पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

52 किलोग्राम डोडा पोस्त सहित कार सवार युवक काबू

For Detailed News-

सिरसा, 21 सितंबर………… जिला भर में पुलिस अधीक्षक उप पुलिस महानिरीक्षक डॉ. अरूण सिंह के नेतृत्व में मादक पदार्थ तस्करों के खिलाफ चलाए जा रहे विशेष अभियान के तहत कारवाई करते हुए जिला की सीआईए सिरसा पुलिस टीम ने गस्त व चैकिंग के दौरान गांव खाजाखेड़ा क्षेत्र से कार सवार युवक को 52 किलोग्राम डोडा पोस्त के साथ काबू किया है । इस संबंध में जानकारी देते हुए सीआईए सिरसा प्रभारी सब इंस्पैक्टर साधू राम ने बताया कि पकड़े गए युवक की पहचान नरेश कुमार पुत्र देवराज निवासी संगरिया हाल खाजाखेड़ा के रुप में हुई है । उन्होंने बताया कि पकड़े गए युवक से सप्लायर के बारे में नाम पता मालूम कर दो लोगों के खिलाफ थाना सदर सिरसा में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग दर्ज कर सप्लायर की तलाश शुरू कर दी है । उन्होंने बताया कि सीआईए सिरसा के सहायक उप निरीक्षक तरसेम सिंह के नेतृत्व में एक पुलिस टीम गस्त व चैकिंग के दौरान गांव खाजाखेड़ा क्षेत्र में मौजूद थी । इसी दौरान सामने से रहे कार सवार युवक ने पुलिस पार्टी को देखकर वापिस मुड़कर भागने की कोशिश की तो शक के बिनहा पर उक्त कार सवार युवक को काबू कर उसकी तलाशी लेने पर उसके कब्जा से 52 किलोग्राम डोडा पोस्त बरामद हुआ । पकड़े गए युवक को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा और रिमांड अवधि के दौरान डोडा पोस्त तस्करी के इस नेटवर्क से जुड़े अन्य लोगों के बारे में नाम पता मालूम कर उनके खिलाफ भी कार्यवाही की जाएगी ।

https://propertyliquid.com

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन श्रवण कुमार गर्ग ने कहा कि जब तक प्रदेश की सड़कों पर गौवंश रहेगा तब तक विशेष अभियान के तहत पकड़कर उन्हें गौशालाओं में छोड़ने का कार्य जारी रहेगा।

पंचकूला 21 सितम्बर- हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमैन श्रवण कुमार गर्ग ने कहा कि जब तक प्रदेश की सड़कों पर गौवंश रहेगा तब तक विशेष अभियान के तहत पकड़कर उन्हें गौशालाओं में छोड़ने का कार्य जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि आयोग का मुख्य ध्येय सभी बेसहारा गायों को गौशालाओं में छोड़ना तथा उनका सहीं सरंक्षण एवं देखभाल करना है।

For Detailed News-


चेयरमैन ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार सडकों से गोवंश नहीं रहने दिया जाएगा। इसके लिए हर जिला स्तर पर अतिरिक्त उपायुक्त, संबधित एसडीएम, खण्ड विकास एवं पंचायत अधिकारी, स्थानीय निकाय, पशु पालन विभाग के अधिकारियों व गो सेवा से जुड़े हुए प्रतिनिधियों की गाय टास्क फोर्स कमेटी का गठन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि यह कमेटी नियमित रूप से निरीक्षण करेगी और प्रत्येक गोवंश को गौशालाओं की ईच्छानुसार उनमें छोड़ने का कार्य करेगी। इसके लिए ग्राम, खण्ड एवं जिला स्तर पर नई गौशालाएं भी खोली जाएगी।


