*किसानों की आमदनी बढाने के लिए चलाई जा रही अनेक योजनाएं*

हरियाणा  में चलाया जा रहा “बेसहारा गौवंश मुक्त हरियाणा अभियान“

– मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विकास एवं पंचायत तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग को 15 फरवरी से 29 फरवरी तक गौवंश को गौशालाओं में उनकी सहमति अनुसार पुनर्वासित करने के लिए विशेष अभियान चलाने के दिए निर्देश- श्री श्रवण कुमार गर्ग

For Detailed

पंचकूला 9 फरवरी – मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल के निर्देशानुसार हरियाणा  में “बेसहारा गौवंश मुक्त हरियाणा अभियान“ चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत गौशालाओं से लगभग 65000 बेसहारा गौवंश को पुनर्वासित करने के लिए सहमति पत्र गौशालाओं से प्राप्त हो चुके हैं, जिसमें लगभग 10000 गौवंश पुनर्वासित किये जा चुके है।
 इसी अभियान के तहत आज अध्यक्ष, हरियाणा गौ सेवा आयोग श्री श्रवण कुमार गर्ग तथा महानिदेशक, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग के डा0 लाल चन्द रंगा द्वारा गौशालाओं को विशेष चारा अनुदान देने के लिए एक पोर्टल लांच किया गया ।
 “बेसहारा गौवंश मुक्त हरियाणा अभियान“  के तहत गौशालाओं को उनकी गौशाला में पुनर्वासित किये गये गौवंश की संख्या के आधार पर एक वर्ष से कम आयु के पुनर्वासित बछडे व बछडियों को 20 रुपये, एक वर्ष से अधिक आयु के पुनर्वासित गायों को 30 रुपये तथा एक वर्ष से अधिक आयु के पुनर्वासित नन्दियों/बैलों/सांडों को 40 रुपये प्रति दिन के हिसाब से विशेष चारा अनुदान के रूप में दिये जायेंगे।

इस सम्बन्ध में मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें  मंत्री, पशुपालन विभाग हरियाणा श्री जय प्रकाश दलाल, अध्यक्ष हरियाणा गौ सेवा अयोग, अतिरिक्त मुख्म सचिव, विकास एवं पंचायत, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग, आयुक्त एवं सचिव, शहरी स्थानीय निकाय विभाग, मुख्यमंत्री की अतिरिक्त प्रधान सचिव, महानिदेशक, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग हरियाणा तथा अन्य विभागों के सम्बन्धित अधिकरियों ने भाग लिया। मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल ने विकास एवं पंचायत विभाग तथा शहरी स्थानीय निकाय विभाग को 15 फरवरी से 29 फरवरी तक गौवंश को गौशालाओं में उनकी सहमति अनुसार पुनर्वासित करने के लिए विशेष अभियान चलाने के निर्देश दिये ताकि प्रदेश को बेसहारा गौवंश से जल्द से जल्द मुक्त किया जा सके।

हरियाणा गौ सेवा आयोग ने बताया कि आयोग में सभी काम-काज डिजिटल माध्यम से हो रहे हैं, जो सरकार की पारदर्शिता को दर्शातें हैं।
इस अवसर पर महानिदेशक, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग हरियाणा के डा0 एल0 सी0 रंगा ने बताया कि पशुपालन विभाग ने इस कामकाज को गतिपूर्ण करने के लिए पूर्ण रूप से कमर कस ली है और गौशालाओं में टैगिंग का कार्य विभाग द्वारा पूरा किया जा चुका है तथा वैक्सिनेशन का कार्य पूरा किया जा रहा है। इस अभियान के दौरान पुनर्वासित गौवंश को गुलाबी रंग के ईयर टैग के द्वारा चिन्हित किया जा रहा है। इस पूरे अभियान को हरियाणा गौ सेवा आयोग, पशुपालन एवं डेयरिंग विभाग, विकास एवं पंचायत विभाग, शहरी स्थानीय निकाय विभाग तथा सभी गौशालाओं व गौभक्तों के सहयोग से पूरा किया जायेगा।

https://propertyliquid.com