Workshop on Endodontics at Dental College, PU

Adhiraj Narang ji को जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएँ।

News 7 World :

Chandigarh: 19-10-2021

Adhiraj Narang ji को जन्मदिन की ढेरों शुभकामनाएँ।

For Detailed News-

https://propertyliquid.com

Workshop on Endodontics at Dental College, PU

1 सितंबर, 2021 से जिले में मनाया जायेगा ‘‘चैथा राष्ट्रीय पोषण माह’’-उपायुक्त विनय प्रताप सिंह

For Detailed

-पोषण माह के दौरान 0-6 साल के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के पोषण स्तर में सुधार लाने के लिए विभिन्न गतिविधियां संचालित की जाएंगी- उपायुक्त
– राष्ट्रीय पोषण माह 2021 के लिए, चार बुनियादी विषय-प्रत्येक सप्ताह के लिए एक, की पहचान की गई है-उपायुक्त

पंचकूला, 31 अगस्त- प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के 2022 तक कुपोषण मुक्त भारत बनाने के सपने को साकार करने के लिए हरियाणा महिला एवं बाल विकास विभाग, पंचकूला द्वारा 1 सितंबर से 30 सितंबर, 2021 से चैथा ‘‘राष्ट्रीय पोषण माह’’ मनाया जाएगा। पोषण माह के दौरान 0-6 साल के बच्चों, गर्भवती महिलाओं और स्तनपान कराने वाली माताओं के पोषण स्तर में समयबद्ध तरीके से सुधार लाने के लिए हितधारकों के साथ मिलकर जिला में विभिन्न गतिविधियां चलाई जायेंगी ताकि जन्म के समय कम वजन वाले बच्चों, अल्प पोषण और एनीमिया की व्यापकता के मामलों में कमी लाकर विशिष्ट लक्ष्यों की प्राप्ति की जा सके।  


        उपायुक्त श्री विनय प्रताप सिंह ने आज यहां जानकारी देते हुए बताया कि चैथे ‘‘राष्ट्रीय पोषण माह’’ मनाने के लिए सितंबर 2021 माह का चयन किया गया है, ताकि इन आयोजनों की गति को बनाए रखा जा सके और इसका लाभ उठाया जा सके।


        उन्होंने कहा कि इस वर्ष, ‘‘राष्ट्रीय पोषण माह’’ 2021 के लिए, चार बुनियादी विषयों (प्रत्येक सप्ताह के लिए एक) की पहचान की गई है। इस प्रकार, जिले में पोषण वाटिका को बढ़ावा देने, पोषण के लिए योग, पोषण किट के वितरण और गंभीर तीव्र कुपोषण (एसएएम) बच्चों की पहचान पर केंद्रित साप्ताहिक गतिविधियों का आयोजन किया जाएगा। उन्होंने कहा कि पोषण माह को जन आंदोलन बनाने के लिए महिला एवं बाल विकास, स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, ग्रामीण विकास, शिक्षा, विकास और पंचायत और खेल विभाग जैसे विभिन्न विभागों की समावेशी भागीदारी से जिले में कई गतिविधियां संचालित की जाएंगी।

https://propertyliquid.com


प्रथम सप्ताह
उपायुक्त ने कहा कि प्रथम सप्ताह के दौरान सभी हितधारकों द्वारा आंगनबाडी, स्कूल परिसर, ग्राम पंचायत और अन्य स्थानों पर उपलब्ध स्थान में पौधारोपण अभियान ‘‘पोषण वाटिका’’ के रूप में चलाया जाएगा। इसके अलावा गर्भवती महिलाओं के लिए पोषक आहार के बारे में स्लोगन लेखन प्रतियोगिता और आंगनबाडी केंद्रों के लिए सर्वश्रेष्ठ पोषण वाटिका प्रतियोगिता भी आयोजित की जाएगी।
दूसरा सप्ताह
उन्होंने कहा कि दूसरे सप्ताह के दौरान, गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान बेहतर पोषण के लिए आयुष प्रथाओं के बारे में जागरूकता अभियान आयोजित किए जाएंगे। साथ ही, गर्भावस्था, स्कूली बच्चों और किशोरियों जैसे विशिष्ट समूहों पर लक्षित योग सत्र (कोविड दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए) आयोजित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि गर्भवती महिलाओं के लिए पौष्टिक भोजन पर आधारित व्यंजन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाएगा।
तीसरा सप्ताह
श्री विनय प्रताप सिंह ने कहा कि तीसरे सप्ताह के दौरान आंगनवाड़ी लाभार्थियों को आईईसी सामग्री के साथ क्षेत्रीय पौष्टिक खाद्य पदार्थों से युक्त पोषण किट वितरित किए जाएंगे। इसके अलावा, क्षेत्रीय/स्थानीय भोजन, बाजरा, सब्जियों और पारंपरिक व्यंजनों के बारे में जानने के लिए जागरूकता अभियान चलाया जाएगा।
चैथा सप्ताह
उन्होंने कहा कि चैथे सप्ताह के दौरान एसएएम बच्चों की ब्लॉकवार पहचान और उनके रेफरल के लिए अभियान चलाया जाएगा. उन्होंने कहा कि एसएएम के बच्चों को पौष्टिक भोजन भी वितरित किया जाएगा। इसके अलावा एसएएम बच्चों की शीघ्र पहचान के लिए समुदाय आधारित केंद्रित जागरूकता अभियान चलाया  जाएगा।