श्री गर्ग ने कहा कि गौसेवा के लिए सरकार ने मनरेगा व जिला परिषद को शामिल कर लिया गया है। इसके तहत गौशालाओं के निर्माण में सहयोग भरपूर लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन व जनता मिलकर कार्य करेगी तो अवश्य ही गौवंश का भला होगा और सड़कों पर गाय न होने से लोगों की जान व माल की हानि भी नहीं होगी। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सड़क दुर्घटनाओं से गायों को क्षति पहंुच रही है और नागरिक भी हताश हो रहे है। इसके साथ ही उनके वाहनों का भी नुकसान हो रहा है। इसलिए इस अभियान को जन जन का अभियान बनाकर सभी के सहयोग से कार्य करना है और गाय के साथ साथ लोगों को भी सुरक्षित माहौल देना ही आयोग का मुख्य कार्य है।

https://propertyliquid.com


उन्होंने बताया कि गौशालाओं को आत्मनिर्भर एवं स्वावलम्बी बनाने पर भी बल दिया जाएगा। इसके तहत गौंवश के उत्पाद को बढावा दिया जाएगा तथा गौशालाओं में कार्यरत स्टाफ को प्रशिक्षण दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि गौवंश से दूध, गोमूत्र के अलावा गोबर से दिए, अगरबती जैसे उत्पाद तैयार किए जाएगें। गाय के दूध की अधिकांश नागरिकों तक पहुंच बढाई जाएगी ताकि लोगों का जीवन निरोग एवं सुखमय हो सके।


आयोग के चेयरमैन ने प्रदेश के दानी सज्जनों से अनुरोध किया है कि वे अपनी आमदनी में से अपने परिवार के प्रत्येक सदस्य के नाम हर दिन केवल एक रुपया निकालें ओर माह के अंत में उस राशि से गौवंश की चारा, गुड़, गेहूं आदि से सेवा करें। इससे उनके परिवार में गाय के प्रति संस्कार की भावना जागृत होगी और गौसेवा का कल्याण होगा। उन्होंने कहा कि वर्तमान में प्रदेशभर में लगभग 32 हजार गायें सड़कों पर है। इनके लिए ग्रामीण क्षेत्रों में एक एकड़ व दो एकड़ भूमि पर ग्रामीण गौ सेवा केन्द्र खोले जाएगें।

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि हरियाणा सरकार ने खरीफ फसल 2020 में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना व फसल विविधिकरण योजना के अंतर्गत’’ मेरा पानी मेरी विरासत ’’ स्कीम लागू की है।

पंचकूला 21 सितम्बर – उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि हरियाणा सरकार ने खरीफ फसल 2020 में राष्ट्रीय कृषि विकास योजना व फसल विविधिकरण योजना के अंतर्गत’’ मेरा पानी मेरी विरासत ’’ स्कीम लागू की है। इस स्कीम के तहत जिला के जो किसान खरीफ 2020 में धान को छोड़कर अन्य वैकल्पिक बाजरा, मक्का कपास व दलहन जैसी फसलें उगाएगा उसे प्रति एकड़ 7000 रुपए की वितिय सहायता प्रदान की जाएगी।


उपायुक्त ने बताया कि पंचकूला में जिन किसानों ने इस योजना का लाभ लेने के लिए अॅानलाईन आवेदन किया है। इसके अंतर्गगत जिला में फसल विविधिकरण का 467.307 हैक्टेयर क्षेत्र बनता है। विभागीय दिशा निर्देशानुसार कृषि विभाग के अधिकारियों ने मौके पर जाकर फसलों का निरीक्षण करने पर 288.693 हैक्टेयर मक्का,, 105.272 हैक्टेयर बाजरा, 0.890 दालें तथा 1.093 हैक्टेयर बागवानी फसलें किसानों द्वारा उगाई पाई गई।


उपायुक्त ने बताया कि विभाग द्वारा पहले सफल निरीक्षण के बाद पहली किस्त में रूप में 2000 रुपए की प्रति एकड. के हिसाब से 18 लाख 74 हजार 375 रुपए की वितिय सहायता जिला के किसानों के खाते में डाल दी गई है। उन्हांेने बताया कि शेष दूसरी किस्त 5000 रुपए प्रति एकड़ निरीक्षण उपरांत शीघ्र ही डाल दी जाएगी।


