जिला रेडक्रॉस सोसायटी द्वारा हर घर तिरंगा अभियान के तहत निकाली गई साइकिल रैली

सिविल सर्जन डाॅ0 योगेश शर्मा ने जिला की जनता से अनुरोध किया है कि वे नवरात्रों के व्रत के दौरान प्रयोग किये जाने वाले कुटु, सिघाड़े, सिघाड़े के आटे और साबुदाने इत्यादि का प्रयोग करने से पहले यह जांच ले कि वह ताजा व शुद्ध होने चाहिए

पंचकूला, 5 अप्रैल-

सिविल सर्जन डाॅ0 योगेश शर्मा ने जिला की जनता से अनुरोध किया है कि वे नवरात्रों के व्रत के दौरान प्रयोग किये जाने वाले कुटु, सिघाड़े, सिघाड़े के आटे और साबुदाने इत्यादि का प्रयोग करने से पहले यह जांच ले कि वह ताजा व शुद्ध होने चाहिए। उन्होंने दुकानदारों से अपील की है कि वे इस तरह के पदार्थ शुद्ध व ताजे ही बेचे और बेचे गये सामान की रशीद अवश्य दें। उन्होंने यह परामर्श भी दिया कि कुटु व सिघाड़े के आटे के पकौड़े, टिक्की व पराठे इत्यादि का सेवन करने से परहेज करें और जहां तक संभव हो ताजे फलों का सेवन करें। 

उन्होंने बताया कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी सुभाष चंद्र की टीम द्वारा बाजार में ऐसे सामान की जांच भी की जा रही है। उन्होंने बताया कि ऐसे सामान के नौ नमूने लिये गये है, जिनमें चायपत्ती, मैंगो ड्रिंक, साबुदान, दूध, कुटु का आटा, ग्रीन मूंग, बासमती चावल, केले, पपीते के नमूने शामिल है। उन्होंने कहा कि ये नमूने विशेलषण के लिये खाद्य  प्रयोगशाला करनाल में भेजे गये है। उन्होंने कहा कि खुले में रखे गये पदार्थों, गले-सड़े फलों को मौके पर ही नष्ट करवाया गया हैं। 

सिविल सर्जन ने कहा कि माता मनसा देवी में भी खाद्य पदार्थों की जांच के लिये मोबाईल, खाद्य प्रयोगशाला की व्यवस्था की गई है। इस प्रयोगशाला में मात्र 20 रुपये की फीस देकर खाद्य पदार्थों की जांच करवाई जा सकती है। इस जांच के लिये प्रयोगशाला के तकनीकी अधिकारी अभिमन्यु (8950800553) से संपर्क किया जा सकता हैं। उन्होंने सभी खाद्य पदार्थ, मिठाई और फल बिक्रताओं को परामर्श दिया कि वे अच्छी गुणवत्ता का सामान ही बेचे और खाद्य पदार्थों की गुणवत्ता में किसी प्रकार की खामी पाये जाने पर नियमानुसार कानूनी कार्रवाही की जायेगी।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply