनसंपर्क विभाग द्वारा विभिन्न गांवों में प्रचार-प्रसार के माध्यम से लोगों को नशा मुक्त भारत अभियान को सफल बनाने की अपील की जा रही है। इसके साथ-साथ आमजन को कोविड-19 के नियमों की पालना करते हुए मास्क लगाने व फसल अवशेष न जलाने का संदेश भी दिया जा रहा है।


                    इसी कड़ी में विभाग की सिनेमा यूनिट एवं भजन पार्टी द्वारा गांव पीरखेड़ा व जोधपुरिया में विशेष प्रचार अभियान के तहत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में जहां सिनेमा यूनिट द्वारा ग्रामीणों को नशे पर आधारित लघु फिल्म ‘नशा एक अभिशापÓ दिखा कर जागरुक किया गया वहीं भजन पार्टी द्वारा गीतों व भजनों के माध्यम से ग्रामीणों को जागरुक किया। इसके अलावा लोगों को फसल अवशेष न जलाने व कोरोना के मद्देनजर हिदायतों की पालना का आह्वïान किया जा रहा है। कलाकारों द्वारा आमजन को बताया जा रहा है कि कोविड-19 के उपाय अपना कर ही कोरोना से बचाव संभव है। इसलिए घर से निकलते समय मास्क जरुर लगाएं और सामाजिक दूरी की गंभीरता से पालना करें। गांव पीरखेड़ा व जोधपुरिया में भजन पार्टी ने नशे पर आधारित गीतों के माध्यम से नशे पर कटाक्ष करते हुए नागरिकों को नशे के दुष्परिणामों से अवगत करवाया और नशे में ग्रस्त लोगों को नशा छोडऩे के लिए प्रेरित करने तथा उन्हें ईलाज के लिए नशा मुक्ति केंद्रों में ले जाने का आह्वïान किया।

https://propertyliquid.com


नशा छुड़वाने के लिए नशा मुक्ति केंद्रों में करें संपर्क:


                    प्रचार अमले द्वारा प्रचार-प्रसार के दौरान लोगों को बताया जा रहा है कि यदि आपके आस पड़ोस में कोई भी व्यक्ति नशे की बिक्री करता है तो उसकी सूचना पुलिस प्रशासन के हैल्पलाइन नंबर 88140-11620, 88140-11626 व 88140-11675 अथवा जिला प्रशासन के नंबर 01666-248890 पर दें, सूचना देने वाले का नाम गुप्त रखा जाएगा। इसके अलावा भजन पार्टियों द्वारा प्रचार के दौरान लोगों को अपील की जा रही है कि जिस भी व्यक्ति के आस पड़ोस में कोई नशे का शिकार है तो उसे नशा छोडऩे के लिए प्रेरित करें और नशा छुड़वाने के लिए उसे नशा मुक्ति केंद्रों में जाने में सहयोग करें ताकि उनका इलाज करके समाज की मुख्य धारा में लाया जा सके। आमजन को स्थानीय नागरिक अस्पताल सिरसा व कालांवाली नशा मुक्ति केंद्रों बारे भी जानकारी दी जा रही है।


फसल अवशेषों का सही प्रबंधन कर पर्यावरण संरक्षण में सहयोग करें किसान :


प्रचार प्रसार के दौरान कलाकारों ने लोगों से पराली न जलाने की अपील करते हुए कहा कि यह वायु प्रदूषण का एक बड़ा स्रोत है। उन्होंने बताया कि पराली में आग लगाने से वायु प्रदूषण से सांस, फेफडों से संबंधित बीमारियां तो होती ही हैं, सामान्य स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है। उन्होंने बताया कि सरकार व जिला प्रशासन ने धान की पराली का उचित प्रबंधन करने के लिए जिले के किसानों को उपयोगी यंत्र जैसे हैप्पी सीडर, स्ट्रा बेलर, सुपर सीडर आदि अनुदान पर दिए हुए हैं व उपलब्ध करवाए हैं। उन्होंने किसानों से अपील की कि वे इन यंत्रो का प्रयोग पराली प्रबंधन में करके प्रशासन का सहयोग करें ताकि लोगों का स्वास्थ्य भी धुएं से खराब ना हो।