उन्होंने बताया कि सरकार की विभिन्न स्कीमों की सहायता तथा सरकारी खरीद के लिए किसानों द्वारा बोई गई फसल का विवरण- मेरी फसल मेरा ब्यौरा- पोर्टल- पर दर्ज करवाना अनिवार्य है। जिला के जिन किसानों ने मेरा पानी मेरी विरासत स्कीम के तहत मक्का की बिजाई की है उसकी खरीद सरकार द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर की जाएगी। यह खरीद उन्ही किसानों की जा जाएगी जिन्होंने पोर्टल पर पंजीकरण करवाया है।

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

जिला सचिवालय के सभागार में जिला स्तरीय बैंकर्स कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया।

पंचकूला 21 सितम्बर – जिला सचिवालय के सभागार में जिला स्तरीय बैंकर्स कमेटी की बैठक का आयोजन किया गया। जिला में स्थित बैंकर्स के साथ आयोजित बैठक की अध्यक्षता उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने की।

For Detailed News-


उपायुक्त ने बैंकरों से आहवान् किया कि कोरोना काल के दौरान लम्बित पड़ी सरकारी प्रोयोजित ऋण योजनाओं को पुनः पूरी ऊर्जा के साथ लगकर निस्तारण करें। उन्होंने पुश किसान क्र्रेडिट कार्ड के लिए बैंक शाखाओं में प्रेषित लगभग 5500 ऋण आवेदनों को त्वरित निस्तारण करने हेतू बैंकर्स को निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पीएम स्वानिधि योजना के तहत सभी बैंकर्स को नगर निगम द्वारा पंजीकृत रेहड़ी, फड़ी,, पटरी दुकानदारों को ऋण देने के लिए भी लम्बित 182 आवेदनों पर आगामी एक सप्ताह में कार्रवाई करें। इस योजना में प्रत्येक रेहडी, फड़ी वाले को दस हजार रुपए की राशि ऋण के साथ 7 प्रतिशत ब्याज अनुदान देने का प्रावधान है।
उपायुक्त ने कहा कि बैंकों में आम आदमी के लिए ऋण लेना कठिन होता जा रहा है। इसलिए सभी बैंक पीएमईजीपी, हरियाणा अनुसूचित जाति ऋण एवं विकास निगम, महिला विकास निगम आदि वितिय संस्थाओं द्वारा प्रायोजित ऋण आवेदनों को एक पखवाडें में निपटारा करें और बेरोजगारों को स्वरोजगार स्थापित करने में सहयोग करें।

https://propertyliquid.com


बैठक में डीडीएम नाबार्ड दीपक जाखड़, एलडीएम ब्रिजेष सिंह, महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र गौरव शर्मा, उपनिदेशक पशुपालन सुखदेव राठी, अग्रणी जिला अधिकारी आरबीआई गुरिन्दर सिंह सहित बैंक अधिकारी समन्वयक वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से उपस्थित रहे।

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा प्रदेश में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं।

पंचकूला 21 सितम्बर – उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि नवीन एवं नवीकरणीय ऊर्जा विभाग द्वारा प्रदेश में सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के लिए कई योजनाएं क्रियान्वित की जा रही हैं। सौर ऊर्जा के उपकरणों पर दी जा रही सब्सिडी से अब प्रदेशवासियों का रुझान बढ़ रहा है। शहरी व ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ छोटी ढाणियों में भी यह बेहद फायदेमंद साबित हो रही है। इसके उपयोग से जहां बिजली के बिलों में बचत हो रही है वहीं पर्यावरण भी स्वच्छ रहता है।

