हिन्दी दिवस की बहुत बहुत बधाई व हार्दिक शुभकामनाएं।

हर वर्ष 14 सितंबर को मनाया जाता है।

14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिन्दी ही भारत की राजभाषा होगी। इसी महत्वपूर्ण निर्णय के महत्व को प्रतिपादित करने तथा हिन्दी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिये राजभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर वर्ष 1953 से पूरे भारत में 14 सितंबर को प्रतिवर्ष हिन्दी-दिवस के रूप में मनाया जाता है।

Chandrayan 2 : ISRO को विक्रम लैंडर का पता चला, लेकिन अभी तक संपर्क नहीं

नई दिल्ली:

भारतीय स्पेस एजेंसी भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने बताया कि विक्रम लैंडर का पता चल गया है। ऑर्बिटर से ली गई कुछ तस्वीरों में इसकी जानकारी होने की पुष्टि हुई है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इसरो ने बताया कि विक्रम लैंडर के सटीक जगह का पता चल गया है। लैंडर चंद्रयान-2 ऑर्बिटर की मदद से उस जगह का पता लगा सका है।

लैंडर के साथ संचार अभी तक स्थापित नहीं किया गया है। ऑर्बिटर विक्रम लैंडर की सटीक तस्वीरें लेने में कामयाब रहा। शनिवार को अपने निर्धारित नरम लैंडिंग से कुछ समय पहले अंतरिक्ष एजेंसी के साथ संपर्क टूट गया था।

चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर 7 सितंबर को सॉफ्ट लैंडिंग के दौरान इसरो से संपर्क टूट गया था। शनिवार की सुबह 1:40 मिनट से पहले लैंडिंग हो रही थी। इसरो चंद्रयान -2 के लैंडर विक्रम के साथ संपर्क की कोशिश में जुटा हुआ है। इसके कई कारकों की जांच करेगा। चंद्रयान -2 टीम विक्रम लैंडर के साथ संचार हानि के पीछे के कारण का पता लगाने में जुटा हुआ है।

इसरो प्रमुख ने चंद्रयान 2 मिशन को 95% सफल बताया था। उन्होंने कहा था कि ऑर्बिटर पूरी तरह ठीक है और उसमें 7.5 साल तक काम करने की क्षमता है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि गगनयान सहित इसरो के सभी मिशन निर्धारित समय पर पूरे होंगे। बता दें कि लैंडर ‘विक्रम’ अगर ऐतिहासिक लैंडिंग में सफल हो जाता तो भारत चंद्रमा की सतह पर सॉफ्ट लैंडिंग करा चुके अमेरिका, रूस और चीन जैसे देशों की कतार में शामिल हो जाता।

Watch This Video Till End….

भारतीय वायुसेना के बेड़े में आज 8 अपाचे हेलिकॉप्टर शामिल होंगे। अपाचे हेलिकॉप्टर दुनिया के सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक माने जाते हैं।

खबरों के मुताबिक आज वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर इन हेलिकॉप्टरों को शामिल कराएंगे।

दुश्मन के दांत खट्टे करने के लिए भारतीय वायुसेना के बेड़े में आज 8 अपाचे हेलिकॉप्टर शामिल होंगे। अपाचे हेलिकॉप्टर दुनिया के सबसे बेहतरीन लड़ाकू विमानों में से एक माने जाते हैं।

खबरों के मुताबिक आज वायुसेना प्रमुख एयर चीफ मार्शल बी एस धनोआ पंजाब के पठानकोट एयरबेस पर इन हेलिकॉप्टरों को शामिल कराएंगे। दो पायलट का होना है जरूरी जानकारी के लिए आपको बता दें कि अपाचे हेलिकॉप्टर को उड़ाने के लिए 2 पायलट होने जरूरी हैं।

इस हेलिकॉप्टर में दो इंजन हैं साथ ही दो सीटें हैं। दो इंजन होने की वहज से इसकी रफ्तार बहुत तेज है। हेलिकॉप्टर की अधिकतम स्पीड 280 किलोमीटर प्रति घंटा है। इस हेलिकॉप्टर में एक खास बात यह भी है कि इसमें सेंसर भी लगा है, इस वजह से रात में भी ऑपरेशन को अंजाम दे सकता है और इसे रडार पर पकड़ना मुश्किल होता है।

