Primary Health Committee Meeting held

Chandigarh, September 11:- A meeting of Primary Health committee of Municipal Corporation was held here today under the chairperson of Dr. Jyotsna Wig and attended by other members of committee namely Maj. Gen. M.S. Kandal, Mrs. Heera Negi, Smt. Asha Jaswal and other concerned officers of MCC.

During the meeting it was decided that repair work of all civil dispensaries be started immediately and one doctor deputed in general house meeting alongwith ambulance by Director Health, UT, Chandigarh. The committee further decided that the recruitment of doctors on contract basis for dispensaries be started for the smooth running of civil dispensaries. The members were of the view that sufficient manpower may be provided in each civil dispensary alongwith furniture items.

Watch This Video Till End….

Kirron Kher inaugurates AC halls at cremation ground, sector 25

Chandigarh, September 11: – Smt. Kirron Kher, Member Parliament, UT, Chandigarh today inaugurated air-conditioned prayer hall at cremation ground, sector 25 in presence of Sh. Rajesh Kumar, Mayor of Chandigarh, Smt. Sheela Devi, area councilor, other councilors, officers of MCC and area residents.

The newly provided AC halls have been provided at a cost of Rs. 57.34 lacs including civil and electrical works. The Halls having dimension 24’x0”x78’-0” and have 5 air conditioners having capacity of 2 tons in each hall, which can be booked from cremation ground authorities.

Watch This Video Till End….

Adviser launches campaign for ‘Plastic Free Chandigarh’ MCC Launches Social Media Platforms

Chandigarh, September 11:- Sh. Manoj Kumar Parida, IAS, Adviser to the Administrator, UT, Chandigarh today launched a campaign for ‘Plastic Free Chandigarh’ under the Swachhata hi Sewa programme, here at central plaza, sector 17, Chandigarh in presence of Sh. Rajesh Kumar, Mayor and Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner, MCC, Sh. Ravi Kant Sharma, area councilor, other senior officers of Chandigarh Administration and MCC, Councilors, representatives of RWAs, MWAs and other NGOs were also present during the event.

While addressing the stakeholders, the Adviser stressed upon the need to abolish plastic from daily routine life. He said that we must think of technology to abolish plastic usage in the city. He appealed the citizens to adopt ways to reduce plastic usageuse jute and cloth bags in their daily life.

He said that the ban on plastic items cannot be successful without the cooperation of public and sought their help in this endeavor and said that the motive behind the campaign to send the message among masses against the use of plastic and total plastic ban in Chandigarh.

The Adviser launched selfie competition to encourage citizens against the use of plastic in different categories i.e. (a) School Students, (b) College Students, (c) Shopkeepers/Vendors, (d) NGOs/Institutuons, (e) Citizens, (f) Media/News Channels and (g) Photographers (Professional/Media). As per the competition general public can send/upload their selfies to the MCC through social media tools i.e. Facebook page- Plastic Free Chandigarh (@SwachhCityChd), Instagram- prdmccsocialmedia, Twitter- @SwachhCityChd, Linkedin- linkedin.com/in/swachhcitychd and Gmail- prdmccsocialmedia@gmail.comupto 30th September, 2019 using cloth bags for their routine usage; shopkeepers giving cloth bags to the customers; NGOs/institutions distributing free cloth bags to the public, Media covering encouraging stories in the Newspapers, Photographers clicking best picture during the Plastic Free City campaign. The MCC will give away prizes to the 10 winners selected randomly from each category at the mega event scheduled to be organized on 2nd October, 2019.

During the programme Sh. Rajesh Kumar, Mayor said that the Municipal Corporation Chandigarh will conduct different awareness programmes besides taking measures to reduce plastic from the city. He said that a mass awareness campaign against the use of plastic under the theme “Plastic Mukt Bharat” would be conducted throughout city. During the campaign different programmes would be conducted in three phases i.e. from 11th September to 1st October, 2019 awareness programmes; “Shramdaan” as mass movement on 2nd October in 2nd phase and Recycle/disposal of collected plastic waste, leading to a plastic free Diwali programmes from 3rd October to 27th October, 2019 in 3rd Phase, the Mayor said.

Sh. K.K. Yadav, IAS, Commissioner said that the awareness campaigns of MCC would be focused to ensure that all the coming festivals are zero-waste and plastic free events to make “Plastic Free City”. He said that each and every stakeholder of the city will be involved in this campaign. He said that seminars would be organized in schools, colleges and other educational institutions on plastic free Chandigarh. Volunteers of NSS, NCC, Scouts& Guide would be roped in this mass campaign.

The Commissioner said that MCC would identify locations for plastic waste collection and segregation; to plan transportation & logistic of plastic to collection hub; to integrate in formal rag pickers, junk dealers, recyclers into the formal waste management system; to set up adequate number of material recovery facilities to handle recyclable/processing of plastic waste and incentivize citizens to deposit plastic waste at ULB-authorized collection centres.

He said that mass level programmes would be conducted on 2nd October to take pledge for a plastic waste free city and organize “Shramdaan” for plastic waste collection in order to make Chandigarh plastic free. One day of every month will be earmarked as “Plastic Free day” in Chandigarh.

The Adviser, Mayor & Commissioner also started signature campaign against the use of plastic in the city. In addition to that a display van has also been flagged off by the Adviser, which will roam throughout city to encourage citizens about not to use plastic items.

Earlier, the Adviser, Mayor, Commissioner, officers & officials of MCC, representatives of NGOs, College Students, and representatives of Resident Welfare Associations took an oath against use of plastic. Nukkarnataks, flash mob, magic show, live band show and other fun & frolic games to involve general public against the use of plastic were also staged by different professional groups and college students. The Adviser, Mayor and Commissioner distributed cloth bags to public and also told people not to use plastic bags and handed over cloth bags.

Watch This Video Till End….

सरकार ने सोलर पंप के आवेदन हेतू 30 सितंबर तक बढ़ाई तिथि- अतिरिक्त उपायुक्त

पंचकूला, 11 सितंबर-

नवीन एवं नवीनीकरण उर्जा विभाग द्वारा सोलर पंप स्थापित करने के 75 प्रतिशत अनुदान दिया जा रहा है। इस योजना के तहत आवेदन करने की तिथि 31 अगस्त थी, जिसे सरकार ने बढ़ाकर 30 सितंबर तक कर दिया है। इस योजना का लाभ किसानों के साथ साथ गौशाला संचालक, वाॅटर यूजर एसोसियेशन और सामुहिक सिंचाई से जुड़ी संस्थायें और संस्थान भी ले सकते है।

अतिरिक्त उपायुक्त एवं नवीन नवीनीकरण उर्जा के मुख्य परियोजना अधिकारी मनीता मलिक ने बताया कि इस योजना के तहत तीन होर्स पाॅवर से दस होर्स पाॅवर तक के सोलर पंप उपलब्ध करवाने का प्रावधान है। उन्होंने बताया कि इन सोलर पंप पर आने वाले खर्च पर सरकार द्वारा 75 प्रतिशत अनुदान दिया जाता है। उन्होंने स्पष्ट किया कि वहीं किसान सोलर पंप योजना के पात्र होंगे, जिन्होंने सुक्षम सिंचाई प्रणाली अथवा भूमिगत पाईप लाईन बिछाई है। जिन किसानों ने अभी तक यह दोनों पद्धतियां नहीं अपनाई और वे इन्हें अपनाने के लिये सहमत है, वे भी योजना का लाभ उठा सकते है। 

उन्होंने बताया कि योजना का लाभ लेने के लिये इच्छुक व्यक्ति सरल पोर्टल पर 31 अगस्त तक आॅन लाईन आवेदन कर सकते है। उन्होंने कहा कि आॅफ लाइन आवेनद स्वीकार नहीं किये जायेंगे । इस योजना के बारे में विस्तृत जानकारी अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय के परियोजना अधिकारी राजेंद्र कुमार से व्यक्तिगत तौर पर मिलकर अथवा मोबाइल नंबर 7986033796 या दूरभाष नंबर 0172-2582337 से प्राप्त की जा सकती है।

Watch This Video Till End….

11 से 24 अक्तूबर तक चलाया जाएगा स्वच्छता ही सेवा अभियान

सिरसा, 11 सितम्बर।

अब जिला होगा प्लास्टिक कचरा मुक्त


                   स्वच्छता ही सेवा अभियान  11 सितम्बर से 24 अक्तूबर चलाया जा रहा है। इस बारे आज स्थानीय नगर परिषद के सभागार में जिला स्वच्छता समन्वयक व सलाहकार सुखविंद्र सिंह ने स्वच्छता कर्मियों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि वे गांव-गांव जाकर लोगों को जागरूक करें तथा प्लास्टिक व पॉलिथिन से होने वाले नुकसान के बारे में लोगों को जागरूक करें। आमजन को भी अभियान का हिस्सा बनने के लिए जागरूक करें।


                 उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 11 सितम्बर से 27 अक्तूबर स्वच्छता ही सेवा अभियान चलाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि माननीय प्रधानमंत्री द्वारा जिला के सभी सरपंचो को उनके नाम पत्र भेजा गया है जिसमें प्रधानमंत्री ने सभी सरपंचों से अपील की है कि देश को कचरा व प्लास्टिक मुक्त बनाया जाए। इस अभियान के तहत जिला को कचरा मुक्त करने के लिए लोगों को स्वच्छता के बारे में जागरूक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि 2 अक्तूबर 2019 को महात्मा गांधी जयंती पर जिला के सभी गांवों में विशेष श्रमदान अभियान चलाया जाएगा, जिसके सभी गांवों की सफाई करवाई जाएगी तथ ग्रामवासियों को भी सहयोग लिया जाएगा। सभी बढचढ कर इस अभियान में भाग लेंगे।


                  उन्होंने बताया कि जिले में गंदगी के ढेर व जगह-जगह पड़े प्लास्टिक तथा पॉलिथिन को इकट्ठा करवाया जाएगा। प्लास्टिक व पॉलिथिन के स्थान पर दूसरी अन्य वस्तुओं कपड़ों तथा मिटटी के बर्तनों के प्रयोग के बारे में आमजन को जागरूक किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस अभियान के तहत जिला के सभी लोगों को इस अभियान में जोड़ा जाएगा। 

Watch This Video Till End….

जल शक्ति अभियान के तहत ग्रामीण जल स्वच्छता समितियों का प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित

रानियां, 11 सितंबर।


             जल स्वच्छता सहायक संगठन एवं जन स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुल्तानी धर्मशाला में ग्रामीण जल स्वच्छता समितियों की कार्यकुशलता बढ़ाने के लिए प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।


                 इस अवसर पर खंड संसाधन सयोजक डा. बलदेव राज ने जल शक्ति अभियान की विस्तृत जानकारी प्रदान करते हुए कहा कि इस अभियान के तहत पहले चरण मानसून सत्र के दौरान लोगों में वर्षा जल को संचय करके जमीन में डालने के कार्य के लिए प्रेरित किया जा रहा है। साथ ही आमजन को वर्षा जल के महत्व बारे जानकारी प्रदान की जा रही है ताकि हम अपनी आने वाली पीढिय़ों का भविष्य सुरक्षित कर सके। उन्होंने कहा कि पूरे जिले में संगठन व विभाग द्वारा सक्षम युवाओं के सहयोग से हाउसहोल्ड सर्वे किया जा रहा है जिसके तहत पानी संबंधी पूरी जानकारी एकत्रित की जा रही है ताकि जल वितरण प्रणाली को दुरुस्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि जिन पंचायतों द्वारा गांव में 75 प्रतिशत से अधिक पानी कनेक्शन मंजूर होंगे व 100 प्रतिशत नलों पर टोटी लगाई जाएगी उन पंचायतों को हरियाणा सरकार की योजना जल संरक्षण पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा।


                 खंड  बड़ागुढा के खंड संसाधन संयोजक प्रेम सहारण ने जल संरक्षण विषय पर बोलते हुए कहा कि जल एक सीमित संसाधन है जिसका व्यवसायिक उत्पादन नहीं किया जा सकता और जल संसाधनों की कमी से प्राकृतिक वातावरण भी खराब होता है। उन्होंने कहा कि आज जल की कुप्रबंधन व्यवस्था व भूजल दोहन के कारण जल संकट की समस्या पूरे देश में पैदा हो गई है। इसलिए हमें ज्यादा से ज्यादा वर्षा जल संचय करना है और पानी को प्रदूषित होने से बचाना चाहिए ताकि आने वाली पीढिय़ों को शुद्ध व उचित मात्रा में पीने वाला जल मिल सके।

For Sale


                 खंड संसाधन संयोजक प्रदीप बेनीवाल ने जल स्वच्छता समितियों का परिचय, अधिकार व कर्तव्यों पर जानकारी देते हुए बताया कि जल संरक्षण के साथ साथ पेयजल योजना को सुचारु रुप से चलाना, योजनाओं के विस्तार के लिए मांग भेजना, विभाग द्वारा संचालित कार्यो का निरीक्षण करना, पानी की गुणवत्ता जांचना, पानी को गंदा होने से बचाना ही समिति की जिम्मेदारियों में शामिल है।