For Detailed News-


उपायुक्त ने बताया कि मनोहर ज्योति योजना के तहत हर परिवार को एक 150 वॉट का सोलर सिस्टम दिया जाता है जिसमें सोलर सिस्टम के साथ लीथियम की बैटरी भी दी जाती है। इस सिस्टम से 3 एलईडी लाइट, एक पंखा और मोबाइल चार्जिंग पोर्ट चलाया जा सकता है। योजना के तहत 150 वॉट के सोलर पैनल समेत तमाम सामान की लागत केवल 22,500 रुपए आती है। इस पर हरियाणा सरकार 15 हजार रुपए की सब्सिडी दे रही है। लाभार्थी 7500 रुपए जमा करवा कर इस योजना का लाभ उठा सकते हैं।


उन्होंने बताया कि मनोहर ज्योति योजना के लिए आवेदन करते समय आवेदक को आधार कार्ड, आधार नंबर से जुड़ा बैंक खाता, हरियाणा का निवासी होने का मूल निवासी प्रमाण पत्र आदि दस्तावेजों की आवश्यकता पड़ेगी। इस योजना के तहत घर पर सोलर पैनल लगवाने हेतु आवेदन करने के लिए ींतमकं.हवअ.पद वेबसाइट पर जाना होगा। अधिक जानकारी के लिए 0172-2586933 पर भी संपर्क किया जा सकता है।
उपायुक्त ने बताया कि खेतों में सौर पम्पों के माध्यम से सिंचाई भी बेहद कामयाब और फायदेमंद साबित हो रही है। सरकार द्वारा किसानों को सौर पंप पर भी अच्छी खासी सब्सिडी दी जा रही है। यह पम्प लगाकर किसान ही नहीं बल्कि गौशालाओं को भी आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में कार्य किया जा रहा है जिससे उनके डीजल पर होने वाले भारी-भरकम खर्च से बच सकते हैं। योजना के तहत 3 एचपी, 5 एचपी, 7.5 एचपी और 10 एचपी तक सौर पंप उपलब्ध हैं । इन पम्पों पर किसान को केवल 25 प्रतिशत राशि का भुगतान करना होगा बाकी की 75 प्रतिशत राशि सरकार द्वारा अनुदान के रूप में दी जाएगी। इस योजना के तहत अनुदान का लाभ केवल उन किसानों को मिलेगा, जो अपने खेत में स्प्रिंकलर सैट (फव्वारा सिस्टम), ड्रिप सिस्टम (टपका सिंचाई) या फिर भूमिगत पाइप लाइन का उपयोग करेंगे।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त ने बताया कि सरकार ने घरेलू, संस्थानिक एवं वाणिज्यिक भवनों के बिजली बिलों में कमी लाने के लिए ग्रिड आधारित रूफ टॉप पावर प्लांट लगाने वालों को भी अनुदान देने का निर्णय लिया है। इस योजना के तहत एक से 10 केडब्ल्यू के घरेलू पावर प्लांट पर 40 फीसदी अनुदान दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि बिजली की बचत करना बिजली उत्पादन करने से भी अधिक महत्वपूर्ण है। इसलिए विभिन्न माध्यमों के द्वारा लोगों को बिजली यानी ऊर्जा की बचत करने के लिए ने प्रेरित किया जाता है।

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

Two days National webinar on‘Transition from School to Higher Education by PU Education Deptt

A two days National Seminar on the theme ‘Transition from School to Higher Education in the context of National Education Policy 2020’ was organised from September 21-22,2020 by Centre for Academic Leadership & Education Management (CALEM) Department of Education, Panjab University, Chandigarh under the aegis of PMMMNMTT, MHRD (GOI) in collaboration with Institute of Education and Vocational Education, and SWAYAM Cell Panjab University, Chandigarh through Online mode. This seminar is under the Pandit Madan Mohan Malviya National Mission on Teachers and Teaching (PMMMNMTT) of the Government of India. Around 400 participants from various Universities and Colleges around the country are attending the seminar.