गौरतलब है कि अपाचे हेलिकॉप्टर अमेरिका में बनाए गए हैं। अपाचे हेलिकॉप्टर AH-64E दुनिया का सबसे एडवांस मल्टी रोल कॉम्बेट हेलिकॉप्टर है।

AH-64E अपाचे दुनिया के सबसे उन्नत बहु-भूमिका लड़ाकू हेलिकॉप्टरों में से एक है। इसे अमेरिकी सेना भी इस्तेमाल करती है है। भारतीय वायुसेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अपाचे अटैक के आठ हेलिकॉप्टरों को पठानकोट एयरबेस पर तैनाती तय है। इससे वायुसेना के लड़ाकू क्षमता में बढ़ोत्तरी होगी।

सितंबर 2015 में भारत-अमेरिका के बीच अपाचे हेलिकॉप्टरों की बड़ी डील हुई थी। जिसमें 22 अपाचे हेलिकॉप्टरों भारत को मिलने वाले हैं। इससे जुलाई को 4 हेलिकॉप्टर मिल चुके हैं, अब 8 हेलिकॉप्टर मंगलवार को मिल रहे हैं।

Watch This Video Till End….

सालासर धाम मंदिर सिरसा

सिरसा:

जय बाला जी

भारत ने आज 73 वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है।

नई दिल्ली:

देश आज 73वां स्वतंत्रता दिवस मना रहा है। हर ओर जश्न है और आजादी के लिए लड़े दीवानों की याद में देशभक्ति के नारे गूंज रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर लालकिले के प्राचीर पर तिरंगा फहराया और देश को संबोधित किया। दूसरी बार प्रधानमंत्री बनने के बाद लालकिले से नरेंद्र मोदी का ये पहला भाषण है, इसलिए इस भाषण पर ना सिर्फ देश बल्कि पूरी दुनिया की नज़र है।

Watch This Video Till End….

Google Doodle: विक्रम साराभाई (Vikram Sarabhai) को उनकी 100वीं जंयती पर Google Doodle बना कर श्रद्धांजलि अर्पित करता है

नई दिल्ली: 

विक्रम साराभाई (Vikram Sarabhai) को उनकी 100वीं जंयती पर Google Doodle बनाया गया है. वह भारत के सबसे महान वैज्ञानिकों में से एक थे. उनका जन्म 12 अगस्त 1919 को हुआ था. 

विक्रम साराभाई  अपने दौर के उन गिने-चुने वैज्ञानिकों में से एक थे जो अपने साथ काम करने वाले वैज्ञानिकों और खासकर युवा वैज्ञानिकों को आगे बढ़ने में मदद करते थे. यही वजह थी कि उन्हें (Vikram Sarabhai) एक बेहतर लीडर भी माना जाता था.

साराभाई ने 1947 में अहमदाबाद में भौतिक अनुसंधान प्रयोगशाला (पीआरएल) की स्थापना की थी. बता दें कि गूगल अलग-अलग क्षेत्र की उन बड़ी हस्तियों को Google Doodle बना कर श्रद्धांजलि अर्पित करता है जिन्होंने समाज के लिए बड़ा योगदान दिया है.

विक्रम साराभाई (Vikram Sarabhai) के पिता उद्योगपति थे और भौतिक विज्ञान के अध्ययन-अनुसंधान के इस केंद्र के लिए उन्होंने अपने पिता से ही वित्तीय मदद मिली थी.

उस समय साराभाई की उम्र महज 28 साल थी लेकिन कुछ ही सालों में उन्होंने पीआरएल को विश्वस्तरीय संस्थान बना दिया. साराभाई को उनके बेहतर काम के लिए वर्ष 1966 में पद्म विभूषण सम्मान से भी नवाजा गया था.