Workshop on Endodontics at Dental College, PU

World Entrepreneurs’ Day Celebrations at UIPS, PU

Chandigarh August 26, 2021

For Detailed News-

The World Entrepreneurship Day was celebrated under the aegis of MHRD’s(Ministry of Human Resource Development) Institution’s Innovation Council (IIC-UIPS), an MoE(Ministry of Education) Innovation Cell (MIC) driven event at University Institute of Pharmaceutical Sciences, Panjab University. A Virtual Meet was organized on the topic of Academic Entrepreneurship: A Thought and a Travelogue with the eminent guest speaker, himself an established entrepreneur, Professor Om Prakash Katare, Ex-Director Research Promotion Cell, Panjab University, Chandigarh on 24 August, 2021 at 4:00 pm.

Professor Indu Pal Kaur, Chairperson, UIPS, President IIC-UIPS and Organiser of the event, extended a cordial welcome to the Guest Speaker, Prof. Katare, faculty members and over 100 participants.

The event proceedings were spearheaded by Dr Vandita Kakkar, Assistant Professor, UIPS and Convener IIC-UIPS who introduced the speaker.

Prof. Katare acted as the guiding light to emphasize on the importance of entrepreneurship for the development and economy of the country. With the valuable lessons on the process of entrepreneurship, he reflected on his own journey and the mindset of being a researcher, an innovator and an entrepreneur. He prominently stressed on the power of meditation which helps in attaining absolute focus, thoroughly necessary throughout the process of identifying the problem, ideation and the development of prototype. The significance and peculiarity of the 360° innovation to refine the existing technologies via concept inter-relation was also discussed by Prof. Katare. He shared his experiences and knowledge with the participants and encouraged them to question the basics, develop an insight for efficient techniques and to be a resilient researcher.

https://propertyliquid.com

The event ended with the felicitation of the guest speaker and a note of thanks to all the faculty members and participants for showing enthusiasm for the event.

Workshop on Endodontics at Dental College, PU

Admission to Ph.D. Programme 2021

Chandigarh August 25, 2021

For Detailed News-

University Business School, Panjab University Chandigarh, invites applications for admission to Ph.D. programme from those candidates who have qualified the UGC (NET) /JRF/ SLET examination with Fellowship/Scholarship. The candidates are advised to download the application form from UBS website, for admission to Ph.D. programme for academic session 2021-2022 and fill the details in Google form as well.

https://www.ubs.puchd.ac.in/show-noticeboard.php?nbid=1

Those candidates who have already qualified the Panjab University Ph.D. Entrance Test 2019 and 2020 (for admission to the Ph.D. program in Management at the University Business School, Panjab University, Chandigarh) are advised to download the application form from UBS website, for admission to Ph.D. programme for the academic session 2021-2022 and fill the details in Google form as well.

https://www.ubs.puchd.ac.in/show-noticeboard.php?nbid=1

Candidates are required to submit the hard copy of duly filled application form with annexure(s) (wherever required) in the UBS office latest by 24.09.2021 (4:00 P.M.).

https://propertyliquid.com

(Note: The form will not be entertained after due date).

       All those candidates who have applied for the Panjab University Ph.D. Entrance Test -2021 (for admission to the Ph.D. program in Management at the University Business School, Panjab University, Chandigarh), for academic session 2021-2022 are required to fill the application form after declaration of Result of Ph.D. Entrance Test-2021. The dates for the same will be notified later on.

Workshop on Endodontics at Dental College, PU

देहरादून : उत्तराखंड में नाइट कर्फ्यू

उत्तराखंड के मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने सभी जिलाधिकारियों को पत्र जारी कर निम्न निर्देश जारी किये हैं –