For Detailed News-

The programme started with the welcome address by Prof. Raj Kumari Gupta, Senior most Professor in the Dept. of Education, Panjab University, Chandigarh Professor Jatinder Grover, Dean faculty of Education and Coordinator CALEM, Panjab University, Chandigarh. He shared the setting-up of CALEM Centre in Panjab University, as one of the four centres selected for Academic Leadership and Education Management in India. While introducing the theme of the seminar ‘Transition from School to Higher Education in the context of National Education Policy 2020’ which was conceived to have a discourse among the academic intelligentsia on the recommendations of National Education Policy-2020 about school education and teacher education. This two days’ national seminar will deliberate on the following themes covering various aspects of School and Teacher Education as per recommendations of NEP 2020.

https://propertyliquid.com

Professor Raj Kumar,Vice-Chancellor Panjab University inaugurated the seminar. He focused on the need of the National Education Policy 2020 in the present changing society which will act as a bridge to cover the gaps of the earlier policies.

Dr. Vishal Sharma introduced the Chief Guest Padamshree Prof. J.S. Rajput, former Chairperson NCTE, Former Director NCERT, Educational Advisor to the Government of India. He shared his views on the NEP 2020.He referred to the United Nations Delors Report “Learning: The Treasure Within” where it had stated what the new policy has projected. The policies should be based on whom to teach, what to teach, and who will teach, and what curriculum will be taught. He quoted Mahatma Gandhi’s on basic education where importance was given to the Hand, the Head, and the Heart. He ended his address by saying that what impedes the progress of man is when s/he is not given the power of ideas, imagination, curiosity, and creativity. This policy will try to cover up these gaps.

nbf

Dr.Kanwalpreet Kaur introduced the keynote speaker Prof. Saroj Sharma from Guru Gobind Singh Inderprastha University, New Delhi focused on five issues as of paramount importance in NEP 2020, these being Value Based education, Skill development, Self-dependency, and India Centric. She focused on community participation in the education system, internship and mentoring of the students by the skilled workers as agriculturalists, etc. She emphasised on the training of anganwadi workers as well as the parents for bringing quality education starting from the grassroots.

Prof. Kirandeep Singh proposed Vote of Thanks. The inaugural session was conducted by Prof. NavleenKaur .P

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

स्वास्थ्य विभाग द्वारा सोमवार को उप राष्ठ्रीय प्रतिरक्षण पोलियो अभियान के दूसरे दिन तक सोशल डिस्टैन्सिंग व अन्य सुरक्षा नियमों की पालना करते हुए जिले में उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों ईंटों के भट्टों, झुग्गी-झोपड़ियों, भवन निर्माण कार्य आदि में रह रहे 0-5 वर्ष तक के 20339 बच्चों को घर-घर जाकर पोलियो की दवा पिलाई गई।

For Detailed News-

पंचकूला 21 सितम्बर – स्वास्थ्य विभाग द्वारा सोमवार को उप राष्ठ्रीय प्रतिरक्षण पोलियो अभियान के दूसरे दिन तक सोशल डिस्टैन्सिंग अन्य सुरक्षा नियमों की पालना करते हुए जिले में उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों ईंटों के भट्टों, झुग्गी-झोपड़ियों, भवन निर्माण कार्य आदि में रह रहे 0-5 वर्ष तक के 20339 बच्चों को घर-घर जाकर पोलियो की दवा पिलाई गई।

https://propertyliquid.com


उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि पोलिया अभियान के दौरान उच्च जोखिम वाले क्षेत्रों में रह रहे जन्म से पांच वर्ष तक के लगभग 20656 बच्चों को पोलियो की दवा पिलाने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें से ग्रामीण क्षेत्र के 15452 तथा शहरी क्षेत्र के 5202 बच्चे शामिल है। उन्होंने बताया कि इनमें से 14717 बच्चों एवं शहरी क्षेत्र के 5622 बच्चों को पोलियो की खुराक पिलाई गई है।

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

32487 students today Appeared for Online Exam by PU

Chandigarh September 21, 2020

Around 32,487 students of Undergraduate/Post Graduate/Other Professional Courses including USOL/Private have appeared today in the first ever online examination conducted by Panjab University which commenced on 17 September, informed Prof Parvinder Singh, Controller of Examination.Total of 100 exams were conducted today.The examinations are being conducted in 3 slabs of 9am – 11 am, 10 am – 12 pm and 2 pm – 4 pm.