विक्रम साराभाई (Vikram Sarabhai) को भारतीय स्पेस प्रोग्राम का जनक भी माना जाता है. उन्हें 1962 में शांति स्वरूप भटनागर मेडल से भी सम्मानित किया गया था. 

30 दिसंबर, 1971 को उनकी मृत्यु उसी स्थान के नजदीक हुई थी जहां उन्होंने भारत के पहले रॉकेट का परीक्षण किया था. दिसंबर के आखिरी हफ्ते में वे थुंबा में एक रूसी रॉकेट का परीक्षण देखने पहुंचे थे और यहीं कोवलम बीच के एक रिसॉर्ट में रात के समय सोते हुए उनकी मृत्यु हो गई. 

Watch This Video Till End….

जम्मू-कश्मीर से Article 370 खत्म ‘मोदी है तो मुमकिन है’ का दावा फिर हुआ सही साबित

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कमान देकर बदलाव की आशा जताई थी और साहसिक कदम उठाकर मोदी ने यह जता दिया कि संकल्पशक्ति हो तो हर काम हो सकता है।

सत्तर साल से देश के अंदर ही एक अलग देश की तरह चलते रहे जम्मू-कश्मीर को सही मायने में अभिन्न अंग बनाने का कदम पहली बार उठाया गया। विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को खत्म करने की दिशा में कदम बढ़ा है।

ऐसे कई लोग और दल हैं जिन्हें यह कदम रास नहीं आ रहा है, लेकिन उनसे ज्यादा बड़ी संख्या ऐसे लोगों की है जिनके लिए यह ऐतिहासिक दिन है। सही मायने में जम्मू-कश्मीर अब भारत और भारतवासियों का हुआ है।

तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू ने एक चूक की थी जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुरुस्त किया है। ‘मोदी है तो मुमकिन है’ का दावा एक बार फिर साबित हो गया है।

पहले काल में नोटबंदी और जीएसटी, फिर तीन तलाक और अब अनुच्छेद-370 का समापन। वह भी सरकार में आने के महज दो तीन महीनों के अंदर। यही साबित करता है कि सरकार में संकल्पशक्ति अदभुत है।

Watch This Video Till End….

Breaking News: Jammu Kashmir से धारा 370 खत्म, राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक पास, पक्ष में पड़े 125 वोट

आज सुबह पीएम आवास पर मोदी कैबिनेट में बड़ा फैसला लिया गया।

बैठक खत्म होने के तुरंत बाद गृह मंत्री अमित शाह संसद पहुंचे और राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर से धारा 370 हटाने की सिफारिश की।

Jammu Kashmir से धारा 370 खत्म, राज्यसभा में जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक पास, पक्ष में पड़े 125 वोट

जम्मू-कश्मीर को दो हिस्सों में बांटने वाला विधेयक जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन बिल राज्यसभा से पारित करवा कर मोदी सरकार ने इतिहास रच दिया है।

हालांकि, अभी लोकसभा में इस विधेयक का पास होना बाकी है, मगर लोकसभा में नंबर को देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि वहां भी यह बिल आसानी से पास हो जाएगा।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने, जम्मू कश्मीर को विधायिका वाला केंद्र शासित क्षेत्र और लद्दाख को बिना विधायिका वाला केंद्र शासित क्षेत्र बनाने संबंधी सरकार के दो ”साहसिक एवं जोखिम भरे संकल्पों एवं दो संबंधित विधेयकों को सोमवार को राज्यसभा की मंजूरी मिल गई।

एक धारा को छोड़ सभी धाराओं को संशोधन किया गया। सरकार के इस फैसले को राष्ट्रपति ने भी अपनी मंजूरी दे दी।

इस दौरान राज्यसभा में अमित शाह के बयान के बाद विपक्ष ने सदन में जोरदार हंगामा किया।

इसको लेकर भारत सरकार का राजपत्र भी जारी हो गया है। मोदी सरकार के इस फैसले से कई विपक्षी दल नाराज है तो कई ने इस फैसले का स्वागत किया है।

Watch This Video Till End….