For Detailed News-

  1. सभी धार्मिक, राजनैतिक एवं सामाजिक आयोजनों तथा विवाह आदि में 200 लोगों से ज्यादा शामिल नहीं हो सकेंगे।
  2. बस, टेम्पो आदि में क्षमता के 50 प्रतिशत यात्री ही सफर कर सकेंगे।
  3. सभी कोचिंग, स्वीमिंग पूल, स्पा पूर्णतः बंद रहेंगे।
  4. सिनेमा हाॅल, रेस्टोरेंट, जिम में क्षमता के 50 प्रतिशत व्यक्ति ही एक बार में प्रवेश कर सकेंगे।
  5. उत्तराखंड में रात्रि 10.30 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कफ्र्यू रहेगा। इस बीच में लोगों की आवाजाही पूर्णतः बंद रहेगी। इस दौरान फैक्ट्रियों से काम कर लौट रहे, मालवाहक वाहनों में माल उतारने-चढ़ाने वाले, बसों/ट्रेनों आदि से अपने घर जाने वाले, शादी समारोह में जाने वाले लोगों को छूट रहेगी।

https://propertyliquid.com

Workshop on Endodontics at Dental College, PU

IGNOU holds 34th Convocation through Virtual Mode on 15th April, 2021

Owing to the rapid surge in COVID-19 cases, Indira Gandhi National Open University (IGNOU) hosted its 34th Convocation virtually on 15th April, 2021 (Thursday) at 11 AM. The University awarded degrees, diplomas, and certificates to more than 235,000 successful students in the Convocation. In this Convocation discipline wise Gold Medal were also awarded. Prof. Nageshwar Rao, Vice-Chancellor Indira Gandhi National Open University (IGNOU) presented the Annual Report of the University. In his address he emphasized that IGNOU continuously provided support services to its learners during pandemic through online mode and also started online programmes. He also stated that due to the quality students support services provided by IGNOU to its learners throughout the country IGNOU was recently awarded A++ Grade by NAAC.

For Detailed News-

Shri Ramesh Pokhriyal ‘Nishank’, Honourable Minister of Education, Government of India was the Chief Guest and delivered the Convocation Address virtually on this occasion. Dr. Nishank while delivering the Convocation address appreciated the efforts made by IGNOU to enroll more than 8 lakh learners to its various programmes during the pandemic period. He emphasized that enough resources has been allocated for undertaking research activities and the academic community including the learners should aim for patenting their contribution and the youth of INDIA should be job providers rather than job seekers which means the focus should be on establishing enterprises so that more and more people should get job. 

https://propertyliquid.com

The proceedings of the Convocation were telecasted live through IGNOU’s Gyan Darshan Channel, SWAYAM Prabha Channels (#17,18,19,20) Managed by IGNOU and Facebook Page of IGNOU(https://www.facebook.com/OfficialPageIGNOU) and the same was view by IGNOU fraternity at Hqrs., Regional Centres & across the country.

IGNOU Regional Centre Chandigarh also watched the live proceedings of the 34th Convocation at Regional Centre Premises. On this occasion all the staff members were present. Regional Centre Chandigarh Congratulation to all its students who have received degrees, diplomas, and certificates in this Convocation.

टीबी मुक्त भारत अभियान : मरीजों के लिए मददगार साबित हो रहा टीबी आरोग्य साथी एप

IGNOU extends Admission up to 31st March, 2021

For Detailed News-

The Indira Gandhi National Open University (IGNOU) has extended the last date of submission of online Fresh admission of all Masters, Bachelor, Diploma & Certificate programmes up to 31st March, 2021 for the January, 2021 session. Details of the IGNOU academic programmes for the January, 2021 session can be accessed from the link https://ignouadmission.samarth.edu.in/. The prospective learners can apply for Masters/Bachelor/Diploma/Certificate programmes of the University on the official website, informed The Regional Director of IGNOU Regional centre Chandigarh Dr. A.K.Dimri. Last date of submission of ‘online’ admission form for January, session was earlier fixed for 15th March, 2021. 

https://propertyliquid.com

For all those candidates, who have been planning to get admission in any of the IGNOU courses can apply for the same online. Firstly the candidate has to register themselves (if not registered) on the official website i.e https://ignouadmission.samarth.edu.in/. Whereas those who have already registered can simply login with the id- password and fill up the application form for the admission in the January session at Indira Gandhi National Open University for 2021. Also, before filling up the IGNOU admission form, candidates must go through the general instructions, eligibility criteria, fee details, duration, etc. on the official website. Applicants can also download the complete details of the programmes from the IGNOU website.