For Detailed News-

CoE informed that all the Colleges/Departments downloaded the question papers as per the scheduled time from PU Website and official email IDs provided to them. The question papers were further distributed to students through various electronic modes.

https://propertyliquid.com

He further informed that around 86616 students will be taking various exams being conducted by PU over the span of 17 days.

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि जिला में सोमवार को 75 मामले पोजिटिव आए। इनमें 50 मामले पंचकूला से सबंधित है।

For Detailed News-

पंचकूला 21 सितम्बर – उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि जिला में सोमवार को 75 मामले पोजिटिव आए। इनमें 50 मामले पंचकूला से सबंधित है। अब तक जिला में कुल 6834 मामले आए हैं जिनमें से 5110 पंचकूला के हैं। इनमें से 3773 कोरोना रोगी ठीक हो गए हैं तथा अब जिला में 1270 मामले एक्टिव रह गए है और 59226 व्यक्तियों के आरटी, पीसीआर, रेपिड एंटीजन नमूने लिए गए।


उपायुक्त ने बताया कि बुढनपुर, बीड घग्गर, ढण्डारूडू, औद्योगिक क्षेत्र, खड़क मंगोली, जलोली, एमडीसी सैक्टर 4, महेशपुर, ंिपंजौर, रायपुर रानी, रैली, रामगढ, टिपरा, सैक्टर 10, 12, 12 ए, 19, 27, 28 में एक-एक मामला पोजिटिव आया है। इसी प्रकार बरवाला, पुलिस लाईन, सैक्टर 7 में दो दो, गढी कोताहा, शाहपुर, सैक्टर 16 व 20 में तीन तीन, सैक्टर 8, व 15 में चार चार, सैक्टर 11 में पांच मामले पोजिटिव आए है।

https://propertyliquid.com

पर्यावरण सरंक्षण के लिए पौधारोपण जरूरी : सिटीएम संदीप कुमार

Commissioner inaugurates integrated call centre for Municipal Services

Launches new complaint number 01722787200

Chandigarh, September 21:- Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner, Municipal Corporation Chandigarh-cum-CEO-Chandigarh Smart City Ltd. today inaugurated an integrated call center for all Municipal Services of Chandigarh and launched new complaint number 01722787200.

For Detailed News-

Ms. Prabha Goyal, General Manager, Bharat Electronics Limited, Panchkula, Sh. Anil Kumar Garg, Additional Commissioner-cum-Additional CEO, CSCL, Sh. N.P. Sharma, Chief General Manager, CSCL and other officers were present during the launch. 

The Commissioner said that this call center shall be the part of Integrated Command and Control Center which is being developed by Bharat Electronics Limited. This center shall cater to services like grievance management, online building permissions and other municipal services.

https://propertyliquid.com

He said that the request given to this call center shall be allocated to the field officers in real time and the complainant shall receive an SMS on their registered mobile number with the unique ID of the complaint, which can be further used for tracking of their complaint.

The Commissioner said that citizens can also reopen their complaints in case the service given to them was not complete. Also, in case the complaint is not attended by the field officers, the complaint shall be automatically escalated to the higher officers. This shall make governance more effective and accessible in the city.

With the launch of new complaint number, all the previous complaint numbers, which are being used for grievance redressal form including 155304 have been closed and only 01722787200 will be now functional. The call centre will operate 24×7 with trained staff.