पेट्रोल की कीमत में गिरावट हुई है, लेकिन डीजल के दाम में किसी भी तरह का उतार-चढ़ाव देखने को नहीं मिला है।

दिल्ली में 2 August 2019 पेट्रोल की कीमत में 11 पैसे की गिरावट हुई है। लेकिन डीजल के दाम में किसी भी तरह का उतार-चढ़ाव देखने को नहीं मिला है।

वहीं, आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल के रेट में 8 पैसे घटी है, वही दूसरी तरफ डीजल की कीमत स्थिर बनी हुई है।

इससे पहले 1 अगस्त को दिल्ली में पेट्रोल के दाम में 6 पैसे की कटौती हुई थी और डीजल स्थिर बना रहा था।

Watch This Video Till End….

वहीं, आर्थिक राजधानी मुंबई में पेट्रोल और डीजल के भाव में किसी भी तरह का बदलाव नहीं हुआ था।

दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 72.69 रुपए प्रति लीटर है, डीजल के दाम 66.00 रुपए प्रति लीटर है।

मुंबई में पेट्रोल की कीमत 78.34 रुपए प्रति लीटर है, डीजल के दाम 69.17 रुपए प्रति लीटर है।

चन्नई में पेट्रोल की कीमत 75.52 रुपए प्रति लीटर है, डीजल के दाम 69.71 रुपए प्रति लीटर है।

कोलकाता में पेट्रोल की कीमत 75.37 रुपए प्रति लीटर है, डीजल के दाम 68.19 रुपए प्रति लीटर है।

बेंगलुरू में पेट्रोल की कीमत 75.13 रुपए प्रति लीटर है, डीजल के दाम 68.18 रुपए प्रति लीटर है।

Watch This Video Till End….

Breaking News : सोने के दाम में आई गिरावट

स्थानीय आभूषण विनिर्माताओं की मांग घटने से दिल्ली सर्राफा बाजार में सोमवार को सोना 50 रुपये टूटकर 35,720 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया। अखिल भारतीय सर्राफा संघ ने यह जानकारी दी।

औद्योगिक इकाइयों तथा सिक्का विनिर्माताओं का उठाव घटने से चांदी भी 100 रुपये के नुकसान से 41,900 रुपये प्रति किलो रह गई। वैश्विक स्तर पर न्यूयॉर्क में सोने का हाजिर मूल्य 1,419.40 डॉलर प्रति औंस पर स्थिर था। दूसरी ओर चांदी कुछ नुकसान के साथ 16.44 डॉलर प्रति औंस पर चल रही थी।

विश्लेषकों का कहना है कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में सोने की कीमतों में स्थिरता है। इसकी वजह यह है कि निवेशकों को अमेरिका की फेडरल ओपन मार्केट कमिटी (एफओएमसी) की बैठक के नतीजों का इंतजार है। यह बैठक 30 और 31 जुलाई को होनी है।

दिल्ली सर्राफा बाजार में सोना 99.9 प्रतिशत और 99.5 प्रतिशत शुद्धता 50-50 रुपये के नुकसान से क्रमश: 35,720 रुपये और 35,550 रुपये प्रति दस ग्राम पर आ गया। आठ ग्राम की गिन्नी का भाव 27,500 रुपये प्रति इकाई पर कायम रहा।

शनिवार को सोना 40 रुपये चढ़कर 35,770 रुपये प्रति दस ग्राम पर पहुंचा था। वहीं चांदी 150 रुपये टूटकर 42,000 रुपये प्रति किलोग्राम रही थी।

Watch This Video Till End….

सोमवार को चांदी हाजिर 100 रुपये और टूटकर 41,900 रुपये प्रति किलोग्राम रह गई।

वहीं साप्ताहिक डिलिवरी के भाव 34 रुपये चढ़कर 41,186 रुपये प्रति किलोग्राम पर पहुंच गए।

चांदी सिक्का लिवाल 1,000 रुपये के नुकसान से 84,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर आ गया। सिक्का बिकवाल भी 1,000 रुपये के नुकसान से 85,000 रुपये प्रति सैकड़ा पर आ गया।

Watch This Video Till End….