                 इस अवसर पर खंड संसाधन संयोजक हरि सिंह भिडासरा ने पानी का क्लोरिनेशन, जल वितरण प्रणाली, पानी में रसायनिक तत्वों से मानव शरीर में होने वाले लाभ व हानियों पर विस्तृत जानकारी प्रदान की। खंड संसाधन संयोजक राजेश कुमार द्वारा कृषि क्षेत्र में जल संरक्षण क्यों और कैसे करें इस विषय पर विस्तृत बताया। इस मौके पर सरपंच, पंच, आंगनवाड़ी वर्कर, आशा वर्कर, बहुउद्देशीय कार्यकर्ता, पंप ऑपरेटर, अध्यापक गण, चौकीदार व अन्य समिति सदस्य उपस्थित थे।

Watch This Video Till End….

विधानसभा चुनावों में उम्मीदवारों के खर्च पर रखी जायेगी बारीकी से नजर- संजीव राठी

पंचकूला, 11 सितंबर-

आबकारी एवं कराधान विभाग के उप-आयुक्त एवं चुनाव खर्च के नोडल अधिकारी संजीव राठी कर्मचारियों को प्रशिक्षण देते हुए।

आबकारी एवं कराधान विभाग के उप-आयुक्त एवं चुनाव खर्च के नोडल अधिकारी संजीव राठी ने कहा कि विधानसभा चुनावों में उम्मीदवारों के हर छोटे बड़े चुनाव खर्च पर बारीकी से नजर रखी जायेगी। 

श्री राठी आज जिला सचिवालय के कांफ्रेंस हाल में चुनाव खर्च पर नजर रखने के लिये गठित समितियों में शामिल कर्मचारियों को प्रशिक्षण दे रहे थे। उन्होंने कहा कि चुनाव के दौरान जिला के सभी मुख्य मार्गों पर नाके लगाकर हर आने जाने वाले वाहन का निरीक्षण होगा। इस निरीक्षण के लिये सिविल अधिकारियों के साथ साथ पुलिस अधिकारियों की टीमें बनाई गई है। चुनाव के दौरान नकद राशि, शराब व अन्य ऐसे सामान पर नजर रखी जायेगी जो मतदाताओं के प्रलोभन के लिये प्रयोग किया जा सकता है। 

उन्होंने बताया कि विभिन्न राजनैतिक दलों व उम्मीदवारों द्वारा जिला में आयोजित किये जाने वाली चुनावी सभाओं के खर्च पर भी नजर रखी जायेगी। इसके लिये वीडियो सर्विलांस और वीडियो विविंग टीमें गठित की गई है जो इन सभाओं की वीडियो रिकोर्डिंग करेगी। रिकोर्डिंग के आधार पर खर्च का निर्धारण करने के लिये वीडियो विंिवंग टीमें गठित की गई है। उन्होंने कहा कि विभिन्न समाचार पत्रों, इलैक्ट्रानिक मीडिया से संबंधित चुनाव विज्ञापनों और पेड न्यूज पर नजर रखने के लिये मीडिया सर्टिफिकेंशन एवं मोनिर्टरिंग कमेटी गठित की गई है। इसके अलावा उन्होंने चुनाव खर्च के मूल्यांकन के लिये अपनाई जाने वाली प्रक्रिया व उसकी रिपोटिंग से जुड़े सभी पहलुओं की विस्तृत जानकारी दी।

Watch This Video Till End….

हरियाणा अनुसूचित जाति वित एवं विकास निगम द्वारा वित वर्ष 2019-20 में जुलाई मास तक 27 गरीब परिवारों को आजीविका के लिये 19.30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई है।

पंचकूला, 11 सितंबर-

हरियाणा अनुसूचित जाति वित एवं विकास निगम द्वारा वित वर्ष 2019-20 में जुलाई मास तक 27 गरीब परिवारों को आजीविका के लिये 19.30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई है।

उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने यह जानकारी देते हुए बताया कि हरियाणा अनुसूचित जाति वित एवं विकास निगम द्वारा गरीब लोगों को पशु पालन, सूक्ष्म उद्योग, व्यापार व आजीविका के अन्य कार्यों के लिये अनुदान दिया जाता है और बैंकों से ऋण सुविधा उपलब्ध करवाई जाती हैं। उन्होंने बताया कि जुलाई मास के अंत तक 27 गरीब परिवारों को 19.30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई गई है। इस आर्थिक सहायता में 1.75 लाख रुपये का अनुदान, 53 हजार रुपये की सीमांत राशि तथा 4.02 लाख रुपये का बैंक ऋण शामिल है।

For Sale

उन्होंने बताया कि इस अवधि में व्यवसाय आरंभ करने के लिये 19 गरीब परिवारों को 5.30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई जा चुकी है। इसी प्रकार लघु व्यवसाय योजना के तहत 6 गरीब परिवारों को 13 लाख रुपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाई गई है। 2 गरीब परिवारों को दुधारू पशु खरीदने के लिये एक लाख रुपये का ऋण व अनुदान उपलब्ध करवाया गया है। उन्होंने बताया कि यह निगम अनुसूचित जाति के गरीब परिवारों के जीवन स्तर को सुधारने के लिये विभिन्न योजनाओं के माध्यम से सहयोग करता है। उन्होंने जिला के गरीब परिवारों से इस निगम की योजनाओं की जानकारी प्राप्त करके, उनका लाभ हासिल करने का अनुरोध किया है। 

Watch This Video Till End….

डा. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के तहत वर्ष 2019-20 सत्र के लिए आवेदन आमंत्रित

सिरसा, 11 सितंबर।


               हरियाणा सरकार द्वारा डा. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत वर्ष 2019-20 के लिए अनुसूचित जातियां एवं पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के माध्यम से अनुसूचित जाति एवं पिछड़े वर्ग, विमुक्त जाति, घुमंतु एवं अर्धघुमंतु जाति तथा टपरीवास जाति के छात्रों को छात्रवृति प्रदान करने के लिए आगामी 4 नवम्बर तक आवेदन पत्र मांगे गए हैं। इच्छुक छात्र आनलाईन आवेदन कर सकते है।


                   यह जानकारी देते हुए उपायुक्त अशोक कुमार गर्ग ने बताया कि शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ रही प्रतिस्पर्धा के युग में अनुसूचित जाति, विमुक्त जाति, घुमंतु एवं अर्धघुमंतु जाति, टपरीवास जाति तथा पिछड़ा वर्ग के छात्रों में प्रतिस्पर्धा की भावना को प्रोत्साहित करने लिए डा. अम्बेडकर मेधावी छात्र संशोधित योजना शुरू की गई है। उन्होंने बताया कि इस स्कीम के अंतर्गत उन छात्रों को छात्रवृति देकर सम्मानित किया जाएगा, जिन्होंने परीक्षा दसवीं, बारहवीं व स्नातक में उत्कृष्ट उपलब्धि प्राप्त की है ताकि उनका मनोबल और बढ़े और वे शिक्षा के क्षेत्र में ऊंचाईया प्राप्त कर सकें।


उन्होंने बताया कि डा. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति, विमुक्त जाति, घुमंतु, अर्ध घुमंतु जाति एवं टपरीवास जाति के दसवीं कक्षा में उतीर्ण छात्र के लिए शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत अंक तथा ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा 11वीं तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्सेज के प्रथम वर्ष में पढने वाले छात्रों को 8 हजार रुपए की वार्षिक छात्रवृति प्रदान की जाएगी। इसी प्रकार कक्षा 12वीं में उत्तीर्ण छात्रों के लिए शहरी क्षेत्र में 75 प्रतिशत अंक और ग्रामीण में 70 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा स्नातक के प्रथम वर्ष आर्टस में पढने वाले को 8 हजार रुपए वार्षिक, कामर्स/साईंस तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्सेज करने वाले छात्रों को 8 हजार रुपए वार्षिक छात्रवृति, इंजिनियरिंग तथा अन्य तकनीकी/व्यवसायिक कोर्सेज के छात्रों को 9 हजार रुपए वार्षिक व मेडीकल तथा अलाईड कोर्सेज के छात्रों को 10 हजार रुपए की राशि वार्षिक छात्रवृति के रूप में प्रदान की जाएगी।