टीबी मुक्त भारत अभियान : मरीजों के लिए मददगार साबित हो रहा टीबी आरोग्य साथी एप

महाशिवरात्रि इस साल 11 मार्च गुरुवार को यह महापर्व मनाया जाएगा।

महाशिवरात्रि 2021:

Panchkula:

For Detailed News-

इस साल 11 मार्च गुरुवार को यह महापर्व मनाया जाएगा।

हिंदू धर्म में महाशिवरात्रि का त्यौहार बेहद श्रध्दा और उत्साह के साथ मनाया जाता है। भगवान भोलेनाथ की भक्ति के लिए यह दिन बेहद खास माना जाता है। महाशिवरात्रि हर साल फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी पर मनाई जाती है।

https://propertyliquid.com

टीबी मुक्त भारत अभियान : मरीजों के लिए मददगार साबित हो रहा टीबी आरोग्य साथी एप

पारस अस्पताल पंचकूला में आधुनिक हार्ट वाल्व क्लीनिक शुरू

बिना सर्जरी के हार्ट वाल्व बदलने की आधुनिक तकनीक टीएवीआई बुजुर्ग मरीजों के लिए वरदान: डा. एच.के.बाली
भारत में 15 लाख मरीज दिल के वाल्व की खराबी से पीडि़त : डा. अनुराग शर्मा
बीमारी का समय पर पता लगने पर मरीज को मिल जाता है नया जीवन: डा. राणा संदीप

News7World:-

चंडीगढ़, 26 फरवरी ( ): पारस अस्पताल पंचकूला के दिल के रोगों के माहिर डाक्टरों की टीम ने हार्ट वाल्व की समस्या तथा बिना सर्जरी इलाज विषय पर मीडिया के साथ बातचीत की। इस संबंधी कार्डियक साइंस के चेयरमैन डा. एच.के.बाली, सीटीवीएस के डायरेक्टर राणा संदीप सिंह, एसोसिएट डायरेक्टर डा. अनुराग शर्मा, सीनियर कंस्लटेंट डा. गगनदीप सिंह, डा. कपिल चैटरी तथा प्रियंका गुप्ता ने संबोधन किया।

For Detailed News-


डा. एच.के.बाली ने कहा कि दिल के वाल्व की समस्या या बीमारी के समय वाल्व बदला जाता है। उन्होंने बताया कि वाल्व बदलना एक आम डाक्टरी प्रक्रिया है, जिसमें एरोटिक वाल्व बदला जाता है। डा. बाली ने बताया कि कई बार बुढ़ापे में यह वाल्व सुकूड़ जाता है या मोटा हो जाता है। उन्होंने बताया कि पहले दिल का आप्रेशन (ओपन हार्ट सर्जरी) करके वाल्व बदला जाता था, जिस कारण बुजुर्ग मरीज यह आप्रेशन नहीं करवा सकते थे।


डा. बाली ने बताया कि एरोटिक वाल्व में समस्या के कारण मरीज के शरीर को कम रक्त पहुंचता है, जिससे सांस लेने, थकावट, छाती में दर्द तथा टांगों की सोजिश जैसे कई लक्ष्ण दिखाई देते हैं। उन्होंने बताया कि अब सर्जरी की जरूरत नहीं है, क्योंकि ट्रांस कैथेटिर एरोटिक वाल्व इम्पलांटेशन (टीईवीआई) या टीएवीआर आ गई है।


इसी तरह के इलाज में संक्रमण का भी कोई खबरा नहीं रहता है, दो-तीन दिन बाद मरीज को अस्पताल में से छुट्टी दे दी जाती है। डा. बाली ने बताया कि हमारे देश में इस तकनीक द्वारा एक साल में 600 मरीजों का इलाज किया जाता है, जबकि अमरीका में करीब 80 हजार लोगों का एक साल में इलाज होता है।

डा. अनुराग शर्मा ने कहा कि कुछ वर्ष पहले ही बहुत ज्यादा गंभीर मरीजों का इलाज टीएवीआई की तकनीक द्वारा किया जाता था, पर अब कम जोखिम वाले मरीजों के लिए भी इस तकनीक का प्रयोग किया जाता है। उन्होंने बताया कि यह इलाज एंजियोग्राफी की तरह एक आर्टरी द्वारा किया जाता है। एंडोवेस्कूलर तकनीक के जरिए वाल्व तबदील किया जाता है। उन्होंने बताया कि इस विधि से ट्रांस्पलांट के लिए डेढ़ से दो घंटे का समय लगता है।

https://propertyliquid.com


दिल के रोगों के इलाज संबंधी विभाग (कार्डियो थोरोकिक एंड वेस्कूलर सर्जरी विभाग) में पारस सुपरस्पेशलिटी अस्पताल की सुविधाओं के बारे बताते हुए डा. राणा संदीप सिंह ने बताया कि दिल के वाल्व की स्थिति की जांच के लिए इको-कार्डियोग्राफी तथा डोपलर एक सरल तकनीक है, जो पारस अस्पताल में उपलब्ध है। उन्होंने बताया कि दूर-दराज के इलाकों करनाल, पानीपत, जम्मू, अमृतसर, संगरूर, बठिंडा से मरीज यहां वाल्व के इलाज के लिए आते हैं।

टीबी मुक्त भारत अभियान : मरीजों के लिए मददगार साबित हो रहा टीबी आरोग्य साथी एप

पूरे उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए

BIG BREAKING

पूरे उत्तर भारत में भूकंप के झटके महसूस किए