                   उपायुक्त ने बताया कि इसी प्रकार स्नातक की परीक्षा में शहरी क्षेत्र में 65 प्रतिशत व ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। स्नातकोत्तर कक्षा में पढने वाले प्रथम वर्ष आर्ट, कामर्स व साईंस के छात्र को 9 हजार रुपए वार्षिक छात्रवृति, इंजिनियरिंग तथा अन्य तकनीकी व्यवसायिक कोर्सेज के छात्रों को 11 हजार रुपए व मेडीकल व अलाइड कोर्सेज के छात्रों को 12 हजार रुपए की राशि वार्षिक छात्रवृति के रूप में प्रदान की जाएगी।


                   उन्होंने बताया कि डा. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के अंतर्गत पिछड़ा वर्ग के छात्रों को भी लाभ देने के लिए शामिल किया गया है। पिछड़ा वर्ग ब्लाक ए के दसवीं कक्षा में उतीर्ण छात्र के लिए शहरी क्षेत्र में 70 प्रतिशत अंक तथा ग्रामीण क्षेत्र में 60 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा 11वीं तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्सेज के प्रथम वर्ष में पढने वाले छात्रों को 8 हजार रुपए की वार्षिक छात्रवृति प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि पिछड़ा वर्ग ब्लाक बी के दसवीं कक्षा में उतीर्ण छात्र के लिए शहरी क्षेत्र में 80 प्रतिशत अंक तथा ग्रामीण क्षेत्र में 75 प्रतिशत अंक प्राप्त करना अनिवार्य है। कक्षा 11वीं तथा सभी डिप्लोमा/सर्टिफिकेट कोर्सेज के प्रथम वर्ष में पढने वाले छात्रों को 8 हजार रुपए की वार्षिक छात्रवृति प्रदान की जाएगी।


                   उन्होंने बताया कि डा. अम्बेडकर मेधावी छात्र योजना के तहत छात्रवृति का लाभ उन विद्यार्थियों को प्रदान किया जाएगा, जो हरियाणा का मूल निवासी तथा अनुसूचित जाति व पिछड़ा वर्ग से सम्बंधित हो। इनकी पारिवारिक वार्षिक आय चार लाख से अधिक नहीं होनी चाहिए। अनुसूचित जाति तथा पिछड़ा वर्ग के छात्रों को यह छात्रवृति उक्त वर्णित कक्षाओं में सभी स्ट्रीमज के आधार परीक्षा में प्राप्त अंकों के आधार पर दी जाएगी। यह छात्रवृति सभी सरकारी, गैर सरकारी मान्यता प्राप्त स्कूलों, कालेजों, संस्थाओं तथा विश्वविद्यालयों में पढने वाले छात्रों को प्रदान की जाएगी। उन्होंने बताया कि यह स्कीम मैरिट पर आधारित है। इसलिए जो छात्र इन वर्गों के छात्रों के लिए चलाई जा रही सामान्य स्कीमों के अंतर्गत छात्रवृति प्राप्त कर रहे हैं, वे छात्र इस स्कीम के अंतर्गत भी छात्रवृति पाने के पात्र होंगे। परंतु मैरिट आधारित किसी अन्य स्कीम के अंतर्गत पात्र नहीं होंगे। जो छात्र मान्यता प्राप्त बोर्ड/विश्वविद्यालय से परीक्षा उत्तीर्ण करेगा, छात्रवृति लेने का हकदार होगा। उन्होंने बताया कि  निर्धारित तिथि के बाद प्राप्त आवेदन पत्र पर विचार नहीं किया जाएगा। आवेदन पत्र आनलाईन ही लिए जाएंगे। इच्छुक छात्र विभाग की वेबसाईट डब्ल्युडब्ल्युडब्ल्युडॉटएससीबीसीहरियाणाडॉटजीओवीडॉटईन पर 4 सितंबर तक अपना आवेदन आनलाईन कर सकते है।

Watch This Video Till End….

Counseling for admission to M.Phil. (Punjabi)

Chandigarh September 11, 2019

The counseling for admission to M.Phil. (Punjabi) for the session 2019-2020 will be held on 23.9.2019 (Monday) at 10.00 a.m. in the office of the Department of Punjabi (Arts Block-1st (Floor-1st), Panjab University, Chandigarh.  All those candidates, who have qualified the entrance test and UGC-JRF/UGC-NET qualified students may also submit their application form latest by 19.09.2019 upto 4.00 p.m. All the students are advised to bring the testimonials at the time of counseling.   

Watch This Video Till End….